PIB Headquarters

पीआईबी का कोविड-19 पर दैनिक बुलेटिन

Posted On: 18 NOV 2020 6:01PM by PIB Delhi

 

Coat of arms of India PNG images free download https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image0015IFJ.jpg

(पिछले 24 घंटों में कोविड-19 से संबंधित जारी प्रेस विज्ञप्तियां, पीआईबी फील्ड कार्यालयों से मिली जानकारियां और पीआईबी का फैक्ट चेक शामिल)

 

  • भारत में 46वें दिन कोरोना के दैनिक मामलों की तुलना में प्रतिदिन ठीक होने वालों की संख्‍या में इजाफा
  • देश में लगातार ग्यारहवें दिन भी 50,000 से कम नए मामले दर्ज
  • पिछले 24 घंटों के दौरान कोविड-19 के 44,739 मरीज हुए ठीक जबकि इस दौरान केवल 38,617 नए मामले सामने आए
  • रिकवरी दर आज 93.52 प्रतिशत तक सुधरी
  • प्रधानमंत्री ने कहा, महामारी ने इस बात पर फिर से जोर दिया है कि 'समाज और व्यवसायों के नाते’ हमारे लोग हमारे सबसे बड़े संसाधन 

 

#Unite2FightCorona

#IndiaFightsCorona

Image

 

भारत में 46वें दिन कोरोना के दैनिक मामलों की तुलना में प्रतिदिन ठीक होने वालों की संख्‍या में लगातार इजाफा, ग्यारहवें दिन दैनिक नए मामलों की संख्‍या 50 हजार से कम

भारत में पिछले डेढ़ महीने से कोरोना के दैनिक मामलों की तुलना में प्रतिदिन ठीक होने वालों की संख्‍या में लगातार बढ़ोतरी होने का ट्रेंड जारी है। देश में लगातार ग्यारहवें दिन भी 50,000 से कम नए मामले दर्ज की गई। पिछले 24 घंटों के दौरान कोविड-19 के 44,739 मरीज ठीक हुए हैं जबकि इस समयावधि के दौरान केवल 38,617 नए मामले सामने आए हैं। इससे सक्रिय मामलों की संख्या में 6,122 कमी आ गई जिससे अब यह 4,46,805 रह गया है। आज की तारीख में कोविड-19 के सभी मामलों की तुलना में 5.01 प्रतिशत सक्रिय मामले हैं। रिकवरी दर आज 93.52 प्रतिशत तक सुधरी है। ​ठीक होने वाले कुल मामले 83,35,109 हैं। रिकवरी के नए मामलों में से 74.98 प्रतिशत मामले दस राज्यों / केन्द्र शासित प्रदेशों से सामने आया है। केरल में कोविड से सबसे अधिक 6,620 व्यक्ति ठीक हुए हैं। महाराष्ट्र ने 5,123 दैनिक रिकवरी हुई है जबकि दिल्ली ने 4,421 नई रिकवरी दर्ज की गई है। नए मामालों में से 76.15 प्रतिशत मामले दस राज्यों / केन्द्र शासित प्रदेशों से सामने आए हैं। दिल्ली ने पिछले 24 घंटों में 6,396 मामले सामने आए हैं। केरल ने 5,792 नए मामले दर्ज किए गए हैं जबकि पश्चिम बंगाल में कल 3,654 नए मामले दर्ज किए। पिछले 24 घंटों में 474 नई मौतों में से 78.9 प्रतिशत दस राज्यों / केंद्र शासित प्रदेशों में से हैं। नई मौतों में से 20.89 प्रतिशत मौतें दिल्ली से हुई हैं। यहां 99 मौतें हुई हैं। महाराष्ट्र और पश्चिम बंगाल में क्रमश: 68 और 52 नई मौतें हुई हैं।

 

ज्यादा जानकारी के लिए पढ़ें

      

प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी और संयुक्त राज्य अमेरिका के नवनिर्वाचित राष्ट्रपति महामहिम जोसेफ आर. बाइडेन के बीच टेलीफोन पर बातचीत

प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने संयुक्त राज्य अमेरिका के नवनिर्वाचित राष्ट्रपति जोसेफ आर. बाइडेन के साथ आज टेलीफोन पर बातचीत की। प्रधानमंत्री मोदी ने अमेरिका के निर्वाचित राष्ट्रपति बाइडेन को चुनाव में उनकी सफलता पर गर्मजोशी से बधाई दी। उन्‍होंने कहा कि इससे संयुक्त राज्य अमेरिका में लोकतांत्रिक परंपराओं की मजबूती और लचीलेपन में विश्‍वास का पता चलता है। प्रधानमंत्री ने अमेरिका की नवनिर्वाचित उपराष्ट्रपति सीनेटर कमला हैरिस को भी हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएं दीं। दोनों नेताओं ने साझा मूल्यों एवं साझा हितों पर आधारित भारत-अमेरिका व्यापक वैश्विक सामरिक भागीदारी को बढ़ाने के लिए मिलकर काम करने पर सहमति जताई। दोनों नेताओं ने अपनी प्राथमिकताओं पर भी चर्चा की जिसमें कोविड-19 वै‍श्विक महामारी, सस्ते टीकों तक पहुंच को बढ़ावा देना, जलवायु परिवर्तन से निपटना और भारत-प्रशांत क्षेत्र में सहयोग शामिल हैं।

ज्यादा जानकारी के लिए पढ़ें

 

प्रधानमंत्री मोदी का 17 नवंबर, 2020 को तृतीय वार्षिक ब्लूमबर्ग न्यू इकोनॉमी फोरम में संबोधन का पाठ

 

ज्यादा जानकारी के लिए पढ़ें

 

प्रधानमंत्री ने निवेशकों को बताया कि भारत में शहरीकरण के क्षेत्र में निवेश के बेहतर अवसर हैं, कोविड के बाद दुनिया को अपनी मानसिकता एवं प्रथाओं को पुनःनिर्धारित करने की आवश्यकता होगी

प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने निवेशकों को भारतीय शहरीकरण के क्षेत्र में निवेश करने के लिए आमंत्रित किया। वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से आज तीसरे वार्षिक ब्लूमबर्ग न्यू इकोनॉमी फोरम में बोलते हुए प्रधानमंत्री ने कहा, यदि आप शहरीकरण के क्षेत्र में निवेश करना चाहते हैं, तो भारत में आपके लिए बेहतर अवसर हैं। श्री मोदी ने कहा कि कोविड-19 के बाद दुनिया को फिर से शुरुआत करने की आवश्यकता होगी, हालांकि पुनःनिर्धारण के बिना फिर से शुरुआत करना संभव नहीं होगा। मानसिकता को पुनःनिर्धारित करना होगा। प्रकियाओं और प्रथाओं को पुनःनिर्धारित करना होगा। महामारी ने हमें प्रत्येक क्षेत्र में नए प्रोटोकॉल विकसित करने का एक अवसर दिया है। प्रधानमंत्री ने आगे कहा, यदि हम भविष्य के लिए सशक्त प्रणालियों को विकसित करना चाहते हैं, तो इस अवसर का विश्व द्वारा उपयोग किया जाना चाहिए। हमें विश्व की कोविड के बाद की आवश्यकताओं के बारे में सोचना चाहिए। हमारे शहरी केंद्रों का पुनर्जीवन इस दिशा में एक अच्छा प्रारंभिक बिंदु होगा। शहरी केंद्रों के कायाकल्प विषय पर बात करते हुए प्रधानमंत्री ने पुनःप्राप्ति प्रक्रिया में लोगों की केंद्रीयता पर जोर दिया। लोगों को सबसे बड़े संसाधन और समुदायों को सबसे बड़ा बिल्डिंग ब्लॉक बताते हुए प्रधानमंत्री ने कहा, इस महामारी ने फिर से बताया है कि हमारे सबसे बड़े संसाधन, समाज के रूप में और व्यवसाय के रूप में, हमारे लोग हैं। कोविड के बाद की दुनिया को इस महत्वपूर्ण और मूलभूत संसाधन को पोषित करना होगा।

 

ज्यादा जानकारी के लिए पढ़ें

 

भारत-लक्जमबर्ग वर्चुअल समिट

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी और लक्ज़मबर्ग के प्रधानमंत्री श्री एच. ई. जेवियर बेटटेल के बीच 19 नवंबर 2020 को एक वर्चुअल सम्मेलन आयोजित किया जाएगा। यह पिछले दो दशकों में भारत और लक्ज़मबर्ग के बीच पहली शिखर बैठक होगी। दोनों देशों के नेता दुनिया में कोविड के बाद के हालात, भारत-लक्जमबर्ग सहयोग को मजबूत करने सहित द्विपक्षीय संबंधों के विभिन्न पहलुओं पर चर्चा करेंगे। वे पारस्परिक हित के अंतरराष्ट्रीय और वैश्विक मुद्दों पर भी विचारों का आदान-प्रदान करेंगे।

 

ज्यादा जानकारी के लिए पढ़ें

   

समावेश, विविधता और उत्कृष्टता के मेल का प्रतिनिधित्व करता है जेएनयू: राष्ट्रपति कोविंद

भारत के सभी हिस्सों से और समाज के सभी वर्गों से आने वाले छात्र उत्कृष्टता के लिए समान अवसर के माहौल में जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) में अध्ययन करते हैं। अलग तरह के करियर के इच्छुक छात्र जेएनयू में एक साथ आते हैं। भारत के राष्ट्रपति श्री रामनाथ कोविंद ने एक वीडियो संदेश के जरिए आज (18 नवंबर, 2020) जेएनयू के चौथे वार्षिक दीक्षांत समारोह को संबोधित करते हुए कहा कि यह विश्वविद्यालय समावेश, विविधता और उत्कृष्टता के मेल का प्रतिनिधित्व करता है। उन्होंने कहा कि जेएनयू के उत्कृष्ट संकाय खुली बहस और विचारों के अंतर का सम्मान करने की भावना को प्रोत्साहित करते रहे हैं। छात्रों को सीखने की प्रक्रिया में भागीदार माना जाता है और उच्च शिक्षा में ऐसा ही होना चाहिए। विश्वविद्यालय जीवंत चर्चाओं के लिए जाना जाता है, जो कक्षाओं के बाहर, कैफेटेरिया और ढाबों में हर समय होती रहती हैं। राष्ट्रपति ने कोविड-19 महामारी की चर्चा करते कहा कि आज दुनिया इस महामारी के कारण संकट की स्थिति में है। महामारी के वर्तमान परिदृश्य में, राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 बताती है कि उच्च शिक्षा संस्थानों के लिए संक्रामक रोगों, महामारी विज्ञान, वायरोलॉजी, डायग्नोस्टिक्स, इंस्ट्रूमेंटेशन, वैक्सीनोलॉजी और अन्य प्रासंगिक क्षेत्रों में अनुसंधान करने का बीड़ा उठाना महत्वपूर्ण है। संबंधित सामाजिक मुद्दों का भी अध्ययन करने की जरूरत है, विशेषकर बहु-विषयक दृष्टिकोण के साथ ऐसा करना चाहिए।

 

ज्यादा जानकारी के लिए पढ़ें

 

डॉ. हर्षवर्धन ने एचआईवी रोकथाम के लिए वैश्विक रोकथाम गठबंधन (जीपीसी) को संबोधित किया

केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्री डॉ हर्षवर्धन ने आज एचआईवी रोकथाम के लिए वैश्विक रोकथाम गठबंधन (जीपीसी) की मंत्रिस्तरीय बैठक को डिजिटल रूप से संबोधित किया। डॉ हर्षवर्धन ने बताया कि कैसे भारत ने कोविड-19 महामारी के दौरान एचआईवी की रोकथाम के प्रयास किये। उन्होंने इस पर प्रयासों की विस्तृत जानकारी साझा की। भारत सरकार ने एआरवी वितरण के लिए एक मजबूत कार्यान्वयन योजना के साथ समुदायों, नागरिक समाज, विकास भागीदारों को शामिल करके तेजी से और समय पर कार्रवाई की। सरकार ने विभिन्न सामाजिक कल्याण योजनाओं के लिए महत्वपूर्ण आबादी और पीएल एचआईवी को भी जोड़ा। उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय एड्स नियंत्रण संगठन द्वारा समय-समय पर संदर्भ और मार्गदर्शन नोट जारी किए गए।

ज्यादा जानकारी के लिए पढ़ें

 

डॉ. हर्षवर्धन ने आईआईएसएफ-2020 उत्‍सव का सूत्रपात किया, आईआईएसएफ-2020 एक वर्चुअल कार्यक्रम होगा

केन्‍द्रीय विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी, पृथ्‍वी विज्ञान और स्‍वास्‍थ्‍य एवं परिवार कल्‍याण मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने आज नई दिल्‍ली में वर्चुअल माध्‍यम से छठे आईआईएसएफ संस्‍करण के विभिन्‍न कार्यक्रमों की शुरुआत के तौर पर आईआईएसएफ-2020 उत्‍सव का सूत्रपात किया। इस अवसर पर डॉ. हर्षवर्धन ने मध्‍य प्रदेश सरकार के विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्री श्री ओमप्रकाश सखलेचा के साथ इस विस्‍तृत कार्यक्रम का ई-ब्रोशर भी जारी किया। आईआईएसएफ एक वार्षिक उत्‍सव है जिसका आयोजन भारत सरकार के डीएसटी, डीबीटी, एमओईएफ, स्‍वास्‍थ्‍य एवं परिवार कल्‍याण मंत्रालय और सीएसआईआर और विज्ञान भारती (वीआईबीएचए) संयुक्‍त रूप से और कई अन्‍य संगठनों के सहयोग से करते हैं। कार्यक्रम के दौरान आईआईएसएफ-2020 की वेबसाइट भी शुरू की गई।

ज्यादा जानकारी के लिए पढ़ें

डॉ. हर्षवर्धन ने सीएसआईआर-सीआईएमएफआर की प्लेटिनम जुबली स्थापना दिवस समारोह का उद्घाटन किया

केंद्रीय विज्ञान और प्रौद्योगिकी, पृथ्वी विज्ञान और स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने आज सीएसआईआर-केंद्रीय खनन और ईंधन अनुसंधान संस्थान (सीआईएमएफआर), धनबाद के प्लेटिनम जुबली स्थापना दिवस समारोह का उद्घाटन किया। यह वैज्ञानिक और औद्योगिक अनुसंधान परिषद (सीएसआईआर)की प्रतिष्ठित अनुसंधान एवं विकास (आर एंड डी) प्रयोगशालाओं में से एक है। केंद्रीय मंत्री ने नयी दिल्ली में वीडियो-कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए समारोह का उद्घाटन किया।

ज्यादा जानकारी के लिए पढ़ें

 

आईएफएफआई का 51वां प्रतिनिधि पंजीकरण शुरू

आईएफएफआई ने जनवरी 2021 को होने वाले आईएफएफआई के 51वें प्रतिनिधि के लिए पंजीकरण शुरू कर दिया है। आईएफएफआई ने 17 जनवरी 2021 से होने वाली आईएफएफआई के 51वें प्रतिनिधि पंजीकरण की प्रक्रिया 17 नवंबर 2020 को शुरू कर दी है। यह प्रक्रिया निम्न भुगतान श्रेणियों के लिए महोत्सव के फिजिकल प्रारूप के वास्ते शुरू की गई हैडेलीगेट सिने एन्थूजीऐस्ट - 1000 रुपये/- + करों के रूप में लागू प्रतिनिधि पेशेवरों - 1000 रुपये/- + करों के रूप में लागू पंजीकरण निम्न URL पर किया जा सकता है: https://iffigoa.org/ कोविड 19 महामारी के कारण सीमित प्रतिनिधियों के लिए पहले आओ पहले पाओ के आधार पर पंजीकरण होगा।

ज्यादा जानकारी के लिए पढ़ें

 

पीएम स्‍वनिधि योजना के अंतर्गत 25 लाख से अधिक आवेदन प्राप्‍त हुए

प्रधानमंत्री स्‍ट्रीट वेंडर्स आत्‍मनिर्भर निधि-पीएम स्‍वनिधि योजना के अंतर्गत 25 लाख से अधिक आवेदन प्राप्‍त हुए है। इस विशेष सूक्ष्‍म ऋण सुविधा योजना के अंतर्गत 12 लाख से अधिक आवेदनों को अभी तक मंजूरी दी गई है और लगभग 5.35 लाख ऋण वितरित किए गए है। उत्‍तर प्रदेश में 6.5 लाख से अधिक आवेदन प्राप्‍त हुए हैं। इसमें से 3.27 लाख आवदेनों को मंजूरी दी गई है और 1.87 लाख ऋण वितरित किए गए हैं। उत्‍तर प्रदेश में स्‍वनिधि योजना के ऋण समझौते के लिए स्‍टैम्‍प शुल्‍क माफ किया गया है। कोविड-19 लॉकडाउन के कारण अपना कारोबारी स्‍थान छोड़कर पै‍तृक स्‍थान जाने वाले वेंडर्स वापसी पर इस योजना के पात्र होते हैं। ऋण प्रावधान को बाधारहित बनाया गया है। किसी भी सामान्‍य सेवा केन्‍द्र या पालिका कार्यालय या बैंकों से आवेदन पत्र ऑनलाइन अपलोड किये जा सकते है। बैंक भी स्‍ट्रीट वेंडरों के दरवाजे पर पहुंच रहे हैं, ताकि कारोबार शुरू करने के लिए उन्‍हें ऋण उपलबध कराया जा सके। प्रधानमंत्री श्री नरेन्‍द्र मोदी ने इस सिलसिले में बैंक कर्मियों के कठिन परिश्रम की सराहना करते हुए कहा है कि एक समय था जब स्‍ट्रीट वेंडर बैंकों के अंदर नहीं जाते थे, लेकिन अब बैंक उनके घर पहुंच रहे हैं।

ज्यादा जानकारी के लिए पढ़ें

 

पीआईबी के स्थानीय कार्यालयों से प्राप्त जानकारी

  • महाराष्ट्र: कोरोनावायरस संक्रमण के प्रसार को रोकने के उद्देश्य से, मुंबई के नागरिक निकाय ने कहा है कि समुद्र तटों और नदी तटों पर छठ पूजा की अनुमति नहीं दी जाएगी। ग्रेटर मुंबई के नगर निगम ने कहा है कि शहर की पुलिस को यह सुनिश्चित करना होगा कि लोग सूर्यास्त की रस्म के लिए 20 तारीख की शाम को और 21 तारीख को सूर्योदय की रस्म के लिए लोगों की भीड़ न लगाएं। साथ ही कहा गया है कि संबंधित अधिकारी कृत्रिम तालाबों में सीमित सार्वजनिक समारोहों को अनुमति देंगे ताकि लोग सूर्य देव की आराधना कर सकें। साथ ही जहाँ कृत्रिम तालाब स्थापित किए गए हैं वहां पीपीई किटों से लैस चिकित्सा दल और परीक्षण किटें इन स्थानों पर रखे जाएँ। महाराष्ट्र में रिकवरी दर 92.49% है, जबकि मृत्यु दर 2.63% है।
  • गुजरात: रिकवरी दर सुधर कर 91.4 प्रतिशत हो गई है। गुजरात में अब तक पाए गए कोविड -19 के कुल मामलों ने 1 लाख 90 हजार का आंकड़ा पार कर लिया है।
  • राजस्थान: राज्य में कोविड-19 के सक्रिय मामलों की संख्या एक बार फिर 26 दिनों के बाद 19,000 का आंकड़ा पार कर गई है। बुधवार को अधिकतम मामले जयपुर में (484 नए मामले), उसके बाद जोधपुर में (317 नए मामले) और फिर अलवर में (247 नए मामले) पाए गए। राजधानी जयपुर में हर दिन 450 से अधिक लोगों का पॉजिटिव पाए जा रहे हैं। यहां सक्रिय रोगियों की संख्या 6,500 से अधिक है। राज्य में अब तक संक्रमण के कारण 400 लोगों की मौत हो चुकी है। बीकानेर, अलवर, अजमेर और कोटा से बड़ी संख्या में नए संक्रमण के मामले सामने आ रहे हैं। राज्य में अब तक 40 लाख से अधिक नमूनों का परीक्षण किया जा चुका है।
  • मध्य प्रदेश: बुधवार को अधिकतम मामले भोपाल जिले (207 नए मामले), उसके बाद इंदौर जिले (178 नए मामले) और फिर ग्वालियर (55 मामले) में पाए गए हैं। राज्य में परीक्षण किए गए लोगों की कुल संख्या अब 33,54,884 हो गई है।
  • छत्तीसगढ़: राज्य में कोविड -19 के कारण हुई मौतों की संख्या पिछले दो हफ्तों के दौरान बढ़ी है। कोरोनावायरस से पिछले 15 दिनों के दौरान राज्य में 200 से अधिक लोगों की मौत हुई है। मुख्य सचिव ने राज्य में कोविड-19 के कारण मौतों की बढ़ती संख्या पर चिंता व्यक्त की है और अधिकारियों को रैपिड कोविड परीक्षण पर ध्यान देने का निर्देश दिया है। उन्होंने सभी जिला कलेक्टरों से कहा है कि वे जिला अस्पतालों में ऑक्सीजन की सुविधा के साथ पर्याप्त संख्या में बेड की उपलब्धता सुनिश्चित करें। उन्होंने कोविड से बचने के लिये उचित व्यवहार को अपनाने और कोई भी लक्षण होने के 24 घंटे के भीतर कोविड परीक्षण करवाने के लिए लोगों को प्रेरित करने के लिए एक गहन जागरूकता अभियान चलाने का निर्देश दिया है।
  • गोवा: राज्य में रिकवरी की दर 95.56 प्रतिशत तक पहुंच गई है। भारत बायोटेक के कोविड-19 वैक्सीन, कोवाक्सिन के तीसरे चरण के नैदानिक परीक्षण गोवा के रेडकर अस्पताल में शुरू होने जा रहे हैं।
  • असम: असम के स्वास्थ्य मंत्री ने ट्वीट किया है कि अगले सप्ताह से आने वाली उड़ानों के यात्रियों के लिए कोविड -19 का परीक्षण सरूसजाई की बजाय गुवाहाटी हवाई अड्डे पर किया जाएगा। असम के भीतर और उत्तर पूर्व राज्यों के बीच यात्रा करने वाले हवाई यात्रियों को अब अनिवार्य कोविड-19 परीक्षण की आवश्यकता नहीं होगी।
  • नागालैंड: 163 नए मामलों के साथ, नागालैंड में कोविड-19 के कुल मामले 10,188 तक पहुंच गये हैं। सक्रिय मामले बढ़ कर 1,134 हुए।
  • केरल: राज्य चुनाव आयोग ने राज्य सरकार से कहा है कि वह कोविड -19 रोगियों और क्वारंटीन मतदातोओं को मतदान संध्या पर अपराह्न 3 बजे तक डाक मतपत्रों के लिए आवेदन करने का अवसर दे। कलेक्टरों की सहायता से स्वास्थ्य विभाग अस्पतालों में कोविड रोगियों और संगरोध में रह रहे मतदातोओं के लिए वोट डालने की व्यवस्था करेगा। कोविड रोगी जो अपने घरों में हैं, उन्हें सीधे बूथ पर आना चाहिए और अंत में अपना वोट देना चाहिए। इस बीच, पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता ए. के. एंटनी आज कोविड पॉजिटिव पाए गए हैं। केरल में कल कोविड -19 के 5,792 नए मामलों की पुष्टि की गई, जबकि 6,620 मरीज ठीक हुए। राज्य में टेस्ट पॉजिटिविटी दर 10.31% है और राज्य में कोविड से संबंधित मृत्यु 1,915 है।
  • तमिलनाडु: कोविड -19 रोगियों के लिए समसामयिक प्लाज्मा थेरेपी, जिसे पहले आईसीएमआर के साथ परीक्षण के रूप में किया गया था, अब तमिलनाडु में नैदानिक उपचार का हिस्सा बन गया है। पल्मोनोलॉजिस्ट ने चेतावनी दी है कि सीओपीडी (क्रॉनिक ऑब्सट्रक्टिव पल्मोनरी डिजीज) वाले कोविड -19 मरीजों को अस्पताल में भर्ती होने का खतरा ज्यादा है। सीओपीडी रोगियों में मृत्यु दर भी अधिक है। स्वास्थ्य अधिकारियों द्वारा किए गए हालिया सीरो सर्वेक्षण से पता चलता है कि सलेम की 20.5 फीसदी आबादी कोविड -19 के संपर्क में थी और उसमें वायरस के लिए एंटीबॉडी भी विकसित की है। कोयम्बटूर के स्वास्थ्य अधिकारियों ने कहा कि वे 14 दिनों के बाद ही जिले में दीपावली के दौरान फैलने वाले वायरस का पता लगाने में सक्षम होंगे।
  • कर्नाटक: कर्नाटक सरकार ने कोविड -19 रोगियों के लिए निजी अस्पतालों के 50 फीसदी बेड आरक्षित करने के आदेश में संशोधन किया है; यह आदेश निजी और सरकारी अस्पतालों में कोविड -19 उपचार के लिये आने वाले रोगियों की संख्या में कमी के बाद आया है। पब्लिक हेल्थ फाउंडेशन ऑफ इंडिया और जीवन रक्षा के अनुमानों के अनुसार, 12 दिसंबर तक कर्नाटक में 9.25 लाख कोविड मामले होने की संभावना है। बेंगलुरु में कोविड -19 मामलों में मृत्यु दर (1.1%) भारत के सभी प्रमुख शहरों में सबसे कम है। धारवाड़ जिले में सक्रिय कोविड मामलों की संख्या चार महीने के निचले स्तर पर है।
  • आंध्र प्रदेश: आंध्र चुनाव आयुक्त ने कहा, फरवरी में स्थानीय निकाय चुनाव। आंध्र सरकार ने कहा, महामारी के कारण पंचायत चुनावों के लिए स्थिति अनुकूल नहीं। श्रीकाकुलम के सरकारी आवासीय स्कूल के कक्षा 9 के छात्रों ने कोविड -19 के प्रकोप को देखते हुए स्कूल में छात्रों के बीच शारीरिक दूरी को सुनिश्चित करने के लिए सेंसर के साथ हल्के वजन वाले डिजिटल आईडी कार्ड बनाए हैं।
  • तेलंगाना: मंगलवार को कोविड के 952 रिपोर्ट किए गए जिससे राज्य में संक्रमण के मामलों की संख्या बढ़ कर 2,58,828 हो गई है। 1,602 रोगियों को दिन में छुट्टी देने के साथ, सक्रिय मामले 13,732 रह गए हैं और ठीक होने वाले लोगों की संख्या बढ कर 2,43,686 हो गई है। ग्रामीण तेलंगाना में ई-क्लिनिक फ्रैंचाइज़ी खोलने की तैयारी; इस महामारी के दौरान जब डॉक्टर स्वयं दौरा नहीं कर सकेंगे तो ये क्लीनिक डॉक्टरों के परामर्श, नैदानिक परीक्षण और कुछ अन्य सुविधाएं प्रदान करेंगे।

 

पीआईबी द्वारा जांचे गए तथ्य

 

 

 

Image

 

*******

एमजी/एएम/डीवी/डीए



(Release ID: 1673855) Visitor Counter : 227