सूचना और प्रसारण मंत्रालय
azadi ka amrit mahotsav g20-india-2023

राष्ट्रीय सम्मेलन में इस बात पर चर्चा हुई कि कैसे पिछले नौ वर्षों में सरकार की नीतियों ने युवा शक्ति को सशक्त बनाकर भारत को मजबूत किया

Posted On: 27 MAY 2023 5:46PM by PIB Delhi

पिछले नौ वर्षों के दौरान सरकार की नीतियों और कार्यक्रमों ने युवा सशक्तिकरण में किस प्रकार योगदान दिया है, इस बारे में विचार-विमर्श करने के लिए नई दिल्ली के विज्ञान भवन में "युवा शक्ति: गैल्वनाइजिंग इंडिया" नामक एक सत्र में समाज के विभिन्न वर्गों के नागरिकों ने विचार विमर्श किया। यह सत्र प्रसार भारती द्वारा आयोजित “नेशनल कॉन्क्लेव : 9 साल-सेवा, सुशासन, गरीब कल्याण” विषय पर आयोजित किया गया था। पैनलिस्टों में यशोधरा बाजोरिया, निदेशक, एस्प्रेसो टेक्नोलॉजीज, ओयो रूम्स के मुख्य कार्यकारी अधिकारी रितेश अग्रवाल, पूर्व भारतीय हॉकी कप्तान वीरेन रसकिन्हा, बॉक्सर अखिल कुमार, संगीतकार अमान अली बंगश और अभिनेता ऋषभ शेट्टी शामिल थे। सत्र का संचालन रेड एफएम के रेडियो जॉकी रौनक ने किया।

 

"सरकार उद्यमियों के लिए संस्थागत समर्थन करने के लिए श्रेय प्राप्त करने की हकदार है"

एस्प्रेसो टेक्नोलॉजीज की निदेशक श्रीमती यशोधरा बाजोरिया ने कहा कि स्टैंड अप इंडिया और स्टार्ट अप इंडिया जैसी योजनाओं ने उद्यमियों को सशक्त बनाने में बड़ी भूमिका निभाई है। उन्होंने एक महिला किसान का उदाहरण दिया, जो अब सरकार के डिजिटल कॉमर्स के ओपन नेटवर्क की बदौलत अपनी उपज की बिक्री करने में सक्षम है। श्रीमती यशोधरा बाजोरिया ने कहा, “किसान उत्पादक संगठनों और स्वयं सहायता समूहों ने दूरदराज के इलाकों में भी किसानों और लोगों को जमीनी स्तर पर सहायता प्रदान की है। सरकार लोगों को इस प्रकार के समर्थन को संस्थागत रूप देने के लिए बड़े श्रेय की हकदार है। सरकार छोटे उद्यमियों को भी समान अवसर प्रदान करती है।''

 

"सरकार की नीतियों ने विभिन्न नवाचारों को जन्म दिया है जो हमारे जीवन का हिस्सा बन गए हैं"

ओयो रूम्स के मुख्य कार्यकारी अधिकारी श्री रितेश अग्रवाल ने कहा कि विभिन्न सेवाएं जो आज हमारे दैनिक जीवन का हिस्सा बन गई हैं, नौ वर्ष पहले अस्तित्व में भी नहीं थीं। श्री रितेश अग्रवाल ने कहा, “भारत का प्रदर्शन बहुत अच्छा है, युवाओं द्वारा संचालित है, जो स्टार्टअप्स के विकास को शक्ति प्रदान कर रहे हैं। हम दुनिया में एक प्रसिद्ध स्थल के रूप में सामने आए हैं।”

 

"सरकार ने जमीनी स्तर पर खेल के बुनियादी ढांचे में निवेश कर बहुत अच्छा काम किया है"

भारतीय हॉकी टीम के पूर्व कप्तान वीरेन रसकिन्हा ने कहा कि टोक्यो ओलंपिक भारतीय पुरुष हॉकी टीम के लिए यह एक महान क्षण था। वीरेन रसकिन्हा ने कहा, “टोक्यो ओलंपिक खेलों में मेरे लिए सबसे बड़ा क्षण भारतीय महिला हॉकी टीम का प्रदर्शन था, जब वह चौथे स्थान पर रही और पदक की दावेदारी नहीं कर सकी। वर्ष 2016 से 2021 के बीच जमीनी स्तर पर काफी निवेश हुआ। एस्ट्रो-टर्फ मैदानों की संख्या में काफी वृद्धि हुई है; खेल के बुनियादी ढांचे में बहुत अधिक सुधार हुआ है। हालांकि अब भी हमें और भी बहुत कुछ करना है। हॉकी एक शारीरिक शक्ति का खेल बन गया है, हम हमेशा कौशल में दुनिया के सर्वश्रेष्ठ देशों की बराबरी कर सकते हैं, हमने जो संघर्ष किया है वह फिटनेस और ताकत के क्षेत्र में है। यह एक ऐसा क्षेत्र है जहां हमने महत्वपूर्ण प्रगति की है।" पूर्व कप्तान ने कहा कि ओलंपिक में छोटे गांवों की लड़कियों का प्रदर्शन लाखों युवा लड़कियों को गर्व और आशा प्रदान करता है। उन्होंने कहा कि सरकार ने जमीनी स्तर खेल क्षेत्र में निवेश की दिशा में बहुत अच्छा काम किया है।

 

उन्होंने कहा कि फिट इंडिया और खेलो इंडिया की अवधारणा दो परिवर्तनकारी पहलें हैं, जो खेल संस्कृति और खेल प्रशिक्षकों के दो सी को संबोधित करती हैं। उन्होंने कहा, "खेल ने मुझे जीवन में बहुत कुछ सिखाया है, सबसे बड़ी बात जो खेल हमें सिखाता है वह है हार को स्वीकार करना और सीखते रहना और सुधार करना।" उन्होंने कहा कि हम वास्तव में खेल को बदल सकते हैं और बदलाव ला सकते हैं यदि हम शारीरिक शिक्षा शिक्षक की स्थिति को विज्ञान शिक्षक के बराबरी तक ला सकें तो यह संभव हो सकता है।

 

"खेलो इंडिया और फिट इंडिया जैसी योजनाओं से भारतीय खिलाड़ियों का भविष्य उज्ज्वल हुआ है"

भारतीय मुक्केबाज अखिल कुमार ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जब बड़े टूर्नामेंट से पहले खिलाड़ियों से भेंट करते हैं और बातचीत करते हैं तो इससे खिलाड़ियों को काफी आंतरिक प्रेरणा मिलती है। उन्होंने कहा कि खेलों को प्रोत्साहन देने के लिए खेल संस्कृति का निर्माण जरूरी है। उन्होंने फिटनेस और स्वास्थ्य को प्रोत्साहन देने में फिट इंडिया मूवमेंट की भूमिका की सराहना की। उन्होंने खिलाड़ियों को वित्तीय सहायता के महत्व को भी रेखांकित किया, जो उन्हें अपनी वित्तीय स्थिति की चिंता के बिना खेलों को आगे बढ़ाने में सक्षम बनाता है। उन्होंने कहा कि खेलो इंडिया जैसी सशक्त योजनाओं से भारतीय खिलाड़ियों का भविष्य उज्ज्वल हुआ है।

 

“सरकार ने छोटे गांवों और कस्बों से प्रतिभाओं को प्रोत्साहन प्रदान करने का काम किया है”

संगीतकार अमान अली बंगश ने कहा कि सरकार युवा पीढ़ी के लिए बहुत कुछ कर रही है। उन्होंने कहा कि यह आश्चर्यजनक है कि सरकार ने छोटे गांवों और कस्बों के प्रतिभाशाली युवाओं को प्रोत्साहित किया है और उन्हें बढ़ावा दिया है। उन्होंने कहा कि यह भारत के लिए उत्कृष्ट समय है और कला तथा संस्कृति के सभी रूपों के बारे में जागरूकता काफी बढ़ी है।

 

"प्रधानमंत्री ने फिल्म निर्माताओं से कहा है कि वे भारत की अनूठी कहानियों को दुनिया के सामने प्रस्तुत करें"

भारतीय फिल्म अभिनेता ऋषभ शेट्टी ने कहा कि फिल्म लोगों तक पहुंचने का एक बहुत मजबूत माध्यम बन गई है। ऋषभ शेट्टी ने कहा, “पहले, कई फिल्में हमारे देश को नकारात्मक रूप से चित्रित करती थीं, मुझे लगता है कि हमारे देश को सकारात्मक रूप से दुनिया के सामने प्रस्तुत करना महत्वपूर्ण है। यह मेरा विचार रहा है, हमारे गाँवों की अनूठी कहानियों को सामने लाने के लिए, जैसा कि अद्वितीय मान्यताओं, जीवन के तरीकों, रीति-रिवाजों और खान-पान में परिलक्षित होता है। फिल्म उद्योग के लिए प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी का यही संदेश रहा है कि हमारी भारतीय संस्कृति और कहानियों को दुनिया के सामने प्रस्तुत करने की आवश्यकता है।''

***

एमजी/एमएस/आरपी/एमकेएस



(Release ID: 1927751) Visitor Counter : 206