PIB Headquarters

पीआईबी का कोविड-19 पर दैनिक बुलेटिन

Posted On: 08 DEC 2020 5:36PM by PIB Delhi

Coat of arms of India PNG images free downloadhttps://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image0015IFJ.jpg

 

(पिछले 24 घंटों में कोविड-19 से संबंधित जारी प्रेस विज्ञप्तियां, पीआईबी फील्ड कार्यालयों से मिली जानकारियां और पीआईबी का फैक्ट चेक शामिल)

  • पांच महीने के अंतराल के बाद भारत में सबसे कम दैनिक नए मामले दर्ज किये गए
  • पिछले 24 घंटों में 26,567 नए मामले सामने आए जबकि 39,045 लोग ठीक हुए
  • सक्रिय मामले घटकर 3.83 लाख होने से सक्रिय रोगियों की संख्या 4 प्रतिशत के नीचे आ गई
  • देश में दर्ज होने वाली दैनिक मौतों की संख्या में लगातार गिरावट देखी जा रही है। पिछले 24 घंटे के दौरान देश में 400 से कम नई मौतें दर्ज की गईं।
  • रिकवरी दर 94.59 प्रतिशत पर पहुंची
  • भारत की कोविड वैक्सीन विकसित करने में अग्रणी भूमिका डॉ. हर्षवर्धन
  • #Unite2FightCorona

· #IndiaFightsCorona

https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image005FD8K.jpg

Image

पांच महीने के अंतराल के बाद भारत में सबसे कम दैनिक नए मामले दर्ज किये गए, कुल सक्रिय मामलों की संख्या गिरकर 3.83 लाख पर पहुंची, मौतों की संख्या में स्थिर गिरावट; मौत का दैनिक आंकड़ा 400 के नीचे

भारत ने कोविड के खिलाफ जारी अपनी जंग में एक महत्वपूर्ण उपलब्धि हासिल की है। पिछले 24 घंटों में नए पुष्ट किए गए मामले लगभग 5 महीनों के बाद पहली बार 27,000 (26,567) से नीचे आ गए हैं। पिछली बार 10 जुलाई, 2020 को 26,506 मामले सामने आए थे।एक अन्य उपलब्धि में, भारत में सक्रिय रोगियों की संख्या आज गिरकर 4 प्रतिशत के नीचे आ गई है। सक्रिय मामले घटकर 3.83 लाख पर पहुंच गए हैं। देश में कुल पॉजिटिव मामले 3,83,866 हैं और जो कुल मामलों का 3.96 प्रतिशत हिस्सा है। देश में पिछले चौबीस घंटों के दौरान 39,045 24 रोगी ठीक हुए हुए हैं। इसकी बदौलत सक्रिय मामलों की संख्या में कुल 12,863 की गिरावट हुई है। दैनिक नए ठीक होने वाले मामलों की बदौलत आज रिकवरी दर में भी सुधार आया और यह बढ़कर 94.59 प्रतिशत पर पहुंच गई है। अभी तक कुल 91,78,946 मरीज ठोक हो चुके हैं। ठीक होने वाले रोगियों की संख्या में 76.31 प्रतिशत का योगदान दस राज्यों / केंद्र शासित प्रदेशों का है। पिछले चौबीस घंटे के दौरान कोविड ठीक होने वाले रोगियों की संख्या में महाराष्ट्र 7,345 रोगियों की रिकवरी के साथ सबसे पहले स्थान है। इसके बाद केरल इस सूची में 4,705, जबकि दिल्ली 3,818 का नंबर आता है। दस राज्यों / केन्द्र शासित प्रदेशों ने नए मामलों में 72.50 प्रतिशत का योगदान दिया है।

पिछले 24 घंटे के दौरान केरल में 3,272 मामले दर्ज किए हैं। जबकि महाराष्ट्र में 3,075 नए मामले और पश्चिम बंगाल में 2,214 नए मामले दर्ज किए हैं। पिछले 24 घंटे के दौरान कुल 385 रोगियों की मौत हुई है जिसमें 75.58 प्रतिशत योगदान दस राज्यों / केंद्र शासित प्रदेशों का है। 16.36 प्रतिशत नई मौतें दिल्ली से हुई हैं, जहां 63 लोगों की मौत हुई है। पश्चिम बंगाल में भी 48 लोगों की मौत हुई जबकि महाराष्ट्र में 40 नई मौतें हुईं। देश में दर्ज होने वाली दैनिक मौतों की संख्या में लगातार गिरावट देखी जा रही है। पिछले 24 घंटे के दौरान देश में 400 से कम नई मौतें दर्ज की गईं।

 

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें

https://pib.gov.in/PressReleasePage.aspx?PRID=1679129

 

भारत की कोविड वैक्सीन विकसित करने में अग्रणी भूमिका डॉ. हर्षवर्धन

केंद्रीय विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी, पृथ्वी विज्ञान और स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने कल डीएसटी-सीआईआई भारत-पुर्तगाल प्रौद्योगिकी सम्मेलन-2020 में शिरकत करते हुए कहा “भारत में कोविड-19 की 30 वैक्सीन, विभिन्न चरणों के तहत विकसित हो रही हैं। इसमें दो वैक्सीन अंतिम चरण के परीक्षण में हैं। इसके तहत कोवैक्सीन को आईसीएमआर-भारत बॉयोटेक के सहयोग से विकसित किया जा रहा है, जबकि सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया कोविशील्ड विकसित कर रही है। भारत का प्रतिष्ठित संस्थान भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) वैक्सीन के परीक्षण का क्रियान्वन कर रहा है। इस समय पूरी दुनिया में वैक्सीन विकसित की जा रही है, उन सभी प्रमुख कंपनियों के क्लीनिकल ट्रॉयल भारत में किए जा रहे हैं। दुनिया की सबसे बड़ी वैक्सीन निर्माता कंपनी सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया, ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय की वैक्सीन का ट्रॉयल करने में सहयोग कर रही है। इसी तरह जाइडस कैडिला पीएच-2 ट्रॉयल कर रही है। जो कि पूरी तरह से स्वदेशी डीएनए वैक्सीन विकसित कर रही है। इसी तरह भारत की एक प्रमुख कंपनी डॉ रेड्डीज लैब्रोट्रीज, भारत में रूस की बनी वैक्सीन का वितरण करेगी। जो कि इस समय मनुष्यों पर होने वाले अंतिम परीक्षण के स्तर पर पहुंच गई है। यह वैक्सीन भी नियामक की स्वीकृति के बाद भारत में उपलब्ध होगी। विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्री ने इस बात का उल्लेख किया कि दुनिया में सबसे ज्यादा पेटेंट करने वाले देशों की सूची में टॉप-10 में भारत शामिल है। कोविड की चुनौती से निपटने के लिए भारत के प्रयासों का उल्लेख करते हुए उन्होंने कहा “भारत में 100 से ज्यादा स्टार्टअप सरकार के सहयोग से कोविड-19 की चुनौतियों से निपटने के लिए इनोवेटिव प्रोडक्ट और सॉल्यूशन विकसित करने की दिशा में काम कर रहे हैं।

 

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें

https://pib.gov.in/PressReleasePage.aspx?PRID=1678943

 

प्रधानमंत्री ने इंडिया मोबाइल कांग्रेस 2020 को संबोधित किया

प्रधानमंत्री श्री नरेन्‍द्र मोदी ने वीडियो कॉन्‍फ्रेंसिंग के माध्‍यम से वर्चुअल इंडिया मोबाइल कांग्रेस (आईएमसी) 2020 के उद्घाटन सत्र को संबोधित किया। आईएमसी 2020 का विषय : "समावेशी नवाचार- स्मार्ट, सुरक्षित, स्थायी" है। इसका उद्देश्य प्रधानमंत्री के 'आत्मनिर्भर भारत', 'डिजिटल समावेशिता', एवं 'सतत विकास, उद्यमिता और नवाचार' के विजन को बढ़ावा देने में मदद करना है। इसका उद्देश्‍य विदेशी और स्थानीय निवेश संचालित करना, दूरसंचार और उभरते हुए प्रौद्योगिकी क्षेत्रों में अनुसंधान तथा विकास को प्रोत्साहित करना भी है। इस आयोजन को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने दूरसंचार उपकरण, डिजाइन, विकास एवं विनिर्माण के लिए भारत को एक वैश्विक केंद्र बनाने के लिए मिलकर काम करने का आह्वान किया। उन्‍होंने यह चेतावनी दी कि प्रौद्योगिकीय उन्‍नयन के कारण हमारे पास हैंडसेट्स और गैजेट्स बार बार बदलने की संस्‍कृति है। प्रधानमंत्री ने कहा कि मोबाइल टेक्नोलॉजी के कारण हम लाखों भारतीयों को कई बिलियन डॉलर के लाभ प्रदान करने में सक्षम हैं। हम महामारी के दौरान गरीबों और कमजोर लोगों को शीघ्रता से मदद करने में सक्षम रहे और हम लाखों कैशलेस लेनदेन देख रहे हैं जो औपचारिकता तथा पारदर्शिता को प्रोत्साहित करता है। उन्होंने कहा कि हम टोल बूथों पर सहज संपर्क रहित बनाने में सक्षम होंगे। प्रधानमंत्री ने भारत में मोबाइल बनाने में प्राप्त सफलता पर संतोष व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि मोबाइल उत्पादन के लिए भारत एक पसंदीदा स्थान के रूप में उभर रहा है।

 

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें

https://pib.gov.in/PressReleasePage.aspx?PRID=1679085

 

इंडिया मोबाइल कांग्रेस में प्रधानमंत्री के संबोधन का मूल पाठ

 

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें

https://pib.gov.in/PressReleasePage.aspx?PRID=1679017

प्रधानमंत्री ने इन्‍वेस्‍ट इंडिया को बधाई दी

प्रधानमंत्री श्री नरेन्‍द्र मोदी ने संयुक्‍त राष्‍ट्र व्‍यापार और विकास सम्‍मेलन (यूएनसीटीएडी) द्वारा इन्‍वेस्‍ट इंडिया को वर्ष 2020 का संयुक्‍त राष्‍ट्र निवेश प्रोत्‍साहन पुरस्‍कार दिए जाने पर बधाई दी है। प्रधानमंत्री ने कहा, ‘‘यूएनसीटीएडी की ओर से प्रदान किए जाने वाले संयुक्‍त राष्‍ट्र निवेश प्रोत्‍साहन पुरस्‍कार को जीतने के लिए इन्‍वेस्‍ट इंडिया को बधाई। यह भारत को दुनिया का पसंदीदा निवेश गंतव्‍य बनाने और व्‍यापार करने में आसानी की स्थितियों में सुधार लाने की हमारी सरकार के प्रयासों का एक प्रमाण है।’’

 

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें

https://pib.gov.in/PressReleasePage.aspx?PRID=1678996

 

संयुक्त राष्ट्र ने भारत को निवेश प्रोत्साहन पुरस्कार 2020 का विजेता घोषित किया

संयुक्त राष्ट्र (यूएनसीटीएडी) ने इन्वेस्ट इंडिया (नेशनल इन्वेस्टमेंट प्रमोशन एजेंसी ऑफ इंडिया) को साल 2020 के संयुक्त राष्ट्र निवेश प्रोत्साहन पुरस्कार का विजेता घोषित किया है। पुरस्कार समारोह 7 दिसंबर, 2020 को जिनेवा में यूएनसीटीएडी मुख्यालय में हुआ। यह पुरस्कार दुनिया भर में निवेश संवर्धन एजेंसियों (आईपीए) की उत्कृष्ट उपलब्धियों और बेहतरीन अभ्यास को प्रतिबिंबित करता है।

 

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें

https://pib.gov.in/PressReleasePage.aspx?PRID=1679012

 

प्रधानमंत्री और कतर के अमीर महामहिम शेख तमीम बिन हमद अल-थानी के बीच टेलीफोन पर बातचीत

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने कतर के अमीर महामहिम शेख तमीम बिन हमद अल-थानी से टेलीफोन पर बातचीत की। प्रधानमंत्री ने कतर के आगामी राष्ट्रीय दिवस के लिए महामहिम अमीर को बधाई और शुभकामनाएं दी हैं। बधाई के लिए प्रधानमंत्री को धन्यवाद देते हुए महामहिम अमीर ने कतर में रह रहे भारतीय समुदाय के कतर के राष्ट्रीय दिवस समारोह के प्रति उत्साह की सराहना की। दोनों नेताओं ने दोनों देशों के बीच निवेश और ऊर्जा सुरक्षा के क्षेत्रों में मजबूत सहयोग के संबंध में चर्चा की और इस दिशा में हाल में हुए सकारात्मक घटनाक्रमों की समीक्षा की। दोनों नेताओं ने नियमित रूप से संपर्क में बने रहने और कोविड-19 महामारी से उत्पन्न जन स्वास्थ्य की परिस्थितियां सामान्य होने के बाद व्यक्तिगत रूप से मिलने पर सहमति व्यक्त की।

 

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें

https://pib.gov.in/PressReleasePage.aspx?PRID=1679122

 

प्रधानमंत्री ने फ्रांस के राष्‍ट्रपति महामहिम इमैनुएल मैक्रों से टेलीफोन पर बातचीत की

प्रधानमंत्री श्री नरेन्‍द्र मोदी ने कल फ्रांस के राष्‍ट्रपति महामहिम इमैनुएल मैक्रों से टेलीफोन पर बातचीत की। प्रधानमंत्री ने इस बातचीत में फ्रांस में हुए आतंकी हमलों के प्रति अपनी संवेदना व्‍यक्‍त की और आतंकवाद, उग्रवाद तथा कट्टरवाद के खिलाफ लड़ाई में फ्रांस के प्रति भारत के पूर्ण समर्थन को दोहराया। दोनों नेताओं ने अन्‍य द्विपक्षीय, क्षेत्रीय और आपसी हितों से संबद्ध वैश्विक मुद्दों- कोविड-19 वैक्‍सीन तक पहुंच और वहनीयता, कोरोना के बाद आर्थिक क्षेत्रों से जुड़े सुधारों, भारत-प्रशांत क्षेत्र में सहयोग, समुद्री सुरक्षा, रक्षा सहयोग, डिजिटल अर्थव्‍यवस्‍था और साइबर सुरक्षा, बहुपक्षीयता को बढ़ावा देने, जलवायु परिवर्तन और जैव विविधता के विषयों पर बातचीत की। प्रधानमंत्री ने वैश्विक स्‍तर पर कोरोना महामारी की स्थिति के सामान्‍य होने के बाद भारत में राष्‍ट्रपति मैक्रों का स्‍वागत करने की इच्‍छा भी जाहिर की।

 

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें

https://pib.gov.in/PressReleasePage.aspx?PRID=1679002

 

उपराष्ट्रपति के हस्तक्षेप के बाद केंद्र, चिकित्सा विशेषज्ञों का एक दल एलुरु भेज रहा है

केंद्र, आंध्र प्रदेश के एलुरु में पिछले कुछ दिनों में बच्चों के अज्ञात बीमारी के चलते अस्पताल में भर्ती होने के मामले में उपराष्ट्रपति श्री एम. वेंकैया नायडू द्वारा केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री श्री हर्ष वर्धन से बात करने के बाद चिकित्सा विशेषज्ञों का एक दल एलुरु भेज रहा है।

300 से अधिक बच्चों के बीमार होने की रिपोर्ट आने के बाद उप-राष्ट्रपति ने प्राथमिक सूचना के लिए सबसे पहले ज़िला अधिकारी से बातचीत की। बाद में उन्होंने एम्स, मंगलागिरी के निदेशक और एम्स, दिल्ली के निदेशक से बातचीत की। उपराष्ट्रपति को सूचित किया गया कि खून के नमूने परीक्षण के लिए एम्स, दिल्ली भेजे गए हैं। तदुपरान्त उपराष्ट्रपति ने श्री हर्षवर्धन से बातचीत कर प्रभावित बच्चों में बीमारी का पता लगाने और उसका उपचार उपलब्ध कराने के लिए सभी आवश्यक कार्रवाई करने को कहा। केंद्रीय मंत्री ने उन्हें बताया कि लैब रिपोर्ट प्राप्त होने के बाद बीमारी के कारणों का पता लगाने के लिए सभी आवश्यक कदम उठाए जाएंगे। केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री के साथ-साथ एम्स के निदेशक ने उप-राष्ट्रपति को आश्वस्त किया कि रक्त परीक्षण की रिपोर्ट आने के बाद बीमारी का पता लगने पर उपचार आरंभ किया जाएगा। बच्चों में चक्कर आने, बेहोश होने और सिरदर्द तथा उल्टी होने की समस्याएं आ रही हैं।

 

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें

https://pib.gov.in/PressReleasePage.aspx?PRID=1678928

 

पीआईबी के स्थानीय कार्यालयों से प्राप्त जानकारी

  • असम : राज्य में कल 166 और लोग कोविड-19 पॉजिटिव पाए गए जबकि 131 रोगियों को अस्पताल से छुट्टी दी गई। असम में अब कोविड-19 के कुल मामले बढ़कर 213925 हो गए हैं, कुल 209342 रोगियों को अस्पताल से छुट्टी दी गई है, 3585 सक्रिय मामले हैं और अब तक 995 लोगों की मृत्यु हो चुकी है।
  • केरल : कोविड प्रोटोकॉल का पालन करते हुए आज राज्य में त्रिस्तरीय स्थानीय निकाय चुनाव के पहले चरण में 70 प्रतिशत से अधिक मतदान हुआ। कोविड-19 महामारी फैलने के बाद राज्य में आयोजित होने वाला यह पहला चुनाव है। आज जिन पांच जिलों में मतदान हुआ उनमें शांतिपूर्वक रूप से सामान्य से तेज मतदान दर्ज किया गया। कोविड-19 के मतदान प्रतिशत पर पड़ने वाले प्रभाव की आशंका के बीच सभी बूथ में बड़ी संख्या में मतदान हुआ। डाक मतदाताओं के अतिरिक्त नियमित मतदाताओं के मतदान करने के बाद कोविड-19 रोगियों को मतदान करने की अनुमति दी गई। कोविड पॉजिटिव और सोमवार को दोपहर तीन बजे के बजे के बाद एकांतवास में जाने का निर्देश वाले लोगों को पीपीई किट पहनकर मतदान करने की अनुमति दी गई। अलाप्पुझा और पठानमथिट्टा में दो व्यक्ति मतदान बूथ में अचानक गिर गए और उन्हें मृत घोषित किया गया। मुख्य निर्वाचक अधिकारी टीका राम मीणा ने राजधानी में मतदाता सूची में अपना नाम गायब होने के बाद अधिकारियों के समक्ष शिकायत दर्ज कराई है।
  • तमिलनाडु : किसान प्रदर्शन के समर्थन में आज तमिलनाडु के पुदुकोट्टई, तिरुवारुर, माइलादुत्रयी, सिरकाजी, इरोड, सत्यमंगलम, कांजीपुरम, चेंगलपट्टू, तंजावुर, करूर सहित कई जिलों में लगभग पचास प्रतिशत दुकानें बंद रहीं। राज्य में कल कोरोना के 1312 नए मामले सामने आए, 1389 लोगों को अस्पताल से छुट्टी दी गई और 16 लोगों की मृत्यु हुई। तमिलनाडु में अब कोरोना के कुल 7,91,552 मामले हैं, 10,695 सक्रिय मामले,11,809 लोगों की मृत्यु और 7,69,048 लोगों को अस्पताल से छुट्टी दी गई है।
  • कर्नाटक : उच्च न्यायालय ने राज्य सरकार को कोविड-19 की स्थिति की आंकलन करने और 10 दिन के भीतर विद्यागम कार्यक्रम फिर से शुरू करने पर फैसला लेने का निर्देश दिया है। विद्यागम विशेष रूप से ग्रामीण और अर्ध-शहरी क्षेत्रों में बिना प्रौद्योगिकी और इंटरनेट की सुविधा वाले छात्रों के लिए एक कार्यक्रम है।
  • आंध्रप्रदेश : मुख्यमंत्री वाई. एस. जगनमोहन रेड्डी ने पश्चिमी गोदावरी जिले के एलूरु में रहस्मयी बीमारी के कारणों की पहचान के लिए की गई जांच के बारे में जानकारी प्राप्त की। अधिकारियों के अनुसार एम्स दल के स्वास्थ्य विशेषज्ञों द्वारा प्रभावित लोगों के प्रयोगशाला नमूनों से सीसे और निकल के तत्व मिले हैं। आईआईसीटी द्वारा जांच के परिणाम भी शीघ्र सामने आएँगे। विश्व स्वास्थ्य संगठन के दो प्रतिनिधि भी रहस्मयी बीमारी के कारणों का पता लगाने के लिए एलूरु पहुचे।
  • तेलंगाना : राज्य में बीते चौबीस घंटे में कोरोना के 682 नए मामले सामने आए, 761 लोग स्वस्थ हुए और 3 लोगों की मृत्यु हई। तेलंगाना में कोरोना के अब कुल 2,74,540 मामले, 7,696 सक्रिय मामले, 1477 लोगों की मृत्यु और 2,65,367 लोगों को उपचार के बाद छुट्टी दी गई है।
  • महाराष्ट्र : राज्य में हर दिन सामने आने वाले कोविड-19 के मामलों में गिरावट आ रही है, लेकिन मुंबई और आसपास के क्षेत्रों वाले मुंबई मेट्रोपोलिटन क्षेत्र (एमएमआर) में बढ़ोत्तरी दर्ज हो रही है। एमएमआर लगातार महाराष्ट्र में कोविड-19 से सबसे बुरी तरह प्रभावित क्षेत्रों में बना हुआ है। सात दिसंबर को सामने आए कोविड-19 के कुल 3,075 मामलों में से 1,050 मामले एमएमआर क्षेत्र में दर्ज किए गए और यह दिन के कुल मामलों का 34.14 प्रतिशत था।
  • गुजरात : नोवल कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए अहमदाबाद में रात का कर्फ्यू सोमवार को बढ़ा दिया गया। अहमदाबाद में रात का कर्फ्यू 23 नवंबर से लगाया गया था और इसे 7 दिसंबर तक बढ़ाया गया था। सोमवार सुबह एक नई अधिसूचना जारी कर रात के कर्फ्यू को अग्रिम आदेश तक बढ़ाने की घोषणा की गई। अधिसूचना में कुछ खास सेवाओं में छूट की घोषणा भी की गई है। नए आदेश के अनुसार पुलिसकर्मी ,नागरिक सुरक्षा, होमगार्ड, केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल, अग्नि और आपातकालीन सेवा, मीडिया संस्थान, एटीएम संचालन और निजी सुरक्षा एजेंसियों को छूट दी गई है।
  • राजस्थान : राज्य में 19 और लोगों की कोरोना से मृत्यु होने के बाद अब तक 2,448 लोगों की मृत्यु हो चुकी है। राजस्थान में कोरोना के 1,927 नए मामले आने के बाद कुल मामले 2,82,512 हो गए हैं। राज्य में अब कोविड-19 के 21,671 सक्रिय मामले हैं और अब तक 2,58,393 लोग स्वस्थ हो चुके हैं। 1,927 नए मामलो में से जयपुर से 475, जोधपुर से 203, कोटा से 137, भरतपुर से 96, नागौर से 89, उदयपुर से 84 और अलवर से 78 मामले सामने आए।
  • मध्यप्रदेश : राजधानी भोपाल और व्यावसायिक केंद्र इंदौर में सोमवार से बाजार कुछ ओर छूट के साथ खुल सकेंगे। राज्य में कोरोना के मामले बढ़ने के कारण पहले रात 8 बजे तक बाजार खुलने की समय सीमा को बढ़ाकर अब रात 10 बजे तक कर दिया गया है। मध्यप्रदेश में सोमवार को कोविड-19 के 1,307 नए मामले दर्ज होने के बाद कुल मामले 2,15,957 हो गए। बीते चौबीस घंटे में 10 और लोगों की मृत्यु हुई और कुल 1,245 रोगियों को अस्पताल से छुट्टी दी गई। राज्य में अब तक 1,99,167 लोग स्वस्थ हो चुके हैं।
  • छत्तीसगढ़ : राज्य में कोविड-19 की विभिन्न जांच के लिए दरो में कमी गई है। नई दरें तुरंत प्रभाव से सभी निजी अस्पतालों और पैथोलॉजी केंद्र में लागू होंगे। छत्तीसगढ़ के स्वास्थ्य विभाग ने इस संबंध में एक आदेश जारी किया है। आरटीपीसीआर जांच की दर 1600 रूपए से घटाकर 750 रूपए कर दी गई है। इसके साथ ही रैपिड एंटीजन जांच अब 400 रूपए में कराई जा सकेगी। ट्रू नेट जांच अब 1500 रूपए में होगी।
  • गोवा : राज्य में सोमवार को कोरोना के 90 नए मामले सामने आने के बाद कुल मामले 48,776 हो गए, जबकि 3 रोगियों की मृत्यु हुई और 154 लोग स्वस्थ हुए। गोवा में अब तक 701 लोगों की मृत्यु हो चुकी है जबकि 46,778 लोगों के स्वस्थ होने के बाद सक्रिय मामले 1,297 रह गए हैं। गोवा में सोमवार को 1,575 नमूनों की जांच की गई।

पीआईबी द्वारा जांचे गए तथ्य

https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image0079QM4.png

 

https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image008577H.png

 

Image

Image

 

एमजी/एएम/एजे/डीसी

 



(Release ID: 1679325) Visitor Counter : 64