PIB Headquarters

कोविड-19 पर पीआईबी का बुलेटिन

Posted On: 27 MAY 2021 6:40PM by PIB Delhi

 

• लगातार 14वें दिन रोज आने वाले नये मामलों की तुलना में ठीक होने वाले मरीजों की तादाद अधिक।

• मरीजों के ठीक होने की दर बढ़कर 90.01 प्रतिशत हुई।

• दैनिक पॉजिटिविटी दर 9.79 प्रतिशत है, लगातार तीसरे दिन भी 10 प्रतिशत से कम रही।

• राष्ट्रीय टीकाकरण अभियान के तहत अब तक वैक्सीन की 20.27 करोड़ से अधिक खुराक दी गईं।

• यास तूफान के कारण इस्पात उत्पादन या ऑक्सीजन आपूर्ति में कोई बाधा नहीं आई।

• ऑक्सीजन एक्सप्रेस द्वारा देश में एक दिन में सबसे अधिक 1195 मीट्रिक टन ऑक्सीजन सहायता पहुंचाई गई।

#Unite2FightCorona

#IndiaFightsCorona

पत्र सूचना कार्यालय

सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय

भारत सरकार

Image

लगातार 14वें दिन रोज आने वाले नये मामलों की तुलना में ठीक होने वाले मरीजों की तादाद अधिक

• 2.11 लाख मामलों के साथ नये मामलों में लगातार गिरावट का रुझान बना हुआ है।

• अब तक देशभर में 2,46,33,951 मरीज ठीक हुए है। पिछले 24 घंटों के दौरान 2,83,135 मरीज ठीक हुए।

• मरीजों के ठीक होने की दर बढ़कर 90.01 प्रतिशत हुई।

• इस समय साप्ताहिक पॉजिटिविटी दर 10.93 प्रतिशत है।

• दैनिक पॉजिटिविटी दर 9.79 प्रतिशत है, लगातार तीसरे दिन भी 10 प्रतिशत से कम रही।

• राष्ट्रव्यापी टीकाकरण अभियान के तहत अब तक वैक्सीन की 20.27 करोड़ से अधिक खुराक दी गईं।

• अमेरिका के बाद भारत ऐसा दूसरा देश है, जिसने 20 करोड़ वैक्सीन खुराक देने का कारनामा अंजाम दिया है।

• पिछले 24 घंटों में जांच क्षमता में जोरदार सुधार। इस दौरान 21.57 लाख जांचें की गईं।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ेंhttps://pib.gov.in/PressReleasePage.aspx?PRID=1722075

भारत की टीकाकरण प्रक्रिया से जुड़े मिथक और तथ्य

भारत के कोविड-19 टीकाकरण कार्यक्रम को लेकर कई तरह के मिथक फैलाए जा रहे हैं। ये मिथक ग़लत बयानों, आधे सच और खुलेआम बोले जा रहे झूठ के कारण फैल रहे हैं।

नीति आयोग में सदस्य (स्वास्थ्य) और कोविड-19 (एनईजीवीएसी) के लिए वैक्सीन प्रबंधन पर राष्ट्रीय विशेषज्ञ समूह के अध्यक्ष डॉ. विनोद पॉल ने इन सभी मिथकों से जुड़े झूठ को एक सिरे से ख़ारिज करते हुए इन सभी मुद्दों पर सही तथ्यात्मक जानकारी दी हैं।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-https://pib.gov.in/PressReleasePage.aspx?PRID=1722117

राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों को टीके की 22 करोड़ से अधिक खुराक प्रदान की गईं

भारत सरकार ने अब तक राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों को कोविड टीके की 22 करोड़ से अधिक खुराक (22,16,11,940) निःशुल्क श्रेणी और राज्यों द्वारा सीधी खरीद की श्रेणी के माध्यम से प्रदान की है। इसमें से कुल खपत (अपव्यय सहित) 20,17,59,768 खुराक (आज सुबह आठ बजे तक उपलब्ध आंकड़ों के अनुसार) है।

राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों के पास अब भी टीके की 1.84 करोड़ से ज्यादा (1,84,90,522) खुराक उपलब्ध हैं, जिन्हें दिया जाना बाकी है।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें- https://pib.gov.in/PressReleasePage.aspx?PRID=1722090

कोविड राहत सामग्री की नवीनतम जानकारी

भारत सरकार को 27 अप्रैल, 2021 से विभिन्न देशों/संगठनों से कोविड-19 राहत चिकित्सा सामग्री तथा उपकरण प्राप्त हो रहे हैं। इन सामग्रियों और उपकरणों को तेजी से राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों को वितरित किए जा रहे हैं/भेजे जा रहे हैं।

27 अप्रैल, 2021 से 26 मई, 2021 तक कुल 18,006 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर; 19,085 ऑक्सीजन सिलेंडर; 19 ऑक्सीजन जेनरेशन प्लांट; 14,514 वेंटिलेटर/बीआईपीएपी; 7 लाख रेमडेसिवर इंजेक्शन; 12 लाख फैवीपिराविर टैबलेट सड़क तथा हवाई मार्गों से भेजे गए हैं। 

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-https://pib.gov.in/PressReleasePage.aspx?PRID=1722136

केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा बुजुर्ग और दिव्यांग नागरिकों के लिए घर के पास कोविड टीकाकरण केन्द्रों (एनएचसीवीसी) के बारे में राज्यों/ केन्द्र-शासित प्रदेशों के साथ साझा किए गए दिशानिर्देश

कोविड-19 के टीकाकरण से संबंधित राष्ट्रीय विशेषज्ञ समूह (एनईजीवीएसी) ने बुजुर्ग और दिव्यांग नागरिकों के लिए घर के पास कोविड टीकाकरण केन्द्रों (एनएचसीवीसी) के संबंध में दिशानिर्देशों के बारे में केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की एक तकनीकी विशेषज्ञ समिति द्वारा दिए गए प्रस्ताव की सिफारिश की है। इन सिफारिशों को केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने भी स्वीकार कर लिया है। बुजुर्ग और दिव्यांग नागरिकों के लिए एनएचसीवीसी एक समुदाय आधारित, लचीला और जन-केंद्रित दृष्टिकोण का पालन करेगा ताकि कोविड टीकाकरण केन्द्रों को घरों के करीब लाया जा सके।

तकनीकी विशेषज्ञ समिति की सिफारिशों का उद्देश्य शारीरिक स्थिति की वजह से सीमित गतिशीलता वाले वरिष्ठ नागरिकों और दिव्यांग लोगों के टीकाकरण को सुनिश्चित करना है। ये सिफारिशें समय-समय पर जारी परिचालन संबंधी दिशानिर्देशों और परामर्श के अनुसार सभी आवश्यक सावधानियों और सुरक्षा उपायों का पालन करते हुए टीकाकरण सेवाओं को समुदाय के करीब लाकर टीकों तक पहुंच बढ़ाने की जरूरत के अनुरूप हैं।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें- https://pib.gov.in/PressReleasePage.aspx?PRID=1722300

यास तूफान के कारण इस्पात उत्पादन या ऑक्सीजन आपूर्ति में कोई बाधा नहीं आई

इस्पात मंत्रालय ने इस्पात निर्माण तथा ऑक्सीजन उत्पादन पर यास तूफान के संभावित प्रभाव का आकलन करने के लिए 23 मई को उद्योग एवं आंतरिक व्यापार संवर्धन विभाग के साथ मिल कर इस्पात क्षेत्र की सभी प्रमुख कंपनियों के साथ एक बैठक आयोजित की। इस बैठक में विद्युत मंत्रालय तथा संबंधित राज्य सरकार के प्रतिनिधि भी उपस्थित थे। ऐसा अनुमान लगाया गया कि केवल ओडिशा तथा पश्चिम बंगाल में स्थित संयंत्र ही प्रभावित होंगे। इसलिए यह सुनिश्चित करने के सभी प्रयास किए गए कि बिजली की आपूर्ति ठप न हो। यह योजना भी बनाई गई कि जो राज्य ओडिशा के कलिंगनगर तथा अंगुल संयत्रों पर निर्भर थे, वे अस्थायी रूप से 2 से 4 दिनों के लिए टाटा के जमशेदपुर संयंत्र से बिजली लेंगे। इसकी पुष्टि हो गई है कि ओडिशा के अंगुल, कलिंगनगर तथा राउरकेला में स्थित किसी भी स्टील प्लांट को बिजली आपूर्ति में कोई बाधा नहीं हुई। टाटा, जिनके प्लांट ओडिशा में हैं, के प्रतिनिधियों ने पुष्टि की कि टाटा स्टील प्लांटों के एलएमओ उत्पादन पर यास तूफान का कोई प्रभाव नहीं पड़ा है।

कलिंगनगर, जमशेदपुर तथा अंगुल में सभी संबद्ध ऑक्सीजन संयंत्रों से एलएमओ का डिस्पैच बिना किसी बाधा के आम दिनों की तरह जारी रहा।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें- https://pib.gov.in/PressReleasePage.aspx?PRID=1722094

ऑक्सीजन एक्सप्रेस द्वारा देश में एक दिन में सबसे अधिक 1195 मीट्रिक टन ऑक्सीजन सहायता पहुंचाई गई, यह सहायता 1142 मीट्रिक टन के पिछले लोड को पार कर गई

भारतीय रेलवे देश के विभिन्न राज्यों में तरल मेडिकल ऑक्सीजन (एलएमओ) पहुंचाना जारी रखे हुए है। भारतीय रेलवे द्वारा अभी तक देश के विभिन्न राज्यों में 1141 से अधिक टैंकरों में 18,980 मीट्रिक टन तरल मेडिकल ऑक्सीजन (एलएमओ) पहुंचाई गई है।

लगभग 284 ऑक्सीजन एक्सप्रेस गाड़ियों ने अब तक अपनी यात्राएं पूरी कर ली हैं और विभिन्न राज्यों को सहायता पहुंचाई है।

ऑक्सीजन एक्सप्रेस ने एक दिन में देश में सबसे अधिक 1195 मीट्रिक टन ऑक्सीजन सहायता पहुंचाई जो 23 मई 2021 को पहुंचाई गई 1142 मीट्रिक टन के लोड को पार गई।

दिल्ली में 5000 मीट्रिक टन से अधिक तरल मेडिकल ऑक्सीजन की राहत पहुंचाई गई। दक्षिणी राज्यों में, आंध्र प्रदेश, तमिलनाडु, कर्नाटक और तेलंगाना में तरल मेडिकल ऑक्सीजन की डिलीवरी 1000 मीट्रिक टन को पार कर गई है। ऑक्सीजन एक्सप्रेस ने 33 दिन पहले 24 अप्रैल को महाराष्ट्र में 126 मीट्रिक टन तरल मेडिकल ऑक्सीजन पहुंचाने के साथ अपना काम प्रारंभ किया था।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें- https://pib.gov.in/PressReleasePage.aspx?PRID=1722193

विज्ञान और प्रौद्योगिकी विभाग (डीएसटी) की सहायता प्राप्त विसंक्रमण प्रणाली से एन95 मास्क, पीपीई, फिर से प्रयोग किए जा सकने वाले वस्त्र तैयार किए जा सकते हैं और अत्यधिक मात्रा में बनने वाले कोविड-19 जैव अपशिष्ट को कम किया जा सकता है

मुंबई स्थित एक स्टार्ट-अप इंद्र जल (वाटर) द्वारा विकसित एन95 मास्क/पीपीई विसंक्रमण प्रणाली को महाराष्ट्र और तेलंगाना राज्य के कई राजकीय चिकित्सालयों में लगाया गया है।

वज्र कवच नाम की यह विसंक्रमण (डिसइंफेक्शन) प्रणाली उल्लेखनीय रूप से पीपीई किट, फिर से प्रयोग किए जा सकने वाले चिकित्सकीय और गैर चिकित्सकीय वस्त्र तैयार करके इस महामारी से लड़ने की लागत को काफी कम करने और अत्यधिक मात्रा में बनने वाले कोविड-19 जैव अपशिष्ट को कम करने में अत्यधिक सहायक है। इससे पर्यावरण ठीक रखने में भी सहायता मिलती है। यह प्रणाली व्यक्तिगत सुरक्षा उपकरणों को उचित एवं तकर्संगत मूल्यों पर अधिक मात्रा में सबके लिए उपलब्ध भी करवाती है।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-https://pib.gov.in/PressReleasePage.aspx?PRID=1722342

पूरे समाज को कोरोनावायरस के फैलाव से बचाने के लिये एनटीपीसी ने बढ़ाया मदद का हाथ

बिजली मंत्रालय के अधीन सबसे बड़ी बिजली उत्पादक कंपनी एनटीपीसी ने कोविड-19 की दूसरी लहर के दौरान न सिर्फ देश में निर्बाध बिजली आपूर्ति सुनिश्चित की, बल्कि उसने कोविड-19 के फैलाव को रोकने के लिये पूरे समाज की तरफ मदद का हाथ बढ़ाया है। इस सिलसिले में कंपनी ने देश के विभिन्न हिस्सों में चिकित्सा बुनियादी ढांचे में इजाफा किया है।

एनटीपीसी ने पहल करके 600 से अधिक ऑक्सीन बेड और 1200 आइसोलेशन बेडों की व्यवस्था की है। उसने अपनी विभिन्न परियोजनाओं और आसपास के इलाके में सप्ताह भर में ही युद्धस्तर पर यह काम को अंजाम दिया है। इसके कारण आम जनता सहित तमाम लोगों की प्राण रक्षा हो सकी है। एनटीपीसी, राज्य और जिला प्रशासन के साथ नजदीकी तालमेल बनाकर काम कर रही है और उसने दूर-दराज के इलाकों में भी चिकित्सा बुनियादी ढांचे में इजाफा किया है।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें- https://pib.gov.in/PressReleasePage.aspx?PRID=1722106

पीआईबी के क्षेत्रीय कार्यालयों से प्राप्त जानकारी

केरलः राज्य में कोविड लॉकडाउन को आगे बढ़ाने पर निर्णय आने वाले दिनों में कोविड संक्रमण की दर के आकलन के बाद लिया जाएगा। फिलहाल 30 मई तक लॉकडाउन की घोषणा की गई है। पिछले एक सप्ताह के दौरान औसत टेस्ट पॉजिटिविटी दर 22.2 प्रतिशत रही है। हालांकि कुछ जिलों में जहां मरीजों की संख्या अधिक है, वहां टेस्ट पॉजिटिविटी दर 25 प्रतिशत से अधिक बनी हुई है। इस बीच, सरकार ने 1 जून से स्कूलों में डिजिटल कक्षाएं शुरू करने का निर्णय लिया है। सरकार के विक्टर्स चैनल पर प्रसारित होने वाली कक्षाओं के अलावा कक्षाएं ऑनलाइन भी आयोजित की जाएगी। कोविड की स्थिति को ध्यान में रखते हुए नए शैक्षणिक वर्ष के पहले दिन स्कूल प्रवेश उत्सव को वर्चुअल माध्यम से आयोजित किया जाएगा। ग्याहरवीं की परीक्षा आयोजित करने पर निर्णय जल्द ही लिया जाएगा। कोविड के इलाज से जुड़े उत्पादों के अत्यधिक मूल्य निर्धारण को रोकने के प्रयासों के तहत सरकार इन उत्पादों की बिक्री पर आवश्यक वस्तु अधिनियम लागू करने की योजना बना रही है। राज्य में कल कोविड-19 के 28,798 नए मामले सामने आए हैं। 151 मौतों की पुष्टि के बाद मरने वालों की संख्या बढ़कर 7,882 हो गई है। टेस्ट पॉजिटिविटी दर जो 30 प्रतिशत तक पहुंच गई थी वह घटकर 20 प्रतिशत से कम हो गई है। राज्य में अब तक कुल 88,56,897 लोगों को टीका लगाया जा चुका है। इनमें से 68,34,933 लोगों को पहली खुराक और 20,21,964 लोगों को दूसरी खुराक दी गई है।

तमिलनाडुः मुख्यमंत्री एमके स्टालिन ने बुधवार को कोविड-19 के इलाज के लिए आयातित 1400 ऑक्सीजन सिलेंडरों और ऑक्सीजन रेगुलेटरों को झंडी दिखाकर 18 जिलों में रवाना किया। स्वास्थ्य मंत्री एम सुब्रमण्यम ने कहा कि तमिलनाडु में 286 लोग ब्लैक फंगस से प्रभावित हैं। पीएमके नेता एस रामदास ने तमिलनाडु सरकार से राज्य की कल्याणकारी योजनाओं का लाभ लेने के लिए टीका लगवाने को अनिवार्य करने का आग्रह किया है। केन्द्र शासित प्रदेश पुडुचेरी में बुधवार को 27 लोगों की मौत होने से मरने वालों की संख्या 1,435 हो गई है जबकि 1,321 नए मामले और 1,927 लोग ठीक हुए हैं। तमिलनाडु में कोविड के नए मामलों का गिरता ग्राफ बुधवार को भी जारी रहा, राज्य में संक्रमण के 33,764 नए मामले दर्ज किए गए है। राज्य के बुलेटिन के मुताबिक 475 लोगों की मौत के साथ मरने वालों की संख्या बढ़कर 21,815 हो गई है और आइसोलेशन के मामलों समेत सक्रिय मामलों की संख्या 3,10,224 है। अब तक तमिलनाडु में 79,14,277 लोगों को टीके लगाए जा चुके हैं जिनमें से 59,40,657 लोगों ने पहली खुराक और 19,73,620 लोगों ने दूसरी खुराक ली।

कर्नाटकः 26 मई 2021 को जारी राज्य सरकार के बुलेटिन के मुताबिक, कोविड के दर्ज किए गए नए मामलेः26,811; कुल सक्रिय मामलेः 4,09,924; कोविड से हुए नई मौतेः 530; कोविड से हुई कुल मौतें-26,929. कल लगभग 1,27,317 लोगों को टीका लगाया गया जिससे राज्य में अब तक कोविड का टीका लगवाने वालों की कुल संख्या 1,25,41,765 हो गई है। कर्नाटक के ग्रामीण क्षेत्रों में कोविड-19 के नए मामलों की बढ़ती संख्या के बाद, मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा ने बुधवार सुबह वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से अधिक मामले दर्ज करने वाली चुनिंदा ग्राम पंचायतों के साथ बातचीत की। बेंगलुरु के स्थानीय निकाय ब्रुहत बेंगलुरु महानगर पालिका (बीबीएमपी) ने कोविड-19 के मानदंडों को लागू करने और देखभाल केन्द्रों में मदद करने करने के लिए प्रायोगिक आधार पर शहर भर में 11 महिला मार्शलों को प्रशिक्षित और तैनात किया है।

आंध्र प्रदेशः राज्य में पिछले 24 घंटों के दौरान 91,120 नमूनों की जांच के बाद कोविड के 18,285 नए मामले और 99 मौतें दर्ज की गई हैं जबकि 24,105 लोग ठीक हुए हैं। राज्य में कल तक कोविड के टीके की कुल 84,59,763 खुराकें दी जा चुकी हैं जिसमें 60,76,647 लोगों को पहली खुराक और 23,83,116 लोगों को दूसरी खुराक दी गई। कोविड-19 की समीक्षा के दौरान मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को आरोग्यश्री योजना के तहत इलाज करवा रहे मरीजों के लिए निजी अस्पतालों में 50 प्रतिशत बिस्तरों का आवंटन सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। उन्होंने राज्य में ऑक्सीजन की आपूर्ति को बढ़ाने के लिए अधिकारियों की सराहना की, जो 330 मीट्रिक टन से बढ़कर 600 मीट्रिक टन से अधिक हो गई है और अधिकारियों को इसकी आपूर्ति को और सुव्यवस्थित करने के लिए ऑक्सीजन स्टॉक के ऑडिट पर ध्यान केंद्रित करने का सुझाव दिया। इस बीच, राज्य सरकार ने कोविड स्थिति के मद्देनजर 7 जून से दसवीं कक्षा की परीक्षाओं को स्थगित करने का निर्णय लिया है। राज्य सरकार ने उच्च न्यायालय को जानकारी दी कि वह जुलाई में दसवीं कक्षा की परीक्षा आयोजित करने पर पुर्नविचार करेगी।

तेलंगानाः राज्य सरकार ने इस महीने की 28 से 30 तारीख के दौरान एक विशेष कोविड टीकाकरण अभियान चलाने का निर्णय लिया है ताकि सुपर स्प्रेडर/उच्च जोखिम वाले समूहों जैसे पत्रकारों, डिलीवरी ब्वॉय, ऑटोचालक और कैब चालक, उचित मूल्य की दुकानों के दुकानदार जो अपनी ड्यूटी के दौरान अधिक लोगों के संपर्क में आते हैं, उनको टीका लगाया जा सके। राज्य के जन स्वास्थ्य निदेशक डॉ. श्रीनिवास राव ने कहा कि स्वास्थ्य विभाग द्वारा घर-घर जाकर किए गए बुखार के सर्वेक्षण के दो चरणों पाया गया कि राज्य में लगभग चार लाख लोग कोविड जैसे लक्षणों से पीड़ित हैं और अब तक उनमें से 3.16 लाख लोगों को होम आइसोलेशन किट प्रदान की गई है। इस बीच, कल कोविड के 3,762 नए मामले और 20 मौतें दर्ज की गईं जिससे कुल मौतों की संख्या 3,189 हो गई है और पॉजिटिव मामलों की कुल संख्या 5,63,903 हो गई है। राज्य में अब सक्रिय मामलों की संख्या 38,632 है।

महाराष्ट्रः कोविड-19 की संभावित तीसरी लहर के दौरान बच्चों पर पड़ने वाले प्रभाव को देखते हुए, महाराष्ट्र सरकार ने एक विशेष कार्य बल का गठन किया है जो रोकथाम और इलाज के तरीकों को विकसित करेगा। यह विशेष कार्य बल बच्चों को कोविड-19 के संक्रमण से बचाने के लिए काम करेगा। इसके अलावा, यह इलाज, सुविधाओं और दवाइयों पर मार्गदर्शन भी प्रदान करेगा। हिन्दुजा अस्पताल के वरिष्ठ बाल रोग विशेषज्ञ डॉ. सुहास प्रभु इस कार्यबल के प्रमुख होंगे। महाराष्ट्र में न सिर्फ कोविड-19 के मामलों में बल्कि मौतों में भी गिरावट देखी जा रही है जो कि पिछले कई दिनों से उच्च स्तर पर थी। बुधवार को राज्य में 24,752 नए मामले और 453 मौतें दर्ज की गईं।

गुजरातः गुजरात सरकार ने बुधवार को 36 शहरों में नाइट कर्फ्यू में एक घंटे की ढील दी, लेकिन लगाए गए प्रतिबंधों में कोई बदलाव नहीं किया क्योंकि इस पश्चिमी राज्य ने कोरोनावायरस बीमारी (कोविड-19) के नए मामलों में उल्लेखनीय गिरावट दर्ज की है। मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने गांधीनगर में मंत्रिमंडल की बैठक के बाद कर्फ्यू के संशोधित समय के बारे में घोषणा की। मुख्यमंत्री ने यह भी कहा कि राज्य सरकार कोरोनावायरस महामारी की तीसरी लहर की संभावना के बारे में सतर्क है और इससे निपटने के लिए विस्तृत कार्य योजना जल्द ही घोषित की जाएगी।

राजस्थानः प्रदेश में पिछले महीने कोरोना से हुई मौतों का लेखा- जोखा तैयार करने के लिए राज्य सरकार ने 3 टीमों का गठन किया है। उन्हें 15 दिनों के भीतर रिपोर्ट देने को कहा गया है। टीमों को कुल मौतों के साथ-साथ कोविड के कारण हुई मौतों का आकलन करने के लिए निर्देश दिए गए है। राजस्थान में बुधवार को कोविड-19 के 3,886 नए मामलों के साथ कुल मामलों की संख्या 9,27,746 हो गई है जबकि 107 लोगों की मौत के साथ मरने वालों की संख्या 8,018 हो गई है। नए मामलों में सबसे अधिक 779 जयपुर से, 340 जोधपुर से और 284 अलवर से सामने आए।

मध्य प्रदेशः मध्य प्रदेश में अब तक 45 वर्ष से अधिक आयु वाले लोगों के साथ 18 से 45 वर्ष के लोगों को एक करोड़ से अधिक कोरोना टीके की खुराक दी जा चुकी हैं। मुख्यमंत्री ने निर्देश दिए कि टीकाकरण में हाथ ठेला मालिकों, फेरीवाले लोगों के लिए प्राथमिकता वाले समूह बनाए जाएं। छोटे बच्चों के माता-पिता को भी प्राथमिकता वाले समूह में रखा जा सकता है। राज्य के स्वास्थ्य विभाग ने कहा कि मध्य प्रदेश में बुधवार को कोरोना के 2,182 नए मामले दर्ज किए गए जबकि 7,479 मरीजों को अस्पताल से छुट्टी दे दी गई और संक्रमण से 72 लोगों की मौत हुई है। मध्य प्रदेश में अब 43,265 सक्रिय मामले बचे हैं।

छत्तीसगढ़ः छत्तीसगढ़ में बुधवार को आए 2,829 नए मामलों के साथ कोरोनावायरस संक्रमण के मामले बढ़कर 9,59,544 हो गए जबकि 56 लोगों की मौत के साथ मरने वाले लोगों की संख्या 12,779 हो गई है। विभिन्न अस्पतालों से 997 लोगों को छुट्टी मिलने के बाद कोविड से ठीक होने वाले लोगों की संख्या 8,93,258 हो गई है जबकि 4,100 लोगों ने अपना होम आइसोलेशन का समय पूरा किया। राज्य में सक्रिय मामलों की संख्या 53,480 है। राज्य में कोविड-19 की पॉजिटिविटी दर अब घटकर 4.7 प्रतिशत हो गई है जो 1 मई को 26.1 प्रतिशत थी। 

गोवाः राज्य के महामारी विज्ञानी ने कहा कि गोवा में कोविड-19 की दूसरी लहर की पीक जा चुकी है। महामारी विज्ञानी ने कहा कि जब तक मामले प्रतिदिन 200 से कम नहीं हो जाते, तब तक निश्चिंत नहीं हुआ जा सकता। पिछले सितंबर में पहली लहर के चरम पर पहुंचने के दौरान राज्य में एक दिन में 740 मामले सामने आए थे लेकिन उस बिंदु से नए संक्रमण के दैनिक औसत को 200 से नीचे आने में एक महीने से अधिक का समय लगा।

पंजाबः संक्रमित रोगियों की कुल संख्या 5,48,231 है। सक्रिय मामलों की संख्या 53,127 है। कुल मौतों की संख्या 13,642 है। कोविड-19 टीके की पहली खुराक लेने वाले (स्वास्थ्यकर्मी+ अग्रिम मोर्चे के कार्यकर्ता) 8,70,938 है। कोविड-19 टीके की दूसरी खुराक लेने वालों (स्वास्थ्यकर्मी+ अग्रिम मोर्चे के कार्यकर्ता) की कुल संख्या 2,47,533 है। 45 से अधिक उम्र के कुल 27,36,806 लोगों को टीके की पहली खुराक दी गई। 45 से अधिक उम्र के कुल 4,59,657 लोगों को टीके की दूसरी खुराक दी गई।

चंडीगढ़ः प्रयोगशाला द्वारा कोविड-19 के पुष्ट मामलों की कुल संख्या 58,992 है। सक्रिय मामलों की संख्या 4,063 है। अब तक कोविड-19 से होने वाली मौतों की कुल संख्या 714 है।

हरियाणाः अब तक कुल 7,44,602 नमूने पॉजिटिव पाए गए। कुल सक्रिय कोविड-19 मरीजों की संख्या 34,088 है। मौतों की संख्या 7,735 है। अब तक कुल 54,39,215 लोगों को टीका लगाया जा चुका है।

असमः राज्य में कोविड की पॉजिटिविटी दर घटकर 5 प्रतिशत से नीचे आ गई है लेकिन स्वास्थ्य विभाग के लिए रोजाना होने वाली 90 मौतें चिंता का विषय बनी हुई है। राज्य में 1,16,119 लोगों की जांच के बाद कुल 5,699 नए मामलों का पता चला है और पॉजिटिविटी दर 4.91 प्रतिशत है। राज्य सरकार ने एक नई एसओपी जारी की है जिसमें टीकाकरण से पहले किसी व्यक्ति के लिए कोविड जांच कराने को अनिवार्य कर दिया गया है। कोविड-19 संक्रमित व्यक्तियों को टीका नहीं लगाया जाएगा।

मणिपुरः राज्य में 24 घंटों में 847 नए मामले, 10 मौतें दर्ज की गई है। राज्य सरकार ने निजी अस्पतालों में कोविड मरीजों के इलाज के शुल्क के लिए अधिकतम सीमा की घोषणा की। राज्य के स्वास्थ्य विभाग द्वारा बुधवार को जारी एक आदेश के अनुसार बिना ऑक्सीजन सपोर्ट वाले सामान्य/आइसोलेशन बिस्तर के लिए अधिकतम सीमा शुल्क 3,000 रुपये प्रतिदिन, ऑक्सीजन सपोर्ट वाले सामान्य/आइसोलेशन बिस्तर के लिए 5,000 रुपये प्रतिदिन, हाई डिपेंडेंसी यूनिट (एचडीयू) के लिए 7,000 रुपये प्रति दिन, बिना वेंटिलेटर के आईसीयू के लिए 8,000 रुपये और आईसीयू के साथ वेंटिलेटर के उपयोग के लिए 10,000 रुपये प्रति दिन है। अब तक 3,55,793 व्यक्तियों को कोविड-19 प्रतिरोधी टीके लगाये जा चुके हैं, जिनमें से 79, 897 व्यक्तियों को टीके की दोनों खुराकें मिल चुकी हैं।  

मेघालयः बुधवार को 846 नए मामलों के साथ मेघालय में संक्रमण के मामलों की संख्या 8,000 तक पहुंच गई है। राज्य में लगातार दूसरे दिन 700 से अधिक मरीजों के ठीक होने के साथ रिकवरी दर भी बढ़ी है। पिछले 24 घंटों में, 10 मौतों के साथ मरने वालों की संख्या 512 हो गई है। राज्य सरकार ने लोगों को कोविड-19 पर गलत जानकारी साझा करने/फैलाने को लेकर आगाह किया और महामारी रोग अधिनियम के तहत उल्लंघनकर्ता के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की चेतावनी दी है।

सिक्किमः 295 नए मामले, 241 मरीज ठीक हुए और 2 लोगों की मौत हुईः सिक्किम में कोविड-19 के पुष्ट मामलों को संख्या अब 13,806 तक पहुंच गई है। दूसरी तरफ, सिक्किम में कोविड-19 से ठीक होने वाले लोगों की संख्या 9,933 है। राज्य में वर्तमान में कोरोनावायरस के 3,422 सक्रिय मामले हैं।

त्रिपुराः पिछले 24 घंटों में पश्चिम जिला में दर्ज 330 नए संक्रमण के मामलों के साथ कल 667 संक्रमण मामले सामने आए। 6 लोगों की मौत हो गई जबकि 1066 लोग ठीक हो गए हैं। लेकिन पश्चिम जिला अधिक पॉजिटिविटी दर के कारण सरकार के लिए चिंता का विषय बन गया है।

नगालैंडः नगालैंड में बुधवार को कोविड के 260 नए मामले और 12 मौतें दर्ज की गईं। कुल सक्रिय मामले 4923 हैं जबकि कुल मामलों की संख्या 20,795 हो गई है। दीमापुर ऑक्सीजन संयंत्र ने प्रमाणन प्राप्त कर काम करना शुरू कर दिया है। पीएम केयर्स फंड के तहत स्थापित संयंत्र से प्रति मिनट 200 लीटर ऑक्सीजन का उत्पादन होगा।

महत्वपूर्ण ट्वीट

 

***

एमजी/एएम/एसके

(Release ID: 1722234)



(Release ID: 1722618) Visitor Counter : 44