PIB Headquarters

कोविड-19 पर पीआईबी का दैनिक बुलेटिन

Posted On: 12 JUL 2020 6:30PM by PIB Delhi

 (पिछले 24 घंटे में जारी कोविड-19 से संबंधित प्रेस विज्ञप्तियां, पीआईबी के क्षेत्रीय कार्यालयों से मिली जानकारियां और पीआईबी द्वारा जांचे गए तथ्य शामिल हैं)

  कोविड-19 से 5.3 लाख से अधिक मरीज ठीक हुएसक्रिय मामलों की तुलना में ठीक होने वाले मामलों की संख्या 2.4 लाख से अधिक हुईपिछले 24 घंटों के दौरान 19 हजार से अधिक लोग ठीक हुए।

मरीजों के ठीक होने (रिकवरी) की दर अब बढ़कर 62.93 प्रतिशत हो गई।

सक्रिय मामलों की संख्या 2.9 लाख है।

प्रति दस लाख पर 8396.4 परीक्षण किए जा रहे हैं; अब तक लगभग 1.16 करोड़ नमूनों की जांच की जा चुकी है।

वित्त मंत्री श्रीमती निर्मला सीतारमण ने वित्त और कॉरपोरेट कार्य मंत्रालयों से संबंधित आत्मनिर्भर भारत पैकेज के कार्यान्वयन की समीक्षा की- ईसीएलजीएस फंड के तहत एमएसएमई सहित व्यवसायों के लिए 1.2 लाख करोड़ रुपये से ज्यादा के ऋण को मंजूरी दी गई।

स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय से कोविड-19 पर प्राप्त अपडेट: कोविड-19 से 5.3 लाख से अधिक मरीज ठीक हुए; सक्रिय मामलों की संख्या 2.9 लाख; सक्रिय मामलों की तुलना में ठीक होने मामलों की संख्या 2.4 लाख अधिक हुई; पिछले 24 घंटों के दौरान 19 हजार से अधिक लोग ठीक हुए; प्रति दस लाख पर 8396.4 परीक्षण किए जा रहे हैं

पिछले 24 घंटों में कोविड-19 के कुल 19,235 रोगी ठीक हुए हैं। इसके परिणामस्वरूप, आज कोविड-19 रोगियों के बीच ठीक होने वाले मामलों की कुल संख्या बढ़कर 5,34,620 हो गई है। वर्तमान में ठीक होने (रिकवरी) की दर बढ़कर 62.93 प्रतिशत हो गई है। सभी तरह के प्रयासों के कारण ज्यादा लोग ठीक हो रहे हैं, इसलिए ठीक होने वाले मामलों की संख्या, सक्रिय मामलों से 2,42,362 से ज्यादा हो चुकी हैं। सभी 2,92,258 सक्रिय मामलों को चिकित्सा निगरानी के अंतर्गत रखा गया है। पिछले 24 घंटों के दौरान 2,80,151 नमूनों की जांच की गई है। अब तक जांच किए गए नमूनों की कुल संख्या 1,15,87,153 हो चुकी है। इन प्रयासों के परिणामस्वरूप, वर्तमान में भारत में प्रति दस लाख पर 8396.4 परीक्षण किए जा रहे हैं। जांच की संख्या में हुई प्रगतिशील वृद्धि का एक महत्वपूर्ण कारक, देशव्यापी नैदानिक प्रयोगशाला नेटवर्क में होने वाला निरंतर विस्तार है, जिसमें वर्तमान समय में सरकारी क्षेत्र की 850 प्रयोगशालाएं और निजी क्षेत्र की 344 प्रयोगशालाएं (कुल 1194 प्रयोगशालाएं) हैं।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-

डॉ. हर्षवर्धन ने छतरपुर स्थित सरदार पटेल कोविड केयर सेंटर एवं अस्पताल का दौरा किया

केन्द्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने आज छतरपुर, नई दिल्ली में सरदार पटेल कोविड केयर सेंटर (एसपीसीसीसी) का दौरा किया और सेंटर में कोविड-19 प्रबंधन की स्थिति की समीक्षा की। केन्द्र और राज्य सरकार ने रोकथाम के उपायों को बढ़ाने के लिए समन्वित प्रयासों के तहत छतरपुर, नई दिल्ली में राधा स्वामी सत्संग ब्यास (आरएसएसबी) को 10,200 बिस्तर वाले “सरदार पटेल कोविड केयर सेंटर” के रूप में विकसित किया है। सेंटर के बारे में संक्षिप्त जानकारी देते हुए केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री को बताया गया कि एसपीसीसीसी में तैयार 10,200 बिस्तरों में से फिलहाल 2,000 उपयोग में हैं। यहां पर 100-116 बिस्तर क्षमता वाले 88 अहाते हैं, दो अहातों की निगरानी 1 नर्सिंग स्टेशन द्वारा की जाती है। अभी तक एसपीसीसीसी में 20 अहाते (एन्क्लोजर्स) और 10 नर्सिंग स्टेशन तैयार हैं। डेडिकेटेड कोविड हेल्थ सेंटर (डीसीएचसी) के 10 प्रतिशत बिस्तर में ऑक्सीजन की सुविधा भी है। अभी तक भर्ती कराए जा चुके 123 मरीजों में से सह-रुग्ण (दूसरी बीमारियों से ग्रस्त) वाले 5 मरीजों को तृतीयक उपचारों के लिए अस्पतालों में भेजा जा चुका है।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-

आत्मनिर्भर भारत पैकेज अब तक की प्रगति

माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने भारत में कोविड-19 महामारी से लड़ने के लिए 12 मई, 2020 को 20 लाख करोड़ रुपये के विशेष आर्थिक और व्यापक पैकेज की घोषणा की जो भारत के सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) के 10 प्रतिशत के बराबर है। माननीय प्रधानमंत्री के आह्वान के बाद वित्त एवं कॉरपोरेट कार्य मंत्री श्रीमती निर्मला सीतारमण ने 13 मई से 17 मई 2020 तक निरंतर प्रेस कांफ्रेंस के जरिये आत्मनिर्भर भारत पैकेज का विवरण पेश किया। वित्त और कॉरपोरेट कार्य मंत्रालयों ने अत्यंत शीघ्र आत्मनिर्भर भारत अभियान के तहत आर्थिक पैकेज से संबंधित घोषणाओं को लागू करना शुरू कर दिया है। आर्थिक पैकेज के कार्यान्वयन की नियमित समीक्षा एवं निगरानी स्वयं वित्त मंत्री द्वारा व्यक्तिगत रूप से की जा रही है। वित्त मंत्री श्रीमती निर्मला सीतारमण द्वारा की गई नवीनतम समीक्षा में अब तक की प्रगति के बारे में जानकारी दी गई।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-

उपराष्ट्रपति ने लोगों से पूछा, कोरोना काल में जीवन से क्या सही सबक सीखे गए

कोविड-19 महामारी के कारणों और परिणामों पर लोगों के साथ जुड़ने की बात करते हुए श्री नायडू ने फेसबुक पर आज एक पोस्ट लिखा, 'कोरोना काल में जीवन पर चिंतन'। वार्तालाप के अंदाज में लिखते हुए उन्होंने 10 सवाल सामने रखे, जिनके जवाबों से पिछले चार महीनों से ज्यादा समय में बंदिश के दौरान सीखे गए सबक का आकलन करने और जीवन की मांगों में क्या परिवर्तन आया, यह समझने में मदद मिलेगी। श्री नायडू ने कहा कि 10 बिंदुओं का मैट्रिक्स यह जानने में भी मदद करेगा कि क्या लोगों ने आवश्यक समझ के साथ खुद को इस तरह तैयार कर लिया है ताकि भविष्य में ऐसी कठिनाइयों की पुनरावृत्ति को रोकने में मदद मिल सके। उपराष्ट्रपति ने जोर देकर कहा कि महामारी को न केवल एक आपदा बल्कि जीने के दृष्टिकोण और प्रथाओं में आवश्यक परिवर्तन करने वाले एक 'सुधारक' के रूप में भी देखने की जरूरत है जिससे हम प्रकृति और संस्कृति तथा सहायक मार्गदर्शक सिद्धांतों और लोकाचार के साथ सामंजस्य बनाकर रहें।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-

श्री पीयूष गोयल ने फिक्की फ्रेम्स के समापन समारोह को किया संबोधित

केन्द्रीय वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री श्री पीयूष गोयल ने कहा कि वैश्विक स्तर की कंपनियां खड़ी करने के लिए भारतीय फिल्म और विज्ञापन उद्योग में खासी संभावनाएं और प्रतिभाएं मौजूद हैं। वे गुणवत्तापूर्ण उत्पाद तैयार कर सकते हैं, पुरस्कार जीत सकते हैं और उद्योग में निवेश तथा पूंजी को आकर्षित कर सकते हैं। उन्होंने उद्योग से देश की सीमाओं से बाहर निकलने का आह्वान किया। श्री गोयल ने कोविड के खिलाफ लड़ाई और विभिन्न स्वास्थ्य सावधानियों के प्रति जागरूकता के प्रसार में अहम भूमिका निभाने पर भारतीय सिनेमा की सराहना की। श्री गोयल ने कहा कि हमारे सामने कोविड जैसा संकट है और पूर्व में सामने आए संकटों की तरह यह भी गुजर जाएगा। उन्होंने कहा कि कोविड के बाद की दुनिया में अवसरों के लिए हमें तैयार रहना होगा, जिसमें कामकाज और जीवनशैली के नए तरीके सामने आ रहे हैं। इस मुश्किल दौर में अग्रणी रहने के लिए एक दायरे के बाहर जाकर सोचने की जरूरत है, साथ ही नवाचार को भी जारी रखना चाहिए। उन्होंने कहा कि पर्याप्त सावधानी बरतना आवश्यक है, लेकिन डर के साथ हम आगे नहीं बढ़ सकेंगे।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-

डॉ. हर्षवर्धन ने विश्व जनसंख्या दिवस पर मानवाधिकार मुद्दे के रूप में परिवार नियोजन पर जोर दिया

केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने कल विश्व जनसंख्या दिवस के अवसर पर वर्चुअल बैठक की अध्यक्षता की। डॉ. हर्षवर्धन ने कहा “विश्व जनसंख्या दिवस मनाना महत्वपूर्ण है क्योंकि यह जनसंख्या स्थिरीकरण के महत्व और भविष्य में जनता व उनके स्वास्थ्य में इसकी महत्वपूर्ण भूमिका पर जोर देता है।” उन्होंने कहा कि कोविड-19 महामारी से उत्पन्न चुनौतियों के कारण प्रसव संबंधी स्वास्थ्य सेवाएं प्रदान करने के महत्व को पहचानना अब और भी महत्वपूर्ण है।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-

श्री धर्मेंद्र प्रधान की दुनिया भर में फैले भारतीय छात्रों से अपील- आओ, भारत में नवाचार करो

केंद्रीय पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस और इस्पात मंत्री श्री धर्मेंद्र प्रधान ने दुनिया के शीर्ष विश्वविद्यालयों में पढ़ाई कर रहे भारतीय छात्रों से देश में उभरते अवसरों का पता लगाने के लिए भारत आने और नवाचार करने की अपील की है। श्री प्रधान कल भारत में अंतिम मील ऊर्जा उपयोग पर युवा विदेशी भारतीय विद्वानों, छात्रों और दोस्तों के एक उत्साही समूह के साथ बातचीत कर रहे थे। श्री धर्मेंद्र प्रधान ने मौजूदा महामारी पर कहा कि हम कोविड-19 महामारी के प्रकोप के बीच में हैं जिसने हमारे जीवन की मूलभूत धारणाओं को चुनौती दी है। उन्होंने कहा कि तत्काल आर्थिक प्रभाव हमारी विकास की गति को धीमा कर सकता है, लेकिन हमारे पास थोड़ा रुकने, पुनर्विचार करने और नया स्वरूप देने के अवसर भी हैं।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-

पीआईबी के क्षेत्रीय कार्यालयों से मिली जानकारियां

पंजाब: पंजाब के मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री को पत्र लिखकर राज्य में तेजी से बढ़ रहे कोविड मामलों के मद्देनजर कॉलेज/विश्वविद्यालय परीक्षाओं को रद्द करने के अपने 3 जुलाई के फैसले का पालन करने की अनुमति देने की मांग की है। मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री से आग्रह किया है कि वे मानव संसाधन विकास मंत्रालय (एचआरडी) और विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी) को सलाह दें कि वे सितंबर तक अंतिम परीक्षा अनिवार्य रूप से आयोजित करने सम्बन्धी अपने निर्णय पर पुनर्विचार करें।

हिमाचल प्रदेश: हिमाचल प्रदेश में पर्यटकों के प्रवेश की अनुमति देने के बाद, पर्यटन और नागरिक उड्डयन विभाग ने राज्य में पर्यटन इकाइयों को खोलने सम्बन्धी मानक संचालन प्रक्रिया जारी की है। हिमाचल प्रदेश घूमने के इच्छुक पर्यटकों को राज्य सरकार द्वारा जारी दिशा-निर्देशों का पालन करना होगा। उन्हें पर्यटक श्रेणी में हिमाचल आने से 48 घंटे पहले कोविड-19 e-pass.hp.gov.in”  वेब पोर्टल पर अपना पंजीकरण कराना होगा। पर्यटकों को आईसीएमआर प्रमाणित प्रयोगशाला द्वारा जारी कोविड परीक्षण प्रमाण पत्र (आरटी-पीसीआर) की नेगेटिव रिपोर्ट अपने साथ रखनी है और यह 72 घंटे से अधिक पुरानी नहीं होनी चाहिए। इसके अलावा, पर्यटकों को अपने मोबाइल पर अरोग्यसेतु ऐप डाउनलोड करना है।

केरल: कोविड-19 से पीड़ित इडुक्की की रहनेवाली महिला की आज सुबह एर्नाकुलम के एक निजी अस्पताल में मौत हो गई। स्वास्थ्य विभाग ने लोगों से एंटीजन टेस्ट के खिलाफ दुष्प्रचार पर विश्वास नहीं करने का आग्रह किया है। राज्य में कल कोविड-19 के 488 नए मामलों की पुष्टि की गई। इनमें से 234 संपर्क के माध्यम से हैं। वर्तमान में, 3,442 रोगियों का इलाज चल रहा है और 1.82 लाख (1,82,050) लोग विभिन्न जिलों में निगरानी में हैं।

तमिलनाडु: पुडुचेरी में कोविड-19 के 81 नए मामले दर्ज किए गए, कुल संख्या 1,418 हो गई है; वर्तमान में 661 व्यक्तियों का इलाज चल रहा है। तमिलनाडु सरकार द्वारा राज्य भर के छात्रों को पाठ्यपुस्तक वितरण के लिए एसओपी जारी की गयी है। मुख्यमंत्री ने केंद्र से राज्यों को अंतिम सेमेस्टर की परीक्षाओं के लिए "स्वयं के मूल्यांकन के तरीकों" पर काम करने की स्वतंत्रता देने का आग्रह किया। मदुरै लॉकडाउन को दो दिन के लिए 14 जुलाई तक बढ़ाया गया है; इसके बाद 24 जून तक लागू रहे लॉकडाउन नियम जुलाई के अंत तक लागू रहेंगे। कल 3965 नए मामले आये और 69 मौतें हुईं। कुल मामले: 1,34,226; सक्रिय मामले: 46,410; मृत्यु: 1898; चेन्नई में सक्रिय मामले: 17,989।

कर्नाटक: रविवार को पूरे राज्य में लॉकडाउन लागू किया गया है। राज्य सरकार ने 14 जुलाई से 22 जुलाई तक बैंगलोर शहरी और बैंगलोर ग्रामीण जिलों में लॉकडाउन लागू करने का निर्णय लिया है; कल दिशा-निर्देश जारी किये जायेंगे। राज्य के स्वास्थ्य विभाग ने पीपीई किट, सैनिटाइज़र और आई वी  तरल पदार्थों की बाजार की मौजूदा दरों से अधिक कीमत पर खरीद को उचित ठहराया है और कहा है कि महामारी के दौरान कीमतें गतिशील (डायनामिक) हैं। कर्नाटक के पर्यटन मंत्री श्री सीटी रवि की कोविड-19 रिपोर्ट पॉजिटिव आयी है। कल 2798 नए मामले आये हैं और 70 मौतें हुई हैं; बैंगलोर शहर में 1533 मामले दर्ज किये गए हैं। कुल मामले: 36,216; सक्रिय मामले: 20,883; मृत्यु: 613।

आंध्र प्रदेश: अलीपीरी व तिरुमाला में क्रमशः 1704 और 1,865 परीक्षण किये गए जिसमें कुल 91 टीटीडी कर्मियों को कोविड -19 पॉजिटिव पाया गया। राज्य ने 97 क्षेत्रों की रेड जोन के रूप में पहचान की है, जिनमें सबसे अधिक पॉजिटिव मामले सामने आए हैं। सरकार ने अधिकारियों को 20 जुलाई से केंद्र सरकार द्वारा जारी दिशा-निर्देशों को लागू करने का निर्देश दिया है। राज्य ने जानकारी दी है कि 3 अगस्त से कॉलेजों के शुरू होने की संभावना है, कुल 196 कार्य दिवस; 2020-21 शैक्षणिक कैलेंडर के लिए सीबीएसई के अनुरूप पाठ्यक्रम में 30 प्रतिशत की कमी। पिछले 24 घंटों के दौरान 17,624 नमूनों का परीक्षण किया गया, 1933 नए मामले सामने आये, 846 को अस्पताल से छुट्टी दे दी गई और 19 लोगों की मौत हुई। कुल मामले: 29,168; सक्रिय मामले: 13,428; मृत्यु: 328; छुट्टी दे दी गयी: 15,412।

तेलंगाना: केंद्रीय मंत्री श्री जी किशन रेड्डी ने रविवार को नामित कोविड -19 गांधी अस्पताल का दौरा किया और महामारी के खिलाफ लड़ाई में डॉक्टरों और अन्य लोगों को केंद्र के समर्थन का आश्वासन देते हुए जमीनी स्थिति का जायजा लिया। राज्य ने होम आइसोलेशन किट लॉन्च की है क्योंकि राज्य में लगभग 83 प्रतिशत कोविड-19 रोगी या तो बिना लक्षण वाले हैं या हल्के रूप में पीड़ित हैं और घर में आइसोलेशन में हैं। कल तक रिपोर्ट किए गए कुल मामले: 33,402; सक्रिय मामले: 12,135; मौतें 348; छुट्टी दे दी गयी: 20,919।

अरुणाचल प्रदेश: अरुणाचल प्रदेश के ईटानगर कैपिटल कॉम्प्लेक्स में 20 जुलाई तक लॉकडाउन के लिए विस्तृत दिशा-निर्देश जारी किए गए। चिन्हित आवश्यक सेवाओं को छोड़कर वाहनों की आवाजाही और व्यावसायिक प्रतिष्ठान खोलने की अनुमति नहीं है। ईटानगर कैपिटल कॉम्प्लेक्स में 20 जुलाई तक सभी धार्मिक स्थान बंद रहेंगे और किसी भी तरह के धार्मिक कार्यक्रम आयोजित करने की अनुमति नहीं दी जाएगी।

असम: जीएमसीएच कोविड आईसीयू में भर्ती 3 कोविड-19 रोगियों की आज संक्रमण से मौत हो गयी।

मणिपुर: मणिपुर के थौबल में 100 बिस्तर वाले कोविड केयर सेंटर का उद्घाटन किया गया। सेंटर जिले में तत्काल कोविड देखभाल की आवश्यकता को पूरा करेगा।

मेघालय: मेघालय में, कोविड-19 सक्रिय मामलों की कुल संख्या 248 हो गई है, जिनमें बीएसएफ के 178 कर्मी शामिल हैं, जबकि 45 अब तक ठीक हो चुके हैं।

मिजोरम: मिजोरम के राज्यपाल ने मुख्यमंत्री राहत कोष में 1,05,000 रुपये  (जून, 2020 के वेतन का 30%) दान किये।

महाराष्ट्र: पिछले 25 दिनों से, महाराष्ट्र में कोविड -19 के कारण हर पांचवें दिन 1,000 मौतें बढ़ रही हैं। राज्य में कुल 10,116 मौतें हुई हैं, जो कई देशों से अधिक है। पिछले 24 घंटों में 8,139 नए मामले सामने आए, राज्य में कुल मामलों की संख्या 2,46,600 हो गयी है। सक्रिय मामलों की संख्या 91,457 है। इस बीच, विश्व स्वास्थ्य संगठन- डब्लूएचओ ने बृहन्मुंबई नगर निगम की धारावी नियंत्रण रणनीति की प्रशंसा की है।

गुजरात: राज्य में शनिवार शाम 10,000 से अधिक, कुल 10,308 कोविड-19 सक्रिय मामले हो गए, 872 नए मामलों की रिपोर्ट आयी। मामलों की कुल संख्या 41,027 हो गयी है। गुजरात में कुल मामलों का 25 प्रतिशत सक्रिय मामले  हैं  - उपचार या तो अस्पताल में या घरों में दिए जा रहे हैं। छुट्टी दे दिए गए और और मृत रोगियों का अनुपात अब क्रमशः 70% और 5% है।

राजस्थान: राजस्थान में आज 153 कोविड-19 मामले सामने आए। राज्य के स्वास्थ्य विभाग ने कहा है कि राज्य में कुल मामलों की संख्या 23,901 है, जिसमें 5,492 सक्रिय मामले और 507 मौतें शामिल हैं। नए मामलों की अधिकतम संख्या, 42 अलवर जिले से है।

मध्य प्रदेश: मध्य प्रदेश में शनिवार को एक दिन में सबसे अधिक कोविड-19 के 544 नए मामले सामने आए। राज्य में रोगियों की कुल संख्या 17,000 से अधिक हो गयी है। अब कुल मामले 17,201 हैं। सक्रिय मामलों की संख्या 3,878 है, अब तक कुल 12,679 मरीज़ ठीक हो चुके हैं। शनिवार को मुरैना से सबसे अधिक मामले (101) सामने आए, उसके बाद इंदौर (89 मामले), भोपाल (72 मामले) और ग्वालियर में 58 मामले दर्ज किए गए।

छत्तीसगढ़: 65 नए पॉजिटिव मामलों की पहचान की गई है, राज्य में कोविड-19 रोगियों की कुल संख्या 3,897 हो गयी है। सक्रिय मामलों की संख्या 810 है।

गोवा: कोविड-19 के 117 व्यक्तियों की रिपोर्ट पॉजिटिव आयी है, राज्य में कोविड-19 से संक्रमित रोगियों की कुल संख्या 2,368 हो गयी है। राज्य में कुल 12 मौतें हुई हैं, जबकि सक्रिय मामलों की संख्या 928 है।

http://164.100.117.97/WriteReadData/userfiles/image/image0072MTI.jpg

*****

एसजी/एएम/एसके/जेके



(Release ID: 1638254) Visitor Counter : 111