PIB Headquarters

कोविड-19 पर पीआईबी का दैनिक बुलेटिन

Posted On: 26 AUG 2020 6:20PM by PIB Delhi

 

Coat of arms of India PNG images free download

 

(पिछले 24 घंटों में जारी कोविड-19 से संबंधित प्रेस विज्ञप्तियां, पीआईबी के क्षेत्रीय कार्यालयों से मिली जानकारियां और पीआईबी द्वारा जांचे गए तथ्य शामिल हैं)

भारत में आज कोविड-19 से ठीक होने वाले मरीजों की संख्या इसके सक्रिय मामलों से 3.5 गुना अधिक हो गई है।

पिछले 24 घंटों में कोविड-19 के 63,173 मरीजों के ठीक होने के साथ ही इस बीमारी से अब तक कुल 24,67,758 मरीज स्वस्थ हो चुके हैं और ठीक होने (रिकवरी) की दर 76.3 प्रतिशत हो गई है।

कोविड-19 के मामलों में मृत्यु दर घटकर 1.84 हुई।

देश में अब तक कुल कोविड जांच की संख्या 3,76,51,512 पर पहुंच गई है जिसमें से 8,23,992 कोविड जांच पिछले 24 घंटों में की गई हैं।

सीजीएचएस ने दिल्ली/एनसीआर में ई-संजीवनी के माध्यम से टेली-परामर्श सेवाएं शुरू कीं।

डॉ. हर्षवर्धन ने राजस्थान में दो नये मेडिकल कॉलेज और तीन सुपर स्पेशियलिटी ब्लॉक राष्ट्र को समर्पित किए।

 

भारत में कोविड-19 संक्रमण से ठीक होने वाले मरीजों की संख्या बढ़ने के साथ ही सक्रिय मामलों और इसके बीच का अंतर भी बढ़ता जा रहा है, ठीक होने वाले मरीजों की संख्या इसके सक्रिय मामलों का 3.5 गुना है

भारत में आज कोविड-19 संक्रमण से ठीक होने वाले मरीजों की संख्या इसके सक्रिय मामलों से 3.5 गुना अधिक हो गई है। पिछले कई दिनों से इस बीमारी से एक ही दिन में ठीक होने वाले मरीजों का आंकड़ा 60,000 से अधिक रहा है। पिछले 24 घंटों में कोविड-19 के 63,173 मरीजों के ठीक होने के साथ ही इस बीमारी से अब तक कुल 24,67,758 मरीज स्वस्थ हो चुके हैं। ठीक होने की इस रफ्तार का, इस बीमारी से ठीक होने वाले मरीजों की प्रतिशतता और इसके सक्रिय मामलों की प्रतिशतता के बीच का अंतर बढ़ाने में अहम योगदान रहा है। भारत में कोविड-19 के सक्रिय मामलों (7,07,267) की तुलना में 17,60,489 अधिक मरीज ठीक हुए हैं। इसके साथ ही, भारत में कोविड-19 रोगियों में स्वस्थ होने की दर बढ़कर आज 76 प्रतिशत (76.30 प्रतिशत) को पार कर गई है। भारत में संक्रमितों के ठीक होने की इस बड़ी संख्या से देश पर वास्तविक केसलोड कम हुआ यानी इसके सक्रिय मामलों में और कमी आई है। वर्तमान में यह कुल पॉजिटिव मामलों का केवल 21.87 प्रतिशत है। यह आज की तारीख में 1.84 प्रतिशत है, और इसमें लगातार गिरावट आ रही है।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-

प्रतिदिन औसतन आठ लाख से अधिक परीक्षणों के साथ भारत ने कोविड जांच की गति तेज की, प्रति दस लाख  की आबादी पर जांच (टीपीएम) की संख्या अब 27 हजार से अधिक हुई

कोविड संक्रमण का शुरुआती स्तर पर पता लगाने के लिए समय रहते की गई प्रभावी जांच ने इस महामारी से निपटने की भारत की रणनीति में अहम भूमिका निभाई है। ‘‘टेस्ट-ट्रैक-ट्रीटकी केंद्र की नीति तथा राज्य/केंद्रशासित प्रदेश की सरकारों के सहयोगात्मक प्रयासों के जरिए भारत प्रतिदिन 10 लाख कोविड जांच की क्षमता प्राप्त करने के लिए अपने बुनियादी ढांचे में लगातार विस्तार कर रहा है। सप्ताह के औसत जांच आंकड़े इस दिशा में केन्द्र और राज्यों/केन्द्र  शासित प्रदेशों की ओर से किए जा रहे ठोस सतत प्रयासों का संकेत दे रहे हैं। देश में अब तक कुल कोविड जांच की संख्या 3,76,51,512 पर पहुंच गई है जिसमें से 8,23,992 कोविड जांच पिछले 24 घंटे में की गई हैं। लगातार व्यापक स्तर पर की जा रही ऐसी जांच से शुरुआती स्तर पर ही संक्रमण का पता लगाने में मदद मिल रही है। देश भर में आसानी से परीक्षण के लिए नैदानिक प्रयोगशालाओं के व्यापक नेटवर्क ने जांच सुविधाओं को बढ़ाने में काफी मदद की है। इससे प्रति दस लाख आबादी पर जांच की संख्या तेजी से बढ़ते हुए 27,284 पर पहुंच चुकी है। यह संख्या निरंतर बढ़ रही है। परीक्षण प्रयोगशालाओं के बढ़ते नेटवर्क ने देश भर में परीक्षण सुविधाओं को और बेहतर बनाया है। आज देश में कोविड जांच के लिए कुल 1540 प्रयोगशालाएं हैं जिनमें सरकारी क्षेत्र की 992 और निजी क्षेत्र की 548 प्रयोगशालाएं शामिल हैं।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-

सीजीएचएस ने दिल्ली/एनसीआर में ई-संजीवनी के माध्यम से टेली-परामर्श सेवाएं शुरू कीं

सीजीएचएस ने अपने लाभार्थियों के लिए विशेषज्ञों के साथ परामर्श के लिए वर्चुअल मोड के माध्यम से 25 अगस्त 2020 से टेली-परामर्श सेवाओं की शुरुआत की है। शुरू में, ये सेवाएं दिल्ली/राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में सीजीएचएस के लाभार्थियों को उपलब्ध होंगी। ई-सेवाएं सभी कार्य दिवसों में सुबह 9 बजे से दोपहर 12 बजे के बीच उपलब्ध हैं। सीजीएचएस की इन परामर्श सेवाओं के लिए स्वास्थ्य मंत्रालय के मौजूदा ई-संजीवनी प्लेटफॉर्म का उपयोग किया जा रहा है। उपयोग में आसानी के लिए, इसे लाभार्थियों की आईडी के साथ जोड़ा गया है। विशेषज्ञ ओपीडी सेवाओं का लाभ लेने के लिए, लाभार्थी अपने मोबाइल नंबर का उपयोग करके इस पर अपना पंजीकरण करा सकते हैं जिसके बाद सत्यापन के लिए एक ओटीपी लाभार्थी के मोबाइल नंबर पर आएगा। सत्यापन होने के बाद लाभार्थी सिस्टम पर लॉग इन कर पंजीकरण फॉर्म भर सकते हैं और टोकन के लिए अनुरोध कर सकते हैं तथा यदि आवश्यक हो तो अपना स्वास्थ्य रिकॉर्ड अपलोड कर सकते हैं। टेली-परामर्श के बाद, एक ई-पर्चा बन जाएगा जिसके जरिए मरीज अपने सीजीएचएस वेलनेस सेंटर से दवाइयां प्राप्त कर सकते हैं। सीजीएचएस की नई टेली-परामर्श सेवाएं उन सीजीएचएस लाभार्थियों के लिए वरदान साबित होंगी जिन्हें विशेषज्ञों के परामर्श की आवश्यकता है, लेकिन कोविड के कारण वे बाहर नहीं जा पा रहे हैं। शुरुआत में, इस व्यवस्था के तहत मेडिसिन, हड्डी रोग, नेत्र रोग  और कान, नाक एवं गला रोग विशेषज्ञों की सेवाएं प्राप्त की जा सकेंगी।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-

डॉ. हर्षवर्धन ने राजस्थान में दो नये मेडिकल कॉलेज और तीन सुपर स्पेlशियलिटी ब्लॉक राष्ट्र को समर्पित किए

 केन्द्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने राजस्थान के मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत के साथ राजस्थान में दो नए मेडिकल कॉलेजों और तीन सुपर स्पेशियलिटी ब्लॉक का उद्घाटन किया। राजमाता विजया राजे सिंधिया (आरवीआरएस) मेडिकल कॉलेज, भीलवाड़ा और भरतपुर मेडिकल कॉलेज को जिला अस्पतालों से मेडिकल कॉलेजों में अपग्रेड किया गया है जबकि सुपर स्पेशियलिटी ब्लॉक (एसएसबी) को गवर्नमेंट मेडिकल कॉलेज, कोटा; सरदार पटेल मेडिकल कॉलेज, बीकानेर; और रवींद्र नाथ टैगोर मेडिकल कॉलेज, उदयपुर के साथ जोड़ा गया है। इन परियोजनाओं में मिला-जुलाकर 828 करोड़ रुपये का संयुक्त निवेश किया गया है जिसमें से प्रत्येक मेडिकल कॉलेज पर 150 करोड़ रुपये का निवेश किया गया है। कॉलेजों में 150 स्नातक छात्रों की क्षमता है। भरतपुर मेडिकल कॉलेज में 34 आईसीयू बिस्तरों सहित 525 बिस्तर होंगे जबकि आरवीआरएस मेडिकल कॉलेज में 458 बिस्तूर होंगे जिनमें 12 आईसीयू बिस्तर भी शामिल हैं।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-

इस वर्ष 20 अप्रैल से अब तक तेल एवं गैस क्षेत्र में 5.88 लाख करोड़ रुपये की अनुमानित लागत के साथ 8,363 परियोजनाएं शुरू की गईं, इन परियोजनाओं से लगभग 33.8 करोड़ कार्य दिवसों का रोजगार सृजित होने की उम्मीद है

महामारी संबंधी सभी एसओपी का अनुसरण करते हुए 20 अप्रैल 2020 के बाद से अब तक करीब 5.88 लाख करोड़ रुपये की अनुमानित लागत के साथ 8,363 परियोजनाओं को सुचारु किया गया है। तेल एवं गैस सीपीएसई और जेवी/सहायक इकाइयों की इन परियोजनाओं में रिफाइनरी परियोजनाएं, बायो रिफाइनरी, ईएंडपी परियोजनाएं, विपणन बुनियादी ढांचा परियोजनाएं, पाइपलाइन, सीजीडी परियोजनाएं, ड्रिलिंग/सर्वेक्षण गतिविधियां आदि शामिल हैं। तेल एवं गैस सीपीएसई/जेवी की प्रमुख 25 चालू परियोजनाओं की अनुमानित लागत 1,67,248 करोड़ रुपये है और 7,861 करोड़ रुपये के पूंजीगत व्यय के साथ 76,56,825 कार्य दिवसों के सृजन की उम्मीद है। पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस और इस्पात मंत्री श्री धर्मेन्द्र प्रधान तेल एवं गैस कंपनियों की सभी चालू परियोजनाओं की गहराई से समीक्षा कर रहे हैं और हाल ही में उन्होंने 24 अगस्त 2020 को ऐसा किया है। मंत्री के दृष्टिकोण के तहत पेट्रोलियम उद्योग ने 'संकट को अवसर' में बदल दिया है और वह रोजगार पैदा करने एवं विकास को पुनर्जीवित करने के लिए मिशन मोड पर काम करने का प्रयास कर रहा है।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-

लगभग 24 करोड़ मानव दिवस का रोजगार प्रदान किया गया और अभियान के 9वें सप्ताह तक 18,862 करोड़ रुपये खर्च किए गए

कोविड-19 के प्रकोप के मद्देनजर गांवों को लौट रहे प्रवासी कामगारों और इसी तरह ग्रामीण इलाकों में प्रभावित नागरिकों के लिए रोजगार और आजीविका के अवसरों को बढ़ावा देने के लिए गरीब कल्याण रोज़गार अभियान (जीकेआरए) शुरू किया गया है। अभियान के उद्देश्यों की पूर्ति के लिए 9वें सप्ताह तक, कुल 24 करोड़ मानव दिवस का रोजगार उपलब्ध कराया गया है और अब तक 18,862 करोड़ रुपये खर्च किए गए हैं। अब तक 85,786 जल संरक्षण संरचनाओं सहित, 2,63,846 ग्रामीण घर, मवेशियों के लिए 19,397 शेड, खेत में 12,798 तालाब और 4,260 सामुदायिक स्वच्छता परिसरों सहित बड़ी संख्या में संरचनाएं बनाई गई हैं। अभियान के दौरान जिला खनिज निधि के माध्यम से 6,342 कार्य किए गए हैं, 1002 ग्राम पंचायतों को इंटरनेट कनेक्टिविटी प्रदान की गई है, ठोस और तरल कचरा प्रबंधन से संबंधित कुल 13,022 कार्य किए गए हैं, और 31,658 उम्मीदवारों को कृषि विज्ञान केन्द्रों (केवीके) के जरिये कौशल प्रशिक्षण प्रदान किया गया है।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-

पीआईबी के क्षेत्रीय कार्यालयों से मिली जानकारियां

पंजाब: पंजाब में कोविड-19 के बिगड़ते हालत के खिलाफ अपनी लड़ाई को और मजबूत करने के लिए, राज्य मंत्रिमंडल ने चिकित्सा अधिकारियों (विशेषज्ञों) के 428 नियमित रिक्तियों को तत्काल आधार पर भरने को मंजूरी दी है। साथ ही, इसके तहत छह विशेषता वाले पदों पर पहले से ही कार्यरत 107 पदों को भी स्वीकृति प्रदान कर दी है।

हिमाचल प्रदेश: मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री जन-धन योजना के तहत प्रति माह 500 रुपये की प्रत्यक्ष वित्तीय सहायता 5.90 लाख महिलाओं को उनके बैंक खातों के माध्यम से और 2000 रुपए प्रति माह की सहायता 8.74 लाख किसानों को प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि के तहत प्रदान की गई है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने पात्र व्यक्तियों को तीन महीने की अग्रिम सामाजिक सुरक्षा पेंशन भी प्रदान की है। मुख्यमंत्री ने कहा कि मार्च से जून महीने के लिए आशा कार्यकर्ताओं के खातों में अतिरिक्त 1000 रुपये जमा किए गए हैं। साथ ही, उन्होंने यह भी बताया कि सरकार ने कोविड-19 महामारी के दौरान उनकी सेवा को ध्यान में रखते हुए इन कार्यकर्ताओं के लिए जुलाई और अगस्त के महीने में प्रत्येक को 2000 रुपए प्रदान करने का निर्णय लिया है।

महाराष्ट्र: ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय के शोधकर्ताओं द्वारा विकसित संभावित कोरोना-वायरस टीका की खुराक चरण-2 के नैदानिक मानव परीक्षणों के लिए पुणे के भारती विद्यापीठ चिकित्सा महाविद्यालय में लाई गई है। परीक्षण आज शुरू हो जायेगा। अब महाराष्ट्र में 1,65,921 सक्रिय मामले हैं, जबकि 12,300 लोगों को मंगलवार को राज्य के अस्पतालों से उपचार के बाद स्वस्थ होने पर छुट्टी दे दी गई, जिसके बाद कुल स्वस्थ होने वाले मरीजों की संख्या 5,14,790 हो गई। महाराष्ट्र में अब तक 37,24,911 परीक्षण किए हैं।

गुजरात: गुजरात में मंगलवार को 1,096 नए मरीजों में कोविड-19 संक्रमण की पुष्टि होने के बाद कुल संक्रमितों की संख्या बढ़कर 88,942 हो गई, जबकि 20 और मरीजों की संक्रमण के कारण मौत हो गई। सूरत में अहमदाबाद के बाद सबसे अधिक 250 नए मामले दर्ज किए गए, जहां 157 मरीजों में संक्रमण की पुष्टि हुई। पिछले 24 घंटों में राज्य में कुल 72,577 परीक्षण किए गए। अब राज्य में 14,751 सक्रिय मामले रह गए हैं।

छत्तीसगढ़: राज्य में कोविड-19 मामलों में एक दिन में सबसे अधिक बढ़ोतरी दर्ज की गईमंगलवार को 1,145 मरीजों में संक्रमण की पुष्टि हुई जिसके बाद कुल आंकड़ा बढ़कर 23,199 हो गया, जबकि 12 और मरीजों की मौत के बाद मृतकों की संख्या 218 हो गई। स्वास्थ्य मंत्री श्री टी. एस. सिंहदेव ने आईवीआर प्रणाली का उद्घाटन किया जिससे छत्तीसगढ़ के रायपुर, दुर्ग, राजनंदगांव और बिलासपुर जिलों में स्वस्थ होने वाले मरीजों की प्रतिक्रिया दर्ज की जा सके।

गोवा: अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स), दिल्ली के डॉक्टरों की एक टीम ने मंगलवार को गंभीर मरीजों के लिए स्थापित कोविड-19 उपचार सुविधा की समीक्षा करने के लिए गोवा चिकित्सा महाविद्यालय और अस्पताल (जीएमसीएच) का दौरा किया। केंद्रीय आयुष मंत्री श्रीपद येसो नाइक के स्वास्थ्य की निगरानी के लिए सोमवार को एम्स की एक टीम गोवा पहुंची थी। एम्स के डॉक्टरों ने गंभीर मरीजों के इलाज के लिए बने तीन वॉर्डों का निरीक्षण किया। राज्य में अभी 3,149 कोविड मरीजों का इलाज चल रहा है।

केरल: राज्य में 5 कोविड-19 मरीजों की मौत के बाद कुल संख्या 249 हो गई है। सख्त कोविड-19 प्रोटोकॉल का पालन करने के आदेश के साथ राजधानी के श्रीपद्मनाभस्वामी मंदिर को आज सुबह ही श्रद्धालुओं के लिए खोल दिया गया। एक दिन में अधिकतम 665 श्रद्धालुओं सहित केवल 35 श्रद्धालुओं को ही धर्मस्थल के अंदर जाने की अनुमति होगी। राज्य में कल 2,375 नए मरीजों में संक्रमण की पुष्टि हुई जो अब तक के एक दिन में सबसे अधिक मामले हैं। उपचार के बाद स्वस्थ होने वालों का आंकड़ा 40,000 को पार कर गया है। राज्य भर में कुल 1,83,794 व्यक्तियों को निगरानी में रखा गया है।

तमिलनाडु: दो सप्ताह में, राज्य के सभी सरकारी चिकित्सा महाविद्यालय और अस्पताल 24 से 36 घंटे में एसएमएस के माध्यम से कोविड-19 परिणाम सूचित करेंगे। इस प्रणाली को सुगम बनाने के लिए सॉफ्टवेयर अपलोड करने का काम जोरों पर है, स्वास्थ्य मंत्री श्री सी. विजयभास्कर ने कहा, राज्य के स्वास्थ्य विभाग ने बताया है कि कोयम्बटूर में अगले 15 दिनों में दैनिक मामलों की संख्या में तेजी से वृद्धि होगी। मद्रास उच्च न्यायालय ने मंगलवार को दसवीं कक्षा के छात्रों द्वारा दायर रिट याचिकाओं को खारिज कर दिया जिसमें इस वर्ष स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा अंक देने के लिए अपनाई गई कार्यप्रणाली को चुनौती दी गई थी, इस वर्ष ये परीक्षाएं कोविड-19 के प्रकोप के कारण रद्द कर दी गई थी।

कर्नाटक: 2 लाख से अधिक मरीजों अस्पताल से छुट्टी दिए जाने के साथ, ठीक होने की दर 70 प्रतिशत, आईसीयू में 1प्रतिशत से कम सक्रिय मामले होने, 1.69% की मृत्यु दर, के साथ कर्नाटक में कोविड-19 की स्थिति में लगातार सुधार हो रहा है। केएसआरटीसी ने राज्य सरकार से सभी सीटों को भरने के लिए सामाजिक दूरी मानदंड में छूट की मांग की है। कर्नाटक प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष श्री डी. के. शिवकुमार, जिनका सोमवार रात को कोविड-19 परीक्षण सकारात्मक पाया गया था यानी कोविड संक्रमित हो गए थे, को बेंगलुरु के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। दो दिनों की राहत के बाद जब राज्य ने एक दिन में लगभग 5,000 कोविड मामलों की जानकारी दी तो मंगलवार को अचानक 8,161 नए मरीजों में संक्रमण की पुष्टि हुई जिसके बाद कुल 2,91,826 मामले हो गए। बेंगलुरु में 2,294 मामले हैं।

आंध्र प्रदेश: अनंतपुर सरकारी अस्पताल में मंगलवार आधी रात के बाद आग लग गई जिससे मरीजों में दहशत फैल गई। अस्पताल में 24 कोविड-19 मरीजों को सुरक्षा की दृष्टि से दूसरे वार्ड में भेज दिया गया है। यह कहते हुए कि कोविड-19 का प्रसार अब शहरी क्षेत्रों तक ही सीमित नहीं रह गया है, पंचायती राज और ग्रामीण विकास मंत्री श्री पेडिरेड्डी रामचंद्र रेड्डी ने केंद्र और राज्य सरकारों द्वारा सुझाए गए निवारक उपायों को सख्ती से लागू करने की आवश्यकता पर बल दिया है। राज्य के विजयवाड़ा में 5 निजी कोविड देखभाल केंद्रों में मरीजों से अतिरिक्त शुल्क वसूलने के कारण उनकी स्वीकृति रद्द कर दी गई है। मरीजों से मिली शिकायतों के मद्देनजर जांच का भी आदेश दे दिया गया है।

तेलंगाना: पिछले 24 घंटों में तेलंगाना में 3,018 नए मरीजों में संक्रमण की पुष्टि हुई, 1060 स्वस्थ हुए और 10 मरीजों की मौत हुई है। 3018 में से, 475 मामले जीएचएमसी में दर्ज किए गए। कुल मामले: 1,11,688; सक्रिय मामले: 25,685; मृतक: 780; अस्पताल से छुट्टी दी गई मरीजों की संख्या 85,223। वरिष्ठ स्वास्थ्य अधिकारियों ने कहा कि कोविड-19 महामारी के ग्रेटर हैदराबाद नगर निगम (जीएचएमसी) के क्षेत्रों में धीरे-धीरे कमी आने के संकेत मिल रहे हैं। कोविड-19 महामारी और उसके बाद के लॉकडाउन के बावजूद, तेलंगाना राज्य, विशेष रूप से हैदराबाद  निवेश आकर्षित करना जारी रखे हुए है। एक महीने से भी कम समय में, 25 जुलाई से अब तक 5,950 करोड़ रुपये का निवेश राज्य में हुआ है।

अरुणाचल प्रदेश: अरुणाचल प्रदेश में, पिछले 4 घंटों के दौरान 100 नए मरीजों में संक्रमण की पुष्टि हुई है। हालांकि, स्वास्श्य दर में भी सुधार हुआ है और वर्तमान में यह 73.50 प्रतिशत है। अब तक कुल 2,508 मरीजों को उपचार के बाद अस्पतालों से छुट्टी दी जा चुकी है।

असम: असम में कल 1,734 मरीजों को अस्पताल से छुट्टी दे दी गई, स्वास्थ्य मंत्री श्री हेमंत बिस्वा सरमा ने सभी प्रयासों के लिए चिकित्सकों, नर्सों और चिकित्सा कर्मचारियों का आभार व्यक्त किया। राज्य में कुल मरीजों की संख्या 74,814 और सक्रिय मरीजों की संख्या 19,515 है।

मणिपुर: राज्य सरकार ने अनलॉक-3 के लिए दिशा-निर्देश जारी किया है। सभी प्रकार की मंडलियों पर प्रतिबंध जारी रखा गया है और उल्लंघन करने पर दंड बढ़ाया गया है।

मेघालय: मेघालय में आज कोरोना-वायरस से 42 मरीज उपचार के बाद स्वस्थ हुए। कुल सक्रिय मामले 1,179, बीएसएफ और सशस्त्र बल में कुल संक्रमित मरीज 442, अन्य 737 और कुल स्वस्थ होने वालों की संख्या 831 हो गई हैं।

मिजोरम: मिजोरम में आज स्वस्थ होने के बाद 4 कोविड-19 मरीजों को अस्पताल से छुट्टी दे दी गई। कुल मामले 967, सक्रिय मामले 499।

नागालैंड: नागालैंड में अब तक कुल 57,799 नमूने आरटी-पीसीआर और ट्रूनेट मशीनों के माध्यम से परीक्षण के लिए भेजे गए। अभी भी लगभग 1,113 मरीज सरकारी क्वारंटीन केन्द्रों में रह रहे हैं। कोहिमा जिला प्रशासन ने कोविड-19 सकारात्मक मामलों का पता लगाने के बाद 8 और स्थानों को सील करने का आदेश जारी किया है। तुएनसांग जिले में 9 अन्य स्थानों को भी सील किया गया है।

पीआईबी द्वारा जांचे गए तथ्य

***

एमजी/एएम/एसके/पीकेपी



(Release ID: 1648948) Visitor Counter : 15