PIB Headquarters

कोविड-19 पर पीआईबी का दैनिक बुलेटिन

Posted On: 30 MAY 2020 6:35PM by PIB Delhi

 

 (पिछले 24 घंटे में कोविड-19 से संबंधित जारी प्रेस विज्ञप्तियां, पीआईबी के क्षेत्रीय कार्यालयों से मिली जानकारियां और पीआईबी द्वारा जांचे गए तथ्य शामिल है)

  कोविड-19 से 82,369 लोगों के स्वस्थ/डिस्चार्ज होने के साथ ही सुधार की दर बढ़कर 47.4 प्रतिशत हो गई; पिछले 24 घंटों में 11,264 लोग स्वस्थ हो गए।

सक्रिय मामलों की संख्या घटकर 86,422 रह गई।

कोविड-19 के लिए अभी तक 36,12,242 परीक्षण किए जा चुके हैं; जिनमें से कल ही 1,26,842 परीक्षण किए गए।

प्रधानमंत्री ने कहा कि हम अपने मजदूरों, प्रवासी कामगारों, फेरीवालों और कई अन्य देशवासियों की मुश्किलों को दूर करने के लिए संयुक्त रूप से काम कर रहे हैं।

सरकार लॉकडाउन अवधि के दौरान लोगों तक मुफ्त खाद्यान्न पहुंचाने और वितरण सुनिश्चित कर रही है।  

 

http://164.100.117.97/WriteReadData/userfiles/image/image0046PC5.jpg

 

पिछले 24 घंटे के दौरान कोविड-19 के कुल 11,264 मरीज ठीक हुए; मरीजों के ठीक (रिकवर) होने की दर 47.40 प्रतिशत हुई, 24 घंटे में 4.51 प्रतिशत की वृद्धि; सक्रिय मरीजों की संख्या 89,987 से कम होकर 86,422 हुई

पिछले 24 घंटों के दौरान, कोविड-19 के कुल 11,264 मरीज़ ठीक हुए हैं। यह एक दिन में ठीक होने वाले मरीजों की सबसे अधिक संख्या है। इस प्रकार, अब तक, कुल 82,369 मरीज कोविड-19 से ठीक हो चुके हैं। इसके परिणामस्वरूप कोविड-19 के रोगियों के ठीक होने की दर 47.40% हो गयी है। पिछले दिन के ठीक होने की दर 42.89% की तुलना में 4.51% की वृद्धि हुई है। ठीक होने वाले रोगियों की अधिक संख्या के कारण, सक्रिय रोगियों की संख्या भी 29 मई के 89,987 से घटकर वर्तमान में 86,422 रह गई है। सभी सक्रिय मामले गहन चिकित्सा देख-रेख में हैं।

30 मई 2020 तक, पिछले 14 दिनों में मामलों के दोगुने होने का समय 13.3 था, पिछले तीन दिनों में यह बढ़कर 15.4 हो गया है। मृत्यु दर 2.86 प्रतिशत है। 29 मई 2020 तक, आईसीयू में 2.55 प्रतिशत, वेंटिलेटर पर 0.48 प्रतिशत और ऑक्सीजन सपोर्ट पर 1.96 प्रतिशत सक्रिय कोविड-19 रोगी हैं। 462 सरकारी प्रयोगशालाओं और 200 निजी प्रयोगशालाओं के माध्यम से देश में जांच की क्षमता बढ़ी है। कुल मिलाकर, कोविड-19 के लिए अब तक 36,12,242 जांच की जा चुकी हैं, जबकि कल 1,26,842 नमूनों की जांच की गई थी।

http://164.100.117.97/WriteReadData/userfiles/image/image005WR3O.jpg 

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-

माननीय प्रधानमंत्री जी का पत्र

 “कई लोगों ने आशंका जताई थी कि जब कोरोना भारत में आएगा तो भारत दुनिया के लिए एक समस्या बन जाएगा। लेकिन आज, आत्मविश्वास और लचीलेपन के माध्यम से आपने भारत को देखने का दुनिया का नजरिया बदलकर रख दिया है। आपने ये सिद्ध करके दिखाया है कि विश्व के सामर्थ्यवान और संपन्न देशों की तुलना में भी भारतवासियों का सामूहिक सामर्थ्य और क्षमता अभूतपूर्व है। ताली-थाली बजाने और दीया जलाकर कोरोना योद्धाओं का सम्मान करना हो, जनता कर्फ्यू या देशव्यापी लॉकडाउन के दौरान नियमों का निष्ठा से पालन हो, हर अवसर पर आपने ये दिखाया है कि एक भारत ही श्रेष्ठ भारत की गारंटी है।

निश्चित तौर पर, इतने बड़े संकट में कोई ये दावा नहीं कर सकता कि किसी को कोई तकलीफ और असुविधा न हुई हो। हमारे श्रमिक साथी, प्रवासी मजदूर, शिल्पकार एवं छोटे-छोटे उद्योगों में काम करने वाले कारीगर, पटरी पर सामान बेचने वाले तथा ऐसे ही अन्य देशवासियों ने असीमित कष्ट सहा है। इनकी परेशानियां दूर करने के लिए हम सभी मिलकर एकजुटता एवं प्रतिबद्धता के साथ प्रयास कर रहे हैं।

हालांकि हमें ये भी ध्यान रखना है कि जिस असुविधा का हम सामना कर रहे हैवह कहीं आफत में न बदल जाए। इसलिए, प्रत्येक भारतीय के लिए सभी दिशा-निर्देशों का पालन करना बहुत आवश्यक है। अभी तक हमने धैर्य और जीवटता को बनाए रखा है, वैसे ही उसे आगे भी बनाए रखना है। यह एक बड़ा कारण है कि भारत आज अन्य देशों की तुलना में ज्यादा संभली हुई स्थिति में है। ये लड़ाई लंबी है लेकिन हम विजय पथ पर चल पड़े हैं और विजयी होना हम सबका सामूहिक संकल्प है।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-

 श्री राम विलास पासवान ने कहा कि लॉकडाउन के दौरान देशभर में प्रत्येक व्यक्ति को मुफ्त खाद्यान्न उपलब्ध कराने का व्यापक अभियान मंत्रालय की पिछले एक साल के दौरान की सबसे बड़ी उपलब्धि है

केन्द्रीय उपभोक्ता मामले, खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण मंत्री श्री राम विलास पासवान ने आज अपने मंत्रालय की पिछले एक वर्ष की उपलब्धियों और पहलों का विस्तार से उल्लेख किया। लॉकडाउन के दौरान देशभर में प्रत्येक व्यक्ति को मुफ्त खाद्यान्न उपलब्ध कराने का व्यापक अभियान मंत्रालय की पिछले एक साल के दौरान की सबसे बड़ी उपलब्धि है। श्री पासवान ने कहा कि उपभोक्ता संरक्षण अधिनियम, 2019 को लागू करना,सीडब्ल्यूसी द्वारा रिकार्ड टर्नओवर प्राप्त करना, एफसीआई की अधिकृत पूंजी 3,500 करोड़ रुपये से बढ़ाकर 10,000 करोड़ रुपये किया जाना और वन नेशन वन राशन कार्ड की दिशा में कदम बढ़ाया जाना पिछले एक वर्ष के दौरान मंत्रालय की महत्वपूर्ण उपलब्धियां रहीं।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने अमेरिकी रक्षा सचिव से फोन पर बात की

रक्षा मंत्री, श्री राजनाथ सिंह ने कल अमेरिकी रक्षा सचिव, डॉ. मार्क टी एस्पर से टेलीफोन पर बातचीत की। दोनों मंत्रियों ने कोविड-19 महामारी से निपटने से संबंधित अनुभवों के बारे में एक दूसरे को जानकारी प्रदान की और इस संबंध में उत्कृष्ट द्विपक्षीय सहयोग जारी रखने के संकल्प को दोहराया। उन्होंने विभिन्न द्विपक्षीय रक्षा सहयोग प्रक्रियाओं पर प्रगति की समीक्षा की और दोनों देशों के बीच रक्षा साझेदारी को और बढ़ावा देने की दिशा में अपनी प्रतिबद्धता व्यक्त की।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-

ब्रिक्स देशों के प्रमुख कर अधिकारियों की वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिये बैठक

ब्रिक्स देशों यानी ब्राजील, रूस, भारत, चीन और दक्षिण अफ्रीका के प्रमुख कर अधिकारियों की वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिये बैठक 29 मई, 2020 को आयोजित की गई। वित्त सचिव ने करदाताओं पर इस वैश्विक महामारी के प्रभाव को कम करने के लिए भारत द्वारा उठाए गए विभिन्न कदमों के बारे में ब्रिक्स देशों से जानकारी साझा की। इन उपायों में अनुपालन जरूरतों को फिलहाल टालने, विलंबित भुगतान पर ब्याज की दरों में कमी और कर की दरों में कमी आदि शामिल हैं। ब्रिक्स देशों से आग्रह किया कि समय-समय पर संबंधित कर प्रशासनों द्वारा उठाए गए कोविड-19 से संबंधित उपायों को साझा किया जाए ताकि इस वैश्विक महामारी के राजकोषीय एवं आर्थिक प्रभाव के संबंध में हमारी समझ बेहतर हो सके। साथ ही इससे हमें इस वैश्विक महामारी को फैलने से रोकने और इसके प्रभाव से निपटने में सरकार के प्रयासों में मदद के लिए विभिन्न संभावनाएं तलाशने के लिए प्रोत्साहन मिलेगा।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-

खाद्य प्रसंस्करण उद्योग मंत्रालय के शिकायत प्रकोष्ठ ने कोविड-19 माहौल के बीच उद्योग से प्राप्त 585 मुद्दों में से 581 को सुलझाया

खाद्य प्रसंस्करण उद्योग मंत्रालय का शिकायत प्रकोष्ठ सक्रिय दृष्टिकोण और समय पर निवारण के जरिए कुल 585 मुद्दों में से 581 मुद्दों को सुलझाने में समर्थ रहा है। कार्यदल संबंधित राज्य सरकारों और वित्त मंत्रालय एवं गृह मंत्रालय सहित अन्य संबंधित प्राधिकारियों के समक्ष इन मुद्दों को उठाता रहा है। कार्यदल खाद्य और संबद्ध उद्योग द्वारा सामना किए जाने वाले किसी भी मुद्दे/चुनौतियों का समाधान करने के लिए सभी राज्यों के प्रमुख उद्योग संघों और फूड प्रोसेसरों के साथ भी लगातार संपर्क में रहा है, ताकि यह अधिकतम क्षमता के साथ काम कर सके।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-

अग्रणी ऑनलाइन ट्रैवल एजेंटों (ओटीए) के प्रतिनिधिमंडल ने केंद्रीय पर्यटन एवं संस्कृति राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्री प्रह्लाद सिंह पटेल से मुलाकात की

भारत के अग्रणी ऑनलाइन ट्रैवल एजेंटों (ओटीए) के एक प्रतिनिधिमंडल ने नई दिल्ली में केंद्रीय पर्यटन एवं संस्कृति राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्री प्रह्लाद सिंह पटेल से मुलाकात की। यह चर्चा होटलों को सावधानीपूर्वक खोले जाने एवं आवासीय इकायों के लिए स्वच्छता/सुरक्षा मुद्दों के लिए लॉकडाउन प्रोटोकॉल और यात्रा संबंधित गतिविधियों के इर्द-गिर्द केंद्रित रहीं।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-

अनुसंधान और नवाचार के लिए सुविधा प्रदान करना : जैव प्रौद्योगिकी विभाग द्वारा 4 कोविड -19 बायो-बैंक की स्थापना

कोविड-19 महामारी को नियंत्रित करने के लिए आरएंडडी के प्रयास टीके, निदान और औषधि के विकास पर आधारित हैं। आरएंडडी प्रयासों के लिए कोविड-19 पॉजिटिव लोगों के नमूने मूल्यवान संसाधन होते हैं। नीति आयोग ने हाल ही में कोविड-19 से संबंधित अनुसंधान के लिए जैव नमूनों और डेटा को साझा करने से सम्बंधित दिशा-निर्देश जारी किए हैं। कैबिनेट सचिव के निर्देशों के अनुसार, भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) ने कोविड-19 रोगियों के नैदानिक नमूनों (मुंह का लार/नाक द्रव/गला, फेफड़ा द्रव/थूक/रक्त/मूत्र और मल) के संग्रह, भंडारण और रख-रखाव (नमूनों को बनाये रखना) के लिए 16 जैव भण्डार (बायो-रिपॉजिटरी) की अधिसूचना जारी की है।16 बायो रिपोजिटरी की सूची इस प्रकार है: आईसीएमआर-9, डीबीटी-4 और सीएसआईआर-3

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-

संस्कृति मंत्रालय की गांधी स्मृति और दर्शन समिति ने कोविड-19 के खिलाफ लड़ाई में सहयोग के लिए झारखंड प्रशासन को पीपीई किट और अन्य सामग्री भेजी

कोविड-19 के खिलाफ लड़ाई में सहयोग के लिए गांधी स्मृति और दर्शन समिति (जीएसडीएस), नई दिल्ली तथा ल्यूपिन ह्यूमन वेलफेयर एसोसिएशन, राजस्थान ने 29 मई 2020 को झारखंड के आदिवासी जिले खूंटी में जिला प्रशासन के उपयोग के लिए मुफ्त में 200 पीपीई किट, 50 थर्मामीटर, 10 हजार पीस नाइट्रिल ग्लव्स, 11 हजार मास्क और 500 फेस शील्ड भेजे हैं।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-

पीएफसी कोविड -19’ के खिलाफ लड़ाई में उत्तराखंड सरकार को पीपीई किट और एंबुलेंस मुहैया कराएगी

कोविड-19 महामारी से लड़ने की दिशा में एक और अहम कदम उठाते हुए विद्युत मंत्रालय के अधीनस्थ केंद्रीय पीएसयू पावर फाइनेंस कॉरपोरेशन लिमिटेड (पीएफसी) उत्तराखंड सरकार को 1.23 करोड़ रुपये की वित्तीय सहायता मुहैया कराने के लिए आगे आई है। इस धनराशि का उपयोग अग्रिम पंक्ति के योद्धा कर्मचारियों के लिए 500 पीपीई किट और उत्तराखंड राज्य के स्वास्थ्य विभाग को सुपुर्द करने हेतु पूरी तरह से सुसज्जित 06 एम्बुलेंस खरीदने के लिए किया जाएगा।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-

राष्ट्रीय अनुसंधान प्रयोगशालाओं और विश्वविद्यालयों में कोविड जांच केन्द्रों (हब और स्पोक मॉडल) की संख्या में बढ़ोतरी

देशभर में जांच में तेजी लाने और जांच की पहुंच का दायरा बढ़ाने के उद्देश्य से, देशभर के सरकारी संस्थानों में कोविड-19 के नमूनों की जांच को बढ़ाने के लिए हब और स्पोक मॉडल के आधार पर शहरी/क्षेत्रीय क्लस्टर स्थापित किये गये हैं। वे संस्थान एवं प्रयोगशालाएं, जिनके पास नमूनों के संग्रहउनके संभालने/प्रसंस्करण (बीएसएल -2 सुविधा) तथा परीक्षण (आरटी-पीसीआर), दोनों की क्षमता और विशेषज्ञता है, हब के रूप में काम करते हैं और उनके विस्तारित जांच सुविधाओं के रूप में, कई ऐसी प्रयोगशालाएं शामिल हैं जो आरटी- पीसीआर मशीनों और उपयुक्त संख्या में कर्मचारियों से लैस हैं।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-

 

पीआईबी के क्षेत्रीय कार्यालयों से मिलीं जानकारियां

चंडीगढ़ : मुख्य सचिव, स्वास्थ्य ने कहा कि विदेश से 116 लोग चंडीगढ़ पहुंच गए हैं, जिनमें से 29 लोगों को आवश्यक जांच के बाद डिस्चार्ज कर दिया गया है। घरेलू उड़ानों से 281 यात्री भी चंडीगढ़ पहुंच गए हैं और भारत सरकार के दिशा-निर्देशों के तहत उन्हें खुद को घरों में क्वारंटाइन में रहने की सलाह दी गई है। सलाहकार, चंडीगढ़ ने कहा कि चंडीगढ़ प्रशासन मामूली और गंभीर दोनों श्रेणियों के मरीजों के आश्रय के लिए 3,000 बिस्तरों के साथ तैयार है। मरीजों के उपचार के लिए जरूरी वेंटिलेटर, ऑक्सीजन, पीपीई या दवाओं की कोई कमी नहीं है। भारत सरकार के दिशा-निर्देशों के तहत नियमित परीक्षण किए जा रहे हैं। संक्रमण प्रभावित (कॉन्टेनमेंट) क्षेत्रों की आवधिक समीक्षा हर सप्ताह की जा रही है।

पंजाब :  कोविड-19 के प्रबंधन को मजबूत बनाने और नियंत्रण के लिए पंजाब सरकार ने कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए जारी नियमों और दिशा-निर्देशों के उल्लंघन के मामलों में जुर्माना बढ़ा दिया है। अब सार्वजनिक स्थलों पर मास्क नहीं पहनने वालों पर 500 रुपये, होम क्वारंटाइन के निर्देशों के उल्लंघन पर 2,000 रुपये, सार्वजनिक स्थलों पर थूकने पर 500 रुपये, दुकानदारों/व्यावसायिक स्थानों के मालिकों द्वारा सामाजिक दूरी के नियमों के उल्लंघन पर 2,000 रुपये, सामाजिक दूरी के नियमों के उल्लंघन पर बस मालिकों पर 3,000 रुपये, कारों पर 2,000 रुपये और ऑटो रिक्शा/ दोपहिया वाहनों पर 500 रुपये का जुर्माना लगाया जाएगा।

हरियाणा : हरियाणा पर्यटन निगम वैश्विक कोविड-19 महामारी के दौरान कोविड मरीजों के उपचार में लगे चिकित्सकों और पैरामेडिकल कर्मचारियों को अपने पर्यटक परिसरों में बोर्डिंग और ठहरने की सुविधा मुफ्त में उपलब्ध करा रहा है। कोविड-19 को देखते हुए 24 मार्च, 2020 से लागू देशव्यापी लॉकडाउन के दौरान सरकार ने फैसला किया था कि कोविड मरीजों के उपचार में लगे चिकित्सकों को इन पर्यटक परिसरों में मुफ्त बोर्डिंग और ठहरने की सुविधा उपलब्ध कराई जाएगी।

हिमाचल प्रदेश : मुख्यमंत्री ने कोविड-19 महामारी से प्रभावी लड़ाई में राज्य सरकार को भरपूर समर्थन देने के लिए उद्योगपतियों विशेषकर फार्मा उद्योग के प्रति आभार प्रकट किया है। उन्होंने कहा कि बल्क दवाओं और जेनेरिक्स के विनिर्माण के लिहाज से राज्य एक प्रमुख हब के रूप में उभरा है तथा उसने देश के भीतर और विदेश में बड़ी बाजार हिस्सेदारी हासिल की है। उन्होंने उद्योगपतियों से पीएम केयर्स और एचपी एसडीएमए कोविड-19 राज्य आपदा प्रबंधन प्रतिक्रिया कोष में उदारता से दान देने का आह्वान किया, जिससे कोरोना वायरस से प्रभावी रूप से लंबी लड़ाई लड़ने में सहायता मिलेगी।

केरल : विदेश से लौटा एक व्यक्ति जिसे कोझिकोड में क्वारंटाइन में रहते हुए दिल का दौरा पड़ा और उसकी मृत्यु हो गई, उसका कोविड-19 परीक्षण निगेटिव आया। तिरुवनंतपुरम के उप नगरीय इलाकों में क्वारंटाइन में रह रहे 8 पुलिसकर्मियों की जांच रिपोर्ट भी निगेटिव आई है। पथनमथिट्टा में दो इलाकों में प्रवासी कामगारों ने प्रदर्शन किया, जो बिहार वापस जाने के लिए ट्रेन चलाने की मांग कर रहे थे। कन्नूर में व्यापक स्तर पर लॉकडाउन की शर्तों के उल्लंघन को देखते हुए आधिकारिक स्तर पर तिहरा लॉकडाउन लगाने पर विचार किया जा रहा है। इसके अलावा खाड़ी देशों में कोविड-19 से जूझ रहे तीन अन्य केरल वासियों ने आखिरी सांस ली। कल राज्य में दो लोगों की मृत्यु हो गई और 62 नए पॉजिटिव मामले सामने आए। 577 मरीजों का उपचार चल रहा है और राज्य भर में 1,24,167 लोग निगरानी में बने हुए हैं।

तमिलनाडु :  राज्य सरकार ने ग्रामीण अर्थव्यवस्था को प्रोत्साहन देने के लिए 300 करोड़ रुपये का कोविड-19 सहायता पैकेज देने की घोषणा की है। चेन्नई-अंडमान के लिए जहाज सेवा फिर से चालू कर दी गई है। नामक्कल 47 वर्षीय एक लॉरी चालक की जानलेवा वायरस से मृत्यु हो गई, जो शहर में कोरोना से पहली मौत है। नामक्कल में कोरोना के कुल 78 पॉजिटिव मामले सामने आ चुके हैं और 77 लोग स्वस्थ हो चुके हैं। पूरे तमिलनाडु में लिए गए 90 नमूनों में 40 कैदी परीक्षण में पॉजिटिव पाए गए। कल राज्य में 874 नए मामलों के साथ कुल आंकड़ा 20,000 के पार पहुंच गया। अभी तक कुल मामले : 20,246, सक्रिय मामले : 8,676, मृत्यु : 154, डिस्चार्ज : 11,313। चेन्नई में सक्रिय मामलों की संख्या 6,353 के स्तर पर बनी हुई है।

कर्नाटक : राज्य सरकार ने विभिन्न क्षेत्रों से प्रतिक्रिया मिलने के बाद रविवार को शटडाउन के आदेश को पूरी तरह वापस ले लिया है। राज्य सरकार ने फैसला किया है कि निजी प्रयोगशालाओं में परीक्षण के लिए सभी यात्रियों को 650 रुपये का भुगतान करना चाहिए; परीक्षण की पूलिंग विधि अपनाई जाएगी। किसी एक दिन में एक नए रिकॉर्ड के साथ कर्नाटक में शुक्रवार को 248 कोविड पॉजिटिव मामले सामने आए, इसके साथ ही राज्य में मरीजों की कुल संख्या बढ़कर 2,781 हो गई। अभी तक कुल पॉजिटिव मामले : 2,781, सक्रिय मामले : 1837, मृत्यु : 48, स्वस्थ हुए : 894।

आंध्र प्रदेश : मुख्यमंत्री ने ऑनलाइन 10,641 रिथुभरोसा केन्द्रों का शुभारम्भ किया, जिसका उद्देश्य 5 एकड़ तक जमीन वाले किसानों को सालाना 13,500 रुपये की नकद वित्तीय सहायता उपलब्ध कराना है; योजना के अंतर्गत एससी, एसटी, बीसी और अल्पसंख्यक समुदायों से संबंधित काश्तकार किसानों को भी फायदा मिलेगा। इस धनराशि में पीएम किसान योजना के अंतर्गत केन्द्र द्वारा 51 लाख से ज्यादा किसानों को प्रति परिवार 6,000 रुपये की वार्षिक सहायता और मुफ्त बोरवेल तथा प्रति दिन नौ घंटे तक मुफ्त बिजली भी शामिल है। 9,504 नमूनों के परीक्षण के बाद पिछले 24 घंटों में 70 नए मामले सामने आए, हालांकि किसी भी व्यक्ति की मृत्यु नहीं हुई और 55 लोगों को डिस्चार्ज कर दिया गया है। कुल मामले : 2,944, सक्रिय मामले : 792, स्वस्थ हुए : 2092, मृत्यु : 60। दूसरे राज्यों से आए लोगों से संबंधित कुल 406 पॉजिटिव मामले सामने आए, जिनमें से 217 अभी भी सक्रिय मामले हैं। विदेश से आए पॉजिटिव मामले 111 के स्तर पर बने हुए हैं।

तेलंगाना :  आईसीएमआर ने तेलंगाना में शहरी जनसंख्या में सार्स-सीओवी-2 के संक्रमण को समझने के लिए राष्ट्रीय पोषण संस्थान (एनआईएन) के साथ भागीदारी में हैदराबाद के पांच संक्रमण प्रभावित क्षेत्रों में त्वरित सर्वेक्षण कराने का फैसला किया है। आईसीएमआर और एनआईएन के दल राज्य सरकार की सहायता से शनिवार और रविवार को 100 नमूनों का संग्रह करेंगे। 30 मई को तेलंगाना में कुल पॉजिटिव मामले 2,425 के स्तर पर हैं। अभी तक 180 प्रवासी और 237 विदेश से आए लोग पॉजिटिव पाए गए हैं।

असम : असम में सीएसआईआर-एनईआईएसटी कोविड-19 परीक्षण प्रयोगशाला जोरहाट में जल्द परिचालन में आ जाएगी। असम में कोविड-19 के 43 नए पॉजिटिव मामले पाए गए। कुल मामले बढ़कर 1100 के स्तर पर पहुंच गए हैं, जिनमें से अब 968 सक्रिय मामले हैं, 125 लोग स्वस्थ हो चुके हैं और 4 मरीजों की मृत्यु हो चुकी है।

मणिपुर : मणिपुर में कोविड-19 का एक नया पॉजिटिव मामला सामने आया। इस प्रकार कुल मामले बढ़कर 60 के स्तर पर पहुंच गए।

मिजोरम : केन्द्रीय सरकारी सेवा (पेंशन) नियम, 1972 के तहत नहीं आने वाले उन सरकारी कर्मचारियों के परिवारों को 20 लाख रुपये का मुआवजा दिया जाएगा, जिनकी अपनी ड्यूटी के दौरान कोविड-19 मरीज के संपर्क में आने से मृत्यु हो गई है।

नागालैंड : कोविड-19 महामारी को ध्यान में रखते हुए नागालैंड में स्कूल और कॉलेज में शुल्क माफ कर दिए गए हैं। छात्र संगठनों ने इस कदम का स्वागत करते हुए कहा कि इससे हजारों विद्यार्थियों को राहत मिलेगी। नागा टास्क फोर्स बेंगलुरु फॉर कोविड-19 बेंगलुरु में फंसे उन नागा नागरिकों को आश्रय उपलब्ध कराती है, जो विशेष ट्रेन छूटने के कारण बेंगलुरु में फंस गए थे।

सिक्किम : सिक्किम में एसटीएनएम अस्पताल के 32 स्वास्थ्य कर्मचारियों के उस पहले बैच को 14 दिन के लिए क्वारंटाइन में भेज दिया गया है, जो सिर्फ कोविड-19 मरीजों के उपचार में लगे हुए थे।

महाराष्ट्र : 692 नए मरीजों के पॉजिटिव पाए जाने के बाद राज्य में कुल मामले बढ़कर 62,228 तक पहुंच गए। कुल सक्रिय मामले 33,124 के स्तर पर हैं, जबकि राज्य में अभी तक कुल 2,098 मृत्यु हो चुकी हैं। वहीं महाराष्ट्र सरकार ने एक अहम फैसला लेते हुए राज्य भर में सार्वजनिक स्थलों पर तम्बाकू उत्पादों के सेवन, थूकने और धूम्रपान पर प्रतिबंध लगा दिया है।

गुजरात : 372 नए मामलों के साथ राज्य में कोविड-19 के मामलों की कुल संख्या बढ़कर 15,944 हो गई। वहीं अहमदाबाद में पिछले 24 घंटों में सबसे ज्यादा 253 मामले दर्ज किए गए, जबकि 16 जिलों में शुक्रवार को इकाई अंकों में मामले बढ़े। राज्य में अब कोविड-19 के कुल 6,355 सक्रिय मामले हैं। अभी तक श्रमिक एक्सप्रेस ट्रेनों सहित परिवहन के विभिन्न माध्यमों से गुजरात से 14 लाख से ज्यादा प्रवासी कामगारों को अपने गृह राज्यों को भेजा जा चुका है।

मध्य प्रदेश : राज्य में कोविड-19 के मामले 7,645 के स्तर पर हैं, जिनमें से 3,042 सक्रिय मामले हैं। राज्य सरकार ने मजदूरों को रोजगार उपलब्ध कराने के लिए एक विशेष योजना रोजगारसेतुका शुभारम्भ किया है। इस योजना के अंतर्गत मजदूरों को उद्योगों, निर्माण कार्यों और उनके कौशल के आधार पर अन्य गतिविधियों में रोजगार उपलब्ध कराया जाएगा।

राजस्थान : आज 49 नए मामले दर्ज किए गए, जिससे राज्य में कोविड-19 के कुल पॉजिटिव मामले बढ़कर 8,414 के स्तर पर पहुंच गए। इनमें से 5,290 मरीज स्वस्थ हो चुके हैं। सक्रिय मामलों की संख्या स्थिर बनी हुई है और पिछले छह दिनों में सुधार की दर में बढ़ोतरी देखने को मिली है।

छत्तीसगढ़ : राज्य में कोविड-19 से मौत का पहला मामला रायपुर में दर्ज किया गया। सक्रिय मामलों की संख्या 314 के स्तर पर है, वहीं अभी तक 100 मरीज स्वस्थ हो चुके हैं।

पीआईबी द्वारा जांचे गए तथ्य

http://164.100.117.97/WriteReadData/userfiles/image/image006N3UW.jpg

http://164.100.117.97/WriteReadData/userfiles/image/image007454R.jpg

http://164.100.117.97/WriteReadData/userfiles/image/image008BS76.jpg

 

*******

एसजी/एएम/एमपी/एसके



(Release ID: 1628051) Visitor Counter : 150