PIB Headquarters

कोविड-19 पर पीआईबी का दैनिक बुलेटिन

Posted On: 10 SEP 2020 6:18PM by PIB Delhi

Coat of arms of India PNG images free downloadhttp://164.100.117.97/WriteReadData/userfiles/image/image001JO7N.jpg

· कुल मामलों के 60 फीसदी मामले 5 राज्यों से सामने आए हैं

· देश में कुल सक्रिय मामलों की संख्या 9,19,018

· स्वास्थ्य मंत्रालय ने राज्‍यों/केन्‍द्र शासित प्रदेशों से आरटी-पीसीआर के तहत रैपिड एंटीजन टेस्ट के सभी लक्षणात्‍मक निगेटिव मामलों का अनिवार्य रूप से दोबारा परीक्षण करने का अनुरोध किया

· विश्व स्वास्थ्य संगठन के दक्षिण पूर्व एशिया क्षेत्र के लिए 73वें सत्र में सदस्य देशों ने कोविड-19 से निपटने के लिए सामूहिक उत्तर पर घोषणा को स्वीकार किया

· पोषण माह मनाए जाने के दौरान ‘आयुष आधारित पोषण उपायों’ पर विशेष ध्यान दिया जाएगा

 

(पिछले 24 घंटों में जारी कोविड-19 से संबंधित प्रेस विज्ञप्तियां, पीआईबी के क्षेत्रीय कार्यालयों से मिली जानकारियां और पीआईबी द्वारा जांचे गए तथ्य शामिल हैं)

http://164.100.117.97/WriteReadData/userfiles/image/image0054JPZ.jpg

http://164.100.117.97/WriteReadData/userfiles/image/image0066DF5.jpg

भारत के 5 सबसे प्रभावित राज्यों से कुल 60 फीसदी मामले सामने आए हैं

देश में पिछले 24 घंटों के दौरान कुल 95,735 नए मामले सामने आए हैं। कुल मामलों में से 60 फीसदी योगदान केवल पांच राज्यों का है। अकेले महाराष्ट्र से 23,000 से अधिक मामले सामने आए हैं जबकि आंध्र प्रदेश ने इस सूची में 10,000 से अधिक मामलों का योगदान दिया है। देश में कुल सक्रिय मामलों की संख्या 9,19,018 है। कुल सक्रिय मामलों में 74 फीसदी से अधिक मामले 9 सबसे अधिक प्रभावित राज्यों में से आए हैं। महाराष्ट्र, कर्नाटक और आंध्र प्रदेश का फिलहाल कुल सक्रिय मामलों में 49 फीसदी का योगदान है। महाराष्ट्र इस सूची में 2,50,000 से अधिक मामलों के साथ शीर्ष पर है जबकि उसके बाद कर्नाटक और आंध्र प्रदेश प्रत्येक में 97,000 से अधिक सक्रिय मामले हैं।पिछले 24 घंटों के दौरान कुल 1,172 मौतें दर्ज की गई हैं। कल महाराष्ट्र में 380 लोगों की मौत के साथ 32 फीसदी मौतें दर्ज की गईं। इसके बाद कर्नाटक से 128 तथा तमिलनाडु से 78 मौतें दर्ज की गईं। कुल मौतों में से पांच राज्यों / केंद्र शासित प्रदेशों- महाराष्ट्र, तमिलनाडु, कर्नाटक, दिल्ली और आंध्र प्रदेश में 69 फीसदी मौतें हुई हैं।

अधिक जानकारी के लिए  पढ़ें-https://pib.gov.in/PressReleasePage.aspx?PRID=1652933

 

स्वास्थ्य मंत्रालय ने राज्‍यों/केन्‍द्र शासित प्रदेशों से आरटी-पीसीआर के तहत रैपिड एंटीजन टेस्ट के सभी लक्षणात्‍मक निगेटिव मामलों का अनिवार्य रूप से दोबारा परीक्षण करने का अनुरोध किया

केन्‍द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय को ज्ञात हुआ है कि कुछ बड़े राज्य रैपिड एंटीजन टेस्ट (आरएटी) द्वारा परीक्षण किए गए लक्षणात्‍मक निगेटिव मामलों के लिए आरटी-पीसीटी परीक्षण का अनुपालन नहीं कर रहे हैं। आईसीएमआर के दिशा-निर्देशों के साथ-साथ केन्‍द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने यह स्पष्ट रूप से कहा है कि निम्नलिखित विशिष्ट श्रेणियों के व्यक्तियों का आरटी-पीसीआर परीक्षणों के माध्यम से दोबारा परीक्षण करना आवश्‍यक है। पहला रैपिड एंटीजन टेस्‍ट (आरएटी) के सभी लक्षणात्‍मक (बुखार या खांसी या सांस की तकलीफ़) निगेटिव मामले। दूसरा निगेटिव परीक्षण किए जाने के 2 से 3 दिनों के अंदर लक्षण विकसित होने वाले लक्षणहीन निगेटिव मामलों का रैपिड एंटीजन टेस्‍ट (आरएटी)। इस पृष्ठभूमि में केन्‍द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय और आईसीएमआर ने राज्यों और केन्‍द्र शासित प्रदेशों को संयुक्त रूप लिखा है कि वे यह सुनिश्चित करें कि आरएटी-पीसीआर परीक्षण का उपयोग करते हुए सभी लक्षणात्‍मक निगेटिव मामलों के आरएटी की पुन: जांच कराना भी आवश्‍यक है। ऐसा सुनिश्चित करने के लिए यह भी जरूरी है कि इस प्रकार के लक्षणात्‍मक निगेटिव मामले पुन: परीक्षण से न छूटें और वे अपने संपर्क में आने वाले व्‍यक्तियों में बीमारी का प्रसार न कर सकें। इससे यह भी सुनिश्चित होगा कि ऐसे झूठे निगेटिव मामलों का जल्‍द ही पता चले और उनको आइसोलेशन/अस्‍पताल में भर्ती किया जा सके। संयुक्‍त पत्र में उन्‍होंने यह भी दोहराया कि आरएटी का उपयोग क्षेत्र में परीक्षण की पहुंच और उपलब्‍धता में बढ़ोतरी के लिए उपयोग किया जा रहा है जबकि आरटीपीसीआर कोविड परीक्षणों का स्‍वर्ण मानक बना हुआ है। केन्‍द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने भी राज्यों/ केन्‍द्र शासित प्रदेशों से यह अनुरोध किया है कि वे ऐसे मामलों में अनुपालन के लिए हर जिले (एक नामित अधिकारी या एक टीम) और राज्‍य स्‍तर पर तत्‍काल निगरानी तंत्र की स्‍थापना करें। उन्‍हें यह सलाह भी दी गई है कि अनुपालन के रूप में किए जा रहे आरटी-पीसीआर परीक्षणों के दौरान पॉजिटिव पाए गए रोगियों के मामलों की निगरानी करने के लिए नियमित आधार पर विश्‍लेषण किया जाए।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-https://pib.gov.in/PressReleasePage.aspx?PRID=1652966

 

डॉ.हर्षवर्धन ने कोविड-19 की आपातकालीन तैयारियों पर विश्व स्वास्थ्य संगठन के दक्षिण पूर्व एशियाई क्षेत्र के 73वें सत्र में मंत्रीस्तरीय गोलमेज सत्र सम्मेलन को संबोधित किया

केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने आज वीडियो कांफ्रेस के द्वारा विश्व स्वास्थ्य संगठन के दक्षिण पूर्वी एशियाई क्षेत्र के 73वें सत्र में भाग लिया। सम्मेलन में भारत का प्रतिनिधित्व करते हुए डॉ. हर्षवर्धन ने कोविड से संबंधित आपातकालीन तैयारियों पर दो हस्तक्षेप की पेशकश की। उन्होंने सबसे पहले उन तीन महत्वपूर्ण सरकारी हस्तक्षेपों पर बात की जिन्हें कोविड प्रबंधन और आवश्यक गैर कोविड स्वास्थ्य सेवाओं को बनाए रखने के लिए भारत में लागू किया गया है। बाद में उन्होंने उन रणनीतियों पर विस्तार से प्रकाश डाला जो यह सुनिश्चित करने के लिए लागू की जा रही है कि स्वास्थ्य और स्वास्थ्य आपातकालीन तैयारियों के साथ-साथ भविष्य में महामारियों को रोकने के लिए अंतर्राष्ट्रीय स्वास्थ्य विनियमन (आईएचआर) की मूल क्षमताओं में निवेश को बढ़ाया जा सके।  भारत में जनवरी 2020 के बाद से कोविड -19 को रोकने और इस पर नियंत्रण रोकने के लिए भारत के स्वास्थ्य उपायों पर बोलते हुए उन्होंने भारत सरकार द्वारा उठाए गए कदमों का जानकारी दी।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-https://pib.gov.in/PressReleasePage.aspx?PRID=1653239

 

 

विश्व स्वास्थ्य संगठन के दक्षिण पूर्व एशियाई क्षेत्र के 73वें सत्र में सदस्य देशों ने कोविड- 19 से निपटने के लिए सामूहिक उत्तर पर घोषणा को स्वीकार किया

विश्व स्वास्थ्य संगठन के दक्षिण पूर्व एशियाई क्षेत्र के लिए थाईलैंड के उपप्रधानमंत्री और स्वास्थ्य मंत्री श्रीअनुचिन चर्नविराकुल की अध्यक्षता में आयोजित 73वें सत्र में सदस्य देश कोविड-19 से निपटने के लिए सामूहिक उत्तर पर घोषणा को स्वीकार किया

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें- https://pib.gov.in/PressReleasePage.aspx?PRID=1653025

 

प्रधानमंत्री और सऊदी अरब के महामहिम किंग के बीच टेलीफोन पर हुई बातचीत

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने सऊदी अरब के महामहिम किंग सलमान बिन अब्दुलअजीज अल सॉद के साथ फोन पर बातचीत की। दोनों नेताओं ने कोविड-19 महामारी के संदर्भ में वैश्विक चुनौतियों पर विचारों का आदान प्रदान किया। प्रधानमंत्री ने उनकी अध्यक्षता में हो रही जी20 समूह की बैठक के दौरान सऊदी अरब द्वारा उपलब्ध कराए जा रहे नेतृत्व की सराहना की। नेताओं ने सहमति प्रकट करते हुए कहा कि जी20 के स्तर पर की गई पहलों से महामारी के लिए समन्वित प्रतिक्रिया को प्रोत्साहन देने में सहायता मिली है। उन्होंने जी20 के एजेंडे में वर्तमान में शामिल मुख्य प्राथमिकताओं पर भी विचार-विमर्श किया। दोनों नेताओं ने भारत और सऊदी अरब के बीच द्विपक्षीय संबंधों की स्थिति पर संतोष जाहिर किया तथा सभी क्षेत्रों सहयोग बढ़ाने के लिए प्रतिबद्धता जाहिर की। प्रधानमंत्री ने कोविड-19 महामारी के दौरान सऊदी अधिकारियों द्वारा भारतीय प्रवासियों को सहयोग उपलब्ध कराने पर महामहिम किंग सलमान का विशेष आभार प्रकट किया।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-https://pib.gov.in/PressReleasePage.aspx?PRID=1652901

 

राज्यसभा के सभापति ने मॉनसून सत्र का सुचारू रूप से संचालन सुनिश्चित करने के लिए सदन का मॉक सत्र आयोजित किया

राज्यसभा के सभापति श्री एम. वेंकैया नायडू ने 14 सितंबर (सोमवार) से संसद के मॉनसून सत्र को आयोजित करने के लिए किए जा रहे विशेष प्रबंधों का जायजा लिया। सदन का एक मॉक सत्र आयोजित किया गया, जिसमें सभापति के रूप में वे अपनी सीट पर बैठे और चैंबर तथा सभा की चार दीर्घाओं में सचिवालय के कर्मचारियों द्वारा बैठाया गया, बैठने की यह व्यवस्था पहले से ही तय सामाजिक दूरी के मानदंडों को ध्यान में रखते हुए निर्धारित की गई थी। सदन के कर्मचारियों को लोकसभा के चैंबर बैठकर सदन की कार्यवाही में भाग लेने के की भी व्यवस्था की गई थी, जो पूरे सत्र के लिए सदन का हिस्सा है। श्री नायडू ने सचिवालय के वरिष्ठ अधिकारियों को यह सुनिश्चित करने की भी सलाह दी कि गृह और स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा जारी किए गए सभी दिशानिर्देशों का बहुत ही निष्ठापूर्वक सख्ती से पालन किया जाए। उन्होंने अधिकारियों को आगामी सत्र से पहले और इसके दौरान स्वास्थ्य प्रोटोकॉल के बारे में एक सलाहकार के माध्यम से माननीय सदस्यों को याद दिलाने का भी निर्देश दिया गया।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-https://pib.gov.in/PressReleasePage.aspx?PRID=1652917

 

वित्त मंत्री ने डोरस्टेप बैंकिंग सेवाओं का शुभारंभ किया और ईज 2.0 सूचकांक के परिणाम घोषित किए

केंद्रीय वित्त एवं कॉर्पोरेट मामलों की मंत्री श्रीमती निर्मला सीतारमण ने कल सरकारी बैंकों यानी पीएसबी द्वारा डोरस्टेप बैंकिंग सेवाओं का शुभारंभ किया और ईएएसई यानी ईज बैंकिंग सुधार सूचकांक पर सबसे अच्छा प्रदर्शन करने वाले बैंकों को सम्मानित करने के लिए पुरस्कार समारोह में भाग लिया। ईएएसई सुधार के तहत डोरस्टेप बैंकिंग सेवाओं की परिकल्पना की गई है ताकि ग्राहकों को कॉल सेंटर, वेब पोर्टल या मोबाइल ऐप के टच पॉइंट्स के जरिये उनके दरवाज़े तक बैंकिंग सेवाओं की सुविधा प्रदान की जा सके। ग्राहक इन चैनलों के माध्यम से अपने सेवा अनुरोध को भी ट्रैक कर सकते हैं। देश भर के 100 केंद्रों पर चयनित सेवा प्रदाताओं द्वारा तैनात डोरस्टेप बैंकिंग एजेंटों द्वारा ये सेवाएं प्रदान की जाएंगी। वर्तमान में ग्राहकों के लिए नेगोशिएबल इंस्‍ट्रूमेंट्स (चेक/ डिमांड ड्राफ्ट/ पे ऑर्डर आदि) को उठाना, नई चेक बुक के लिए पर्ची हासिल करना, 15जी/ 15एच फॉर्म को उठाना, आईटी/ जीएसटी चालान को उठाना, स्‍टैंडिंग इंस्‍ट्रक्‍शन के लिए अनुरोध, खाता विवरण के लिए अनुरोध, गैर-व्यक्तिगत चेक बुक की डिलीवरी, डिमांड ड्राफ्ट, पे ऑर्डर, टर्म डिपॉजिट रसीद, पावती आदि की डिलीवरी, जारी किए गए टीडीएस/ फॉर्म 16 सर्टिफ़िकेट की डिलीवरी, प्री-पेड इंस्ट्रूमेंट/गिफ्ट कार्ड की डिलीवरी आदि सुविधाएँ शामिल हैं। वित्तीय सेवाओं को अक्टूबर 2020 से उपलब्ध कराया जाएगा। सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों के ग्राहक मामूली शुल्‍क पर इन सेवाओं का लाभ उठा सकते हैं।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-https://pib.gov.in/PressReleasePage.aspx?PRID=1652960

 

पोषण माह मनाए जाने के दौरान ‘आयुष आधारित पोषण उपायों’ पर विशेष ध्यान केंद्रित किया जाएगा

पारंपरिक स्वास्थ्य ज्ञान पर आधारित पोषण समाधान या उपाय सितंबर 2020 में मनाए जा रहे पोषण माह का अभिन्न हिस्सा होंगे। इससे पोषण अभियान के तहत विभिन्न गतिविधियों में नई तेजी आएगी। इसके साथ ही इस दौरान कोविड-19 प्रोटोकॉल का पालन करने पर भी ध्यान केंद्रित किया जाएगा। पोषण अभियान (राष्ट्रीय पोषण मिशन) दरअसल समग्र पोषण के लिए प्रधानमंत्री की व्‍यापक योजना है, जिसका शुभारंभ उन्‍होंने 8 मार्च, 2018 को किया था। आयुर्वेद, सिद्ध एवं यूनानी जैसी स्वदेशी चिकित्‍सा प्रणालियों के विशेषज्ञों को अच्छे पोषण, पूरक आहार इत्‍यादि के बारे में मार्गदर्शन प्रदान करने के लिए चुना जाएगा। आयुष मंत्रालय अपने स्वायत्त निकायों के नेटवर्क के साथ-साथ आयुष शैक्षणिक संस्थानों जैसे हितधारकों के माध्यम से इसके लिए विशेष उपायों की शुरुआत और समन्वय करेगा। मंत्रालय ‘आहार’ थीम, जो सीधे पोषण विषय से संबंधित है, पर ध्यान केंद्रित करते हुए इस माह के दौरान अपने जागरूकता अभियान को अनुकूलित करेगा और लक्षित संदेशों के साथ जनता से संपर्क सुनिश्‍चि‍त करेगा।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-https://pib.gov.in/PressReleasePage.aspx?PRID=1653033

 

डीएसटी ने नवाचार, उद्यमिता और इन्क्यूबेशन को समर्थन देने पर आधारित रिपोर्ट जारी की

विज्ञान और प्रौद्योगिकी विभाग के सचिव प्रोफेसर आशुतोष शर्मा ने नवाचार, उद्यमिता, और इन्क्यूबेशन में सहयोग देने के लिए राष्ट्रीय विज्ञान और प्रौद्योगिकी उद्यमिता विकास बोर्ड (एनएसटीईडीबी) की यात्रा पर एक रिपोर्ट, ऑनलाइन कार्यक्रम में इस सप्ताह जारी की। इस रिपोर्ट में सीड फंडिंग प्राप्त स्टार्टअप द्वारा एंजेल, वेंचर कैपिटल व अन्य हितधारकों के वित्तपोषण में हुई पांच गुनी वृद्धि का भी उल्लेख किया गया है। कुल मिलाकर, एनएसटीईडीबी ने उच्च शिक्षा संस्थानों की तकनीकी ताकत का लाभ शैक्षणिक इनक्यूबेटरों के नेटवर्क के माध्यम से स्टार्टअप्स तक पहुँचाया है। एनएसटीईडीबी ने इन इनक्यूबेटर की सीड फंडिंग की है और इनका समर्थन किया है, जिसके कारण इन स्टार्टअप को सफलता मिली है। निधि कार्यक्रम, डीएसटी इनक्यूबेटर नेटवर्क और उसके स्टार्टअप की सामूहिक शक्ति की परीक्षा कोविड-19 संकट के दौरान हुई। संकट से निपटने के लिए सेंटर फॉर औगमेंटइंग वॉर विथ हेल्थ क्राइसिस (कवच) कार्यक्रम के माध्यम से विभिन्न समाधानों का समर्थन किया गया था।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-https://pib.gov.in/PressReleasePage.aspx?PRID=1652924

 

पत्र सूचना कार्यालय के क्षेत्रीय कार्यालयों से मिली जानकारियां

अरूणाचल प्रदेश : राज्य में कोविड-19 के 147 नए पॉजिटिव मामले मिले हैं। इस बीच 183 लोग कोरोना से स्वस्थ हुए और उन्हें अस्पताल से छुट्टी दी गई। राज्य में अब 1,630 सक्रिय मामले हैं।

असम : राज्य में कल 2,265 रोगियों को अस्पताल से छुट्टी गई। असम के स्वास्थ्य मंत्री ने बताया कि अब तक 1,03,504 रोगियों को अस्पताल से घर भेजा गया है और 29,163 सक्रिय मामले हैं।

मणिपुर : 160 और लोग कोविड-19 पॉजिटिव हुए। 75 प्रतिशत की रिकवरी दर के साथ 64 लोग स्वस्थ हुए। मणिपुर में अब 1,774 सक्रिय मामले हैं।

मेघालय :  राज्य में कल 107 लोग कोरोना वायरस से स्वस्थ हुए। राज्य में अब 1,355 सक्रिय मामले हैं। इनमें से सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) और सशस्त्र बलों से जुडे 280 और अन्य लोगों से जुडे 1,075 मामले हैं। राज्य में 1,823 लोग स्वस्थ हो चुके हैं।

मिजोरम : राज्य में कल कोविड-19 के 141 नए मामले सामने आए। राज्य में कुल 1,333 और 583 सक्रिय मामले हैं।

नगालैंड : राज्य सरकार ने बाहर से लौटने वाले लोगों और यात्रियों के लिए पहले जारी सभी एसओपी में बदलाव किया है। अब राज्य में प्रवेश करने वाले बिंदुओं की पहचान की गई है। नगालैंड में बुधवार को कोरोना के 130 नए मामले सामने आए। इनमें से 64 कोहिमा, 63 दीमापुर, 2 मॉन और 1 मामला मॉकोचुंग से मिला।

सिक्किम :  31 और लोगों में कोविड-19 की पुष्टि हुई है। राज्य में अब 527 सक्रिय मामले हैं। अब तक 1,470 लोग स्वस्थ होने के बाद विभिन्न कोविड देखभाल केंद्र से घर जा चुके हैं। सिक्किम में 1,989 सक्रिय मामले हैं।

महाराष्ट्र : राज्य में बुधवार को एक दिन में अब तक के सबसे ज्यादा 23,816 मामले सामने आए। राज्य में अब कोरोना के 9,67,349 मामले हैं। 325 लोगों की मौत के साथ अब तक 27,732 लोगों की कोरोना से मृत्यु हो चुकी है। महाराष्ट्र के स्वास्थ्य विभाग के अनुसार राज्य में अब 2,52,734 सक्रिय मामले हैं। मुंबई में बुधवार को कोरोना के 2,227 नए मामले मिले। इसके साथ ही मुंबई में अब 1,60,744 मामले हो गए हैं। 43 रोगियों की मृत्यु के साथ अब तक 7,982 लोगों की मृत्यु हो चुकी है। अब तक 1,26,745 लोग स्वस्थ हुए हैं और शहर में 25,659 सक्रिय मामले हैं।

गुजरात :  राज्य बीजेपी अध्यक्ष और नवसारी से सांसद सी आर पाटिल कोरोना पॉजिटिव मिले हैं। गुजरात में बुधवार को 1,329 नए मामले मिले और अब 16,296 सक्रिय मामले हैं।

मध्यप्रदेश :  राज्य में कोविड रिकवरी दर में सुधार हुआ है और यह 76 प्रतिशत हो गई है। मृत्यु दर में भी गिरावट आई है और यह 2.4 प्रतिशत से कम होकर 1.4 प्रतिशत रह गई है। इस बीच बीते 24 घंटे में कोरोना के रिकार्ड 1,869 मामले सामने आने के बाद कुल मामले 79,192 हो गए हैं। मध्यप्रदेश में अब 17,702 सक्रिय मामले हैं।

गोवा :  दक्षिण गोवा जिला अस्पताल में 250 बेड की कोविड उपचार सुविधा शुक्रवार से शुरू होगी। राज्य में कोरोना के मामले बढ़ने के बाद गोवा सरकार ने मडगांव अस्पताल के 500 बेड में से 250 बेड को कोविड रोगियों के लिए प्रयोग करने का फैसला लिया। वर्तमान में 4,833 रोगियों का उपचार मडगांव के ईएसआई अस्पताल, पनाजू के निकट बंबोलिम में गोवा मेडिकल कॉलेज अस्पताल और पोंडा के उप-जिला अस्पताल में चल रहा है।

केरल :  राज्य की स्वास्थ्य मंत्री के.के. शैलजा ने चेतावनी दी है कि छूट ओर बढ़ने के साथ राज्य में कोविड-19 से मृतकों की संख्या बढ़ सकती है। उन्होंने कहा कि अगर संक्रमण का विस्तार हुआ तो वेंटीलेटर मुश्किल से मिलेंगे और पहले से ही इनकी कमी है। शैलजा ने कॉलोनियों में संक्रमण के विस्तार को रोकने के लिए सावधानी बरतने का अनुरोध किया। मुख्यमंत्री श्री पिनयारी विजयन ने कल दो विधानसभा सीटों में उपचुनाव रद्द करने के मुद्दे पर आम सहमति बनाने के लिए सर्वदलीय बैठक बुलाई है। इस बीच राज्य में तीन ओर लोगों की कोरोना वायरस से मृत्यु होने के बाद मृतकों की संख्या बढ़कर 387 हो गई है। केरल में कल कोविड-19 के रिकार्ड 3,402 नए मामले सामने आए। इस समय 24,549 लोगों का उपचार चल रहा है और 2.02 लाख लोग निगरानी में हैं।

तमिलनाडु :  मुख्यमंत्री एडापदी के. पलानीस्वामी ने कहा है कि राज्य में स्कूलों को फिर से खोलने के किसी भी निर्णय पर विचार अभिभावकों की तैयारी को ध्यान में रखते हुए लिया जाएगा। तमिलनाडु में 21 सितंबर से 25 सितंबर तक विद्यार्थियों के लिए कोई ऑनलाइन क्लास नहीं होगी। राज्य के स्कूल शिक्षा मंत्री के ए सेंगोट्टायन ने कहा थकान के स्तर को कम करने में सहायता देने के लिए पांच दिन की छुट्टी की योजना बनाई गई है। तमिलनाडु में कल 5,584 पॉजिटिव मामले सामने आए और 6,516 लोगों को अस्पताल से छुट्टी दी गई। राज्य में 75 लोगों की कोरोना से मृत्यु होने के बाद अब तक 8,090 लोगों की मृत्यु हो चुकी है। 14 जिलो में 100 से अधिक मामले सामने आए हैं।   

कर्नाटक :  राज्य के पशुपालन मंत्री प्रभु चव्हाण कोरोना से संक्रमित पाए गए हैं। कर्नाटक उच्च न्यायालय ने बुधवार को कोविड पर राज्य स्तरीय विशेषज्ञ समिति से निजी अस्पताल और कोविड देखभाल केंद्र में सुविधा पर एक रिपोर्ट सौंपने के लिए कहा। कर्नाटक सरकार छोटे कस्बों में कोरोना संक्रमण के तेजी से विस्तार को रोकने के लिए जांच सुविधा को बढ़ा रही है। राज्य के शहरों में भी बड़ी संख्या में कोरोना के मामले सामने आ रहे हैं। ब्रिटेन में ऑक्सफ़ोर्ड टीके का परीक्षण रोक दिया गया हो, लेकिन मैसूर स्थित जेएसएस उच्च शिक्षा और अनुसंधान अकादमी में इसका परीक्षण जारी है। अकादमी परीक्षण को जारी रखने के लिए पत्राचार की प्रतीक्षा कर रही है। 

आंध्र प्रदेश : राज्य भर में कोविड अस्पतालों में 19 विशेष क्षेत्रों में दी जा रही सुविधा पर संपन्न पहले सर्वेक्षण में विशाखापट्टनम जिला प्रथम स्थान पर रहा। चिकित्सा और स्वास्थ्य विभाग ने यह सर्वेक्षण सरकारी के साथ-साथ निजी अस्पतालों में आईसीयू में डॉक्टर, ऑक्सीजन बेड, उपचार के बाद छुट्टी,  खाना, स्वच्छता, आधारभूत ढांचा, बेड आदि क्षेत्रों में किया था। नेल्लोर जिला प्रशासन ने जांच बढ़ाने के लिए श्रीहरिकोटा अंतरिक्ष केंद्र में एक संजीवनी बस की तैनाती की है। यह निर्णय बुधवार को सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र में कोरोना वायरस के 47 नए मामले सामने आने के बाद लिया गया।  

तेलंगाना : कोरोना के 2534 नए मामले सामने आने के बाद कुल मामलों की संख्या 1.5 लाख से अधिक हो गई है। बीते चौबीस घंटों में 2071 लोग स्वस्थ हुए और 11 लोगों की मृत्यु हुई। 2534 मामलों में से 327 मामले जीएचएमसी में सामने आए। राज्य में अब कोराना के 1,50,176 कुल मामले, 32,106 सक्रिय मामले हैं। 1,17,143 लोगों को उपचार के बाद छुट्टी दी गई और 927 लोगों की मृत्यु हुई है। देश में पहली बार कोविड-19 योद्धाओं के लिए प्रोत्साहन योजना की शुरुआत करने वाली तेलंगाना सरकार अगले कुछ माह के लिए अतिरिक्त वित्तीय लाभ जारी रख सकती है। मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव ने आज विधानसभा में कोविड-19 रोगियों को लूटने वाले निजी अस्पतालों पर लगाम लगाने के लिए कार्यबल गठित करने की घोषणा की है।

 

FACTCHECK

http://164.100.117.97/WriteReadData/userfiles/image/image00711K7.jpg

***

 

एमजी/एएम/एजे/एसएस



(Release ID: 1653244) Visitor Counter : 132