PIB Headquarters

कोविड-19 पर पीआईबी का दैनिक बुलेटिन

Posted On: 09 MAY 2020 6:26PM by PIB Delhi

(पिछले 24 घंटे में जारी कोविड-19 से जुड़ी प्रेस विज्ञप्तियां, क्षेत्र अधिकारियों से प्राप्त जानकारियां और पीआईबी द्वारा जांचे गए तथ्य शामिल है)

देश में अभी तक कोविड-19 के 59,662 पुष्ट मामले दर्ज किए गए हैं; 17,847 लोग स्वस्थ हो गए और 1,981 लोगों की मृत्यु हो गई है।

पिछले 24 घंटों में 3,320 नए मामले दर्ज किए गए हैं।

असम और त्रिपुरा को छोड़कर पूर्वोत्तर के अधिकांश राज्य ग्रीन जोन में।

देश में परीक्षण क्षमता बढ़कर 95,000 प्रतिदिन हुई, अभी तक 15.25 लाख से अधिक परीक्षण किए गए हैं। 

केन्द्रीय गृह मंत्री ने कोविड-19 प्रबंधन के इस मुश्किल दौर में सीएपीएफ द्वारा किए जा रहे कार्यों की सराहना की।

श्रम मंत्रालय ने कोविड-19 से जुड़े मामलों पर सामाजिक भागीदारों के साथ संवाद किया, साथ ही इसके कामगारों और अर्थव्यवस्था पर पड़ने वाले असर को न्यूनतम करने के लिए योजना बनाई जा रही है।

श्री नकवी ने कहा कि कोविड महामारी के खिलाफ लड़ाई में बराबर योगदान दे रहे हैं अल्पसंख्यक समुदाय।

डॉ. हर्षवर्धन ने कोविड-19 से निपटने के इंतजामों और नियंत्रण उपायों के बारे में पूर्वोत्तर राज्यों के साथ समीक्षा बैठक की

केन्द्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने पूर्वोत्तर राज्यों में कोविड-19 की रोकथाम और अन्य इंतजामों के साथ स्थिति की समीक्षा करने के लिए आज अरुणाचल प्रदेश, असम, मणिपुर, मेघालय, मिजोरम, नागालैंड, त्रिपुरा और सिक्किम के साथ एक उच्च स्तरीय बैठक की। शुरुआत में, डॉ. हर्षवर्धन ने देश में कोविड-19 का मुकाबला करने में सभी राज्यों के समर्पण की सराहना की। उन्होंने कहा “यह एक बहुत बड़ी राहत है और अधिकांश पूर्वोत्तर राज्यों में ग्रीन जोन को देखना बेहद उत्साहजनक है। अब, केवल असम और त्रिपुरा में कोविड-19 के सक्रिय मामले हैं; अन्य राज्य ग्रीन जोन में हैं।” पूर्वोत्तर में कोविड-19 के लिए सकारात्मक इंतजाम जारी रखने के लिए, डॉ. हर्षवर्धन ने राज्यों को यह सुनिश्चित करने की सलाह दी कि पलायन करने वाले मजदूरों, छात्रों और विदेश से लौटने वाले लोगों की स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय और विदेश मंत्रालय के दिशा-निर्देशों और प्रोटोकॉल के अनुसार स्क्रीनिंग की जाए और उन्हें क्वारंटाइन में रखा जाए।

डॉ. हर्षवर्धन ने कहा कि 9 मई 2020 तक, देश में कुल 59,662 मामले सामने आए हैं, जिसमें 17,847 व्यक्ति इलाज के बाद ठीक हो गए हैं और 1,981 मौतें हुई हैं। पिछले 24  घंटों में 3,320 नए पुष्ट मामले सामने आए हैं और 1307 रोगी ठीक हो गए हैं। उन्होंने कहा कि मृत्यु दर 3.3 प्रतिशत और स्वस्थ होने की दर 29.9 प्रतिशत है। उन्होंने यह भी कहा कि (कल की तरह) आईसीयू में 2.41 प्रतिशत सक्रिय कोविड-19 रोगी हैं, वेंटिलेटर पर 0.38 प्रतिशत और ऑक्सीजन के सहारे 1.88 प्रतिशत लोग हैं। उन्होंने कहा, “देश में जांच क्षमता में वृद्धि हुई है और 332 सरकारी प्रयोगशालाओं और 121 निजी प्रयोगशालाओं की मदद से प्रति दिन 95,000 जांच की जा रही है। कोविड-19 के लिए संचयी रूप से, अब तक 15,25,631 परीक्षण किए जा चुके हैं।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-

डॉ. हर्षवर्धन ने तमिलनाडु, तेलंगाना और कर्नाटक में कोविड-19 के प्रबंधन की तैयारियों और नियंत्रण उपायों की समीक्षा की

डॉ. हर्षवर्धन ने कहा, "कोविड-19 का मुकाबला करने के लिए उचित उपाय किए जा रहे हैं और केन्द्र और राज्यों दोनों के सहयोगपूर्ण प्रयासों से, पर्याप्त संख्या में समर्पित कोविड अस्पतालों, एकांतवास और आईसीयू बिस्तेरों और क्वारंटाइन की पहचान की गई है और उन्हें विकसित किया गया है, हम कोविड-19 के कारण किसी भी संभावित घटना का सामना करने के लिए पूरी तरह से तैयार हैं।” उन्होंने कहा कि राज्यों/संघ शासित प्रदेशों /केन्द्रीय संस्थानों को पर्याप्त संख्या में मास्क और व्यक्तिगत सुरक्षा उपकरण, वेंटिलेटर आदि प्रदान करके केन्द्र भी सहायता कर रहा है।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-

श्री अमित शाह ने सभी केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बलों (सीएपीएफ) के महानिदेशकों के साथ समीक्षा बैठक की

केन्द्रीय गृह मंत्री ने कोविड-19 के प्रबंधन के इस मुश्किल दौर में सीएपीएफ द्वारा किए जा रहे कार्यों की सराहना की। श्री शाह ने कहा कि मोदी सरकार ना केवल कोविड-19 के संक्रमण को लेकर चिंतित है, बल्कि सभी सीएपीएफ जवानों की सुरक्षा और भलाई सुनिश्चित करने के लिए भी प्रतिबद्ध है। बैठक के दौरान, प्रत्येक सीएपीएफ द्वारा कोविड महामारी को रोकने के लिए किए गए अभिनव उपायों पर भी चर्चा की गई। इसके साथ ही मेस में व्यवस्थाएं बदलना और बैरक में रहने की सुविधा को बेहतर बनाना; सावधानियों के बारे में जागरूकता और प्रशिक्षण प्रदान करना; आयुष मंत्रालय के दिशा-निर्देशों के अनुसार प्रतिरक्षा को बढ़ावा देना और सुरक्षा कर्मियों की उम्र और उनके स्वास्थ्य के इतिहास को ध्यान में रखते हुए उचित कार्मिक प्रबंधन सुनिश्चित करना, जैसे विषयों पर चर्चा हुई।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्रे मोदी और इटली के प्रधानमंत्री ज्यूसेपे कोंते के बीच टेलीफोन पर बातचीत

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने इटली के प्रधानमंत्री महामहिम ज्यूसेपे कोंते के साथ टेलीफोन पर बातचीत की। प्रधानमंत्री ने कोविड-19 महामारी के कारण इटली में हुई मौतों पर दुःख प्रकट करते हुए अपनी संवेदनाएं व्यक्त की। दोनों नेताओं ने अपने-अपने देशों और वैश्विक स्तर पर महामारी के स्वास्थ्य संबंधी और आर्थिक प्रभाव से निपटने के लिए आवश्यक उपायों पर विचार-विमर्श किया। दोनों नेताओं ने एक दूसरे के प्रति एकजुटता व्यक्त की और एक दूसरे के देश में फंसे नागरिकों के प्रति दिखाए गए आपसी सहयोग की सराहना की। प्रधानमंत्री ने श्री कोंते को आश्वासन दिया कि भारत आवश्यक दवाओं और अन्य सामग्री की व्यवस्था करने में इटली को उदारता से सहयोग देता रहेगा।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-

केन्द्रीय श्रम एवं रोजगार मंत्रालय कोविड-19 महामारी के दौरान घोषित लॉकडाउन के कारण उद्योग और कामगारों को हो रहीं समस्याओं को दूर करने के लिए हर संभव कदम उठाएगा

श्रम एवं रोजगार मंत्रालय ने कोविड-19 महामारी के चलते पैदा हुए हालात पर चर्चा और कामगारों तथा अर्थव्यवस्था पर इसके प्रभाव को कम करने के लिए रणनीतियां बनाने व नीतिगत पहल करने के लिए सामाजिक भागीदारों के साथ विचार-विमर्श किया। श्रम एवं रोजगार मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्री संतोष कुमार गंगवार ने अपने कार्यालय से कर्मचारी संगठनों के साथ एक वेबिनार में भाग लिया। उन्होंने कहा कि उनका मंत्रालय उद्योग की आवश्यकताओं के प्रति सहानुभूति रखता है और उद्योग के पुनरुद्धार के लिए हर संभव सहायता देने तथा अर्थव्यवस्था को फिर से खोलने की कोशिश करेगा। उन्होंने कहा कि श्रम एवं रोजगार मंत्रालय उद्योग विशेषकर एमएसएमई सेक्टर को हो रही समस्याओं के समाधान के लिए अन्य संबंधित मंत्रालयों के साथ परामर्श कर रहा है।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-

कुछ संस्थाओं के पंजीकरण एवं अनुमोदन के लिए नई प्रक्रिया पर अमल 1 अक्टूबर, 2020 तक टला

केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (सीबीडीटी) ने अप्रत्याशित मानवीय और आर्थिक संकट को ध्यान में रखते हुए यह निर्णय लिया है कि कुछ संस्थाओं के अनुमोदन/पंजीकरण/अधिसूचना के लिए नई प्रक्रिया पर अमल को 1 अक्टूबर, 2020 तक स्थगित कर दिया जाएगा। तदनुसार, आयकर अधिनियम, 1961 की धारा 10 (23सी), 12एए, 35 और 80जी के तहत अनुमोदित/पंजीकृत/अधिसूचित की गई संस्थाओं को 1 अक्टूबर, 2020 से लेकर तीन माह के भीतर यानी 31 दिसंबर, 2020 तक संबंधित सूचना दर्ज करने की आवश्यकता होगी। इसके अलावा, नई संस्थाओं या निकायों के अनुमोदन/पंजीकरण/अधिसूचना के लिए संशोधित प्रक्रिया भी 1 अक्टूबर, 2020 से लागू होगी।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-

आयकर अधिनियम, 1961 की धारा 6 के तहत भारत में निवासके संबंध में स्पष्टीकरण

आयकर अधिनियम, 1961 की धारा 6 में किसी भी व्यक्ति के निवास से संबंधित प्रावधान हैं। किसी व्यक्ति की यह स्थिति कि वह भारत में निवासी है या अनिवासी है या सामान्य रूप से निवासी नहीं है,  दरअसल अन्य बातों के अलावा इस तथ्य पर निर्भर करता है कि वह व्यक्ति एक पूरे वर्ष के दौरान कितनी अवधि तक भारत में रहता है। इस आशय के कई ज्ञापन प्राप्त हुए हैं जिनमें कहा गया है कि ऐसे अनेक व्यक्ति हैं, जो किसी विशेष अवधि के लिए पिछले वर्ष 2019-20 के दौरान भारत की यात्रा पर आए थे और ‘भारत में अनिवासी हैं या सामान्य रूप से निवासी नहीं हैं’ के रूप में अपनी स्थिति को बनाए रखने के लिए पिछले वर्ष की समाप्ति से पहले ही भारत छोड़ देने अथवा यहां से प्रस्थान कर जाने का इरादा रखते थे। हालांकि, नोवेल कोरोना वायरस (कोविड-19) के प्रकोप के कारण लॉकडाउन की घोषणा किए जाने और अंतर्राष्ट्रीय उड़ानों पर रोक लगा दिए जाने के कारण उन्हें भारत में अपने प्रवास या निवास अवधि को बढ़ाना पड़ गया है। इसके मद्देनजर इस बात पर चिंता व्यक्त की जा रही है कि वे अनायास ही बिना किसी इरादे के भारतीय निवासी बन सकते हैं। इन लोगों को इस तरह की वास्तविक कठिनाई से बचाने के लिए केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड ने अब इस संबंध में स्पष्टीकरण जारी किया है।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-

अल्पसंख्यक वर्ग के लोग भी समाज के सभी लोगों के साथ कोविड-19 के खिलाफ लड़ाई में बराबर की जिम्मेदारी निभा रहे हैं- मुख्तार अब्बास नकवी

केंद्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्री श्री मुख्तार अब्बास नकवी ने आज यहां बताया कि मंत्रालय के कौशल विकास कार्यक्रम के तहत प्रशिक्षित 1500 से ज्यादा स्वास्थ्य सहायक, कोरोना से प्रभावित लोगों की सेहत-सलामती की सेवा में लगे हैं। श्री नकवी ने बताया कि इन प्रशिक्षित स्वास्थ्य सहायकों में 50 प्रतिशत लड़कियां हैं जो कि देश के विभिन्न अस्पतालों एवं स्वास्थ्य केंद्रों में कोरोना मरीजों की सेवा में मदद कर रहे हैं। श्री नकवी ने कहा कि देश के विभिन्न वक्फ बोर्डों द्वारा विभिन्न धार्मिक, सामाजिक, शैक्षणिक संस्थाओं के सहयोग से कोरोना महामारी के लिए 51 करोड़ रुपये प्रधानमंत्री एवं मुख्यमंत्री राहतफंड में सहयोग किया गया है।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-

देश भर में आवश्यक और चिकित्सीय सामग्री की निरंतर आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिए अब तक 490 लाइफलाइन उड़ानों का परिचालन

एयर इंडिया, अलायंस एयर, भारतीय वायु सेना और निजी वाहकों द्वारा लाइफलाइन उड़ान के अंतर्गत 490 उड़ानों का परिचालन किया गया। 8 मई 2020 को 6.32 टन कार्गो एक जगह से दूसरी जगह पहुंचाया गया जिसके बाद अब तक भेजे गए कार्गो की कुल मात्रा 848.42 टन हो गई। अलायंस एयर ने 8 मई 2020 को 2 उड़ानें भेजी, जबकि भारतीय वायु सेना ने 8 उड़ानें भेजी। लाइफलाइन उड़ानों द्वारा अब तक 4,73,609 किमी. से अधिक की दूरी तय कर ली गई है। इन उड़ानों का परिचालन नागर विमानन मंत्रालय द्वारा कोविड-19 के खिलाफ भारत की लड़ाई में सहायता के लिए देश के सुदूरवर्ती इलाकों तक आवश्यक चिकित्सा  सामग्री को पहुंचाने के लिए किया जा रहा है। पवन हंस लिमिटेड सहित हेलीकाप्टर सेवाएं जम्मू् और कश्मीर, लद्दाख और पूर्वोत्तर क्षेत्र में महत्वपूर्ण चिकित्सा सामग्री और रोगियों को पहुंचा रहे हैं। 8 मई 2020 तक पवन हंस 2.32 टन माल के साथ 8,001 किलोमीटर की दूरी तय कर चुका है।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-

कोविड-19 महामारी से पैदा हुई भारी चुनौतियों के बावजूद, आरसीएफ ने एनपीके उर्वरक सुफला की बिक्री में 35 प्रतिशत से अधिक की वृद्धि दर्ज की

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-

पीआईबी के क्षेत्रीय कार्यालयों से मिली जानकारियां

अरुणाचल प्रदेश : मुख्यमंत्री ने कोविड-19 के प्रसार को रोकने के लिए स्पर्शोन्मुख व्यक्तियों के साथ ही राज्य में आने वाले हर व्यक्ति के लिए जांच अनिवार्य करने की घोषणा की है।

मणिपुर : कोलकाता के पांच निजी अस्पतालों में काम करने वाली 22 नर्स वापस राज्य में पहुंच गई हैं और उन्हें क्वारंटाइन केन्द्र में भेज दिया गया है।

मेघालय : शिलांग, मेघालय में एक अन्य व्यक्ति कोविड-19 पॉजिटिव सामने आया है, जो पूर्व में एक मरीज के यहां काम करता था। वह ऐहतियातन पुनः जांच के दौरान पॉजिटिव पाया गया। मेघालय के मुख्यमंत्री ने एक ट्वीट में कहा कि वह व्यक्ति स्वस्थ है और उसमें कोई लक्षण नहीं दिख रहे हैं।

मिजोरम : केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने राज्य के कोविड-19 मुक्त होने और नवजात मृत्यु दर (आईएमआर) में 10 अंकों की कमी के लिए मिजोरम के स्वास्थ्य मंत्री को बधाई दी है।

नागालैंड : सरकार ने कहा कि राज्य से बाहर के गंभीर गैर कोविड मरीजों को आवेदक के आवेदन के साथ संलग्न बाहरी अस्पताल के स्वीकार्यता प्रमाण पत्र के बाद ही आने की अनुमति दी जाएगी। नागालैंड के योजना मंत्री कहा कि राज्य के बाहर फंसे 33 लोगों ने ई-पास के लिए आवेदन किया है, जबकि अन्य 7,015 लोगों ने सरकार से अपनी वापसी के लिए अनुरोध किया है।

सिक्किम : मुख्यमंत्री ने कोरोना महामारी से प्रभावित राज्य की अर्थव्यवस्था के पुनरोद्धार के बारे में विचार विमर्श के लिए राज्यपाल श्री गंगा प्रसाद से विचार-विमर्श किया; उन्हें उपायों के बारे में भी बताया।

त्रिपुरा : 11 अन्य राज्यों में फंसे त्रिपुरा के 17,000 लोगों ने राज्य में वापस आने के लिए ऑनलाइन पोर्टल के माध्यम से पंजीकरण कराया है। त्रिपुरा से 33,000 प्रवासी कामगारों को भी अपने संबंधित राज्यों को वापस भेजा जाना है।

महाराष्ट्र : 1,089 अतिरिक्त लोगों के पॉजिटिव होने के साथ राज्य में कोविड-19 के मामलों की संख्या बढ़कर 19,063 हो गई है। पिछले 24 घंटों में इस वायरस से 37 लोगों ने अपनी जान गंवा दी और इस प्रकार राज्य में कोरोना से मरने वालों की कुल संख्या बढ़कर 731 हो गई। मुंबई में पिछले 24 घंटों के दौरान कोरोना वायरस के 748 नए मामले दर्ज किए गए, जिससे शहर में कुल मामलों की संख्या बढ़कर 11,967 हो गई। पूरे महाराष्ट्र में 714 पुलिस कर्मचारी भी जांच में पॉजिटिव पाए गए हैं।

गुजरात : अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) के निदेशक डॉ. रणदीप गुलेरिया ने आज अहमदाबाद सिविल अस्पताल के चिकित्सकों से मुलाकात करके उन्हें कोविड-19 उपचार प्रोटोकॉल पर परामर्श दिया। इसके अलावा गुजरात में 24 लोगों की मृत्यु के साथ कोविड-19 से जान गंवाने वालों की कुल संख्या बढ़कर 449 हो गई। वहीं कोविड-19 पॉजिटिव मामलों की संख्या बढ़कर 7,403 हो गई, जो देश में महाराष्ट्र के बाद सबसे ज्यादा आंकड़ा है।

राजस्थान : राजस्थान में कोरोना वायरस के 57 नए मामले सामने आने के साथ कुल पुष्ट मामलों की संख्या 3,636 हो गई। अभी तक कुल संक्रमित लोगों में से 1,916 लोग ठीक हो गए और 101 लोगों की मृत्यु हो चुकी है।

मध्य प्रदेश : मध्य प्रदेश में आज सुबह 8.00 बजे तक 89 नए मामले सामने आ चुके थे, जिससे कुल मामलों की संख्या बढ़कर 3,341 हो गई। आज तक कुल संक्रमित लोगों में 1,349 लोग उपचार के बाद ठीक हो गए और 200 लोगों की मृत्यु हो गई। लगातार तीन दिनों में मध्य प्रदेश ने नए पॉजिटिव मामलों की तुलना में ज्यादा लोग उपचार के बाद ठीक हुए हैं।

छत्तीसगढ़ : मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखा और कोविड-19 महामारी के चलते पैदा आर्थिक संकट से उबरने के लिए 30,000 करोड़ रुपये के आर्थिक पैकेज की मांग की है। 60 पुष्ट मामलों और किसी की मृत्यु नहीं होने के साथ छत्तीसगढ़ भारत के सबसे कम प्रभावित राज्यों में से एक बना हुआ है।

केरल : केरल सरकार ने रेड जोन क्षेत्रों से इतर दूसरे राज्यों से वापस आने वाले लोगों के लिए पास जारी करना शुरू कर दिया है। केरल के कई लोग पास नहीं होने के कारण राज्य के सीमावर्ती जिलों की चेक पोस्टों पर फंसे हुए हैं। कोट्टायम जिला प्रशासन ने ऐसे 34 विद्यार्थियों की पहचान के लिए कदम उठाने शुरू कर दिए हैं, जो तमिलनाडु में रेड जोन जिले थिरुवल्लूर से वापस लौटे हैं और क्वारंटाइन से बच रहे हैं। मस्कट, कुवैत और दोहा से तीन अतिरिक्त उड़ानें वंदे भारत मिशन के तहत आज रात कोच्चि पहुंच जाएंगी। कल कोविड-19 का सिर्फ एक मामला दर्ज किया गया, जबकि 10 लोग उपचार के बात ठीक हो गए। अभी 16 मरीजों का ही उपचार चल रहा है।

तमिलनाडु : राज्य ने शराब की काउंटर बिक्री रोकने के उच्च न्यायालय के आदेश के खिलाफ उच्चतम न्यायालय की शरण ली है। मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री से विद्युत अधिनियम में संशोधन किए जाने का अनुरोध किया है। वंदे भारत मिशन के अंतर्गत एयर इंडिया की दो उड़ानें दुबई से 359 यात्रियों को लेकर आज सुबह चेन्नई अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पहुंच गईं। 168 यात्रियों को लेकर मलयेशिया से एक अन्य उड़ान आज तिरुचि हवाई अड्डे पर पहुंच जाएगी। कल तक कोविड के कुल मामले : 6009, सक्रिय मामले : 4361, मृत्यु : 40, डिस्चार्ज : 1605। वहीं 1589 मामले अभी तक कोयम्बेडु मार्केट से संबंधित हैं।

कर्नाटक : आज राज्य में कोविड के 36 नए मामले दर्ज किए गए, जिसमें से बेंगलुरु में 12, उत्तर कन्नड़ में 7, दावणगेरे में 6, चित्रदुर्ग, बीदर और दक्षिण कन्नड में 3-3 और तुमकुर तथा विजयपुरा में 1-1 मामले सामने आए। इस प्रकार कुल पॉजिटिव मामलों की संख्या 789 हो गई। अभी तक 30 लोगों की मृत्यु हो चुकी है और 379 लोग उपचार के बाद ठीक हो गए, जिन्हें डिस्चार्ज कर दिया गया है।

आंध्र प्रदेश : अवैध शराब और बालू के परिवहन पर रोक लगाने के लिए राज्य ने विशेष प्रवर्तन ब्यूरो की स्थापना की है। इसके अलावा शराब की दुकानों की संख्या 3,500 से घटाकर 2,934 करने का आदेश जारी कर दिया गया है। पिछले 24 घंटों के दौरान 8,388 नमूनों की जांच के बाद कोविड के 43 नए पॉजिटिव मामले दर्ज किए गए, 45 डिस्चार्ज कर दिया गया और तीन लोगों की मृत्यु हो गई। कुल मामले बढ़कर 1930 हो गए। सक्रिय मामले : 999, स्वस्थ हुए : 887, मृत्यु : 44। पॉजिटिव मामलों में अग्रणी राज्य : कुरनूल (553), गुंटूर (376), कृष्णा (338), अनंतपुर (102)।

तेलंगाना : आईसीएमआर ने कोविड-19 मरीजों पर प्लाज्मा थैरेपी परीक्षण करने के लिए ईएसआई अस्पताल और गांधी को छह महीने के लिए स्वीकृति दी है। राज्य में बिना मास्क पहने सार्वजनिक स्थलों पर घूमने पर 1,000 रुपये का जुर्माना लगाना शुरू कर दिया गया है। गाचीबोवली में एक निर्माण स्थल पर प्रवासी कामगारों के समूह ने विरोध प्रदर्शन किया, वे अपने मूल निवास स्थान पर भेजे जाने की मांग कर रहे थे। अभी तक कुल पॉजिटिव मामले : 1132; सक्रिय मामले : 376, मृत्यु : 29, डिस्चार्ज : 727.

चंडीगढ़ : संघ शासित क्षेत्र चंडीगढ़ के प्रशासक ने उपायुक्त को अपने यहां फंसे प्रवासी कामगारों और अन्य लोग जो अपने राज्यों को जाना चाहते हैं, को भेजने के लिए संबंधित राज्यों से समन्वय कायम करने के निर्देश दिए हैं। ऐसा आवश्यक चिकित्सा जांच के बाद किया जा सकता है।  इसके अलावा लगभग 5,000 लोग हवाई माध्यम से विदेश से वापस लौटना चाहते हैं, जिनमें से अधिकांश एनआरआई और चंडीगढ़ के रहने वाले हैं।

पंजाब : पंजाब सरकार ने कोविड-19 महामारी के दौर में भोजन और आवश्यक घरेलू सामानों की सुरक्षा बनाए रखने के लिए परामर्श जारी किया है। सामान्य परामर्श में पंजाब सरकार ने दुकानदारों, डिलीवरी कर्मचारियों और ग्राहकों हर समय कपड़े के मास्क पहने के निर्देश दिए हैं। किराने का सामान खरीदने या एक ऑर्डर लेते समय भी मास्क पहनने चाहिए। ग्राहकों के लिए एक विशेष परामर्श जारी करते हुए पंजाब सरकार ने आवश्यक वस्तुओं की खरीदने के लिए बाहर निकलने तक कपड़े का थैला लेकर चलने की सलाह दी है। कपड़े के थैले को उपयोग के तुरंत बाद साबुन और पानी से धोना चाहिए।

हरियाणा : हरियाणा सरकार की प्रतिबद्धता के तहत घर वापस लौटने के इच्छुक प्रवासी कामगारों को बिना किसी खर्च के राज्य सरकार द्वारा वापस अपने राज्य भेजा जाएगा। 5,000 बसों और 100 ट्रेनों के द्वारा अगले 7 दिन में ऐसा किया जाएगा। इस परिवहन के पूरे खर्च का बोझ राज्य सरकार द्वारा उठाया जाएगा। वर्तमान परिदृश्य में मुख्यमंत्री ने जिला प्रशासन सहित पूरी सरकारी मशीनरी को निर्देश दिए हैं कि लॉकडाउन के दौरान प्रवासी कामगारों के लिए खाने और आश्रय स्थल के लिए उचित व्यवस्था की जानी चाहिए। किसी भी प्रवासी कामगार को यह महसूस नहीं होना चाहिए कि वे घर से मीलों दूर हैं।

पीआईबी द्वारा जांचे गए तथ्य

http://164.100.117.97/WriteReadData/userfiles/image/image004HQIM.png

http://164.100.117.97/WriteReadData/userfiles/image/image005S6XA.png

***

एएम/एमपी/एसके



(Release ID: 1622590) Visitor Counter : 193