PIB Headquarters

कोविड-19 पर पीआईबी का दैनिक बुलेटिन

Posted On: 21 MAY 2020 6:32PM by PIB Delhi

(बीते 24 घंटे में जारी कोविड-19 से संबंधित प्रेस विज्ञप्तियां, पीआईबी फील्ड कार्यालयों से जानकारी और पीआईबी द्वारा की गई तथ्यों की पड़ताल शामिल)

 

  • 45,299 लोग अबतक कोविड-19 से ठीक हो गए है, जिससे देश का रिकवरी रेट 40.32% पहुंच गया है।
  • लॉकडाउन की अवधि का इस्तेमाल स्वास्थ्य के बुनियादी ढांचे को मजबूत करने में किया गया है।
  • 1 जून से शुरू हो रही ट्रेन सेवाओं के लिए दिशानिर्देश जारी कर दिए गए हैं।
  • घरेलू हवाई यात्रा की सुविधा के लिए गृह मंत्रालय ने लॉकडाउन दिशानिर्देश में संशोधन किया है।
  • डीओपीटी ने गर्भवती महिला कर्मचारियों और दिव्यांगजनों को कार्यालय आने से छूट दे दी है।
  • पीएमजीकेपी के तहत अब तक 6.8 करोड़ पीएमयूवाई लाभार्थियों को मुफ्त में एलपीजी सिलेंडर दिए जा चुके हैं।

 

स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय से कोविड-19 पर अपडेट्स

कोविड-19 के अब तक कुल 45,299 रोगी ठीक हो चुके हैं। पिछले 24 घंटे में कोविड-19 के कुल 3,002 मरीज ठीक हुए हैं। कोविड-19 के रोगियों के स्वास्थ्य लाभ प्राप्त करने की दर में लगातार बढ़ोतरी हो रही है जो अभी 40.32 प्रतिशत पर पहुंच गई है। भारत में अभी कुल 63,624 सक्रिय मामले हैं। कोविड-19 के सभी सक्रिय मामलों में से सिर्फ लगभग 2.94 प्रतिशत रोगी ही आईसीयू में भर्ती हैं। भारत में कोविड-19 रोगियों की मृत्यु दर 3.06 प्रतिशतहै जो वैश्विक मृत्यु दर 6.65 प्रतिशत की तुलना में काफी कम है। कोविड-19 से हुई मौतों का विश्लेषण बताता है कि मरने वालों में 64 प्रतिशत पुरुष और 36 प्रतिशत महिलाएं हैं। उम्र के हिसाब से इसका आकलन बताता है कि 15 साल से कम उम्र समूह में 0.5 प्रतिशत, 15 से 30 वर्ष के उम्र समूह में 2.5 प्रतिशत, 30 से 45 वर्ष के उम्र समूह में 11.4 प्रतिशत, 45 से 60 वर्ष के उम्र समूह में 35.1 प्रतिशत और 60 साल से अधिक उम्र के लोगों में 50.5 प्रतिशत मौतें हुईं। मरने वाले 73 प्रतिशत लोग पहले से ही किसी न किसी बीमारी से ग्रस्त थे।

 

विस्तार से यहां पढ़ें: https://pib.gov.in/PressReleseDetail.aspx?PRID=1625834

 

कोविड-19 अपडेट्स-II

लॉकडाउन की अवधि का उपयोग देश में स्वास्थ्य से जुड़े बुनियादी ढांचे को मजबूत करने में किया गया। 21 मई 2020 तक कुल 26,15,920 नमूनों की जांच हो चुकी है और पिछले 24 घंटों में 555 प्रयोगशालाओं (391 सरकारी और 164 निजी प्रयोगशालाएं शामिल) के जरिए 1,03,532 नमूनों की जांच की गई। आईसीएमआर समुदाय आधारित सेरो-सर्वेक्षण कर रहा है, जिससे भारत की आबादी में कोरोना वायरस संक्रमण के प्रसार का आकलन किया जा सके। केंद्र और राज्य सरकारों के सामूहिक प्रयासों से 650930 कोविड देखभाल केंद्रों के साथ 3027 कोविड अस्पतालों और कोविड स्वास्थ्य केंद्र बनाए गए हैं। इसके अतिरिक्त समर्पित कोविड अस्पतालों और कोविड स्वास्थ्य केंद्रों में 2.81 लाख से ज्यादा आइसोलेशन बेड, 31,250 लाख से ज्यादा आईसीयू बेड और ऑक्सीजन की सुविधा के साथ 1,09,888 बेड पहले से ही चिन्हित किए जा चुके हैं। इसके साथ ही भारत सरकार ने 65 लाख पीपीई और 101.07 लाख एन 95 मास्क की आपूर्ति राज्यों को की है। घरेलू उत्पादक प्रतिदिन करीब 3 लाख पीपीई और 3 लाख एन 95 मास्क बना रहे हैं जबकि पहले देश में इनका उत्पादन नहीं होता था।

 

यहां भी पढ़ें: https://pib.gov.in/PressReleseDetail.aspx?PRID=1625819

 

आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के अंतर्गत 1 करोड़ लोगों का उपचार किया गया

भारत सरकार की प्रमुख स्वास्थ्य बीमा योजना आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना (एबी-पीएमजेएवाई) ने आज 1 करोड़ उपचार का आंकड़ा हासिल कर लिया। इस उपलब्धि के अवसर पर केन्द्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डॉ. हर्ष वर्धन ने वेबिनार की एक श्रृंखला 'आरोग्य धारा' के पहले संस्करण का शुभारंभ किया, जो सार्वजनिक स्वास्थ्य से जुड़े सामयिक मुद्दों पर विचार-विमर्श के लिए एक मुक्त मंच की भूमिका निभाएगा। केन्द्रीय मंत्री ने उन सभी राज्यों को शुभकामनाएं दीं और आभार प्रकट किया, जिन्होंने कोविड-19 के इस अप्रत्याशित दौर में योजना का लाभ देने के वादे को पूरा किया है। उन्होंने कहा, "भारत सरकार आयुष्मान भारत पीएमजेएवाई के सभी 53 करोड़ लाभार्थियों को मुफ्त कोविड-19 जांच और उपचार उपलब्ध कराने की दिशा में लगातार प्रयास कर रही है, जिससे भारत सरकार के सभी को स्वास्थ्य कवरेज के संकल्प, संभावना और क्षमताओं को मजबूती मिलेगी। प्रत्येक स्वास्थ्यकर्मी और सभी पैनलबद्ध अस्पतालों के ठोस प्रयासों से 1 करोड़ का आंकड़ा हासिल करने में सहायता मिली है।"

 

विस्तार से यहां पढ़ें: https://pib.gov.in/PressReleseDetail.aspx?PRID=1625891

 

1 जून 2020 से शुरू हो रही ट्रेन सेवाओं के लिए दिशानिर्देश

भारतीय रेलवे अनुलग्नक में सूचीबद्ध 200 यात्री ट्रेनों का संचालन शुरू करेगी। ये ट्रेनें 1 जून 2020 से चलेंगी और इन सभी ट्रेनों की बुकिंग 21 मई 2020 को सुबह 10 बजे से शुरू होगी। ये विशेष सेवाएं 1 मई 2020 से चलाई जा रही मौजूदा श्रमिक स्पेशल ट्रेनों और 12 मई से चल रही स्पेशल एसी ट्रेनों (30 ट्रेनें) के अतिरिक्त होंगी। अन्य नियमित यात्री सेवाएं, जिसमें सभी मेल/एक्सप्रेस, यात्री ट्रेनें शामिल हैं और उपनगरीय सेवाएं अगले निर्देश तक रद्द रहेंगी।

 

विस्तार से यहां पढ़ें: https://pib.gov.in/PressReleseDetail.aspx?PRID=1625674

 

एमएचए ने भारत में फंसे लोगों के लिए घरेलू हवाई यात्रा सुविधाजनक बनाने को लॉकडाउन के दिशानिर्देशों में किया संशोधन

केन्द्रीय गृह मंत्रालय (एमएचए) ने कोविड-19 के खिलाफ लड़ाई में लॉकडाउन से जुड़े उपायों पर जारी दिशानिर्देशों में संशोधन किया है, जिससे भारत में फंसे लोगों के लिए घरेलू यात्रा को आसान बनाया जा सके। हवाई अड्डों के परिचालन और यात्रियों की हवाई यात्रा के संबंध में नागर विमानन मंत्रालय द्वारा विस्तृत दिशानिर्देश जारी किए जाएंगे।

 

यहां भी पढ़ें: https://pib.gov.in/PressReleseDetail.aspx?PRID=1625640

 

पीएमयूवाई लाभार्थियों में अब तक 6.8 करोड़ मुफ्त एलपीजी सिलेंडर बांटे गए

कोविड-19 से उत्‍पन्‍न स्थिति से निपटने के लिए किए गए आर्थिक उपायों के तहत भारत सरकार ने ‘प्रधानमंत्री गरीब कल्याण पैकेज (पीएमजीकेपी)’ के नाम से गरीबों के हित में एक योजना शुरू की है। इस योजना के तहत पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्रालय 3 महीने तक 8 करोड़ से भी अधिक पीएमयूवाई लाभार्थियों को मुफ्त एलपीजी सिलेंडर प्रदान कर रहा है, जो 1 अप्रैल, 2020 से प्रभावी है। अप्रैल, 2020 के दौरान तेल विपणन कंपनियों (ओएमसी) ने पीएमजीकेपी के तहत पीएमयूवाई लाभार्थियों को 453.02 लाख सिलेंडर वितरित किए हैं। उधर, 20 मई 2020 तक ओएमसी ने इस पैकेज के तहत पीएमयूवाई लाभार्थियों को कुल 679.92 लाख सिलेंडर वितरित किए हैं। लाभार्थियों के खातों में प्रत्यक्ष लाभ हस्‍तांतरण (डीबीटी) के माध्यम से अग्रिम तौर पर धनराशि दे दी गई थी, ताकि इस सुविधा का लाभ उठाने में कोई कठिनाई न हो।

 

विस्तार से यहां पढ़ें: https://pib.gov.in/PressReleseDetail.aspx?PRID=1625782

 

वित्त मंत्री ने सीआईआई के साथ बातचीत में कहा, सरकार उद्योग जगत पर पूरी तरह और व्यापक रूप से भरोसा करती है

 

केंद्रीय वित्त एवं कॉरपोरेट कार्य मंत्री श्रीमती निर्मला सीतारमण ने जोर देते हुए कहा है कि सरकार उद्योग जगत पर पूरी तरह और व्यापक रूप से भरोसा करती है। उन्‍होंने उद्योग जगत से आग्रह किया कि वह अब और भी अधिक प्रोफेशनल नजरिए से कामगारों को काम पर लगाने की योजना बनाए तथा उनका कौशल बढ़ाने में भी जुटे। वित्त मंत्री ने कहा, ‘कामगारों को काम पर लगाने को लेकर उद्योग जगत को एक उदाहरण पेश करने की जरूरत है जो सभी को स्वीकार्य हो।’ एमएसएमई सेक्‍टर के संबंध में एक सवाल पर श्रीमती सीतारमण ने कहा कि यहां तक कि कोविड-19 से पहले भी ग्रामीण क्षेत्रों में उद्यमों की सहायता हेतु एमएसएमई और एनबीएफसी के लिए स्पष्ट रूप से मार्गदर्शन करने की घोषणा की गई थी। उन्‍होंने कहा कि अतिरिक्त सावधि ऋण और कार्यशील पूंजी ऋण के लिए ऋण उपलब्धता का उद्देश्‍य सभी एमएसएमई तक पहुंचना है, इसलिए सरकार ने ऋण देने में हिचकिचाहट या संकोच को दूर करने के लिए बैंकों को गारंटी प्रदान की है। उन्‍होंने कहा, ‘सरकार लॉकडाउन के बाद विशेष उद्देश्‍य कंपनी के साथ पूर्ण और आंशिक गारंटी प्रदान कर रही है, इसलिए बैंकों का संकोच दूर कर दिया गया है।’ 

विस्तार से यहां पढ़ें: https://pib.gov.in/PressReleseDetail.aspx?PRID=1625544

 

केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री श्री प्रकाश जावड़ेकर कल देश के समस्‍त सामुदायिक रेडियो से बातचीत करेंगे

 

एक वि‍शिष्‍ट पहल के तहत केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री श्री प्रकाश जावड़ेकर 22 मई 2020 को शाम सात बजे देश भर के सामुदायिक रेडियो से बातचीत करेंगे। यह बातचीत देश भर के समस्‍त सामुदायिक रेडियो स्‍टेशनों पर एक साथ प्रसारित की जाएगी। बातचीत का प्रसारण दो खंडों – एक हिंदी और एक अंग्रेजी में किया जाएगा। श्रोता इस बातचीत को एफएम गोल्‍ड (100.1 एमएचजेड) पर सायं 7:30 बजे हिंदी और 9:10 बजे अंग्रेजी में सुन सकते हैं। यह कदम ऐसे समय में उठाया जा रहा है जब सरकार कोविड से संबंधित संचार के लिए देश में सभी वर्गों तक पहुंच बनाने की दिशा में गंभीर प्रयास कर रही है। देश में लगभग 290 सामुदायिक रेडियो स्टेशन हैं और वे सभी मिलकर जनसाधारण तक पहुंच बनाने का एक विशाल मंच प्रदान करते हैं। इस बातचीत का लक्ष्‍य भारत के सुदूर कोनों में बसे लोगों तक पहुंच कायम करने के लिए उनकी शक्ति का उपयोग करना है।

 

विस्तार से यहां पढ़ें: https://pib.gov.in/PressReleseDetail.aspx?PRID=1625808

 

एमएचआरडी ने जवाहर नवोदय विद्यालयों में फंसे विद्यार्थियों को सुरक्षित घर भिजवाने की व्‍यवस्‍था की

 

केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री श्री रमेश पोखरियाल 'निशंक' ने बताया कि नवोदय विद्यालय समिति ने लॉकडाउन की अवधि के दौरान देश के विभिन्‍न हिस्‍सों में 173 जवाहर नवोदय विद्यालयों में मौजूद 3000 से अधिक विद्यार्थियों को उनके घर भिजवाने का कार्य 15 मई, 2020 को सफलतापूर्वक पूरा कर लिया। जवाहर नवोदय विद्यालय सह-शैक्षिक आवासीय विद्यालय हैं।

 

विस्तार से यहां पढ़िए: https://pib.gov.in/PressReleseDetail.aspx?PRID=1625851

 

82 यूजी एवं 42 पीजी गैर-इंजीनियरिंग एमओओसी की पेशकश स्वयम पर जुलाई, 2020 सेमेस्टर में की जाएगी

 

केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री श्री रमेश पोखरियाल 'निशंक' ने सूचित किया है कि विश्वविद्यालयों एवं संबद्ध महाविद्यालयों में दाखिला लिए छात्र स्वयम कोर्स आरंभ कर सकते हैं और ऑनलाइन लर्निंग कोर्स के लिए क्रेडिट फ्रेमवर्क पर वर्तमान विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी) के वर्तमान विनियमनों के अनुरूप इन पाठ्यक्रमों को पूरा करने के द्वारा क्रेडिट का लाभ उठा सकते हैं। मंत्री ने यह भी कहा कि कोविड-19 महामारी के वर्तमान परिदृश्य में छात्र, शिक्षक, जीवन पर्यंत सीखने वाले, वरिष्ठ नागरिक एवं गृहणियां नामांकन करा सकती हैं और ज्ञान के अपने दायरे का विस्तार करने के लिए स्वयम पाठ्यक्रमों का लाभ उठा सकती हैं।

 

विस्तार से पढ़ें: https://pib.gov.in/PressReleseDetail.aspx?PRID=1625861

 

एचआरडी मंत्री ने छात्रों के लिए साइबर सुरक्षा, 21वीं सदी के कौशल और प्रधानाचार्यों के लिए हैंडबुक सहित सीबीएसई द्वारा तैयार 3 पुस्तिकाओं का विमोचन किया

 

केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री श्री रमेश पोखरियाल 'निशंक' ने आज नई दिल्ली में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड द्वारा शिक्षा के मूल्य-आधारित वैश्विक मानकों को अपनाने के लिए बोर्ड द्वारा किए गए उपायों के संबंध में तैयार की गई तीन हैंडबुक्‍स का विमोचन किया। तीन पुस्तिकाओं का विमोचन करते हुए केंद्रीय मंत्री ने बताया कि 'साइबर सेफ्टी-ए हैंडबुक फॉर स्‍टुडेंट्स ऑफ सेकेंडरी एंड सीनियर सेकेंडरी स्‍कूल्‍स’ नौवीं से बारहवीं कक्षा के छात्रों के बीच साइबर सुरक्षा के बारे में जागरूकता फैलाने के लिए तैयार की गई है। उन्होंने कहा कि इंटरनेट और अन्य डिजिटल प्लेटफॉर्म का उपयोग करने वाले उन किशोरों के लिए यह पुस्तिका सही मार्गदर्शिका साबित होगी, जिन्‍हें अक्सर विभिन्न प्रकार के सुरक्षा जोखिमों का सामना करना पड़ सकता है।

 

विस्तार से पढ़िए: https://pib.gov.in/PressReleseDetail.aspx?PRID=1625489

 

डीओपीटी ने गर्भवती महिला अधिकारियों और स्‍टाफ के सदस्‍यों को कार्यालय आने से छूट दी

 

कार्मिक और प्रशिक्षण विभाग (डीओपीटी) ने गर्भवती महिला अधिकारियों और स्‍टाफ के सदस्यों को कार्यालय आने से छूट दे दी है। इस आशय का एक परिपत्र जारी किया गया है और विभिन्न मंत्रालयों/ विभागों के साथ-साथ राज्य/केंद्रशासित प्रदेशों की सरकारों द्वारा इसका अनुसरण किए जाने की उम्मीद है। गर्भवती महिला कर्मचारी जो पहले से मातृत्व अवकाश पर नहीं हैं, उन्हें भी कार्यालय में उपस्थित होने से छूट दी जाएगी। दिव्‍यांग व्यक्तियों को भी कार्यालय में उपस्थित होने के संबंध में इसी प्रकार की छूट दी जाएगी। डीओपीटी द्वारा जारी किए गए नवीनतम परिपत्र में यह भी कहा गया है कि ऐसे सरकारी कर्मचारी जिनका अस्‍वस्‍थता के कारण लॉकडाउन से पहले से ही इलाज चल रहा था, जहां तक ​​संभव होगा, उन्हें भी सीजीएचएस/सीएस (एमए) नियम, जो भी लागू हो, उसके अनुसार इलाज कर रहे चिकित्सक का चिकित्सा पर्चा प्रस्‍तुत करने पर छूट दी जाएगी।

 

विस्तार से पढ़िए: https://pib.gov.in/PressReleseDetail.aspx?PRID=1625569

 

रक्षा मंत्री ने कहा, कोविड-19 के कारण रक्षा निर्माण पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ा

 

रक्षा मंत्री श्री राजनाथ सिंह ने ग्लोबल कोरोनावायरस (कोविड-19) महामारी के खिलाफ राष्ट्र की लड़ाई में सोसाइटी ऑफ इंडियन डिफेंस मैन्युफैक्चरर्स (एसआईडीएम) और अन्य सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यमों (एमएसएमई) द्वारा निभाई गई भूमिका की सराहना की। रक्षा मंत्री ने एमएसएमई को भारतीय अर्थव्यवस्था की रीढ़ कहा, जो कि जीडीपी वृद्धि को तेज करता है, निर्यात के माध्यम से बहुमूल्‍य विदेशी मुद्रा अर्जित करता है और रोजगार के अवसर प्रदान करता है। एमएसएमई को मजबूत रखना सरकार की प्राथमिकताओं में से एक है। उन्होंने कहा, “हमारे कई संगठनों - आयुध कारखानों, डीपीएसयू और सेवा संगठनों में से 8,000 से अधिक एमएसएमई हैं। वे इन संगठनों के कुल उत्पादन में 20 प्रतिशत से अधिक का योगदान करते हैं।”

 

विस्तार से यहां पढ़िए: https://pib.gov.in/PressReleseDetail.aspx?PRID=1625899

 

यूपीएससी द्वारा 5 जून की बैठक के बाद परीक्षा से संबंधित नए कार्यक्रम की घोषणा की जाएगी

 

कोविड-19 महामारी के कारण राष्‍ट्रव्‍यापी प्रतिबंधों के तीसरे चरण के बाद उत्पन्न स्थिति की समीक्षा के लिए संघ लोक सेवा आयोग की एक विशेष बैठक आयोजित की गई। अनेक प्रतिबंधों के जारी रहने के मद्देनजर आयोग ने यह निर्णय लिया है कि मौजूदा समय में परीक्षाओं और साक्षात्कारों को शुरू करना संभव नहीं होगा। हालांकि केंद्र सरकार और विभिन्‍न राज्‍य सरकारों द्वारा उत्‍तरोत्‍तर घोषित की जा रही छूट का संज्ञान लेते हुए आयोग ने चौथे लॉकडाउन की समाप्ति के बाद एक बार फिर से स्थिति की समीक्षा करने का फैसला लिया है। पिछले दो महीने की अवधि के दौरान स्‍थगित की गई विभिन्‍न परीक्षाओं और साक्षात्कारों को लेकर उम्‍मीदवारों को स्‍पष्‍ट जानकारी देने के उद्देश्‍य से आयोग 5 जून 2020 को होने वाली अपनी अगली बैठक में परीक्षाओं की संशोधित सारिणी जारी करेगा।

 

विस्तार से यहां पढ़ें: https://pib.gov.in/PressReleseDetail.aspx?PRID=1625519

 

स्थानीय से वैश्विक: खादी मास्क की विदेशी बाजारों में दस्तक

 

व्यापक रूप से लोकप्रिय खादी फेस मास्क "वैश्विक" होने के लिए तैयार है। खादी एवं ग्रामोद्योग आयोग (केवीआईसी) अब विदेश में खादी कॉटन और रेशम फेस मास्क के निर्यात की संभावनाओं का पता लगा रहा है। यह कदम प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के "आत्मनिर्भर भारत अभियान" को ध्यान में रखते हुए "स्थानीय से वैश्विक" आह्वान के कुछ दिनों बाद उठाया गया है। कोविड-19 वैश्विक महामारी के दौरान फेस मास्क की अत्यधिक मांग को ध्यान में रखते हुए, केवीआईसी ने क्रमशः दो स्तरीय और तीन स्तरीय कॉटन के साथ-साथ सिल्क फेस मास्क को विकसित किया है, जो पुरुषों के लिए दो रंगों में और महिलाओं के लिए कई रंगों में उपलब्ध है। अब तक केवीआईसी को 8 लाख फेस मास्क की आपूर्ति के ऑर्डर प्राप्त हो चुके हैं और लॉकडाउन अवधि के दौरान 6 लाख से ज्यादा फेस मास्क की आपूर्ति की जा चुकी है। बिक्री के अलावा, पूरे देश में खादी संस्थानों द्वारा जिला प्राधिकरणों को 7.5 लाख से ज्यादा खादी के फेस मास्क मुफ्त में बांटे गए हैं।

 

विस्तार से यहां पढ़िए: https://pib.gov.in/PressReleseDetail.aspx?PRID=1625825

 

पीआईबी फील्ड कार्यालयों से मिली जानकारियां

 

  • केरल- राज्य सरकार ने आज उच्च न्यायालय को सूचित किया कि वह कोविड डाटा के विश्लेषण को लेकर अमेरिका की प्रमुख डाटा कंपनी स्प्रिंकलर के साथ विवादास्पद डील से बाहर हो गई है। बताया गया है कि सभी डाटा को राज्य के स्वामित्व वाले सेंटर फॉर डेवलपमेंट ऑफ इमेजिंग टेक्नोलॉजी (सी-डीआईटी) में स्थानांतरित कर दिया गया है। गल्फ क्षेत्र में कोविड-19 से केरल के दो और लोगों ने दम तोड़ दिया, इनमें से एक स्वास्थ्य पेशेवर है। मुंबई में दो और मलयाली लोगों की जान चली गई। वंदे भारत के दूसरे चरण के तहत आज राज्य के लिए तीन उड़ानें निर्धारित हैं। गल्फ से स्वदेश आते लोगों के साथ ही केरल में कोविड मामले 12 दिनों में 16 से 10 गुना बढ़कर 161 हो गए हैं।
  • तमिलनाडु- प्रवासी श्रमिकों के घर चले जाने के कारण एमएसएमई क्षेत्र और निर्माण परियोजनाएं प्रभावित होंगी। चेंगलपट्टू प्रशासन के नक्शे में कोरोनावायरस मरीजों की जानकारी पर कलेक्टर का कहना है कि प्रोटोकॉल के अनुसार केवल नाम जाहिर नहीं कर सकते हैं। तमिलनाडु में 743 नए केस आए और कुल संख्या 13 हजार के आंकड़े को पार कर गई। सक्रिय केस- 7219, मौतें- 87, अस्पताल से 5882 लोगों को छुट्टी मिल गई। 20 मई को चेन्नई में 5345 सक्रिय मामले थे।
  • कर्नाटक- राज्य में आज दोपहर 12 बजे तक 116 नए मामले आए और एक मौत दर्ज की गई। इसके साथ ही कुल मामलों की संख्या 1578 हो गई है। आज 14 मरीजों को अस्पताल से छुट्टी मिल गई और इस तरह से 570 लोग ठीक हो गए हैं। अब तक 41 लोगों की मौत हो चुकी है। सक्रिय केस 966 हैं। राज्य में इस समय पीपीई किट बनाने वाली 22 इकाइयां और वेंटिलेटर बनाने वाली 4 कंपनियां हैं। सीएम ने मुख्य सचिव को हर सप्ताह नए निवेश की देखरेख के लिए विशेष टास्क फोर्स की गतिविधियों का अवलोकन करना का निर्देश दिया है क्योंकि उद्योगपतियों ने चीन से निकलकर दूसरे देशों में निवेश करने में रुचि दिखाई है।
  • आंध्र प्रदेश- राज्य ने बस सेवाएं शुरू कर दी हैं और केंद्र के दिशानिर्देशों के बाद शहरी क्षेत्रों में दुकानों और प्रतिष्ठानों को खोलने के लिए दिशानिर्देश जारी किए हैं। दूसरे राज्यों के फंसे हुए 61,781 लोगों को उनके अपने राज्यों में वापस पहुंचाने की सुविधा प्रदान की गई। 8092 नमूनों की जांच के बाद पिछले 24 घंटों में 45 नए केस आए हैं, एक की मौत हो गई जबकि 41 लोगों को अस्पताल से छुट्टी मिल गई। कुल मामले 2452, सक्रिय 718 और 1680 लोग ठीक हो गए हैं। 54 लोगों की मौत हो गई है। दूसरे राज्यों से लौटे 153 पॉजिटिव मामलों में से अब 128 सक्रिय हैं।
  • तेलंगाना- दुकानें खोलने के लिए ऑड-ईवन स्कीम अब भी एक पहेली है; हैदराबाद में दुकान मालिकों के लिए किराये की बड़ी चिंता है। स्वास्थ्य विभाग के साथ समन्वय में ग्रेटर हैदराबाद नगर निगम (जीएचएमसी) ने 45 बस्ती दवाखानों के खोलने और समन्वय के लिए नोडल अधिकारियों की नियुक्ति की है। 21 मई को तेलंगाना में कुल पॉजिटिव मामले 1661 हैं। कल तक 89 प्रवासियों की रिपोर्ट पॉजिटिव आ चुकी है।
  • चंडीगढ़- यूटी चंडीगढ़ प्रशासक ने व्यापारी संघों, बाजार संघों और दुकान मालिकों से अपील की है कि वे यह सुनिश्चित करें कि ग्राहकों द्वारा उचित सामाजिक दूरी और स्वच्छता का कड़ाई से पालन हो। इन्हें हाल ही में अपनी दुकानों को खोलने की अनुमति दी गई है। उन्होंने पुलिस महानिदेशक को भी यह सुनिश्चित करने का निर्देश दिया है कि अंतर-राज्यीय सीमाओं पर कोरोना से संक्रमित लोगों को रोकने के लिए स्क्रीनिंग में कोई ढील न दी जाए।
  • पंजाब- पंजाब सरकार ने नई दिल्ली स्थित इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर एक सुविधा केंद्र स्थापित किया है जिससे विदेश से विशेष विमानों से लौट रहे पंजाबियों को उनके अपने जिलों में भेजा जा सके, जहां उन्हें संस्थागत क्वारंटीन किया जाएगा। संबंधित जिलों में होटलों में क्वारंटीन करने के लिए व्यापक व्यवस्था की गई है और उन छात्रों या प्रवासियों को मुफ्त क्वारंटीन सुविधा दी जाएगी जो होटल का खर्च वहन नहीं कर सकते हैं। आईएमए मोहाली के सहयोग से एसएएस नगर जिला प्रशासन (पंजाब) ने आइसोलेशन और क्वारंटीन में लोगों को परामर्श देने और मनोवैज्ञानिक मदद के लिए हेल्पलाइन शुरू की है। इस पहल का मुख्य उद्देश्य यह सुनिश्चित करना है कि लोग अपनी भावनाओं, चिंताओं जैसे चिंता, अवसाद और मायूसी को डॉक्टरों और विशेषज्ञों के साथ साझा करें।
  • हरियाणा- हरियाणा सरकार इच्छुक प्रवासी श्रमिकों को उनके गृह राज्यों में भेजने के लिए प्रतिबद्ध है। मुख्यमंत्री ने प्रत्येक उपायुक्त को यह सुनिश्चित करने का निर्देश दिया है कि अपने गृह राज्य जाने के इच्छुक प्रवासी श्रमिक या कामगार पैदल न जाएं। प्रवासी मजदूरों को उनके गृह राज्यों में भेजने के लिए चलाई जा रही ट्रेनों और बसों का पूरा खर्च हरियाणा सरकार द्वारा वहन किया जा रहा है। इन प्रवासी श्रमिकों को राहत केंद्रों में रखने और उन्हें रेलवे स्टेशनों और बस अड्डों तक लाने के लिए राज्य सरकार द्वारा नि:शुल्क व्यवस्था की जा रही है।
  • हिमाचल प्रदेश- लॉकडाउन में फंसे प्रवासियों, जिनके पास राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा कानून या राज्य योजनाओं के तहत कोई राशन कार्ड नहीं है, उन्हें भारत सरकार की आत्मनिर्भर भारत योजना के तहत मई और जून 2020 के दौरान प्रति व्यक्ति के हिसाब से 5 किलो चावल और काला चना दाल प्रदान की जाएगी। उन्हें पंचायती राज संस्थाओं के प्रतिनिधियों, महापौर, उप महापौर, पार्षद या राजपत्रित अधिकारी के हस्ताक्षर वाला फॉर्म दुकानदार के पास जमा करना होगा। यह प्रपत्र (फॉर्म) जिला नियंत्रक या निरीक्षक खाद्य आपूर्ति कार्यालय या फेयर प्राइस शॉप से प्राप्त किया जा सकता है।
  • अरुणाचल प्रदेश- कर्नाटक में फंसे अरुणाचल के 209 छात्र गुवाहाटी पहुंचे। उन्हें सड़क मार्ग से ईटानगर ले जाया जाएगा।
  • असम- कोविड 19 का टेस्ट दो बार निगेटिव आने के बाद 6 मरीजों को छुट्टी दे दी गई। राज्य में 130 सक्रिय मामले हैं।
  • मणिपुर- मणिपुर में वापस आ रहे लोगों के नमूने लिए जा रहे हैं। कुल 139 नमूने जांच के लिए उखरूल भेजे गए हैं। तिकेलपट में सरकारी आइडियल ब्लाइंडस्कूल में ट्रांसजेंडर क्वारंटीन सेंटर खोला गया है, जहां अब अन्य राज्यों से आने वाले ट्रांसजेंडरों को रखा जा सकता है।
  • मेघालय- राज्य के सीएम ने बताया कि कोविड-19 के राहत उपायों में अब तक कुल 69 करोड़ रुपये और पिछले 2 महीनों में स्वास्थ्य ढांचे और सुविधाओं में सुधार के लिए 46 करोड़ रुपये खर्च किए गए हैं।
  • मिजोरम- सियाहा जिले के ग्रामीणों ने अपने घर में उगाई सब्जियों और मुश्किल से खरीदे वन उत्पादों को सियाहा टाउन के क्वारंटीन केंद्रों की रसोई प्रबंधन समितियों को दान किए हैं।
  • नगालैंड- पश्चिमी सुमी संगठनों ने 200 प्रवासियों की मदद करने का फैसला किया है और थाबेकु गांव में क्वारंटीन सेंटर स्थापित किया जाएगा।
  • महाराष्ट्र- 2250 नए मामले सामने आए हैं, जिससे राज्य में कोविड-19 पॉजिटिव मामलों की संख्या 39,297 पहुंच गई है। हालांकि ताजी रिपोर्ट के अनुसार राज्य में सक्रिय मामलों की संख्या 27,581 है। हॉटस्पॉट मुंबई में 1372 नए मामले आए हैं, जिससे कुल केस 23,935 हो गए हैं। मुंबई में बढ़ते मामलों को देखते हुए बीएमसी ने अधिकारियों को मुंबई के सभी 24 वॉर्डों में निजी नर्सिंग होम और छोटे अस्पतालों में कम से कम 100 बेड (आईसीयू में 10) लेने का निर्देश दिया है।
  • गुजरात- 398 नए मामलों और 30 मौतों के साथ राज्य में कोविड-19 के मामलों की कुल संख्या बढ़कर 12,539 हो गई है। इस समय राज्य के अलग-अलग अस्पतालों में 6,571 मरीजों का इलाज चल रहा है, जिनमें 47 मरीजों की हालत गंभीर है। मुख्यमंत्री विजय रुपाणी ने कोविड-19 के खिलाफ लड़ाई में 'मैं भी कोरोना योद्धा हूं' अभियान शुरू कर जनता का समर्थन मांगा है। हफ्ते भर चलने वाले इस अभियान का उद्देश्य लोगों को कोरोनावायरस से लड़ने के लिए तीन बुनियादी नियमों के बारे में जागरूक करना है जैसे बच्चों और बुजुर्गों को घर के अंदर रहना चाहिए, बिना मास्क के बाहर नहीं निकलना चाहिए और हमेशा सामाजिक दूरी बनाए रखना चाहिए।
  • राजस्थान- राज्य में आज कोविड19 के 83 नए पॉजिटिव केस आए, जिससे प्रभावित लोगों की कुल संख्या 6098 हो गई। अब तक 3421 मरीज ठीक हो चुके हैं। 2527 लोगों को इलाज चल रहा है।
  • मध्य प्रदेश- 227 नए केस सामने आए हैं, जिससे कोविड-19 मरीजों की संख्या 5875 पहुंच गई है। सबसे ज्यादा 2774 केस इंदौर जिले में दर्ज किए गए हैं। मध्य प्रदेश में मरने वालों की संख्या भी बढ़कर 267 हो गई है। इंदौर में सबसे ज्यादा 107 मरीजों की मौत हुई है।
  • छत्तीसगढ़- राज्य के अलग-अलग जिलों में 14 नए केस आए हैं और कुल मामलों की संख्या 115 हो गई है।
  • गोवा- कोविड-19 के 4 नए मामले आए हैं, जिससे पॉजिटिव मामलों की संख्या 50 पहुंच गई है। इनमें दो नए मरीज रविवार को राजधानी एक्सप्रेस से आए, एक व्यक्ति पुणे से बस से आया और चौथा मरीज एक तटरक्षक कर्मी है जो जहाज से पहुंचा।

 

एएस/एएम



(Release ID: 1626013) Visitor Counter : 107