रेल मंत्रालय
azadi ka amrit mahotsav

भारतीय रेलवे बड़े पैमाने पर डिजिटल इंडिया पहल को बढ़ावा दे रहा है


लेन-देन के डिजिटल तरीके रेल यात्रियों की यात्रा को सुविधाजनक बना रहे हैं

ई-कैटरिंग सेवा वर्तमान में 310 रेलवे स्टेशनों पर 1755 सेवा प्रदाताओं और 14 फूड एग्रीगेटर्स के माध्यम से उपलब्ध है, जो प्रतिदिन औसतन 41,844 भोजन की आपूर्ति करती है

596 ट्रेनों में 3081 पीओएस मशीनें उपलब्ध हैं और 4316 स्थिर इकाइयां पीओएस मशीनों के साथ उपलब्ध हैं

Posted On: 22 SEP 2022 11:55AM by PIB Delhi

भारतीय रेलवे में डिजिटल इंडिया पहल को बढ़ावा देने के लिए रेलवे स्टेशनों पर खानपान इकाइयों के माध्यम से खाद्य पदार्थों की खरीद के लिए डिजिटल लेनदेन की व्यवस्था को प्रोत्साहित किया जा रहा है और 8878 स्थिर इकाइयों में डिजिटल भुगतान की सुविधा है। इसके अलावा, खानपान इकाइयों में हैंडहेल्ड पीओएस मशीनें मुद्रित बिल और रसीदें बनाने के लिए प्रदान की जा रही हैं जो किए गए लेनदेन के सभी विवरणों को दर्शाती हैं और ओवरचार्जिंग की शिकायतों को दूर करती हैं। वर्तमान में 596 ट्रेनों में 3081 पीओएस मशीनें उपलब्ध हैं। 4316 स्थिर इकाइयां पीओएस मशीन के साथ उपलब्ध हैं।

ट्रेनों में यात्रियों के लिए उपलब्ध विकल्पों की सीमा को बढ़ाने के लिए, भारतीय रेलवे पर ई-खानपान सेवाएं शुरू की गई हैं। ई-खानपान सेवाओं का प्रबंधन आईआरसीटीसी द्वारा किया जाता है। यात्री ई-टिकट की बुकिंग के समय या ट्रेन में यात्रा करते समय ऐप/कॉल सेंटर/वेबसाइट/1323 पर कॉल करके अपनी पसंद के भोजन का प्री-ऑर्डर दे सकते हैं। ई-कैटरिंग सेवा वर्तमान में 1755 सेवा प्रदाताओं और 14 फूड एग्रीगेटर्स के माध्यम से 310 रेलवे स्टेशनों पर उपलब्ध है, जो प्रतिदिन औसतन 41,844 भोजन की आपूर्ति करती है।

***

एमजी/एएम/केसीवी/एसके           



(Release ID: 1861502) Visitor Counter : 200