वाणिज्‍य एवं उद्योग मंत्रालय

संयुक्त राष्ट्र ने भारत को निवेश प्रोत्साहन पुरस्कार 2020 का विजेता घोषित किया

Posted On: 07 DEC 2020 7:20PM by PIB Delhi

संयुक्त राष्ट्र (यूएनसीटीएडी) ने इन्वेस्ट इंडिया (नेशनल इन्वेस्टमेंट प्रमोशन एजेंसी ऑफ इंडिया) को साल 2020 के संयुक्त राष्ट्र निवेश प्रोत्साहन पुरस्कार का विजेता घोषित किया है। पुरस्कार समारोह 7 दिसंबर, 2020 को जिनेवा में यूएनसीटीएडी मुख्यालय में हुआ।

यह पुरस्कार दुनिया भर में निवेश संवर्धन एजेंसियों (आईपीए) की उत्कृष्ट उपलब्धियों और बेहतरीन अभ्यास को प्रतिबिंबित करता है। इसका मूल्यांकन 180 निवेश संवर्धन एजेंसियों द्वारा किए गए कार्य के यूएनसीटीएडी  द्वारा मूल्यांकन पर आधारित था।

कोविड-19 महामारी ने निवेश प्रोत्साहन एजेंसियों के लिए कई चुनौतियां खड़ी की हैं। उन्हें नियमित निवेश प्रोत्साहन और सुविधा से ध्यान हटाकर संकट प्रबंधन, सरकारी आपातकालीन व आर्थिक राहत उपायों की अधिसूचना, संकट सहायता सेवाओं के प्रावधान और राष्ट्रीय कोविड-19 व्यापार प्रतिक्रिया प्रयासों में योगदान की ओर कर दिया है। यह सब तब किया जा रहा था जब एजेंसियों के कार्यालय बंद थे, सारे कार्य ऑनलाइन हो रहे थे और कर्मचारियों को घर से काम करने को कहा गया था। मार्च 2020 में, यूएनसीटीएडी ने महामारी को देखते हुए आईपीए की प्रतिक्रिया की निगरानी के लिए एक टीम का गठन किया। यूएनसीटीएडी ने अप्रैल और जुलाई 2020 में आईपीए ऑब्जर्वर प्रकाशनों में निवेश संवर्धन एजेंसियों के बेहतरीन कार्यों की सूचना दी। महामारी को लेकर आईपीए की प्रतिक्रिया 2020 के संयुक्त राष्ट्र निवेश प्रोत्साहन पुरस्कार के मूल्यांकन का आधार बनी।

यूएनसीटीएडी ने अपने प्रकाशन में इन्वेस्ट इंडिया की बेहतरीन गतिविधियों जैसे कि बिजनेस इन्युनिटी प्लेटफॉर्म, एक्सक्लुसिव इन्वेस्टमेंट फोरम वेबिनार सीरीज, सोशल मीडिया पर सक्रियता और कोविड से निपटने के लिए गठित समूहों (जैसे कि व्यापार पुनर्निर्माण, स्टैकहोल्डर आउटरीच और सप्लायर आउटरीच) पर प्रकाश डाला। इन्वेस्ट इंडिया ने यूएनसीटीएडी के उच्च-स्तरीय सत्रों में निवेश प्रोत्साहन, सुविधा और प्रतिधारण के लिए दीर्घकालिक रणनीतियों और कार्य प्रणालियों को साझा किया।

संयुक्त राष्ट्र निवेश प्रोत्साहन पुरस्कार, निवेश प्रोत्साहन एजेंसियों के लिए सबसे प्रतिष्ठित पुरस्कार है। यूएनसीटीएडी एक केंद्रीय एजेंसी है, जो आईपीए के प्रदर्शन की निगरानी करती है और वैश्विक सर्वोत्तम कार्य प्रणालियों की पहचान करती है। जर्मनी, दक्षिण कोरिया और सिंगापुर यह पुरस्कार जीत चुके हैं।

इन्वेस्ट इंडिया के एमडी और सीईओ श्री दीपक बाग्ला ने कहा कि यह पुरस्कार माननीय प्रधानमंत्री के मेकिंग इंडिया को पसंदीदा निवेश गंतव्य बनाने की दिशा में एक वसीयतनामा है। यह उनके विजन आसान जीवन, व्यापार में सहजता और आत्मनिर्भर भारत की परिकल्पना का परिणाम है।

******
 

एमजी/एएम/एसजे/डीसी



(Release ID: 1679012) Visitor Counter : 226