PIB Headquarters

कोविड-19 पर पीआईबी का दैनिक बुलेटिन

Posted On: 04 SEP 2020 6:08PM by PIB Delhi

 Description: Coat of arms of India PNG images free download Description: http://164.100.117.97/WriteReadData/userfiles/image/image002H4UQ.jpg

 

(पिछले 24 घंटों में जारी कोविड-19 से संबंधित प्रेस विज्ञप्तियां, पीआईबी के क्षेत्रीय कार्यालयों से मिली जानकारियां और पीआईबी द्वारा जांचे गए तथ्य शामिल हैं)

 

  • भारत की कुल रिकवरी 30 लाख से अधिक हुई।
  • 0.5 प्रतिशत से कम रोगी वेंटिलेटर पर, 2 प्रतिशत आईसीयू में और 3.5 प्रतिशत से कम ऑक्सीजन सपोर्ट पर हैं।
  • कोविड-19 रोगियों के बीच रिकवरी दर 77.15 प्रतिशत है।
  • सक्रिय मामलों (8,31,124) में कमी आई है वर्तमान में सक्रिय मामले कुल पॉजिटिव मामलों के केवल 21.11 प्रतिशत हैं।
  • लगातार दूसरे दिन 11.70 लाख से अधिक नमूनों की जांच की गई
  • दैनिक पॉजिविटी दर 7.5 प्रतिशत से कम तथा संचयी पॉजिविटी दर 8.5 प्रतिशत से कम है।

 

Description: https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image00241LO.jpg

 

Description: https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image003CD92.jpg

 

अधिक संख्या में रोगियों के उपचार होने से भारत की कुल रिकवरी 30 लाख से अधिक हुई

भारत की मामला मृत्‍यु दर वैश्विक औसत से न केवल कम है, बल्कि इसमें लगातार कमी आ रही है (वर्तमान में यह 1.74 प्रतिशत है) लेकिन सक्रिय मामलों के अनुपात का 0.5 प्रतिशत से कम हिस्‍सा वेंटिलेटर सपोर्ट पर हैं। आंकड़े दर्शाते हैं कि 2 प्रतिशत मामले आईसीयू में हैं, 3.5 प्रतिशत से कम सक्रिय मामले है, जो ऑक्सीजन युक्‍त बेड पर है। इन उपायों के परिणामस्वरूप, भारत की कुल कोविड-19 रिकवरी आज 30 लाख (30,37,151) से अधिक हो गई है। पिछले 24 घंटों में 66,659 मरीजों के ठीक होने से भारत ने लगातार 8वें दिन 60,000 से अधिक मरीजों के ठीक होने की गति जारी रखी है। कोविड-19 रोगियों के बीच रिकवरी दर 77.15 प्रतिशत है। अधिक संख्‍या में मरीजों के ठीक होने से ठीक हुए मरीजों और सक्रिय मामलों के बीच अंतर में काफी बढ़ोतरी हुई है। यह अंतर अब तक 22 लाख को पार कर गया। इससे यह सुनिश्चित होता है कि देश में सक्रिय मामलों की वास्तविक संख्‍या (8,31,124 जो सक्रिय चिकित्सा देखभाल के अधीन हैं) कम हुई हैं और वर्तमान में सक्रिय मामले कुल पॉजिटिव मामलों के केवल 21.11 प्रतिशत हैं।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-https://pib.gov.in/PressReleasePage.aspx?PRID=1651323

 

भारत कोविड-19 परीक्षणों में लगातार नए कीर्तिमान हासिल कर रहा है। लगातार दूसरे दिन 11.70 लाख से अधिक नमूनों की जांच की गई। बहुत अधिक परीक्षण स्तरों के बावजूद, दैनिक पॉजिविटी दर 7.5% से कम तथा संचयी पॉजिविटी दर 8.5% से कम है।

दैनिक परीक्षण क्षमता 10 लाख से अधिक बढ़ाने के लक्ष्य को सफलतापूर्वक अर्जित करने के बाद भारत ने लगातार दो दिन कोविड-19 परीक्षणों के मामले में नया कीर्तिमान हासिल किया है। इन लगातार दो दिनों में पूरे देश में 11.70 लाख से अधिक नमूनों की जांच की गई। पिछले 24 घंटों में 11,69,765 नमूनों की जांच की गई है। किसी अन्य देश ने अभी तक बहुत अधिक दैनिक परीक्षण के इन स्तरों को हासिल नहीं किया है। दैनिक परीक्षणों में आई तेजी के कारण संचयी परीक्षण लगभग 4.7 करोड़ हो गये हैं। अभी तक संचयी परीक्षणों की संख्‍या 4,66,79,145 हो गई है। इस बहुत अधिक दैनिक परीक्षण के बावजूद दैनिक पॉजिविटी दर अभी भी 7.5 प्रतिशत से कम है, जबकि संचयी पॉजिविटी दर 8.5 प्रतिशत से कम है। मृत्‍यु दर 1 प्रतिशत से कम करने के उद्देश्‍य से भारत की मामला मृत्‍युदर (सीएफआर) 1.74 प्रतिशत हो गई है, ऐसा लगातार मृत्‍यु दर में मजबूत गिरावट के कारण हुआ है। परीक्षण स्तरों में भारत में व्‍यापक बढ़ोतरी पूरे देश में नैदानिक ​​प्रयोगशाला नेटवर्क के निरंतर विस्‍तार के कारण हुई है। आज सरकारी क्षेत्र में 1025 और निजी क्षेत्र में 606 प्रयोगशालाएं काम कर रही हैं। इससे पूरे देश में कुल मिलाकर 1631 प्रयोगशालाएं हो गई हैं।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-https://pib.gov.in/PressReleasePage.aspx?PRID=1651254

 

प्रधानमंत्री ने आईपीएस प्रशिक्षुओं के साथ बातचीत की

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने आज सरदार वल्लभभाई पटेल राष्ट्रीय पुलिस अकादमी (एसवीपी एनपीए) में 'दीक्षांत परेड कार्यक्रम' के दौरान आईपीएस प्रशिक्षुओं के साथ वीडियो-कॉन्फ्रेंस के माध्यम से बातचीत की। इस अवसर पर प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि वह अकादमी से पास आउट हो चुके युवा आईपीएस अधिकारियों के साथ नियमित रूप से बातचीत करते हैं लेकिन इस साल कोरोना वायरस के कारण वह उनसे मिलने में असमर्थ रहे। उन्होंने कहा कि मुझे यकीन है कि अपने इस कार्यकाल के दौरान मैं निश्चित रूप से आप सभी से कहीं मिलूंगा। प्रधानमंत्री  ने आईपीएस प्रशिक्षुओं को सफलतापूर्वक अपना प्रशिक्षण पूरा करने की शुभकामनाएं दीं। उन्होंने कहा कि यह बहुत महत्वपूर्ण है कि युवा आईपीएस अधिकारियों को अपनी वर्दी की ताकत धूमिल करने की बजाय उस पर गर्व होना चाहिए। उन्होंने कहा कि अपनी खाकी वर्दी के लिए सम्मान कभी कम मत होने देना। उन्होंने कहा कि खासकर कोविड-19 महामारी के दौरान पुलिस द्वारा किए गए अच्छे कार्यों की वजह से आम लोगों के मन मस्तिष्क में खाकी वर्दी के ‘मानवीय’ चेहरे को उकेरा गया है। प्रधानमंत्री ने कोविड-19 महामारी के दौरान उभर कर सामने आए पुलिस के 'मानवीय' पक्ष की सराहना की।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-https://pib.gov.in/PressReleasePage.aspx?PRID=1651339

 

प्रधानमंत्री ने यूएस-आईएसपीएफ के अमेरिका-भारत 2020 शिखर सम्मेलन में विशेष संबोधन दिया

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने कल वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से अमेरिका-भारत 2020 शिखर सम्मेलन में विशेष संबोधन दिया। सम्मेलन को संबोधित करते हुए श्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि वैश्विक महामारी का हर किसी पर असर पड़ा है और यह हमारी दृढ़ता, हमारी सार्वजनिक स्वास्थ्य व्यवस्था, हमारी अर्थव्यवस्था की परीक्षा ले रही है। उन्होंने कहा कि वर्तमान हालात एक नई सोच की मांग करते हैं। ऐसी सोच जहां विकास की रणनीति मानव केन्द्रित हो। जहां हर किसी के बीच सहयोग की भावना हो। आगे की रणनीति पर बात करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि देश क्षमताओं के विस्तार, गरीबों की सुरक्षा और हमारे नागरिकों के भविष्य को बचाने पर ध्यान केन्द्रित कर रहा है। कोविड के खिलाफ लड़ाई के लिए सुविधाएं बढ़ाने और नागरिकों के बीच जागरूकता के प्रसार की दिशा में उठाए गए विभिन्न कदमों का उल्लेख करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा, त्वरित रूप से कदम उठाए जाने से सुनिश्चित हुआ कि 1.3 अरब जनसंख्या और सीमित संसाधनों वाले देश में प्रति मिलियन आबादी पर मृत्यु दर दुनिया में सबसे कम बनी हुई है। उन्होंने इस बात पर खुशी जाहिर की कि भारत का कारोबारी समुदाय, विशेष रूप से छोटे उपक्रम ज्यादा सक्रिय रहे हैं। उन्होंने कहा, लगभग शून्य से शुरुआत करते हुए उन्होंने हमें दुनिया में दूसरा सबसे बड़ा पीपीई किट विनिर्माता बना दिया है। विभिन्न सुधारों का उल्लेख करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि महामारी 1.3 अरब भारतीयों की आकांक्षाओं और महत्वाकांक्षाओं को प्रभावित करने में नाकाम रही है।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-https://pib.gov.in/PressReleseDetail.aspx?PRID=1651149

 

प्रधानमंत्री का यूएस-आईएसपीएफ के शिखर सम्मेलन में विशेष संबोधन

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-https://pib.gov.in/PressReleasePage.aspx?PRID=1651147

 

श्री पीयूष गोयल ने कहा कि निर्यात और आयात में सकारात्मक संकेत दिख रहे हैं और व्यापार घाटे में कमी आ रही है

केंद्रीय वाणिज्य और उद्योग मंत्री श्री पीयूष गोयल ने आज विभिन्न निर्यात संवर्धन परिषदों (ईपीसी) के पदाधिकारियों से मुलाकात कर देश के वैश्विक व्यापार, ज़मीनी स्थिति और निर्यातकों की समस्याओं पर विचार-विमर्श किया। उद्घाटन भाषण में श्री पीयूष गोयल ने कहा कि देश में निर्यात के साथ-साथ आयात में सकारात्मक संकेत देखे जा रहे हैं। इस वर्ष अप्रैल में कोरोना महामारी के कारण निर्यात में तेज गिरावट आने के बाद यह अब गत वर्ष के स्तर पर पहुंच रहा है। पूंजीगत माल का आयात कम न होना सकारात्मक संकेत है और आयात में कमी मुख्य रूप से कच्चे तेल, सोना और उर्वरक में देखी गई है। उन्होंने कहा कि व्यापार घाटे में तेजी से कमी आ रही है और लचीली पूर्ति श्रृंखला तथा निर्यातकों के परिश्रम और धीरज के कारण विश्व व्यापार में हमारी हिस्सेदारी बढ़ी है।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-https://pib.gov.in/PressReleasePage.aspx?PRID=1651249

 

04 सितम्‍बर 2020 के अनुसार खरीफ फसलों की 1095.38 लाख हेक्टेयर के रिकॉर्ड रकबे में बुवाई की गई है

खरीफ 2020 के मौजूदा सीजन में 1095.38 लाख हेक्टेयर के रिकॉर्ड रकबे में बुवाई की गई है। धान की बुवाई अभी चल रही है, जबकि दालों, मोटे अनाजों, मिलिट्स और तिलहनों की बुवाई लगभग समाप्‍त हो गई है। कोविड-19 का खरीफ फसलों के रकबे की बढ़ोतरी पर कोई प्रभाव नहीं पड़ा है। केन्द्रीय कृषि और किसान कल्याण मंत्री श्री नरेन्द्र सिंह तोमर ने कहा कि भारत सरकार द्वारा बीज, कीटनाशक, उर्वरक, मशीनरी और ऋण जैसी लागत सामग्रियों की समय पर उपलब्धता से महामारी के कारण लॉकडाउन की स्थिति के बावजूद भी बड़े रकबे में बुवाई संभव हुई है। कृषि और किसान कल्याण मंत्रालय और राज्य सरकारों ने मिशन कार्यक्रमों और प्रमुख योजनाओं को सफलतापूर्वक लागू करने के लिए सभी प्रयास किए हैं। श्री तोमर ने कहा कि समय पर कार्रवाई, प्रौद्योगिकियों को अपनाने और सरकारी योजनाओं का लाभ उठाने का श्रेय किसानों को जाता है।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-https://pib.gov.in/PressReleasePage.aspx?PRID=1651317

 

पत्र सूचना कार्यालय के क्षेत्रीय कार्यालयों से मिली जानकारियां

  • हरियाणा: राज्य में कोविड-19 महामारी के संबंध में अनलॉक-4 के लिए दिशा-निर्देश पहले से ही लागू किए गए हैं। हरियाणा सरकार ने राज्य में फिल्म शूटिंग के लिए मानक संचालन प्रक्रिया (एसओपी) और दिशा-निर्देश जारी किए हैं। शूटिंग की अवधि कम से कम संभव समय तक सीमित की जाएगी और शूटिंग के समय पचास से अधिक लोग मौजूद नहीं रहेंगे। शूटिंग की शुरुआत इसमें शामिल सभी व्यक्तियों की थर्मल स्कैनिंग करने और बिना लक्षण के मिलने के बाद ही होगी। शूटिंग की जगह चुनते समय इसके कंटेनमेंट जोन के निकट होने या कंटेनमेंट जोन में न होने का ध्यान रखा जाएगा। शूटिंग के लिए अनुमति और मंजूरी सिर्फ सुरक्षित क्षेत्रों के लिए ही जारी की जाएगी।
  • पंजाब : राज्य सरकार ने सरकारी अस्पतालों और मोबाइल वैन में वॉक-इन जांच की सुविधा शुरू करने का निर्णय लिया है। इसके साथ ही राज्य में कोरोना वायरस के मामले बढ़ने के बीच कोविड की जांच को प्रोत्साहन देने के लिए निजी डॉक्टर और अस्पतालों में भी 250 रुपए में यह सुविधा उपलब्ध होगी। तुरंत जांच के परिणाम जानने के इच्छुक लोग रैपिड एंटीजन और आरटी-पीसीआर जांच करा सकते हैं।
  • अरुणाचल प्रदेश: राज्य में 214 और लोग कोविड-19 से संक्रमित पाए गए हैं और एक व्यक्ति की मृत्यु हुई है। अरूणाचल प्रदेश में कोविड-19 से अब तक 8 लोगों की मृत्यु हो चुकी है।
  • असम: राज्य में 3054 और लोग कोविड-19 पाजिटिव मिले हैं। राज्य में कल 1971 लोग कोविड-19 से स्वस्थ हुए। राज्य में अब कोरोना के 118333 कुल मामले और 27303 सक्रिय मामले हैं। राज्य में अब तक 330 लोगो की मृत्यु हो चुकी है।
  • मणिपुर: राज्य में 102 और लोग कोविड-19 पाजिटिव पाए गए हैं और 3 और लोगों की मृत्यु हुई है। मणिपुर में कोरोना वायरस से 167 लोग स्वस्थ हुए हैं और रिकवरी दर 72 प्रतिशत है। राज्य में अब 1803 सक्रिय मामले हैं।
  • मिजोरम: राज्य में कल कोविड-19 के छह नए मामले सामने आए। मिजोरम में अब कोरोना वायरस के कुल 1046 मामले हैं। मिजोरम सरकार ने असम और त्रिपुरा की सीमा पर अनिवार्य रैपिड एंटीजन जांच अब बंद करने का निर्णय लिया है। अब मिजोरम में प्रवेश करने वाले लोगों को सिर्फ थर्मल स्कैनिंग और अन्य मूल प्रक्रिया संबंधी जांच से गुजरना होगा।
  • नगालैंड: राज्य में अब तक 39,769 नमूने आरटी-पीसीआर द्वारा और 23,638 नमूने ट्रूनेट मशीन द्वारा जांच के लिए भेजे गए हैं।
  • केरल: सरकारी सेवाओं में कार्यरत जूनियर डॉक्टरों ने वेतन कटौती वापिस न लेने पर 10 सितंबर को इस्तीफ़ा देने की धमकी दी है। कोविड फस्टलाइन उपचार केंद्रों और अन्य स्वास्थ्य केंद्र में नियुक्त 868 डॉक्टरों ने मुख्यमंत्री को ज्ञापन देकर वेतन कटौती न करने का अनुरोध किया है। इस बीच मुख्यमंत्री ने घोषणा की है कि सरकार वेतन कटौती के निर्णय की फिर से समीक्षा नहीं करेगी। राज्य में कल कोविड-19 के 1,553 मामले सामने आए। राज्य में इस समय 21,516 लोग उपचार प्राप्त कर रहे हैं और विभिन्न जिलो में 1.92 लाख लोग पृथकवास में हैं। राज्य में अब तक कोरोना से 315 लोगों की मृत्यु हो चुकी है।
  • तमिलनाडु: पुडुचेरी में एक दिन में कोविड से अब तक के सबसे ज्यादा 20 लोगों की मृत्यु हुई। कुछ दिन पहले एक ही दिन में 13 लोगों की मृत्यु हुई थी। राज्य में शुक्रवार सुबह 10 बजे समाप्त हुए चौबीस घंटे में 591 और लोग कोरोना पॉजिटिव मिले। मद्रास उच्च न्यायालय ने 21 सितंबर से शुरू हो रही दसवीं कक्षा की व्यक्तिगत परीक्षा में शामिल होने वाले शारीरिक और मानसिक रूप से दिव्यांग उम्मीदवारों तथा उनके लेखक की कोरोना जांच कराने के लिए स्कूल शिक्षा विभाग को निर्देश दिया है। ऑक्सफ़ोर्ड विश्वविद्यालय द्वारा विकसित कोविडशील्ड टीका दूसरे चरण के नैदानिक परीक्षण के लिए चेन्नई पहुंच गया है। भारत में बहु-केंद्रीय अध्ययन के रुप में टीके की जांच 18 वर्ष से अधिक आयु के 300 स्वास्थ्य स्वंयसेवकों पर राजीव गांधी सरकारी जनरल अस्पताल और श्री रामचंद्र उच्च शिक्षा और अनुसंधान संस्थान, पोरूर में की जाएगी।
  • कर्नाटक: जुलाई के बाद से राज्य में कोविड-19 से मृत्यु के मामले तेजी से बढ़े हैं। राज्य में गुरुवार को 104 लोगों की मृत्यु के साथ अब तक 6054 लोगों की कोरोना वायरस से मृत्यु हो चुकी है। बेंगलुरु मेट्रो रेल कार्पोरेशन 7 सितंबर से मेट्रो सेवा की शुरुआत को देखते हुए एक ऐप की शुरुआत करेगा जिससे यात्री अपने स्मार्ट कार्ड को टॉप-अप कर सकेंगे। उच्च न्यायालय ने राज्य सरकार से कोरोना पॉजिटिव बंदियों की जानकारी मांगी है और राज्य सरकार को इस संबंध में शपथपत्र दाखिल करने के निर्देश दिए हैं। राज्य सरकार ने उसके द्वारा भेजे गए कोरोना नमूनों की जांच में देरी करने वाली निजी परीक्षणशालों को दंडित करने का निर्णय लिया है।
  • आंध्रप्रदेश: मुख्यमंत्री ने आरोग्यश्री योजना लागू न करने वाले अस्पतालों के विरुद्ध कड़ी कार्यवाही करने के निर्देश दिए हैं। आरोग्यश्री की सेवा आसानी से उपलब्ध कराने के लिए अधिकारियों को आरोग्यश्री सूची में सम्मिलित प्रत्येक अस्पताल में कोविड सहायता डेस्क स्थापित करने की सलाह दी गई है। विशाखापट्टनम में कोविड-19 के मामले 39 हजार से अधिक हो गए हैं। गुंटुर के ज़िलाधीश ने नो़डल अधिकारियों को कोविड-19 के पॉजिटिव मामलों का पूरी तरह से पता लगाने का निर्देश दिया है। उन्होंने कहा कि अभी 40,044 रोगियो की मैंपिग पूरी होनी है और 9,583 रोगियों को अभी ट्राइएंजिग से गुजरना है।
  • तेलंगाना: बीते चौबीस घंटे में कोरोना के 2478 नए मामले सामने आए, 2011 लोग स्वस्थ हुए और 10 लोगों की मृत्यु हुई। 2478 मामलो में से 267 मामले जीएचएमसी से सामने आए। राज्य में अब कोरोना के 1,35,884 मामले हैं। इनमें से 32,994 सक्रिय मामले हैं और 866 लोगों की मृत्यु हो चुकी है। 1,02,024 लोगों को उपचार के बाद अस्पताल से छुट्टी दी गई है। राज्य में स्वास्थ्य कर्मियों में पाजिटिविटी दर 18 प्रतिशत है और यह देश भर में सबसे अधिक है। 20 से 50 वर्ष की आयु वर्ग में कोविड-19 के अधिक मामलों को देखते हुए सरकार ने लोगों को सिर्फ बेहद आवश्यक कार्य होने पर ही घर से बाहर निकलने का अनुरोध किया है। तेलंगाना विधानसभा के मॉनसून सत्र में शामिल होने वाले सभी विधायकों और पत्रकारों को अनिवार्य रूप से कोविड-19 की जांच करानी होगी।
  • महाराष्ट्र: राज्य के पशुपालन और डेरी विकास मंत्री तथा कांग्रेस नेता सुनील केदार (59 वर्षीय) कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए हैं। सुनील केदार महाराष्ट्र की विकास अगाडी गठबंधन सरकार के छठे मंत्री हैं जो कोरोना पॉजिटिव हुए हैं। राज्य में गुरुवार को 18,105 नए मामले सामने आए। जिसके बाद कुल मामले 8.43 लाख से अधिक हो गए हैं। मुंबई में अब कोरोना के 1.50 लाख मामले हैं। इस बीच राज्यपाल श्री भगत सिंह कोश्यारी ने विश्वविद्यालय के कुलाधिपति के रूप में राज्य सरकार के ऑनलाइन परीक्षा कराने के प्रस्ताव को अनुमति दे दी है। यह परीक्षा विद्यार्थी अपने घर से दे सकते हैं। 
  • गुजरात: गुरुवार को एक दिन में अब तक के सबसे अधिक 1,325 मामले सामने आने के बाद राज्य में संचयी मामलों की संख्या 1 लाख हो गई है। गुजरात देश का 11वां राज्य है जिसमें 1 लाख से अधिक मामले हैं। राज्य में अब कोरोना के कुल 1,00,375 मामले हैं। एक विश्लेषण के अनुसार राज्य में जहां पहले 25 हजार मामले सामने आने में 90 दिन लगे थे वहीं अंतिम 25 हजार मामले सामने आने में सिर्फ 23 दिन लगे।
  • राजस्थान: राज्य सरकार ने निजी अस्पतालों में कोरोना वायरस के उपचार के लिए दर निर्धारित की है। इस फैसले के अनुसार प्रतिदिन उपचार के लिए 5 हजार से 9,900 रुपए की दर निर्धारित की गई है। ये निर्णय निजी अस्पतालों द्वारा कोरोना के उपचार के लिए अधिक शुल्क लेने की रिपोर्ट के बीच लिया गया है। उपचार की लागत में 1200 रुपए की पीपीई किट भी शामिल होगी। राज्य में अब कोरोना वायरस के 16,067 सक्रिय मामले हैं।
  • मध्यप्रदेश: राज्य में गुरुवार को एक दिन में अब तक के सबसे ज्यादा 1,672 नए मामले सामने आए। राज्य में अब 68,586 लोग कोरोना वायरस से संक्रमित हैं। इंदौर में सबसे अधिक 259 मामले सामने आए। इसके बाद ग्वालियर में 246, भोपाल में 198 और जबलपुर में 129 मामले सामने आए। इंदौर में अब कोरोना वायरस के 13,752 मामले हैं।

*****

एमजी/एएम/एजे/एसएस



(Release ID: 1651505) Visitor Counter : 28