आवास एवं शहरी कार्य मंत्रालय
azadi ka amrit mahotsav

आवासन एवं शहरी कार्य मंत्रालय आजादी का अमृत महोत्सव के उपलक्ष्य में 30 कार्यक्रमों का आयोजन कर रहा है

सूरत में ‘स्मार्ट सिटीज, स्मार्ट शहरीकरण’ के ग्रैंड फिनाले कार्यक्रम का समापन होगा

श्री हरदीप एस पुरी ने ‘स्मार्ट सिटीज, स्मार्ट शहरीकरण’ विषय पर एक सचित्र ब्रोशर जारी किया

सरकार अपने नागरिकों को प्रथम श्रेणी के आवास उपलब्‍ध कराने के लिए प्रतिबद्ध है : श्री पुरी

Posted On: 11 JAN 2022 4:13PM by PIB Delhi

भारत सरकार का आवासन एवं शहरी कार्य मंत्रालय, स्वतंत्रता की 75वीं वर्षगांठ के उपलक्ष्य में प्रधानमंत्री श्री नरेन्‍द्र मोदी के आजादी का अमृत महोत्सव (एकेएएम) के महत्‍वपूर्ण आह्वान के तहत 30 कार्यक्रमों की एक श्रृंखला का आयोजन कर रहा है। आजादी का अमृत महोत्सव समारोह का उद्घाटन मार्च 2021 में प्रधानमंत्री श्री नरेन्‍द्र मोदी द्वारा किया गया था। यह अगस्त, 2022 में हमारी स्वतंत्रता की 75वीं वर्षगांठ के लिए 75-सप्ताह की उलटी गिनती को चिन्हित करता है। यह कार्यक्रम इसके बाद भी अगस्त, 2023 तक एक साल तक जारी रहेगा।

आवास एवं शहरी कार्य मंत्री श्री हरदीप सिंह पुरी द्वारा आयोजित एक मीडिया कार्यक्रम में ‘स्मार्ट सिटीज, स्मार्ट शहरीकरण’ विषय पर वर्चुअल रूप से एक सचित्र ब्रोशर का औपचारिक विमोचन किया गया।

 

इस अवसर पर श्री हरदीप पुरी ने कहा कि यह सही है कि पूरा देश भारत की आजादी के इस ऐतिहासिक 75वें वर्ष में आजादी का अमृत महोत्सव मनाने के लिए एक साथ आ गया है। उन्होंने कहा कि स्‍वतंत्रता के समय केवल 17 प्रतिशत भारतीय ही शहरी क्षेत्रों में रहते थे, जबकि आज यह प्रतिशतता दोगुने से भी अधिक हो गई है। आवासन एवं शहरी कार्य मंत्रालय शहरी विकास के लगातार विकसित हो रहे क्षेत्र में अपना व्यापक योगदान देने के लिए सामने से नेतृत्व करने के लिए प्रतिबद्ध है। उन्होंने यह भी कहा कि मंत्रालय की जन केन्द्रित रणनीति में शहरी जीवन के तीन मुख्‍य आयाम- रहने योग्यता, आर्थिक-क्षमता और स्थिरता सम्मिलित हैं, जो मंत्रालय के सभी प्रमुख कार्यक्रमों में शामिल हैं। श्री पुरी ने कहा कि सरकार अपने नागरिकों को प्रथम श्रेणी के आवास उपलब्ध कराने के लिए प्रतिबद्ध है और इसलिए इसके कार्यक्रमों का योगदान अधिक विश्वसनीय हो जाता है।

उन्‍होंने कहा कि आवासन एवं शहरी कार्य मंत्रालय की ‘एकेएएम’ पहल में ‘होल ऑफ गवर्नमेंट’ का दृष्टिकोण शामिल है और इसे बड़े पैमाने पर जन भागीदारी के आस-पास तैयार किया गया है। यह न केवल देश की समृद्ध सांस्कृतिक विरासत बल्कि इसकी भविष्य की आकांक्षाओं और नवाचार की भावना को भी उजागर करता है। उन्होंने कहा कि पहले से चल रहे कार्यक्रमों को नागरिकों, जन प्रतिनिधियों, सामुदायिक संगठनों, उद्योग, शिक्षा जगत और स्टार्टअप समेत अन्य लोगों से जबरदस्त प्रतिक्रिया प्राप्‍त हो रही है।

 

ब्रोशर (https://smartnet.niua.org/azadi-ka-amrit-mahotsav) में 1 जनवरी से 31 जनवरी, 2022 तक भारतीय शहरों में आवासन एवं शहरी कार्य मंत्रालय द्वारा आयोजित किए जा रहे सभी 30 प्रतिष्ठित और प्रभावशाली कार्यक्रमों का सारांश दिया गया है। (इन कार्यक्रमों की सूची अनुलग्नक 1 पर)

 

इन आयोजनों का समापन ‘स्मार्ट सिटीज, स्मार्ट शहरीकरण’ सम्मेलन के दौरान ग्रैंड फिनाले में होगा, जिसमें 6 मुख्य कार्यक्रम 4 और 5 फरवरी, 2022 को सूरत में अस्थायी रूप से आयोजित किए जाएंगे। देश में कोविड-19 की उभरती हुई स्थिति को देखते हुए ये तारीखें अस्थायी हैं। यह ब्रोशर आवासन एवं शहरी कार्य मंत्रालय के साथ देश की आजादी का अमृत महोत्‍सव मनाने उसमें शामिल होने के लिए पाठकों को प्रेरित करने हेतु प्रत्‍येक गतिविधि का फोकस क्षेत्र उपलब्‍ध कराता है। (ब्रोशर अनुलग्नक 2 पर दिया गया है)

ये समारोह एकेएएम के पांच विषयों यानी - स्वतंत्रता संग्राम, कार्य@75, उपलब्धियां@75, विचार@75 और संकल्प@75 दर्शाते हैं। यह आयोजन 1 जनवरी 2022 से शुरू हुए हैं और इनमें नागरिकों, जन प्रतिनिधियों, सामुदायिक संगठनों, उद्योग, शिक्षाविदों, ज्ञान भागीदारों और स्टार्टअप्स से जबरदस्त प्रतिक्रिया मिल रही है। इन कार्यक्रमों में 3 लाख से अधिक भारतीय नागरिकों के भाग लेने की उम्मीद है।

महामारी की वर्तमान स्थिति को देखते हुए, मंत्रालय ने आयोजनों को हाइब्रिड मॉडल में आयोजित करने का निर्णय लिया है। 4 कार्यक्रम जो पहले शुरू हो चुके हैं जैसे- जीआईएस हैकथॉन, स्मार्ट सिटीज और एकेडेमिया टुवर्ड एक्शन एंड रिसर्च (एसएएआर) या शहरी नवाचारों, जलवायु परिवर्तन जागरूकता अभियान और फ्रीडम टू वॉक एंड साइकिल में श्रेष्‍ठ प्रक्रियाओं के दस्‍तावेजीकरण करने के लिए अकादमिक संस्‍थानों के साथ सहयोग में पहले ही जबरदस्त भागीदारी हो चुकी है।

जीआईएस हैकथॉन-अर्बन जियोस्पेशियल डेटा स्टोरीज चैलेंज-2022 में 900 से अधिक लोगों की भागीदारी देखी गई, जबकि फ्रीडम 2 वॉक एंड साइकिल अभियान 2.0 में 15000 से अधिक लोगों ने भाग लिया। एसएएआर आयोजन के तहत 6 जनवरी, 2022 को, 15 कॉलेजों/विश्वविद्यालयों, 47 शहरों, एनआईयूए और आवासन एवं शहरी कार्य मंत्रालय के बीच स्मार्ट 75 प्रभावशाली परियोजनाओं के दस्तावेजीकरण के लिए कार्यक्रम शुरू करने के बारे में एक ऑनलाइन बैठक आयोजित की गई थी। इसके अलावा, 27 दिसम्‍बर, 2021 को शुरू किए गए जलवायु जागरूकता अभियान का लक्ष्य 100 स्मार्ट शहरों में 1 लाख नागरिकों तक पहुंच बनाना है।

‘‘भारत की आजादी के इस ऐतिहासिक 75वें वर्ष में, यह उचित है कि पूरा देश आजादी के अमृत महोत्सव को बड़े उत्साह के साथ मनाने के लिए एक साथ आया है। आवासन एवं शहरी कार्य मंत्रालय शहरी विकास में प्रभावशाली कार्रवाई और परिवर्तनकारी उपलब्धियों को स्‍मरण करते हुए अपने इस प्रयास में महत्वपूर्ण योगदान दे रहा है। आयोजित किए गए विभिन्न कार्यक्रमों को जीवंत और समावेशी बनाने के लिए ईज ऑफ लिविंग में वृद्धि करने के लिए भारत के सामूहिक दृष्टिकोण को दर्शाते हैं।

श्री हरदीप सिंह पुरी

आवासन एवं शहरी कार्य मंत्री

 

‘‘आवासन एवं शहरी कार्य मंत्रालय के आजादी का अमृत महोत्सव समारोह भारत के शहरों में हो रहे बुनियादी ढांचे, व्यवहारिक और डिजिटल परिवर्तन को दर्शाता हैं जो निस्संदेह शहरी भारत में नागरिकों के जीवन की बेहतर गुणवत्ता और दीर्घकालिक समृद्धि प्राप्त करने में सहायता करेगा।’’

श्री मनोज जोशी

सचिव, आवासन एवं शहरी कार्य मंत्रालय

 

आजादी का अमृत महोत्सव

आजादी का अमृत महोत्सव प्रगतिशील भारत के 75 साल और इसके लोगों, संस्कृति और उपलब्धियों के गौरवशाली इतिहास को स्‍मरण करने और इसका समारोह मनाने के लिए भारत सरकार की एक पहल है। यह महोत्सव भारत के लोगों को समर्पित है, जिन्होंने न केवल भारत को अपनी परिवर्तनकारी यात्रा में साथ लाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है, बल्कि उनके अंदर आत्‍मनिर्भर भारत की भावना द्वारा प्रेरित प्रधानमंत्री मोदी के भारत 2.0 को सक्रिय करने के दृष्टिकोण को सक्षम बनाने की शक्ति और क्षमता भी प्रदान की है।

आजादी का अमृत महोत्सव सभी के लिए अभिव्‍यक्ति है, जो भारत की सामाजिक-सांस्कृतिक, राजनीतिक और आर्थिक पहचान के बारे में प्रगतिशील है। ‘‘आजादी का अमृत महोत्सव’’ की आधिकारिक यात्रा 12 मार्च 2021 को शुरू हुई थी, जो हमारी स्वतंत्रता की 75वीं वर्षगांठ के लिए 75-सप्ताह की उलटी गिनती शुरू करती है। यह 15 अगस्त 2022 को एक वर्ष के बाद समाप्त होगी।

 

अनुलग्नक - I

1 जनवरी से 31 जनवरी, 2022 तक आयोजित किए जाने वाले 30 कार्यक्रमों की सूची

 

क्र. सं.

कार्यक्रम का नाम

कार्यक्रम की तिथि (तिथियां)

1.

जीआईएस हैकथॉन: एक शहरी भू-स्थानिक डेटा कहानियां चैलेंज 2022

1 से 17 जनवरी

2.

नागरिकों और शहर के दिग्‍गजों के लिए फ्रीडम2वॉक और साइकिल चैलेंज

1 से 26 जनवरी

3.

स्मार्ट सिटीज एंड एकेडेमिया टुवर्ड्स एक्शन एंड रिसर्च (एसएएआर)

1 जनवरी से

4.

जलवायु परिवर्तन जागरूकता अभियान

1 से 26 जनवरी

5.

वाइब्रेंट गुजरात: पीपीपी रोड शो

8 जनवरी*, 17 से 30 जनवरी

6.

पीएमएवाई-यू- पैनल चर्चा से आगे

10 से 15 जनवरी

7.

स्वस्थ शहर परामर्श कार्यशाला

12 जनवरी

8.

प्लेसमेकिंग मैराथन 2.0

15 से 26 जनवरी

9.

स्लम मुक्त शहरों के बारे में पैनल चर्चा

16 से 20 जनवरी

10.

ओपन डेटा वीक (भाग 1)

17 से 21 जनवरी

11.

ओपन डेटा वीक (भाग 2)

17 से 21 जनवरी

12.

पुणे मेट्रो रीच 1 और 2 का उद्घाटन

17 से 31 जनवरी

13.

10 शहरों के लिए शहरी स्टार्टअप अड्डे

17 से 31 जनवरी

14.

शहरी बेघरों की शीतकालीन लामबंदी

17 से 31 जनवरी

15.

रोजगार मेला

17 से 31 जनवरी

16.

ऋण मेला

17 से 31 जनवरी

17.

स्वनिधि से समृद्धि

17 से 31 जनवरी

18.

स्वनिधि विशेष अभियान

17 से 31 जनवरी

19.

‘स्वच्छतम कनेक्ट’ अभियान

17 से 31 जनवरी

20.

‘लक्ष्य जीरो डंपसाइट’ अभियान

17 से 31 जनवरी

21.

स्वच्छ प्रौद्योगिकी चुनौती - परिणाम

17 से 31 जनवरी

22.

‘हर धड़कन है स्वच्छ भारत की’

17 से 31 जनवरी

23.

जल सुनिश्चित एनसीआर पर कार्यशाला

17 से 31 जनवरी

24.

एक सप्ताह - एक लाख कनेक्शन कार्यक्रम

17 से 31 जनवरी

25.

पीएमएवाई-यू यात्रा वृतांत

17 से 31 जनवरी

26.

यमुना नदी के बाढ़ के मैदानों की बहाली और कायाकल्प

17 से 31 जनवरी

27.

पीएमएवाई-यू के तहत वित्त स्वचालन

21 जनवरी

28.

स्वच्छता स्टार्ट-अप चैलेंज अभियान

27 जनवरी

29.

स्मार्ट भवनों पर वेबिनार

28 जनवरी

30.

पीएमएवाई-यू पुरस्कारों की घोषणा: 150 दिवसीय चुनौती

30 जनवरी

 

*स्थगित

***

एमजी/एएम/आईपीएस/वीके/एके



(Release ID: 1789204) Visitor Counter : 241