सूचना और प्रसारण मंत्रालय

सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय ने एनिमेशन, विजुअल इफेक्ट्स, गेमिंग और कॉमिक्स (एवीजीसी) संवर्धन टास्क फोर्स का गठन किया


सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय के सचिव टास्क फोर्स के प्रमुख होंगे, जो 90 दिनों में अपनी पहली कार्य योजना प्रस्तुत करेगा

टास्क फोर्स में उद्योग जगत, शिक्षा जगत और राज्य सरकारों के प्रतिनिधि शामिल किये गए हैं

Posted On: 08 APR 2022 10:46AM by PIB Delhi

माननीय वित्त मंत्री के बजट भाषण में एवीजीसी संवर्धन टास्क फोर्स के गठन की घोषणा की गयी थी। 

एवीजीसी उद्योग भागीदार के रूप में हितधारक

कंटेंट निर्माण में भारत की अग्रणी भूमिका

एवीजीसी क्षेत्र के विकास की नीतियों का मार्गदर्शन

उद्योग जगत के साथ सक्रिय रूप से सहयोग

भारतीय एवीजीसी उद्योग की वैश्विक स्थिति को और बेहतर बनाना          

 

भारत के पास एनिमेशन, विजुअल इफेक्ट्स, गेमिंग और कॉमिक्स (एवीजीसी) क्षेत्र में "क्रिएट इन इंडिया" और "ब्रांड इंडिया" के तहत अग्रणी भूमिका निभाने की क्षमता है। भारत के पास इस क्षेत्र में लगभग 25-30 प्रतिशत की वार्षिक वृद्धि और सालाना 1,60,000 से अधिक रोजगार के नए अवसर सृजित करने के साथ वर्ष 2025 तक वैश्विक बाजार की 5 प्रतिशत हिस्सेदारी (लगभग 40 बिलियन डॉलर) हासिल करने की क्षमता है।  

 

2. एवीजीसी क्षेत्र के दायरे को और विस्तार देने के लिए, केंद्रीय बजट 2022-23 में एनिमेशन, विजुअल इफेक्ट्स, गेमिंग और कॉमिक्स (एवीजीसी) संवर्धन टास्क फोर्स के गठन की घोषणा की गई थी, ताकि देश की और वैश्विक मांग को पूरा करने के लिए घरेलू क्षमता के निर्माण व उपयोग करने के तरीकों की सिफारिश की जा सके।

 

3. केंद्रीय बजट 2022-23 में की गई घोषणा के अनुरूप, सूचना और प्रसारण मंत्रालय के तत्वावधान में देश में एवीजीसी क्षेत्र को बढ़ावा देने के लिए एक एनिमेशन, विजुअल इफेक्ट्स, गेमिंग और कॉमिक्स (एवीजीसी) संवर्धन टास्क फोर्स का गठन किया गया है।

 

4. सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय के सचिव एवीजीसी संवर्धन टास्क फोर्स के प्रमुख होंगे तथा इसमें निम्न मंत्रालयों/ विभागों के सचिव शामिल होंगे

कौशल विकास और उद्यमिता मंत्रालय;

उच्च शिक्षा विभाग,शिक्षा मंत्रालय;

इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय और

उद्योग और आंतरिक व्यापार संवर्धन विभाग।

 

इसमें उद्योग जगत की व्यापक भागीदारी होगी, यथा

 

सर्व श्री बीरेन घोष, कंट्री हेड, टेक्नीकलर इंडिया;

आशीष कुलकर्णी, संस्थापक, पुनर्युग आर्टविजन प्रा लिमिटेड;

जेश कृष्ण मूर्ति, संस्थापक और सीईओ, अनिब्रेन;

केतन यादव, सीओओ और वीएफएक्स निर्माता, रेडचिलीज वीएफएक्स;

चैतन्य चिंचलीकर, मुख्य प्रौद्योगिकी अधिकारी, व्हिसलिंग वुड्स इंटरनेशनल;

किशोर किचिली, सीनियर वाइस प्रेसिडेंट और कंट्री हेड, जिग्ना इंडिया;

नीरज रॉय, हंगामा डिजिटल मीडिया एंटरटेनमेंट के प्रबंध निदेशक और सीईओ।

 

5. एवीजीसी संवर्धन टास्क फोर्स में कर्नाटक, महाराष्ट्र, तेलंगाना की राज्य सरकारों; अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद, राष्ट्रीय शैक्षिक अनुसंधान और प्रशिक्षण परिषद जैसे शिक्षा निकायों के प्रमुखों एवं उद्योग निकायों - एमईएससी, फिक्की और सीआईआई के प्रतिनिधियों को शामिल किया गया है।

 

6. भारत सरकार, राज्य सरकारों और उद्योग जगत के प्रमुख प्रतिनिधियों की भागीदारी के साथ एवीजीसी संवर्धन टास्क फोर्स का गठन इस क्षेत्र के विकास को गति प्रदान करेगा। इस क्षेत्र के विकास के लिए नीतियों का मार्गदर्शन करने में संस्थागत प्रयासों को प्रोत्साहन दिया जायेगा, भारत में एवीजीसी शिक्षा के लिए मानक स्थापित किये जायेंगे, उद्योग जगत और अंतरराष्ट्रीय एवीजीसी संस्थानों के साथ सक्रिय रूप से सहयोग किया जायेगा तथा भारतीय एवीजीसी उद्योग की वैश्विक स्थिति को बेहतर बनाने के प्रयास किये जायेंगे।

 

टास्क फोर्स के कार्य-क्षेत्र में निम्न को शामिल किया गया है;

 

(i) राष्ट्रीय एवीजीसी नीति तैयार करना,

 

(ii) एवीजीसी से संबंधित क्षेत्रों में स्नातक, स्नातकोत्तर और डॉक्टरेट पाठ्यक्रमों के लिए राष्ट्रीय पाठ्यक्रम रूपरेखा की सिफारिश करना,

 

(iii) शैक्षणिक संस्थानों, व्यावसायिक प्रशिक्षण केंद्रों और उद्योग जगत के सहयोग से कौशल निर्माण पहलों की सुविधा देना,

(iv) रोजगार के अवसरों को बढ़ावा देना,

 

(v) भारतीय एवीजीसी उद्योग की वैश्विक पहुंच को विस्तार देने के लिए प्रचार-प्रसार और बाजार विकास गतिविधियों का आयोजन करना,

 

(vi) एवीजीसी क्षेत्र में एफडीआई को आकर्षित करने के लिए निर्यात में वृद्धि और प्रोत्साहन पैकेज की सिफारिश करना।

 

7. एवीजीसी संवर्धन टास्क फोर्स 90 दिनों के भीतर अपनी पहली कार्य योजना प्रस्तुत करेगा।

****

 

एमजी/एएम/जेके

 



(Release ID: 1814760) Visitor Counter : 495