मंत्रिमण्‍डल

केंद्रीय मंत्रिमंडल ने बीएसएनएल को 4जी/5जी स्पेक्ट्रम के आवंटन को अनुमोदित किया


तीसरा पुनरुद्धार पैकेज परिव्यय 89,047 करोड़ रुपये का है

बीएसएनएल की अधिकृत पूंजी 1,50,000 करोड़ रुपये से बढ़ाकर 2,10,000 करोड़ रुपये की जाएगी

Posted On: 07 JUN 2023 2:56PM by PIB Delhi

एक उल्लेखनीय कदम के रूप में, पुनरुद्धार कार्यनीति के हिस्से के रूप में, प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी की अध्यक्षता में केंद्रीय मंत्रिमंडल ने बीएसएनएल के लिए 89,047 करोड़ रुपये के कुल परिव्यय के साथ तीसरे पुनरुद्धार पैकेज को आज मंजूरी दे दी। इसमें इक्विटी समावेश के माध्यम से बीएसएनएल के लिए 4जी/5जी स्पेक्ट्रम का आवंटन शामिल है।

बीएसएनएल की अधिकृत पूंजी को 1,50,000 करोड़ रुपये से बढ़ाकर 2,10,000 करोड़ रुपये किया जाएगा। 

इस पुनरुद्धार पैकेज के साथ, बीएसएनएल भारत के सुदूर क्षेत्रों को कनेक्टिविटी उपलब्ध कराने पर फोकस करने वाली एक स्थिर दूरसंचार सेवा प्रदाता कंपनी के रूप में उभरेगी।

स्पेक्ट्रम के विवरण इस प्रकार हैं :

बैंड

आवंटित स्पेक्ट्रम

बजटीय सहायता

 

700 मेगाहर्ट्ज

22 एलएसए में युग्मित 10 मेगाहर्ट्ज 

46,338.60  करोड़ रुपये 

3300 मेगाहर्ट्ज

22 एलएसए में 70 मेगाहर्ट्ज 

26,184.20 करोड़ रुपये 

26 गीगाहर्ट्ज

21 एलएसए में 800 मेगाहर्ट्ज  और 1 एलएसए में 650 मेगाहर्ट्ज 

6564.93 करोड़ रुपये 

2500 मेगाहर्ट्ज

6 एलएसए में 20 मेगाहर्ट्ज  और 2 एलएसए में 10 मेगाहर्ट्ज 

9428.20 करोड़ रुपये 

 

विविध मदें

531.89 करोड़ रुपये 

कुल

 

89,047.82 करोड़ रुपये 

 

इस स्पेक्ट्रम आवंटन के साथ, बीएसएनएल निम्न करने में सक्षम होगी :

क. अखिल भारतीय 4 जी और 5 जी सेवाएं उपलब्ब्ध कराने

ख. विभिन्न कनेक्टिविटी परियोजनाओं के तहत ग्रामीण और बिना कवर किए गए गांवों में 4जी कवरेज उपलब्ध कराने

ग. हाई-स्पीड इंटरनेट के लिए फिक्स्ड वायरलेस एक्सेस (एफडब्ल्यूए) सेवाएं उपलब्ध कराने

घ. कैप्टिव गैर-सार्वजनिक नेटवर्क (सीएनपीएन) के लिए सेवाएं/ स्पेक्ट्रम उपलब्ध कराने

बीएसएनएल/एमटीएनएल पुनरुद्धार :

- सरकार ने 2019 में बीएसएनएल/एमटीएनएल के लिए पहले पुनरुद्धार पैकेज को मंजूरी दी थी। यह राशि 69,000 करोड़ रुपये की थी और इससे बीएसएनएल/एमटीएनएल में स्थिरता आई।

- 2022 में, सरकार ने बीएसएनएल/एमटीएनएल के लिए दूसरे पुनरुद्धार पैकेज को मंजूरी दी थी, जिसकी राशि 1.64 लाख करोड़ रुपये की थी। इसने कैपेक्स के लिए वित्तीय सहायता, ग्रामीण लैंडलाइनों के लिए वायबिलिटी गैप फंडिंग, बैलेंस शीट को डि-स्ट्रेस करने और एजीआर बकायों के निपटान, बीएसएनएल के साथ बीबीएनएल के विलय आदि के लिए वित्तीय सहायता उपलब्ध कराई।

- इन दोनों पैकेजों के परिणामस्वरूप बीएसएनएल ने वित्त वर्ष 2021-22 से परिचालनगत लाभ अर्जित करना आरंभ कर दिया है। बीएसएनएल का कुल ऋण 32,944 करोड़ रुपये से घटकर 22,289 करोड़ रुपये रह गया है।

- बीएसएनएल के प्रमुख वित्तीय विवरण इस प्रकार हैं :

 

वित्त वर्ष 2020-21

वित्त वर्ष 2021-22

वित्त वर्ष 2022-23

राजस्व

 18,595 करोड़ रुपये

19,053 करोड़ रुपये

20,699 करोड़ रुपये

प्रचालनगत लाभ

 

1,177 करोड़ रुपये

944 करोड़ रुपये

1,559 करोड़ रुपये

 

- बीएसएनएल ने होम फाइबर सेगमेंट में मजबूत वृद्धि अर्जित की है। यह प्रति महीने 1 लाख से अधिक नए कनेक्शन उपलब्ध करा रही है। बीएसएनएल का कुल होम फाइबर ग्राहकों का आधार मई 2023 में 30.88 लाख है। पिछले वर्ष होम फाइबर से कुल राजस्व 2,071 करोड़ रुपये था।

स्वदेशी 4जी/5जी प्रौद्योगिकी

- दूरसंचार प्रौद्योगिकी विश्व में समग्र प्रौद्योगिकी प्रदाताओं की एक सीमित संख्या के साथ एक कार्यनीतिक प्रौद्योगिकी है।

- प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के आत्मनिर्भर विजन के तहत, भारत की अपनी 4जी/5जी प्रौद्योगिकी स्टैक को सफलतापूर्वक विकसित किया गया है।

- इसकी तैनाती आरंभ हो चुकी है। प्रक्षेत्र तैनाती के कुछ महीनों के बाद, इसे देश भर में बीएसएनएल नेटवर्क पर तेजी से शुरु कर दिया जाएगा।

*******

एमजी/एमएस/आरपी/एसकेजे



(Release ID: 1931958) Visitor Counter : 198