PIB Headquarters

कोविड-19 पर पीआईबी का दैनिक बुलेटिन

Posted On: 08 AUG 2020 6:31PM by PIB Delhi

 

Coat of arms of India PNG images free download

 

 

 

 

 

 

(पिछले 24 घंटों में जारी कोविड-19 से संबंधित प्रेस विज्ञप्तियां, पीआईबी के क्षेत्रीय कार्यालयों से मिली जानकारियां और पीआईबी द्वारा जांचे गए तथ्य शामिल हैं)

भारत में ठीक हुए कुल मरीजों की संख्या 14.2 लाख से अधिक हुई।

कोविड-19 से ठीक होने की दर में सुधार जारी, आज यह 68.32 प्रतिशत है।

राष्ट्रीय स्तर पर कोरोना के मामलों में मृत्यु दर घटकर 2.04 प्रतिशत हुई।

भारत ने वैश्विक औसत 2,425 की तुलना में प्रति दस लाख की आबादी पर 1469 मामले के साथ सबसे कम मामलों वाले देशों में अपनी जगह को बनाए रखा है।

स्वास्थ्य मंत्रालय कोविड संक्रमण की उच्च मृत्यु दर वाले जिलों के साथ लगातार समन्वय बनाए हुए है।

आज देश में सक्रिय मामलों की संख्या 6,19,088 हैं।

भारत में ठीक हुए कुल मरीजों की संख्या 14.2 लाख से अधिक हुई; ठीक होने की दर में सुधार जारी, आज यह 68.32 प्रतिशत है; राष्ट्रीय स्तर पर कोरोना के मामलों में मृत्यु दर घटकर 2.04 प्रतिशत हुई

वैश्विक स्तर पर तुलनात्मक रूप से, भारत ने वैश्विक औसत 2,425 की तुलना में प्रति दस लाख की आबादी पर 1469 मामले के साथ सबसे कम मामलों वाले देशों में अपनी जगह को बनाए रखा है। वैश्विक परिदृश्य की तुलना में भारत में कोरोना के मामलों में मृत्यु दर कम बनी हुई है और इसमें निरंतर गिरावट आ रही है। आज कोरोना के मामलों में मृत्यु दर 2.04 प्रतिशत है। कोविड-19 के कारण होने वाली मृत्यु दर में कमी लाने के केंद्रित प्रयासों के साथ, भारत में वैश्विक औसत 91 की तुलना में प्रति दस लाख की आबादी पर होने वाली मृत्यु का आंकड़ा 30 है, जोकि सबसे कम मृत्यु वाले देशों में से एक है। कोविड-19 से ठीक होने वालों की संख्या में तेजी से बढ़ोतरी हुई है। पिछले 24 घंटों में 48,900 रोगियों को अस्पताल से छुट्टी दिए जाने के साथ ही, भारत में कोविड-19 से ठीक होने वाले कुल मामलों की संख्या बढ़कर 14,27,005 हो चुकी है। ठीक होने की दर, लगातार बढ़ोतरी करते हुए 68.32 प्रतिशत पर पुहंच गई है। वर्तमान समय में देश में सक्रिय मामलों की संख्या 6,19,088 हैं, जो कि वास्तविक रूप से भारत में एक केस लोड हैं, जो कि कुल सकारात्मक मामलों का 29.64 प्रतिशत हैं। पूरे देश में सुविधाजनक परीक्षण के लिए विस्तारित नैदानिक प्रयोगशाला नेटवर्क और सुविधा केंद्रों की स्थापना के परिणामस्वरूप, भारत में कोविड-19 संक्रमण का पता लगाने लिए अब तक कुल 2,33,87,171 नमूनों का परीक्षण किया गया है। पिछले 24 घंटों में 5,98,778 नमूनों का परीक्षण किया गया। प्रति दस लाख की आबादी पर परीक्षण में भी वृद्धि दर्ज की गई है जो आज बढ़कर 16,947 हो चुकी है। सरकारी क्षेत्र की 936 प्रयोगशालाओं और निजी क्षेत्र की 460 प्रयोगशालाओं के साथ, भारत में कोविड-19 की जांच के लिए कुल प्रयोगशालाओं की संख्या 1,396 हैं।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-https://www.pib.gov.in/PressReleasePage.aspx?PRID=1644447

केन्द्र ने राज्यों को कोविड-19 मृत्यु दर कम करने के लिए सभी प्रयासों पर ध्यान केन्द्रित करने का निर्देश दिया

केन्द्र और राज्य/केन्द्र शासित प्रदेशों की सरकारों द्वारा कोविड-19 के समन्वित, वर्गीकृत और सक्रिय प्रबंधन ने राष्ट्रीय स्तर पर कोरोना के मामलों में मृत्यु दर (सीएफआर) को कम करना सुनिश्चित किया है। यह वर्तमान में 2.04 प्रतिशत है। कोविड-19 के सहयोगपूर्ण प्रबंधन के लिए राज्यों/केन्द्र शासित प्रदेशों की समीक्षा और सहायता की सतत प्रक्रिया के एक हिस्से के रूप में स्वास्थ्य सचिव श्री राजेश भूषण की अध्यक्षता में दो उच्च स्तरीय वर्चुअल बैठकों का 7 और 8 अगस्त को आयोजन किया गया। इन बैठकों का उद्देश्य राष्ट्रीय औसत से अधिक मामलों और उच्च सीएफआर की रिपोर्ट करने वाले राज्यों के साथ सहयोग करना था ताकि उन्हें कोविड-19 के कारण मृत्यु दर रोकथाम और उसे कम करने के उनके प्रयासों में परामर्श और सहायता प्रदान की जा सके। आज की बैठक में आठ राज्यों /केन्द्र शासित प्रदेशों में केन्द्रित 13 जिलों पर ध्यान दिया गया। इनमें असम में कामरूप महानगर हैं; बिहार में पटना; झारखंड में रांची; केरल में अलापुझा और तिरुवनंतपुरम; ओडिशा में गंजम; उत्तर प्रदेश में लखनऊ; पश्चिम बंगाल में  24 परगना उत्तर, हुगली, हावड़ा, कोलकाता और मालदह तथा दिल्ली का नाम भी शामिल है। इन जिलों में भारत के लगभग 9 प्रतिशत सक्रिय मामले हैं और लगभग 14 प्रतिशत कोविड से मौतें हुई हैं। इनमें प्रति दस लाख की आबादी पर कम परीक्षण और उच्च पुष्टि प्रतिशत की भी रिपोर्ट मिली हैं। राज्यों को कम प्रयोगशाला उपयोग यानी आरटी-पीसीआर के लिए प्रति दिन 100 परीक्षण से कम और अन्य के लिए 10  परीक्षण के मुद्दों से निपटने की सलाह दी गई। इसके अलावा, प्रति दस लाख की आबादी पर परीक्षण, पिछले सप्ताह से निरपेक्ष परीक्षणों में कमी; परीक्षण के परिणाम में देरी; स्वास्थ्य और देखभाल कर्मचारियों के बीच उच्च पुष्टि प्रतिशत के बारे में भी सलाह दी गई। उन्हें सलाह दी गई कि वे भर्ती होने के 48 घंटे के भीतर मरने वाले मरीजों के कुछ जिलों से रिपोर्ट के मद्देनजर समय पर रेफरल और अस्पताल में भर्ती सुनिश्चित करें।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-https://www.pib.gov.in/PressReleasePage.aspx?PRID=1644459

स्वास्थ्य मंत्रालय कोविड संक्रमण की उच्च मृत्यु दर वाले जिलों के साथ लगातार समन्वय बनाए हुए है

राष्ट्रीय और राज्यों के औसत से अधिक कोविड मृत्यु दर वाले जिले चिंता का कारण बने हुए हैं। ऐसे में कोविड-19 महामारी के प्रभावी नियंत्रण और प्रबंधन के लिए केंद्र-राज्य समन्वित रणनीति के तहत कोविड-19 से होने वाली मौतों का कारण जानने और ऐसी घटनाओं को कम करने के प्रयासों के तहत इन जिलों और उनके राज्य प्रशासन के साथ समन्वय बनाए रखने के लिए स्वास्थ्य सचिव श्री राजेश भूषण द्वारा कल एक उच्च स्तरीय वर्चुअल बैठक की अध्यक्षता की गई। चार राज्यों के ऐसे 16 जिलों में गुजरात में अहमदाबाद और सूरत; कर्नाटक में बेलगावी, बेंगलुरु शहरी, कलबुर्गी और उडुपी; तमिलनाडु में चेन्नई, कांचीपुरम, रानीपेट, तेनी, तिरुवल्लुर, तिरुचिरापल्ली, तूतीकोरिन और विरुधनगर तथा तेलंगाना में हैदराबाद और मेडचल मलकाजगिरी शामिल हैं। मामलों में उच्च मृत्यु दर के अलावा, इन जिलों में भारत के 17 प्रतिशत सक्रिय मामले, दैनिक स्तर पर अधिक नए मामले, प्रति दस लाख की आबादी पर कम परीक्षण और पुष्ट मामलों का प्रतिशत अधिक है। जिलों से कहा गया है कि वह कोविड-19 के रोगियों और अन्य लोगों विशेषकर रुग्णता, गर्भवती महिलाएं, बुजुर्ग और बच्चों के बीच होने वाली मौतों को रोकने के लिए स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा जारी परामर्श, दिशा-निर्देश और नैदानिक उपचार प्रोटोकॉल के अनुपालन और क्रियान्वयन को सुनिश्चित करें।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-https://www.pib.gov.in/PressReleasePage.aspx?PRID=1644315

भारत में लगातार चौथे दिन पिछले 24 घंटों में 6 लाख से अधिक नमूनों का परीक्षण किया गया

भारत ने लगातार चौथे दिन गुरुवार को 6 लाख से अधिक कोविड-19 के नमूनों के परीक्षण के अपने ट्रैक रिकॉर्ड को जारी रखा। देश भर में विस्तारित डायग्नोस्टिक लैब नेटवर्क और आसान परीक्षण सुविधा से कोविड-19 के नमूनों के परीक्षण ने गति पकड़ी है और पिछले 24 घंटों में 6,39,042 परीक्षण किए गए हैं। इसके साथ ही भारत में अब तक कुल 2,27,88,393 परीक्षण किए जा चुके हैं। प्रति दस लाख की आबादी पर परीक्षण (टीपीएम) में भी वृद्धि हुई है और परीक्षण की यह संख्या 16513 पर पहुंच गई है। दैनिक परीक्षणों में 7 दिन का औसत परीक्षण 14 जुलाई, 2020 को लगभग 2.69 लाख से 6 अगस्त, 2020 तक बढ़कर लगभग 5.66 लाख हो गई है। 14 जुलाई, 2020 को कुल परीक्षण 1.2 करोड़ से बढ़कर 6 अगस्त, 2020 को कुल 2.2 करोड़ परीक्षण हो गए हैं। इसी अवधि में कोविड-19 की पॉजिटिविटी रेट 7.5 प्रतिशत से बढ़कर 8.87 प्रतिशत हो गई है। इस रणनीति को बनाए रखने के लिए देश में परीक्षण प्रयोगशाला नेटवर्क को लगातार मजबूत किया जा रहा है। आज देश में 1383 प्रयोगशालाएं कार्यरत हैं जिनमें सरकारी क्षेत्र की 931प्रयोगशालाएं और 452 निजी प्रयोगशालाएं हैं।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-https://www.pib.gov.in/PressReleasePage.aspx?PRID=1644242

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण पैकेज का विस्तारः कोविड-19 से लड़ने वाले स्वास्थ्य बीमा-कर्मियों के लिए मूल अवधि से अतिरिक्त 90 दिनों के लिए बढ़ाया गया।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-https://www.mohfw.gov.in/pdf/PMGKPInsuranceextensionletter.pdf

देश भर में 21 ईएसआईसी अस्पतालों को 2400 आइसोलेशन बेड की सुविधा के साथ समर्पित कोविड-19 अस्पतालों में बदला गया: श्री संतोष गंगवार

केंद्रीय श्रम और रोजगार राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्री संतोष कुमार गंगवार और हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल खट्टर ने वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से फरीदाबाद में ईएसआईसी मेडिकल कॉलेज और अस्पताल में प्लाज्मा बैंक का उद्घाटन किया। श्री गंगवार ने कहा कि इस संकटपूर्ण कोविड स्थिति में देश भर में 21 ईएसआईसी अस्पतालों को समर्पित कोविड-19 अस्पतालों में परिवर्तित किया गया है। इन अस्पतालों में 2400 से अधिक आइसोलेशन बेड, 200 वेंटिलेटर के साथ 550 आईसीयू/एचडीयू बेड भी उपलब्ध कराए गए हैं। चार ईएसआईसी अस्पतालों अलवर (राजस्थान), बिहटा, पटना (बिहार), गुलबर्ग (कर्नाटक) और कोरबा (छत्तीसगढ़) में क्वारंटाइन सुविधा (लगभग 1300 बेड) को बहाल किया गया है। इसके अलावा, फरीदाबाद (हरियाणा), बसईदारापुर (नई दिल्ली) और सनथनगर (हैदराबाद) के ईएसआईसी अस्पतालों में कोविड-19 परीक्षण सुविधा उपलब्ध कराई गई है। कोविड-19 के गंभीर रोगियों के इलाज के लिए फरीदाबाद और सनथनगर, हैदराबाद के ईएसआईसी अस्पताल में प्लाज्मा थेरेपी भी दी जा रही है।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-https://www.pib.gov.in/PressReleasePage.aspx?PRID=1644450

पीएमएवाई (शहरी) के तहत स्वीकृत लगभग 10.28 लाख घरों के निर्माण के प्रस्तावों को मंजूरी दी गई 

प्रधानमंत्री आवास योजना (शहरी) के तहत केंद्रीय स्वीकृति और निगरानी समिति (सीएसएमसी) की 51वीं बैठक 7 अगस्त 2020 को नई दिल्ली में आयोजित की गई। इस बैठक में 19 राज्यों व केंद्र शासित प्रदेशों ने हिस्सा लिया। बैठक में लगभग 10.28 लाख घरों के निर्माण के लिए प्रतिभागी राज्यों के 1589 प्रस्तावों को मंजूरी दी गई। इन घरों का निर्माण साझेदारी में लाभार्थी की भागीदारी में किफायती आवास के तहत किया जाना है। कोविड-19 महामारी के दौरान यह सीएसएमसी की पहली बैठक थी। यह इस बात को दर्शाता है कि सरकार 'सबको घर' देने के अपने विजन के साथ 2022 तक शहरी भारत के सभी पात्र लाभार्थियों को पक्के मकान उपलब्ध कराने को महत्व दे रही है।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-https://www.pib.gov.in/PressReleasePage.aspx?PRID=1644340

जल शुद्धीकरण प्रौद्योगिकी केन्द्रित एमएसएमई के लिए कोविड-19 से संबंधित विभिन्न उत्पादों के लिए नई तकनीकों पर वेबिनार

वैज्ञानिक तथा औद्योगिक अनुसंधान परिषद-केन्द्रीय यांत्रिक अभियांत्रिकी अनुसंधान संस्थान (सीएसआरआई-सीएमईआरआई) के निदेशक प्रोफेसर (डॉ.) हरीश हिरानी एवं सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम-विकास संस्थान (एमएसएमई-डीआई) के निदेशक श्री विश्व मोहन झा ने बताया कि सीएसआईआर-सीएमईआरआई ने नवीनतम कोविड-19 तकनीकों का विकास किया है, इसके तहत 7 अगस्त 2020 को आयोजित जल शुद्धीकरण प्रौद्योगिकी या जल शोधन तकनीक पर आकर्षक वेबिनार पर ध्यान केंद्रित किया गया। इस वेबिनार का मुख्य उद्देश्य एमएसएमई के तहत उद्योगों/उद्यमियों को सीएसआरआई-सीएमईआरआई द्वारा विकसित प्रौद्योगिकियों या तकनीकों से अवगत कराना है, साथ ही इन्हें अभियांत्रिकी समाधान और सीएसआरआई-सीएमईआरआई में उपलब्ध सुविधाएं प्रदान करना भी था।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-https://www.pib.gov.in/PressReleasePage.aspx?PRID=1644463

पीआईबी के क्षेत्रीय कार्यालयों से मिली जानकारियां

  • अरुणाचल प्रदेश- अरुणाचल प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री ने पापुमपरे जिले के मिडपू में कोविड समर्पित स्वास्थ्य केंद्र (डीसीएचसी) का उद्घाटन किया। डीसीएचसी में 35 बेड के साथ 7 पूरी तरह से वातानुकूलित कंटेनर हैं।
  • मणिपुर- राज्य में पीएचसी लैमपोकपम में 4 डॉक्टर और एक नर्स का कोविड-19 टेस्ट पॉजिटिव आया है। 2 से 7 अगस्त के बीच स्वास्थ्य केंद्र आने वाले सभी रोगियों से प्रशासन से संपर्क करने को कहा है।
  • मिजोरम- ठीक हो चुके 7 कोविड-19 मरीजों को आज मिजोरम में छुट्टी दे दी गई। राज्य में कुल सक्रिय मामले 270 हैं जबकि 296 को अब तक छुट्टी दी जा चुकी है। मिजोरम में अब तक कोविड-19 के कुल मामले 566 आए हैं।
  • नगालैंड- राज्य में 607 नमूनों की जांच की गई, जिनमें से कोविड-19 के 31 नए पॉजिटिव केस पता चले हैं। 12 कोहिमा में, 10 दीमापुर में जुहेबोतो में 6 और वोखा में 3 मामले।
  • केरल- करीपुर हवाई दुर्घटना में मरने वालों की संख्या बढ़कर 18 हो गई है। वर्तमान में विभिन्न अस्पतालों में 149 लोग भर्ती हैं, जिनमें से 14 की हालत गंभीर है। नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने आज दुर्घटनास्थल और अस्पतालों का दौरा किया। उन्होंने प्रत्येक मृतक के परिवार को 10 लाख रुपये की अंतरिम राहत देने की घोषणा की। गंभीर रूप से घायलों को 2 लाख और मामूली रूप से जख्मी होने वाले लोगों को 50 हजार रुपये की मदद दी जाएगी। राज्य में कल हुई दूसरी त्रासदी, इडुक्की में भूस्खलन में मरने वालों की संख्या 24 हो गई है। लगभग 50 और शवों के कीचड़ में दबे होने की आशंका है। केरल में कल कोविड-19 के 1251 नए मामलों की पुष्टि हुई, जिनमें से 1061 संपर्क केस और 73 अज्ञात स्रोतों से थे। फिलहाल राज्य में 12,411 मरीजों का इलाज चल रहा है और 1,49,684 लोग अलग-अलग जिलों में निगरानी में हैं।
  • तमिलनाडु- पुडुचेरी में 268 नए मामलों के साथ ही कोविड-19 के केस 5000 के आंकड़े को पार कर गए। मृतकों की संख्या 80 हो गई है। केंद्र शासित प्रदेश में कुल संख्या अब 5067 है, जबकि सक्रिय मामले 1953 और मृतकों का आंकड़ा 80 है। लॉकडाउन अवधि में ज्यादा छूट देते हुए राज्य ने 10 अगस्त से नगर निगम क्षेत्रों के भीतर छोटे पूजास्थलों में सार्वजनिक पूजा की अनुमति दी है। राज्य सरकार ने कोविड-19 महामारी से निपटने के लिए 500 एंबुलेंस खरीदने के लिए 103 करोड़ रुपये अलग रखे हैं। कल 5880 नए केस आए, 6488 लोग ठीक हुए और 119 मौतें दर्ज हुईं। कुल मामले-2,85,024 सक्रिय मामले- 52,759 मौतें- 4690 और चेन्नई में सक्रिय केस 11,606 हैं।
  • कर्नाटक- सीएम बीएस येदियुरप्पा ने टेलिफोन पर मुख्य सचिव से बात की और राज्य में बाढ़ के हालात का जायजा लिया। उन्होंने निर्देश दिया कि मुख्य सचिव उनकी स्वीकृति की प्रतीक्षा किए बिना आपातकालीन उपायों के साथ आगे बढ़ सकते हैं। पुलिसकर्मियों में कोविड के बढ़ते मामलों के मद्देनजर, बेंगलुरु सिटी पुलिस कमिश्नर ने ड्यूटी के दौरान पुलिस के लिए दिशा-निर्देश जारी किए हैं। राज्य के स्वास्थ्य विभाग ने अंतरराष्ट्रीय यात्रियों के लिए दिशा-निर्देश संशोधित किए है और अगर उनमें लक्षण नहीं हैं तो उन्हें 14 दिनों तक घर में क्वारंटाइन (पृथकवास) में रहना होगा। कल 6670 नए केस, 3951 मरीजों को अस्पताल से छुट्टी दे दी गई और 101 लोगों की मौत हो गई। कुल मामले 1,64,924, सक्रिय मामले 77,686, मौतें 2998 और 84,232 लोग ठीक होकर घर लौट चुके हैं।
  • आंध्र प्रदेश- राज्य सरकार ने तय किया है कि बुखार, सांस फूलने और ऑक्सीजन के स्तर में कमी से पीड़ित लोग कोविड-19 परीक्षण के बाद अस्पताल में भर्ती होंगे क्योंकि परीक्षण के नतीजे आने के इंतजार में उनके इलाज में देरी होगी। नेल्लोर शहर में लॉकडाउन 23 अगस्त तक बढ़ा दिया गया है। शहर में दुकानों को सुबह 6 बजे से दोपहर 1 बजे तक ही खोलने की अनुमति दी जाएगी। प्रत्येक सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों में सरकार ऑक्सीजन की आपूर्ति के साथ 5-10 बेड की व्यवस्था करेगी। प्रकाशम जिला प्रशासन कोरोना वायरस महामारी के मामलों के लगातार बढ़ने के मद्देनजर जिला मुख्यालय में संपूर्ण लॉकडाउन लागू करने की तैयारी कर रहा है। 10,171 नए केस, 7594 मरीजों को अस्पतालों से छुट्टी दे दी गई और कल 89 मौतें हुईं। कुल मामले 2,06,960, सक्रिय मामले 84,654 और 1842 मौतें हुईं।
  • तेलंगाना- लक्षण न दिखने वाले कोरोना वायरस के मरीज अब तेलंगाना के लिए बड़ी चिंता का सबब बन गए हैं। हालांकि यह अच्छा संकेत हैं कि ज्यादातर लक्षण न दिखाई देने वाले मरीजों के ठीक होने की दर ज्यादा है, लेकिन बड़ी आबादी में वायरस का तेजी से प्रसार अधिकारियों को चिंतित कर रहा है। हैदराबाद में कोविड-19 की रफ्तार मंद पड़ी है, दूसरे जिलों में केस बढ़े हैं। तेलंगाना में 2256 और केस मिले हैं। बीते 24 घंटों में 1091 लोग ठीक हुए हैं और 14 लोगों की मौत हुई है। 2256 केस में से 464 मामले जीएचएमसी से आए हैं। कुल मामले 77,513, सक्रिय मामले 22,568,  मौतें 615 और 54,330 लोग ठीक हो चुके हैं।
  • महाराष्ट्र- महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री श्री उद्धव ठाकरे ने अधिकारियों को निर्देश दिया है कि वे उन अस्पतालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करें जो इलाज के लिए ज्यादा पैसे ले रहे हैं। साथ ही उन्होंने प्रकोप के मद्देनजर बिस्तरों और एंबुलेंस का बेहतर प्रबंधन करने को भी कहा। महाराष्ट्र में शुक्रवार को 10,906 मामले बढ़े जिसके साथ ही कुल मामले बढ़कर 4,90,262 हो गए। सक्रिय मामले 1,45,582 हैं।
  • गुजरात- अहमदाबाद और सूरत 4 राज्यों के उन 16 जिलों में शामिल हैं, जहां कोविड-19 मृत्यु दर राष्ट्रीय और संबंधित राज्य के औसत से अधिक है। केंद्र ने उन्हें प्रति दस लाख की आबादी पर टेस्ट बढ़ाने और एंबुलेंस की पर्याप्त उपलब्धता सुनिश्चित करने को कहा है, जिससे किसी को मना न किया जा सके। अहमदाबाद और सूरत में अब तक क्रमश: 27,587 और 14,777 केस सामने आए हैं। गुजरात में कुल मामलों की संख्या 68,885 है।
  • राजस्थान- राज्य में शुक्रवार को 1,161 नए मरीजों के साथ ही कोविड-19 की टैली 50 हजार के आंकड़े को पार कर गई है। सक्रिय मामले 13,195 हैं। इस बीच राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के तहत 6,310 सामुदायिक स्वास्थ्य अधिकारियों की नियुक्ति के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है।
  •  मध्य प्रदेश- राज्य में पिछले 24 घंटों में कोविड-19 के 734 नए केस आए हैं और कुल मामले बढ़कर 37,298 हो गए हैं। इनमें से 27,621 लोग ठीक हो गए हैं। मृतकों की कुल संख्या 962 है।
  • छत्तीसगढ़- पूर्व विधानसभा अध्यक्ष श्री गौरीशंकर अग्रवाल के कोविड पॉजिटिव पाए जाने के दो दिन बाद विपक्ष के नेता श्री धर्मलाल कौशिक भी पॉजिटिव पाए गए हैं। राज्य में शुक्रवार को 378 नए केस आए जबकि सक्रिय मामले 3,002 हैं।

पीआईबी द्वारा जांचे गए तथ्य

https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image007BCFI.jpg

Image

https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image00923E0.jpg

एमजी/एएम/एसके/एएस



(Release ID: 1644542) Visitor Counter : 70