PIB Headquarters

कोविड-19 पर पीआईबी का दैनिक बुलेटिन

Posted On: 24 JUN 2020 6:27PM by PIB Delhi

Coat of arms of India PNG images free download

(बीते 24 घंटों में कोविड-19 से संबंधित जारी प्रेस विज्ञप्तियां, पीआईबी फील्ड कार्यालयों से जानकारियां और पीआईबी द्वारा की गई तथ्यों की पड़ताल शामिल)

http://164.100.117.97/WriteReadData/userfiles/image/image005MFLZ.jpg

http://164.100.117.97/WriteReadData/userfiles/image/image006V5RJ.jpg

 

स्‍वास्‍थ्‍य एवं परिवार कल्‍याण मंत्रालय से कोविड-19 पर अपडेट: कोविड- 19 की जांच क्षमता प्रतिदिन 2 लाख के पार पहुंची; कोविड-19 की लैब क्षमता 1,000 तक पहुंची

पूरे देश में परीक्षण सुविधाओं में महत्वपूर्ण बढ़ोत्तरी के रूप में, पिछले 24 घंटों में 2 लाख से ज्यादा नमूनों की जांच की गई, जो अब तक सबसे ज्यादा है। कल 2,15,195 नमूनों की जांच की गई, इसके साथ ही अब तक परीक्षण किए गए नमूनों की कुल संख्या 73,52,911 हो गई है। जहां सरकारी प्रयोगशालाओं में 1,71,587 नमूनों की जांच की गई, वहीं निजी प्रयोगशालाओं में 43,608 नमूनों की जांच की गई। निजी प्रयोगशालाएं भी इस संख्या के साथ प्रतिदिन सबसे ज्यादा सैंपलिंग वाले स्तर पर पहुंच गई हैं। कोविड-19 का परीक्षण करने के लिए नैदानिक ​​प्रयोगशालाओं के बढ़ते नेटवर्क के प्रमाण के रूप में, भारत में अब पूरे देश में 1,000 प्रयोगशालाएं हैं। इसमें सरकारी क्षेत्र के 730 और 270 निजी प्रयोगशालाएं शामिल हैं। ठीक होने वाले कोविड-19 रोगियों की संख्या में भी बढ़ोत्तरी हुई है। पिछले 24 घंटों के दौरान, कुल 10,495 कोविड-19 रोगियों को ठीक किया गया है। अबतक कुल 2,58,684 मरीज ठीक हो चुके हैं। कोविड-19 रोगियों के ठीक होने की दर 56.71% है। वर्तमान में, कोविड-19 के 1,83,022 सक्रिय मामले हैं और सभी को चिकित्सा निगरानी में रखा गया है।

विस्तार से यहां पढ़ें:

विभिन्न क्षेत्रों में बुनियादी ढांचे को मजबूत करने के लिए कैबिनेट द्वारा लिए गए ऐतिहासिक फैसले

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी की अध्यक्षता में आज हुई केंद्रीय मंत्रिमंडल की बैठक में कई ऐतिहासिक निर्णय लिए गए, जोकि विभिन्न क्षेत्रों में बुनियादी ढांचे को मजबूत करने की दिशा में एक लंबा सफर तय करेंगे, जो महामारी के समय में महत्वपूर्ण है। इनमें शामिल है: पशुपालन बुनियादी ढांचा विकास फंड की स्थापना; यूपी का कुशीनगर हवाई अड्डा अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे के रूप में घोषित; म्यांमार में श्वे तेल एवं गैस परियोजना के आगे के विकास के लिए ओवीएल द्वारा अतिरिक्त निवेश को मंजूरी।

विस्तार से यहां पढ़ें:

कैबिनेट ने पशुपालन बुनियादी ढांचा विकास फंड के गठन को मंजूरी दी

विभिन्न क्षेत्रों में तरक्की सुनिश्चित करने के लिए हाल में घोषित आत्मनिर्भर भारत अभियान प्रोत्साहन पैकेज के अनुकूल प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी की अध्यक्षता में आर्थिक मामलों की मंत्रिमंडल समिति ने 15,000 करोड़ रुपये के पशुपालन बुनियादी ढांचा विकास फंड (एएचआईडीएफ) की स्थापना के लिए अपनी मंजूरी दे दी है। सरकार योग्य लाभार्थियों को ब्याज पर 3 प्रतिशत की आर्थिक सहायता मुहैया कराएगी। योग्य लाभार्थियों को मूल कर्ज के लिए दो वर्ष की अधिस्थगन अवधि के साथ कर्ज उपलब्ध कराया जाएगा और कर्ज की पुनर्भुगतान अवधि 6 साल होगी।

विस्तार से यहां पढ़ें:

कैबिनेट ने प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के तहत शिशु ऋणोंकी त्वरित अदायगी पर 12 माह की अवधि के लिए 2% ब्याज सब्सिडी को मंजूरी दी

प्रधानमंत्री श्री नरेन्‍द्र मोदी की अध्यक्षता में केंद्रीय मंत्रिमंडल ने आज पात्र उधारकर्ताओं को प्रधानमंत्री मुद्रा योजना (पीएमएमवाई) के तहत सभी शिशु ऋण खातों पर 12 माह की अवधि के लिए 2% की ब्याज सब्सिडी देने की योजना को मंजूरी दे दी। यह योजना एमएसएमई से संबंधित कई उपायों में से एक उपाय को लागू करने के लिए है, जिसकी घोषणा ‘आत्‍मनिर्भर भारत’ अभियान के तहत की गई है। इस योजना को अभूतपूर्व परिस्थितियों से निपटने के लिए एक विशिष्ट कदम या उपाय के रूप में तैयार किया गया है और इसका उद्देश्य ऋण की लागत को कम करके ‘पिरामिड के निचले भाग’ वाले उधारकर्ताओं की वित्तीय मुश्किलों को कम करना है। योजना से इस सेक्‍टर को बहुप्रतीक्षित राहत मिलने की उम्मीद है, जिससे छोटे कारोबारियों को धन की कमी के कारण कर्मचारियों की छंटनी किए बिना ही अपना कामकाज निरंतर जारी रखने में मदद मिलेगी। संकट की इस घड़ी में अपना कामकाज निरंतर जारी रखने के लिए एमएसएमई को आवश्‍यक सहायता देने से इस योजना का अर्थव्यवस्था पर भी सकारात्मक प्रभाव पड़ने और इसके साथ ही आर्थिक पुनरुत्‍थान को संबल मिलने की उम्मीद है, जो भविष्य में रोजगार सृजन के लिए अत्‍यंत जरूरी है।

विस्तार से यहां पढ़ें:

सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम मंत्रालय ने संकटग्रस्त एमएसएमई क्षेत्र की सहायता के लिए एक और वित्त-पोषण योजना शुरू की

एमएसएमई मंत्री श्री नितिन गडकरी ने आज उप-ऋण के लिए क्रेडिट गारंटी स्कीम (सीजीएसएसडी) लॉन्च की, जिसे “एमएसएमई के लिए संकटग्रस्त परिसंपत्ति फंड-उप-ऋण” भी कहा जाता है। योजना के अनुसार, उन प्रमोटर को 20,000 करोड़ रुपये का गारंटी कवर उपलब्ध कराया जायेगा, जो इक्विटी के रूप में अपने संकटग्रस्त एमएसएमई में आगे निवेश करने के लिए बैंकों से कर्ज लेना चाहते हैं। यह उम्मीद की जाती है कि यह योजना लगभग 2 लाख एमएसएमई को आवश्यक सहायता प्रदान करेगी और इससे एमएसएमई क्षेत्र में और इस क्षेत्र के माध्यम से अन्य क्षेत्रों में आर्थिक गतिविधि को पुनर्जीवित करने में मदद मिलेगी। यह योजना उन लाखों लोगों की आजीविका और नौकरियों की रक्षा करने में भी मदद करेगी, जो इन पर निर्भर हैं। पात्रता मानदंड को पूरा करने वाले एमएसएमई प्रमोटर योजना के तहत लाभ लेने के लिए किसी भी अनुसूचित वाणिज्यिक बैंक से संपर्क कर सकते हैं।

विस्तार से यहां पढ़ें:

केन्द्रीय गृह मंत्री श्री अमित शाह ने कहा कि राष्ट्रीय राजधानी में अगले सप्ताह तक 250 आईसीयू बेड सहित कोविड मरीजों के लिए करीब 20,000 बेड बढ़ाए जाएंगे

केन्द्रीय गृह मंत्री श्री अमित शाह ने कहा है कि दिल्ली स्थित राधा स्वामी सत्संग ब्यास में 26 जून तक 10,000 बेड वाले कोविड केयर सेंटर का संचालन शुरू हो जाएगा। उन्होंने कहा कि केयर सेंटर का काम जोरों पर है और इसका बहुत बड़ा हिस्सा शुक्रवार से संचालित हो जाएगा। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के केन्द्रीय गृह मंत्री को छतरपुर में राधा स्वामी सत्संग ब्यास परिसर स्थित कोविड केयर सेंटर का निरीक्षण करने और सेंटर में भारत तिब्बत सीमा पुलिस बल के डॉक्टर और नर्स तैनात करने के अनुरोध किया था। इसके जवाब में श्री अमित शाह ने कल अपने ट्वीट में यह बात कही। श्री अमित शाह ने कहा कि तीन दिन पहले हुई हमारी बैठक में इसके बारे में फैसला लिया गया था और केंद्रीय गृह मंत्रालय ने राधा स्वामी सत्संग केयर सेंटर के संचालन का काम भारत तिब्बत सीमा पुलिस बल को सौंप दिया है। केन्द्रीय गृह मंत्री ने कहा कि दिल्ली में कोविड मरीजों के लिए 250 आईसीयू बेड सहित सभी सुविधायुक्त 1,000 बेड का अस्पताल बनाया जा रहा है, जो अगले सप्ताह तैयार हो जाएगा।

विस्तार से यहां पढ़ें:

रेलवे 31 अक्टूबर, 2020 तक, अगले 125 दिनों में 1,800 करोड़ रुपये की बुनियादी ढांचा परियोजनाओं में प्रवासियों और अन्य के लिए 8 लाख मानव दिवस रोजगार के अवसरों का सृजन करेगी

रेल मंत्री ने छह राज्यों के 116 जिलों में लागू गरीब कल्याण रोजगार अभियान की प्रगति की समीक्षा की है। गरीब कल्याण रोजगार अभियान की प्रगति के संबंध में हुई समीक्षा बैठक में क्षेत्रीय रेलवे और रेलवे पीएसयू ने भागीदारी की। रेलवे सभी 116 जिलों और राज्य स्तर पर नोडल अधिकारियों की नियुक्ति करेगी। एक मिशन के रूप में चलने वाले 125 दिन के अभियान में 6 राज्यों बिहार, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, राजस्थान, झारखंड और ओडिशा में वापस लौटने वाले प्रवासी कामगारों पर ध्यान केन्द्रित करते हुए 116 जिलों में विभिन्न श्रेणियों/ गतिविधियों के कार्यान्वयन पर जोर दिया जाएगा। लगभग 160 बुनियादी ढांचागत कार्यों की पहचान की गई है, जिनकी गति तेज की जानी है।

विस्तार से पढ़ें:

रक्षा मंत्री ने रूस के उप प्रधानमंत्री के साथ भारत-रूस रक्षा सहयोग की समीक्षा की

रक्षा मंत्री श्री राजनाथ सिंह ने कल मास्को में रूसी संघ के उप प्रधानमंत्री श्री यूरी बोरिसोव के साथ भारत-रूस रक्षा सहयोग की समीक्षा की। श्री बोरिसोव व्यापार और आर्थिक और वैज्ञानिक सहयोग पर भारत के साथ अंतर-सरकारी आयोग के सह-अध्यक्ष हैं। द्विपक्षीय सहयोग और क्षेत्रीय मुद्दों पर उनके साथ चर्चा बहुत सकारात्मक और उत्पादक रही। रक्षा मंत्री ने कहा कि कोरोना महामारी की सभी कठिनाइयों के बावजूद, भारत-रूस द्विपक्षीय संबंध के लिहाज से विभिन्न स्तरों पर अच्छे संपर्क बनाए हुए हैं।

विस्तार से यहां पढ़ें:

वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री श्री पीयूष गोयल प्रतिस्पर्धी लाभ, गुणवत्ता पर फोकस करने तथा नए गंतव्यों और नई सेवाओं की खोज के लिए सेवा निर्यातकों को प्रेरित किया

केंद्रीय वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री श्री पीयूष गोयल ने कल वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये एक बैठक की, जिसमें सेवा निर्यात संवर्धन परिषद (एसईपीसी) के पदाधिकारी तथा विभिन्न सेवा क्षेत्रों का प्रतिनिधित्व कर रहे हितधारक शामिल हुए। विभिन्न सुझावों के प्रत्युत्तर में श्री पीयूष गोयल ने कहा कि सेवा क्षेत्र में असीम संभावनाएं हैं लेकिन इसका पूरी तरह दोहन नहीं किया गया है। उन्होंने कहा कि सेवा क्षेत्र में जो सेगमेंट सबसे अधिक सफल रहा है, वह है आईटी तथा संबद्ध सेवाएं और यह अपनी खुद की क्षमताओं के कारण बढ़ी और इसे सरकार की सहायता की अधिक आवश्यकता नहीं पड़ी, जिसमें कई बार नौकरशाही के तार तथा नियंत्रण भी आ जाते हैं। उन्होंने उद्योग जगत से प्रतिस्पर्धी लाभ विकसित करने, गुणवत्ता पर फोकस करने तथा नए गंतव्यों और नई सेवाओं की खोज करने की अपील की।

विस्तार से पढ़ें:

डॉ. जितेंद्र सिंह ने भारत के अग्रणी आयुष विशेषज्ञों की आभासी बैठक को किया संबोधित

केन्द्रीय मंत्री डॉ. जितेंद्र सिंह ने कहा कि कोविड महामारी ने एकीकृत स्वास्थ्य प्रबंधन की विशेषताओं को याद दिलाया है। उन्होंने कहा कि आने वाले समय में उपचार के साथ-साथ ज्यादा प्रभावी चिकित्सा रोगनिरोध (प्रोफिलैक्सि) के इस पहलू को ध्यान में रखते हुए गंभीरता से विचार करने की जरूरत होगी। डॉ. जितेंद्र सिंह ने भारत के आयुष में अग्रणी विशेषज्ञों के साथ आभासी बैठक को संबोधित करते हुए याद दिलाया कि भले ही गैर संक्रामक रोगों, मधुमेह के मामले में एकीकृत या समग्र प्रबंधन की खूबियों को महसूस किया गया है, लेकिन इस पहलू पर उतना ध्यान नहीं दिया गया जितनी जरूरत थी। कोविड के संदर्भ में डॉ. जितेंद्र सिंह ने कहा कि चूंकि यह एक विषाणु जनित बीमारी है, जहां बीमारी का इलाज रोगी की प्रतिरोधक क्षमता पर निर्भर करता है और इसीलिए, प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के महत्व का एहसास हुआ। प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए होम्योपैथी और अन्य दवाओं के व्यापक उपयोग से दवाओं की वैकल्पिक प्रणालियों में खासी दिलचस्पी पैदा हुई है।

विस्तार से यहां पढ़ें:

केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री ने नई दिल्ली में उच्च शिक्षण संस्थानों के लिए 'युक्ति 2.0' मंच का शुभारंभ किया

केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री, श्री रमेश पोखरियाल 'निशंक' ने कल उच्च शिक्षण संस्थानों में व्यावसायिक क्षमता और इनक्यूबेटेड स्टार्टअप से संबंधित सूचनाओं को व्यवस्थित करने में सहायता प्रदान करने के लिए ‘युक्ति 2.0’ पहल की शुरुआत की। प्रतिभागियों को संबोधित करते हुए श्री पोखरियाल ने कहा कि युक्ति 2.0 कोविड महामारी में प्रासंगिक विचारों की पहचान करने के लिए एमएचआरडी की पहल 'युक्ति' के पूर्व संस्करण का तार्किक विस्तार है। उन्होंने यह भी बताया कि 'युक्ति' के पूर्व संस्करण के सभी परिणाम जल्द ही जारी किए जाएंगे। मंत्री ने इस पहल की सराहना करते हुए कहा कि हमारे प्रधानमंत्री ने भारत को 'आत्मनिर्भर' बनाने का मिशन दिया है और युक्ति 2.0 पहल इस दिशा में एक बहुत महत्वपूर्ण कदम है।

विस्तार से यहां पढ़ें:

ऑपरेशन समुद्र सेतुआईएनएस ऐरावत मालदीव से 198 भारतीय नागरिकों को वापस लाया

भारतीय नौसेना द्वारा "ऑपरेशन समुद्र सेतु" के लिए तैनात किया गया आईएनएस ऐरावत कल तड़के तूतीकोरिन बंदरगाह पर 198 भारतीय नागरिकों के साथ पहुंचा जिन्हें मालदीव की राजधानी माले से वापस लाया गया है। इस प्रकार भारतीय नौसेना अब तक मालदीव से 2386 भारतीय नागरिकों को वापस भारत ले आई है। मालदीव में इन भारतीय नागरिकों को जहाज पर चढ़ाने संबंधी काम में भारतीय मिशन ने काफी मदद की। इसके साथ ही भारतीय नौसेना दुनियाभर में जारी कोविड महामारी के दौरान मालदीव, श्रीलंका और ईरान से 3305 भारतीय नागरिकों को वापस भारत ला चुकी है।

विस्तार से पढ़ें:

कोविड-19 को देखते हुए जीपीआरए के आवंटियों को एक बार की छूट

आवास और शहरी मंत्रालय ने जीपीआरए के आवंटियों को सरकारी निवास के प्रतिधारण के लिए अतिरिक्त 15 दिन का विस्तार उपलब्ध करा दिया है, जो 15 जुलाई, 2020 तक के लिए है। मंत्रालय ने पूर्व में प्रतिधारण अवधि में 30 जून, 2020 तक का विस्तार दिया था। मंत्रालय ने कोविड-19 के मामलों में बढ़ोतरी के चलते वैकल्पिक निवास हासिल करने, शिफ्टिंग के लिए मजदूरों की व्यवस्था में आवंटियों को आ रही दिक्कतों से संबंधित विभिन्न प्रस्तुतीकरण को देखते हुए यह फैसला लिया है। मंत्रालय ने संबंधित आवंटियों को 15 जुलाई या उससे पहले निवास खाली करने की सलाह दी है, अन्यथा उनसे शुल्क/ बाजार दर से किराया वसूल किया जाएगा।

विस्तार से यहां पढ़ें:

सीएसआईआर - नीरी में 3000 से अधिक कोविड -19 नमूनों का परीक्षण किया गया

सीएसआईआर - राष्ट्रीय पर्यावरण अभि‍यांत्रिकी अनुसंधान संस्थान में अप्रैल 2020 से कोविड -19 परीक्षण सुविधा का संचालन किया जा रहा है। अब तक कोविड -19 के 3,000 से अधिक नमूनों का परीक्षण किया जा चुका है। प्रति दिन 50 नमूनों की परीक्षण क्षमता के साथ, सीएसआईआर-नीरी के पास कोविड -19 नमूनों का परीक्षण करने और परीक्षण से पहले उपयुक्त जैव-सुरक्षा और सावधानी बरतने के लिए आवश्यक बुनियादी ढांचा मौजूद है। यह सुविधा नागपुर और विदर्भ के आसपास के क्षेत्रों के कोविड -19 नमूनों के परीक्षण के लिए खुली है।

विस्तार से पढ़ें:

जेएनसीएएसआर ने कोविड-19 पर ध्यान केंद्रित करते हुए संक्रामक रोगों के आणविक निदान के लिए क्रैश कोर्स शुरू किया

जवाहरलाल नेहरू सेंटर फॉर एडवांस्ड साइंटिफिक रिसर्च (जेएनसीएएसआर), भारत सरकार के विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग के अंतर्गत आने वाला एक स्वायत्त अनुसंधान संस्थान, ने अपने जाकुर परिसर में एक अत्याधुनिक कोविड डायग्नोस्टिक प्रशिक्षण केंद्र की स्थापना की है जिससे कोविड-19 महामारी के खिलाफ राष्ट्रीय लड़ाई के लिए क्षमता निर्माण करने में मदद मिल सके। आणविक नैदानिक तकनीकें, जैसे रियल-टाइम पीसीआर, कोविड-19 सहित महामारियों के निदान और ट्रैकिंग में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है। राष्ट्र की महत्वपूर्ण और अपूर्ण जरूरतों को समझते हुए जेएनसीएएसआर ने कोविड-19 के लिए रियल-टाइम पीसीआर में कर्मियों को प्रशिक्षित करने के लिए एक अत्याधुनिक नैदानिक प्रशिक्षण सुविधा की स्थापना करके एक अभियान की शुरुआत की है।

विस्तार से यहां पढ़ें:

 

पीआईबी फील्ड कार्यालयों से मिली जानकारियां

  • केरल- राज्य सरकार ने वापस आने वाले प्रवासियों के लिए अनिवार्य रूप से कोविड प्रमाणपत्र बनाने के मानदंड में ढील देने का फैसला किया है। ऐसे देशों से आने वाले, जहां कोविड टेस्ट नहीं हो सकता, लोगों को पीपीई किट पहनकर आने की अनुमति दी जाएगी। एयरलाइनों की तरफ से पीपीई किट की सुविधा प्रदान की जाएगी। कोविड निगेटिव प्रमाणपत्र को प्रभावी करने के लिए सरकार तारीख बढ़ाने पर विचार कर रही है। इस बीच बच्चों को टीका लगाने वाली एक नर्स के पॉजिटिव मिलने के बाद कोच्चि में करीब 40 बच्चों को क्वारंटीन सेंटर में भर्ती कराया गया है। राज्य के बाहर केरल के 8 और लोगों की वायरस से मौत हो गई। राज्य ने कल 141 नए कोरोना पॉजिटिव मामलों और एक मौत की पुष्टि की थी। राज्य में 1620 मरीजों का अब भी इलाज चल रहा है।
  • तमिलनाडु- पुदुचेरी में 24 घंटों में सबसे ज्यादा कोविड-19 के 59 केस मिले और कुल आकंड़ा 461 पर पहुंच गया। 22 साल का 108 एंबुलेंस स्टाफर तिरुपुर का पहला कोविड-19 पीड़ित है। राज्य में कुल मामले 2516 और 39 मौतों के साथ मृतकों का कुल आंकड़ा 833 पहुंच गया है। कल चेन्नई से 1380 केस सामने आए। कुल मामले- 64603, सक्रिय मामले- 28428, मौतें- 833 और 35339 लोगों को अस्पताल से छुट्टी दे दी गई। चेन्नई में सक्रिय मामले 18889 हैं।
  • कर्नाटक- कोविड-19 को नियंत्रित करने के प्रयास में स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण निदेशालय ने निजी अस्पतालों और मेडिकल कॉलेजों में फीवर क्लीनिक और स्वाब संग्रह केंद्र खोलने का आदेश जारी किया है। स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि विशेषज्ञ समिति की सिफारिश के आधार पर राज्य फिर से लॉकडाउन लागू करने पर फैसला लेगा। करीब 8.5 लाख छात्र एसएसएलसी (10वीं कक्षा) में लिखेंगे जो पूरे एहतियाती उपायों के साथ पूरे राज्य में कल से शुरू होगी। इस बीच केएसआरटीसी 25 जून से चरणबद्ध तरीके से एसी बसों का परिचालन शुरू करेगी। कल 322 नए मामले, 274 डिस्चार्ज और 8 मौतें हुईं। अब तक कुल मामले 9721, सक्रिय केस 3563 और 150 मौतें हो चुकी हैं।
  • आंध्र प्रदेश- राज्य सरकार द्वारा विजयवाड़ा लॉकडाउन के आदेश को घोषणा के एक घंटे के भीतर ही वापस लेने के बाद भ्रम की स्थिति पैदा हो गई। मंगलवार रात में कृष्णा के जिलाधिकारी ने कोरोनावायरस के बढ़ते मामले को देखते हुए विजयवाड़ा में 26 जून से सात दिन का लॉकडाउन लागू करने की घोषणा की थी। कुल मामलों में कुरनूल जिला 1483 केस के साथ शीर्ष पर है, इसके बाद कृष्णा जिले में 1132 और अनंतपुर में 1028 केस हैं। 36,047 नमूनों के परीक्षण के बाद पिछले 24 घंटों के दौरान 497 नए केस, 146 लोग डिस्चार्ज और 10 मौतें हुई हैं। नए मामलों में से 37 अंतर-राज्यीय केस और 12 विदेश से हैं। कुल मामले 10331, सक्रिय मामले 5423, डिस्चार्ज 4779 और 129 मौतें हुई हैं।
  • तेलंगाना- बेड की कमी का हवाला देते हुए निजी अस्पतालों ने स्पर्शोन्मुख कोविड-19 मरीजों और हल्के लक्षणों वाले लोगों से घर पर ही रहने का आग्रह किया है। तेलंगाना में एक दिन में सबसे ज्यादा कोरोनावायरस के 879 नए मामले आए और तीन मौतें दर्ज की गईं। कुल मामले 9553, सक्रिय मामले 5109, मौतें 220 और 4224 लोग ठीक हो गए। अब तक 63,249 नमूनों की जांच की गई है।
  • महाराष्ट्र- महाराष्ट्र में बुधवार को कोविड-19 के मामलों में मामूली गिरावट देखी गई। राज्य ने पिछले 24 घंटों में 3214 नए केस दर्ज किए। इससे कोविड केस की कुल संख्या 1,39,010 पहुंच गई। मंगलवार को 75 और मौतों के साथ ही मृत्यु दर 4.70 तक पहुंच गई। कई हफ्तों के बाद मुंबई में 1000 से कम 824 मामले सामने आए। शहर में अब कोविड संक्रमण मामलों की संख्या 68,481 है। बृहन्मुंबई नगर निगम ने मिशन यूनिवर्सिल टेस्टिंग की शुरुआत की है, जिसके तहत आईसीएमआर द्वारा स्वीकृत एंटीजन टेस्टिंग किट का इस्तेमाल किया जाएगा जो 15-30 मिनट में परिणाम दे देगा। बीएमसी ने संदिग्ध कोविड-19 मरीजों के जल्द नतीजों के लिए 1 लाख एंटीजन टेस्टिंग किट खरीदने का निर्णय लिया है। इनका इस्तेमाल सभी नागरिक, सरकारी अस्पतालों और कोविड-19 उपचार केंद्रों पर संदिग्ध मरीजों के टेस्ट और समय पर उपचार सुनिश्चित करने के लिए किया जाएगा।
  • गुजरात- मंगलवार को 549 नए मामले आने के साथ ही कोविड-19 केस बढ़कर कुल 28,429 पहुंच गए हैं। इसी दिन राज्य में 26 मरीजों की भी मौत हो गई जिससे कुल मौतें 1711 हो गई हैं। इस बीच, विभिन्न अस्पतालों से 604 मरीजों को छुट्टी दे दी गई है, जिससे राज्य में कोविड-19 से ठीक हुए मरीजों की कुल संख्या 20,521 हो गई है। सबसे ज्यादा अहमदाबाद से 230 नए केस आए हैं। इसके अलावा सूरत से 152 केस जबकि वडोदरा से 38 मरीज बढ़े हैं। अब तक राज्य में 3 लाख 34 हजार से ज्यादा कोविड-19 टेस्ट किए गए हैं।
  • राजस्थान- आज सुबह 182 नए पॉजिटिव केस और 7 मौतों के साथ राज्य में कोविड-19 के मामले बढ़कर 15,809 हो गए। जबकि आज तक 12,424 मरीज ठीक हो गए हैं और 372 लोगों की जान चली गई। वर्तमान में राज्य में 3013 सक्रिय मामले हैं। सबसे ज्यादा 63 पॉजिटिव केस धौलपुर से, 53 जयपुर से और 23 भरतपुर से सामने आए हैं। आबकारी आयुक्त, राजस्थान ने राज्य में होटल और रेस्तरां को फिर से खोलने और शराब की बिक्री को लेकर दिशानिर्देश जारी किए हैं।
  • मध्य प्रदेश- 183 नए मामलों के साथ ही राज्य में पॉजिटिव मामले बढ़कर 12,261 हो गए हैं। इनमें से 2401 सक्रिय केस हैं जबकि 9335 मरीज ठीक हो गए हैं और अब तक 525 लोगों की मौत हो चुकी है। मध्य प्रदेश में राज्य सरकार ने सभी कॉलेज के विद्यार्थियों को प्रमोट करने का फैसला किया है। हॉटस्पॉट इंदौर में 54 नए मामले सामने आए हैं, जिससे शहर में कुल केस बढ़कर 4427 हो गए हैं। मंगलवार को भोपाल में 29 नए मामले और मुरैना जिले में 23 नए केस सामने आए हैं। भोपाल में अब तक कुल पॉजिटिव मरीज 2556 हैं।
  • छत्तीसगढ़- मंगलवार को 83 नए पॉजिटिव केस सामने आए, जिससे कोरोनावायरस संक्रमण के मामले राज्य में 2385 हो गए। इनमें से 846 सक्रिय मामले हैं। मंगलवार को राज्य के विभिन्न अस्पतालों से ठीक होने के बाद 40 मरीजों को छुट्टी भी दे दी गई और इस तरह ठीक होने वालों की संख्या अब 1527 हो गई है। कोरबा जिले में सबसे ज्यादा कोविड-19 केस सामने आए। इसके बाद रायपुर, बलौदाबाजार और जांजगीर-चांपा जिले हैं।
  • गोवा- मंगलवार को 45 नए कोविड केस दर्ज किए गए और राज्य में कुल मामले 909 हो गए। इनमें से 702 सक्रिय मामले हैं। मंगलवार को 53 मरीज ठीक हो गए जिससे कुल डिस्चार्ज होने वालों की संख्या 205 हो गई।
  • चंडीगढ़- प्रशासक, यूटी चंडीगढ़ ने आयुक्त, नगर निगम और उपायुक्त, यूटी को यह सुनिश्चित करने को कहा है कि जिन लोगों को क्वारंटीन सेंटरों पर रखा गया है, उनकी समुचित देखभाल की जाए। नियमित देखरेख के जरिए उपयुक्त भोजन, पानी और स्वच्छ शौचालय जैसी बुनियादी सुविधाएं सुनिश्चित की जानी चाहिए।
  • पंजाब- विशिष्ट क्षेत्रों में कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए पंजाब सरकार ने एक सख्त कंटेनमेंट रणनीति लागू की है जिसके तहत 8 जिलों में 19 कंटेनमेंट जोन बनाए गए हैं, जिसमें 25 हजार की आबादी है। विशिष्ट क्षेत्र में कोविड-19 के मामलों की संख्या के हिसाब से कंटेनमेंट और माइक्रो कंटेनमेंट जोन हैं जिससे उच्च जोखिम वाले संपर्कों की स्क्रीनिंग, ट्रेसिंग, परीक्षण और परामर्श जैसी गतिविधियों के लिए मैनपावर का समुचित इस्तेमाल सुनिश्चित किया जा सके। 
  • हरियाणा- कोविड-19 महामारी के मद्देनजर राज्य में स्वास्थ्य देखभाल सुविधाओं को और बेहतर बनाने की दिशा में एक और कदम बढ़ाते हुए हरियाणा के मुख्यमंत्री ने राज्य के सभी 22 जिला नागरिक अस्पतालों में फार्मासिस्ट के 110 तकनीकी प्रशिक्षुओं की सेवाएं लेने के लिए प्रशासनिक स्वीकृति प्रदान की है। राष्ट्रीय अप्रेंटिसशिप ट्रेनिंग प्रोग्राम के अप्रेंटिस एक्ट 1961 के तहत हर जिला अस्पताल में 5 तकनीकी प्रशिक्षु फार्मेसी की सेवा ली जाएगी।
  • हिमाचल प्रदेश- आशा कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार ने सभी आशा कार्यकर्ताओं को जून और जुलाई के लिए 2 हजार रुपये प्रति महीने के हिसाब से प्रोत्साहन राशि देने का फैसला किया है। उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी ने पूरी दुनिया को हैरान कर दिया है और मेडिकल जगत भी इसके लिए तैयार नहीं था। उन्होंने कहा कि हिमाचल प्रदेश ने इस वायरस का प्रभावी ढंग से मुकाबला किया है और राज्य की आशा कार्यकर्ताओं ने इस वायरस को नियंत्रित करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। उन्होंने कहा कि आशा कार्यकर्ताओं ने केवल आईएलआई लक्षणों वालों लोगों की पहचान में मदद की बल्कि क्वारंटीन के मानदंडों का सख्ती से पालन करने के लिए लोगों को प्रेरित भी किया।

फैक्ट चेक

***

एसजी/एएम/एएस



(Release ID: 1634189) Visitor Counter : 72