PIB Headquarters

कोविड-19 पर पीआईबी का दैनिक बुलेटिन

Posted On: 19 MAY 2020 6:34PM by PIB Delhi

Description: Coat of arms of India PNG images free download

 

 

(पिछले 24 घंटे में कोविड-19 से संबंधित जारी प्रेस विज्ञप्तियां, पीआईबी के क्षेत्रीय कार्यालयों से मिली जानकारियां और पीआईबी द्वारा जांचे गए तथ्य शामिल है)

कोविड-19 के 39,174 मरीज अभी तक स्वस्थ हो चुके हैं, जिससे सुधार की दर 38.73 प्रतिशत तक पहुंच गई है। सुधार की दर में लगातार बढ़ोतरी जारी है।

भारत में वर्तमान में कोविड-19 के 58,802 सक्रिय मामले हैं।

भारत में प्रति लाख जनसंख्या पर मौत का आंकड़ा 0.2 है, इसकी तुलना में दुनिया में यह आंकड़ा 4.1 मृत्यु/प्रति लाख है।

गृह मंत्रालय ने राज्यों से कहा : प्रवासी कामगारों की चिंता दूर करें-राज्यों और अंतर-राज्यीय सीमाओं से सुगम परिवहन सुनिश्चित करने के लिए ज्यादा बसें चलाएं।

गृह मंत्रालय ने ट्रेनों के माध्यम से फंसे मजदूरों की आवाजाही पर संशोधित एसओपी जारी किया।

दुनियाभर में प्रति लाख आबादी पर लगभग 4.1 मौत हो रही है और भारत में यह आंकड़ा प्रति लाख आबादी पर 0.2 है; अब तक 24 लाख से अधिक नमूनों की जांच की जा चुकी है।

पिछले 24 घंटों के दौरान, उपचार से कुल 2,350 कोविड-19 रोगी ठीक हो चुके हैं। इसके साथ ही ठीक हो चुके रोगियों की कुल संख्या 39,174 हो गई है। रोगियों के ठीक होने की दर 38.73 प्रतिशत हो चुकी है। रोगियों के ठीक होने की दर में लगातार सुधार हो रहा है। भारत में वर्तमान में कोविड-19 के 58,802 सक्रिय मामले हैं। ये सभी सघन चिकित्सा देख-रेख में हैं। सक्रिय मामलों से जुड़े केवल लगभग 2.9 प्रतिशत मरीज आईसीयू में हैं। प्रति लाख आबादी पर मृत्यु दर के मामले में, भारत का आंकड़ा अभी तक प्रति लाख आबादी पर 0.2 मौतों का है जबकि पूरी दुनिया में प्रति लाख आबादी पर मौत की दर लगभग 4.1 है।

देश में कल रिकॉर्ड संख्या में 1,08,233 नमूनों की जांच की गई। अब तक कुल 24,25,742 नमूनों की जांच की जा चुकी है। जनवरी में देश में कोविड-19 की जांच के लिए जहां महज एक प्रयोगशाला थी वहीं अब इसमें 385 से अधिक सरकारी प्रयोगशालाओं और 158 निजी प्रयोगशालाओं को जोड़कर जांच करने की क्षमता में बहुत वृद्धि की जा चुकी है।

केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय ने कोविड-19 की जांच के संबंध में संशोधित दिशा-निर्देश जारी किए हैं। पहले निर्धारित किए जा चुके मानदंडों के अलावा, इसमें कोविड-19  के प्रभावी नियंत्रण और उसमें कमी लाने के लिए अग्रिम मोर्चे पर तैनात स्वास्थ्य कर्मियों, सभी अस्पताल में भर्ती मरीजों जिनमें आईएलआई लक्षण विकसित होते हैं और बीमारी के 7 दिनों के भीतर खास लक्षण दिखाई देने वाले मरीजों और प्रवासियों के लिए भी जांच की सुविधा का विस्तार किया गया है। मंत्रालय ने कार्यस्थलों में कोविड-19 के प्रसार को रोकने के निवारक उपायों के लिए दिशा-निर्देश जारी किए हैं। कार्यस्थलों पर यदि संक्रमण का कोई संदिग्ध या पुष्‍ट मामला सामने आता है तो उससे निपटने के उपायों के बारे में इन दिशा-निर्देशों में जानकारी दी गई है। केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय ने कोविड-19 महामारी की स्थिति में दंत चिकित्सकों के लिए भी दिशा-निर्देश जारी किए हैं क्योंकि दंत चिकित्सकों और उनके सहायकों के साथ-साथ रोगियों में कोविड-19 के संक्रमण का काफी जोखिम है।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-

प्रवासी श्रमिकों की सुव्यवस्थित आवाजाही हेतु कई और ट्रेनें चलाने के लिए राज्यों एवं रेलवे के बीच सक्रिय समन्वय आवश्यक; जिला अधिकारियों को अपनी आवश्यकताओं से रेलवे को जरूर अवगत कराना चाहिए

केंद्रीय गृह मंत्रालय (एमएचए) ने राज्यों को भेजे पत्र में यह बात रेखांकित की है कि मुख्यत: कोविड-19 के संक्रमण के भय और आजीविका छिनने की आशंका की वजह से ही विभिन्न स्थानों पर फंसे श्रमिक अपने-अपने घरों की ओर अग्रसर होने के लिए व्याकुल हैं। प्रवासी श्रमिकों की कठिनाइयों को कम करने के लिए इस पत्र में उन उपायों या कदमों पर विशेष जोर दिया गया है जिन्हें राज्य सरकारों को केंद्र के साथ सक्रियतापूर्वक समन्वय कर उठाना चाहिए। इसमें अधिक बसें चलाना, सभी राज्यों में और अंतर-राज्य सीमाओं पर प्रवासी श्रमिकों का सुचारु आवागमन सुनिश्चित करना शामिल है। पैदल ही अपने घर जा रहे लोगों के लिए रास्ते में बुनियादी सुविधाओं के साथ विश्राम स्थलों की व्यवस्था तब तक करें, जब तक कि वे बस/रेलवे स्टेशनों की ओर अग्रसर न हो जाएं। गृह मंत्रालय ने राज्यों से कहाअफवाहों से लोगों को दूर रखें, ट्रेन/बस के प्रस्थान की सही स्थिति से अवगत कराएं।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-

फंसे हुए श्रमिकों की ट्रेनों से आवाजाही के बारे में मानक परिचालन प्रोटोकॉल (एसओपी)

लॉकडाउन उपायों पर संशोधित संयुक्त दिशा-निर्देशों को जारी रखते हुए गृह मंत्रालय (एमएचए) ने दिनांक 17 मई 2020 को फंसे हुए श्रमिकों की ट्रेनों से आवाजाही के बारे में संशोधित मानक परिचालन प्रोटोकॉल (एसओपी) जारी किया है।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-

डॉ. हर्षवर्धन ने वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से 73 वीं विश्व स्वास्थ्य सभा में भाग लिया

कोविड 19 प्रबंधन के लिए भारत द्वारा उठाए गए समयबद्ध, श्रेणीबद्ध और सक्रिय उपायों को रेखांकित करते हुए स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि भारत ने समय पर सभी आवश्यक कदम उठाए, जिनमें शामिल हैं - प्रवेश के बिंदुओं पर निगरानी, विदेशों में फंसे नागरिकों को वापस लाना, मजबूत रोग निगरानी नेटवर्क के माध्यम से बड़े पैमाने पर सामुदायिक निगरानी, स्वास्थ्य संरचना को मजबूत करना, अग्रिम पंक्ति के लिये 20 लाख से अधिक लोगों की तैनाती/क्षमता निर्माण, जोखिम की जानकारी देना और समुदाय की भागीदारी आदि। मुझे लगता है कि हमने सर्वश्रेष्ठ प्रयास किये और हमने अच्छा प्रदर्शन किया। हम सीख रहे हैं और आने वाले महीनों में बेहतर करने के लिए आश्वस्त हैं।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-

केन्द्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री की सलाह के अनुसार, एनटीए ने जेईई (मेन) 2020 के लिए ऑनलाइन आवेदन फॉर्म जमा करने का अंतिम अवसर दिया

विभिन्न भारतीय छात्रों से प्राप्त अभ्यावेदनों को देखते हुए जिनका विदेश के कॉलेजों में जाना तय था लेकिन कोविड-19 से उत्पन्न परिस्थितियों के कारण अब देश में अपनी पढ़ाई को आगे बढ़ाना चाहते हैं और जेईई (मेन) 2020 की परीक्षा में शामिल होना चाहते हैं, केन्द्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री श्री रमेश पोखरियाल निशंकने एनटीए को सलाह दी है कि जेईई (मेन) 2020 के फॉर्म भरने के लिए एक अंतिम अवसर दिया जाए। यह उन अन्य छात्रों के लिए भी है जो किसी न किसी कारण से आवेदन प्रक्रिया को पूरा नहीं कर पाए थे या जेईई (मेन) 2020 के लिए ऑनलाइन आवेदन जमा नहीं कर पाए हैं।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-

केंद्रीय मंत्री डॉ. जितेंद्र सिंह ने पूर्वोत्तर और  जम्मू-कश्मीर के लिए सेना के मेडिकल कोविड संबंधित सहायता की सराहना की

केंद्रीय राज्य मंत्री डॉ. जितेंद्र सिंह ने पूर्वोत्तर तथा जम्मू और कश्मीर में सेना की कोविड को लेकर चिकित्सा से संबंधित सहायता की सराहना की है। साथ ही महामारी की शुरुआत में तैयारियों के प्रारंभिक चरण में नैदानिक और उपचार सुविधाओं के पूरक के तौर पर मदद मुहैया कराने के लिए सशस्त्र बल चिकित्सा सेवा (एएफएमएस) की सराहना की।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-

आवासन एवं शहरी कार्य मंत्रालय ने कचरा मुक्त शहरों की स्टार रेटिंग के परिणामों की घोषणा की

आवासन एवं शहरी कार्य मंत्री श्री हरदीप सिंह पुरी ने बताया कि आकलन वर्ष 2019-2020 के लिए, कुल छह शहरों (अंबिकापुर, राजकोट, सूरत, मैसूर, इंदौर और नवी मुंबई) को फाइव स्टार रेटिंग दी गई है, 65 शहरों को थ्री स्टार और 70 शहरों को वन स्टार दिया गया है। कोविड संकट के मद्देनजर आवासन एवं शहरी कार्य मंत्रालय ने सभी राज्यों और शहरों को सार्वजनिक जगहों की विशेष साफ-सफाई और क्वारंटाइन किए गए घरों से जैव-चिकित्सा अपशिष्ट के संग्रहण और निपटान के लिए विस्तृत दिशा-निर्देश जारी किए हैं। मंत्रालय ने अप्रैल के पहले सप्ताह में नागरिकों को उनके सम्बन्धित यूएलबी द्वारा कोविड से संबंधित मुद्दों को हल करने में सक्षम बनाने के लिए अपने बेहद लोकप्रिय नागरिक शिकायत निवारण प्लेटफॉर्म, स्वच्छता ऐप, में भी संशोधन किया है।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-

लॉकडाउन के दौरान विदर्भ और मराठवाड़ा क्षेत्र में डेयरी आपूर्ति श्रृंखला को सामान्य बनाए रखने में मदर डेयरी का योगदान

कोविड-19 महामारी से जूझने के बीच लॉकडाउन के तहत देश में भोजन और स्वास्थ्य सेवाओं जैसी जरूरी चीजों की उपलब्धता बनाए रखना बेहद महत्वपूर्ण है। प्रतिबंधो के बीच एक ओर जहां उपभोक्ताओं के लिए आवश्यक चीजों की आपूर्ति बनी रहनी जरूरी है तो वहीं दूसरी ओर किसानों के लिए उनके उत्पाद बाजार तक पहुंच सके, इसके लिए आपूर्ति श्रृंखला का सामान्य बने रहना भी आवश्यक है। इस संदर्भ में राष्ट्रीय डेयरी विकास बोर्ड (एनडीडीबी) की पूर्ण स्वामित्व वाली सहायक कंपनी, मदर डेयरी ने पहल करते हुएविदर्भ और मराठवाड़ा क्षेत्र में लॉकडाउन के बीच डेयरी आपूर्ति श्रृंखला को सामान्य बनाए रखने में बड़ा योगदान दिया है। नागपुर के सिविल लाइन्स इलाके में स्थिति मदर डेयरी का संयंत्र विदर्भ और मराठवाड़ा क्षेत्र के किसानों को हर संभव मदद देते हुए उनसे प्रति दिन 2.55 लाख लीटर दूध की खरीद कर रहा है।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-

संस्कृति मंत्रालय ने अंतर्राष्ट्रीय संग्रहालय दिवस पर संग्रहालयों के पुनर्जीवन और सांस्कृतिक स्थलविषय पर एक वेबिनार की मेजबानी की

कोविड-19 महामारी के सांस्कृतिक और रचनात्मक उद्योगों के लिए महत्वपूर्ण आर्थिक और सामाजिक अप्रत्यक्ष परिणाम होंगे। भारतीय और वैश्विक स्तर के अग्रणी सांस्कृतिक संस्थानों, रचनात्मक व्यवसायों, स्टार्टअप, नीति निर्माताओं और मीडिया के लिए आयोजित, वेबिनार के विशेषज्ञों ने संस्कृति और रचनात्मक उद्योग के लिए आगे बढ़ने के तरीके पर चर्चा की।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-

पीआईबी के क्षेत्रीय कार्यालयों से मिली जानकारियां

चंडीगढ़ : लॉकडाउन के कारण कुछ प्रवासी कामगार, तीर्थयात्री, पर्यटक, विद्यार्थी और अन्य लोग चंडीगढ़ में फंसे हुए हैं। इन लोगों की सुगम आवाजाही के लिए चंडीगढ़ प्रशासन ने फंसे लोगों की सहज और सुरक्षित यात्रा सुनिश्चित करने के लिए व्यापक इंतजाम किए हैं। 18 मई 2020 को निम्नलिखित फंसे हुए लोग भेजे गए : (क) शाम 5 बजे एक श्रमिक स्पेशल ट्रेन 1,296 लोगों को लेकर अमेठी, उत्तर प्रदेश के लिए रवाना हुई; (ख) सरहिन्द, पंजाब से श्रमिक स्पेशल ट्रेन के माध्यम से 10 लोग पश्चिम बंगाल के मुर्शिदाबाद के लिए रवाना हुए। चंडीगढ़ से सरहिन्द, पंजाब तक की यात्रा के लिए विशेष सीटीयू बस से भेजने की व्यवस्था की गई।

पंजाब : मुख्यमंत्री ने क्रिश्चियन मेडिकल कॉलेज लुधियाना और आईएमएएस हेल्थकेयर प्राइवेट लिमिटेड के बीच हुए समझौते के तहत एक टेलीमेडिसिन (दूरस्थ चिकित्सा) कार्यक्रम का शुभारम्भ किया, जिससे कोविड-19 सहित विभिन्न स्वास्थ्य समस्याओं के लिए भारत में क्लेवलैंड क्लीनिक (यूएसए) के लिए चिकित्सक से चिकित्सकवीडियो परामर्श की आधिकारिक सुविधा शुरू हो जाएगी। पंजाब सरकार ने राज्य में सार्वजनिक परिवहन शुरू करने पर लगाई गईं बंदिशों में नरमी लाने का फैसला किया है। बुधवार से राज्य परिवहन उपक्रम की बसों को बड़े शहरों और जिला मुख्यालयों के बीच एक बिंदु से दूसरे बिंदु तक चुनिंदा रूट पर परिवहन की अनुमति दी जाएगी, जिसमें क्षमता की तुलना में 50 प्रतिशत सवारियां ही बिठाने की शर्त का पालन करना होगा। ये बसें सिर्फ बस स्टैंड से मिलेंगी, जहां सभी यात्रियों को जांच के बाद ही बस में बैठने की अनुमति मिलेगी। यह सुनिश्चित किया जाएगा कि सार्वजनिक परिवहन के दौरान सभी यात्रियों के बीच सामाजिक दूरी बनी रहे, सभी मास्क पहनें और उनके हाथों को चालकों द्वारा उपलब्ध कराए गए सैनिटाइजर से स्वच्छ किया जाए।

हरियाणा : राज्य सरकार ने निजी चिकित्सकों को आवश्यकता के आधार पर सरकारी दरों पर अच्छी गुणवत्ता की पीपीई किट, एन-95 मास्क और हैंड सैनिटाइजर उपलब्ध कराने का फैसला किया है। इसके अलावा, यदि एक निजी चिकित्सक कोविड-19 से संक्रमित हो जाता है तो सरकारी खर्च पर ही उसका उपचार किया जाएगा। कोरोना के बाद अब राज्य में स्वास्थ्य सेवाओं, सार्वजनिक स्वास्थ्य, रोग अनुसंधान आदि में निवेश में बढ़ोतरी की जाएगी। हरियाणा सरकार ने कोविड-19 के रोकथाम के लिए एमओएचएफडब्ल्यू द्वारा जारी नियमों का अनुपालन सुनश्चित करते हुए आपात और अपरिहार्य प्रशासनिक कार्यों के लिए सरकारी विद्यालयों के प्रशासनिक कार्यालय खोलने की अनुमति देने का फैसला किया है। यहां इस बात का उल्लेख करना जरूरी है कि राज्य सरकार पहले ही हरियाणा के निजी विद्यालयों को उनके प्रशासनिक कार्यालय खोलने की अनुमति दे चुकी है।

हिमाचल प्रदेश : मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने केन्द्रीय रसायन एवं उर्वरक मंत्री डी. वी. सदानंद गौड़ा से राज्य को एक बल्क ड्रग पार्क का आवंटन करने का अनुरोध किया है। उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार ने देश में महत्वपूर्ण की स्टार्टिंग मैटेरियल/ ड्रग इंटरमीडिएट्स और एक्टिव फार्मास्युटिकल इंडिग्रिएंट्स (एपीआई) के घरेलू उत्पादन को प्रोत्साहन देने के लिए एक लाभकारी योजना शुरू करने की घोषणा की है।

केरल : सभी जिलों के लिए केएसआरटीसी की सेवाएं कल से शुरू हो जाएंगी। कन्नूर में पुलिस ने रेलवे पटरियों के माध्यम से उत्तर प्रदेश जाने की कोशिश कर रहे लगभग 100 प्रवासियों को रोक लिया। पेराम्ब्रा, कोझिकोड में विरोध प्रदर्शन कर रहे प्रवासी कामगारों और पुलिस के बीच भिडंत हो गई। सात ऐसे लोगों में कोविड के लक्षण सामने आए, जो बीती रात खाड़ी देशों से केरल पहुंचे और उन्हें अस्पताल में भर्ती करा दिया गया है। चार अन्य उड़ान खाड़ी देशों से 700 से ज्यादा लोगों को वापस लेकर आएंगी। कल पॉजिटिव पाए गए 29 मामलों में लगभग सभी प्रवासी और राज्य में लौटे केरल के अप्रवासियों से जुड़े थे।

तमिलनाडु : पुदुचेरी में शराब की दुकानें खोलने की अनुमति दे दी गई; शराब के लिए आधार कार्ड का होना जरूरी है। महाराष्ट्र से लौटे तमिलनाडु के प्रवासी कामगार बड़ी संख्या में कोविड जांच में पॉजिटिव मिल रहे हैं। तमिलनाडु के ग्रामीण इलाकों में हेयर सैलून आज से खोलने की अनुमति दे दी गई। तमिलनाडु में कक्षा 10 की बोर्ड परीक्षाएं अब 15 जून से 25 जून के बीच होंगी। कल तक कुल मामले : 11,760, सक्रिय मामले : 7270, मृत्यु : 81, चेन्नई में सक्रिय मामलों की संख्या 5,460 के स्तर पर है।

कर्नाटक : कर्नाटक में किसी एक दिन में सबसे ज्यादा 127 मामले सामने आए और तीन लोगों की मृत्यु हो गई। अभी तक कुल मामले : 1373; सक्रिय मामले : 802; स्वस्थ हुए : 530; मृत्यु : 40. कर्नाटक के अनिवासियों में खासा आक्रोश है, क्योंकि राज्य ने तमिलनाडु, महाराष्ट्र, गुजरात से लोगों के प्रवेश पर प्रतिबंध लगा दिया है। पिछले कुछ दिनों में सामने आए 50 प्रतिशत मामले दूसरे राज्यों से आए लोगों से संबंधित हैं। कर्नाटक ने केन्द्र सरकार से विशेष इंटरसिटी ट्रेनों के परिचालन की मांग की है।

आंध्र प्रदेश : मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य को कोविड-19 सुरक्षा से संबंधित उपायों को ध्यान में रखते हुए अर्थव्यवस्था को फिर से शुरू करने पर ध्यान केन्द्रित करना चाहिए। राज्य में सुधार की दर सबसे ज्यादा 53.44 प्रतिशत रही है, जबकि देश का औसत 32.9 प्रतिशत है। पिछले 24 घंटों में 9,739 नमूनों की जांच में 57 नए मामले सामने आए और 69 लोगों डिस्चार्ज कर दिया गया है, जबकि दो लोगों की मृत्यु हो गई; 150 पॉजिटिव मामले दूसरे राज्यों से लौटे लोगों से संबंधित हैं। कुल मामले : 2,339, सक्रिय मामले : 691, स्वस्थ हुए : 1,596, मृत्यु : 52.

तेलंगाना : तेलंगाना में लॉकडाउन की शर्तों में नरमी के साथ, आज से सिकंदराबाद से विभिन्न जिलों के लिए आरटीसी बसों का परिचालन शुरू हो गया। राज्य सरकार ने जीएचएमसी सीमाओं सहित सभी जोन में घरेलू सहायता से जुड़ी सेवाएं पुनः शुरू करने की अनुमति दे दी है। कल तक कुल मामले 1,592 के स्तर पर हैं; कल 26 नए पॉजिटिव मामलों के साथ सरकार के लिए हैदराबाद एक बड़ी चिंता बना हुआ है। राज्य में 5,000 अस्पताल बिस्तर कोविड के लिए पूरी तरह तैयार हैं।

असम : स्वास्थ्य मंत्री ने क्षेत्रीय जांच केन्द्र के परिचालन और कोविड-19 जांच तथा मरीजों की देखभाल में सुधार के लिए बारपेटा जिले में उपायुक्तों और पुलिस अधीक्षक के साथ विचार-विमर्श किया।

मणिपुर : मणिपुर में नई दिल्ली से वापस लौटी एक 64 वर्षीय बुजुर्ग महिला और उनकी 23 वर्षीय बेटी कोविड-19 जांच में पॉजिटिव मिलीं। राज्य के कुल 9 मामलों में 2 स्वस्थ हो गए और बाकी मरीजों का इलाज चल रहा है।

मिजोरम : मणिपुर में गवर्नमेंट कोलासिब कॉलेज के एनएसएस स्वयंसेवकों ने कोलासिब के सब्जी विक्रेताओं और पुलिस कर्मचारियों को हाथ से बने 150 मास्कों का वितरण किया। आइजोल पुलिस ने मिजोरम में सक्रिय कोविड-19 मामले के संबंध में सोशिल मीडिया पर गलत पोस्ट करने पर एक व्यक्ति को गिरफ्तार कर लिया।

नागालैंड : नागालैंड के मुस्लिम अपने घरों पर ही रमजान का पवित्र माह मना रहे हैं और उनकी लॉकडाउन के चलते घर पर ईद के आयोजन की योजना है। दीमापुर ग्राम परिषद ने उनके इलाकों में सरकार द्वारा चिह्नित क्वारंटाइन केन्द्रों के उपयोग पर सहमति दे दी है।

सिक्किम : कर्नाटक सरकार के समन्वय से सिक्किम सरकार बेंगलुरु में फंसे सिक्किम के 1054 लोगों को निकालने की योजना को पूरा कर लिया।

महाराष्ट्र : राज्य में कोविड-19 के 2,033 नए मामले दर्ज किए गए, जिससे कुल पॉजिटिव मामलों की संख्या 35,058 हो गई। ताजा आंकड़ों के अनुसार, वर्तमान में जहां राज्य में 25,392 सक्रिय मामले हैं, वहीं 8,437 मरीज स्वस्थ हो गए। महाराष्ट्र सरकार ने मई और जून में 3.08 करोड़ एबव पॉवर्टी लाइन ऑरेंज कार्डधारकों को प्रति व्यक्ति पांच किलोग्राम खाद्यान्न उपलब्ध कराने का फैसला किया है। कोविड-19 महामारी की वर्तमान स्थिति के बीच राज्य सरकार ने राज्य ने 52,422 राशन की दुकानों से खाद्यान्न का वितरण शुरू कर दिया है।

गुजरात : राज्य में कोविड-19 के 366 नए मामले दर्ज किए गए और 35 लोगों की मृत्यु हो गई। इस प्रकार गुजरात में कुल पॉजिटिव मामले बढ़कर 11,746 के स्तर पर पहुंच गए। इनमें से 4,804 लोग स्वस्थ हो गए हैं। राज्य में अब 6,248 सक्रिय मामले हैं, जिनमें से 38 लोग वेंटिलेटर पर हैं। इसके अलावा, लगभग 50 से ज्यादा दिन के अंतराल के बाद ऑड-इवन आधार पर गैर नियंत्रण (कॉन्टेनमेंट) क्षेत्रों में दुकानें, कार्यालय, परिवहन और बाजार खोल दिए गए हैं।

राजस्थान : आज दोपहर 2 बजे तक कोविड-19 के 250 नए मामले दर्ज किए गए, जिससे राज्य में कुल पॉजिटिव मामलों की संख्या बढ़कर 5,757 के स्तर पर पहुंच गई है। अभी तक 3,232 लोग स्वस्थ हो चुके हैं।

मध्य प्रदेश : कोविड-19 के 259 नए मामले सामने आने के बाद राज्य में कुल पॉजिटिव मामले बढ़कर 5,326 हो गए। ताजा रिपोर्ट के अनुसार, राज्य में सक्रिय मामलों की संख्या 2,549 के स्तर पर बनी हुई है।

गोवा : कोविड-19 के 9 नए मामले दर्ज किए गए, जिससे राज्य में कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की संख्या 31 हो गई।

 

पीआईबी द्वारा जांचे गए तथ्य

 

 

एएम/एमपी/एसके

 



(Release ID: 1625277) Visitor Counter : 111