PIB Headquarters

कोविड-19 पर पीआईबी का दैनिक बुलेटिन

Posted On: 24 JUL 2020 6:32PM by PIB Delhi

 (पिछले 24 घंटों में जारी कोविड-19 से संबंधित प्रेस विज्ञप्तियां, पीआईबी के क्षेत्रीय कार्यालयों से मिली जानकारियां और पीआईबी द्वारा जांचे गए तथ्य शामिल हैं)

   आज लगातार तीसरे दिन सर्वाधिक 34,602 कोविड रोगी पिछले 24 घंटों में ठीक हुए।

कोविड-19 से ठीक होने वाले मरीजों की कुल संख्या 8 लाख से अधिक हुई।

मृत्यु दर (केस फेटलिटी रेट) घटकर 2.38 प्रतिशत हुई और इसमें निरंतर गिरावट जारी है।

अब तक 1.5 करोड़ से ज्यादा कोविड-19 के नमूनों का परीक्षण किया गया; 1290 प्रयोगशालाओं में परीक्षण किए जा रहे हैं।

श्री पीयूष गोयल ने सस्ती कीमतों पर दवाओं तक पहुंच में आने वाली बाधाओं को दूर करने पर जोर दिया।

श्री किरेन रिजिजू ने कहा कि सेहत के प्रति जागरूकता ने भारत के लोगों में महामारी के दौरान प्रतिरोधक क्षमता विकसित करने में मदद की। 

आज लगातार तीसरे दिन सर्वाधिक 34,602 कोविड रोगियों को पिछले 24 घंटों में अस्पताल से छुट्टी दी गई; कोविड बीमारी से अब तक ठीक होने वालों की कुल संख्या 8 लाख के पार; मृत्यु दर (केस फेटलिटी रेट) घटकर 2.38 प्रतिशत हुई और इसमें निरंतर गिरावट जारी है

कोविड-19 से एक दिन में अधिकतम मरीजों के ठीक होने का सिलसिला निर्बाध रूप से जारी है। लगातार तीसरे दिन पिछले 24 घंटों में 34,602 मरीज ठीक हुए हैं जो एक दिन में अब तक का सर्वाधिक आंकड़ा है। इसके साथ ही कोविड-19 की बीमारी से ठीक होने वाले मरीजों की कुल संख्या 8 लाख से अधिक हो गई है और वर्तमान में यह 8,17,208 है। इससे कोविड-19 मरीजों के ठीक होने (रिकवरी) की दर बढ़कर 63.45 प्रतिशत तक पहुंच गई है। कोविड-19 मरीजों के ठीक होने की इन लगातार बढ़ती संख्याओं के परिणामस्वरूपठीक होने वाले मरीजों की संख्या इस बीमारी के सक्रिय मामलों (4,40,135 आज) से 3,77,073 अधिक है। ठीक होने वालों और सक्रिय मामलों के बीच यह अंतर बीमारी से ठीक होने की उत्तरोत्तर बढ़ती हुई प्रवृत्ति को दिखा रहा है। ठीक होने वाले लोगों की संख्या के बढ़ने के साथ ही मृत्यु दर लगातार घट रही है जो कि अब 2.38 प्रतिशत रह गई है।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-

प्रयोगशाला अवसंरचना में तेज वृद्धि होने से टेस्ट ट्रैक एंड ट्रीटकी रणनीति जारी रखते हुए अब तक 1.5 करोड़ से ज्यादा कोविड-19 के नमूनों का परीक्षण किया गया

देश में अब तक 1.5 करोड़ से अधिक (1,54,28,170) कोविड-19 के नमूनों का परीक्षण किया जा चुका है। पिछले 24 घंटों में कोविड संक्रमण का पता लगाने के लिए 3,52,801 नमूनों का परीक्षण किया गया। देश में प्रति दस लाख की आबादी पर कोविड नमूनों के परीक्षण का आंकड़ा 11,179.83 पर पहुंच गया है। टेस्ट, ट्रैक और ट्रीट की रणनीति को अपनाने के बाद से नमूनों के परीक्षण में लगातार वृद्धि देखी जा रही है।

सार्वजनिक और निजी क्षेत्रों में प्रयोगशालाओं की संख्या में उत्तरोत्तर वृद्धि देखी जा रही है। सरकारी क्षेत्र में इस समय कोविड के परीक्षण के लिए 897 और निजी क्षेत्र में 393 प्रयोगशालाएं हैं। (कुल-1290)

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-

डॉ. हर्षवर्धन ने शंघाई सहयोग संगठन (एससीओ) में स्वास्थ्य मंत्रियों की डिजिटल बैठक में भारत की नोवेल कोविड रोकथाम कार्यनीति पर बात की

केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने आज शंघाई सहयोग संगठन (एससीओ) में शामिल देशों के स्वास्थ्य मंत्रियों की डिजिटल बैठक में डिजिटल माध्यम से भाग लिया। डॉ. हर्षवर्धन ने कोविड बीमारी से निपटने के लिए सरकार द्वारा उठाए गए कदमों के बारे में विस्तार से बताया। उन्होंने कहा कि घातक वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए एक क्रमबद्ध तरीके से कार्रवाई शुरू की गई जिसमें यात्रा सलाह जारी करना, शहर या राज्यों में प्रवेश के स्थानों की निगरानी, समुदाय आधारित निगरानी, प्रयोगशाला तथा अस्पतालों की क्षमता बढ़ाना, कोविड प्रकोप तथा लोगों में इसके वायरस के संचार के जोखिम के विभिन्न पहलुओं के प्रबंधन पर तकनीकी दिशा-निर्देशों को व्यापक स्तर पर जारी किया जाना आदि शामिल है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने लॉकडाउन के दौरान और उसके बाद परीक्षण क्षमता और स्वास्थ्य के बुनियादी ढांचे में सुधार पर बात की। डॉ. हर्षवर्धन ने जोर देते हुए यह भी बताया कि कैसे कोविड-19 के दौरान आम लोगों की प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में भारतीय पारंपरिक चिकित्सा पद्धति ने भी महत्वपूर्ण योगदान दिया है। उन्होंने शंघाई सहयोग संगठन के स्वास्थ्य मंत्रियों की मौजूदा संस्थागत बैठकों के तहत पारंपरिक चिकित्सा पर एक नए उप समूह की स्थापना का प्रस्ताव रखा।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-

श्री पीयूष गोयल ने सस्ती कीमतों पर दवाओं तक पहुंच में आने वाली कई बाधाओं को दूर करने पर बल दिया

वाणिज्य और उद्योग मंत्री श्री पीयूष गोयल ने सभी देशों से अपने व्यापार में पारदर्शिता बढ़ाने और श्रेष्ठ व्यापार भागीदार के रूप में अपनी भूमिका को खत्म होने से रोकने के लिए विश्वास बनाए रखने का आह्वान किया है। कल ब्रिक्स व्यापार मंत्रियों की 10वीं वर्चुअल बैठक को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि व्यापार में पुन:प्राप्ति की प्रक्रिया में अपनी भूमिका निभाने के लिए, सभी भागीदारों को भरोसेमंद और पारदर्शी होना चाहिए। मंत्री श्री गोयल ने कहा कि जारी इस वैश्विक संकट ने पूरे विश्व को उनकी कमजोरियों से अवगत कराया है, जिससे हमें एक-दूसरे का सहयोग करने के तरीके तलाशने पर मजबूर होना पड़ा है। उन्होंने कहा कि व्यापार इस तरह के परिदृश्य में विकास को पुनर्जीवित करने का एक सशक्त माध्यम हो सकता है और इसका अर्थ विश्व व्यापार संगठन (डब्ल्यूटीओ) अपने खुलेपन, निष्पक्षता, पारदर्शिता, समावेशिता और गैर-भेदभाव के सिद्धांतों पर आधारित है। श्री पीयूष गोयल ने बौद्धिक संपदा की रक्षा के लिए विश्व व्यापार संगठन के नियमों के तहत सस्ती कीमतों पर दवाओं तक पहुंच में आ रही बाधाओं को दूर करने का आह्वान किया। उन्होंने कहा कि आईपीआर को बीमारी के इलाज के लिए जरूरी दवाओं और अन्य उपकरणों तक पहुंच को अवरुद्ध नहीं करना चाहिए। श्री गोयल ने कहा कि महामारी ने हमें विरोधाभासी रूप से- क्षमता निर्माण के द्वारा खुद को मजबूत करने के लिए, विनिर्माण का विस्तार करने के साथ-साथ वैश्विक मूल्य श्रृंखलाओं में प्रवेश करने के लिए- एक विशेष अवसर प्रदान किया है।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-

कुछ देशों से सार्वजनिक खरीद पर प्रतिबंध

भारत सरकार ने आज सामान्य वित्तीय नियम 2017 में संशोधन किया, ताकि उन देशों के बोली लगाने वालों पर प्रतिबंध लगाया जा सके जो भारत के भू-भाग के साथ सीमा साझा करते हैं। संशोधन, भारत की प्रतिरक्षा तथा राष्ट्रीय सुरक्षा समेत प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से संबंधित मामलों को ध्यान में रखते हुए किया गया है। उक्त नियमों के तहत, व्यय विभाग ने भारत की रक्षा और राष्ट्रीय सुरक्षा को मजबूत करने के लिए सार्वजनिक खरीद पर एक विस्तृत आदेश जारी किया है। आदेश के अनुसार, भारत के साथ भूमि सीमा साझा करने वाले ऐसे देशों का कोई भी बोली लगाने वाला वस्तु, सेवाओं (परामर्श सेवाओं और गैर-परामर्श सेवाओं सहित) या कार्य (टर्नकी परियोजनाओं सहित) से सम्बंधित किसी भी सरकारी खरीद में बोली लगाने का पात्र होगा, यदि बोलीदाता सक्षम प्राधिकरण के साथ पंजीकृत है। पंजीकरण के लिए सक्षम प्राधिकरण, उद्योग संवर्धन और आंतरिक व्यापार विभाग (डीपीआईआईटी) द्वारा गठित पंजीकरण समिति होगी। विदेश और गृह मंत्रालय से क्रमशः राजनीतिक और सुरक्षा मंजूरी अनिवार्य होगी। इस आदेश में सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक और वित्तीय संस्थान, स्वायत्त निकाय, केंद्रीय सार्वजनिक क्षेत्र उद्यम (सीपीएसई) और सरकार या इसके उपक्रमों से वित्तीय सहायता प्राप्त करने वाली सार्वजनिक-निजी भागीदारी की परियोजनाएं शामिल हैं। 31 दिसंबर 2020 तक कोविड-19 वैश्विक महामारी की रोकथाम के लिए चिकित्सा आपूर्ति की खरीद सहित कुछ सीमित मामलों में छूट प्रदान की गई है।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-

राष्ट्रमंडल महासचिव ने वैश्विक मंच पर फिट इंडिया मूवमेंट की सराहना की; श्री किरेन रिजिजू ने कहा कि सेहत के प्रति जागरूकता ने भारत के लोगों में महामारी के दौरान प्रतिरोधक क्षमता विकसित करने में मदद की

केन्द्रीय युवा कार्यक्रम एवं खेल मंत्री श्री किरेन रिजिजू ने राष्ट्रमंडल देशों के मंत्रियों के वैश्विक मंच की बैठक में भारत में खेल गतिविधियां फिर से शुरू करने की तैयारियों और कोविड-19 के बाद के समय में मिलकर एक सामंजस्यपूर्ण नीति तैयार किए जाने का खाका पेश किया। वैश्विक मंच की बैठक को संबोधित करते हुए श्री रिजिजू ने कहा कि राष्ट्रमंडल  देशों के सदस्य के रूप में हमें सभी मुद्दों पर एकजुट होकर खड़े होने की जरूरत है और वह भी खासकर ऐसे समय में जब पूरी दुनिया कोविड-19 महामारी के संकट से गुजर रही है। महामारी के दौरान सेहत का ख्याल रखने के महत्व पर बोलते हुए खेल मंत्री ने कहा, “मैं इस मंच से राष्ट्रमंडल देशों के मंत्रियों को बताना चाहूंगा कि फिट इंडिया मूवमेंट एक बहुत ही महत्वपूर्ण कार्यक्रम है जिसे पिछले साल हमारे प्रधानमंत्री ने शुरू किया था। यह लोगों को सेहतमंद रखते हुए उन्हें महामारी से लड़ने में सक्षम बनाने के मामले में बहुत उपयोगी साबित हुआ है। श्री रिजिजू ने कहा कि भारत ने ऑनलाइन कार्यक्रमों की विस्तृत श्रृंखला के माध्यम से लोगों में फिटनेस और वेलनेस के प्रति जागरूकता पैदा करने का काम किया है। इन कार्यक्रमों के माध्यम से विशेषज्ञों ने स्वास्थ्य, पोषण और व्यायाम पर अपनी सलाह साझा की है जिसका लाभ सभी आयु वर्ग के नागरिकों ने उठाया है।

अधिक जानकारी के  लिए पढ़ें-

मानव संसाधन मंत्री ने "भारत में रहें और भारत में अध्ययन करें" विषय पर गहन विचार मंथन सत्र आयोजित किया

केन्द्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री श्री रमेश पोखरियाल निशंकने आज नई दिल्ली में मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारियों और स्वायत्त/तकनीकी संगठनों के प्रमुखों के साथ भारत में रहें और भारत में अध्ययन करेंके बारे में विचार-मंथन सत्र आयोजित किया। श्री पोखरियाल ने इस अवसर पर कहा कि कोविड के कारण कई छात्र जो विदेश में पढ़ाई करना चाहते थे, उन्होंने भारत में ही रहने और भारत के भीतर अपनी पढ़ाई करने का फैसला किया है। उन्होंने कहा कि अपनी पढ़ाई पूरी होने की चिंता के साथ भारत लौटने वाले छात्रों की संख्या भी बढ़ रही है। उन्होंने कहा कि मानव संसाधन विकास मंत्रालय को इन दोनों तरह के छात्रों की जरूरतों पर ध्यान देने के लिए सभी प्रयास करने चाहिए। यूजीसी के अध्यक्ष की अध्यक्षता में दिशा-निर्देशों और उपायों की सूची तैयार करने के लिए एक समिति का गठन किया जाएगा। यह समिति ऐसे उपाय बताएगी जिससे अधिक से अधिक छात्र देश में रहकर पढ़ाई करें।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-

जैवप्रौद्योगिकी विभाग ने जीनोवा बायोफार्मास्युटिकल्स लिमिटेड के नोवेल एमआरएनए आधारित कोविड-19 टीका प्रत्याशी-एचजीसीओ19 के लिए सीड फंडिंग उपलब्ध कराई

डीबीटी-बीआईआरएसी ने भारत में अपनी तरह की पहली एमआरएनए आधारित वैक्सीन निर्माण प्लेटफार्म की स्थापना को सुगम बनाया है। डीबीटी ने कोविड-19 टीके के लिए जीनोवा के नोवेल सेल्फ ऐम्प्लिफाइंग एमआरएनए आधारित टीका प्रत्याशी के विकास के लिए सीड फंडिंग उपलब्ध करायी है। अमेरिका के सीएटल स्थित एचडीटी बायोटेक कॉरपोरेशन के सहयोग से जीनोवा ने प्रदर्शित सुरक्षा, इम्युनोजेनिसिटी, रोडेंट एवं गैर-मानव प्राइमेट मॉडल्स में न्यूट्रलाइजेशन एंटीबाडी गतिविधि के साथ एक एमआरएनए वैक्सीन प्रत्याशी (एचजीसीओ19) विकसित किया है।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-

सीएसआईआर द्वारा विकसित और मेसर्स सिप्ला लिमिटेड द्वारा उपयोग में लाई जाने वाली कम लागत वाली प्रक्रियागत तकनीक से बनी बेहतर और कारगर दवा फेविपिराविर के शीघ्र लॉन्च किए जाने की उम्मीद

एक बिना पेटेंट वाली तथा वायरल रोधी दवा फेविपिराविर जिसकी खोज मूल रूप से जापान की फुजी द्वारा की गई थी, ने कोविड-19 मरीजों, विशेष रूप से हल्के और मध्यम लक्षण वाले रोगियों के उपचार के लिए नैदानिक परीक्षणों में उम्मीद प्रदर्शित की है। सीएसआईआर घटक प्रयोगशाला सीएसआईआर-भारतीय रसायन प्रौद्योगिकी संस्थान (सीएसआईआर-आईआईसीटी) ने इस सक्रिय फार्मास्युटिकल इंग्रडिएंट (एपीआई) को संश्लेषित करने के लिए स्थानीय रूप से उपलब्ध रसायनों का उपयोग करने के जरिये एक किफायती प्रक्रिया विकसित की है और यह प्रौद्योगिकी फार्मास्युटिकल क्षेत्र की अग्रणी कंपनी मेसर्स सिप्ला लिमिटेड को अंतरित कर दी है। सिप्ला ने अपने विनिर्माण सुविधा केंद्र में इस प्रक्रिया को और आगे बढ़ाया है और भारत में इस उत्पाद को लॉन्च करने के लिए डीसीजीआई से संपर्क किया है। यह देखते हुए कि डीसीजीआई ने देश में फेविपिराविर के लिए सीमित आपातकालीन उपयोग की अनुमति दी है, सिप्ला कोविड-19 से पीड़ित रोगियों की मदद के लिए इस उत्पाद को लॉन्च करने हेतु अब पूरी तरह तैयार है।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-

रक्षा मंत्री श्री राजनाथ सिंह तथा इजरायल के रक्षा मंत्री ने रक्षा संबंधों को और मजबूत करने के लिए टेलीफोन पर चर्चा की

रक्षा मंत्री श्री राजनाथ सिंह ने आज इजरायल के रक्षा मंत्री लेफ्टिनेंट जनरल बेंजामिन गैंट्ज के साथ टेलीफोन पर बातचीत की। दोनों मंत्रियों ने दोनों देशों के बीच रणनीतिक सहयोग की प्रगति पर संतोष व्यक्त किया तथा रक्षा संबंधों को और मजबूत करने की संभावनाओं पर चर्चा की। दोनों राजनेताओं ने कोविड-19 महामारी की रोकथाम के लिए अनुसंधान और विकास में आपसी सहयोग पर संतोष व्यक्त किया, जो न केवल दोनों देशों को लाभान्वित करेगा, बल्कि संपूर्ण मानवता की भी सहायता करेगा।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-

राष्ट्रपति ने असम, बिहार और उत्तर प्रदेश में बाढ़ प्रभावित लोगों के लिए रेड क्रॉस की ओर से भेजी गई राहत सामग्री की खेप रवाना की

राष्ट्रपति श्री रामनाथ कोविंद ने रेड क्रॉस की ओर से बाढ़ प्रभावित राज्यों के लिए भेजी गई राहत आपूर्ति सामग्री से लदे नौ ट्रकों को आज राष्ट्रपति भवन से रवाना किया। इस अवसर पर केन्द्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्री डॉ. हर्षवर्धन भी उपस्थित थे। राष्ट्रपति भारतीय रेड क्रॉस सोसाइटी के अध्यक्ष भी हैं। इस राहत सामग्री में तिरपाल, टेंट, साड़ी, धोती, सूती कंबल, रसोई सेट, मच्छरदानी, चादरें, बाल्टियां और दो जल शोधन मशीनें शामिल हैं। इसके अलावा कोविड से बचाव के लिए इस्तेमाल किए जाने वाले सर्जिकल मास्क, पीपीई किट, दस्ताने और फेस शील्ड भी इस खेप का हिस्सा हैं। बाढ़ प्रभावित राज्यों में इनका इस्तेमाल मुख्य रूप से राहत और पुनर्वास कार्यों में अग्रिम पंक्ति में तैनात आईआरसीएस चिकित्सा सेवाओं के लोगों तथा आईआरसीएस के स्वयंसेवकों के लिए किया जाएगा।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-

पीआईबी के क्षेत्रीय कार्यालयों से मिली जानकारियां

चंडीगढ़: संघ शासित प्रदेश चंडीगढ़ के प्रशासक ने कोविड संक्रमण को रोकने के लिए मीडिया से लोगों में उनके द्वारा बरती जाने वाली सुरक्षा सावधानियों के बारे में जागरूकता जगाने की अपील की है। उन्होंने कहा कि केवल सरकारी विज्ञापनों के माध्यम से दिए जाने वाले संदेश पर्याप्त नहीं होंगे। मीडिया को मास्क पहनने और सामाजिक दूरी बनाए रखने के लिए लोगों में जागरूकता पैदा करने हेतु शहर में एक सकारात्मक और सक्रिय भूमिका निभानी चाहिए।

पंजाब: पंजाब में घर में पृथक रूप से रहने के निर्देशों का उल्लंघन करने वाले कोविड-19 रोगियों को मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह द्वारा घोषित नए दिशा-निर्देशों के अनुसार  5000 रुपये का जुर्माना भरना होगा। वर्तमान में राज्य में होम आइसोलेशन में 951 रोगियों को रखा गया हैं। मुख्यमंत्री ने राज्य में महामारी के प्रसार को रोकने के लिए लगाए गए प्रतिबंध उपाय के रूप में सोशल डिस्टेंसिंग के मानदंडों का उल्लंघन करने वाले रेस्तरां और वाणिज्यिक भोजन स्थलों के लिए 5000 रुपये का जुर्माना लगाने की घोषणा की है।

हरियाणा: कोविड-19 महामारी के कारण उत्पन्न होने वाली प्रतिकूल परिस्थितियों को देखते हुए, हरियाणा राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने नए सामान्य जीवन के एक अंग के तौर पर, फेस मास्क, फेस कवर और दस्तानों के सुरक्षित निपटान के बारे में जागरूकता पैदा करने के लिए एक अभियान का शुभारंभ किया है, क्योंकि जनता को पता होना चाहिए कि इन सबका सुरक्षित तरीके से कैसे निपटान करना है।

केरल: राज्य में आज तीन और कोविड मृत्यु के बाद मृतकों की संख्या 53 हो गई है। इस बीच, स्वास्थ्य अधिकारियों ने गौर किया है कि कोझिकोड की चेक्कड पंचायत में कोविड मामले बढ़ रहे हैं। दूल्हे सहित एक चिकित्सक के विवाह में शामिल होने वाले 23 लोगों में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है। कोट्टायम मेडिकल कॉलेज के दो पीजी डॉक्टरों को संपर्क के माध्यम से कोराना होने और इससे कई लोगों के संक्रमित होने के बाद उन्हें निगरानी में रखा गया हैं। सीपीआई (एम) ने आज की सर्वदलीय बैठक से पहले कहा कि वह महामारी को रोकने के लिए एक और पूर्ण लॉकडाउन के खिलाफ है, किंतु यदि आवश्यक हो तो स्थानीय स्तर पर और कड़े प्रतिबंधों के पक्ष में हैं। केरल में आज एक ही दिन में 1078 कोरोना मामलों की पुष्टि की गई, जिनमें से 798 मामले संपर्क के माध्यम से थे, और 65 मामले अज्ञात स्रोत से थे। वर्तमान में, पूरे राज्य में 9,458 रोगियों का इलाज चल रहा है और 1,58,117 लोगों को निगरानी में रखा गया है।

तमिलनाडु: तमिलनाडु में राजभवन के 84 कर्मचारियों सहित सुरक्षा कर्मियों और अग्निशमन कर्मचारियों में गुरुवार को कोरोना संक्रमण की पुष्टि की गई है। पतंजलि ने कोरोनिल का इंजेक्शन निकालने के लिए मद्रास उच्च न्यायालय का दरवाजा खटखटाया है। चेन्नई स्थित औद्योगिक उपकरण क्लीनिंग फर्म ने कथित ट्रेडमार्क उल्लंघन के लिए एक सिविल मामला दायर किया है। दक्षिणी जिलों में कोविड-19 के बढ़ते मामलों के साथ, चेन्नई में प्रतिनियुक्ति पर भेजे गए सरकारी चिकित्सकों की प्रतिनियुक्ति को रद्द करते हुए उन्हें अपने मूल जिलों में वापस जाने के लिए कहा गया है। राज्य में कल तक 6472 नए मामलों की पुष्टि के साथ कुल मामलों की संख्या 1,92,964 हो गई है; 88 मृत्यु के साथ अब मृतकों की संख्या 3,232 हो गई है; चेन्नई ने 90,000 रोगियों की संख्या को पार कर लिया है।

कर्नाटक: भारत में निर्मित पहले गैर-इनवेसिव वेंटिलेटर, स्वस्थवायु का बेंगलुरु के मणिपाल अस्पताल में नैदानिक परीक्षण प्रारंभ होगा। राज्य रोजगार खोने वाले अथवा लॉकडाउन के कारण वित्तीय संकट का सामना कर रहे अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति के लोगों को जल्द ही स्व-रोजगार प्राप्त के लिए वित्तीय सहायता प्रदान करेगा। कर्नाटक उच्च न्यायालय ने राज्य सरकार को सभी अस्पतालों को नियमित रूप से उपलब्ध बिस्तरों की जानकारी देने के लिए निर्देश जारी करने को कहा है ताकि इसे कोविड बिस्तरों की स्थिति के लिए ऑनलाइन पोर्टल पर अपडेट किया जा सके। राज्य में कल 5030 नए मामले और 97 मृत्यु दर्ज हुईं; बेंगलुरु शहर में कुल 2207 मामले, कुल पॉजिटिव मामले: 80,863; सक्रिय मामले: 49,931; मृत्यु: 1616.

आंध्र प्रदेश: राज्य में बढ़ते कोरोना मामलों और मृत्यु के मद्देनजर कृष्णा जिले के जिलाधिकारी ने 26 जुलाई से लॉकडाउन की खबरों का खंडन किया है। उन्होंने इस संदर्भ में सोशल मीडिया पर चल रही खबरों को बेबुनियाद बताया। इस बीच, आज से नेल्लोर में लॉकडाउन लगा दिया गया है लेकिन व्यावसायिक प्रतिष्ठान 1 बजे तक खुले रहेंगे। तिरुपति में कोविड मामलों की प्रतिदिन बढ़ती संख्या के साथ, लोग अब कोविड की जांच के लिए रुइया अस्पताल में आ रहे हैं। राज्य में कल 7998 नए मामले और 61 मृत्यु हुईं। राज्य में कोविड के कुल 72,711 मामले, 34,272 सक्रिय मामले और 884 मृत्यु दर्ज की गई हैं।

तेलंगाना: स्वास्थ्य अधिकारियों ने हैदराबाद में निजी अस्पतालों, प्रयोगशालाओं को चेतावनी देते हुए कहा है कि मरीजों को कोविड-19 सुविधाएं प्रदान करने में कमी मिलने पर वह उन्हें जब्त करने में संकोच नहीं करेंगे। राज्य में कल 1567 नए मामले दर्ज हुए, 1661 मरीज ठीक हुए और 09 मृत्यु दर्ज की गई। 1567 मामलों में से 662 मामले जीएचएमसी में दर्ज किए गए। राज्य में कुल 50,826 मामले, 11,052 सक्रिय मामले, 447 मृत्यु और ठीक हुए लोगों की संख्या 39,327 है।

महाराष्ट्र: मध्य रेलवे द्वारा शुरू की गई संपर्क रहित टिकट जांच प्रणाली की तरह, मुंबई में महामारी को रोकने के लिए अभिनव विचारों को अपनाया जा रहा है। मुंबई डिवीजन ने मुंबई में छत्रपति शिवाजी महाराज टर्मिनल में टिकट जांच स्टाफ के लिए चेकइन मास्टर नामक एक ऐप का शुभारंभ किया है। ऐप में यात्री आरक्षण प्रणाली और अनारक्षित टिकट प्रणाली के माध्यम से टिकटों को सुरक्षित दूरी से जांचने के लिए ओसीआर और क्यूआर कोड स्कैनिंग सुविधाएं उपलब्ध हैं। जल्द ही शुरू किए जाने वाले अगले चरण में, प्रवेश एवं निकास पर फ्लैप आधारित स्वचालित क्यूआर-कोड से टिकट जांच की व्यवस्था को भी स्थापित करने की योजना बनाई जा रही है। मुंबई में अब तक कुल 1.05 लाख मामलों में से 22,800 सक्रिय मामले हैं। महाराष्ट्र में सक्रिय मामलों की संख्या 1.40 लाख है।

गुजरात: गुजरात में, गुरुवार को कुल 1,078 मामलों की पुष्टि के बाद राज्य में कोविड-19 मामलों की कुल संख्या 52,000 को पार कर गई है। राज्य में कोरोनो वायरस संक्रमणों से ग्रस्त मरीजों की संख्या अब 52,477 है। राज्य में अब तक के सर्वाधिक मामले दर्ज किए गए है। हालांकि, 12,348 सक्रिय मामलों के साथ, देश में गुजरात सक्रिय मामलों में आठवें स्थान पर है। राज्य में गुरुवार को 28 लोगों की मृत्यु के साथ, महामारी के कारण मृतकों की संख्या 2,257 हो गई है।

राजस्थान: आज सुबह 375 नए पॉजिटिव मामले और 4 मृत्यु दर्ज की गई, जिससे राज्य में कोविड-19 के कारण 33,595 मृत्यु हुई हैं। राज्य में आज अलवर जिले में सबसे ज्यादा 224 मामलों दर्ज किये गए।

मध्य प्रदेश: मध्य प्रदेश में, कोरोना के बढ़ते संक्रमण के कारण रक्षाबंधन और ईद-उल-जुहा के त्योहारों को इस वर्ष सार्वजनिक रूप से नहीं मनाया जाएगा। इसके अलावा, आज रात 8 बजे से केवल भोपाल नगर निगम क्षेत्र में 10 दिनों का संपूर्ण लॉकडाउन लागू किया जाएगा। इस दौरान, दवाओं, सब्जियों, फलों, दूध आदि जैसी अधिकांश आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति सुनिश्चित की जाएगी। मध्य प्रदेश में पिछले 24 घंटों के दौरान कोविड-19 के 632 नए मामले दर्ज किये गए, जिससे राज्य में कुल मामलों की संख्या 25,474 तक पहुंच गई है। हालांकि, राज्य में सक्रिय मामलों की संख्या 7,355 है।

छत्तीसगढ़: छत्तीसगढ़ में गुरुवार को 371 नए मामलों की पुष्टि की गई। अब राज्य में कोविड-19 के मामलों की संख्या 6,370 है। अकेले रायपुर में 205 नए मामले, इसके बाद कबीरधाम में 34 और राजनंदगांव में 23 दर्ज किये गए।

अरुणाचल प्रदेश: अरुणाचल प्रदेश में, त्वरित प्रतिक्रिया दल राजधानी ईटानगर में एंटीजन जांच कर रहे हैं। बीस दलों ने जांच शिविर आयोजित किए और इनमें 2672 जांच की गई। इन जांच में से 30 लोगों में कोविड की पुष्टि की गई और उनका प्रोटोकॉल के अनुसार इलाज किया जा रहा है। अरुणाचल प्रदेश में 42 स्वस्थ हुए मरीजों के साथ कुल 654 सक्रिय मामले हैं।

मणिपुर: मणिपुर सूचना आयोग ने अधिसूचित किया है कि आयोग की सभी अपील और शिकायत की कार्यवाही कोविड-19 की बढ़ती स्थिति और राज्य सरकार द्वारा लगाए गए राज्यव्यापी लॉकडाउन के समाप्त होने तक स्थगित कर दी गई हैं। एक निजी प्रयोगशाला कर्मचारियों के कोरोना संक्रमण की पुष्टि के बाद राज्य में कोविड-19 के सामुदायिक स्तर पर फैलने की संभावना को कम करने के लिए व्यापक स्तर पर संपर्क ट्रेसिंग अभियान चलाया गया है।

मिजोरम: मिजोरम के मुख्यमंत्री श्री जोरमथांगा ने 8 जिलों में क्वारंटीन सुविधाओं के लिए 3.85 करोड़ रुपये को स्वीकृति दी हैं।

नागालैंड: नागालैंड में, कोविड-19 के 63 पॉजिटिव मामलों की पुष्टि की गई है। दीमापुर में 41, कोहिमा में 21 मामले और पेरेन में 1 मामला दर्ज किया गया हैं। नागालैंड में कुल 1237 कोविड-19 मामले हैं जिसमें 707 सक्रिय मामले और 530 रोगी ठीक हुए हैं।

पीआईबी द्वारा जांचे गए तथ्य

****

एसजी/एएम/एसके/एसएस



(Release ID: 1641189) Visitor Counter : 51