PIB Headquarters

कोविड-19 पर पीआईबी का दैनिक बुलेटिन

Posted On: 07 SEP 2020 6:20PM by PIB Delhi

Coat of arms of India PNG images free downloadhttp://164.100.117.97/WriteReadData/userfiles/image/image001G38R.jpg

 

· देश में कोविड-19 से ठीक होने वालों की संख्या में बढ़ोतरी जारी, देश में कोविड-19 से ठीक होने वालों की संख्या 32.5 लाख के पार

· कोरोना से ठीक होने की दर 77.31 प्रतिशत पर पहुंची

· कोविड संक्रमण के कुल मामलों में से 60 प्रतिशत अकेले पांच राज्यों में हैं। कुल सक्रिय मामलों के 62 प्रतिशत और कुल मरने वाले लोगों के 70 प्रतिशत मामले इन पांच राज्यों में है।

· स्वास्थ्य मंत्रालय ने पंजाब और चंडीगढ़ में कोविड-19 की रोकथाम, निगरानी, परीक्षण और कुशल नैदानिक उपचार के लिए सार्वजनिक स्वास्थ्य उपायों की समीक्षा में राज्यों/ केंद्र शासित प्रदेशों की सहायता के लिए केंद्रीय दल को भेजा

· उत्तरप्रदेश ने एकीकृत कोविड नियंत्रण और कमान तथा संयुक्त राज्य कोविड पोर्टल की शुरुआत की

· श्री थावरचंद गहलोत ने सातों दिन चौबीसों घंटे टोल-फ्री मानसिक स्‍वास्‍थ्‍य पुनर्वास हेल्पलाइन किरन- (1800-599-0019) की शुरुआत की

 

(पिछले 24 घंटों में जारी कोविड-19 से संबंधित प्रेस विज्ञप्तियां, पीआईबी के क्षेत्रीय कार्यालयों से मिली जानकारियां और पीआईबी द्वारा जांचे गए तथ्य शामिल हैं)

http://164.100.117.97/WriteReadData/userfiles/image/image005BZQK.jpg

http://164.100.117.97/WriteReadData/userfiles/image/image006KFFT.jpg

देश में कोविड-19 से ठीक होने वालों की संख्या में बढ़ोतरी जारी, आज यह आंकड़ा 32.5 लाख के पार, देश में कोविड के कुल मामलों, सक्रिय मामलों और इससे मरने वालों की कुल संख्या का क्रमश: 60, 62 और 70 प्रतिशत पांच राज्यों में

देश में कोविड से ठीक होने वालों की संख्या में निरंतर वृद्धि हो रही है और इसके साथ ही आज यह आंकड़ा 32.5 लाख को पार कर गया। पिछले 24 घंटों के दौरान 69,564 रोगियों को अस्पताल से छुट्टी दे दी गई जिसके परिणामस्वरूप ठीक होने वालों की संख्या 77.31 प्रतिशत पर पहुंच गई। कोविड से मरने वालों की दर भी घटते हुए आज 1.70 प्रतिशत पर आ गई। देश में कोविड संक्रमण के कुल मामलों में से 60 प्रतिशत अकेले पांच राज्यों में हैं। इनमें 21.6 प्रतिशत मामलों के साथ महाराष्ट्र शीर्ष पर है। इसके बाद (11.8%) के साथ आंध्र प्रदेश, (11.0%) के साथ तमिलनाडु, (9.5%) के साथ कर्नाटक और (6.3%) के साथ उत्तर प्रदेश क्रमश: दूसरे, तीसरे, चौथे और पांचवें स्थान पर है। देश में कोविड के सक्रिय मामलों का सबसे ज्यादा 26.76 प्रतिशत भी महाराष्ट्र में ही है इसके बाद (11.30%) के साथ आंध्र प्रदेश, (11.25%) के साथ कर्नाटक, (6.98%) के साथ उत्तर प्रदेश और (5.83%) के साथ तमिलनाडु का स्थान है। देश में कोविड के कुल सक्रिय मामलों का अकेले 62 प्रतिशत इन पांच राज्यों में है। देश में कोविड से ठीक होने वालों की कुल संख्या आज 32.5 लाख को पार कर (32,50,429) पर पहुंच गई। पिछले 24 घंटों में 11,915 लोगों के ठीक होने के साथ ही आंध्र प्रदेश में रिकवरी दर सबसे अधिक रही। इस दौरान कर्नाटक में 9575 और महाराष्ट्र में 7826 जबकि तमिलनाडु और उत्तर प्रदेश में क्रमश: 5820 और 4779 लोग ठीक हुए। इन 5 राज्यों ने पिछले 24 घंटों में देश में रिकवरी दर में 57 प्रतिशत का योगदान दिया।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-https://pib.gov.in/PressReleasePage.aspx?PRID=1651955

 

नए मामले, ठीक होने की दर (रिकवरी) और मौत पर राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों के आंकड़ें

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-https://pib.gov.in/PressReleasePage.aspx?PRID=1651936

 

स्वास्थ्य मंत्रालय ने पंजाब और चंडीगढ़ में 10 दिनों के लिए केंद्रीय दलों को भेजा, केंद्रीय दल कोविड-19 की रोकथाम, निगरानी, परीक्षण और कुशल नैदानिक उपचार के लिए सार्वजनिक स्वास्थ्य उपायों की समीक्षा में राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों की सहायता करेंगे

स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय ने पंजाब और केंद्र शासित प्रदेश चंडीगढ़ में केंद्रीय दलों को तैनात करने का फैसला किया है। स्वास्थ्य मंत्रालय का यह उच्च स्तरीय दल कोविड-19 बीमारी से होने वाली मौतों की दर को कम करने और लोगों की जान बचाने के उद्देश्य से कोविड बीमारी पर नियंत्रण, निगरानी, ​​परीक्षण और इसके मरीज़ों के कुशल नैदानिक ​उपचार के लिए सार्वजनिक स्वास्थ्य उपायों को मजबूत करने में पंजाब राज्य और केन्द्र शासित प्रदेश चंडीगढ़ की सहायता करेंगे। ये केंद्रीय दल कोरोना वायरस के संक्रमण का समय पर निदान (पहचान) करने और इसके बाद उपचार से संबंधित चुनौतियों का प्रभावी ढंग से समाधान करने में राज्य/केन्द्र शासित प्रदेश का मार्गदर्शन करेंगे। दो सदस्यीय दलों में पीजीआईएमईआर, चंडीगढ़ के एक सामुदायिक चिकित्सा विशेषज्ञ और एनसीडीसी के एक महामारी विशेषज्ञ शामिल होंगे। कोविड के प्रबंधन में गहन मार्गदर्शन प्रदान करने के लिए इन दलों को दस दिनों के लिए पंजाब राज्य और केंद्र शासित प्रदेश चंडीगढ़ में तैनात किया जाएगा। पंजाब में कुल 60,013 मामले दर्ज किए गए हैं, जबकि आज की तारीख में वहां 15,731 सक्रिय मामले हैं। पंजाब में अब तक 1739 मौतें दर्ज की गई हैं। राज्य में प्रति दस लाख की आबादी पर 37546 लोगों का परीक्षण किया जा रहा है (वर्तमान में भारत में प्रति दस लाख की आबादी पर परीक्षण का औसत आंकड़ा 34593.1 है)। राज्य में देश भर में कुल कोविड पॉजिटिविटी का लगभग 4.97% हिस्सा है जो कई राज्यों से कम है। केंद्र शासित प्रदेश चंडीगढ़ में कोविड-19 के कुल 2095 सक्रिय मामले हैं, जबकि वहां अब तक कुल 5268 मामले सामने आ चुके हैं। प्रदेश में प्रति दस लाख की आबादी पर 38054 लोगों का परीक्षण हो रहा है और अब तक देश भर के कुल पॉजिटिविटी का यहां 11.99% हिस्सा है।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-https://pib.gov.in/PressReleasePage.aspx?PRID=1651751

 

केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव उन 6 राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों के स्वास्थ्य सचिवों के संपर्क में हैं जहां कोविड मामलों और मृत्यु दर में उच्च वृद्धि देखी जा रही है

केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव ने पांच राज्यों और एक केंद्र शासित प्रदेश के स्वास्थ्य सचिवों के साथ उनके अधिकार क्षेत्र में आने वाले 35 जिलों में कोविड महामारी को काबू करने और उसके प्रबंधन पर वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से एक समीक्षा बैठक की। इन 35 जिलों में पश्चिम बंगाल के कोलकाता, हावड़ा, उत्तर 24 परगना और 24 दक्षिण परगना, महाराष्ट्र के पुणे, नागपुर, ठाणे, मुंबई, मुंबई उपनगरीय, कोल्हापुर, सांगली, नासिक, अहमदनगर, रायगढ़, जलगांव, सोलापुर, सतारा, पालघर, औरंगाबाद, धुले और नांदेड़, गुजरात के सूरत, पुदुचेरी के पांडिचेरी, झारखंड के पूर्वी सिंहभूम और दिल्ली के सभी 11 जिले शामिल हैं। बैठक में शामिल अधिकारियों को संबोधित करते हुए केंद्रीय सचिव ने सहरुग्ण लोगों और बुजुर्ग आबादी पर ध्यान केंद्रित कर कोविड के सक्रिय मामले की तलाश तेज करके, संक्रमित क्षेत्रों में इस पर रोकथाम के उपायों को मजबूत करके और इसकी पॉजिटिविटी रेट को 5% से कम पर लाकर इस संक्रामक रोग के संचरण की श्रृंखला को दबाने, नियंत्रित करने और अंततः तोड़ने की आवश्यकता पर जोर दिया। राज्य के स्वास्थ्य सचिवों ने इन जिलों में कोविड-19 की मौजूदा स्थिति पर एक विस्तृत विश्लेषण प्रस्तुत किया। उन्होंने अपने विश्लेषण में रोकथाम के उपायों, संक्रमित लोगों के संपर्क में आने वालों का पता लगाने, निगरानी गतिविधियों, सुविधा-वार मामलों में मृत्यु दर, साप्ताहिक स्तर पर सामने आने वाले नए मामलों और मौतों के संदर्भ में बीमारी के रुझान आदि पहलुओं को शामिल किया। उन्होंने अगले एक महीने के लिए विस्तृत कार्य योजनाओं पर भी चर्चा की। राज्य सचिवों ने केंद्र को जिले में कराए गए आरटी-पीसीआर और रैपिड एंटीजन परीक्षणों के संदर्भ में विवरण, एंटीजन परीक्षणों से रोगसूचक निगेटिविटी की पुन: परीक्षण प्रतिशतता, परीक्षण प्रयोगशाला उपयोग, अस्पताल में भर्ती की स्थिति और ऑक्सीजन-युक्त बेड, आईसीयू बेड और वेंटीलेटर आदि पर मरीज भर्ती की स्थिति के बारे में बताया।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-https://pib.gov.in/PressReleasePage.aspx?PRID=1651775

 

उत्तर प्रदेश ने एकीकृत कोविड नियंत्रण एवं कमान केंद्र बनाया और एक एकीकृत राज्य कोविड पोर्टल शुरू किया

उत्तर प्रदेश की सरकार ने कोविड के पॉजिटिव मामलों की बढ़ती संख्या से निपटने के लिए 18 जुलाई, 2020 को प्रदेश के सभी जिलों में एकीकृत कोविड नियंत्रण एवं कमान केंद्र (आईसीसीसीसी) और साथ ही सभी संबंधित विभागों के प्रतिनिधित्व के साथ राज्य मुख्यालय की स्थापना की है। ये केंद्र मुख्य रूप से गैर फार्मास्युटिकल हस्तक्षेपों (एनपीआई) के लिए प्रासंगिक विभागों के बीच प्रभावी समन्वय सुनिश्चित करने के लिए हैं। इन केंद्रों पर कोविड-19 रोगियों को जल्द ही इलाज के लिए उचित स्तर के समर्पित कोविड सुविधा केंद्रों तक पहुंचाने की सुविधा मिलती है। ये कमान केंद्र क्षेत्रीय इकाइयों के साथ मिलकर रोग-संबंधी लक्षण वाले मरीजों और उनके संपर्क में आए लोगों का शीघ्र परीक्षण, प्रयोगशाला की स्थिति की जानकारी, अस्पताल में भर्ती की स्थिति में परिवहन सुविधा प्रदान करना और घर में पृथकवास में रहकर इलाज करा रहे मरीजों की नियमित निगरानी सुनिश्चित करते हैं। उत्तर प्रदेश ने एक एकीकृत राज्य कोविड पोर्टल http://upcovid19tracks.in भी विकसित किया है जो कोविड रोगियों की निगरानी, ​​परीक्षण और उपचार से संबंधित सभी सूचनाएं एकत्रित करता है। जिला स्तर पर डेटा और डेटा प्रबंधन की गुणवत्ता सुनिश्चित करने के लिए नियमित प्रशिक्षण प्रदान किया जा रहा है। अपनी शुरूआत के बाद से यह पोर्टल बीमारी की अधिक समझ, और राज्य तथा जिला स्तर पर उपयोगकर्ताओं की ओर से हस्तक्षेप और प्रतिपुष्टि हासिल करने के साथ अपना विकास किया है। डिजिटल डेटा की उपलब्धता से त्वरित निर्णय लेने तथा प्रतिक्रिया के लिए विकेन्द्रीकृत और साथ ही बारीक विश्लेषण संभव हुआ है। इस पोर्टल ने भारत सरकार के पोर्टल के साथ पारस्परिकता के माध्यम से भी लाभ उठाया है। यूपी सरकार ने राज्य कोष से 1000 उच्च प्रवाह वाला नासिका संबंधी कैन्यूला (ट्यूब) (एचएफएनसी) भी खरीदे हैं। इनमें से 500 ट्यूब स्थापित किए गए हैं और राज्य में रोगियों के गैर-आक्रामक उपचार में उपयोग किए जा रहे हैं।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-https://pib.gov.in/PressReleasePage.aspx?PRID=1651833

देश को आत्मनिर्भर बनाने के क्रम में, भारत सरकार ने अगरबत्ती बनाने के लिए कारीगरों को दिए जाने वाले समर्थन का विस्तार किया

समग्र दृष्टिकोण अपनाते हुए और हितधारकों की रुचि को देखते हुए, सूक्ष्म लघु और मध्यम उद्यम मंत्रालय (एमएसएमई) ने अगरबत्ती बनाने में शामिल कारीगरों और अगरबत्ती उद्योग के लिए पहुंच और समर्थन का विस्तार किया है। इसके लिए मंत्रालय ने 4 सितंबर, 2020 को नए दिशानिर्देश जारी किए हैं। 4 सितंबर को घोषित कार्यक्रम के तहत, देश भर में 20 पायलट परियोजनाओं के माध्यम से 400 स्वचालित अगरबत्ती बनाने की मशीनें और अतिरिक्त 500 पेडल संचालित मशीनें 'स्वयं सहायता समूह (एसएचजी)' और व्यक्तियों को वितरित की जाएंगी और उनके लिए कच्चे माल की आपूर्ति और उचित विपणन सुविधा भी सुनिश्चित की जायेगी। इस कार्यक्रम से लगभग 1500 कारीगरों को तत्काल लाभ होगा, उन्हें स्थायी रोजगार मिलेगा और उनकी आय में वृद्धि होगी। कार्यक्रम के तहत हाथ से अगरबत्ती बनाने वाले कारीगरों और प्रवासी श्रमिकों को प्राथमिकता दी जाएगी। देश को इस क्षेत्र में आत्मनिर्भर बनाने के लिए, कार्यक्रम के कुल आकार को बढ़ाकर 55 करोड़ रुपये से अधिक का कर दिया गया है। लगभग 1500 कारीगरों को कुल 3.45 करोड़ रुपये का तत्काल समर्थन दिया जायेगा, 2.20 करोड़ रुपये की लागत से दो उत्कृष्टता केंद्र आईआईटी/एनआईटी व एफएफडीसी, कन्नौज में स्थापित किये जायेंगे और लगभग 50 करोड़ रुपये की लागत से 10 नए एसएफयूआरटीआई क्लस्टर का निर्माण किया जायेगा, जिससे  लगभग 5000 कारीगरों को लाभ मिलेगा।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-https://pib.gov.in/PressReleasePage.aspx?PRID=1651797

कोविड लॉकडाउन के कठिन समय के बावजूद बेहतर कारोबारी प्रदर्शन के साथ 2020-21 की पहली तिमाही में प्रधानमंत्री भारतीय जनऔषधि केन्द्रों ने कुल 146.59 करोड़ रूपए की बिक्री की जबकि 2019-20 की समान अवधि में यह आंकड़ा 75.48 करोड़ रुपए था

कोविड लॉकडाउन के कठिन समय के बावजूद ब्यूरो ऑफ फार्मा पीएसयूस ऑफ इंडिया (बीपीपीआई) के माध्यम से क्रियान्वित प्रधानमंत्री भारतीय जनऔषधि केन्द्रों के माध्यम से बेहतर कारोबारी प्रदर्शन के साथ 2020-21 की पहली तिमाही में 146.59 करोड़ रुपए की दवाएं बेची गईं जबकि वित्त वर्ष 2019-20 की समान अवधि में यह आंकड़ा 75.48 रुपये रहा था। इनकी 31 जुलाई 2020 तक कुल बिक्री 191.90 करोड़ रुपए रही। लॉकडाउन के दौरान भी जनऔषधि केंद्र आवश्यक दवाओं की निर्बाध उपलब्धता सुनिश्चित करने की अपनी प्रतिबद्धता के तहत पूरी तरह से काम करते रहे।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-https://pib.gov.in/PressReleasePage.aspx?PRID=1651835

श्री थावरचंद गहलोत ने सातों दिन चौबीसों घंटे टोल-फ्री मानसिक स्‍वास्‍थ्‍य पुनर्वास हेल्पलाइन किरन- (1800-599-0019) की शुरुआत की

केंद्रीय सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्री श्री थावरचंद गहलोत ने आज वर्चुअल मोड वेबकास्ट के माध्यम से सातों दिन चौबीसों घंटे टोल-फ्री मानसिक स्‍वास्‍थ्‍य पुनर्वास हेल्पलाइन किरन- (1800-599-0019) की शुरुआत की। यह हेल्‍पलाइन मानसिक रूप से बीमार व्‍यक्तियों को राहत और मदद उपलब्‍ध कराएगी। इस हेल्‍पलाइन को सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्रालय के दिव्‍यांगताग्रस्‍त व्‍यक्तियों के सशक्तिकरण विभाग ने विशेष रूप से कोविड-19 महामारी के कारण बढ़ती हुई मानसिक बीमारी की घटनाओं को ध्‍यान में रखते हुए शुरू किया है। श्री गहलोत ने इस हेल्पलाइन के बारे में पोस्टर, ब्रोशर और संसाधन पुस्तिका भी जारी की। इस अवसर पर संबोधित करते हुए कहा कि श्री थावरचंद गहलोत ने कहा कि किरन हेल्पलाइन जल्‍दी जांच, प्राथमिक चिकित्सा, मनोवैज्ञानिक सहायता, संकट प्रबंधन, मानसिक भलाई, सकारात्मक व्यवहार को बढ़ावा देने, मनोवैज्ञानिक संकट प्रबंधन आदि के उद्देश्य से मानसिक स्वास्थ्य पुनर्वास सेवाएं उपलब्‍ध कराएगी। इसका उद्देश्‍य तनाव, चिंता, अवसाद, समायोजन विकार, पोस्ट-ट्रोमेटिक तनाव विकार, नशीले पदार्थों का सेवन, आत्मघाती विचार, महामारी से प्रेरित मनोवैज्ञानिक मुद्दों और मानसिक स्वास्थ्य की आपात स्थितियों का अनुभव करने वाले व्‍यक्तियों की सेवा करना है। यह पूरे देश में व्‍यक्तियों, परिवारों, गैर सरकारी संगठनों, मूल संघों, व्यावसायिक संघों, पुनर्वास संस्थानों, अस्पतालों और किसी भी जरूरतमंद व्‍यक्ति को 13 भाषाओं में पहले चरण की सलाह, परामर्श और संदर्भ उपलब्‍ध कराने वाली जीवन रेखा के रूप में काम करेगी।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-https://pib.gov.in/PressReleasePage.aspx?PRID=1652037

 

पत्र सूचना कार्यालय के क्षेत्रीय कार्यालयों से मिली जानकारियां

चंडीगढ़: केंद्र शासित प्रदेश चंडीगढ़ के प्रशासक ने नागरिको, बाजार संघों, स्वंयसेवकों और पार्षदों से अपील की है कि वो लोगों को कोविड के शुरूआती लक्षण मिलने पर स्वास्थ्य सहायता के लिए प्रशासन से तुरंत संपर्क करने की सलाह दें। कोरोना रोगियों के उपचार के लिए पर्याप्त मात्रा में बेड, दवाइयां और सुविधाएं उपलब्ध हैं।

पंजाब: निर्धन लोगों द्वारा कोवि़ड की जांच के चलते एकांतवास में जाने और इस कारण अपनी आय पर होने वाले प्रभाव के डर को दूर करने के लिए मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने मुफ्त खाद्य पैकेज वितरित करने की घोषणा की है। निर्धन लोगों को इससे कोविड की जांच के लिए प्रोत्साहन मिलेगा। उन्होंने कहा कि अस्पतालों में बेड की कोई कमी नहीं है और पंजाब सरकार ने कोविड-19 से निपटने के लिए पहले से ही सभी आवश्यक प्रबंध किए हैं।

अरुणाचल प्रदेश : राज्य में कोविड-19 के 86 नए मामले सामने आए हैं। वर्तमान में राज्य में 1,520 पॉजिटिव मामले हैं।

असम : राज्य में कल 1,763 रोगियों को उपचार के बाद अस्पताल से छुट्टी दी गई। राज्य के स्वास्थ्य मंत्री ने ट्वीट कर बताया कि अब तक 96,823 रोगियों को अस्पताल से छुट्टी दी गई है और 28,273 सक्रिय मामले हैं।

मणिपुर : राज्य में कोविड-19 के कारण दो और लोगों की मृत्यु हुई है। मणिपुर में कोरोना संक्रमण के 139 नए मामले सामने आए हैं। राज्य में 72 प्रतिशत की रिकवरी दर के साथ 189 लोग स्वस्थ हुए है और 1,820 सक्रिय मामले हैं।

मेघालय : राज्य में 1,433 सक्रिय मामले हैं। इनमें सीमा सुरक्षा बल और सशस्त्र बलों से जुडे 314 मामले और 1,119 अन्य मामले हैं। मेघालय में 1,556 लोग उपचार के बाद स्वस्थ हुए हैं। 

मिजोरम : राज्य में कल कोरोना के 21 नए मामले सामने आए। राज्य में 1,114 कुल मामले और 382 सक्रिय मामले हैं।

नगालैंड : राज्य में कोरोना के 4,178 मामलो में से 1,786 सुरक्षा बलों से और 1,296 बाहर से लौटे लोगो के हैं। 773 लोग सरकारी एकांतवास में हैं। नए मामले सामने आने के बाद कोहिमा में कुछ और क्षेत्रों को सील कर दिया। इन क्षेत्रों में आफिसर हिल, पॉटरलेन, चंदमारी कालोनी, एसआईबी गेस्ट हाउस आदि शामिल हैं।

सिक्किम : राज्य में एक और व्यक्ति की कोरोना से मृत्यु होने के बाद अब तक 6 लोगों की मृत्यु हो चुकी है। सिक्किम में अब तक 1,380 लोगों को स्वस्थ होने के बाद अस्पताल से छुट्टी दी गई है। राज्य में कोविड-19 के 554 सक्रिय मामले है और 29 नए मामले सामने आए हैं।

केरल : अनलॉक-4 के तहत राज्य में मेट्रो सेवा फिर से शुरू हो गई है। इस बीच मुख्यमंत्री श्री पिनयारी विजयन ने वीडियो कॉफ्रेंसिग के द्वारा कोच्चि मेट्रो के पहले चरण के अंतिम खंड का उद्घाटन किया। केंद्रीय मंत्री श्री हरदीप सिंह पुरी ने उद्घाटन समारोह में अध्यक्षीय भाषण दिया। तिरुवनंतपुरम में एक स्वास्थ्य इंस्पेक्टर को महिला से छेड़खानी करने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। महिला ने एकांतवास अवधि समाप्त होने के बाद कोविड नेगेटिव प्रमाणपत्र के लिए आवेदन किया था। इस बीच अरनमूला में शनिवार रात एंबुलेंस के भीतर कोविड रोगी से छेड़खानी करने के आरोपी एंबुलेंस ड्राइवर को हिरासत में लेने के लिए पुलिस याचिका दाखिल करेगी। राज्य में कल 3,082 लोगों को कोरोना की पुष्टि हुई। राज्य में इस समय 22,676 लोग उपचार प्राप्त कर रहे हैं और विभिन्न जिलो में 2,00,296 लोग निगरानी में हैं। राज्य में अब तक 347 लोगों की मृत्यु हुई है।

तमिलनाडु : पुडुचेरी में बीते 24 घंटो में कोरोना के 292 नए मामले सामने आए और 11 लोगों की मृत्यु हुई। केंद्र शासित प्रदेश पुडुचेरी में अब तक 17316 लोग संक्रमण से प्रभावित हुए हैं। इनमें से 12135 को उपचार के बाद अस्पताल से छुट्टी दी गई है और 280 लोगों की मृत्यु हुई है। राज्य में अब 4865 सक्रिय मामले हैं। तमिलनाडु में अंतर-जिला बस और ट्रेन सेवा फिर से शुरू हो गई है। रेलवे स्टेशन और बस अड्डों में सुरक्षा के प्रबंध किए गए हैं। तमिलनाडु में रविवार को लॉकडाउन न होने पर लोग नियम तोड़कर बिना मॉस्क के सार्वजनिक स्थानों पर घूमते दिखाई दिए। 

कर्नाटक : बेंगलुरू में 150 दिनों के बाद मेट्रो सेवा की शुरुआत हुई, लेकिन व्यस्त समय के दौरान बेहद कम यात्री सफर करते नजर आए। पांच माह के कोरोना संकट के बाद राज्य में पर्यटन क्षेत्र में फिर से गतिविधियां प्रारंभ हुई है। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार वेतन में देरी होने से कई सरकारी कर्मचारी प्रभावित हुए हैं। एक अधिकारी के अनुसार वेतन में देरी कोई नया मामला नहीं है, लेकिन कोरोना महामारी के कारण यह ज्यादा गंभीर हो गया है। राज्य में रविवार को कोरोना के 9,319 नए मामले सामने आए। राज्य में अब कोरोना के 3.98 लाख पॉजिटिव मामले हैं।

आंध्रप्रदेश : राज्य सरकार ने सोमवार को केंद्र सरकार के नियमों के अनुरूप अनलॉक-4 के लिए दिशा-निर्देश जारी किए। आंध्रप्रदेश में 21 सितंबर से नौवी,दसवी और इंटरमीडियट कक्षाओं के लिए स्कूल खोलने के अनुमति दे दी गई है। राज्य सरकार ने इस संबंध में अभिभावकों की अनुमति अनिवार्य कर दी है। कौशल विकास केंद्रों को भी खोलने की अनुमति दे दी गई है। राज्य सरकार ने 21 सितंबर से सामाजिक,शैक्षिक,खेल,धार्मिक और राजनीतिक सभा में 100, विवाह में 50 और अंतिम संस्कार में 20 लोगों को अनुमति देने की सिफारिश की है। 21 सितंबर से ओपन एयर थियेटर को खोलने की अनुमति होगी, लेकिन सिनेमा हॉल, स्विमिंग पूल और इंटरटेनमेंट पार्क बंद रहेंगे। राज्य में लगातार तीसरे दिन बड़ी संख्या में लोगो के स्वस्थ होने के कारण सक्रिय मामले 1 लाख से कम रह गए हैं। राज्य में कोविड-19 के कुल मामले 5 लाख के करीब पहुंच गए हैं।

तेलंगाना : राज्य में बीते चौबीस घंटों में 1802 नए मामले सामने आए और 9 लोगों की मृत्यु हुई। 1802 मामलों में से 245 मामले जीएचएमसी में मिले। राज्य में अब कोरोना के 1,42,771 कुल मामले और 31,635 सक्रिय मामले हैं। राज्य में 897 लोगों की मृत्यु हुई है और 1,10,241 लोगों को अस्पताल से छुट्टी दी गई है। तेलंगाना में रविवार को 2,711 लोग उपचार के बाद स्वस्थ हुए। 77.2 प्रतिशत की रिकवरी दर के साथ अब तक 1,10,241 लोग स्वस्थ हो चुके हैं। कोविड-19 महामारी के चलते पांच माह बंद रहने के बाद मेट्रो सुरक्षा उपायों के साथ शुरू की गई।

महाराष्ट्र : राज्य में कोवि़ड-19 सक्रिय मामलों की संख्या लगातार बढ़ रही है। राज्य में बीते 7 दिनों में 126,523 मामले सामने आए और 2,205 लोगों की मृत्यु हुई। राज्य में अब 235,857 सक्रिय रोगी हैं। महाराष्ट्र मे कोरोना के कारण लोगों की मृत्यु रोकने के लिए स्वास्थ्य विभाग टेली-आईसीयू परियोजना के विस्तार पर विचार कर रहा है। टेली-आईसीयू में एक नाजुक देखभाल दल होता है जो ग्रामीण और दूर-दराज के अस्पतालों में रोगियों का उपचार कर रहे डाक्टरों को आईटी और संचार प्रौद्योगिकी सहायता से सलाह देता है। इसकी मदद से राज्य में स्वास्थ्य विशेषज्ञों की कमी को दूर कर गंभीर रोगियों को उपचार देकर मृत्यु दर में कमी आने की उम्मीद है।

गुजरात : मुख्यमंत्री विजय रुपानी ने आज लोगों की बीच जागरूकता बढ़ाने के लिए पांच कोविड विजय रथ रवाना किए। इस परियोजना को राज्य का स्वास्थ्य विभाग और गुजरात में सूचना और प्रसारण मंत्रालय की मीडिया इकाई,यूनिसेफ के गठबंधन के साथ क्रियान्यवित कर रही है। राज्य में अब 16,475 सक्रिय मामले हैं।

राजस्थान : राज्य में शहरी क्षेत्रों सहित सभी धार्मिक स्थान आज फिर से खुल गए। श्रद्धालुओं को फुल, फल और मिठाई लाने की अनुमति नहीं होगी। इसके साथ ही सुरक्षित दूरी रखने और मॉस्क पहनना अनिवार्य होगा। राजस्थान में कोरोना के 14,958 सक्रिय मामले हैं।

मध्यप्रदेश : कोवि़ड- 19 रोगियों के बीच निराशा और आत्महत्या की प्रवृत्ति पर रोकथाम के लिए अपनी तरह के पहले अनूठे कार्यक्रम में जबलपुर स्थित नेताजी सुभाष चंद्र बोस मेडिकल कालेज और अस्पताल ने परिवार के साथ़ सीधे बातचीत का प्रबंध किया है। यह प्रयोग अस्पताल में दो कोरोना पॉजिटिव रोगियों के खुदकुशी करने की घटना होने के बाद शुरू किया गया है। डीन डॉ. पी के कासर ने बताया कि बातचीत के दौरान एक शीशे का प्रयोग किया जाता है ,जिसके एक ओर रोगी और दूसरी तरफ परिवार के सदस्य मौजूद रहते हैं। अब तक 10 रोगी अपने परिवार से बातचीत कर चुके हैं। वर्तमान में इस अस्पताल में 260 लोगों का उपचार चल रहा है।

http://164.100.117.97/WriteReadData/userfiles/image/image00720SL.jpg

http://164.100.117.97/WriteReadData/userfiles/image/image008CZWV.jpg

http://164.100.117.97/WriteReadData/userfiles/image/image009Q1CS.jpg

***

 एमजी/एएम/एजे/एसएस



(Release ID: 1652208) Visitor Counter : 29