कार्मिक, लोक शिकायत एवं पेंशन मंत्रालय

केन्द्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह ने भारत के अग्रणी आयुष विशेषज्ञों की आभासी बैठक को किया संबोधित

Posted On: 23 JUN 2020 8:07PM by PIB Delhi

केन्द्रीय मंत्री डॉ. जितेंद्र सिंह ने आज यहां कहा कि कोविड महामारी ने फिर से एकीकृत स्वास्थ्य प्रबंधन की विशेषताओं को याद दिलाया है। उन्होंने कहा कि आने वाले समय में उपचार के साथ-साथ ज्यादा प्रभावी चिकित्सा रोगनिरोध (प्रोफिलैक्सि) के इस पहलू को ध्यान में रखते हुए गंभीरता से विचार करने की जरूरत होगी।

डॉ. जितेंद्र सिंह ने विवेकानंद केन्द्र बंगलुरू के प्रमुख डॉ. नागेंद्र आचार्य, सीताराम आयुर्वेदिक अस्पताल थ्रिसूर, कोच्चि के डॉ. रामानाथन, यूनानी चिकित्सा विज्ञान, अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के डॉ. जमीर अहमद, मानव व्यवहार एवं संबद्ध विज्ञान संस्थान, नई दिल्ली में होम्योपैथिक कंसल्टैंट डॉ. अशोक शर्मा सहित भारत के आयुष में अग्रणी विशेषज्ञों के साथ आभासी बैठक को संबोधित करते हुए याद दिलाया कि भले ही गैर संक्रामक रोगों, मधुमेह के मामले में एकीकृत या समग्र प्रबंधन की खूबियों को महसूस किया गया है, लेकिन इस पहलू पर उतना ध्यान नहीं दिया गया जितनी जरूरत थी। हालांकि उन्होंने कहा कि इस बात के पर्याप्त प्रमाण हैं और शोध पत्र से जाहिर होता है कि जहां इंसुलिन ओरल मधुमेह रोधी दवा से मधुमेह के मरीज के उपचार से रक्त शर्करा (ब्लड शुगर) पर बेहतर नियंत्रण हासिल किया जा सकता है और यदि इस क्रम में योग, नैचुरोपैथी आदि जैसी अन्य विधियों के अभ्यास की सलाह दी जाती है तो दवा की खुराक में कमी की जा सकती है।

http://164.100.117.97/WriteReadData/userfiles/image/image001ML9Z.jpg

कोविड के संदर्भ में डॉ. जितेंद्र सिंह ने कहा कि चूंकि यह एक विषाणु जनित बीमारी है, जहां बीमारी का इलाज रोगी की प्रतिरोधक क्षमता पर निर्भर करता है और इसीलिए, प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाना काफी महत्वपूर्ण हो जाता है। प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए होम्योपैथी और अन्य दवाओं के व्यापक उपयोग से दवाओं की वैकल्पिक प्रणालियों में खासी दिलचस्पी पैदा हुई है।

आभासी बैठक के दौरान, डॉ. नागेंद्र आचार्य ने विशेष रूप से विभिन्न वर्गों 60 साल कम आयु के समूह, 60 साल से ज्यादा उम्र के समूह और अस्पताल में भर्ती मरीजों के लिए महत्वपूर्ण योग के एक नए प्रोटोकॉल का प्रस्तुतीकरण दिया। पूरे प्रोटोकॉल का 15 मिनट के भीतर अभ्यास किया जा सकता है।

http://164.100.117.97/WriteReadData/userfiles/image/image002VM9X.jpg

http://164.100.117.97/WriteReadData/userfiles/image/image0039EYY.jpg

<><><><><>

एसजी/एएम/एमपी



(Release ID: 1633827) Visitor Counter : 45