PIB Headquarters

कोविड-19 पर पीआईबी का दैनिक बुलेटिन

Posted On: 18 JUN 2020 6:20PM by PIB Delhi

                                                                  Description: Coat of arms of India PNG images free download

 

 

(पिछले 24 घंटे में जारी कोविड-19 से संबंधित प्रेस विज्ञप्तियां, पीआईबी के क्षेत्रीय कार्यालयों से मिली जानकारियां और पीआईबी द्वारा जांचे गए तथ्य शामिल हैं)

पिछले 24 घंटों के दौरान कोविड-19 के 7,390 मरीज स्वस्थ हो गए, जिससे ठीक होने वालों की संख्या बढ़कर 1,94,324 हो गई और सुधार की दर बढ़कर 52.96 प्रतिशत के स्तर पर पहुंच गई है।

वर्तमान में 1,60,384 सक्रिय मामले चिकित्सीय देख-रेख में हैं।

डॉ. हर्षवर्धन ने देश के दूरस्थ, आंतरिक और दुर्गम भागों में कोविड-19 के परीक्षण के लिए भारत की पहली मोबाइल आई-लैब का शुभारम्भ किया।

प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत कोविड-19 महामारी से उबर जाएगा और देश इस संकट को एक अवसर में बदल देगा।

सीएसआईआर-सीडीआईआर की संभावित दवा उमीफेनोविरको कोविड-19 के खिलाफ चरण-3 के चिकित्सकीय परीक्षण के लिए महानियंत्रक से स्वीकृति मिल गई है।

प्रधानमंत्री ने घर लौटने वाले प्रवासी कामगारों और ग्रामीण नागरिकों को सशक्त बनाने तथा आजीविका के अवसर उपलब्ध कराने के लिए एक समग्र ग्रामीण सार्वजनिक कार्य योजना गरीब कल्याण रोजगार अभियानका शुभारम्भ किया।

Description: C:\Users\VARUN\Desktop\image004CVKS.jpg

 

Description: C:\Users\VARUN\Desktop\Corona watch 18 June.jpg

स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय से कोविड-19 पर प्राप्त अपडेटः रोगियों के ठीक होने (रिकवरी) की दर बढ़कर 52.96 प्रतिशत हुई; डॉ. हर्षवर्धन ने भारत की पहली मोबाइल आई-लैब (संक्रामक रोग नैदानिक प्रयोगशाला) का शुभारंभ किया

पिछले 24 घंटों के दौरान, कोविड-19 के 7,390 मरीज ठीक हुए। अब तक कुल 1,94,324 रोगी कोविड-19 से ठीक हो चुके हैं। रोगियों के ठीक होने (रिकवरी) की दर बढ़कर 52.96 प्रतिशत हो गई है। वर्तमान में, 1,60,384 सक्रिय मामले चिकित्सीय देख-रेख में हैं। सरकारी प्रयोगशालाओं की संख्या बढ़कर 699 एवं निजी प्रयोगशालाओं की संख्या बढ़कर 254 (कुल 953) हो गई है। पिछले 24 घंटों के दौरान 1,65,412 नमूनों की जांच की गई। इस प्रकार अभी तक कुल 62,49,668 नमूनों की जांच की जा चुकी है।

केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने कोविड-19 की परीक्षण की सुविधा प्रत्येक व्यक्ति तक पहुंचाने के लिए भारत की पहली मोबाइल आई-लैब (संक्रामक रोग नैदानिक प्रयोगशाला) का शुभारंभ किया। इसे देश के सुदूर, आंतरिक एवं दुर्गम हिस्सों में तैनात किया जाएगा और इसकी क्षमता सीजीएचएस दरों पर प्रति दिन 25 कोविड-19 आरटी-पीसीआर परीक्षण, 300 ईएलआईएसए जांच/प्रति दिन, टीबी, एचआईवी आदि के लिए अतिरिक्त जांचों की है।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें

प्रधानमंत्री ने वाणिज्यिक खनन के लिए कोयला ब्लॉकों की नीलामी प्रक्रिया का शुभारंभ किया

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने आज नई दिल्ली से वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से वाणिज्यिक खनन के लिए 41 कोयला ब्लॉकों की नीलामी प्रक्रिया का शुभारंभ किया। यह दरअसल आत्मिनिर्भर भारत अभियानके तहत भारत सरकार द्वारा की गई अनेक घोषणाओं की श्रृंखला का एक हिस्सा है। कोयला खदानों के आवंटन के लिए दो चरणों वाली इलेक्ट्रॉनिक नीलामी प्रक्रिया अपनाई जा रही है। इस अवसर पर श्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि भारत कोविड-19महामारी पर अवश्य ही विजय पाएगा और हमारा राष्ट्र इस संकट को एक अवसर में तब्दील करेगा। उन्होंने कहा कि इस संकट से भारत ने आत्मनिर्भरबनने का सबक सीखा है। उन्होंने कहा कि आत्मनिर्भर भारत का अर्थ आयात पर निर्भरता कम करना और इसके साथ ही आयात पर खर्च होने वाली विदेशी मुद्रा की बचत करना है। इसके तहत यह आवश्यक है कि भारत संसाधनों को घरेलू स्तर पर ही विकसित करे, ताकि देश को आयात पर निर्भर न रहना पड़े।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें

वाणिज्यिक खनन के लिए कोयला खानों की नीलामी के शुभारंभ के अवसर पर प्रधानमंत्री के सम्बोधन का मूल पाठ

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें

 

देश के गांवों में आजीविका के अवसरों को बढ़ाने के लिए प्रधानमंत्री मोदी 20 जून को गरीब कल्याण रोजगार अभियान की शुरुआत करेंगे

वापस लौटे प्रवासी श्रमिकों और गांव के लोगों को सशक्त बनाने और आजीविका के अवसर प्रदान करने के लिए भारत सरकार ने एक व्यापक ग्रामीण सार्वजनिक कार्य योजना 'गरीब कल्याण रोजगार अभियान' शुरू करने का निर्णय लिया है। पीएम मोदी 20 जून, 2020 को सुबह 11 बजे बिहार के मुख्यमंत्री और उपमुख्यमंत्री की मौजूदगी में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम में इस अभियान की शुरुआत करेंगे। यह अभियान बिहार के खगड़िया जिले के ग्राम-तेलिहार, ब्लॉक- बेलदौर से लॉन्च किया जाएगा। पांच अन्य राज्यों के मुख्यमंत्री और संबंधित मंत्रालयों के केंद्रीय मंत्री भी इस वर्चुअल लॉन्च में भाग लेंगे। 125 दिनों का यह अभियान मिशन मोड में चलाया जाएगा। 50 हजार करोड़ रुपये के फंड से एक तरफ प्रवासी श्रमिकों को रोजगार देने के लिए विभिन्न प्रकार के 25 कार्यों का तीव्र और केंद्रित होकर क्रियान्वयन होगा, तो दूसरी तरफ देश के ग्रामीण क्षेत्रों में बुनियादी ढांचे का निर्माण किया जाएगा। 116 जिलों के 25 हजार से ज्यादा प्रवासी श्रमिकों के साथ इस अभियान में बिहार, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, राजस्थान, झारखंड और ओडिशा इन 6 राज्यों को चुना गया है, जिसमें 27 आकांक्षी जिले भी शामिल हैं।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी द्वारा 20 जून 2020 को शुरू किए जाने वाले गरीब कल्याण रोजगार अभियान पर पूर्वावलोकन के लिए पत्रकार सम्मेलन का आयोजन

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी द्वारा शुरू किए जाने वाले गरीब कल्याण रोजगार अभियान पर आज एक पूर्वावलोकन के लिए पत्रकार सम्मेलन का आयोजन किया गया। प्रेस कांफ्रेंस को संबोधित करते हुए वित्त मंत्री, श्रीमती निर्मला सीतारमण ने कहा कि कोविड लॉकडाउन के बाद बड़ी संख्या में पूरे देश के श्रमिक, पुरुष और महिला दोनों, अपने गांवों में लौट चुके हैं। भारत सरकार द्वारा राज्य सरकारों के साथ मिलकर उन जिलों का मापन किया गया है जहां पर ये प्रवासी श्रमिक बहुत हद तक लौट कर आ चुके हैं और यह देखा गया है कि बिहार, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, राजस्थान, झारखंड और ओडिशा जैसे 6 राज्यों में विस्तृत लगभग 116 जिलों में घर लौटने वालों की संख्या पर्याप्त मात्रा में है। श्रीमती निर्मला सीतारमण ने कहा कि भारत सरकार द्वारा संबंधित राज्य सरकारों के साथ मिलकर इन प्रवासी श्रमिकों की कौशल मैपिंग की गई है और उनमें से अधिकांश को किसी न किसी प्रकार के कार्य में कुशल पाया गया। इसके आधार पर और 4 महीनों के दौरान उनकी कठिनाइयों को कम करने के लिए, भारत सरकार ने वापस लौटने वाले प्रवासी श्रमिकों और ग्रामीण नागरिकों को आजीविका का अवसर प्रदान करने के लिए बड़े पैमाने पर एक ग्रामीण सार्वजनिक कार्य योजना 'गरीब कल्याण रोजगार अभियान' शुरू करने का फैसला किया है।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें

केंद्रीय गृह मंत्री श्री अमित शाह द्वारा दिल्ली में कोविड के हालात की समीक्षा के लिए आयोजित बैठकों में लिए गए निर्णयों का पालन करते हुए स्थिति पर नियंत्रण के लिए कई कदम उठाए गए

केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह द्वारा दिल्ली में कोविड-19 की स्थिति से निपटने के लिए 14-15 जून को आयोजित बैठकों के दौरान लिए गए निर्णयों का पालन करते हुए दिल्ली में कोविड जांच को तत्काल दोगुना कर दिया गया। 15 और 16 जून को कोविड जांच के लिए कुल 16,618 नमूने लिए गए। इससे पहले 14 जून तक प्रतिदिन 4000-4500 नमूने लिए जा रहे थे। दिल्ली के 242 नियंत्रित क्षेत्र में रहने वाले लोगों का घर-घर जाकर स्वास्थ्य सर्वेक्षण किया गया। गृह मंत्री के निर्देश पर कोरोना जांच के लिए टेस्टिंग लैब द्वारा ली जा रही दरों के लिए डॉ. वी के पॉल के नेतृत्व में गठित उच्च स्तरीय विशेषज्ञ समिति की रिपोर्ट केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय को मिल गयी है और इसे आगे की आवश्यक कार्रवाई के लिए दिल्ली सरकार को भेज दिया गया है। समिति ने कोविड की जांच के लिए 2400 रुपये की दर निर्धारित की है। दिल्ली में इसके लिए नमूने एकत्र करने तथा उनकी जांच के लिए 169 केन्द्र बनाये गये हैं।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें

सीएसआईआर-सीडीआरआई की प्रत्याशी दवा उमीफेनोविर को कोविड-19 के इलाज़ के लिए फेज-III क्लीनिकल ट्रायल (नैदानिक परीक्षण) हेतु औषधि महानियंत्रक, भारत सरकार (डीसीजीआई) से मिली अनुमति

सीएसआईआर की घटक प्रयोगशाला सीएसआईआर-सेंट्रल ड्रग रिसर्च इंस्टीट्यूट (सीडीआरआई) लखनऊ को एंटीवायरल ड्रग उमीफेनोविर को उसकी प्रभावकारिता, सुरक्षा और सहनशीलता के परीक्षण हेतु तीसरे चरण के रेंडम, डबल ब्लाइंड, प्लेसबो नियंत्रित क्लीनिकल परीक्षण करने की अनुमति औषधि महानियंत्रक, भारत सरकार (डीसीजीआई) से मिली। सीडीआरआई यह फेज III क्लीनिकल परीक्षण लखनऊ के किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी (केजीएमयू), डॉ. राम मनोहर लोहिया इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज (आरएमएलआईएमएस) और एराज लखनऊ मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल, लखनऊ में किया जाएगा। इस दवा की एक अच्छी एवं सुरक्षित प्रोफ़ाइल है और यह मानव कोशिकाओं में वायरस के प्रवेश को रोकने और प्रतिरक्षा प्रणाली को सक्रिय करने के माध्यम से कार्य करती है। चीन और रूस में उमीफेनोविर का उपयोग मुख्य रूप से इन्फ्लूएंजा के इलाज के लिए किया जाता है एवं अन्य किसी देश में यह उपलब्ध नहीं है। हाल ही में कोविड-19 के रोगियों के लिए इसके संभावित उपयोग को चिन्हित किया गया है।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें

ईस्टर्न रेलवे के आसनसोल डिवीजन ने बैग को सैनिटाइज करने वाली स्वचालित मशीन विकसित की

कोविड-19 के प्रसार को रोकने के लिए ईस्टर्न रेलवे (ईआर) के प्रयासों के एक अंग के रूप में, ईआर के आसनसोल डिवीजन में एक स्वचालित बैग सैनिटाइजर मशीन विकसित की गई है। इस स्वचालित बैग सैनिटाइजर मशीन में स्प्रे कंटेनर के साथ एक एयर ब्लोअर पम्प और फॉग टाइप सैनिटाइजिंग के लिए नोजल है।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-

केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री, श्री नितिन गडकरी ने कहा कि भारत पांच वर्षों में इलेक्ट्रिक वाहनों का विनिर्माण केंद्र (हब) बन जाएगा

केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग और एमएसएमई मंत्री श्री नितिन गडकरी ने भरोसा व्यक्त किया कि अगले पांच वर्षों में भारत इलेक्ट्रिक वाहनों का विनिर्माण केंद्र (हब) बन जाएगा। उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा इस क्षेत्र को हरसंभव रियायतें प्रदान करने की कोशिश की जा रही है और विद्युत वाहनों पर जीएसटी को घटाकर 12 प्रतिशत कर दिया गया है। इंडियाज इलेक्ट्रिक व्हीकल रोड मैप पोस्ट-कोविड-19पर आज आयोजित किए गए एक वेबिनार को संबोधित करते हुए मंत्री ने कहा कि जिन मुद्दों का सामना इलेक्ट्रिक वाहन क्षेत्र कर रहा है, उससे वे परिचित हैंलेकिन वे आश्वस्त भी हैं कि बिक्री में बढ़ोतरी होने के साथ ही स्थिति में बदलाव होगा। उन्होंने कहा कि चीन के साथ कारोबार करने में दुनिया ज्यादा दिलचस्पी नहीं दिखा रही है, जो कि भारतीय उद्योग जगत के लिए कारोबार में बदलाव के अवसर की प्राप्ति का बहुत ही सुनहरा मौका है।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें

एनआरडीसी ने भारतीय नौसेना द्वारा विकसित नवरक्षक पीपीई सूट के विनिर्माण की तकनीकी जानकारी का लाइसेंस पांच सूक्ष्म व लघु उद्यमों को हस्तांतरित किया

वैज्ञानिक और औद्योगिक अनुसंधान विभाग (डीएसआईआर), विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्रालय के उद्यम नेशनल रिसर्च डेवलपमेंट कॉरपोरेशन (एनआरडीसी) ने नौसेना द्वारा विकसित नवरक्षक नामक पीपीई सूट के विनिर्माण की तकनीकी जानकारी का लाइसेंस पांच एमएसएमई को प्रदान किया। ये लाइसेंस देश में गुणवत्तापूर्ण पीपीई किटों की व्यापक मांग की पूर्ति के लिए दिया गया है। इन विनिर्माताओं की प्रतिवर्ष 1 करोड़ से ज्यादा पीपीई सूट विनिर्माण की योजना है। नवरक्षक पीपीई की विनिर्माण की तकनीकी जानकारी भारतीय नौसेना के मुंबई स्थित आईएनएचएस अश्विनी अस्पताल से संबद्ध इंस्टीट्यूट ऑफ नेवल मेडिसिन के नवाचार प्रकोष्ठ में विकसित की गई। इस पीपीई का परीक्षण और प्रमाणन नाभिकीय औषधि तथा सम्बद्ध विज्ञान (इनमास), रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन (डीआरडीओ) ने किया है। यह प्रयोगशाला उन नौ एनएबीएल प्रमाणित प्रयोगशालाओं में से एक है जिसे भारत में मौजूदा समय में कपड़ा मंत्रालय द्वारा आईएसओ के वर्तमान मानकों और स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण तथा कपड़ा मंत्रालय के दिशा-निर्देशों के अनुसार पीपीई प्रोटोटाइप सैम्पल टेस्टिंग के लिए अधिकृत है।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें

डॉ. जितेंद्र सिंह ने अंतरराष्ट्रीय प्रशासनिक अधिकारियों के लिए महामारी में सुशासन प्रक्रियाओं पर एक अंतरराष्ट्रीय कार्यशाला का आयोजन किया

केंद्रीय मंत्री डॉ. जितेंद्र सिंह ने आज कहा कि कोविड-19 वैश्विक महामारी से लड़ने का मंत्र चिंता नहीं, जागरूकता’  है और अंतरराष्ट्रीय सहयोग आज की महत्ती आवश्यकता है। वह यहां भारतीय तकनीकी एवं आर्थिक सहयोग (आईटीईसी), विदेश कार्य मंत्रालय एवं राष्ट्रीय सुशासन केंद्र (एनसीजीजी), प्रशासनिक सुधार एवं लोक शिकायत विभाग द्वारा संयुक्त रूप से आयोजित एक वेबिनार के जरिये अंतरराष्ट्रीय कार्यशाला के उद्घाटन के बाद उसको संबोधित कर रहे थे। डॉ. सिंह ने दोहराया कि कोविड-19 महामारी के खिलाफ लड़ाई जीतने के लिए देशों के लिए आगे का रोडमैप अर्थव्यवस्था को फिर से खोलने एवं सहकारी संघवाद को सुदृढ़ बनाने में निहित है। उन्होंने कहा कि सरकार का जोर मजबूत संस्थानों, सुदृढ़ ई-गवर्नेंस मॉडलों, डिजिटल रूप से सशक्त नागरिकों एवं बेहतर स्वास्थ्य देखभाल पर है।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें

एसईआरबी समर्थित अध्ययन बताता है कि मस्तिष्क में श्वसन केंद्र का ध्वस्त होना कोविड-19 के रोगियों के लिए घातक हो सकता है

सीएसआईआर-इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ कैमिकल बायोलॉजी (आईआईसीबी), कोलकाता के शोधकर्ताओं की एक टीम ने सार्स-कोव-2 की न्यूरो-इनवेसिव क्षमता का पता लगाया है और यह बतलाया है कि वायरस मस्तिष्क के श्वसन केंद्र को संक्रमित कर सकता है और कोविड-19 के कारण होने वाली मौत की खोजबीन करते समय केंद्रीय तंत्रिका तंत्र के श्वसन केंद्र पर ध्यान केंद्रित किया जाना चाहिए।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें

पीआईबी के क्षेत्रीय कार्यालयों से मिलीं जानकारियां

  • चंडीगढ़ : समाज कल्याण विभाग, चंडीगढ़ प्रशासन ने 6 महीने से 6 साल तक की उम्र के बच्चों, गर्भवती महिलाओं, नर्सिंग माताओं (स्तनपान कराने वाली महिलाओं), किशोरियों सहित लगभग 22,586 लाभार्थियों को घर पर ही पोषण बढ़ाने वाले खाद्य पदार्थ और बेसन पंजीरी के रूप में टेक होम राशन का वितरण किया है। 53 आंगनवाड़ी केन्द्रों पर लाभार्थियों को पोषण युक्त सूखे राशन के अलावा अंडे, केले और दूध का भी वितरण किया गया था। शहर में विभिन्न स्थानों पर झुग्गी बस्ती क्षेत्रों और निर्माण स्थलों पर लगभग 350 लाभार्थियों को भी टेक होम राशन का वितरण किया गया था।
  • पंजाब : कोरोना वायरस के प्रसार पर रोक लगाने के प्रयास में पंजाब सरकार के राजस्व विभाग ने विभिन्न विभागों और उप आयुक्तों को 300 करोड़ रुपये का आवंटन किया है। उप आयुक्तों को आवंटित 100 करोड़ रुपये में से 98 करोड़ रुपये प्रवासी कामगारों को उनके गृह राज्य भेजने, सूखा राशन वितरित करने और क्वारंटाइन सुविधाओं पर व्यय किए गए हैं।
  • हिमाचल प्रदेश : मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य कोरोना महामारी से प्रभावी रूप से लड़ाई कर रहा है और ज्यादातर पड़ोसी राज्यों की तुलना में यहां पर हालात काफी बेहतर हैं। उन्होंने कहा कि देश के विभिन्न हिस्सों में फंसे लगभग दो लाख लोगों के वापस लौटने से राज्य में कोविड-19 के मामले तेजी से बढ़े हैं। इन लोगों को क्वारंटाइन में रखा जा रहा है और लोगों को परेशान होने की जरूरत नहीं है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री जन धन योजना के अंतर्गत इस साल अप्रैल, मई और जून महीनों के लिए राज्य की 5.90 लाख पात्र महिलाओं के खातों में प्रति महीना 500 रुपये हस्तांतरित किए जा चुके हैं। उन्होंने कहा कि 1.37 लाख कामगारों को सहायता के रूप में 2,000 रुपये प्रति महीने उपलब्ध कराए गए और अब सरकार ने हिमाचल प्रदेश इमारत एवं अन्य निर्माण कामगार कल्याण बोर्ड के पंजीकृत कामगारों के खातों में अतिरिक्त 2,000 रुपये देने का फैसला किया है।
  • महाराष्ट्र : बुधवार को कोविड-19 के 3,307 नए पॉजिटिव मरीज सामने आए, जिससे राज्य में कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या बढ़कर 1,16,752 हो गई और इनमें से सक्रिय मामलों की संख्या 51,921 के स्तर पर है। इसके अलावा 114 लोगों की मृत्यु भी हो गई, जिससे राज्य में अभी तक इस बीमारी से मरने वालों की कुल संख्या बढ़कर 5,651 हो गई। ताजा रिपोर्ट के अनुसार, राज्य में अभी तक 59,166 मरीज स्वस्थ हो चुके हैं।
  • गुजरात : पिछले 24 घंटों के दौरान राज्य में कोविड-19 के 520 नए पॉजिटिव मामले सामने आए और 27 लोगों की मृत्यु हो गई। राज्य में वायरस से संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़कर 25,148 हो गई, जिसमें से 17,438 लोग स्वस्थ हो चुके हैं और डिस्चार्ज कर दिया गया है तथा 1,561 लोगों की मृत्यु भी हो चुकी है।
  • राजस्थान : आज सुबह 84 पॉजिटिव मामले दर्ज किए गए, जिससे राज्य में कोविड के मरीजों की संख्या बढ़कर 13,626 हो गई। बुधवार की रात तक 326 नए मामले भी दर्ज किए गए। हालांकि राज्य में अभी तक 10,582 मरीज स्वस्थ हो चुके हैं, जो सुधार की सबसे ऊंची दर है। आज सामने आए नए मामलों में से ज्यादातर भरतपुर से संबंधित हैं, जिसके बाद जयपुर जिले से मामले दर्ज किए गए।
  • मध्य प्रदेश : राज्य में बुधवार की शाम तक 161 नए मामले दर्ज किए गए, जिससे कुल मामलों की संख्या बढ़कर 11,244 हो गई। अधिकांश नए मामले भोपाल (49) में सामने आए, उसके बाद कोविड-19 के हॉटस्पॉट इंदौर (44) का नंबर रहा।
  • छत्तीसगढ़ : बुधवार को राज्य में कोरोना वायरस के 71 नए मामलों की पहचान हुई, जिससे राज्य में कोविड-19 के मरीजों की संख्या बढ़कर 1,864 हो गई और इनमें से 756 सक्रिय मामले हैं।
  • गोवा : बुधवार को राज्य में 27 नए मामलों की पहचान हुई और 11 लोग स्वस्थ हो गए। अब कोविड-19 के मामलों की कुल संख्या 656 के स्तर पर है, जिनमें से 560 सक्रिय मामले हैं। मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत ने कहा कि सीमावर्ती क्षेत्रों और सभी संक्रमण प्रभावित इलाकों में ज्यादा संख्या में परीक्षण किए जा रहे हैं। लेकिन सिर्फ 8-10 मरीज स्पर्शोन्मुखी हैं। गोवा ने कोविड अस्पतालों या कोविड देखभाल केन्द्रों में भेजने के लिए मरीजों का वर्गीकरण किया है।
  • केरल : राज्य में आज कोविड से एक अन्य व्यक्ति की मृत्यु हो गई, जिससे मरने वालों की संख्या बढ़कर 21 हो गई। 28 वर्षीय मृतक उत्पाद शुल्क विभाग में वाहन चालक था, जिसका सरकारी मेडिकल कॉलेज कन्नूर में इलाज चल रहा था। उसके संक्रमण के स्रोत का पता लगाने के प्रयास जारी हैं। कोच्चि के एक सिविल पुलिस अधिकारी जांच में कोविड पॉजिटिव पाए गए हैं। अधिकारी को होम क्वारंटाइन में चल रहे लोगों के घरों में जाने और यह सुनिश्चित करने का काम सौंपा गया था कि वे क्वारंटाइन के प्रोटोकॉल का पालन कर रहे हैं या नहीं। विपक्ष के नेता रमेश शेन्नीथाला ने कहा कि राज्य सरकार के वंदे भारत मिशन के लिए कोविड निगेटिव प्रमाण पत्र पर जोर दिए जाने से आने वाले अप्रवासियों के लिए संकट में और इजाफा होगा। वहीं राज्य के बाहर कोविड-19 के चलते केरल के दो अन्य लोगों की मौत हो गई। कल 90 लोग स्वस्थ हो गए थे और 75 नए मामले सामने आए। राज्य भर के विभिन्न अस्पतालों में लगभग 1,351 मरीजों का अभी भी उपचार चल रहा है।
  • तमिलनाडु : पुडुचेरी संघ शासित क्षेत्र के कराइकल में कोविड-19 के प्रसार पर रोक लगाने के लिए तमिलनाडु से आने वालों पर निगरानी और बढ़ा दी गई है। राज्य सरकार ने 25 मार्च से 7 मई के बीच गैर हाजिर रहे तमिलनाडु के सरकारी कर्मचारियों को उपस्थित मानने का फैसला किया है। चेन्नई और पड़ोस के जिलों में 12 दिन के लिए सख्त लॉकडाउन लागू कर दिया गया है, जो कल से प्रभावी होगा। कल राज्य में 2,174 नए मामले सामने आए, 842 लोग स्वस्थ हो गए और 48 लोगों की मृत्यु हो गई। कुल मामले : 50,193, सक्रिय मामले : 21,990, मृत्यु : 576, डिस्चार्ज : 27,624, चेन्नई में सक्रिय मामले : 16,067।
  • कर्नाटक : राज्य में कोविड-19 के प्रति जागरूकता फैलाने के लिए आज मास्क दिवस मनाया गया। राज्य सरकार ने उच्च न्यायालय को सूचित किया कि अभी तक 267 श्रमिक ट्रेनों के माध्यम से 3,79,195 प्रवासी कामगारों को उनके मूल निवास स्थलों के लिए भेजा जा चुका है। कल राज्य में 204 नए मामले सामने आए, 348 लोगों को डिस्चार्ज कर दिया गया और आठ लोगों की मृत्यु हो गई। कुल पॉजिटिव मामले : 7,734, सक्रिय मामले : 2,824, मृत्यु : 102, डिस्चार्ज : 4,804।
  • आंध्र प्रदेश : पिछले 24 घंटों में 13,923 नमूनों के परीक्षण के बाद 299 नए मामले दर्ज किए गए और दो लोगों की मृत्यु हो गई, वहीं 77 लोगों को डिस्चार्ज कर दिया गया। कुल मामले : 5,854, सक्रिय मामले : 2,779, स्वस्थ हुए : 2,983, मृत्यु : 92। अंतर-राज्यीय मामलों की संख्या 1,353 के स्तर पर है, जिनमें से 611 सक्रिय मामले हैं और पिछले 24 घंटों में 51 लोगों को डिस्चार्ज कर दिया गया। वहीं विदेश से आए लोगों से संबंधित 289 मामलों में से 242 अभी भी सक्रिय हैं।
  • तेलंगाना : तेलंगाना के निजी अस्पतालों ने कहा कि वे राज्य सरकार द्वारा उनके अस्पतालों में कोविड-19 के एक मरीज के उपचार के लिए तय की ऊपरी सीमा पर याचिका दायर करेंगे; गांधी अस्पताल के मुर्दाघर के बाहर अव्यवस्था चरम पर पहुंचने के साथ अस्पताल प्रशासन हालात को दुरुस्त करने के लिए जूझ रहा है। बृहस्पतिवार को मुर्दाघर के कर्मचारी ने कोविड-19 के एक मृतक के शव को किसी अन्य परिवार को सौंप दिया था, हाल में हुआ यह इस तरह का दूसरा मामला था। अभी तक कुल मामले 5,675 के स्तर पर बने हुए हैं; सक्रिय मामलों की संख्या 2,412 के स्तर पर है; 3,071 मरीज स्वस्थ हो चुके हैं।
  • असम : असम में कोविड-19 के 82 नए पॉजिटिव मामले सामने आए। संक्रमण के कुल मामलों की संख्या 4,777 के स्तर पर है, जिनमें से सक्रिय मामले 2,111 हैं, 2,658 लोग स्वस्थ हो चुके हैं और 9 लोगों की मृत्यु हो चुकी है।          
  • मणिपुर : मणिपुर राज्य में 5 आरटी पीसीआर मशीनों और 3 ट्रू एनएटी मशीनों के साथ कोविड-19 नमूनों की परीक्षण क्षमता में सुधार किया गया है। अभी तक राज्य में कुल 29,865 परीक्षण किए जा चुके हैं।
  • मिजोरम : मिजोरम में कोलासिब जिले में कोविड-19 के 9 मरीज जांच में दो बार निगेटिव पाए गए हैं। राज्य के स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि उन्हें जोराम मेडिकल कॉलेज से कल डिस्चार्ज किए जाने का अनुमान है।
  • नागालैंड : नागालैंड में दिमापुर-कोहिमा टैक्सी सेवा सम विषम नियम के तहत शुरू कर दी गई है। छोटी कारों में 3 यात्री तक और बड़े वाहनों में 5 लोग तक सफर कर सकते हैं। दिमापुर में बीएसएल-2 लैब के तकनीक दल को प्रशिक्षण देने के लिए जोरहाट जिले, असम के वैज्ञानिक पहुंच गए हैं। लॉन्गलेंग और त्वेनसांग में ट्रू एनएटी मशीनें लगा दी गई हैं।

 

Description: Image

 

***

एसजी/एएम/एमपी/एसके
 



(Release ID: 1632537) Visitor Counter : 69