सूचना और प्रसारण मंत्रालय

केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री श्री अनुराग ठाकुर ने प्रसार भारती - प्रसारण और प्रसार के लिए साझा दृश्य-श्रव्य  (पीबी-एसएचएबीडी) का शुभारंभ किया


पीबी-एसएचएबीडी सभी प्रमुख भारतीय भाषाओं में पचास श्रेणियों में समाचार पठन सामग्री प्रदान करेगा

Posted On: 13 MAR 2024 4:57PM by PIB Delhi

केंद्रीय सूचना और प्रसारण मंत्री श्री अनुराग सिंह ठाकुर ने आज नई दिल्ली के राष्ट्रीय मीडिया केंद्र में आयोजित एक कार्यक्रम में प्रसार भारती की समाचार साझाकरण सेवा पीबी-एसएचएबीडी और दूरदर्शन समाचार और आकाशवाणी समाचार की वेबसाइट के साथ-साथ नावीनतम न्यूज ऑन एयर मोबाइल ऐप जारी किया।

इस अवसर पर श्री ठाकुर ने कहा कि आज देश के सूचना और प्रसारण क्षेत्र के लिए एक ऐतिहासिक दिन है। उन्होंने कहा, “पिछले कुछ वर्षों में, प्रसार भारती ने हर क्षेत्रीय भाषा में देश के हर कोने से समाचार एकत्र करने के साथ-साथ समाचार वितरण का एक विस्तृत नेटवर्क विकसित किया है। अब हमारा इस सटीक और सार्थक सामग्री को भारत के बाकी प्रिंट और इलेक्ट्रॉनिक मीडिया उद्योग के साथ साझा करने का विचार है।" केंद्रीय मंत्री महोदय ने आगे कहा कि समाचार संगठनों को स्वच्छ फ़ीड प्रदान की जाएगी और इसमें दूरदर्शन का प्रतीक चिन्ह नहीं होगा। यह फ़ीड देश के सभी कोनों से विभिन्न भाषाओं में सामग्री एकत्रित करेगी। इससे समाचार उद्योग में क्रांति आएगी और उन छोटे समाचार संगठनों को बड़े पैमाने पर सहायता मिलेगी जिनके पास सामग्री एकत्र करने के लिए व्यापक नेटवर्क का प्रबंध नहीं है। उन्होंने कहा कि पीबी-एसएचएबीडी ऐसे सभी संगठनों के लिए समाचार सामग्री प्रदान करने के लिए एक स्थान पर उपलब्ध स्रोत होगा।

केंद्रीय मंत्री महोदय ने आगे बताया कि पीबी-एसएचएबीडी सेवा एक आरंभिक प्रस्ताव के रूप में पहले वर्ष के लिए नि:शुल्क रूप से प्रस्तुत की जा रही है और यह पचास श्रेणियों में सभी प्रमुख भारतीय भाषाओं में समाचार सामग्री प्रदान करेगी।

दूरदर्शन समाचार और आकाशवाणी की संशोधित वेबसाइट और न्यूज़ ऑन एआईआर ऐप के बारे में श्री ठाकुर ने कहा कि आकाशवाणी समाचार व्यापक मोबाइल कनेक्टिविटी के युग में भी बहुत अधिक प्रासंगिक बना हुआ है और अब भी सरकारी योजनाओं और नीतियों के बारे में सटीक जानकारी का प्रमुख स्रोत है। नवीन ऐप में कई नई सुविधाएं, जैसे व्यक्तिगत समाचार फ़ीड, ब्रेकिंग न्यूज के लिए पुश नोटिफिकेशन, मल्टीमीडिया सामग्री एकीकरण, ऑफ़लाइन पढ़ने की क्षमता, वास्तविक समय कवरेज के लिए लाइव स्ट्रीमिंग, आसान सोशल मीडिया साझाकरण, स्थान-आधारित समाचार वितरण, लेखों को सहेजने के लिए बुकमार्क करना और शक्तिशाली खोज कार्यक्षमता उपलब्ध होंगी।

इससे पहले सूचना और प्रसारण मंत्रालय में सचिव श्री संजय जाजू ने अपने संबोधन में पीबी-एसएचएबीडी के प्रयोग और नई वेबसाइट तथा ऐप शुरू करने के लिए पूरी प्रसार भारती टीम को बधाई दी। उन्होंने कहा कि पोर्टल काफी तालमेल बनाएगा और देश भर में सार्थक समाचार सामग्री के प्रसार में लाभदायक होगा।

प्रसार भारती के मुख्य कार्यकारी अधिकारी श्री गौरव द्विवेदी ने कहा कि प्रसार भारती मीडिया संगठनों तक पहुंच बनाएगा और अपने नेटवर्क द्वारा एकत्रित ऑडियो, वीडियो, फोटो और पठन सामग्री आधारित जानकारी साझा करेगा।

पीबी-एसएचएबीडी प्लेटफॉर्म को मीडिया परिदृश्य से ग्राहकों को वीडियो, ऑडियो, पठन सामग्री, फोटो और अन्य प्रारूपों में दैनिक समाचार फ़ीड प्रदान करने के लिए डिज़ाइन किया गया है। प्रसार भारती के पत्रकारों, संवाददाताओं और स्वतंत्र पत्रकारों के विशाल नेटवर्क द्वारा संचालित, यह सेवा आपके लिए देश के विभिन्न हिस्सों से नवीनतम समाचार लेकर आएगी।

साझा फ़ीड का उपयोग विभिन्न मंचों पर अनुकूलित समाचार प्रदान करने के लिए किया जा सकता है। एक आरंभिक प्रस्ताव के रूप में, सेवाएँ निःशुल्क उपलब्ध होंगी और इससे छोटे समाचार पत्रों, टीवी चैनल और डिजिटल पोर्टल को काफी साहायता मिलेगी। विवरण https://shabd.prasarbharati.org/ पर उपलब्ध है।

दूरदर्शन समाचार और आकाशवाणी समाचार की संशोधित वेबसाइट और संशोधित न्यूज़ ऑन एआईआर ऐप उपयोगकर्ताओं को सहज अनुभव और उपयोग करने वालों को बेहतर जुड़ाव प्रदान करेगा। वेबसाइट उपयोगकर्ता के अनुकूल अनुभव प्रदान करेगी। इसमें नवीनतम डिजाइन शामिल होंगी ताकि उपयोगकर्ताओं को निर्बाध अनुभव मिल सके। उपयोगकर्ता दिलचस्प समाचार ऑडियो का पता लगा सकते हैं, विशेष कार्यक्रमों में शामिल हो सकते हैं और दैनिक तथा साप्ताहिक विशेष प्रसारण सुन सकते हैं। अपने व्यवस्थित लेआउट और विविध सामग्री प्रस्तुति के साथ, संशोधित वेबसाइट उपयोगकर्ताओं के लिए समाचार प्राप्त करने की यात्रा को समृद्ध बनाती हैं। समर्पित अनुभागों में राष्ट्रीय, अंतर्राष्ट्रीय, शिक्षा, स्वास्थ्य, व्यवसाय और अर्थव्यवस्था, विज्ञान और तकनीक, खेल, पर्यावरण और विचार शामिल हैं।

***

एमजी/एआर/एमकेएस/



(Release ID: 2014280) Visitor Counter : 342