PIB Headquarters

कोविड-19 पर पीआईबी का दैनिक बुलेटिन

Posted On: 21 JUL 2020 8:04PM by PIB Delhi

(पिछले 24 घंटों में जारी कोविड-19 से संबंधित प्रेस विज्ञप्तियां, पीआईबी के क्षेत्रीय कार्यालयों से मिली जानकारियां और पीआईबी द्वारा जांचे गए तथ्य शामिल हैं)

  •  कोविड-19 के संक्रमण से ठीक होने वालों की कुल संख्या बढ़कर 7.2 लाख हुई; पिछले 24 घंटों के दौरान कोविड-19 के 24,491 मरीज स्वस्थ हुए हैं।
  • राष्ट्रीय स्तर पर मरीजों के ठीक होने की दर बढ़कर 62.72 प्रतिशत तक पहुंची।
  • मृत्यु दर घटकर 2.43 प्रतिशत हुई।
  • 19 राज्य/केंद्र शासित प्रदेश प्रति दस लाख की आबादी पर प्रतिदिन 140 से अधिक परीक्षण कर रहे हैं जैसाकि विश्व स्वास्थ्य संगठन ने सलाह दी है।
  • पिछले 24 घंटों में 3.3 लाख से अधिक नमूनों की जांच की गई।
  • वर्तमान में देश में कोविड-19 के 4,02,529 सक्रिय मामले हैं।
  • सीरो-अध्ययन के परिणाम बताते हैं कि दिल्ली में औसतन आईजीजी एंटीबॉडी का प्रसार 23.48 प्रतिशत है; बड़ी संख्या में संक्रमित व्यक्तियों में कोई लक्षण नहीं दिखाई देते हैं।
  • केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री ने छात्रों के मानसिक स्वास्थ्य और तंदुरूस्ती के लिए उन्हें मनो-सामाजिक सहायता प्रदान करने हेतु मंत्रालय की पहल मनोदर्पणकी शुरुआत की। 

Description: C:\Users\VARUN\Desktop\image005GKH3.jpg

Description: C:\Users\VARUN\Desktop\Corona watch 21 July 2020.jpg

स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय से कोविड-19 पर प्राप्त अपडेट; कोविड-19 के संक्रमण से ठीक होने वालों की कुल संख्या बढ़कर 7.2 लाख हुई; राष्ट्रीय स्तर पर मरीजों के ठीक होने की दर बढ़कर 62.72 प्रतिशत तक पहुंची; मृत्यु दर घटकर 2.43 प्रतिशत हुई

पिछले 24 घंटों के दौरान कोविड-19 के 24,491 मरीज स्वस्थ हुए हैं। इसके साथ ही कोविड-19 के संक्रमण से ठीक होने वाले लोगों की कुल संख्या आज की तारीख तक बढ़कर 7,24,577 हो गई है। इस बीमारी से ठीक होने की दर बढ़कर 62.72 प्रतिशत हो गई है। भारत में कोविड से होने वाली मौतों के संदर्भ में मृत्यु दर घटकर 2.43 प्रतिशत रह गई है जो लगातार कम हो रही है। कोविड-19 से ठीक होने वाले लोगों की संख्या और इससे संक्रमित मरीजों की संख्या के बीच का अंतर बढ़कर 3,22,048 हो गया है। वर्तमान में 4,02,529 सक्रिय मामले हैं और सबका चिकित्सकीय देख-रेख में इलाज चल रहा है। पिछले 24 घंटों में 3,33,395 नमूनों का परीक्षण किया गया। देश में अब तक कुल 1,43,81,303 नमूनों का परीक्षण किया जा चुका है। यह प्रयोगशालाओं की लगातार बढ़ती संख्या की वजह से संभव हो पाया है। अभी देश भर में 1274 प्रयोगशालाएं कार्यरत हैं।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-

19 राज्य/केंद्र शासित प्रदेश प्रति दस लाख की आबादी पर प्रतिदिन 140 से अधिक परीक्षण कर रहे हैं जैसाकि विश्व स्वास्थ्य संगठन ने सुझाव दिया है; वर्तमान में भारत में पॉजिटिविटी दर 8.07 प्रतिशत है; 30 राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों में राष्ट्रीय औसत की तुलना में पॉजिटिविटी दर कम है

आज की तारीख तक प्रति दस लाख की आबादी पर प्रतिदिन परीक्षण का राष्ट्रीय औसत उल्लेखनीय रूप से उछल कर 180 पर जा पहुंचा है। विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने ‘कोविड-19 के परिप्रेक्ष्य में सार्वजनिक स्वास्थ्य एवं सामाजिक उपाय को समायोजित करने के लिए सार्वजनिक स्वास्थ्य मानदंड’ पर अपने दिशा-निर्देश नोट में संदिग्ध कोविड-19 मामलों के लिए व्यापक निगरानी की सलाह दी है। डब्ल्यूएचओ ने सलाह दी है कि एक देश को प्रति दस लाख की आबादी पर 140 परीक्षण करने की आवश्यकता है। वर्तमान में, ऐसे 19 राज्य/केंद्र शासित प्रदेश हैं जो प्रति दिन प्रति दस लाख की आबादी पर 140 से अधिक टेस्ट कर रहे हैं। गोवा राज्य सर्वाधिक प्रति दिन दस लाख की आबादी पर 1333 टेस्ट कर रहा हैं।

Description: C:\Users\VARUN\Desktop\image001YS7M.jpg

जांच की संख्या में बढ़ोतरी के अनुरूप, भारत के लिए पुष्टि दर या पॉजिटिविटी दर में भी लगातार कमी आ रही है और वर्तमान में यह 8.07 प्रतिशत है। ऐसे 30 राज्य/केंद्र शासित प्रदेश हैं जिनकी पॉजिटिविटी दर राष्ट्रीय औसत की तुलना में निम्न है।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-

दिल्ली में जून, 2020 में राष्ट्रीय रोग नियंत्रण केंद्र (एनसीडीसी), स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा सीरो-अध्ययन कराया गया

स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय ने दिल्ली में कोविड-19 को लेकर सीरो-निगरानी अध्ययन कराया। यह अध्ययन राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र की दिल्ली सरकार के सहयोग से राष्ट्रीय रोग नियंत्रण केंद्र (एनसीडीसी) द्वारा एक अत्यंत शुद्ध बहु-स्तरीय नमूना अध्ययन डिजाइन के साथ किया गया है। यह अध्ययन 27 जून, 2020 से 10 जुलाई, 2020 तक कराया गया था। दिल्ली के सभी 11 जिलों के लिए सर्वेक्षण टीमों का गठन किया गया था। पहले से चयनित लोगों से लिखित सूचित सहमति लेने के बाद उनके रक्त के नमूने एकत्र किए गए और फिर उनके सीरा को आईजीजी एंटीबॉडी और संक्रमण के लिए परीक्षण किया गया। यह एलिसा परीक्षण का उपयोग करते हुए देश में कराए गए अब तक के सबसे बड़े सीरो-अध्ययनों में से एक है। प्रयोगशाला मानकों के अनुसार 21,387 नमूने एकत्र किए गए और फिर उनका परीक्षण किया गया। इन परीक्षणों से आम नागरिकों में एंटीबॉडी की उपस्थिति की पहचान करने में मदद मिली। ये परीक्षण एक नैदानिक परीक्षण नहीं है बल्कि यह केवल सार्स कोव-2 की वजह से पॉजिटीव पाए गए लोगों के पिछले संक्रमण के बारे में जानकारी प्रदान करता है। सीरो- अध्ययन के परिणाम बताते हैं कि दिल्ली भर में औसतन आईजीजी एंटीबॉडी का प्रसार 23.48 प्रतिशत है। अध्ययन से यह भी पता चला कि बड़ी संख्या में संक्रमित व्यक्तियों में कोई लक्षण नहीं दिखाई देते हैं।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-

केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री ने छात्रों के मानसिक स्वास्थ्य और तंदुरूस्ती के लिए उन्हें मनो-सामाजिक सहायता प्रदान करने हेतु मंत्रालय की पहल मनोदर्पणकी शुरुआत की

केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री श्री रमेश पोखरियाल ‘निशंक’ ने आज नई दिल्ली में छात्रों के मानसिक स्वास्थ्य और तंदुरूस्ती के लिए उन्हें मनो-सामाजिक सहायता प्रदान करने हेतु मानव संसाधन विकास मंत्रालय की ‘मनोदर्पण’ पहल शुरू की। इस अवसर पर अपने संबोधन में श्री रमेश पोखरियाल ‘निशंक’ ने कहा कि कोविड-19 दुनिया भर में जाहिर तौर पर सभी के लिए एक चुनौतीपूर्ण समय है। श्री पोखरियाल ने बताया कि मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने महसूस किया है कि जहां शैक्षणिक मोर्चे पर निरंतर शिक्षा पर ध्यान देना महत्वपूर्ण है, वहीं छात्रों की मानसिक तंदुरूस्ती को भी बनाए रखने पर समान जोर दिया जाना चाहिए। इसलिए मंत्रालय ने ‘मनोदर्पण’ नाम से एक नई पहल की शुरुआत की है जिसमें कोविड महामारी के दौरान और उसके बाद भी छात्रों के मानसिक स्वास्थ्य और तंदुरूस्ती को बनाए रखने के लिए उन्हें मनो-सामाजिक सहायता प्रदान करने हेतु विभिन्न तरह की गतिविधियों की एक विस्तृत श्रृंखला शामिल की गई है। उन्होंने यह भी बताया कि शिक्षा, मानसिक स्वास्थ्य और मनो-सामाजिक मुद्दों से जुड़े विशेषज्ञों का एक कार्यकारी समूह गठित किया गया है जो मानसिक स्वास्थ्य संबंधी मुद्दों और छात्रों की चिंताओं पर नजर रखेगा और परामर्श सेवाएं, ऑनलाइन संसाधनों और हेल्पलाइन के माध्यम से कोविड-19 की वजह से लगे लॉकडाउन के दौरान और उसके बाद भी छात्रों के मानसिक स्वास्थ्य और मनो-सामाजिक पहलुओं से निपटने में मदद उपलब्ध कराएगा।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी 22 जुलाई को इंडिया आइडियाज समिटको संबोधित करेंगे 

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी 22 जुलाई को ‘इंडिया आइडियाज समिट’ में मुख्य भाषण देंगे। इस शिखर सम्मेलन की मेजबानी अमेरिका-भारत व्यवसाय परिषद द्वारा की जा रही है। इस वर्ष परिषद के गठन की 45वीं वर्षगांठ मनाई जा रही है। इस वर्ष की ‘इंडिया आइडियाज समिट’ की थीम ‘बेहतर भविष्य का निर्माण’ है। इस आभासी शिखर सम्मेलन (वर्चुअल समिट) में भारतीय एवं अमेरिकी सरकार के नीति-निर्माताओं, राज्य स्तरीय अधिकारियों और कारोबार जगत एवं समाज के प्रमुख विचारकों की उच्चस्तरीय उपस्थिति होगी। इस शिखर सम्मेलन के दौरान ‘भारत-अमेरिका सहयोग’ और ‘महामारी काल के बाद की दुनिया में दोनों देशों के बीच पारस्पंरिक संबंधों का भविष्य’ सहित विभिन्न विषयों पर गहन चर्चाएं होंगी।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-

युवा मामलों और खेल मंत्रालय ने यूनिसेफ के साथ आत्मनिर्भर भारत अभियान के अंतर्गत 1 करोड़ युवा स्वयंसेवकों को शामिल करने के संकल्प की प्राप्ति के लिए साझेदारी की

प्रधानमंत्री के आत्मनिर्भर भारत के आह्वान में योगदान देने के लिए और केंद्रीय युवा मामलों और खेल मंत्री श्री किरण रिजिजू के भारत में 1 करोड़ युवा स्वयंसेवकों को लामबंद करने वाले दृष्टिकोण को साकार करने के लिए, युवा मामलों और खेल मंत्रालय द्वारा भारत के युवाओं में स्वैच्छिकता को बढ़ावा देने के साथ-साथ उन्हें शिक्षा और उत्पादन के लिए ज्ञान प्राप्ति में सहायता प्रदान करने के लिए, साझेदारी के साथ कार्य करने के लिए, कौशल के साथ सक्रिय नागरिक बनने के लिए, युवा (यूनिसेफ द्वारा गठित एक बहु-हितधारक मंच) के लिए एक वक्तव्य पर हस्ताक्षर किए गए। इस महत्वपूर्ण साझेदारी पर बात करते हुए श्री किरेन रिजिजू ने कहा, “यह साझेदारी इस चुनौतीपूर्ण समय के लिए बहुत उपयुक्त है। मुझे विश्वास है कि यह हमारी मौजूदा नीतियों पर ध्यान केंद्रित करेगा। भारत एक विशाल युवा जनसंख्या वाला देश है, जहां पर किसी भी क्षेत्र में युवाओं के योगदान से न केवल भारत में बल्कि वैश्विक मंच पर भी बहुत बड़ा बदलाव लाया जा सकता है।”

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-

केन्द्रीय विद्युत मंत्री ने भारत के पहले सार्वजनिक इलेक्ट्रिक वाहन चार्जिंग प्लाजा का उद्घाटन किया

ऊर्जा दक्षता बढ़ाने और ई-मोबिलिटी को बढ़ावा देने के इरादे से केन्द्रीय विद्युत, नवीन और नवीकरणीय ऊर्जा मंत्री श्री आर.के. सिंह ने कल नई दिल्ली में भारत के पहले सार्वजनिक ईवी (इलेक्ट्रिक वाहन) चार्जिंग प्लाजा का उद्घाटन किया। इस अवसर पर श्री सिंह ने कहा “भारत में ई-मोबिलिटी को सर्वव्यापी और सुविधाजनक बनाने के लिए ईवी चार्जिंग प्लाजा एक नयी पहल है। इस तरह की अभिनव पहल देश में एक मजबूत ई-मोबिलिटी पारिस्थितिकी तंत्र बनाने के लिए जरूरी है।” केन्द्रीय मंत्री ने राष्ट्रीय कार्यक्रम इंडोर एयर क्वालिटी फॉर सेफ्टी एंड एफिशिएंसी में सुधार के लिए एयर कंडीशनिंग व्यवस्था को और सक्षम बनाने की प्रणाली लॉन्च की। उन्होंने इस अवसर पर कहा कि उनका मानना है कि इससे पूरे देश में कार्यक्षेत्रों में खराब वायु गुणवत्ता को सुधार कर उसे स्वास्थ्य के लिहाज से हरित और बेहतर बनाया जा सकता है। काफी समय से भारत में हवा की खराब गुणवत्ता चिंता का विषय बनी हुई है और विशेष रूप से कोरोना संक्रमण के समय में इसका महत्व और भी ज्यादा बढ़ गया है। कार्यालयों और सार्वजनिक स्थलों पर काम करने वाले लोगों के स्वास्थ्य को ध्यान में रखते हुए कार्यस्थलों के भीतर वायु गुणवत्ता बनाए रखना जरूरी है।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-

पीआईबी के क्षेत्रीय कार्यालयों से मिली जानकारियां

  • चंडीगढ़: संघ शासित प्रदेश चंडीगढ़ के प्रशासक ने कहा कि सार्वजनिक स्थानों जैसे उद्यान, सुखना झील, बाजारों आदि में लोगों के बीच सामाजिक दूरी बनाए रखने, जांच करने और मास्क पहनने के लिए अधिक सख्ती होनी चाहिए। उन्होंने पुलिस महानिदेशक को कोविड के खिलाफ सावधानियों बरतने के लिए लोगों में जागरूकता पैदा करने के लिए विभिन्न कॉलोनियों और सेक्टरों में और अधिक फ्लैग मार्च करने का निर्देश दिया। उन्होंने अपने निर्देश में कहा कि विभिन्न अस्पतालों में सुरक्षा कड़ी की जाए ताकि स्वास्थ्यकर्मी भयमुक्त होकर कार्य कर सकें। प्रशासक ने निर्देश दिया कि कोविड के खतरे के बारे में लोगों को जागरूक करने और स्वस्थ स्वच्छता कार्यप्रणालियों को अपनाने के लिए विभिन्न विभागों द्वारा आईईसी गतिविधियों को कार्यान्वित किया जाना चाहिए।
  • पंजाब: राज्य कारागार विभाग ने राज्य भर की जेलों में कोविड-19 स्थिति से प्रभावी ढंग से निपटने के लिए तीन-स्तरीय रणनीति तैयार की है। रणनीति में रोकथाम, जांच, पहचान और उपचार एवं नियंत्रण शामिल हैं। स्थिति की निगरानी और जमीनी स्तर पर दिन-प्रतिदिन के कामकाज में कैदियों के साथ-साथ कर्मचारियों के साथ होने वाली समस्याओं को दूर करने के लिए एक राज्य स्तरीय निगरानी टीम और जिला स्तर की निगरानी टीमों का गठन पहले ही किया जा चुका है।
  • हरियाणा: हरियाणा के स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने कहा कि राज्य में कोविड-19 से ठीक हुए लोगों की दर लगभग 75 प्रतिशत है और मामलों को दोगुना होने में 22-23 दिन लग रहे हैं। इन आंकड़ों को ध्यान में रखते हुए, राज्य में सामुदायिक प्रसार के कोई संकेत नहीं है। उन्होंने कहा कि भारत बायोटेक द्वारा बनाए गए टीके का रोहतक के पंडित भगवत दयाल शर्मा स्नातकोत्तर आयुर्विज्ञान संस्थान में मानव परीक्षण किया गया है, जिसके सकारात्मक परिणाम मिलने की संभावना है। उन्होंने कहा कि लगभग 70 लोगों ने अपनी स्वेच्छा से वैक्सीन के लिए पंजीकरण कराया है। जैसा कि बताया गया है कि दवाई के परीक्षण का इन लोगों में कोई दुष्प्रभाव नहीं देखा गया, जो राज्य सरकार और स्वास्थ्य विभाग के लिए एक बड़ी उपलब्धि है।
  • हिमाचल प्रदेश: राज्य मंत्रिमंडल ने राज्य में राष्ट्रीय एम्बुलेंस सेवा-108 के तहत 38 एम्बुलेंसों के प्रतिस्थापन को मंजूरी दे दी है, 108 एम्बुलेंस सेवा राज्य में स्वास्थ्य प्रणाली की जीवन रेखा बन गई हैं। कैबिनेट ने कोविड-19 महामारी के कारण निधि की कमी को देखते हुए राज्य में बस किराया बढ़ाने का भी फैसला किया है। पहाड़ी और मैदानी क्षेत्रों के लिए तीन किलोमीटर से आगे की यात्रा के लिए प्रति किलोमीटर किराए में वर्तमान में 25 प्रतिशत की वृद्धि होगी।
  • केरल: आज कोविड-19 के कारण इडुक्की के 75 वर्षीय नागरिक की मृत्यु हो गई, जिससे राज्य में मृतकों की संख्या 44 हो गयी है। इस बीच, सामान्य शिक्षा विभाग ने सूचित किया है कि अगस्त में कोविड-19 की स्थिति का मूल्यांकन करने के बाद ही राज्य के विद्यालयों को फिर से खोलने पर निर्णय लिया जाएगा। अलुवा के एक प्रांतीय घर की 18 ननों में कोविड-19 की पुष्टि की गई है। वह एक नन के साथ संपर्क की सूची में थी जिनकी हाल ही में कोविड के कारण मृत्यु हुई थी। निजी अस्पतालों में कोविड मरीजों के इलाज को लेकर जारी अनिश्चितता पर स्वास्थ्य मंत्री के.के. शैलजा ने कहा कि इस मुद्दे को जल्द ही सुलझा लिया जाएगा। कल कोविड-19 के 794 नए मामलों की पुष्टि की गई, जिसमें 519 व्यक्ति किसी कोविड मरीज के संपर्क में आए थे और 24 अज्ञात स्रोतों से थे। वर्तमान में 7,611 लोगों का इलाज चल रहा है और 1.65 लाख लोगों को विभिन्न जिलों में निगरानी में रखा गया हैं।
  • तमिलनाडु: पुडुचेरी में 68 वर्षीय व्यक्ति की कोविड के कारण मृत्यु के बाद पुडुचेरी में मृतकों की संख्या बढ़कर 30 हो गई है। मंगलवार को 21 नए मामले सामने आए जिससे संघशासित प्रदेश में कुल मामलों की संख्या 2179 हो गई है। विद्याल प्रबंधनों ने शैक्षणिक वर्ष 2020-21 के लिए 75 प्रतिशत फीस जमा कराने की अनुमति देने के मद्रास उच्च न्यायालय के आदेश का स्वागत किया है। चेन्नई में कोविड-19 से 81 प्रतिशत रोगियो के स्वस्थ होने से इस संख्या ने 70,000 के आंकड़े को पार कर लिया है। कल 1298 नए मामलों के साथ, शहर में अब कुल 15,127 सक्रिय मामले हैं जो शहर के कुल 87,235 मामलों का 17 प्रतिशत है। कल 4985 नए मामलों की पुष्टि हुई और 70 लोगों की मृत्यु हुईं। राज्य में अब कुल 1,75,678 मामलों में से सक्रिय मामले 51,348 और मृतकों की संख्या 2551 हो गई है। चेन्नई में सक्रिय मामलों की संख्या 15,127 है।
  • कर्नाटक: बेंगलुरु शहरी और बेंगलुरु ग्रामीण में एक सप्ताह का लॉकडाउन कल सुबह 5 बजे समाप्त हो जाएगा। इस बीच, राज्य सरकार ने लॉकडाउन को और न बढ़ाने का फैसला किया है। कर्नाटक हाईकोर्ट ने राज्य को स्वाब परीक्षण परिणामों में देरी को कम करने का निर्देश दिया है क्योंकि प्रयोगशाला रिपोर्ट मिलने में लगने वाले समय अंतराल और वायरस के प्रसार में सीधा संबंध है। बीबीएमपी ने कोविड के प्रसार को नियंत्रित करने के लिए नए टास्क फोर्स का गठन किया है। कोविड से संबंधित चिकित्सा उपकरणों की खरीद में अनियमितता पर आरोप-प्रत्यारोप जारी है। कल 3648 नए मामले और 72 मृत्यु दर्ज की गई। बेंगलुरु शहर में 1452 मामलों की पुष्टि की गई। राज्य में कुल दर्ज मामले 67,420, सक्रिय मामले 42,216 और मृतकों की संख्या 1403 हो गई है।
  • आंध्र प्रदेश: राज्य सरकार ने कोविड मरीजों के इलाज और आपातकालीन महंगी दवाओं के उपयोग के लिए निजी अस्पतालों द्वारा लगाए गए शुल्कों पर प्रतिबंध लगाने का आदेश दिया है। गुंटूर जिले के वेलागापुडी में राज्य विधानसभा से 9 कोरोना वायरस मामलों की पुष्टि की गई है। गुंटूर ग्रामीण एसपी ने कोविड-19 के दिशा-निर्देशों का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ आपराधिक मामले चलाने की चेतावनी दी है। टीटीडी ने कोविड के बढ़ते मामलों को देखते हुए आज से दर्शन के लिए समय सीमा टोकन देने बंद कर दिये हैं। संपूर्ण तिरुपति शहर को 5 अगस्त तक एक कंटेनमेंट क्षेत्र घोषित किया गया है। कल राज्य में 4074 नए मामले दर्ज किए गए और 54 मृत्यु हुई। राज्य में कुल 53,724 मामले, 28,800 सक्रिय मामले और मृतकों की संख्या 696 हो गई है।
  • तेलंगाना: सरकारी आंकड़ों से पता चला है कि राज्य में ठीक हुए मरीजों की दर 72 प्रतिशत तक बढ़ गयी है, जबकि मृत्यु दर एक प्रतिशत से भी कम है। वायरस के फैलाव के मद्देनजर दुकानदारों ने तेलंगाना के कुछ जिलों में स्वैच्छिक लॉकडाउन की घोषणा की है। राज्य में कल 1198 नए मामले और 7 मृत्यु दर्ज की गई है। 1198 मामलों में से, 510 मामले जीएचएमसी से दर्ज किये गए। राज्य में कुल 46,274 मामले, 11,530 सक्रिय मामले और मृतकों की संख्या 422 हो गई है।
  • महाराष्ट्र: मुंबई मेट्रोपॉलिटन रीजन (एमएमआर) ने सोमवार को 2 लाख कोविड-19 मामलों को पार कर लिया, जिससे राज्य की स्थिति और भी खराब हो गई है और अब यहां कुल मिलाकर 3,18,695 लोग संक्रमित हैं। जबकि मुंबई में एक लाख से कुछ अधिक मामले हैं, अन्य एक लाख मामले ठाणे, नवी मुंबई, पालघर और रायगढ़ से हैं। भारत में ऑक्सफोर्ड वैक्सीन के लिए मानव परीक्षण इस वर्ष अगस्त में शुरू होगा। ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी के जेनर इंस्टीट्यूट और एस्ट्राजेनेका द्वारा तैयार वैक्सीन का व्यापक स्तर पर पुणे के सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया द्वारा एक विनिर्माण साझेदारी के तहत किया जाएगा।
  • गुजरात: गुजरात सरकार ने पिछले सप्ताह नई दिल्ली से केंद्रीय टीम के राज्य में आने के बाद से कोविड-19 परीक्षणों की संख्या को दोगुना कर दिया है। हालांकि गुजरात में 4.5 प्रतिशत की मृत्यु दर 2.5 के राष्ट्रीय औसत को प्रभावहीन बनाती है जबकि राज्य में कुल 49,353 मामले दर्ज किए गए हैं, जिनमें से 11,513 सक्रिय मामले हैं।
  • राजस्थान: राजस्थान ने कोविड-19 महामारी के बाद राज्य में लौट चुके प्रवासी श्रमिकों के लिए केंद्र सरकार की प्रमुख योजना पीएम गरीब कल्याण रोजगार योजना के पहले महीने में सबसे अधिक रोजगार सृजन किया। आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार, राज्य में 4.1 करोड़ रोजगार व्यक्ति दिवस का सृजन हुआ है।
  • छत्तीसगढ़: कोरोनोवायरस बीमारी (कोविड-19) के पिछले एक महीने से बढ़ते मामलों को देखते हुए मध्यप्रदेश के रायपुर और बिरगांव नगर निगम में आज मध्यरात्रि से सात दिनों तक लॉकडाउन लागू किया जाएगा। सभी सरकारी, अर्ध-सरकारी और निजी कार्यालय फिर से लगाए गए लॉकडाउन प्रतिबंधों के दौरान बंद रहेंगे। सार्वजनिक परिवहन सेवा भी लॉकडाउन के दौरान बंद रहेंगी। बिलासपुर, कोरबा और दुर्ग में लॉकडाउन गुरुवार से लागू हो जाएगा।
  • अरुणाचल प्रदेश: राज्य कोविड नोडल अधिकारी डॉ. जम्पा ने कहा कि राज्य में कोविड परीक्षणों के लिए 1.5 लाख रैपिड डायग्नोस्टिक परीक्षण (आरडीटी)कोविड-19 एंटीजन किट उपलब्ध हैं। जिसमें से एक लाख जांच किट सोमवार को पहुंची। जांच किटों को जल्द ही सभी जिलों में वितरित किया जाएगा।
  • असम: असम के मुख्यमंत्री श्री सर्बानंद सोनोवाल ने बोंगाईगांव जिले में बाढ़ की स्थिति का निरीक्षण किया और बाढ़ प्रभावित लोगों से मुलाकात भी की।
  • मणिपुर: मणिपुर के मुख्यमंत्री श्री एन. बीरेन सिंह ने आज कोविड-19 रोगियों की 100 प्रतिशत रिकवरी दर प्राप्त करने पर नोनी, फ़िरज़ावल और टेंग्नौपाल जिले के अग्रिम पंक्ति के कोरोना योद्धाओं को बधाई दी। मणिपुर के थौबल जिले में सभी मुख्य बाजारों और धार्मिक स्थलों को आज से तत्काल प्रभाव से बंद कर दिया गया।
  • मिजोरम: 10 (दस) जिला अस्पतालों के लिए ट्रूलैब कुओट्रो रियल टाइम क्वांटिटेटिव माइक्रो पीसीआर मशीन (ट्रूएनएटी) खरीदने के लिए मुख्यमंत्री राहत कोष से 1.18 करोड़ रुपये स्वीकृत किए गए हैं।
  • नागालैंड: नागालैंड में, कोविड-19 के 9 नए मामलों की पुष्टि की गई। दीमापुर में 6, मोन में 2 और पेरेन में 1 कोविड मामले दर्ज किये गए। नागालैंड में कुल 1030 मामले, 546 सक्रिय मामले और ठीक हुए मरीजों की संख्या 484 है।

Description: C:\Users\VARUN\Desktop\image008AGNZ.jpg

****

एसजी/एएम/एसके/एसएस



(Release ID: 1640339) Visitor Counter : 77