PIB Headquarters

कोविड-19 पर पीआईबी का दैनिक बुलेटिन

Posted On: 17 MAY 2020 6:28PM by PIB Delhi

 

(पिछले 24 घंटे में कोविड-19 से संबंधित जारी प्रेस विज्ञप्तियां, पीआईबी के क्षेत्रीय कार्यालयों से मिली जानकारियां और पीआईबी द्वारा जांचे गए तथ्य शामिल है)

 

देश में अभी तक कोविड-19 के 90,927 मामले दर्ज किए गए, जिनमें से 34,109 लोग उपचार के बाद स्वस्थ हो गए हैं, इस प्रकार सुधार की दर 37.5 प्रतिशत हो गई। 2,872 लोगों की मृत्यु हो गई।

पिछले 24 घंटों में कोविड के 4,987 पुष्ट मामले सामने आए।

डॉ. हर्षवर्धन ने कहा कि कोविड-19 से लड़ाई में शारीरिक दूरी और व्यवहारगत शिष्टाचार सक्षम सामाजिक टीका हैं।

वित्त मंत्री ने आत्मनिर्भर भारत अभियान की आखिरी किस्त के अंतर्गत सात क्षेत्रों के लिए सरकारी सुधारों और मजबूत बनाने से जुड़े कदमों की घोषणा की।

एनडीएमए ने राज्य भर में प्रवासी कामगारों की निर्बाध आवाजाही आसान बनाने के लिए ऑनलाइन डैशबोर्ड विकसित किया।

प्रवासियों को मुफ्त खाद्यान्न उपलब्ध कराने के लिए आत्मनिर्भर भारत योजना शुरू।

रेलवे एक-दूसरे से जुड़े सभी जिलों से श्रमिक स्पेशल ट्रेनें चलाने के लिए तैयार हैं।

डॉ. हर्षवर्धन ने कहा कि एक-दूसरे से दूरी बनाए रखना और व्यावहारिक शिष्टाचार ही कोविड-19 के खिलाफ लड़ाई में प्रभावी है; "हमारी स्वस्थ होने की दर बढ़कर 37.5% हो गई है और अब तक 22 लाख से अधिक लोगों की जांच की जा चुकी है"

केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने लॉकडाउन 3.0 के आखिरी दिन कहा कि पिछले 14 दिन में मामलों के दोगुना होने की रफ्तार जहां 11.5 दिन थी, वहीं पिछले 3 दिन में यह बेहतर होकर 13.6 दिन हो गई है। उन्होंने बताया कि मृत्यु दर घटकर 3.1% हो गई और रोगियों के स्वस्थ होने की दर बढ़कर 37.5% हो गई। डॉ. हर्षवर्धन ने यह भी बताया कि (कल के आंकड़ों के अनुसार) कोविड-19 के रोगियों की संख्या आईसीयू में 3.1%, वेंटीलेटर पर 0.45% और ऑक्सीजन सपोर्ट पर 2.7 प्रतिशत है। देश में 17 मई 2020 तक कोरोना के कुल 90,927 मामले दर्ज किए गए हैं, जिनमें से 34,109 लोग ठीक हो गए हैं और 2872 लोगों की इस बीमारी से मौत हो गई। उन्होंने बताया कि पिछले 24 घंटे में 4987 नए मामलों की पुष्टि हुई है।

डॉ. हर्षवर्धन ने कहा कि जब भारत में हालात सामान्य हो जाएंगे, तब भी साबुन से लगातार कम से कम 20 सेकंड तक हाथों को धोना या अल्कोहल युक्त सैनिटाइजर लगाना, सार्वजनिक जगह पर नहीं थूकना, अपने कार्यस्थल को सैनिटाइज करना, निरंतर छुई जाने वाली सतहें जैसे टेबल की सतह को साफ करना, सार्वजनिक जगहों पर खुद के साथ-साथ दूसरों की सुरक्षा के लिए हमेशा चेहरे को ढंक कर रखने के लिए फेस कवर का इस्तेमाल करना, सामान्य सोशल स्वास्थ्य को सुनिश्चित रखना जैसे सामान्य स्वास्थ्य उपायों पर ध्यान देना जरूरी है। उन्होंने कहा कि एक-दूसरे से दूरी बनाए रखना हमारे पास उपलब्ध सबसे ज्यादा लाभकारी सामाजिक टीका है और इसलिए दूसरों से बातचीत करते हुए 2 गज की दूरीबनाए रखने और वर्चुअल जमावड़े के विकल्प को तरजीह देकर सामाजिक जमावड़े से खुद को बचाने की सलाह दी जाती है।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें- https://pib.gov.in/PressReleasePage.aspx?PRID=1624796

वित्त मंत्री ने आत्मनिर्भर भारत अभियानके तहत सात सेक्टरों में सरकारी सुधारों और सहायक उपायों की घोषणा की

सरकारी सुधारों और समर्थन की दिशा में उठाए गए उपायों के 5वें और आखिरी हिस्से की घोषणा करते हुए श्रीमती सीतारमण ने रोजगार प्रदान करने, कारोबारों को सहायता देने, ईज़ ऑफ डूइंग बिज़नेस (व्यापार करने में आसानी) और राज्य सरकारों के साथ-साथ शिक्षा और स्वास्थ्य जैसे क्षेत्रों के लिए सात उपायों के बारे में ब्यौरा दिया। रोजगार को बढ़ावा देने के लिए मनरेगा के आवंटन में 40,000 करोड़ रुपये की वृद्धि; भारत को भावी महामारियों हेतु तैयार करने के लिए सार्वजनिक स्वास्थ्य में निवेश बढ़ाने के साथ-साथ स्वास्थ्य संबंधी अन्य सुधार; कोविड के बाद समानता के साथ प्रौद्योगिकी आधारित शिक्षा; आईबीसी से संबंधित उपायों के जरिए कारोबार में सुगमताबढ़ाई जाएगी; कंपनी अधिनियम से संबंधित डिफॉल्ट  को अपराध की श्रेणी से हटाया गया; कंपनियों के लिए कारोबार करने में सुगमता (ईज ऑफ डूइंग बिजनेस) और एक नए, आत्मनिर्भर भारत के लिए सार्वजनिक क्षेत्र उद्यम नीति। उन्होंने घोषणा की कि केवल वर्ष 2020-21 के लिए राज्यों की उधार की सीमा 3% से बढ़ाकर 5% करने का फैसला किया है।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें- https://pib.gov.in/PressReleasePage.aspx?PRID=1624691

केंद्रीय वित्त एवं कॉरपोरेट कार्य मंत्री श्रीमती निर्मला सीतारमण ने कोविड-19 के खिलाफ लड़ाई में भारतीय अर्थव्यवस्था को आवश्यक संबल देने के लिए आत्मनिर्भर भारत अभियानकी पांचवीं कड़ी के बारे में विस्तृत प्रस्तुति दी

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-https://pib.gov.in/PressReleasePage.aspx?PRID=1624712

वित्त मंत्री की आज की घोषणाओं से ग्रामीण अर्थव्यवस्था और आधारभूत ढांचे को मिलेगा प्रोत्साहन, करोड़ों गरीबों और प्रवासी कामगारों को उपलब्ध होंगे रोजगार : गृह मंत्री

केन्द्रीय गृह मंत्री श्री अमित शाह ने आज घोषित आर्थिक पैकेज के लिए प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी और वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण का आभार प्रकट किया। उन्होंने कहा, “आज की घोषणाएं आत्मनिर्भर भारत के विचार को साकार बनाने की दिशा में एक लंबा सफर तय करेंगी। ये स्वास्थ्य, शिक्षा और कारोबार के क्षेत्रों में व्यापक बदलाव लाने वाले कदम साबित होंगे, जिनसे करोड़ों गरीबों को रोजगार मुहैया होगा।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें- https://pib.gov.in/PressReleasePage.aspx?PRID=1624693

वित्त मंत्री ने विकास के नए क्षितिज की घोषणा की; आठ सेक्टरों में ढांचागत सुधार आत्मनिर्भर भारतका मार्ग कर रहे हैं प्रशस्त

केंद्रीय वित्त मंत्री ने शनिवार को आत्मनिर्भर भारत की दिशा में निवेश को गति देने के लिए नीति सुधारों की हैः सचिवों के अधिकार प्राप्त समूह के माध्यम से जल्द से जल्द निवेश को स्वीकृति दी जाएगी। निवेश योग्य परियोजनाएं तैयार करने, निवेशकों और केंद्र/राज्य सरकारों के बीच समन्वय के लिए हर मंत्रालय में परियोजना विकास इकाई की स्थापना की जाएगी। नए निवेश के लिए निवेश आकर्षित करने में प्रतिस्पर्धा बढ़ाने के लिए राज्यों की रैंकिंग तैयार की जाएगी। नए चैम्पियन (अग्रणी) क्षेत्रों को बढ़ावा देने के लिए सोलर पीवी विनिर्माण; उन्नत सेल बैटरी स्टोरेज आदि क्षेत्रों के लिए प्रोत्साहन योजनाओं का शुभारम्भ किया जाएगा। वित्त मंत्री ने आठ क्षेत्रों कोयला, खनिज, रक्षा उत्पादन, नागरिक उड्डयन, विद्युत क्षेत्र, सामाजिक आधारभूत ढांचा, अंतरिक्ष और परमाणु ऊर्जा में निम्नलिखित ढांचागत सुधारों की घोषणा की।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें- https://pib.gov.in/PressReleasePage.aspx?PRID=1624574

केंद्रीय गृह मंत्री ने केंद्रीय वित्त मंत्री द्वारा घोषित संरचनात्मक सुधार उपायों की सराहना की

केंद्रीय गृह मंत्री श्री अमित शाह ने शनिवार को केंद्रीय वित्त मंत्री द्वारा घोषित संरचनात्मक सुधार के उपायों की सराहना करते हुए कहा कि वे आज के ऐतिहासिक फैसलों के लिए प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी और वित्त मंत्री श्रीमती निर्मला सीतारमण का धन्यवाद करते हैं। इन फैसलों से हमारी अर्थव्यवस्था में निश्चय ही तेजी आएगी और इनसे आत्मनिर्भर भारत के लिए हमारे प्रयासों में भी तेजी आएगी। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी का रिफॉर्म, परफॉर्म और ट्रांसफॉर्म का मंत्र पिछले 6 साल से भारत के अभूतपूर्व विकास की कुंजी है।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें- https://pib.gov.in/PressReleasePage.aspx?PRID=1624613

प्रवासी श्रमिकों को मुफ्त खाद्यान्न उपलब्ध कराने के लिए आत्मनिर्भर भारत योजना की शुरुआत की

आत्मनिर्भर भारत योजना के अंतर्गत, भारत सरकार ने यह निर्णय लिया है कि दो महीने अर्थात् मई और जून, 2020 के लिए 5 किलो प्रति माह की दर से मुफ्त खाद्यान्न उपलब्ध कराया जाएगा, जो एनएफएसए या राज्य योजना पीडीएस कार्ड के अंतर्गत नहीं आता है। इस योजना के क्रियान्वयन की कुल अनुमानित लागत लगभग 3,500 करोड़ रुपये है जिसका वहन पूरी तरह से भारत सरकार द्वारा किया जाएगा। इस योजना के अंतर्गत, अखिल भारतीय स्तर पर खाद्यान्न का आवंटन 8 लाख मीट्रिक टन (एलएमटी) है। इस योजना के अंतर्गत, खाद्यान्न का वितरण भारतीय खाद्य निगम (एफसीआई) द्वारा पहले से ही शुरू किया जा चुका है।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें- https://pib.gov.in/PressReleasePage.aspx?PRID=1624608

केंद्र सरकार द्वारा विभिन्न क्षेत्रों के लिए घोषित राहत पैकेज और एमएसएमई की नई परिभाषा से उद्योग को बहुत बढ़ावा मिलेगा: श्री गडकरी

केंद्रीय एमएसएमई और सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री श्री नितिन गडकरी ने कहा कि केंद्र सरकार द्वारा एमएसएमई, श्रम, कृषि सहित विभिन्न हितधारकों/क्षेत्रों के लिए घोषित राहत पैकेज और एमएसएमई की नई परिभाषा से उद्योग को बहुत बढ़ावा मिलेगा। उन्होंने एमएसएमई के लिए प्रभावशाली मूल्यांकन की खोज करने का आह्वान किया और प्रतिभागियों से एमएसएमई के हिस्से के रूप में घोषित पैकेज, ‘फंड ऑफ फंडके प्रभावी क्रियान्वयन के संदर्भ में सुझाव देने के लिए भी कहा।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें- https://pib.gov.in/PressReleasePage.aspx?PRID=1624767

प्रवासी कामगारों पर केंद्रीय ऑनलाइन कोषराष्ट्रीय प्रवासी सूचना प्रणाली (एनएमआईएस) सभी राज्यों में उनका सुचारु आवागमन सुगम बनाने के लिए एनडीएमए द्वारा विकसित

प्रवासियों के आवागमन के बारे में सूचना प्राप्त करने और सभी राज्यों में फंसे हुए प्रवासियों का सुचारु आवागमन सुगम बनाने के लिए राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (एनडीएमए) ने एक ऑनलाइन डैशबोर्ड- राष्ट्रीय प्रवासी सूचना प्रणाली (एनएमआईएस) को विकसित किया है। यह ऑनलाइन पोर्टल प्रवासी कामगारों के बारे में केंद्रीय कोष बनाए रखेगा और उनके मूल स्थानों तक उनकी यात्रा को सुचारु बनाने के लिए अंतर-राज्यीय संचार/तालमेल में मदद करेगा। इसका एक अतिरिक्त लाभ सम्पर्क में आने वालों का पता लगाने (कॉन्ट्रेक्ट ट्रेसिंग) के रूप में भी होगा, जो कोविड-19 से निपटने के लिए की जा रही कार्रवाई में भी उपयोगी साबित हो सकता है।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें- https://pib.gov.in/PressReleasePage.aspx?PRID=1624612

 

प्रवासियों के सुरक्षित और शीघ्र परिवहन को सुनिश्चित करने के लिए, भारतीय रेल देश में रेलवे से जुड़े सभी जिलों से श्रमिक स्पेशल ट्रेन चलाने के लिए तैयार

भारतीय रेल देशभर में रेलवे से जुड़े सभी जिलों से श्रमिक स्पेशल रेलगाड़ियों के संचालन के लिए तैयार है। रेल मंत्री ने देशभर के जिला कलेक्टरों से फंसे हुए श्रमिकों और उनके गंतव्यों की सूची तैयार करने और उसे राज्य नोडल अधिकारी के माध्यम से रेलवे में आवेदन करने को कहा है। भारतीय रेलवे एक दिन में लगभग 300 श्रमिक स्पेशल रेलगाड़ियां चलाने में सक्षम है, लेकिन वर्तमान में इसका आधे से भी कम उपयोग किया जा रहा है।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें- https://pib.gov.in/PressReleasePage.aspx?PRID=1624620

ओपी समुद्र सेतु चरण 2-आईएनएस जलाश्व 588 भारतीयों को मालदीव से घर लाया

आईएनएस जलाश्व, जिसे ओपी समुद्र सेतु के लिए तैनात किया गया है, मालदीव के माले से भारतीयों को वापस लाने की अपनी दूसरी यात्रा को संपन्न करते हुए आज सुबह कोच्चि बंदरगाह पहुंचा। जहाज ने 70 महिलाओं (06 गर्भवती महिलाओं) और 21 बच्चों सहित 588 भारतीय नागरिकों को कोच्चि पोर्ट ट्रस्ट के समुद्रिका क्रूज टर्मिनल पर उतारा।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें- https://pib.gov.in/PressReleasePage.aspx?PRID=1624703

केन्द्रीय मंत्री डॉ. जितेंद्र सिंह ने कोविड के बाद की स्थिति के बारे में पूर्वोत्तर के आठ राज्यों के मुख्य सचिवों और वरिष्ठ अधिकारियों के साथ चर्चा की

एक घंटे की वीडियो कॉन्फ्रेंस बैठक में, अरुणाचल प्रदेश, असम, मणिपुर, मेघालय, मिजोरम, नागालैंड, सिक्किम और त्रिपुरा की सरकारों के प्रतिनिधियों ने देश के विभिन्न भागों से पलायन करने वाले मजदूरों और अन्य की आवाजाही, प्रधानमंत्री के 20 लाख करोड़ के आर्थिक पैकेज का प्रभाव और आने वाले दिनों में दी जाने वाली छूट के बारे में आकलन के संबंध में वर्तमान परिदृश्य की जानकारी दी।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें- https://pib.gov.in/PressReleasePage.aspx?PRID=1624642

 

 

पीआईबी के क्षेत्रीय कार्यालयों से मिली जानकारियां

अरुणाचल प्रदेश : मई और जून महीनों के लिए पीएमजीकेवाई के अंतर्गत 200 एमटी दालें दो गोदामों को उपलब्ध करा दी गई हैं। नाफेड गैर राशन कार्ड धारकों के लिए राज्य को अतिरिक्त खाद्यान्न उपलब्ध कराता है।

असम : जोरहाट जिले की वार्ड संख्या-3 का एक नौ वर्षीय बालक कोविड-19 जांच में पॉजिटिव पाया गया, जो दिल्ली से आया था। असम के स्वास्थ्य मंत्री ने ट्वीट के माध्यम से कहा कि कुल मामले बढ़कर 96 हो गए, सक्रिय मामलों की संख्या 51 है, जबकि उपचार के बाद 41 लोग स्वस्थ हो गए और 2 लोगों की मृत्यु हो चुकी है।

मणिपुर : सरकार ने कृषि, एमएसएमई और मनरेगा कार्यों के लिए छूट के साथ लॉकडाउन की अवधि 31 मई तक के लिए बढ़ा दी है। इसके अलावा जांच का वर्तमान बैकलॉग पूरा होने तक राज्य में लोगों के प्रवेश के लिए नई अनुमति देने पर रोक भी लगा दी गई है।

मेघालय : गुजरात में पढ़ाई या काम कर रहे मेघालय के 163 लोग गुवाहाटी रेलवे स्टेशन पहुंच गए हैं।

मिजोरम : तमिलनाडु और पुदुचेरी में फंसे मिजोरम के सेरछिप जिले के 36 लोग राज्य में पहुंच गए और उन्हें एकलव्य आवासीय विद्यालय छात्रावास में क्वारंटाइन किया जा रहा है।

नागालैंड : मणिपुर में फंसे नागालैंड के 134 नागरिक 6 बसों से अपने घर पहुंच गए हैं। जनता और महाविद्यालयों के एक तबके ने शैक्षणिक संस्थानों का क्वारंटाइन केन्द्रों के रूप में उपयोग किए जाने का विरोध किया है।

सिक्किम : राज्य परियोजना निदेशक, शिक्षा विभाग, भाम थातल ने कहा कि दुर्गम इलाकों के ऐसे विद्यार्थियों को शैक्षणिक सामग्री से युक्त प्री-लोडेड लैपटॉप भेजे जा रहे हैं, जो लॉकडाउन के दौरान ऑनलाइन कक्षाओं से वंचित हैं।

चंडीगढ़ : लॉकडाउन के कारण कुछ प्रवासी कामगार, तीर्थयात्री, पर्यटक, विद्यार्थी और अन्य लोग चंडीगढ़ में फंसे हुए हैं। इन लोगों की सुगम निकासी के लिए चंडीगढ़ प्रशासन ने उनको घर भेजने के लिए सहज और सुरक्षित यात्रा सुनिश्चित करने के व्यापक इंतजाम किए हैं। कल यानी 16.05.2020 को लद्दाख संघ शासित क्षेत्र के 166 लोगों की स्वास्थ्य जांच की गई थी और 7 विशेष बसों के माध्यम से उन्हें लेह के लिए रवाना कर दिया गया। इससे पहले 13.05.2020 को कुल 242 फंसे हुए लोगों को लद्दाख भेजा गया था।

पंजाब  : पिछले चार दिन से प्रतिदिन नए मामलों में कमी के बीच पंजाब के मुख्यमंत्री ने सख्त कर्फ्यू हटाकर राज्य में 31 मई तक लॉकडाउन लगाने की घोषणा की, वहीं 18 मई से गैर नियंत्रण (नॉन-कॉन्टेनमेंट) क्षेत्रों में सीमित सार्वजनिक परिवहन और अधिकतम संभावित छूट देने के संकेत दिए हैं। छूट का विवरण केन्द्र के लॉकडाउन 4.0 से जुड़े नए दिशा-निर्देशों को देखते हुए सोमवार तक जारी किया जाएगा। मुख्यमंत्री ने 10 लाख मास्क बनाने के लिए राज्य के आईटीआई संस्थानों की छात्राओं को बधाई दी।

हरियाणा : मुख्यमंत्री ने 20 लाख करोड़ रुपये के मेगा आर्थिक पैकेज के ऐलान के साथ छोटे दुकानदारों, किसानों और मजदूरों, कृषि क्षेत्र, मंडियों के आधारभूत ढांचा संबंधी सुधार तथा रूफ एबव ऑल” (सभी को छत) सुनिश्चित करने सहित विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं के लिए प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के प्रति आभार प्रकट किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि वैश्विक कोविड महामारी के दौर में केन्द्र सरकार द्वारा घोषित मेगा आर्थिक पैकेज से निश्चित रूप से हरियाणा के एमएसएमई को फायदा होगा और प्रधानमंत्री के मेक इन इंडियाअभियान को मजबूती मिलेगी। इससे एमएसएमई की आत्म निर्भरता बढ़ेगी और निर्यात के अवसरों में भी बढ़ोतरी होगी।

हिमाचल प्रदेश : मुख्यमंत्री ने पंचायत प्रधानों से कोविड-19 के संबंध में अपने संबंधित क्षेत्रों के लोगों को संवेदनशील बनाकर राज्य सरकार को पूरा समर्थन देने का अनुरोध किया और यह सुनिश्चित करने के लिए कहा कि देश के दूसरे हिस्सों से आए लोग होम क्वारंटाइन से बच न सकें। मुख्यमंत्री ने कहा कि इन हालात से उबरने के लिए सामूहिक प्रयास करने की जरूरत होगी। उन्होंने कहा कि प्रधानों को लोगों को होम क्वारंटाइन के महत्व के बारे में शिक्षित करना चाहिए।

केरल : राज्य के वित्त मंत्री ने राज्यों की उधारी सीमा में बढ़ोतरी की, केन्द्र सरकार की घोषणा का स्वागत करते हुए कहा कि इसकी शर्तों को या तो वापस ले लिया गया है या राज्यों के साथ चर्चा की गई है। उन्होंने मांग की कि राज्य को आम बजट से उसकी आय का 5 प्रतिशत उधार लेने की अनुमति मिलनी चाहिए, क्योंकि उधारी सीमा में बढ़ोतरी से राज्य को हुई राजस्व हानि के आधे हिस्से की ही भरपाई होगी। उन्होंने यह भी कहा कि जीएसटी बकाये को पूरी तरह चुकाया जाना चाहिए और मनरेगा के अंतर्गत मानदेय को अग्रिम रूप से कामगारों को मिलना चाहिए। मालदीव में फंसे 580 से ज्यादा भारतीय नागरिक ऑपरेशन समुद्र सेतुके अंतर्गत आज कोच्चि पहुंच गए। इनमें से 568 केरल के हैं। खाड़ी से दो उड़ानें आज शाम पहुंच रही हैं। कल राज्य में कोविड-19 के 11 अतिरिक्त मामले सामने आए, जिससे सक्रिय मामलों की संख्या बढ़कर 87 हो गई।

तमिलनाडु : तमिलनाडु में 31 मई तक लॉकडाउन बढ़ा दिया गया है, 25 जिलों में सार्वजनिक परिवहन शुरू कर दिया गया है; चेन्नई सहित 12 अन्य जिलों में बंदिशें जारी हैं। नागापट्टिनम में दो राशन की दुकानों के कर्मचारियों के कोविड जांच में पॉजिटिव आने से जिले में मरीजों का आंकड़ा 50 तक पहुंच गया है। कल तक दर्ज कुल मामले : 10585, सक्रिय मामले : 6970, मृत्यु : 74, डिस्चार्ज किए गए : 3538; चेन्नई में सक्रिय मामलों की संख्या 5939 बनी हुई है।

कर्नाटक : कर्नाटक के मुख्यमंत्री ने कहा कि आत्मनिर्भर भारत के अंतर्गत आज की गईं घोषणाओं से राज्य को फायदा होगा और इससे रोजगार के अवसरों में बढ़ोतरी होगी। उन्होंने कहा कि खनिज क्षेत्रों में नीतिगत बदलाव से राज्य की खनिज नीति में पूरक की तौर पर काम करेंगे और बिना बाधाओं के खनिज गतिविधियां की जा सकेंगी। आज दोपहर 12 बजे तक कोविड के 54 नए मामले दर्ज किए गए, जिनमें से मांड्या में 22, कलबुर्गी में 10, हासन में 6, धारवाड़ में 4, यादागिरी में 3, दक्षिण कन्नड़ और शिमोगा में 2-2, कोलार में 3, उडुपी और विजयपुरा में 1-1 मामले सामने आए। राज्य में कुल पॉजिटिव मामलों की संख्या बढ़कर 1146 तक पहुंच गई। सक्रिय मामले : 611, स्वस्थ हुए : 497, मृत्यु : 37.

आंध्र प्रदेश : आंध्र प्रदेश पड़ोसी राज्यों के प्रवासी कामगारों को मुफ्त यात्रा की सुविधा उपलब्ध कराएगा। प्रवासी कामगारों की निकासी पर सर्कुलर जारी कर दिया गया है, जिसके साथ पुलिस द्वारा लाठीचार्ज नहीं किए जाने निर्देश जारी दिए गए हैं। वेतन कटौती के खिलाफ आंध्र प्रदेश उच्च न्यायालय में दायर याचिका दायर की गई, जिसमें मार्च से सरकारी कर्मचारियों को पूरा वेतन दिए जाने और इस संबंध में जारी जीओ को निलंबित किए जाने की मांग की गई। पिछले 24 घंटों में 25 नए मामले सामने आए, एक व्यक्ति की मृत्यु हो गई और 103 लोग डिस्चार्ज कर दिए गए। कुल मामले : 2230, सक्रिय मामले : 747, स्वस्थ हुए : 1433, मृत्यु : 50। सक्रिय मामलों में दूसरे राज्यों से लौटने वाले 127 लोग शामिल हैं। पॉजिटिव मामलों में अग्रणी जिले : कुर्नूल (611), गुंटूर (417) और कृष्णा (367)।

तेलंगाना : एयर इंडिया की एक विशेष उड़ान से 168 भारतीय यात्री शिकागो (अमेरिका) से हैदराबाद पहुंच गए। यह उड़ान वंदे भारत मिशन के तहत रविवार सुबह 4.45 बजे बहुंची। इस सप्ताह तेलंगाना में कोविड-19 का ग्राफ लगातार बढ़ता रहा और पॉजिटिव मामलों की संख्या 1,509 के स्तर पर पहुंच गई। हाल में तेलंगाना आए 52 प्रवासी कामगार वायरस जांच में अभी तक पॉजिटिव पाए गए हैं।

पीआईबी द्वारा जांचे गए तथ्य

http://164.100.117.97/WriteReadData/userfiles/image/image0043UJJ.png

http://164.100.117.97/WriteReadData/userfiles/image/image005JU57.png

 

http://164.100.117.97/WriteReadData/userfiles/image/image006OGEX.jpg

 

http://164.100.117.97/WriteReadData/userfiles/image/image007C2IM.jpg

*******

एएम/एमपी/एसके



(Release ID: 1624834) Visitor Counter : 137