PIB Headquarters

कोविड-19 पर पीआईबी का दैनिक बुलेटिन

Posted On: 11 JUL 2020 6:28PM by PIB Delhi

 (पिछले 24 घंटे में जारी कोविड-19 से संबंधित प्रेस विज्ञप्तियां, पीआईबी के क्षेत्रीय कार्यालयों से मिली जानकारियां और पीआईबी द्वारा जांचे गए तथ्य शामिल हैं)

  •  प्रधानमंत्री ने आज देश में कोविड-19 महामारी की स्थिति की समीक्षा की।
  • पिछले 24 घंटों में 19.870 लोगों के ठीक होने के साथ कोविड-19 से ठीक हुए लोगों की संख्या 5,15,385 हो गई।
  • कोविड-19 से ठीक हुए लोगों की संख्या, सक्रिय मामलों की संख्या से 2,31,978 अधिक हुई। रोगियों के ठीक होने (रिकवरी) की दर 62.78 प्रतिशत हुई।
  • सक्रिय मामलों की संख्या 2,83,407 है।
  • कोविड-19 के मध्यम से गंभीर रोगियों के लिए इटोलिज़ुमाब के सीमित आपातकालीन उपयोग को अनुमति मिली।
  • टीआईएफएसी ने मेक इन इंडिया के लिए विशिष्ट हस्तक्षेपः कोविड-19 के बाद नामक श्वेत पत्र जारी किया।

स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय से कोविड-19 पर प्राप्त अपडेट: ठीक हुए लोगों की संख्या 5 लाख से अधिक हुई; सक्रिय मामलों से 2.31 लाख अधिक का अंतर; ठीक होने (रिकवरी) की दर लगभग 63 प्रतिशत हुई

आज कोविड-19 के रोगियों के ठीक होने की संख्या 5 लाख से अधिक हो गई। अब तक कोविड-19 के 5,15,385 रोगी ठीक हो चुके हैं और उन्हें डिस्चार्ज किया जा चुका है। कोविड-19 से ठीक हुए लोगों की संख्या, सक्रिय मामलों की संख्या से 2,31,978 अधिक हुई। इस बढ़ते हुए सकारात्मक अंतर के साथ, ठीक होने की दर बढ़कर 62.78 प्रतिशत तक हो गई। पिछले 24 घंटों के दौरान, कोविड-19 के 19,870 मरीज ठीक हो चुके हैं और उन्हें डिस्चार्ज किया जा चुका है। वर्तमान में कुल 2,83,407 सक्रिय मामले हैं और सभी गंभीर मामलों को केंद्र अथवा राज्य सरकार के अस्पतालों में चिकित्सा निगरानी में रखा गया है जबकि लक्षण दिखाई देने के स्तर से पहले वाले रोगियों और मध्यम लक्षण वाले रोगियों को होम आइसोलेशन में रखा गया है। देश में आईसीएमआर के डायग्नोस्टिक नेटवर्क के अंतर्गत, सार्वजनिक और निजी क्षेत्र की 1,180 प्रयोगशालाओं के माध्यम से अब तक 1,13,07,002 नमूनों की जांच की जा चुकी है।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-     

प्रधानमंत्री ने कोविड-19 महामारी से संबंधित तैयारियों पर समीक्षा बैठक की अध्यक्षता की

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने आज देश में कोविड-19 महामारी की स्थिति की समीक्षा की। इस समीक्षा बैठक में अन्य लोगों के अतिरिक्त, केंद्रीय गृह मंत्री श्री अमित शाह, केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डॉ. हर्षवर्धन, नीति आयोग के सदस्य, कैबिनेट सचिव एवं भारत सरकार के अन्य वरिष्ठ अधिकारियों ने भाग लिया। प्रधानमंत्री ने निर्देश दिया कि हमें निश्चित रूप से व्यक्तिगत स्वच्छता तथा सार्वजनिक स्थानों पर सामाजिक अनुशासन का पालन करने की आवश्यकता को दोहराना चाहिए। कोविड के बारे में जागरूकता का व्यापक रूप से प्रचार किया जाना चाहिए और संक्रमण के फैलाव को रोकने पर निरंतर जोर दिया जाना चाहिए। प्रधानमंत्री ने यह भी निर्देश दिया कि सभी प्रभावित राज्यों और उच्च टेस्ट पॉजिटिविटी रेट वाले स्थानों को वास्तविक समय राष्ट्रीय स्तर निगरानी तथा मार्गदर्शन उपलब्ध कराया जाना चाहिए।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-

डीसीजीआई ने कोविड-19 के मध्यम से गंभीर रोगियों के लिए इटोलिज़ुमाब के सीमित आपातकालीन उपयोग को मंजूरी दी

इटोलिज़ुमाब (आरडीएनए मूल) एक मोनोक्लोनल एंटीबॉडी है जिसे पहले से ही गंभीर पुरानी प्लेक सोरायसिस में उपयोग के लिए मंजूरी मिली हुई है। अब ड्रग्स कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया (डीसीजीआई) ने क्लीनिकल ट्रायल डेटा के आधार पर इस इटोलिज़ुमाब के सीमित आपातकालीन उपयोग के लिए मंजूरी दी है। मेसर्स बायोकॉन अल्ज़ुमाब ब्रांड नाम से मध्यम से गंभीर पुरानी प्लेक सोरायसिस के रोगियों के उपचार के लिए इस दवा का निर्माण और विपणन कर रही है। इस स्वदेशी दवा को अब कोविड-19 के लिए पुनर्निर्मित किया गया है। मेसर्स बायोकॉन ने कोविड-19 के रोगियों में उत्पन्न द्वितीय चरण नैदानिक परीक्षण के परिणाम डीसीजीआई के समक्ष प्रस्तुत किए हैं। डीसीजीआई ने कोविड-19 की वजह से मध्यस से गंभीर तीव्र श्वसन पीड़ा लक्षण (एआरडीएस) वाले रोगियों में साइटोकिन रिलीज सिंड्रोम (सीआरएस) के उपचार के लिए कुछ शर्तों जैसे रोगियों की सूचित सहमति, एक जोखिम प्रबंधन योजना, केवल अस्पताल में उपयोग किया जाना आदि, के अधीन दवा के सीमित आपातकालीन उपयोग के तहत दवा का विपणन करने की अनुमति देने का फैसला किया है।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-

कोविड-19 के लिए नैदानिक प्रबंधन कार्यनीति के लिए देखभाल का मानक

कोविड-19 के उपचार की पद्धति काफी हद तक स्पर्शोन्मुख और सहायक देखभाल पर आधारित है, क्योंकि अभी तक इसका कोई इलाज नहीं है। शरीर में जल की आवश्यक मात्रा को बनाए रखना भी जरूरी है। लक्षणों की गंभीरता के आधार पर कोविड-19 को हल्का, मध्यम और गंभीर जैसे 3 समूहों में वर्गीकृत किया जा सकता है। 10 जुलाई 2020 को राज्यों के साथ एक वीडियो कॉन्फ्रेंस और ‘राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों के उत्कृष्टता केंद्रों द्वारा कोविड मामले का उपचार’ विषय पर एक वर्चुअल बैठक में आईसीएमआर और अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स), नई दिल्ली ने इस बात पर जोर दिया कि इलाज के अभाव में स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय (एमओएचएफडब्ल्यू) के नैदानिक प्रबंधन प्रोटोकॉल में वर्णित हल्के, मध्यम और गंभीर मामलों के लिए देखभाल उपचार का मानक सबसे प्रभावी होगा। सभी 'जांच चिकित्सा' केवल उचित स्वास्थ्य देखभाल सुविधाओं से युक्त अस्पतालों में ही की जानी चाहिए जहां रोगियों पर नजदीकी निगरानी रखना संभव है ताकि किसी भी संभावित जटिलताओं को दूर किया जा सके।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-

खरीफ फसलों के अंतर्गत बीते साल की तुलना में ढाई गुना हुआ दालों का बुआई क्षेत्र; तिलहन के रकबे में भी हुई खासी बढ़ोत्तरी; चावल, मोटे अनाज और कपास का बुआई क्षेत्र भी बढ़ा

कृषि, सहकारिता एवं किसान कल्याण विभाग, भारत सरकार ने कोविड-19 महामारी के दौरान किसान और कृषि गतिविधियों को सहूलियत देने के लिए कई कदम उठा रहा है। खरीफ फसलों के अंतर्गत बुआई के कवरेज क्षेत्र में संतोषजनक प्रगति रही है।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-

डॉ. हर्षवर्धन ने टीआईएफएसी के श्वेत पत्र मेक इन इंडिया के लिए विशिष्ट हस्तक्षेप: कोविड19 के बादजारी किया

केंद्रीय विज्ञान और प्रौद्योगिकी, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण और पृथ्वी विज्ञान मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने प्रौद्योगिकी सूचना, पूर्वानुमान और मूल्यांकन परिषद (टीआईएफएसी) द्वारा तैयार किए गए “मेक इन इंडिया के लिए विशिष्ट हस्तक्षेप: कोविड–19 के बाद” और "सक्रिय दवा सामग्री: स्थिति, मुद्दे, प्रौद्योगिकी तैयारी तथा चुनौतियां" पर श्वेत पत्र जारी किए। इस श्वेत पत्र में क्षेत्र-विशेष की ताकत, बाजार के रुझान और पांच क्षेत्रों में उपलब्ध अवसरों के बारे में बताया गया है। देश के लिए महत्वपूर्ण इन पांच क्षेत्रों में शामिल हैं- स्वास्थ्य देखभाल, मशीनरी, आईसीटी, कृषि, विनिर्माण और इलेक्ट्रॉनिक्स। इन क्षेत्रों के सम्बन्ध में आपूर्ति और मांग, आत्मनिर्भरता और बड़े पैमाने पर उत्पादन क्षमता के बारे में जानकारी दी गयी है। पत्र में मुख्य रूप से सार्वजनिक स्वास्थ्य प्रणाली, एमएसएमई क्षेत्र, वैश्विक संबंध: एफडीआई, पुनर्गठित व्यापार संतुलन, नए-युग की प्रौद्योगिकियों आदि क्षेत्रों में नीति विकल्पों की पहचान की गयी है। भारत को 'आत्मनिर्भर' बनाने के उद्देश्य से तत्काल प्रौद्योगिकी और नीतिगत प्रोत्साहन देने के लिए इन सिफारिशों को तैयार किया गया है, पत्र में विभिन्न क्षेत्रों के उत्पादन के बीच संबंधों और एक-दूसरे पर निर्भर होने के आधार पर, विभिन्न क्षेत्रों के लिए उत्पादन और आय में गुणात्मक वृद्धि को प्रस्तुत किया गया है।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-

उपराष्ट्रपति ने हरित और प्रकृति सम्मत स्थापत्य शैली विकसित करने का आग्रह किया

उपराष्ट्रपति श्री एम. वेंकैया नायडू ने आज देश के आर्किटेक्ट्स से आग्रह किया कि वे स्थापत्य में हरित डिजाइन को अपनाएं और प्रोत्साहित करें। उन्होंने कहा कि भविष्य में बनने वाले भवनों में सौर ऊर्जा जैसे अक्षय ऊर्जा स्रोतों को अपनाया जाना चाहिए। कोविड-19 महामारी के कारण जन सामान्य के स्वास्थ्य और जीविका पर पड़े प्रभावों की चर्चा करते हुए श्री नायडू ने कहा कि निर्माण क्षेत्र में साइट के कामों के ठप्प होने से यह क्षेत्र काफी प्रभावित हुआ और इस संदर्भ में उन्होंने डिजाइनरों और आर्किटेक्ट्स से इस महामारी से पैदा हुई चुनौतियों का कारगर समाधान खोजने की अपील की। उन्होंने महामारी और उसके बाद उसके असर से निपटने के लिए, आर्किटेक्ट्स से नए तरीकों और योजनाओं पर नए सिरे से विचार करने को कहा।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-

कोविड-19 का मुकाबला करने के लिए, आरसीएफ ने एक नया उत्पाद पेश किया: आइसो प्रोपाइल अल्कोहल (आईपीए) आधारित हैंड क्लींजिंग जैल

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-

पीआईबी के क्षेत्रीय कार्यालयों से मिली जानकारियां

पंजाब: पंजाब सरकार ने बारहवीं कक्षा, ओपन स्कूल और फिर से परीक्षा देने वाले और गोल्डन चांस के छात्रों सहित कई अन्य श्रेणियों की लंबित परीक्षाओं को रद्द करने का फैसला किया है। यह फैसला कोविड -19 महामारी को देखते हुए लिया गया है। अब परिणाम सबसे अच्छा प्रदर्शन करने वाले विषयों के आधार पर घोषित किया जाएगा क्योंकि कुछ विषयों की परीक्षाएं पंजाब स्कूल शिक्षा बोर्ड (पीएसईबी) द्वारा महामारी से पहले ही ले ली गई थी।   

हरियाणा: एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि कोविड-19 महामारी के कारण जो गतिविधियां बाधित हुई थीं, अब धीरे-धीरे पटरी पर वापस आ रही हैं। कोविड-19 से निपटने के लिए राज्य सरकार द्वारा कई कदम उठाए गए हैं। अनलॉक-2 के दौरान, सभी गतिविधियों में तेजी आयी है। उन्होंने कहा कि कोविड-19 महामारी के दौरान राज्य सरकार द्वारा अब तक लगभग 3,000 करोड़ रुपये खर्च किए गए हैं।

केरल: बीमारी की रोकथाम गतिविधियों को मजबूत करने के लिए राजस्व, पुलिस और स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को शामिल करते हुए, कोविड-19 महामारी के स्थानीय प्रसार के नए उपकेंद्र, पूनतुरा में एक त्वरित प्रतिक्रिया टीम का गठन किया गया है। आईएमए ने दोहराया है कि राज्य में कोविड -19 सामुदायिक संचरण की स्थिति है और बिना लक्षण वाले कोविड रोगियों की संख्या में वृद्धि एक चिंता का विषय है। इस बीच, एर्नाकुलम के एक निवासी की शुक्रवार को हृदय गति रुकने से मृत्यु हो गई, उनकी कोविड-19 रिपोर्ट पॉजिटिव आयी है। चेरतला तालुक अस्पताल में एक स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉक्टर सहित आठ व्यक्तियों की रिपोर्ट पॉजिटिव आयी है। राज्य में कल कोविड-19 के 416 नए पॉजिटिव मामलों की पुष्टि की गई, जिनमें से 204 स्थानीय संचरण की वजह से थे। विभिन्न जिलों में 1,84,112 लोग निगरानी में हैं।

तमिलनाडु: 64 ताजा मामलों के साथ पुडुचेरी में कोविड-19 मरीजों की संख्या 1337 हो गयी है। एक और मौत की सूचना मिलने से अब तक कुल 18 लोगों की मौत इस महामारी से हुई है। तमिलनाडु के मुख्यमंत्री ने केंद्र से राज्यों को छात्रों के लिए मूल्यांकन के तरीकों पर छूट देने को कहा है क्योंकि डिजिटल पहुंच की समस्या के कारण ऑनलाइन परीक्षा आयोजित करना संभव नहीं है। मुख्यमंत्री ने केंद्र से आग्रह किया कि ईरान से शेष 40 मछुआरों को वापस लाया जाए, जो जहाज में जगह की कमी के कारण नहीं आ पाए हैं, जबकि  681 अन्य मछुआरे घर पहुंच चुके हैं। कल 3680 नए मामले आये, 4163 मरीज़ ठीक हुए और 64 मरीजों की मौत हुई। कुल मामले: 1,30,261, सक्रिय मामले: 46,105 मौतें: 1829. चेन्नई में सक्रिय मामले: 18,616।

कर्नाटक: बैंगलोर में कोविड-19 मामलों की तेज वृद्धि को देखते हुए, राज्य सरकार ने आज से शहर में तेजी से एंटीजन परीक्षण शुरू कर दिए हैं, जो 30 मिनट में परिणाम देगा। इसके कारण परीक्षण में तेजी आने की उम्मीद है। उच्च न्यायालय ने कहा कि राज्य सरकार को कोविड रोगियों के लिए बिस्तर की उपलब्धता पर एक वास्तविक समय डिजिटल सूचना प्रणाली स्थापित करने की आवश्यकता है। राजस्व मंत्री ने कहा कि सप्ताह के अंत में लॉकडाउन को लागू करने की कोई आवश्यकता नहीं है और विशेषज्ञों के साथ परामर्श के बाद सरकार इस सम्बन्ध में निर्णय लेगी। इस बीच राज्य में महामारी से मरने वालों की कुल संख्या 500 का आंकड़ा पार कर गई। कल 2313 नए मामले, 1003 ठीक हुए और 57 मौतें दर्ज की गईं। कुल पॉजिटिव मामले: 33,418 सक्रिय मामले: 19,035 मौतें: 543।

आंध्र प्रदेश: राज्य ने सभी 13 जिलों में कुल 45,240 बिस्तरों की क्षमता के साथ 76 कोविड देखभाल केंद्रों की पहचान की है। इसके तहत प्रत्येक जिले में कम से कम 3,000 बेड की उपलब्धता सुनिश्चित की गयी है ताकि बिना लक्षण वाले एवं अगंभीर मामलों की देखभाल की जा सके। अस्पताल परिसर में विशेष रूप से शौचालय की सुविधा में सुधार तथा चिकित्सा उपकरण, जैसे मोबाइल एक्स-रे, ईसीजी और अन्य लैब उपकरणों की व्यवस्था के लिए एक करोड़ रुपये मंजूर किए गए हैं ताकि रोगियों की बेहतर व निरंतर निगरानी की जा सके। नेल्लोर डीसी ने आरडब्ल्यूओ को विशेष अधिकारी के रूप में नियुक्त किया, जो कोविड  -19 के तीन शवों को अमानवीय तरीके से दफनाने के लिए अर्थमूवर का उपयोग करने के मामले की जांच करेंगे। कल 1608 नए मामले आये और 15 मौतें हुईं। कुल मामले: 25,422 सक्रिय मामले: 11,936 मौतें: 292।

तेलंगाना: राज्य सरकार ने कोविड-19 प्रबंधन की निगरानी के लिए एक 11 सदस्यीय चिकित्सा दल की नियुक्ति की। शीर्ष डॉक्टरों की एक नई टीम चिकित्सा शिक्षा निदेशक की देख-रेख में काम करेगी और नियमित रिपोर्ट प्रस्तुत करेगी। कल तक रिपोर्ट किए गए कुल मामले: 32,224, सक्रिय मामले: 12,680 मौतें: 339, ठीक हुए: 19,205।

असम: लॉकडाउन के कारण कमजोर वर्गों द्वारा सामना की जाने वाली कठिनाइयों को देखते हुए, असम के मुख्यमंत्री श्री सर्बानंद सोनोवाल ने मुख्य सचिव को समाज के निराश्रित, दैनिक वेतन भोगी और गरीब वर्गों को भोजन उपलब्ध कराने का निर्देश दिया है।

मणिपुर: थांगलकीथेल, मणिपुर में अंतर के साथ दुकानें खोलने के लिए दिशा-निर्देश जारी किए गए।

मेघालय: आज मेघालय में 76 और व्यक्तियों की कोविड-19 रिपोर्ट पॉजिटिव आयी है। राज्य में कुल सक्रिय मामले 215 हैं जबकि 45 अब तक ठीक हो चुके हैं।

मिजोरम: आज मिजोरम में सात कोविड-19 रोगियों को छुट्टी दे दी गई। राज्य में कुल सक्रिय मामले 76 हैं जबकि 150 मरीज़ अब तक ठीक हो चुके हैं।

नगालैंड: नगालैंड में कोविड -19 पर उच्चाधिकार प्राप्त समिति ने स्वास्थ्य विभाग को राज्य भर में स्वास्थ्य देखभाल प्रणाली को मजबूत करने के लिए अतिरिक्त डॉक्टरों और नर्सों की भर्ती की प्रक्रिया तेज करने का निर्देश दिया।

सिक्किम: एसटीएनएम हॉस्पिटल के विभागाध्यक्ष (मेडिसिन), ने सूचित किया है कि सबसे बुजुर्ग रोगी (65 वर्ष) और सबसे कम उम्र के रोगी (2 वर्ष) का नामित कोविड-19 अस्पताल, एसटीएनएम हॉस्पिटल में सफलतापूर्वक इलाज किया गया।

महाराष्ट्र: महाराष्ट्र में 7,862 नए रोगियों की पहचान की गई है, जिससे महाराष्ट्र में कोविड- 19 मामलों की कुल संख्या 2,38,461 हो गयी है। राज्य में ठीक होने वाले मरीजों की कुल संख्या 1,32,625 है। नवीनतम अपडेट के अनुसार, 95,647 सक्रिय रोगी हैं। मुंबई में रिपोर्ट किए गए मामलों की संख्या में स्थिरता आयी है, लेकिन पुणे, ठाणे, कल्याण और मीरा-भायंदर जैसे शहरों में कोविड-19 रोगियों की संख्या में लगातार वृद्धि देखी जा रही है।

गुजरात: गुजरात में, कोविड-19 मरीजों की संख्या 40 हजार का आंकड़ा पार कर कुल 40,155 हो गई है। पिछले 24 घंटों में 875 नए मामलों का पता चला है। 14 मरीजों की मौत के साथ राज्य में कोविड -19 के कारण कुल 2,024 लोगों की मौत हुई है। सूरत शहर से सबसे ज्यादा 202 नए मामले सामने आए जबकि अहमदाबाद में 165 नए मामले सामने आए हैं।

राजस्थान: राज्य में कोविड -19 मरीजों की कुल संख्या 23,344 हो गयी है। आज सुबह तक, 170 नए रोगियों की रिपोर्ट पॉजिटिव आयी है और 2 मौतें हुई हैं। अलवर जिले में आज 40, जयपुर में 33 और उदयपुर में 31 नए मामले दर्ज किए गए। वर्तमान में 5211 सक्रिय मामले हैं। राज्य में ठीक होने वाले मरीजों की संख्या 17,634 हो गई है और कुल 499 लोगों की मौत हुई है।

मध्य प्रदेश: 316 नए पॉजिटिव मरीजों की रिपोर्ट के साथ, मध्य प्रदेश में कोविड-19 मामलों की कुल संख्या 16,657 हो गयी है। ग्वालियर में सबसे अधिक 60 मामले सामने आए, उसके बाद भोपाल में 57 और इंदौर में 44 मामले दर्ज किए गए। हालांकि, राज्य में सक्रिय मामलों की संख्या वर्तमान में 3538 है, जबकि ठीक होने वालों की संख्या 12,481 है। इस बीच, राज्य सरकार के 'किल कोरोना अभियान' के तहत राज्य की 66% आबादी का सर्वेक्षण कार्य पूरा हो गया है।

छत्तीसगढ़: शुक्रवार को 166 कोविड -19 पॉजिटिव मरीजों की पहचान की गई है और इसके साथ कोरोनावायरस पॉजिटिव मरीजों की कुल संख्या 3,832 हो गयी है। रायपुर और बलौदाबाजार- दोनों जिलों ने एक ही दिन अधिकतम 34 नए मरीज़ आये। सक्रिय मामलों की संख्या 787 है।

गोवा: शुक्रवार को 100 व्यक्तियों की कोविड -19 की रिपोर्ट पॉजिटिव आयी है और इसके साथ राज्य में कोरोना वायरस पॉजिटिव मरीजों की कुल संख्या 2,251 हो गयी है। ठीक होने वाले मरीजों की कुल संख्या 1347 है और सक्रिय मामलों की संख्या 895 है।

पीआईबी द्वारा जांचे गए तथ्य

Image

***

एसजी/एएम/एसके/जेके



(Release ID: 1638104) Visitor Counter : 81