PIB Headquarters

कोविड-19 पर पीआईबी का दैनिक बुलेटिन

Posted On: 11 MAY 2020 6:15PM by PIB Delhi

(पिछले 24 घंटे में जारी कोविड-19 से जुड़ी प्रेस विज्ञप्तियां, क्षेत्र अधिकारियों से प्राप्त जानकारियां और पीआईबी द्वारा जांचे गए तथ्य शामिल है)

• कोविड-19 के कुल 67,152 सत्यापित मामलों में से अभी तक 20,917 लोग उपचार के बाद ठीक हो गए, जिससे देश में रोगियों के ठीक होने की 31.15 प्रतिशत के स्तर पर पहुंच गई।

• कल से अभी तक कोविड-19 के मामलों की संख्या में 4,213 की वृद्धि दर्ज की गई।

• केन्द्रीय गृह मंत्रालय ने राज्यों से स्वास्थ्य पेशेवरों और पैरा-मेडिकल कर्मचारियों की सुगम आवाजाही सुनिश्चित करने तथा सभी निजी क्लीनिकों, नर्सिंग होम और प्रयोगशालाओं को खोलने के लिए कहा है।

• राज्यों से फंसे प्रवासी कामगारों की तेज आवाजाही को आसान बनाने के लिए बिना किसी बाधा के ज्यादा श्रमिक स्पेशलट्रेन चलाने में रेलवे के साथ सहयोग करने के लिए कहा गया है। अभी तक विभिन्न राज्यों से 468 “श्रमिक स्पेशल” ट्रेनें चलाई जा चुकी हैं।

• रेलवे द्वारा कल से आंशिक तौर पर ट्रेनों का परिचालन शुरू कर दिया जाएगा।

स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय से कोविड-19 पर प्राप्त अपडेट

अब तक 20,917 लोग स्वस्थ हो चुके हैं। इसके साथ ही स्वस्थ होने की दर 31.15 प्रतिशत तक पहुंच गई है। अब कुल पुष्ट मामलों की संख्या 67,152 तक पहुंच गई है। कल से भारत में कोविड-19 के पुष्ट मामलों की संख्या में 4,213 की वृद्धि दर्ज की गई है। विभिन्न चिकित्सा पेशेवरों के कार्य की सराहना करते हुए डॉ. हर्षवर्धन ने कहा कि कोविड-19 से निपटने, विशेषकर पिछले 3 महीनों के दौरान चिकित्सकों द्वारा प्रदर्शित संयम के लिए देश को उन पर गर्व है। उन्होंने एक बार फिर राष्ट्र से अपील की कि वे डॉक्टरों और स्वास्थ्य  सेवा कर्मियों को कलंकित न करें या निशाना नहीं बनाए, इसकी बजाए जनता की बड़े पैमाने पर सहायता करने की दिशा में उनके द्वारा किए जा रहे प्रयासों की सराहना की जानी चाहिए। उन्होंने कहा कि कोविड-19 के खिलाफ हमारी लड़ाई को जारी रखने के लिए डॉक्टरों, नर्सों, स्वास्थ्य सेवा कर्मियों को हमारे सम्मान, सहायता और सहयोग की जरूरत है।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-

पुणे के आईसीएमआर-एनआईवी ने कोविड-19 के एंटीबॉडी का पता लगाने के लिए स्वदेशी आईजीजी एलिसा मानव परीक्षण किट को सफलतापूर्वक विकसित किया; कोविड-19 की निगरानी में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगी: डॉ. हर्षवर्धन

पुणे स्थित भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर)-नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी (एनआईवी) ने कोविड-19 के एंटीबॉडी का पता लगाने के लिए स्वदेशी आईजीजी एलिसा टेस्ट 'कोविड कवच एलिसा' को विकसित करते हुए इसे मान्यता दे दी है। एनआईवी की सक्षम वैज्ञानिक टीम ने भारत में इस रोग की पुष्टि वाले रोगियों में से सार्स-सीओवी-2 वायरस को प्रयोगशाला में सफलतापूर्वक पृथक कर दिया है। इससे सार्स-सीओवी-2 के लिए स्वदेशी निदान का मार्ग प्रशस्त हुआ है। जबकि सार्स-सीओवी-2 के निदान के रियल टाइम आरटी-पीसीआर एक प्रमुख परीक्षण है और जनसंख्या में संक्रमण के अनुपात को समझने के मामले में निगरानी हेतु मजबूत एंटीबॉडी परीक्षण इस दिशा में एक अत्यंत महत्वपूर्ण कदम हैं।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-

डॉ. हर्षवर्धन ने कोविड-19 प्रबंधन की स्थिति की समीक्षा के लिए मंडोली कोविड-19 केयर सेंटर का दौरा किया

केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने कोविड-19 के प्रबंधन की स्थिति की समीक्षा करने के लिए मंडोली जेल स्थित कोविड केयर सेंटर (सीसीसी) नई दिल्ली  का दौरा किया। अस्पताल की तैयारियों से संबंधित उभरती आवश्यकताओं को ध्यान में रखते हुए मंडोली सीसीसी एक पुलिस आवासीय परिसर है, जिसे समर्पित कोविड-19 सेंटर में परिवर्तित किया गया है जिसमें मामूली/बेहद मामूली लक्षणों वाले कोविड-19 रोगियों के लिए पर्याप्त संख्या में आइसोलेशन रूम्स और बिस्तर हैं। डॉ. हर्षवर्धन ने कहा “कोविड-19 के खिलाफ निर्णायक युद्ध में निरंतर निजी एवं श्वसन संबंधी शिष्टाचार बरतने तथा सामाजिक दूरी का पालन करने से हमें व्यापक लाभ मिलेगा।”

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-

गृह मंत्रालय की राज्यों को हिदायत: डॉक्टरों, अर्द्ध चिकित्साकर्मियों की निर्बाध गतिविधियां  और सभी निजी क्लीनिकों, नर्सिंग होम और प्रयोगशालाओं को खुला रखना सुनिश्चित करें; कोविड और गैर-कोविड आपात स्थितियों से निपटने के लिए आवश्यक

कैबिनेट सचिव ने 10 मई 2020 को वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिये एक बैठक की, जिसमें कुछ राज्यों और संघ शासित प्रदेशों द्वारा डॉक्टरों और अर्द्ध चिकित्साकर्मियों की गतिविधियों पर कुछ राज्यों/संघ शासित प्रदेशों द्वारा लागू प्रतिबंधों का मुद्दा उठा। इस बैठक के परिणामस्वरूप, गृह मंत्रालय ने सभी राज्यों/संघ शासित प्रदेशों को पत्र लिखकर कहा कि सार्वजनिक स्वास्थ्य आवश्यकताओं को पूरा करने और बहुमूल्यी मनुष्य, जीवन को बचाने के लिए सभी डॉक्टरों की गतिविधियां बेरोक-टोक जारी रहना आवश्यक है। इसमें कहा गया कि डॉक्टरों और अर्द्ध चिकित्साकर्मियों की गतिविधियों पर किसी भी प्रकार का प्रतिबंध कोविड और गैर-कोविड चिकित्सा सेवाएं प्रदान करने में गंभीर बाधाएं पैदा कर सकता है।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-  

गृह मंत्रालय की राज्यों को हिदायत: बिना किसी बाधा के अधिक श्रमिक स्पेशलट्रेनें चलाने में रेलवे के साथ सहयोग करें ताकि दूसरे राज्यों में पलायन करके गए श्रमिक तेजी से अपने घर पहुंच सकें

कैबिनेट सचिव ने बसों और ‘श्रमिक स्पेशल’ ट्रेनों से जाने वाले श्रमिकों को सभी राज्यों  और संघ शासित प्रदेशों द्वारा प्रदान की गई सहायता की समीक्षा करने के लिए 10 मई 2020 को वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिये एक बैठक की अध्यक्षता की। गृह मंत्रालय ने सभी राज्यों/संघ शासित प्रदेशों को पत्र लिखकर कहा कि वे पलायन करके आए श्रमिकों को उनके मूल स्थानों तक पहुंचने के लिए सड़क और रेलवे पटरियों पर चलने से रोकें। इस बात पर जोर दिया गया कि ‘श्रमिक स्पेशल’ ट्रेनों और बसों को चलने की अनुमति दी जा चुकी है। इसलिए, उन्हें अपने घर जाने के लिए ‘श्रमिक स्पेशल’ ट्रेनों या बसों की सुविधा दी जा सकती है और तब तक पलायन करके आए श्रमिकों को परामर्श दिया जा सकता है और उन्हें पास के आश्रयों में ले जाया जा सकता है।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-

भारतीय रेल की यात्री सेवाएं 12 मई 2020 से क्रमबद्ध तरीके से आंशिक रूप से बहाल होंगी

रेल मंत्रालय ने 12 मई 2020 से भारतीय रेल की यात्री सेवाएं क्रमिक तरीके से आंशिक रूप से बहाल करने का फैसला किया है। विशेष रेलगाड़ियों की 15 जोड़ी (30 ट्रेनों) का परिचालन किया जाएगा। ये सेवाएं फंसे हुए व्यक्तियों को ले जा रहीं श्रमिक स्पेशल ट्रेनों के अतिरिक्त होंगी, जिनका परिचालन 1 मई, 2020 से किया जा रहा है। समस्त मेल/एक्सप्रेस, सवारी और उपनगरीय सेवाएं सहित अन्य नियमित यात्री सेवाएं अगले परामर्श तक रद्द रहेंगी। इन विशेष रेलगाड़ियों में केवल वातानुकूलित श्रेणियां अर्थात फर्स्ट, सेकेंड और थर्ड एसी होंगी। आईआरसीटीसी वेबसाइट या मोबाइल एप के माध्यम से केवल ऑनलाइन ई-टिकटिंग ही की जाएगी। किसी भी रेलवे स्टेशन के आरक्षण काउंटर पर कोई भी टिकट बुक नहीं होगा। ‘एजेंट्स’ (आईआरसीटीसी एजेंट और रेलवे एजेंट दोनों) के माध्यम से टिकटों की बुकिंग की अनुमति नहीं होगी। अधिकतम अग्रिम आरक्षण अवधि (एआरपी) अधिक से अधिक 7 दिन की होगी। अनारक्षित टिकटों की अनुमति नहीं होगी। किराये में किसी भी तरह के खानपान का शुल्क शामिल नहीं किया जाएगा। सभी यात्रियों की अनिवार्य रूप से जांच की जाएगी और केवल उन्हीं यात्रियों को ट्रेन में प्रवेश/सवार होने की अनुमति होगी, जिनमें रोग के कोई लक्षण नहीं होंगे।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-

भारतीय रेलवे ने पंद्रह जोड़ी स्पेशल ट्रेनों (तीस रेलगाड़ियों) के समय की घोषणा की

रेल मंत्रालय ने स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय (एमओएचएफडब्ल्यू) और गृह मंत्रालय (एमएचए) के परामर्श से निर्णय किया है कि भारतीय रेल 12 मई 2020 से श्रेणीबद्ध तरीके से ट्रेन सेवाओं को आंशिक रूप से बहाल करेगी।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-

भारतीय रेलवे ने 11 मई, 2020 (1000 बजे) तक देश भर में 468 ‘श्रमिक स्पेशलट्रेनें चलाईं

11 मई 2020 तक देश भर के विभिन्न राज्यों से कुल 468 ‘श्रमिक स्पेशल’ ट्रेनें चलाई गई हैं, जिनमें से 363 ट्रेनें अपने गंतव्य तक पहुंच भी चुकी हैं और 105 ट्रेनें फि‍लहाल अपने-अपने गंतव्यों की ओर अग्रसर हैं। इन 363 ट्रेनों का परिचालन विभिन्न राज्यों में पहुंचने पर समाप्त हुआ, जैसे कि आंध्र प्रदेश (1 ट्रेन), बिहार (100 ट्रेनें), हिमाचल प्रदेश (1 ट्रेन), झारखंड (22 ट्रेनें), मध्य प्रदेश (30 ट्रेनें), महाराष्ट्र (3 ट्रेनें), ओडिशा (25 ट्रेनें), राजस्थान (4 ट्रेनें), तेलंगाना (2 ट्रेनें), उत्तर प्रदेश (172 ट्रेनें), पश्चिम बंगाल (2 ट्रेनें) और तमिलनाडु (1 ट्रेन)। इन ‘श्रमिक स्पेशल’ ट्रेनों से अधिकतम लगभग 1200 यात्री ही ‘सामाजिक दूरी बनाए रखने के दिशा-निर्देश’ का बाकायदा पालन करते हुए सफर कर सकते हैं। इसी तरह ट्रेन में चढ़ने से पहले यात्रियों की समुचित स्क्रीनिंग या जांच सुनिश्चित की जाती है। एक और विशेष बात यह है कि इन ‘श्रमिक स्पेशल’ ट्रेनों से सफर के दौरान यात्रियों को मुफ्त भोजन और पानी दिया जाता है।  

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-

गृह मंत्रालय और रेलवे ने श्रमिक स्पेशलट्रेनों के परिचालन की समीक्षा के लिए राज्यों के प्रमुख अधिकारियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंस की, फंसे श्रमिकों को तेजी से अपने-अपने घर पहुंचाने पर गहन चर्चा की गई

गृह मंत्रालय और रेल मंत्रालय ने श्रमिक स्पेशल ट्रेनों के जरिए प्रवासी श्रमिकों की आवाजाही पर आज सुबह एक वीडियो कॉन्फ्रेंस आयोजित की। राज्यों और केन्द्र शासित प्रदेशों के प्रमुख (नोडल) अधिकारियों ने इसमें भाग लिया। इसकी सराहना की गई कि कल की 101 ट्रेनों सहित 450 से भी अधिक ट्रेनें कई लाख प्रवासी श्रमिकों को लेकर बाकायदा प्रस्थान कर चुकी हैं। वीडियो कॉन्फ्रेंस के दौरान कई मुद्दों पर चर्चा की गई एवं उनका निवारण किया गया और इसके साथ ही इस बात पर विशेष जोर दिया गया कि प्रवासी श्रमिकों को यह आश्वासन दिया जाए कि घर जाने के इच्छुक सभी लोगों की यात्रा के लिए पर्याप्त संख्या में ट्रेनें चलाई जाएंगी। अगले कुछ हफ्तों तक प्रति‍दिन सौ से भी अधिक ट्रेनों के चलने की उम्मीद है, ताकि फंसे हुए श्रमिकों को उनके मूल निवास स्थानों तक जल्द–से-जल्द पहुंचाया जा सके।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-

गृह मंत्रालय ने ट्रेन से लोगों की आवाजाही को सुविधाजनक बनाने के लिए मानक परिचालन प्रोटोकॉल (एसओपी) जारी किया

गृह मंत्रालय ने ट्रेन से लोगों की आवाजाही को सुविधाजनक बनाने के लिए मानक परिचालन प्रोटोकॉल (एसओपी) जारी किया है। केवल कन्फर्म ई-टिकट पर ही यात्रियों की आवाजाही और रेलवे स्टेशन में उनके प्रवेश की अनुमति होगी। सभी यात्रियों की अनिवार्य चिकित्सा जांच (स्क्रीनिंग) होगी। केवल ऐसे व्यक्तियों को ही ट्रेन में चढ़ने की अनुमति होगी जिनमें इस रोग का कोई भी लक्षण नहीं होगा। यात्रा के दौरान और रेलवे स्टेशनों पर स्वास्थ्य/स्वच्छता संबंधी प्रोटोकॉल एवं सामाजिक दूरी बनाए रखने के दिशा-निर्देश का सख्ती से पालन करना होगा।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-

एनडीएमए (गृह मंत्रालय) ने लॉकडाउन अवधि के बाद विनिर्माण उद्योगों को दोबारा शुरू करने के बारे में दिशा-निर्देश जारी किए

गृह मंत्रालय ने आपदा प्रबंधन कानून, 2005 के अंतर्गत लॉकडाउन अवधि के बाद विनिर्माण उद्योगों को दोबारा शुरू करने के बारे में विस्तृत दिशा-निर्देश जारी किए हैं। राज्य सरकारें यह भी सुनिश्चित करेंगी कि संबंधित बड़ी दुर्घटनाओं की जोखिम (एमएएच) वाली इकाइयों की घटनास्थल से दूर आपदा प्रबंधन योजना आधुनिक हों और उनके कार्यान्वयन की पूरी तैयारी हों। यह भी सलाह दी गई है कि जिले के सभी जिम्मेदार अधिकारी यह सुनिश्चित करें कि औद्योगिक घटना-स्थल पर आपदा प्रबंधन योजनाएं अपने मूल स्थान पर हों और कोविड-19 लॉकडाउन के दौरान और उसके बाद उद्योगों को दोबारा सुरक्षित शुरू करने के लिए मानक परिचालन प्रक्रियाओं को सम्मिलित किया गया हो।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-

भारतीय वायु सेना ने विशाखापट्टनम गैस रिसाव से निपटने में राज्य सरकार की सहायता के लिए आवश्यक रसायनों को एयरलिफ्ट किया

आंध्र प्रदेश सरकार के उद्योग एवं वाणिज्य विभाग से प्राप्त आग्रह के आधार पर भारतीय वायु सेना ने आंध्र प्रदेश के विशाखापट्टनम में एलजी पॉलीमर्स में स्टाइरिन मोनोमर स्टोरेज टैंक में हुए गैस रिसाव को प्रभावी ढंग से नियंत्रित करने के लिए आवश्यक 8.3 टन रसायनों को एयरलिफ्ट किया। इसके अतिरिक्त, जारी कोविड-19 महामारी के दौरान भारत सरकार की उभरती आवश्यकताओं की पूर्ति करने के एक हिस्से के रूप में भारतीय वायु सेना इस संक्रामक रोग से प्रभावी तरीके से लड़ने के लिए राज्य सरकारों तथा सहायक एजेन्सियों को सुसज्जित करने के लिए आवश्यक अनिवार्य आपूर्तियों को एयरलिफ्ट करना जारी रखा है। 25 मार्च, 2020 से अर्थात जब से भारतीय वायु सेना ने भारत सरकार की सहायता करने के लिए अपनी गतिविधियों को शुरू किया, तब से कुल 703 टन एयरलिफ्ट किया जा चुका है।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-  

भारतीय नागरिकों को लेकर भारतीय नौसेना का युद्धपोत आईएनएस जलाश्वमालदीव से कोच्चि (भारत) पहुंचा

 “ऑपरेशन समुद्र सेतु” के तहत ‘आईएनएस जलाश्व’ मालदीव में फंसे महिलाएं, बुजुर्गों और बच्चों सहित कुल 698 भारतीय नागरिकों को लेकर 10 मई की सुबह करीब 10 बजे कोच्चि बंदरगाह पहुंचा।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-

ऑपरेशन समुद्र सेतु – ‘आईएनएस मगरभारतीय नागरिकों को लेकर माले, मालदीव से रवाना हुआ

भारतीय नागरिकों को माले, मालदीव से लाने के लिए भारतीय नौसेना का दूसरा जहाज, ‘आईएनएस मगर’ लोगों को लाने का कार्य पूरा करते हुए माले, मालदीव से रवाना हो गया है। वंदे भारत’ मिशन के तहत ऑपरेशन समुद्र सेतु के हिस्से के रूप में भारतीय नौसेना ने मालदीव से भारतीय नागरिकों के लाने के दूसरे चरण के लिए ‘आईएनएस मगर’ को तैनात किया है। पहले चरण में, ‘आईएनएस जलश्वा’ ने 10 मई, 2020 को मालदीव में फंसे कुल 698 भारतीयों नागरिकों को निकाला था।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-  

10 राज्यों और संघ शासित प्रदेशों की 177 नई मंडियां कृषि उपज के विपणन के लिए ई-एनएएम प्लेटफॉर्म से जुड़ी हैं

केन्द्रीय कृषि और किसान कल्याण मंत्री, श्री नरेन्द्र सिंह तोमर ने कृषि विपणन को मजबूत करने और किसानों को ऑनलाइन पोर्टल के माध्यम से अपनी फसल की उपज बेचने की सुविधा प्रदान करने के लिए राष्ट्रीय कृषि बाजार (ई-एनएएम) के साथ आज 177 नई मंडियों को जोड़ा। आज जोड़ी गई मंडियां इस प्रकार हैं: गुजरात (17), हरियाणा (26), जम्मू और कश्मीर (1), केरल (5), महाराष्ट्र (54), ओडिशा (15), पंजाब (17), राजस्थान (25), तमिलनाडु (13) और पश्चिम बंगाल (1)। 177 अतिरिक्त मंडियों के शुभारंभ के साथ, देश भर में ईएनएएम मंडियों की कुल संख्या 962 हो गई है।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-  

दलहन और तिलहन की खरीद लॉकडाउन के दौरान अब भी तेज गति से जारी है

9 राज्यों से 2.74 लाख मीट्रिक टन (एलएमटी) चने की खरीद की गई है। 5 राज्यों से 3.40 लाख मीट्रिक टन सरसों की खरीद की गई है। तेलंगाना से 1700 मीट्रिक टन सूरजमुखी की खरीद की गई है। 8 राज्यों से 1.71 लाख मीट्रिक टन तूर की खरीद की गई है। पिछले वर्ष की इसी अवधि के दौरान 25.29 लाख हेक्टेयर की तुलना में इस बार ग्रीष्मकालीन चावल के अंतर्गत लगभग 34.87 लाख हेक्टेयर क्षेत्र कवर किया गया। पिछले वर्ष की इसी अवधि के दौरान 5.92 लाख हेक्टेयर की तुलना में दलहन के अंतर्गत इस बार लगभग 10.35 लाख हेक्टेयर क्षेत्र कवर किया गया। पिछले वर्ष की इसी अवधि के दौरान 6.20 लाख हेक्टेयर की तुलना में मोटे अनाज के अंतर्गत इस बार लगभग 9.57 लाख हेक्टेयर क्षेत्र कवर किया गया। पिछले वर्ष की इसी अवधि के दौरान 7.09 लाख हेक्टेयर की तुलना में तिलहन के अंतर्गत इस बार लगभग 9.17 लाख हेक्टेयर क्षेत्र कवर किया गया। रबी विपणन सीजन (आरएमएस) 2020-21 में कुल 241.36 लाख मीट्रिक टन गेहूं एफसीआई  को प्राप्त हुआ है, जिनमें 233.51 लाख मीट्रिक टन की खरीद की गई है।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-

प्रधानमंत्री ने राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी दिवस पर वैज्ञानिकों की सराहना की

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने आज देश के उन सभी वैज्ञानिकों की सराहना की जो विज्ञान और प्रौद्योगिकी का उपयोग दूसरों के जीवन में सकारात्मक अंतर लाने के लिए कर रहे हैं। श्री मोदी ने राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी दिवस के अवसर पर ट्वीट किया। उन्होंने कहा, “आज प्रौद्योगिकी दुनिया को कोविड-19 से मुक्त कराने के प्रयासों में अनेक लोगों की मदद कर रही है। मैं उन सभी को सलाम करता हूं जो कोरोना वायरस को पराजित करने के तरीकों पर अनुसंधान और नवीन अविष्काकर करने में सबसे आगे हैं ताकि हम एक स्वस्थ्य और बेहतर ग्रह बना सकें।”

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-

रक्षा मंत्री ने डीआरडीओ के राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी दिवस के अवसर पर भारत को प्रौद्योगिकी का निर्यातक बनाने का आह्वान किया

राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी दिवस (एनटीडी) के अवसर पर रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन (डीआरडीओ) के वैज्ञानिकों को संबोधित करते हुए श्री राजनाथ सिंह ने भारत को एक तकनीकी रूप से शक्तिशाली देश बनाने में योगदान देने के लिए विशेषज्ञों से आह्वान किया। श्री राजनाथ सिंह ने कहा कि रक्षा संगठन अत्याधुनिक प्रौद्योगिकी का उपयोग करते हुए कोविड-19 की चुनौतियों का सामना कर रहे हैं। भारत के रक्षा बलों और अनुसंधान और विकास के प्रयासों ने इस अदृश्य दुश्मन द्वारा पैदा की गयी चुनौतियों का समाधान खोजने में महत्वपूर्ण योगदान दिया है।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-

भारत विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी के माध्यम से अर्थव्यवस्था को दोबारा से शुरू करने के लिए पूरी तरह तैयार: डॉ. हर्षवर्धन

केंद्रीय विज्ञान और प्रौद्योगिकी, पृथ्वी विज्ञान और स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने आज कहा कि भारत की कोविड-19 के खिलाफ लड़ाई पूरी दृढ़ता के साथ निरंतर आगे बढ़ रही है। हर्षवर्धन राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी दिवस के उपलक्ष में आयोजित एक डिजिटल कॉन्फ्रेंस री-स्टार्ट-‘रिबूट द इकोनॉमी थ्रू साइंस, टेक्नोलॉजी एंड रिसर्च ट्रांसलेशन्स’ को संबोधित कर रहे थे।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-

यूजीसी ने कोविड-19 के मद्देनजर विद्यार्थियों, शिक्षकों और संस्थानों के संबंधित प्रश्नों, शिकायतों एवं अन्य शैक्षणिक मुद्दों पर गौर करने के लिए उठाए हैं अनेक कदम

विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी) ने कोविड-19 महामारी के मद्देनजर 29 अप्रैल, 2020 को परीक्षाओं और अकादमिक कैलेंडर पर दिशा-निर्देश जारी किए हैं। तदनुसार, सभी विश्वविद्यालयों को इन दिशा-निर्देशों को अपनाते एवं लागू करते समय सभी हितधारकों की सुरक्षा एवं रुचि को ध्यान में रखते हुए और सभी संबंधित व्यक्ति‍यों के स्वास्थ्य को सर्वोच्च प्राथमिकता देते हुए अपनी अकादमिक गतिविधियों या कार्यकलापों की समुचित योजना बनाने की सलाह दी गई है। विश्वविद्यालयों से यह भी अनुरोध किया गया है कि वे इस महामारी के मद्देनजर विद्यार्थियों की परीक्षाओं और अन्य शैक्षणिक गतिविधियों या कार्यकलापों से संबंधित शिकायतों से निपटने के लिए एक विशेष प्रकोष्ठ् बनाएं और छात्रों को इसकी सूचना दें।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-

केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री ने ओडिशा विश्वविद्यालय के छात्रों के लिए संज्ञानात्मक भावनात्मक पुनर्वास सेवाओं पर आधारित ओडिशा केंद्रीय विश्वविद्यालय हेल्पलाइन "भरोसा" की शुरुआत की

केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री, श्री रमेश पोखरियाल ‘निशंक’ ने आज नई दिल्ली में एक आभासी मंच के माध्यम से ओडिशा केंद्रीय विश्वविद्यालय (सीयूओ) हेल्पलाइन “भरोसा” और इसका हेल्पलाइन नंबर 08046801010 का शुभारंभ किया, जिसका उद्देश्य कोविड-19 महामारी के कठिन समय के दौरान छात्र समुदाय की परेशानियों को दूर करना है। श्री रमेश पोखरियाल ‘निशंक’ ने कहा कि कोविड-19 महामारी के घातक संक्रमण के कारण देश कठिन दौर से गुजर रहा है।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-

डीबीटीबीआईआरएसी कोविड-19 रिसर्च कंसोर्टियम ने टीके, रोग-निदान, रोग-चिकित्सा और अन्य तकनीकों के 70 प्रस्तावों के लिए वित्त पोषण की सिफारिश की

सार्स सीओवी- 2 के खिलाफ सुरक्षित और प्रभावी जैव–चिकित्सा समाधान शीघ्र विकसित करने के लिए, जैव प्रौद्योगिकी विभाग और जैव प्रौद्योगिकी उद्योग अनुसंधान सहायता परिषद (बीआईआरएसी) ने कोविड-19 रिसर्च कंसोर्टियम के लिए आवेदन आमंत्रित किए थे। बहुस्तरीय समीक्षा व्यवस्था के माध्यम से उपकरण, निदान, टीके विकसित करने, रोग – चिकित्सा तथा अन्य हस्तक्षेप से सम्बन्धित 70 प्रस्तावों को वित्तीय सहायता प्रदान करने की सिफारिश की गई है। चुने गए प्रस्तावों में  टीके के 10, रोग– निदान उत्पाद के 34, चिकित्सीय विकल्प के 10, दवाओं के नए उपयोग के 02 प्रस्ताव और निवारक हस्तक्षेप के रूप में वर्गीकृत 14 परियोजनाएं शामिल हैं।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-

कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए अनोखे तरीकों का उपयोग कर रहे हैं कुम्हार

राजस्थान के कुम्हार परिवारों की ओर से कोरोनो को हराने के लिए की गई पहल देश का ध्यान आकर्षित कर रही है। राजस्थान के बारां जिले के किशनगंज गांव में इन कुम्हारों द्वारा बनाए गए सभी मिट्टी के बर्तन, विशेष रूप से मटकों पर कोरोना महामारी से बचाव के संदेश लिखे जा रहे हैं।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-

पर्यटन मंत्रालय ने 'निला नदी की खोज' पर 'देखो अपना देश' वेबिनार श्रृंखला के 17वें सत्र का आयोजन किया

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-

देहरादून स्मार्ट सिटी ने कोविड-19 का मुकाबला करने के लिए एकीकृत आदेश और नियंत्रण केंद्र, सीसीटीवी और लॉकडाउन पास सहित कई उपाय किए

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-

पीआईबी के क्षेत्रीय कार्यालयों से मिली जानकारियां

हिमाचल प्रदेश : राज्य में वापस आने के इच्छुक देश के विभिन्न हिस्सों में फंसे हिमाचल प्रदेश के सभी लोगों का गहन स्वास्थ्य परीक्षण किया जाएगा और मूल निवास स्थान पर भेजने से पहले उन्हें संस्थागत रूप से क्वारंटाइन में रहना होगा। मुख्यमंत्री ने नोडल अधिकारियों से यह सुनिश्चित करने के लिए कहा कि वे संबंधित राज्यों के साथ संपर्क बनाकर रखें, जिससे फंसे हिमाचलियों को वापस लाने के मामलों को संबंधित राज्य सरकारों के सामने जल्द से जल्द रखा जा सके। उन्होंने कहा कि ऐसे विद्यार्थियों को वापस लाने में प्राथमिकता दी जाएगी, जो सबसे ज्यादा कमजोर तबके से आते हैं।

पंजाब : वित्त विभाग ने उन कर्मचारियों के आश्रित सदस्यों/ कानूनी उत्तराधिकारियों को 50 लाख रुपये के मुआवजे के भुगतान के लिए विस्तृत दिशा-निर्देश अधिसूचित कर दिए हैं, जिनकी कोरोना वायरस महामारी के खिलाफ लड़ाई में अपना सरकारी दायित्व निभाते हुए मृत्यु हो गई। यह मुआवजा सिर्फ कोविड-19 महामारी के लिए ही स्वीकार्य है और यह 1 अप्रैल, 2020 से 31 जुलाई, 2020 तक ही लागू रहेगा। इसके बाद इसकी समीक्षा होगी।

हरियाणा : सब्जी विक्रेताओं, स्वास्थ्य कर्मचारियों, पुलिस कर्मचारियों, मीडिया कर्मचारियों, फार्मेसिस्ट, डिपो होल्डर, स्वच्छता कर्मचारियों आदि के औचक कोविड नमूने लिए जाने को हरियाणा में एक विशेष अभियान का शुभारम्भ किया गया है। हरियाणा में इस समय समर्पित कोविड केयर केन्द्रों में क्वारंटाइन के लिए 26,125 बिस्तर उपलब्ध हैं और समर्पित कोविड अस्पतालों तथा समर्पित कोविड स्वास्थ्य केन्द्रों में 8,751 आइसोलेशन बिस्तर उपलब्ध हैं।

केरल : रेलवे द्वारा मंगलवार से केरल और नई दिल्ली के बीच एक सप्ताह में छह राजधानी ट्रेनों का परिचालन शुरू किया जाएगा। ये ट्रेन सिर्फ कोझिकोड और एर्नाकुलम रेलवे स्टेशनों पर ही रुकेंगी तथा इनका परिचालन कोंकण रूट के माध्यम से होगा। केरल और तमिलनाडु के डीजीपी ने फैसला किया है कि आवश्यक पास के बिना केरल की ओर आ रहे लोगों को तमिलनाडु पुलिस द्वारा सीमा पर रोका जाएगा। वंदे भारत मिशन के तहत दो उड़ानें आज रात राज्य में पहुंच जाएंगी, जिनमें से एक दुबई से कोच्चि और एक अन्य बहरीन से कोझिकोड को आएगी। केरल राज्य पेय निगम शराब की दुकानों पर भीड़-भाड़ को नियंत्रित करने के लिए ऑनलाइन कतार की सुविधा के लिए तैयार हो रहा है।

तमिलनाडु : मुख्यमंत्री ने कहा कि सभी प्रवासी कामगारों को एक सप्ताह के भीतर अपने घर भेजा जाना है; अभी तक विशेष ट्रेनों से 9000 लोग भेज दिए गए हैं। 47 दिन के बाद राज्य में अधिकांश खुदरा कारोबार खुल गए हैं, सड़क यातायात बढ़ गया है। चेन्नई में दो सरकारी अस्पतालों को विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) द्वारा कोविड-19 के प्रभावी उपचार की खोज में सहायता के लिए शुरू किए गए एक अंतरराष्ट्रीय चिकित्सकीय परीक्षण ‘सॉलिडैरिटी ट्रायल’ (एकजुटता) पहल के लिए चुना गया है। कोविड के प्रसार के कारण कोयम्बेडु बाजार बंद होने के बाद थिरुमाज्हिसी में नया थोक सब्जी और फल बाजार खोल दिया गया है। अभी तक कुल मामले : 7204, सक्रिय मामले : 5195, मृत्यु : 47, डिस्चार्ज : 1959. चेन्नई में वर्तमान में 3839 सक्रिय मामले हैं।

कर्नाटक : आज 10 नए मामले दर्ज किए गए हैं, जिनमें दावनगेरे में 3, बीदर और बागलकोट में 2-2, कलबुर्गी, हावेरी तथा विजयपारा में 1-1 मामला शामिल है। अभी तक कुल मामले : 858, मृत्यु : 31, स्वस्थ हुए : 422. लंदन में फंसे कर्नाटक के लगभग 200 लोग वंदे भारत मिशन के तहत एयर इंडिया के उड़ान के माध्यम से आज सुबह बेंगलुरु पहुंच गए। विमान केम्पेगौड़ा अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे में उतरा और सभी यात्रियों को क्वारंटाइन में भेज दिया गया है। राज्य सरकार ने कोविड संकट के बीच निवेश आकर्षित करने के लिए एक विशेष कार्यबल का गठन किया है।

आंध्र प्रदेश : उच्च न्यायालय ने कोविड-19 के मद्देनजर राज्य में शराब की बिक्री के विरोध में दायर एक याचिका की वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से सुनवाई की; अदालत ने सुनवाई को शुक्रवार के लिए टाल दिया है। इसके अलावा, केन्द्रीय दल का कुर्नूल जिले का दौरा दूसरे दिन भी जारी रहा, जहां पॉजिटिव मामलों की संख्या खासी ज्यादा है। पिछले 24 घंटों में 7,409 परीक्षण के बाद कोविड-19 के 38 नए मामले सामने आए; 73 लोगों को डिस्चार्ज कर दिया गया और मौत का कोई मामला सामने नहीं आया। कुल मामले बढ़कर 2018 के स्तर पर पहुंच गए। सक्रिय मामले : 975, स्वस्थ हुए : 998, मृत्यु : 45। चित्तूर में सामने आए 9 में से 8 मामले चेन्नई के कोयम्बेडु से जुड़े हैं। पॉजिटिव मामलों में अग्रणी जिले : कुर्नूल (575), गुंटूर (387) और कृष्णा (342)।

तेलंगाना : अमेरिका में फंसे लगभग 118 लोगों को लेकर आज वंदे भारत मिशन के तहत एक उड़ान राजीव गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर पहुंच गई। भारतीयों के एक समूह के एयर इंडिया की उड़ान के द्वारा अबूधाबी (यूएई) से यहां सोमवार रात लगभग 9.30 बजे पहुंचने का अनुमान है। राज्य सरकार ने दूसरे राज्यों से वापस आ रहे प्रवासी कामगारों का कोविड-19 परीक्षण बढ़ा दिया है। दुकानों और व्यावसायिक प्रतिष्ठानों को उनके नियमित घंटों से इतर खोले जाने के प्रस्ताव पर सक्रियता से विचार-विमर्श किया जा रहा है। कल तक कुल पॉजिटिव मामले : 1196, सक्रिय मामले : 415, डिस्चार्ज : 751, मृत्यु : 30.

अरुणाचल प्रदेश : मुख्यमंत्री ने आईएमएइंडियाओआरजी के अरुणाचल चैप्टर के साथ राज्य की कोविड-19 परीक्षण क्षमता बढ़ाने के तरीकों पर चर्चा की।

असम : स्वास्थ्य मंत्री ने आज क्वारंटाइन सुविधाओं की समीक्षा के लिए काजीरंगा विश्वविद्यालय, जोरहाट का भ्रमण किया। इस सुविधाओं की स्थापना सरुसजई स्टेडियम, गुवाहाटी की तर्ज पर की जा रही है।

मणिपुर : गृह विभाग ने ट्रेनों से राज्य को लौट रहे लोगों के लिए एसओपी जारी किए। सिर्फ स्वस्थ लोगों को ही यात्रा की अनुमति दी जाएगी। मणिपुर में जीरीबाम स्टेशन को पहुंच रहे यात्रियों को पर्याप्त जांच के बाद सरकारी बसों से क्वारंटाइन केन्द्रों को भेजा जाएगा।

मिजोरम : मुख्यमंत्री जोरमथंगा ने आज राज्य को कोविड-19 से मुक्त होने का दर्जा मिलने का श्रेय अपने लोगों के अनुशासन को दिया है।

नागालैंड : नागालैंड में डीआरडीए मोन जिले में और उसके आसपास उद्यानिकी विभाग के साथ भागीदारी में व्यापक कृषि गतिविधियां का संचालन करेगा। राज्य में लौटने वाले लोगों के आश्रय के लिए मेरेइमा ग्राम में 545 बिस्तरों और के बाद्जेकोहिमा में 254 बिस्तरों के क्वारंटाइन केन्द्र तैयार हो गए हैं।

सिक्किम : सरकार ने प्रशासनिक और पुलिस अधिकारियों को सार्वजनिक या कार्य स्थलों पर बिना फेस मास्क पहने लोगों पर 300 रुपये का जुर्माना लगाने का अधिकार देने के लिए सिक्किम सार्वजनिक स्वास्थ्य एवं सुरक्षा (कोविड-19) नियमन, 2020 के तत्काल कार्यान्वयन को अधिसूचित कर दिया है; इसमें सार्वजनि स्थलों में थूकने और सामाजिक दूरी के नियमों के अनुपालन के लिए सख्ती करने का सुझाव दिया गया है।

त्रिपुरा : सरकार ने महाराष्ट्र में फंसे लोगों को वापस लाने के लिए मुंबई से अगरतला तक श्रमिक स्पेशल ट्रेन चलाने का फैसला किया है; जिसके लिए संभावित यात्री covid19.tripura.gov.in पर पंजीकरण करा सकते हैं।

महाराष्ट्र : महाराष्ट्र में रविवार को कोविड-19 के 1,278 नए मामले दर्ज किए गए, जिससे कुल संक्रमित मामले बढ़कर 22,171 तक पहुंच गए। राज्य में पिछले 24 घंटों के दौरान वायरस से संबंधित 53 लोगों की मृत्यु दर्ज की गई और मौत का कुल आंकड़ा 832 तक पहुंच गया। राज्य की राजधानी मुंबई में कल कोविड-19 के 875 अतिरिक्त मामले दर्ज किए गए, जिससे शहर में कुल पॉजिटिव लोगों का आंकड़ा बढ़कर 13,564 तक पहुंच गया और 19 लोगों की मृत्यु से मौत का कुल आंकड़ा 508 तक पहुंच गया। महाराष्ट्र के उद्योग मंत्री श्री सुभाष देसाई ने कहा कि ग्रीन और ऑरेंज जोन  में स्थित लगभग 25,000 कंपनियों में काम शुरू हो गया है, जिनमें लगभग 6 लाख लोग काम करते हैं। उच्च औद्योगिक पट्टी मुंबई-ठाणे-पिंपरी-छिंछवाड-पुणे अभी रेड जोन में है और इसलिए इसमें परिचालन शुरू नहीं किया गया है।

गुजरात : गुजरात में कोविड-19 के 398 नए मामले सामने आए हैं, जिससे राज्य में संक्रमित लोगों की संख्या बढ़कर 8,195 तक पहुंच गई है। कुल 493 लोगों की मृत्यु हो गई; कल ही 21 लोगों की मृत्यु दर्ज की गई, जिसमें 18 लोगों की मृत्यु सिर्फ अहमदाबाद में हुई। उपचार के बाद स्वस्थ हुए 454 लोगों को राज्य के विभिन्न अस्पतालों से डिस्चार्ज कर दिया गया है, जिससे गुजरात में कुल स्वस्थ लोगों की संख्या बढ़कर 2,545 के स्तर पर पहुंच गई।

राजस्थान : राजस्थान में अभी तक कुल 3,940 पॉजिटिव मामले सामने आ चुके हैं, जिसमें से 2264 लोग उपचार के बाद स्वस्थ हो गए और 110 लोगों की मृत्यु हो चुकी है। आज दोपहर 1 बजे तक 126 नए पॉजिटिव केस सामने आए, जिनमें से 46 मामले उदयपुर में दर्ज किए गए। वहीं उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट ने कहा कि 22 लाख से ज्यादा कामगारों को मनरेगा से जोड़ दिया गया है।

मध्य प्रदेश : मध्य प्रदेश में कोविड-19 के 172 नए पॉजिटिव मामले दर्ज किए गए हैं, जिससे राज्य में संक्रमित लोगों की संख्या बढ़कर 3650 के स्तर पर पहुंच गई। शहरों की बात करें तो इंदौर में 77 नए मामले सामने आए। भोपाल में 30 नए मामले दर्ज किए गए जिसमें पूर्व विधायक जितेंद्र डागा और चार जूनियर चिकित्सक शामिल हैं।

गोवा : उत्तरी गोवा जिला प्रशासन देश के बाहर फंसे और गोवा लौट रहे लोगों के लिए संस्थागत क्वारंटाइन अनिवार्य करने के निर्देश दिए हैं, भले ही उनका कोविड-19 परीक्षण निगेटिव आया हो। नाविकों के मामले में परीक्षण की लागत का बोझ उनकी कंपनी वहन करेगी, वहीं अन्य लोगों को क्वारंटाइन की लागत की भरपाई खुद ही करनी होगी। गोवा के लभग 100 लोगों ने भारत लौटने के लिए यूएई में पंजीकरण कराया है

 

पीआईबी द्वारा जांचे गए तथ्य

***

एएम/एमपी/एसके



(Release ID: 1623189) Visitor Counter : 129