PIB Headquarters

कोविड-19 पर पीआईबी का दैनिक बुलेटिन

Posted On: 04 JUL 2020 6:27PM by PIB Delhi

Description: Coat of arms of India PNG images free download

(पिछले 24 घंटे में जारी कोविड-19 से संबंधित प्रेस विज्ञप्तियां, पीआईबी के क्षेत्रीय कार्यालयों से मिली जानकारियां और पीआईबी द्वारा जांचे गए तथ्य शामिल हैं)

अब तक कोविड-19 के सक्रिय मामलों की तुलना में स्वस्थ होने वाले मरीजों की संख्या  1,58,793 अधिक है।

स्वस्थ होने की दर और बढ़कर 60.81 प्रतिशत पर पहुंच गई है। पिछले 24 घंटे के दौरान 14,335 कोविड मरीज स्वस्थ हुए है, जिसके बाद कुल संख्या 3,94,226 पर पहुंच गई है।

पिछले 24 घंटे के दौरान 2,42,383 नमूनों की जांच की गई जिसके बाद जांचे गए नमूनों की कुल संख्या 95,40,132 पर पहुंच गई; 1087 प्रयोगशालाएं जांच कर रही हैं।

राष्ट्रपति ने कहा कि जब महामारी विश्व भर में मानव जीवन और अर्थव्यवस्थाओं का विध्वंस कर रही है, तब बुद्ध के संदेश किसी प्रकाश स्तंभ की तरह काम कर रहे हैं।

प्रधानमंत्री ने कहा कि आज दुनिया असाधारण चुनौतियों का मुकाबला कर रही है, जिसका स्थायी समाधान भगवान बुद्ध के आदर्शों से निकल सकता है। 

प्रधानमंत्री ने आत्मनिर्भर भारत इनोवेशन चैलेंज की शुरुआत की।

नीट और जेईई मेन और एडवांस की ताजा परीक्षा की तारीखें घोषित की गई।

Description: C:\Users\VARUN\Desktop\Corona watch 04 July.jpg

स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय से कोविड-19 पर प्राप्त अपडेट:  ठीक हुए मामलों और सक्रिय मामलों के बीच का अंतर बढ़कर लगभग 1.6 लाख हुआ; ठीक होने (रिकवरी) की दर 60.81 प्रतिशत है; 95 लाख से अधिक नमूनों की जांच की गई

कोविड-19 से ठीक होने वाले मामलों की संख्या तेजी से बढ़ रही है। आज कोविड-19 के सक्रिय मामलों की तुलना में ठीक हुए लोगों की संख्या 1,58,793 ज्यादा हो गई। इसके परिणामस्वरूप ठीक होने (रिकवरी) की दर बढ़कर 60.81 प्रतिशत हो गई है। पिछले 24 घंटे के दौरान, कोविड-19 के कुल 14,335 रोगी ठीक हुए है, जिससे स्वस्थ हुए लोगों का आंकड़ा बढ़कर 3,94,226 हो गया है। वर्तमान में, सक्रिय मामलों की संख्या 2,35,433 है और सभी मामले चिकित्सीय देख-रेख में हैं। कोविड-19 की जांच करने वाली प्रयोगशालाओं का नेटवर्क लगातार बढ़ रहा है, भारत में अब प्रयोगशालाओं की कुल संख्या बढ़कर 1,087 हो गई हैं, इसमें सरकारी क्षेत्र में 780 और निजी क्षेत्र में 307 प्रयोगशालाएं हैं। पिछले 24 घंटों में 2,42,383 नमूनों की जांच की गई है, जिससे जांचे गए नमूनों की कुल संख्या बढ़कर 95,40,132 हो गई है।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-

जब महामारी विश्व भर में मानव जीवन और अर्थव्यवस्थाओं का विध्वंस कर रही है, तब बुद्ध के संदेश किसी प्रकाश स्तंभ की तरह काम कर रहे हैं: राष्ट्रपति

राष्ट्रपति श्री रामनाथ कोविंद ने कहा कि जब महामारी विश्व भर में मानव जीवन और अर्थव्यवस्थाओं का विध्वंस कर रही है, तब बुद्ध के संदेश किसी प्रकाश स्तंभ की तरह काम कर रहे हैं। भगवान बुद्ध ने प्रसन्नता प्राप्त करने के लिए लोगों को लालच, घृणा, हिंसा, ईष्या और कई अन्य बुराइयों को त्यागने की सलाह दी थी। उसी प्रकार की पुरानी हिंसा और प्रकृति की अधोगति में शामिल बेदर्द मानवता की उत्कंठा के साथ इस संदेश की परस्पर तुलना करें। हम सभी जानते हैं कि जैसे ही कोरोना वायरस की प्रचंडता में कमी आएगी, तो हमारे सामने जलवायु परिवर्तन की एक बड़ी गंभीर चुनौती आ जाएगी। राष्ट्रपति आज (4 जुलाई, 2020) राष्ट्रपति भवन में धर्म चक्र दिवस के अवसर पर अंतरराष्ट्रीय बुद्ध परिसंघ द्वारा आयोजित एक वर्चुअल समारोह को संबोधित कर रहे थे।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-

धर्म चक्र दिवस पर प्रधानमंत्री ने संबोधित किया

प्रधानमंत्री ने भगवान बुद्ध की शिक्षाओं और उनके द्वारा दिखाए गए अष्टांग मार्ग का उल्लेख करते हुए कहा कि यह कई समाजों और राष्ट्रों को कल्याण का मार्ग दिखाता है। बौद्ध धर्म की शिक्षाएं लोगों, महिलाओं और गरीबों के प्रति सम्मान का भाव रखने और अहिंसा तथा शांति का पाठ पढ़ाती हैं, जो पृथ्वी रूपी ग्रह पर सतत विकास का आधार है। प्रधानमंत्री ने कहा कि भगवान बुद्ध ने अपनी शिक्षाओं में आशा और उद्देश्य के बारे में बात की थी और दोनों के बीच एक मजबूत संबंध का अनुभव किया था। उन्होंने कहा कि वह किस तरह से 21वीं सदी को लेकर बेहद आशान्वित हैं और ये उम्मीद उन्हें देश के युवाओं से मिलती है। उन्होंने रेखांकित किया कि भारत के पास आज दुनिया में स्टार्टअप का एक सबसे बड़ा परितंत्र मौजूद हैं जहां प्रतिभावान युवा वैश्विक चुनौतियों का समाधान तलाशने में जुटे हैं। प्रधानमंत्री ने कहा कि आज दुनिया असाधारण चुनौतियों से जूझ रही है जिसका स्थायी समाधान भगवान बुद्ध की शिक्षाओं से निकल कर आ सकता है।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-

धर्म चक्र दिवस के अवसर पर प्रधानमंत्री के संबोधन का मूलपाठ

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-

धन्वंतरि रथ: अहमदाबाद में लोगों के घरों तक गैर-कोविड स्वास्थ्य देखभाल सेवाएं पहुंचा रहा

अहमदाबाद नगर निगम (एएमसी) ने धन्वंतरि रथ के माध्यम से एक अनूठी और अभिनव मिसाल कायम की है। धन्वंतरि रथ शहर में लोगों के घरों तक गैर-कोविड आवश्यक स्वास्थ्य सेवाएं प्रदान करने वाली मोबाइल मेडिकल वैन है। शहर के कई बड़े अस्पताल कोविड-19 के मरीजों के उपचार के लिए समर्पित हैं, इसलिए मधुमेह, रक्तचाप, हृदय रोग आदि से संबंधित गैर-कोविड आवश्यक स्वास्थ्य सेवाएं लोगों तक पहुंचाने के लिए विभिन्न उपाय किए गए हैं क्योंकि ज्यादातर अस्पतालों में ओपीडी बंद रहने से लोग इस समय अस्पताल भी नहीं जा पा रहे हैं। इन चिकित्सा वाहनों में अहमदाबाद नगर निगम के शहरी स्वास्थ्य केंद्र के स्थानीय चिकित्सा अधिकारी के साथ आयुष चिकित्सक, चिकित्सा सहायक, और नर्सिंग स्टाफ होते हैं। ये चिकित्सा वाहन शहर के विभिन्न क्षेत्रों का दौरा कर रहे हैं और अहमदाबाद शहर में सभी लोगों को उनके घरों तक गैर-कोविड बीमारियों के लिए आवश्यक स्वास्थ्य सेवाओं के रूप में ओपीडी सेवाएं और चिकित्सा परामर्श प्रदान कर रहे हैं। इन मोबाइल चिकित्सा वाहनों में सभी जरूरी दवाएं होती हैं जिनमें आयुर्वेदिक और होम्योपैथिक दवाएं, विटामिन की खुराक और पल्स ऑक्सीमीटर के साथ बुनियादी परीक्षण उपकरण भी शामिल हैं। इन स्वास्थ्य देखभाल सेवाओं के अलावा, धन्वंतरि रथ ने कई वजहों से अस्पताल नहीं जा सकने वाले लोगों तक पहुंचकर उन लोगों की पहचान करने में मदद की, जिन लोगों को आगे नैदानिक उपचार या आईपीडी भर्ती की आवश्यकता थी। इसके साथ ही धन्वंतरि रथ ने यह सुनिश्चित किया कि वे समय रहते अस्पताल पहुंच सकें। अहमदाबाद नगर निगम पूरे शहर में 120 धन्वंतरि रथ चला रहा है। धन्वंतरि रथ ने अब तक 4.27 लाख से अधिक लोगों को ओपीडी परामर्श दिए हैं।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-

6700 आशा कार्यकर्ताओं ने निगरानी और जागरूकता के काम को सशक्त बनाया

जैसे ही मेघालय में कोविड-19 का पहला मामला दर्ज हुआ, आशा कार्यकर्ताओं को चिन्हित कंटेनमेंट जोन में संक्रमण के मामलों का पता लगाने के लिए तैनात की जाने वाली टीम का हिस्सा बनाने के लिए प्रशिक्षित किया गया। मेघालय में कोविड के संक्रमण को फैलने से रोकने में आशा जैसी स्वास्थ्य क्षेत्र की अग्रिम पंक्ति की कार्यकर्ताओं का महत्वपूर्ण योगदान रहा है। कोविड-19 के खिलाफ राज्य सरकार की लड़ाई में आशा कार्यकर्ताओं की सशक्त भूमिका रही है। लगभग 6700 आशा कार्यकर्ताओं को कोविड विलेज हेल्थ अवेयरनेस एंड एक्टिव केस सर्च टीमों का हिस्सा बनाया गया। इन टीमों ने कोविड-19 के खिलाफ निवारक उपायों जैसे हाथ धोना, मास्क पहनना/चेहरे को ढंकना, सामाजिक दूरी बनाए रखना आदि के बारे में समुदायिक स्तर पर जागरूकता फैलाई और साथ ही सक्रियता से संक्रमण के मामलों का पता लगा कर लोगों को परीक्षण और उपचार के लिए समय पर पहुंच की सुविधा भी प्रदान की।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-

प्रधानमंत्री ने आत्मनिर्भर भारत इनोवेशन चैलेंज लॉन्च किया

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने आत्मनिर्भर भारत इनोवेशन चैलेंज का शुभारंभ किया। यह चैलेंज ऐसे सर्वश्रेष्ठ भारतीय ऐप्स की पहचान करने के लिए है जो पहले से ही नागरिकों द्वारा उपयोग में लाए जा रहे हैं और जिनमें अपनी श्रेणी विशेष में विश्व स्तर के ऐप्स बनने की क्षमता है। प्रधानमंत्री ने एक ट्वीट करते हुए कहा, “आज टेक और स्टार्ट अप समुदाय में विश्वस्तरीय मेड इन इंडिया ऐप बनाने के लिए भारी उत्साह है। उनके विचारों और उत्पादों को सामने लाने के लिए इलेक्ट्रोनिक्स और सूचना एंव प्रौद्योगिकी मंत्रालय तथा अटल इनोवेशन मिशन आत्मनिर्भर भारत ऐप इनोवेशन चैलेंज लॉन्च कर रहा है। यह चैलेंज आपके लिए है यदि आपके पास इस तरह के उत्पाद हैं या यदि आपको लगता है कि आपके पास ऐसे उत्पादों को बनाने के लिए एक दृष्टि और विशेषज्ञता है तौ मैं तकनीकी समुदाय के अपने सभी दोस्तों से इसमें भाग लेने का आग्रह करता हूं।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-  

प्रधानमंत्री ने तकनीक समुदाय से आत्मनिर्भर भारत ऐप इनोवेशन चैलेंज में भाग लेने का किया आह्वान

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने तकनीक क्षेत्र से जुड़े लोगों से आत्मनिर्भर भारत ऐप इनोवेशन चैलेंज में भाग लेने का आह्वान किया है। लिंक्डइन पर प्रकाशित एक पोस्ट में प्रधानमंत्री ने भारत में एक जीवंत और स्टार्टअप इकोसिस्टम होने का उल्लेख किया, साथ ही बताया कि कैसे युवाओं ने विविध क्षेत्रों में तकनीक समाधान उपलब्ध कराने में बेहतरीन प्रदर्शन किया है। उन्होंने कहा कि स्टार्टअप और तकनीक इकोसिस्टम में घरेलू स्तर पर ऐप के लिए नवाचार, विकास और प्रोत्साहन देने के लिए खासा उत्साह है। उन्होंने कहा कि देश जहां आत्मनिर्भर भारत के निर्माण की दिशा में काम कर रहा है, वहीं यह ऐप्स के विकास को नई दिशा एवं गति देने का एक अच्छा अवसर है जो हमारे बाजार को संतुष्ट करने के साथ-साथ दुनिया के साथ प्रतिस्पर्धा भी कर सकें।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-

इलेक्ट्रॉनिक्स एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय और नीति आयोग ने प्रधानमंत्री के डिजिटल इंडिया आत्मनिर्भर भारत की परिकल्पना को साकार करने के लिए डिजिटल इंडिया आत्म-निर्भर भारत ऐप इनोवेशन चैलेंज का शुभारम्भ किया

भारतीय ऐप्स के लिए एक मजबूत पारिस्थितिकी तंत्र का समर्थन और उसका निर्माण करने के उद्देश्य से अटल इनोवेशन मिशन - नीति आयोग के साथ साझेदारी में इलेक्ट्रॉनिक्स एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय ने भारतीय तकनीकी उद्यमियों और स्टार्टअप्स के लिए डिजिटल इंडिया आत्म-निर्भर भारत ऐप इनोवेशन चैलेंज का शुभारम्भ किया। इसे प्रधानमंत्री के डिजिटल इंडिया के निर्माण की परिकल्पना को साकार करने और आत्म-निर्भर भारत के निर्माण में डिजिटल प्रौद्योगिकियों का उपयोग करने में मदद करने के उद्देश्य से बनाया गया है। यह 2 ट्रैकों में चलेगा: मौजूदा ऐप्स का संवर्द्धन और नए ऐप्स का विकास।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-

केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री ने नीट और जेईई मेन्स एंड एडवांस की परीक्षाओं के लिए नई तारीखों की घोषणा की

केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री श्री रमेश पोखरियाल 'निशंक' ने ऑनलाइन माध्यम के जरिए नीट (एनईईटी) और जेईई मेन्स एंड एडवांस परीक्षाओं की नई तारीखों की घोषणा की है। मंत्री ने सूचित किया कि विद्यार्थियों की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए और गुणवत्तापूर्ण शिक्षा सुनिश्चित करने के लिए मानव संसाधन विकास मंत्रालय की सलाह पर राष्ट्रीय परीक्षा एजेंसी (एनटीए) ने जेईई और नीट परीक्षाओं को स्थगित करने का फैसला किया है। उन्होंने आगे बताया कि जेईई मेन्स परीक्षा अब 1-6 सितंबर 2020 और जेईई एडवांस परीक्षा 27 सितंबर 2020 को होगी। उन्होंने कहा कि नीट परीक्षा अब 13 सितंबर 2020 को होगी।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-

श्री पीयूष गोयल ने निर्यातकों के प्रयासों की सराहना की क्योंकि देश के निर्यात में तेजी से सुधार हो रहा है

श्री गोयल ने ईपीसी को संबोधित करते हुए कहा कि इस वित्त वर्ष के पहले दो महीनों के दौरान कोविड-19 के कारण पैदा हुए व्य्वधान के बाद निर्यात में तेजी से सुधार हो रहा है क्योंकि अनलॉक की प्रक्रिया शुरू हो गई है और आर्थिक गतिविधियों में सुधार हो रहा है। उन्होंने कहा कि जून, 2020 के आंकड़ों में वृद्धि की झलक मिलेगी क्योंकि मर्केंडाइज निर्यात का आंकड़ा पिछले साल की समान अवधि के मुकाबले लगभग 88 फीसदी तक पहुंच चुका है। उन्होंने इतने कम समय में इस बड़ी उपलब्धि को हासिल करने के लिए निर्यातकों की सराहना की। मंत्री ने कहा कि वास्तव में उनकी कड़ी मेहनत, आत्मविश्वास और दृढ़ संकल्प के कारण ऐसा संभव हुआ है। उन्होंने कहा कि यह उपलब्धि कहीं अधिक प्रशंसनीय है क्योंकि देश के कई इलाके अभी भी कंटेनमेंट जोन में हैं और वहां पाबंदियां लगाई गई हैं। उन्होंने कहा कि अधिकतर विदेशी बाजारों में इस तरह की शानदार वापसी नहीं हो पाई है। आयात के मुद्दे पर मंत्री ने कहा कि वह अभी भी काफी पीछे है जो एक अच्छी बात है। श्री पीयूष गोयल ने कहा कि अनलॉक 2.0 में कई तरह की अनुमति दी गई है और इसलिए उम्मीद है कि भविष्य में चीजें और बेहतर होंगी।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-

कृषि, सहकारिता एवं किसान कल्याण विभाग ने कोविड-19 महामारी के दौरान जमीनी स्तर पर किसानों और खेती से संबंधित गतिविधियों को सुविधाजनक बनाने के लिए कई उपाय किए

भारत सरकार का कृषि, सहकारिता एवं किसान कल्याण विभाग कोविड-19 महामारी के दौरान जमीनी स्तर पर किसानों और खेती से संबंधित गतिविधियों को सुविधाजनक बनाने के लिए कई उपाय कर रहा है। खरीफ फसलों के अंतर्गत बुवाई क्षेत्र में उल्लेखनीय प्रगति देखी गई है। धान: पिछले वर्ष की इसी अवधि के दौरान 49.23 लाख हेक्टेयर की तुलना में ग्रीष्मकालीन धान के तहत लगभग 68.08 लाख हेक्टेयर क्षेत्र में बुवाई की गई।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-

कोविड-19 के बाद पूर्वोत्तर क्षेत्र भारत के आर्थिक शक्ति के रूप में उभरने में अग्रणी भूमिका निभाएगा: डॉ. जितेंद्र सिंह

केंद्रीय मंत्री डॉ. जितेंद्र सिंह ने आज कहा कि कोविड युग की समाप्ति के बाद पूर्वोत्तर क्षेत्र अपनी विशाल प्राकृतिक और मानव कौशल संसाधनों की सहायता से भारत को एक आर्थिक शक्ति के रूप में उभरने के लिए नेतृत्व प्रदान करेगा। उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी के सफल प्रबंधन के कारण पूर्वोत्तर क्षेत्र की महिला शक्ति (मातृशक्ति) आर्थिक गतिविधियों के सभी क्षेत्रों में बढ़त प्राप्त कर रही हैं। उन्होंने कहा कि महामारी के खिलाफ लड़ाई में महिलाओं ने उत्कृष्ट प्रदर्शन किया है और पूर्वोत्तर क्षेत्र को कोरोना प्रबंधन के मॉडल के रूप में उभरने में सहायता प्रदान की है। वे एक वेबिनार के माध्यम से, पूर्वोत्तर क्षेत्र सामुदायिक संसाधन और प्रबंधन कार्यक्रम (एनईआरसीओआरएमपी) से जुड़े विभिन्न स्वयं सहायता समूहों के साथ बातचीत कर रहे थे।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-

पीआईबी के क्षेत्र अधिकारियों से प्राप्त जानकारियां

महाराष्ट्र : ऐसा दिन रहा जब भारत में पहली बार कोविड-19 के मरीजों की संख्या एक दिन में 20,000 बढ़ गई, महाराष्ट्र में 6,364 नये मामले सामने आए जिसके बाद राज्य में संक्रमित लोगों की संख्या, 1,92,990 पर पहुंच गई। 1.04 लाख से अधिक मरीजों का इलाज हो चुका है, कुल सक्रिय मामलों की संख्या 79,911 है। मुंबई शहर ने 1,392 मामलों की जानकारी दी है। जबकि मुंबई में कोरोना वायरस के मामलों की संख्या स्थिर हो गई है, मुंबई महानगर क्षेत्र के सेटलाइट शहर- ठाणे, कल्याण-डोम्बीवली, मीरा-भेंडर कोविड के नये हॉट स्पॉट बन गए हैं।             

गुजरात: गुजरात में पिछले 24 घंटों के दौरान कोरोनो वायरस के 687 नए पॉजीटिव मामले दर्ज किए, जिसके बाद कोरोना मरीजों की कुल संख्या 34,686 हो गई। इसके अलावा, कोविड-19 के कारण 18 मरीजों की जान जा चुकी है, राज्य में बीमारी से कुल मौतों की संख्या 1,906 है। अहमदाबाद नगर निगम, एएमसी ने नए मामलों का पता लगाने के बाद माइक्रो-कंटेनमेंट ज़ोन में शहर के 26 नए क्षेत्रों को जोड़ा है। एएमसी के स्वास्थ्य विभाग ने इन क्षेत्रों में घर-घर जाकर निगरानी और सामूहिक जांच शुरू कर दी है।

राजस्थान: आज सुबह 204 नए मामले और 3 मौतें दर्ज की गई हैं, जिसके बाद कोरोना वायरस पॉजिटिव रोगियों की कुल संख्या 19,256 तक पहुंच गई है।

 वर्तमान में राज्य में 3,461 सक्रिय मामले हैं, जबकि राज्य में मरने वालों की कुल संख्या 443 पर पहुंच चुकी है। राज्य में अब तक 8.70 लाख से अधिक लोगों की जांच की गई है।

मध्य प्रदेश: कोविड-19 के 191 नए मामलों की पहचान की गई है, जिसके बाद राज्य में कोरोनो वायरस पॉजिटिव मामलों की संख्या 14,297 पर पहुंच गई है। वर्तमान में राज्य में 2655 सक्रिय मामले हैं, 11049 लोग अब तक ठीक हो चुके हैं।

छत्तीसगढ़: छत्तीसगढ़ में 40 नए कोविड-19 पॉजिटिव मामलों की पुष्टि हुई है। राज्य में कोरोना संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 3,065 हो गई है। सक्रिय मामले 637 हैं।

गोवा: शुक्रवार को 95 पॉजीटिव मामलों की पहचान की गई, राज्य में कोविड-19 के कुल मामलों की संख्या 1,482 है। सक्रिय मामले 734 हैं।

चंडीगढ़: कोविड-19 के कारण वर्तमान स्थिति और संघ शासित प्रदेश के सरकारी स्कू्लों में अध्ययन कर रहे छात्रों के माता-पिता की आर्थिक पृष्ठभूमि को ध्यान में रखते हुए चंडीगढ़ के शिक्षा विभाग ने शैक्षणिक सत्र 2020-21 के पहले छह महीनों यानी अप्रैल-2020 से सितंबर-2020 तक एक बार के उपाय के रूप में सरकारी स्कूलों के 9वीं और 10वीं कक्षा के छात्रों की वार्षिक और मासिक धनराशि माफ करने का फैसला किया है। सरकारी स्कूलों में 9वीं और 10वीं कक्षा में पढ़ने वाले लगभग 24500 छात्रों को इस फैसले से फायदा होगा।

पंजाब: मुख्यमंत्री ने आगामी सप्ताह से कोविड-19 रैपिड एंटीजन जांच के लिए एक पायलट परियोजना शुरू करने के लिए आगे बढ़ने की इजाजत दे दी है। पायलट रैपिड एंटीजन परियोजना के सफल समापन पर, जिसमें न्यूनतम 1000 परीक्षण शामिल होंगे, राज्य में उद्योगों के फिर से खुलने और धान के खेतों में काम को देखते हुए लौटने वाले प्रवासी मजदूरों की इस तरह की जांच की जाएगी।

हरियाणा: उपमुख्यमंत्री ने कहा कि राष्ट्रव्यापी अनलॉक-2 के दौरान, औद्योगिक और वाणिज्यिक गतिविधियां सामान्य हो रही है और राज्य में सड़कों को मजबूत बनाने, मेट्रो के विस्तार और क्षेत्रीय रैपिड ट्रांजिट कॉरिडोर प्रणाली के विकास की योजनाओं को चरणबद्ध तरीके से तेजी से आगे बढ़ाया जाएगा।

हिमाचल प्रदेश: मुख्यमंत्री ने वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से अपने 38वें स्थापना सप्ताह समारोह में वैज्ञानिक और औद्योगिक अनुसंधान परिषद-हिमालयन जैव-संसाधन प्रौद्योगिकी संस्थान, पालमपुर को संबोधित करते हुए कहा कि संस्थान राज्य के टांडा, चंबा और हमीरपुर मेडिकल कॉलेजों को कोविड-19 के परीक्षण के लिए सभी आवश्यक उपकरण और लॉजिस्टिक सहायता प्रदान करने के अलावा कोविड-19 जांच में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है। उन्होंने कहा कि संस्थान उपभोक्ताओं के लिए अल्कोहल मुक्त हैंड सैनिटाइजर और हर्बल साबुन तैयार करने में भी सफल रहा।

केरल: राजधानी तिरुवनंतपुरम में हाई अलर्ट घोषित कर दिया गया है, और कोविड-19 को और अधिक क्षेत्रों में फैलने से रोकने के लिए कुछ और इलाकों को कंटेनमेंट ज़ोन घोषित किया गया है। सरकारी सचिवालय के बाहर ड्यूटी पर तैनात एक पुलिसकर्मी की पॉजिटिव जांच के बाद सशस्त्र बल रिजर्व शिविर में 22 पुलिसकर्मियों को क्वारंटाइन में रखा गया है। कोच्चि में इंदिरा गांधी सहकारी अस्पताल में इलाज के लिए आए एक व्यक्ति के कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद अस्पताल के 15 कर्मचारियों को क्वारंटाइन में रखा गया है। नई दिल्ली में आज एक और केरलवासी की कोविड से मौत हो गई, इसके साथ ही दिल्ली में मरने वाले मलयाली लोगों की संख्या 13 हो गई है। केरल में कल कोविड-19 के 211 नए मामलों की पुष्टि की गई, जो एक ही दिन में संक्रमित लोगों की सबसे अधिक संख्या है। संक्रमण के कारण 2,098 मरीजों का अभी भी इलाज चल रहा है और कुल 1,77,001 लोगों को विभिन्न जिलों में निगरानी में रखा गया है।

तमिलनाडु: पुडुचेरी में, निजी मेडिकल कॉलेज कोविड देखभाल केन्द्र स्थापित करने का विरोध कर रहे हैं; स्वास्थ्य और परिवार कल्याण निदेशक ने इस मुद्दे को हल करने के लिए उपराज्यपाल किरण बेदी और मुख्यमंत्री वी. नारायणसामी की सहायता मांगी है। पुडुचेरी में कोविड-19 से एक मौत और 80 ताजा मामलों की जानकारी मिली है, जिसके बाद कुल मामलों की संख्या 904 और मरने वालों की संख्या 14 हो गई है। स्वास्थ्य अधिकारियों सहित जेआईपीएमईआर परिसर में कोविड-19 के 20 पॉजिटिव मामले सामने आने के बाद, जिला कलेक्टर ने विस्तृत जांच के आदेश दिए हैं। तमिलनाडु भारत का दूसरा सबसे अधिक कोरोना प्रभावित राज्य बन गया है, जहां कुल कोविड मामलों की संख्या 1 लाख को पार कर कल 102721 तक पहुंच चुकी है। 4329 नए मामले, इलाज के बाद स्वस्थ होने वाले 2357 और 64 मौतों की कल जानकारी दी गई। कुल सक्रिय मामले: 42,955, मृत्यु: 1,385, इलाज के बाद अस्पताल से छुट्टी प्राप्तः 58,378, चेन्नई में सक्रिय मामले: 23581 हैं।

कर्नाटक: राज्य ने स्पर्शोन्मुख मामलों के घर में एकांतवास और मृत लोगों के अंतिम संस्कार के लिए विस्तृत दिशा-निर्देश जारी किए हैं। बूथ स्तर की कार्य बल समितियों का गठन किया जाएगा और यह कोविड प्रबंधन के लिए बुनियादी संरचनात्मक और कार्यात्मक इकाई होगी। अस्पतालों में बिस्तर के आवंटन के लिए एक केन्द्रीकृत प्रणाली बनाई जा रही है और इसकी देख-रेख के लिए एक नोडल अधिकारी नियुक्त किया गया है। शहर में 400 एम्बुलेंस तैनात की जाएंगी जिनमें से 2 प्रत्येक वार्ड के लिए समर्पित होंगी। गृह में एकांतवास और अंतिम संस्कार के दिशा-निर्देशों का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ सख्त कानूनी कार्रवाई की जाएगी। पूरे राज्य में आज पूर्ण लॉकडाउन है, केवल आपातकालीन सेवाएं उपलब्ध रहेगी। राज्य में कल 1694 नए मामले, इलाज के बाद अस्पताल से छुट्टी प्राप्त  471 मामले और 21 मौतें दर्ज की गई; बेंगलुरु शहर में 994 मामले, कुल पॉजीटिव मामले: 19,710, सक्रिय मामले: 10,608 और मौतों की संख्या : 293 है।

आंध्र प्रदेश: यह कहते हुए कि कोविड-19 एक ऐसे व्यक्ति से नहीं फैलता है, जो कम से कम 4-6 घंटे पहले मर चुका हो, विशेष मुख्य सचिव (स्वास्थ्य) के.एस. जवाहर रेड्डी ने जनता से अपील की है कि वे कोविड के शिकार लोगों के दाह संस्कार में बाधा न डालें। श्रीकाकुलम में इंडियन रेड क्रॉस सोसाइटी के स्वयंसेवक प्रोटोकॉल के अनुसार, कोविड-19 से मरने वाले व्यक्तियों का दाह संस्कार करने में अधिकारियों की सहायता के लिए आगे आए हैं। तमिलनाडु में मुस्लिम एनजीओ जिसने कोविड-19 पीड़ितों का अंतिम संस्कार सम्मानजनक तरीके से करने की पहल की, उससे प्रेरित होकर जिला कलेक्टर जे. निवास ने कहा, उसी तरह का कार्य जिले में किया गया है। 24,962 नमूनों की जांच करने के बाद पिछले 24 घंटों के दौरान 765 नए मामले सामने आए हैं, 311 लोगों को इलाज के बाद अस्पताल से छुट्टी दे दी गई और 12 मौतें हुईं। 765 मामलों में से 32 अंतर-राज्यीय मामले हैं और छह विदेश के। कुल मामले: 17,699, सक्रिय मामले: 9,473, मृत्यु: 218, अस्पताल से छुट्टी प्राप्त : 8,008 मामले हैं।

तेलंगाना: राज्य में घर में एकांतवास की रणनीति प्रभावी ढंग से काम कर रही है। राज्य में अब तक करीब 12,000 पॉजिटिव रोगियों ने कोविड-19 से लड़ने के लिए घर में एकांतवासका रास्ता अपनाया और उनमें से लगभग आधे लोग ठीक हो चुके हैं। कल कुल 20,462 मामले दर्ज किए गए, इनमें सक्रिय मामले: 9,984 हैं, कुल 283 लोगों की मौत हुई है और 10,195 को इलाज के बाद अस्पताल से छुट्टी दे दी गई।

अरुणाचल प्रदेश: ईटानगर में कोविड-19 के बढ़ते मामलों को देखते हुए, अरुणाचल प्रदेश सरकार ने सोमवार 6 जुलाई (5 बजे) से 12 जुलाई शाम 5 बजे तक राजधानी ईटानगर क्षेत्र में लॉकडाउन की घोषणा कर दी। ईटानगर में आज मीडियाकर्मियों को संबोधित करते हुए मुख्य सचिव नरेश कुमार ने कहा एसओपी का विवरण जल्द ही जारी किया जाएगा। अरुणाचल प्रदेश में गुरुवार को एक ही दिन में अधिकतम बढ़ोतरी दर्ज की गई जब कोविड-19 के 37 नए मामले दर्ज किए गए, और कल राज्य में 20 नए कोविड-19 पॉजिटिव मामले दर्ज किए गए, इसके साथ ही कुल पुष्ट मामलों की संख्या 252 हो गई है, जिनमें 176 सक्रिय मामले हैं और 75 पहले ही ठीक हो चुके हैं और अब तक एक व्यक्ति की मौत हुई है।

मिजोरम: मिजोरम में तीन और कोविड-19 मरीजों की जानकारी मिली है। राज्य में अब सक्रिय मामलों की संख्या 32 हो गई है जबकि अब तक 130 मरीज ठीक हो चुके हैं।

पीआईबी द्वारा जांचे गए तथ्य

 Description: http://164.100.117.97/WriteReadData/userfiles/image/image007ZY0Y.jpg

Description: http://164.100.117.97/WriteReadData/userfiles/image/image0083B6P.jpg

*****

एसजी/एएम/केपी/एसके
 

 



(Release ID: 1636603) Visitor Counter : 65