PIB Headquarters

कोविड-19 पर पीआईबी का दैनिक बुलेटिन

Posted On: 11 SEP 2020 6:34PM by PIB Delhi

Coat of arms of India PNG images free downloadhttp://164.100.117.97/WriteReadData/userfiles/image/image001JO7N.jpg

 

  • कोविड-19 से अब तक लगभग 35,42,663 लाख रोगी ठीक हो गए हैंऔर रिकवरी दर 77.65 प्रतिशत पर पहुंच गई है
  • भारत की 60 प्रतिशत दैनिक नई रिकवरी पांच राज्‍यों से हो रही है
  • देश में सक्रिय मामलों की कुल संख्‍या 9,43,480
  • केन्‍द्रीय स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय ने राज्‍यों/ केन्‍द्र शासित प्रदेशों से यह सुनिश्चित करने का अनुरोध किया कि राज्‍यों के बीच मेडिकल ऑक्‍सीजन की आवाजाही पर किसी भी प्रकार का प्रतिबंध न लगाया जाए
  • उपराष्ट्रपति ने लोगों को लापरवाही न बरतने और कोविड-19 पर आवश्यक सावधानी जारी रखने की सलाह दी
  • सरकार ने जीवन प्रमाण-पत्र जमा करने के मौजूदा समय सीमा में ढील दी
  • विशेषज्ञ समिति बैंक से ऋण लेने वाले को राहत देने का आंकलन करने में सरकार की सहायता करेगी

 

(पिछले 24 घंटों में जारी कोविड-19 से संबंधित प्रेस विज्ञप्तियां, पीआईबी के क्षेत्रीय कार्यालयों से मिली जानकारियां और पीआईबी द्वारा जांचे गए तथ्य शामिल हैं)

https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image002OXHU.jpg

https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image001CMU5.jpg

 

भारत की 60 प्रतिशत दैनिक नई रिकवरी पांच राज्‍यों से हो रही है,कोविड-19 से अब तक लगभग 35.5 लाख रोगी ठीक हो गए हैं

भारत में रोगियों के ठीक होने की संख्‍या लगातार बढ़ रही है। देश में पिछले 24 घंटों के दौरान कुल 70,880 रोगी ठीक हुए हैं। महाराष्‍ट्र में ही एक दिन में 14,000 से अधिक रोगी ठीक हुए हैं, जबकि आंध्र प्रदेश में एक दिन में 10,000 से अधिक रोगी ठीक हुए हैं। इससे ठीक हुए रोगियों की संख्‍या 35,42,663 हो गई है और रिकवरी दर 77.65 प्रतिशत पर पहुंच गई है। 60 प्रतिशत ठीक हुए नए रोगी पांच राज्‍यों अर्थात महाराष्‍ट्र, तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश, कर्नाटक और उत्तर प्रदेश से हैं। पिछले 24 घंटों में 96,551 नए मामले सामने आए हैं। इसमें से अकेले महाराष्ट्र से 23,000 से अधिक और आंध्र प्रदेश से 10,000 से अधिक मामले सामने आए हैं। नए मामलों में लगभग 57 प्रतिशत मामले केवल पांच राज्यों से सामने आए हैं। ये वही राज्य हैं, जो नए ठीक हुए रोगियों के मामलों में भी 60 प्रतिशत योगदान दे रहे हैं। आज की तारीख देश में सक्रिय मामलों की कुल संख्‍या 9,43,480 हो गई है। महाराष्‍ट्र का इस तालिका में पहला स्‍थान है, जहां 2,60,000 से अधिक मामले सामने आए हैं। इसके बाद कर्नाटक में 1,00,000 से अधिक सक्रिय मामले सामने आए हैं। कुल सक्रिय मामलों में से लगभग 74 प्रतिशत सबसे अधिक प्रभावित राज्‍यों महाराष्‍ट्र, कर्नाटक और आंध्र प्रदेश से सामने आए हैं। इन राज्‍यों का कुल सक्रिय मामलों में 48 प्रतिशत से अधिक योगदान है।पिछले 24 घंटों में 1209 मौत दर्ज हुई हैं। कर्नाटक में 495 लोगों की जान गई है जबकि कर्नाटक में 129 और उत्तर प्रदेश में 94 लोगों ने जान गंवाई है।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-https://pib.gov.in/PressReleasePage.aspx?PRID=1653277

 

केन्‍द्रीय स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय ने राज्‍यों/ केन्‍द्र शासित प्रदेशों से यह सुनिश्चित करने का अनुरोध किया कि राज्‍यों के बीच मेडिकल ऑक्‍सीजन की आवाजाही पर किसी भी प्रकार का प्रतिबंध न लगाया जाए

केन्‍द्रीय स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय की जानकारी में आया है कि कुछ राज्‍य विभिन्‍न अधिनियमों के तहत प्रावधानों का प्रयोग करके ऑक्‍सीजन की अंतरराज्‍यीय मुक्त आवाजाही को रोकने की कोशिश कर रहे हैं। इसके अलावा, वे अपने राज्‍य में स्थित विनिर्माताओं/आपूर्तिकर्ताओं को ऑक्‍सीजन की आपूर्ति केवल राज्‍यों के अस्‍पतालों के लिए ही करने के लिए भी मजबूर कर रहे हैं। इस बात को ध्‍यान में रखते हुए स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय ने दोहराया है कि कोविड के गंभीर रोगियों के इलाज के लिए अस्‍पतालों में ऑक्‍सीजन का महत्‍वपूर्ण स्‍थान है। राज्‍यों/केन्‍द्र शासित प्रदेशों को लिखे पत्र में केन्‍द्रीय स्‍वास्‍थ्‍य सचिव ने इस बात पर जोर दिया है कि मेडिकल ऑक्‍सीजन की पर्याप्‍त और बाधारहित आपूर्ति कोविड-19 के मध्‍यम और गंभीर मामलों के इलाज के लिए एक महत्‍वपूर्ण जरूरत है। स्‍वास्‍थ्‍य सचिव ने सभी राज्‍यों/ केन्‍द्र शासित प्रदेशों से यह सुनिश्चित करने का अनुरोध किया कि राज्‍यों के बीच मेडिकल ऑक्‍सीजन की आवाजाही पर कोई प्रतिबंध लागू न किया जाए। उन्‍होंने इस बात पर जोर दिया कि अस्‍पताल में भर्ती हर रोगी को ऑक्‍सीजन उपलब्‍ध कराना प्रत्‍येक राज्‍य की जिम्‍मेदारी पूरे देश में ऑक्‍सीजन की पर्याप्‍त मात्रा में आपूर्ति तथा अन्‍य उपायों को शामिल करके अस्‍पताल में भर्ती होने वाले मध्‍यम और गंभीर किस्‍म के मामलों की प्रभावी नैदानिक देखभाल सुनिश्चित हुई है। अपनाई गई रणनीतियों की सक्रियता से रोगियों के ठीक होने की दर में बढ़ोतरी हुई है और मामला मृत्‍युदर में (मौजूदा दर 1.67 प्रतिशत) काफी गिरावट आई है। आज की तिथि के अनुसार 3.7 प्रतिशत से कम सक्रिय रोगी ऑक्‍सीजन सपोर्ट पर हैं।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-https://pib.gov.in/PressReleasePage.aspx?PRID=1653299

 

कोरोना वायरस (SARS-CoV-2) के विरुद्ध एंटीबॉडी की जांच के लिए सीएसआईआर-सीडीआरआई, लखनऊ में सीरोलॉजिकल परीक्षण

सीएसआईआर-सीडीआरआई (केन्द्रीय औषधि अनुसंधान संस्थान) एक शोध अध्ययन कर रहा है जिसमें लोगों में SARS-CoV-2 के खिलाफ एंटीबॉडी की जांच के लिए परीक्षण किया जा रहा है। सीरोलॉजिकल परीक्षण 9-11 सितंबर से आयोजित किया गया। यह सीरोलोजिकल परीक्षण सभी सीएसआईआर कर्मचारियों और छात्रों के लिए मुफ्त एवं स्वैच्छिक था।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-https://pib.gov.in/PressReleasePage.aspx?PRID=1653350

 

एनईपी 2020 के तहत ‘21वीं सदी में स्कूली शिक्षा’ पर सम्मेलन में प्रधानमंत्री मोदी का संबोधन

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने आज एनईपी 2020 के तहत ‘21वीं सदी में स्कूली शिक्षा’ पर सम्मेलन को वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए संबोधित किया। इस अवसर पर प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि राष्ट्रीय शिक्षा नीति- 2020 21वीं सदी के भारत को एक नई दिशा देने जा रही है और हम उस क्षण का हिस्सा बन रहे हैं जो हमारे देश के भविष्य के निर्माण की नींव रख रहा है। उन्होंने कहा कि इन तीन दशकों में शायद ही हमारे जीवन का कोई भी पहलू एकसमान बना रहा हो लेकिन हमारी शिक्षा प्रणाली अब भी पुरानी व्यवस्था के तहत चल रही है। प्रधानमंत्री ने कहा कि नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति नए भारत की नई आकांक्षाओं और नए अवसरों को पूरा करने का एक साधन है।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-https://pib.gov.in/PressReleasePage.aspx?PRID=1653353

 

मॉनसून सत्र से पहले राज्यसभा सभापति श्री वेंकैया नायडू ने कराई कोविड-19 की जांच

14 सितंबर 2020 से शुरू हो रहे संसद के आगामी मॉनसून सत्र की तैयारियों के बीच राज्यसभा सभापति श्री एम. वेंकैया नायडू ने आज कोविड-19 की जांच करवायी। राज्यसभा सदस्यों के लिए जारी की गई एडवाइजरी के अनुसार आगामी सत्र में भाग लेने से पहले सभी सदस्यों को कोविड-19 जांच (आरटी-पीसीआर) करवाना अनिवार्य है। मॉनसून सत्र शुरू होने से 72 घंटे पहले सदस्यों को कोविड-19 जांच करवानी होगी, जिसे सरकार द्वारा मान्यता प्राप्त किसी भी अस्पताल, प्रयोगशाला या संसद भवन परिसर में करवाया जा सकता है।सदस्यों की सुविधा के लिए संसद भवन के उप भवन (पार्लियामेंट एनेक्सी) में आज से तीन परीक्षण केंद्र शुरू किए गए हैं। सदस्यों से आग्रह किया गया है कि अपनी जांच रिपोर्ट आधिकारिक ई-मेल द्वारा पहले से राज्यसभा सचिवालय को भेज दें, ताकि संसद भवन परिसर में संसद सत्र के दौरान प्रवेश करने में उन्हें किसी तरह की असुविधा का सामना न करना पड़े।इसी तरह से संसद सत्र के दौरान सदस्यों के आस-पास उपस्थित रहने वाले उन सभी संसद सचिवालय कर्मचारियों और अन्य एजेंसियों के कर्मियों को भी आरटी पीसीआर टेस्ट करवाने के निर्देश दिए गए हैं।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-https://pib.gov.in/PressReleasePage.aspx?PRID=1653446

 

उपराष्ट्रपति ने नैतिक मूल्यों की शिक्षा पर बल दिया,लोगों से कोविड 19 के खिलाफ बिना ढील दिए पूरी सावधानी बरतने को कहा

उपराष्ट्रपति श्री एम वेंकैया नायडू ने आज व्यक्ति के समग्र विकास के लिए नैतिक मूल्यों की शिक्षा पर बल दिया। उन्होंने कहा कि नैतिक मूल्यों की शिक्षा हमारी शिक्षा प्रणाली का अभिन्न अंग होना चाहिए।उपराष्ट्रपति आज रामचन्द्र मिशन तथा भारत और भूटान के लिए संयुक्त राष्ट्र सूचना केन्द्र द्वारा सम्मिलित रूप से आयोजित हार्टफुलनेस अखिल भारतीय निबंध लेखन के ऑनलाइन शुभारम्भ के अवसर को संबोधित कर रहे थे जो जुलाई से नवम्बर के बीच प्रतिवर्ष संयुक्त राष्ट्र के अंतरराष्ट्रीय युवा दिवस के अवसर पर आयोजित किया जाता है।उपराष्ट्रपति ने इस प्रकार के कदमों की सराहना करते हुए कहा कि ऐसे आयोजन युवाओं को सोचने के लिए प्रेरित करते हैं जिससे वे अपने जीवन को सार्थक सकारात्मक बना सकें। नई शिक्षा नीति 2020 में नैतिक शिक्षा को शामिल किए जाने पर प्रसन्नता व्यक्त करते हुए उन्होंने कहा कि नैतिक शिक्षा प्राचीन काल से ही हमारी शिक्षा पद्धति का अभिन्न हिस्सा रही है।कोविड महामारी की चर्चा करते हुए उपराष्ट्रपति ने कहा कि राष्ट्रों ने संकल्प शक्ति दिखाई है और सम्मिलित रूप से इस आपदा से उबरने का प्रयास कर रहे हैं। उन्होंने कहा आपदा के समय ही मनुष्य के सच्चे चरित्र की पहचान होती है, कोई भी आपदा इतनी कठिन नहीं होती जिसका समाधान सही नियत और मूल्यों के साथ सम्मिलित रूप से न किया जा सके। श्री नायडू ने कहा कि महामारी के कारण जीवन में तनाव और चिंता पैदा हुई है जिसका निदान परिवार के साथ रह कर, ध्यान द्वारा किया जा सकता है।उन्होंने महामारी की इस अवधि में जरूरतमंदों को सहायता और सांत्वना देने की आवश्यकता पर बल देते हुए कहा कि यदि आप दूसरों के लिए जीते हैं तो आप दीर्घायु होते हैं। उन्होंने लोगों से बिना ढील दिए कोविड के खिलाफ पूरी सावधानी बरतने को कहा। श्री वेंकैया नायडू ने आशा व्यक्त कि शीघ्र ही टीके के परीक्षण का सफल परिणाम आएगा और हम वायरस को परास्त करने में सफल होंगे।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें- https://pib.gov.in/PressReleasePage.aspx?PRID=1653317

 

सरकार ने जीवन प्रमाण-पत्र जमा करने के मौजूदा समय सीमा में ढील दी

पूर्वोत्तर क्षेत्र विकास राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार),प्रधानमंत्री कार्यालय, कार्मिक,लोक शिकायत, पेंशन,परमाणु ऊर्जा और अंतरिक्ष राज्यमंत्री डॉ. जितेंद्र सिंह ने कहा कि बुजुर्ग लोगों को बड़ी राहत देते हुए सरकार ने जीवन प्रमाण-पत्र (लाइफ सर्टिफिकेट) जमा करने की मौजूदा समय-सीमा में ढील दी है। केंद्र सरकार के सभी पेंशनभोगी 1 नवंबर, 2020 से 31 दिसंबर 2020 तक जीवन प्रमाण पत्र प्रस्तुत कर सकते हैं। पहले पेंशन की निरंतरता बनाए रखने के लिए जीवन प्रमाण पत्र जमा करने का काम नवंबर के महीने तक ही हुआ करता था। हालांकि,80 वर्ष या उससे अधिक आयु वर्ग के पेंशनभोगी 1 अक्टूबर, 2020 से 31 दिसंबर, 2020 तक जीवन प्रमाण पत्र प्रस्तुत कर सकते हैं। इस विस्तारित अवधि के दौरान पेंशन प्रदाता प्राधिकरण (पीडीए) द्वारा निर्बाध भुगतान जारी रखा जाएगा। केंद्रीय मंत्री डॉ. जितेंद्र सिंह ने कहा कि इस बारे में फैसला जारी कोविड-19 महामारी और कोरोना वायरस की चपेट में बुजुर्ग लोगों के जल्द आने की आशंका के मद्देनज़र लिया गया।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-https://pib.gov.in/PressReleasePage.aspx?PRID=1653422

 

केन्द्रीय गृह मंत्री श्री अमित शाह ने वीडियो कॉन्‍फ्रेसिंग के ज़रिए गांधीनगर जिला और शहर में 15.01 करोड़ रुपये के विभिन्न विकास कार्यों का उद्घाटन और लोकार्पण किया

केन्द्रीय गृह मंत्री श्री अमित शाह ने कल वीडियो कॉन्‍फ्रेसिंग के ज़रिए गांधीनगर जिला और शहर में 15.01 करोड़ रुपये के विभिन्न विकास कार्यों का उद्घाटन और लोकार्पण किया। उन्होंने 119.63 करोड़ रुपए की विभिन्न विकास परियोजनाओं का शिलान्यास भी किया। इसमें स्मार्ट सिटी योजना,बागों का उन्नीयन,सड़कों को चौड़ा करना और बालिका विद्यालय में नए कक्ष का निर्माण आदि सम्मिलित है। ये विकास परियोजनाएं गांधीनगर के विकास को गति देंगी। गुजरात के उपमुख्यमंत्री श्री नितिन पटेल भी समारोह में वीडियो कॉन्‍फ्रेंसिग के द्वारा रुपाल गांव से शामिल हुए। इस अवसर पर अपने संबोधन में श्री अमित शाह ने कहा कि मुझे विश्वास है कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में गांधीनगर को एक आदर्श लोकसभा बनाने के लिए हम सभी प्रयासरत रहेंगे। उन्होंने कहा कि राष्ट्र प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में कोरोना के विरुद्ध लड़ाई लड़ रहा है। सतत प्रयास के परिणामस्वरूप मृत्यु दर में कमी आई है और कोरोना से स्वस्थ होने की दर में सुधार हुआ है। श्री अमित शाह ने कहा कि जनजागरुकता ही कोरोना से लड़ाई में एकमात्र समाधान है। उन्होंने लोगों से सामाजिक दूरी का कड़ाई से पालन करने की अपील भी की।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-https://pib.gov.in/PressReleasePage.aspx?PRID=1653075

विशेषज्ञ समिति बैंक से ऋण लेने वाले को राहत देने का आंकलन करने में सरकार की सहायता करेगी

उच्चतम न्यायालय में ब्याज पर राहत और ब्याज पर ब्याज राहत और अन्य संबंधित मुद्दों पर गजेन्द्र शर्मा बनाम केंद्र सरकार और अन्य पर चल रही सुनवाई के दौरान विभिन्न चिंता व्यक्त की गई है। सरकार ने इस मुद्दे के संपूर्ण आंकलन के लिए विशेषज्ञ समिति का गठन किया है। समिति का गठन भारत के पूर्व नियंत्रक और महालेखा परीक्षक श्री राजीव महर्षि की अध्यक्षता में किया गया है। समिति एक सप्ताह के भीतर अपनी रिपोर्ट सौंपेगी।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-https://pib.gov.in/PressReleasePage.aspx?PRID=1653099

 

कोविड-19 के परिणामस्वरुप उत्पन्न समस्याओं का हल ढूंढने के लिए साथ मिलकर काम करने की जरूरत

श्रम एवं रोजगार राज्यमंत्री संतोष गंगवार ने कोविड-19 महामारी के चलते पैदा हुई समस्याओं का समाधान ढूंढने के लिए सभी जी-20 देशों से मिलकर काम करने का आह्वान किया। श्री गंगवार जी-20 देशों के श्रम एवं रोजगार मंत्रियों की एक वर्चुअल बैठक को वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से कल शाम को संबोधित कर रहे थे।उन्होंने रेखांकित किया कि कोविड-19 महामारी ने हमारे काम करने के तौर-तरीकों को बदल दिया है।कोविड-19 महामारी के प्रभाव को नियंत्रित करने के उपायों का जिक्र करते हुए उन्होंने भारत के उन प्रयासों को रेखांकित किया जिसके अंतर्गत कामगारों की समस्याओं का निराकरण करने के लिए भारत में कार्य प्रदाताओं को मजदूरों का भुगतान करने के लिए प्रोत्साहन दिया गया है। श्री गंगवार ने यह भी कहा कि प्रवासी मजदूरों को तत्काल सहायता उपलब्ध कराने के लिए भारत में अस्थाई शिविर बनाए गए, खाद्य एवं दवाओं की आपूर्ति का प्रबंध किया गया।श्री गंगवार ने बैठक में यह भी बताया कि भारत में ‘एक राष्ट्र, एक राशन कार्ड’ योजना का आरंभ किया। जी-20 देशों की बैठक में कोविड-19 और इसके दुष्प्रभावों पर विचार-विमर्श किया गया और श्रम बाजार पर कोविड-19 के प्रभावों को कम करने के उपायों का घोषणा पत्र में जिक्र किया गया।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-https://pib.gov.in/PressReleasePage.aspx?PRID=1653305

 

पत्र सूचना कार्यालय के क्षेत्रीय कार्यालयों से मिली जानकारियां

 

चंडीगढ़ : केंद्रशासित प्रदेश चंडीगढ़ के प्रशासक ने सभी तीनों स्वास्थ्य संस्थानों को जांच बढ़ाने,बेड की संख्या अधिक करने और नाज़ुक रोगियों की व्यक्तिगत देखभाल करने का निर्देश दिया है। उन्होंने सभी जनप्रतिनिधियों को अपने क्षेत्रों में लक्षण वाले और संदिग्ध रोगियों के बारे में जानकारी जुटाने और स्वास्थ्य अधिकारियों को सूचित करने की अपील भी है। इससे शीघ्र पहचान और उपचार संभव हो सकेगी और मृत्यु दर को कम किया जा सकेगा। कोविड के विरुद्ध लड़ाई में शामिल होना नागरिकों का भी कर्तव्य है और उन्हें प्रशासन के साथ हाथ मिलाकर सहयोग करना चाहिए

पंजाब : राज्य के स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्री बलबीर सिंह सिंधु ने लोगों से भावुक अपील करते हुए कोविड की जांच के लिए आगे आने का अनुरोध किया है। उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी के विरुद्ध लड़ाई में रोगियों द्वारा अस्पताल में देरी से सूचना देना चिंता का विषय है। कोविड-19 महामारी को दूर रखने के लिए केवल जागरूकता बेहद आवश्यक है और इस लड़ाई में हर व्यक्ति को सावधानियों के बारे में सतर्क होकर अहम भूमिका निभानी है।

महाराष्ट्र : मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कहा है कि आने वाले दिनो में कोविड-19 के मामले बढ़ने की संबंधी विश्व स्वास्थ्य संगठन की चेतावनी के मद्देनज़र राज्य सरकार ने 80 प्रतिशत ऑक्सीजन सिलेंडर अस्पतालों को और 20 प्रतिशत उद्योगों को देने का निर्णय लिया है। राज्य में गुरुवार को एक दिन में अब तक के दूसरे सबसे ज्यादा 23,446 मामले सामने आए। राज्य में अब कुल 9,90,795 मामले हैं। महाराष्ट्र में 2.61 लाख सक्रिय रोगी हैं,इनमें पुणे जिले में 69,456,ठाणे में 28,460 और मुंबई में 26,629 सक्रिय रोगी हैं। 

गुजरात : राज्य में 150 से अधिक डॉक्टर कोविड-19 से संक्रमित मिले हैं। इनमें 100 से अधिक डॉक्टर राजकोट में और 50 से अधिक डॉक्टर एएमसी द्वारा अहमदाबाद में संचालित हॉस्पिटल में कोरोना संक्रमित पाए गए हैं। राज्य में इस समय 1,800 डॉक्टर कोविड ड्यूटी में कार्यरत हैं। डॉक्टर इस समय अग्रिमपंक्ति योद्धा हैं और महामारी की स्थिति से लड़ने में नागरिकों की सहायता करने में उनकी भूमिका सबसे अहम है। गुजरात में गुरुवार को कोरोना के 1,332 नए मामले सामने आए और राज्य में इस समय 16,198 सक्रिय मामले हैं। 

राजस्थान : राज्य में पॉजिटिविटी दर में बढ़ोत्तरी हुई है और अगस्त में 5 प्रतिशत से बढ़कर सितंबर में यह 6 प्रतिशत से अधिक हो गई है। स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ों के अनुसार अगस्त में प्रत्येक 100 जांच में से 5 और सितंबर में 6 लोग कोरोना पॉजिटिव मिले। अगस्त में प्रतिदिन औसतन 25,407 जांच की गई,जबकि सितंबर में प्रतिदिन औसतन 25,336 लोगों की जांच की गई। राज्य में बीते 24 घंटो में कोरोना के 740 नए मामले सामने आए। राज्य में अब कुल 98,116 मामले और 16,427 सक्रिय मामले हैं।

मध्यप्रदेश : राज्य में कोविड-19 के मामले बढ़ने के बाद ऑक्सीजन की कमी को देखते हुए मध्यप्रदेश सरकार ने होशंगाबाद में ऑक्सीजन निर्माण के लिए नए संयंत्र की स्थापना करने की घोषणा की है। इसके साथ ही आयात बढ़ाने और राज्य में इसका औद्योगिक उत्पादन अधिक करने जैसे अल्पकालीन प्रयास भी किए जाएंगे। यह कदम महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के सभी ऑक्सीजन उत्पादन इकाईयों को ऑक्सीजन के निर्यात को कम करने और कुल उत्पादन के 80 प्रतिशत को राज्य की आवश्यकता के लिए भंडार करने के निर्देश के लिए लिया गया है। राज्य में कोरोना के 18,433 सक्रिय मामले हैं।

केरल : मुख्यमंत्री पिनयारी विजयन द्वारा बुलाई गई सर्वदलीय बैठक में चुनाव आयोग से दो विधानसभा सीटों के लिए उपचुनाव को स्थगित कराने का निर्णय लेने के लिए कहा गया। बैठक में नेताओं ने कहा कि वर्तमान विधानसभा का सत्र मई 2021 में समाप्त होने के कारण चुने जाने वाले विधायकों को प्रभावी रूप से काम करने के लिए सिर्फ तीन माह का समय मिलेगा। उन्होंने राज्य में कोविड-19 महामारी की गंभीरता के साथ-साथ वित्तीय भार बढ़ने का जिक्र भी किया। सर्वदलीय बैठक में चुनाव आयोग से कोविड के बढ़ते मामले के कारण नवंबर में होने वाले स्थानीय निकाय चुनावों को स्थगित करने का अनुरोध करने का निर्णय भी हुआ। राज्य के उद्योग मंत्री ई पी जयराजन कोरोना संक्रमित पाए गए हैं। कोच्चि स्थित पीएनबी वेस्पर लाइफ साइंस को डीजीसीआई से कोविड के टीके के दूसरे स्तर के परीक्षण के लिए अनुमति मिल गई है। केरल में कल कोरोना के 3349 नए मामले सामने आए। राज्य में वर्तमान में 26,229 लोगों का उपचार चल रहा है और 2.04 लोग एकांतवास में हैं। राज्य में कोविड-19 से अब तक 396 लोगों की मृत्यु हो चुकी है। 

तमिलनाडु : पुडुचेरी में शुक्रवार सुबह 10 बजे तक बीते चौबीस घंटे में कोरोना के 504 नए मामले सामने आए और 12 लोगों की मृत्यु हुई। पुडुचेरी में 4878 सक्रिय मामले और कुल 19026 मामले हैं। राज्य में अब तक 365 लोगों की कोरोना से मृत्यु हो चुकी है। तमिलनाडु के स्वास्थ्य मंत्री सी विजयभास्कर ने कहा है कि राज्य में कृष्णागिरी और कुडालोर को छोड़कर पॉजिटिविटी दर 10 प्रतिशत से कम है। कृष्णागिरी और कुडालोर में पॉजिटिविटी दर 11.7 प्रतिशत है। उन्होंने कहा कि अधिक मामले वाले जिलों में सरकार बुखार शिविर,अधिक जांच और इन्फ्लुएंजा जैसे बीमारी के मामलों की जांच कर रही है। राज्य सरकार द्वारा स्कूलों को आंशिक रूप से खोलने की योजना बनाने के बाद स्कूल सामाजिक दूरी सुनिश्चित करने के लिए बारी-बारी से कक्षा शुरू करने पर विचार कर रहे हैं।

कर्नाटक : राज्य में कोविड का पहला मामले सामने आने के 6 महीने बाद कल सक्रिय मामले बढ़कर 1 लाख से अधिक हो गए। कर्नाटक में अब 1,01,537 सक्रिय मामले हैं। उच्च न्यायालय ने 01 अप्रैल,2020 से 31 मार्च,2021 तक न्यूनतम वेतन अधिनियम के अंतर्गत कर्मचारियों को परिवर्तनीय महंगाई भत्ते के भुगतान में विलंब करने के सरकारी आदेश पर रोक लगा दी है। राज्य के कुछ जिलों में कोविड की जांच में देरी होने और सरकारी अस्पतालों में ऑक्सीजन की आपूर्ति में कमी होने की समस्या को देखते हुए मुख्यमंत्री बी एस येद्दिरप्पा ने अंतर-जिला समन्वय प्रयास का आह्वान किया है। राज्य के स्वास्थ्य विशेषज्ञो ने कहा है कि आईसीएमआर के अध्ययन के विपरीत राज्य में प्लॉज्मा थेरेपी का प्रयोग प्रभावी पाया गया है और इसका प्रयोग जारी रहेगा।     

आंध्रप्रदेश : सीरो प्रसार अध्ययन के अनुसार राज्य की 5.34 करोड़ जनसंख्या मे से लगभग 20 प्रतिशत लोगों ने कोवि़ड-19 से रोग प्रतिरोधक क्षमता प्राप्त कर ली है। सर्वेक्षण के अनुसार शहरी इलाक़ो में 22.5 प्रतिशत और ग्रामीण क्षेत्रों में 18.2 प्रतिशत जनसंख्या ने कोविड-19 से रोग प्रतिरोधक क्षमता प्राप्त की है। इसके साथ ही सर्वेक्षण में 90 से 100 प्रतिशत कोविड पॉजिटिव मामलों के बिना लक्षण वाले मामले होने का पता भी चला है। चित्तूर जिला प्रशासन ने कोविड-19 के कारण मृत्यु के बढ़ते मामलों के कारण की जांच करने और महामारी के कारण हुई मृत्यु का परीक्षण के लिए एक विशेषज्ञ समिति नियुक्त की है। जिले में कोविड-19 से अब तक 510 लोगों की मृत्यु हुई है,इसमें चिंताजनक रूप से 174 लोगों की मृत्यु तिरुपति में हुई है। जिलाधिकारी ने अधिकारियों को 50 वर्ष अधिक आयु के व्यक्तियों को घर में एकांतवास में रहने की अनुमति न देने का निर्देश दिया है।  

तेलंगाना : राज्य में बीते चौबीस घंटे में कोरोना के 2426 नए मामले सामने आए,2324 लोग स्वस्थ हुए और 13 लोगों की मृत्यु हुई। कुल 2426 मामलों में से 338 मामले जीएचएमसी में सामने आए। राज्य में अब कोरोना के कुल 1,52,602 मामले हैं। इनमे से 32,195 सक्रिय मामले हैं। अब तक 940 लोगों की मृत्यु हो चुकी है और 1,19,467 लोगों को उपचार के बाद छुट्टी दी गई है। हैदराबाद और दुबई के बीच अंतर्राष्ट्रीय हवाई उडान फिर से शुरू हो गई है। इससे कोविड-19 महामारी के दौरान फिर से शुरू हो रही हवाई यात्रा को बढ़ावा मिलेगा। तेलंगाना उच्च न्यायालय ने राज्य सरकार से पूछा है कि क्या वो पीजी परीक्षा का आयोजन ऑनलाइन कर सकती है। 

अरुणाचल प्रदेश :  राज्य में कोविड-19 के 127 नए मामले मिले हैं। अरुणाचल प्रदेश मे कल 99 लोग कोविड-19 से स्वस्थ हुए। गुवाहाटी उच्च न्यायालय की ईटानगर बेंच ने ईटानगर राजधानी क्षेत्र जिला प्रशासन को लेखी स्थित कोविड देखभाल केंद्र के बंदियों को मनोसामाजिक सहयोग प्रदान करने के लिए कदम उठाने को कहा है।

असम :  राज्य में बीते 24 घंटों के दौरान 2197 रोगियों को उपचार के बाद अस्पताल से छुट्टी दी गई। असम में अब तक 105701 रोगी कोविड-19 से स्वस्थ हुए हैं। राज्य में अब 29687 सक्रिय मामले हैं।

मणिपुर : राज्य में 108 और लोग कोविड-19 संक्रमित मिले हैं। 77 प्रतिशत की रिकवरी दर के साथ 245 लोग स्वस्थ हुए। मणिपुर में अब 1633 सक्रिय मामले हैं। बीते चौबीस घंटे के दौरान 4 रोगियों की मृत्यु हुई। सरकार ने कोविड-19 संबंधी स्वास्थ्य जरूरत के लिए ऑनलाइन विचार-विमर्श हेतु ईसंजीवनी ओपीडी ऐप की शुरुआत की है।  

मेघालय : राज्य में सक्रिय मामले बढ़कर 1434 हो गए हैं। इनमें से 272 मामले सीमा सुरक्षा बल(बीएसएफ) और सशस्त्र बलों से जुडे हैं। मेघालय में अब तक 1842 कोविड-19 रोगी स्वस्थ हो चुके हैं।

मिजोरम : राज्य सरकार ने आइजोल नगरपालिका क्षेत्र में 17 सितंबर तक आंशिक लॉकडाउन लगाने की घोषणा की है। मिजोरम में कल कोरोना के 20 नए मामलों की पुष्टि हुई। राज्य में अब कोरोना के 1353 कुल मामले और 603 सक्रिय मामले हैं।

नगालैंड : कोविड-19 पॉजिटिव के नए मामले सामने आने के बाद कोहिमा के ओर अधिक क्षेत्रों को सील कर दिया गया है। इनमें जेइनओबेडेज कॉलोनी,पी खेल,लोअर नागा बाजार, आफिसर्स हिल और जेल कॉलोनी शामिल हैं।

 

FACTCHECK

https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image003IOMU.jpg

https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image004ES7A.jpg

*****

 

एमजी/एएम/एजे/एसएस



(Release ID: 1653547) Visitor Counter : 220