PIB Headquarters

कोविड-19 पर पीआईबी का दैनिक बुलेटिन

Posted On: 06 OCT 2020 6:26PM by PIB Delhi

Coat of arms of India PNG images free downloadhttps://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image002H4UQ.jpg

 

(पिछले 24 घंटों में जारी कोविड-19 से संबंधित प्रेस विज्ञप्तियां, पीआईबी के क्षेत्रीय कार्यालयों से मिली जानकारियां और पीआईबी द्वारा जांचे गए तथ्य शामिल हैं)

  • कुल सकारात्मक मामले के केवल 13.75 प्रतिशत ही सक्रिय मामले
  • रिकवरी के नए मामलों में से 74 प्रतिशत मामले 10 राज्यों / केन्द्र शासित प्रदेशों से
  • नए मामलों में से 75 प्रतिशत मामले 10 राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों से
  • पिछले 24 घंटे में 75,787 मरीज रिकवर हुए हैं और उन्हें छुट्टी दी गई है जबकि पुष्टि के नए मामले 61,267 है
  • डॉ. हर्षवर्धन ने कोविड-19 के प्रबंधन के लिए आयुर्वेद और योग पर आधारित राष्ट्रीय नैदानिक प्रबंधन प्रोटोकॉल जारी किया
  • श्री प्रकाश जावडेकर ने फिल्‍म दिखाने के लिए मानक संचालन प्रक्रियाएं (एसओपी) जारी की

https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image002DMUU.jpg

https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image0030RIV.jpg

भारत में सक्रिय मामलों के प्रतिशत में लगातार आ रही है कमी, कुल सकारात्मक मामले का केवल 13.75 प्रतिशत ही सक्रिय मामला, रिकवरी के नए मामलों में से 74 प्रतिशत मामले 10 राज्यों/केन्द्र शासित प्रदेशों से, 25 राज्यों /केन्द्र शासित प्रदेशों में पुष्टि के नए मामलों की तुलना में नई रिकवरी अधिक

भारत में कुल सक्रिय मामलों के प्रतिशत के रूप में सक्रिय मामलों में लगातार कमी दर्ज की जा रही है। इस समय देश में कुल सकारात्मक मामलों का केवल 13.75 प्रतिशत ही सक्रिय मामला है जो 9,19,023 है।सक्रिय मामलों के प्रतिशत का कम होता ट्रेंड रिकवरी मामलों के बढ़ते प्रतिशत के समर्थन में है। रिकवरी के कुल मामले 56,62,490 है। रिकवरी मामले और सक्रिय मामलों के बीच का अंतर 47 लाख (47,43,467) को पार कर गया है। रिकवरी की बढ़ती संख्या के साथ, यह अंतर लगातार बड़ा हो रहा है।अधिक संख्या में रिकवरी होने से राष्ट्रीय रिकवरी दर में और सुधार हुआ है और यह 84.70 प्रतिशत तक बढ़ गया है। पिछले 24 घंटे में 75,787 मरीज रिकवर हुए हैं और उन्हें छुट्टी दी गई है जबकि पुष्टि के नए मामले 61,267 है। 25 राज्यों / केंद्र शासित प्रदेशों में पुष्टि के नए मामलों की तुलना में नई रिकवरी अधिक हो गई है।रिकवरी के नए मामलों में से 74 प्रतिशत मामले 10 राज्यों / केन्द्र शासित प्रदेशों महाराष्ट्र, आंध्र प्रदेश, कर्नाटक, तमिलनाडु, केरल, उत्तर प्रदेश, ओडिशा, दिल्ली, छत्तीसगढ़ और पश्चिम बंगाल में केंद्रित हैं। अकेले महाराष्ट्र ने ए​क दिन में सबसे अधिक करीब 13,000 लोग रिकवर हुए हैं।पिछले 24 घंटों में 61,267 नए पुष्ट मामले सामने आए हैं। नए मामलों में से 75 प्रतिशत मामले 10 राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों से हैं। महाराष्ट्र में सबसे अधिक 10,000 मरीज रिकवर हुए हैं। इसके बाद कर्नाटक में 7,000 से अधिक मरीज रिकवर हुए हैं।पिछले 24 घंटों में 884 लोगों की मौत हुई हैं। इनमें से लगभग 80 प्रतिशत मौतें महाराष्ट्र, कर्नाटक, उत्तर प्रदेश, तमिलनाडु, पश्चिम बंगाल, आंध्र प्रदेश, पंजाब, छत्तीसगढ़, दिल्ली और मध्य प्रदेश जैसे दस राज्य / केंद्र शासित प्रदेशों में केंद्रित हैं। कुल मौतों में से 29 प्रतिशत से अधिक मौत महाराष्ट्र (263 मौतें) में हुई हैं।

 

अधिक जानकारी के लिए यहां पढ़े-

डॉ. हर्षवर्धन ने कोविड-19 के प्रबंधन के लिए आयुर्वेद और योग पर आधारित राष्ट्रीय नैदानिक प्रबंधन प्रोटोकॉल जारी किया

केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने आज आयुष राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्रीपद येसो नाइक की वर्चुअल उपस्थिति में कोविड-19 के प्रबंधन के लिए आयुर्वेद और योग पर आधारित राष्ट्रीय नैदानिक प्रबंधन प्रोटोकॉल जारी किया। नीति आयोग के उपाध्यक्ष डॉ. राजीव कुमार और नीति आयोग के सदस्य (स्वास्थ्य) डॉ. वी.के. पॉल भी वर्चुअली शामिल हुए।भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) के पूर्व महानिदेशक डॉ. वीएम कटोच की अध्यक्षता में 'नेशनल क्लिनिकल मैनेजमेंट प्रोटोकॉल: कोविड-19' में आयुर्वेद और योग उपायों के एकीकरण के लिए एक अंतर-विषयी समिति ने क्षेत्र के विशेषज्ञों के एक समूह से मिलकर स्वीकार्य प्रयोगात्मक और नैदानिक ​​डेटा के आधार पर रिपोर्ट तैयार की और सिफारिशें प्रस्तुत कीं।आयुष मंत्रालय की उपलब्धि की सराहना करते हुए डॉ. हर्षवर्धन ने कहा कि लोगों की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने की सलाह अत्यधिक लोकप्रिय हो गई है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी ने कोविड-19 संकट के प्रबंधन के लिए आयुष सलाह का पालन करने पर जोर दिया है। निवारक और रोगनिरोधी उपायों से निपटने वाला यह प्रोटोकॉल न केवल कोविड के प्रबंधन में, बल्कि आधुनिक समय की समस्याओं के समाधान के लिए पारंपरिक ज्ञान को प्रासंगिक बनाने में भी एक महत्वपूर्ण कदम है। उन्होंने आसानी से उपलब्ध और आम आयुर्वेदिक जड़ी-बूटियों और गुडुची, अश्वगंधा, आयुष -64 जैसे हल्के और स्पर्शोन्मुख कोविड मामलों के उपचार में शामिल किए जाने पर संतोष व्यक्त किया।

 

अधिक जानकारी के लिए यहां पढ़े-

डॉ. हर्षवर्धन ने विश्व स्वास्थ्य संगठन के कार्यकारी बोर्ड के पांचवें विशेष सत्र की अध्यक्षता की

केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के कार्यकारी बोर्ड के अध्यक्ष के रूप में कार्यकारी बोर्ड के पांचवें विशेष सत्र की वर्चुअली अध्यक्षता की। पर्यवेक्षक प्रतिभागी और डब्ल्यूएचओ मुख्यालय के वरिष्ठ अधिकारी भी उपस्थित थे। बैठक के एजेंडे में कोविड-19 से निपटने के क्रम में डब्ल्यूएचए 73.1 संकल्प के पूर्ण और प्रभावी कार्यान्वयन सुनिश्चित करने के लिए आवश्यक उपायों पर ध्यान केंद्रित करना शामिल था। डब्ल्यूएचए 73.1 शीर्षक का संकल्प "कोविड-19 से निपटना" 130 से अधिक देशों द्वारा सह-प्रायोजित किया गया था और महामारी को नियंत्रित करने और वायरस से निपटने के लिए सभी आवश्यक स्वास्थ्य प्रौद्योगिकियों और उत्पादों के न्यायसंगत उपयोग के प्रयासों पर जोर देने की मांग की गई थी।महामारी फैलने के कारण वैश्विक संकट को याद करते हुए, उन्होंने कहा, "आज ऐसी विषम परिस्थितियां हैं, जिन्होंने हम सभी को वर्चुअली मिलने के लिए मजबूर कर दिया है। सरकार, उद्योग जगत और परोपकारियों को मिलकर इससे जुड़े जोखिम, अनुसंधान, विनिर्माण और वितरण के प्रति भुगतान हेतु संसाधन जुटाना चाहिए, बशर्ते, पुरस्कार सभी के लिए उपलब्ध होने चाहिए, फिर चाहे वे जहां भी विकसित किए गए हों।’’इस संबंध में, डॉ. हर्षवर्धन ने डब्ल्यूएचओ सदस्यों से जनस्वास्थ्य से जुड़े दायित्वों के कुशल, प्रभावी और उत्तरदायी निर्वहन के लिए भागीदारों के वैश्विक समुदाय के साथ काम करने का आग्रह किया।

 

अधिक जानकारी के लिए यहां पढ़े-

सीईपीआई द्वारा कोविड-19 के टीके का आकलन करने के लिए डीबीटी टीएचएसटीआई को वैश्विक बायोएसेय प्रयोगशाला के रूप में मान्यता दी गई

ट्रांसलेशनल हेल्थ साइंस एंड टेक्नोलॉजी इंस्टीट्यूट (टीएचएसटीआई), जो कि जैव - प्रौद्योगिकी विभाग का एक स्वायत्त संस्थान है, को अब सीईपीआई द्वारा कोविड-19 टीकों के केंद्रीकृत मूल्यांकन के लिए प्रयोगशालाओं के वैश्विक नेटवर्क में से एक के रूप में मान्यता दी गई है। सीईपीआई नेटवर्क शुरू में छह प्रयोगशालाओं को शामिल करेगा। इनमें कनाडा, ब्रिटेन, इटली, नीदरलैंड, बांग्लादेश और भारत की एक – एक प्रयोगशाला होगी। सीईपीआई ग्लोबल नेटवर्क के तहत, ये प्रयोगशालाएं एक ही किस्म के अभिकर्मकों का उपयोग करेंगी और विकास एवं परीक्षण की प्रक्रिया के तहत विभिन्न टीका उम्मीदवारों की प्रतिरोधक प्रतिक्रिया को मापने के लिए प्रोटोकॉल के एक साझा सेट का पालन करेंगी। इससे टीके के परीक्षण की प्रक्रिया में पर्याप्त सामंजस्य होगा तथा विभिन्न टीका उम्मीदवारों की तुलना की जा सकेगी और सबसे प्रभावी उम्मीदवार के चयन में तेजी आयेगी।

 

अधिक जानकारी के लिए यहां पढ़े-

प्रधानमंत्री ने रेज़ (आर ए आई एस ई) 2020 - आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस पर मेगा वर्चुअल शिखर सम्मेलन का उद्घाटन किया

प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने कल आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (एआई) पर एक मेगा वर्चुअल शिखर सम्मेलन, रेज़ (आरएआईएसई) 2020 का उद्घाटन किया। रेज़ 2020 विचारों के आदान-प्रदान और स्वास्थ्य, कृषि, शिक्षा और स्मार्ट मोबिलिटी जैसे अन्य क्षेत्रों में सामाजिक परिवर्तन, समावेश और सशक्तिकरण के लिए ए आई का उपयोग करने के लिए एक वैश्विक बैठक है। प्रधानमंत्री ने आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस पर चर्चा को प्रोत्साहित करने के लिए आयोजकों की प्रशंसा की। उन्होंने कहा कि प्रौद्योगिकी ने हमारे कार्य स्थलों में परिवर्तन और सम्पर्क में सुधार किया है। उन्होंने आशा व्यक्त की कि सामाजिक जिम्मेदारी और एआई के बीच विलय से मानवीय सम्पर्क मज़बूत होगा। उन्होंने कहा कि मानव के साथ ए आई का टीम वर्क पृथ्वी के लिए चमत्कार कर सकती है। उन्होंने कहा कि भारत ने ज्ञान और शिक्षा में दुनिया का नेतृत्व किया है और अब भारत दुनिया को डिजिटल रूप से उत्कृष्ट और खुशहाल बनाने में अहम भूमिका निभाएगा। श्री मोदी ने कहा कि भारत ने अनुभव किया है कि तकनीक पारदर्शिता और सेवा वितरण में सुधार करने में किस तरह से मदद करती है।प्रधान मंत्री ने जोर देकर कहा कि दुनिया की सबसे बड़ी विशिष्ट पहचान प्रणाली-आधार के साथ-साथ दुनिया की सबसे नवीन डिजिटल भुगतान प्रणाली - यूपीआई ने वित्तीय सेवाओं सहित डिजिटल सेवाओं तक पहुँच प्रदान करने और गरीबों तथा दबे कुचले लोगो के बैंक खातों में सीधे नकद हस्तांतरण की दिशा में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। महामारी के दौरान, यह जल्द से जल्द और सबसे कुशल तरीके से, लोगों तक मदद पहुंचाने में सक्षम हुआ है। प्रधान मंत्री ने भारत को आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस का वैश्विक केंद्र बनने की कामना की। उन्होने आशा व्यक्त की कि आने वाले समय में कई और भारतीय इस दिशा में काम करना शुरू करेंगे। उन्होंने कहा कि इस लक्ष्य के प्रति दृष्टिकोण - टीम वर्क, विश्वास, सहयोग, जिम्मेदारी और समावेश के मुख्य सिद्धांतों द्वारा संचालित है।

 

अधिक जानकारी के लिए यहां पढ़े-

प्रधानमंत्री कासामाजिक अधिकार प्रदान करने के लिए जिम्‍मेदार आर्टिफिशल इंटेलीजेंसके उद्घाटन पर संबोधन का मूल पाठ

 

अधिक जानकारी के लिए यहां पढ़े-

प्रधानमंत्री श्री नरेन्‍द्र मोदी और इज़राइल के प्रधानमंत्री श्री बेंजामिन नेतन्याहू ने फोन पर बात की

प्रधानमंत्री श्री नरेन्‍द्र मोदी ने इज़राइल के प्रधानमंत्री श्री बेंजामिन नेतन्याहू से कल फोन पर बात की। प्रधानमंत्री श्री नरेन्‍द्र मोदी ने इज़राइल के प्रधानमंत्री श्री बेंजामिन नेतन्याहू और इजराइल के नागरिकों को यहूदी नव वर्ष और यहूदी पर्व सुकोट की शुभकामनाएं दीं। दोनों नेताओं ने कोविड-19 महामारी के संदर्भ में शोध, नैदानिक परीक्षण और वैक्‍सीन विकास के क्षेत्र में द्व‍िपक्षीय सहयोग में अब तक की प्रगति की समीक्षा की। दोनों नेताओं ने न सिर्फ अपने देशों की जनता के हित में बल्कि बड़े पैमाने पर मानवता की भलाई के लिए इन क्षेत्रों में और बेहतर सहयोग के महत्‍व को रेखांकित किया।दोनों प्रधानमंत्रियों ने दोनों देशों के बीच जल, कृषि, स्‍वास्‍थ्‍य, व्‍यापार, नव उद्यम एवं नवाचार के क्षेत्र में जारी सहयोग की भी समीक्षा की और इसे और मज़बूत करने पर चर्चा की।

 

अधिक जानकारी के लिए यहां पढ़े-

श्री प्रकाश जावडेकर ने फिल्‍म दिखाने के लिए मानक संचालन प्रक्रियाएं (एसओपी) जारी की,50 प्रतिशत बैठने की क्षमता के साथ सिनेमा हॉल खोलने की अनुमति दी

केन्‍द्रीय सूचना और प्रसारण मंत्री श्री प्रकाश जावडेकर ने आज फिल्‍म दिखाने के लिए मानक संचालन प्रक्रिया (एचओपी) जारी की। फिल्‍मों के प्रदर्शन के लिए निवारक उपायों पर यह एसओपी स्‍वास्‍थ्‍य और परिवार कल्‍याण मंत्रालय के साथ परामर्श करके तैयार की गई है।एसओपी जारी करते हुए श्री जावडेकर ने कहा कि गृह मंत्रालय के निर्णय के अनुसार 15 अक्‍टूबर, 2020 से सिनेमा हॉल फिर से खुलेंगे। इसके लिए सूचना और प्रसारण मंत्रालय ने यह एसओपी तैयार की है।मार्गदर्शी सिद्धांतों में वे सामान्‍य सिद्धांत शामिल हैं, जो सभी आगंतुकों/कर्मचारियों की थर्मल स्क्रिनिंग, पर्याप्‍त शारीरिक दूरी, फेस कवर/मास्‍क का प्रयोग, बार-बार हाथ धोना, हैंड सैनिटाइजर का प्रावधान और फिल्‍मों के प्रदर्शन के सम्‍बन्‍ध में श्‍वास लेने सम्‍बन्‍धी शिष्‍टाचार सहित स्‍वास्‍थ्‍य और परिवार कल्‍याण मंत्रालय द्वारा दिए गए हैं। मंत्रालय ने शारीरिक दूरी, नामित क्‍यूमार्कर्स के साथ प्रवेश और निकास, सैनिटाइजेशन, कर्मचारियों की सुरक्षा, न्‍यूनतम संपर्क सहित इस क्षेत्र में अधिसूचित अंतर्राष्‍ट्रीय प्रक्रियाओं को ध्‍यान में रखते हुए यह सामान्‍य एसओपी तैयार की है। बैठने की व्‍यवस्‍था कुल क्षमता की 50 प्रतिशत तक सीमित रहेगी। मल्‍टीप्‍लेक्‍स शो की टाइमिंग इस प्रकार विभाजित की जाएगी, ताकि उनके शो शुरू होने और समाप्‍त होने के समय अलग-अलग रहें। तापमान सेटिंग 24 डिग्री से 30 डिग्री सेंटीग्रेड की सीमा में रहेगी। मार्गदर्शी सिद्धांत और एसओपी का सभी राज्‍यों, अन्‍य हितधारकों तथा राज्‍य सरकारों द्वारा फिल्‍म का फिर से प्रदर्शन शुरू करते समय उपयोग किया जाएगा।

 

अधिक जानकारी के लिए यहां पढ़े-

जीएसटी परिषद की 42वीं बैठक की सिफारिशें

जीएसटी परिषद की 42वीं बैठक आज वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए केंद्रीय वित्त एवं कॉर्पोरेट मामलों की मंत्री श्रीमती निर्मला सीतारामण की अध्यक्षता में संपन्न हुई। इस बैठक में केंद्रीय वित्त और कॉर्पोरेट मामलों के राज्य मंत्री श्री अनुराग ठाकुर के अलावा राज्यों तथा केंद्रशासित प्रदेशों के वित्त मंत्रियों और वित्त मंत्रालय तथा राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों के वरिष्ठ अधिकारियों ने भी हिस्सा लिया। जीएसटी परिषद ने निम्नलिखित सिफारिशें की हैं:1. राजस्व की कमी की पूर्ति के लिए पांच वर्ष की रूपातंरण अवधि से आगे क्षतिपूर्ति उपकर लागू करने की अवधि जून 2022 तक बढ़ाई जाएगी। आने वाले समय में इसकी समीक्षा की जाएगी। 2. केंद्र ने 2020-21 के दौरान राजस्व हानि के हर्जाने के रूप में राज्यों को 20 हजार करोड़ रुपए जारी करने की सि‍फारिश की है। वहीं 2017-18 के आईजीएसटी के लिए करीब 25 हजार करोड़ रुपए का मुआवजा अगले सप्ताह तक जारी किया जायेगा।रिटर्न फाइलिंग की सुविधाओं में वृद्धि-व्यापार करने में आसानी को और बढ़ाने तथा स्वीकृति अनुभव को बेहतर बनाने के उद्देश्य से, परिषद ने जीएसटी के तहत रिटर्न फाइलिंग के लिए भविष्य के रोडमैप को मंजूरी दी है।

 

अधिक जानकारी के लिए यहां पढ़े-

स्कूल शिक्षा एवं साक्षरता विभाग, शिक्षा मंत्रालय ने आज स्कूलों को फिर से खोलने के लिए एसओपी/दिशा-निर्देशों को जारी किया

स्कूल शिक्षा एवं साक्षरता विभाग, शिक्षा मंत्रालय ने आज स्कूलों को दोबारा खोलने के लिए एसओपी/दिशा-निर्देशों को जारी किया है। केंद्रीय शिक्षा मंत्री श्री रमेश पोखरियाल 'निशंक' ने अपने एक ट्वीट के माध्यम से स्कूलों को दोबारा खोलने के लिए स्कूल शिक्षा एवं साक्षरता विभाग (डीओएसईएल) की एसओपी/ दिशा-निर्देशों की घोषणा की।दोबारा खोलने (रिओपनिंग) के लिए गृह मंत्रालय के आदेश संख्या 40-3/2020-डीएम-I() दिनांक 30.09.2020 के पैरा-1 के अनुसार, राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों की सरकारें संबंधित स्कूलों/संस्थानों के प्रबंधन के साथ विचार-विमर्श करके और स्थानीय स्थिति के आधार पर 15.10.2020 के बाद स्कूलों और कोचिंग संस्थानों को क्रमबद्ध तरीके से दोबारा खोलने के बारे में फैसले कर सकती हैं।भाग- I स्कूलों को दोबारा खोलने के स्वास्थ्य और सुरक्षा पक्षों से संबंधित है। ये स्वास्थ्य और सुरक्षा प्रोटोकॉल के बारे में गृह मंत्रालय और स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय से जारी निर्देशों पर आधारित हैं और सभी राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों में स्थानीय स्थिति के अनुसार अपनाते/अनुकूल बनाते हुए लागू किया जा सकता है।भाग-II शारीरिक/सामाजिक दूरी के साथ अभ्यास और शिक्षा देने से जुड़े शैक्षणिक पहलुओं जैसे पाठ्यक्रम रिपोर्ट, अनुदेशात्मक भार, समय सारिणी और मूल्यांकन आदि से जुड़ा है। ये सलाहकारी स्वभाव के हैं। राज्य और केंद्र शासित प्रदेश अपने खुद के दिशानिर्देश बनाने में इनका उपयुक्त तरीके से उपयोग कर सकते हैं।

 

अधिक जानकारी के लिए यहां पढ़े-

पत्र सूचना कार्यालय के क्षेत्रीय कार्यालयों से मिली जानकारियां

महाराष्ट्र : रेस्टोरेंट,खाने की दुकानों और बार को 5 अक्टूबर से फिर से खोलने का उद्योग जगत द्वारा स्वागत करने के बीच इस पर निरुत्साह प्रतिक्रिया हुई है। मुंबई के चौदह हजार रेस्टोरेंट में से केवल 25-30 प्रतिशत रेस्टोरेंट ने मांग में कमी,कर्मचारियो के रहने और आवागमन में मुश्किल जैसे कारण का हवाला देते हुए कामकाज शुरू किया किया है। राज्य सरकार के रेस्टोरेंट को पचास प्रतिशत क्षमता के साथ खुलने के दिशा-निर्देश के बावजूद बृहद मुंबई नगर निगम ने अगस्त माह के लिए 33 प्रतिशत की क्षमता निर्धारित की है। सोमवार को महाराष्ट्र में कोविड-19 के 10,244 नए मामले सामने आए और 12,982 लोग स्वस्थ हुए।

गुजरात : सोमवार को राज्य में 1,327 नए मामले सामने आने के बाद कुल मामले बढ़कर 1.44 लाख हो गए हैं,जबकि 1,405 रोगियों को स्वस्थ होने के बाद अस्पताल से छुट्टी दी गई। सूरत जिले में सबसे ज्यादा 276 नए मामले और अहमदाबाद में 187 मामले सामने आए। गुजरात में कोरोना से स्वस्थ होने की दर 85.94 प्रतिशत है।

राजस्थान : भीलवाड़ा जिले की सहारा विधानसभा से कांग्रेस विधायक कैलाश त्रिवेदी का मंगलवार सुबह गुरूग्राम के एक निजी अस्पताल में कोविड-19 के बाद की जटिलता के कारण निधन हो गया। राजस्थान सरकार ने पांच दिन पहले एयर एंबुलेंस से उन्हें अस्पताल भेजा था। राज्य में अब तक 1,559 लोगों की कोरोना वायरस संक्रमण से मृत्यु हो चुकी है और 21,215 लोग उपचार प्राप्त कर रहे हैं।

छत्तीसगढ़ : राज्य में कोविड-19 के 2,681 नए मामले सामने आने और 36 लोगों की मृत्यु होने के बाद सोमवार को कुल मामले 1,26,005 हो गए हैं और 1,081 लोगों की मृत्यु हो चुकी है। महामारी से सबसे बुरी तरह प्रभावित रायपुर जिले में कोरोनावायरस के सबसे ज्यादा मामले हैं। रायपुर जिले में कोविड-19 के 270 नए मामले सामने आने के बाद कुल मामले 35,467 हो गए है। जिले में अब तक 455 लोगों की मृत्यु हो चुकी है।

गोवा : राज्य में घर में पृथकवास का विकल्प देने वाले बिना लक्षण के रोगियों के लिए कोविड-19 किट का विवरण सोमवार से शुरू होगा। तीन सप्ताह पूर्व स्वास्थ्य मंत्री विश्वजीत राणे ने प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र द्वारा एक सप्ताह के भीतर किट देने की घोषणा की थी।इस किट में एक निस्तारण मास्क,एक एन-95 मास्क,पल्स ऑक्सीमीटर,डिजिटल थर्मोमीटर और विटामिन सहित दवाईंया होंगी।

केरल : मुख्यमंत्री पिनयारी विजयन ने कहा है कि कोविड-19 संबंधी चेतावनी का पालन करने में ढील बरतने के कारण राज्य में कोविड का प्रसार हो रहा है। यदि रोगियों की संख्या बढ़ी तो मृत्यु दर भी बढ़ेगी और इससे बचने के लिए हम सभी को सावधानी से काम करना होगा। आईएमए द्वारा केरल के स्वास्थ्य विभाग में कीड़े फैलने संबंधी बयान की आलोचना करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि विशेषज्ञ होने का दावा करने वाले लोग केरल में गलतफहमी पैदा करने की कोशिश न करें। राज्य सरकार द्वारा नियुक्त विशेषज्ञ दल ने कोविड महामारी के दौरान सबरीमाला का दौरा करने के लिए श्रद्धालुओं द्वारा पालन करने के लिए दिशानिर्देश सौंप दिए हैं। केरल में कल कोविड-19 के 5,042 नए मामले सामने आए। राज्य में 84,873 लोग उपचार प्राप्त कर रहे हैं और 2.58 लाख लोग निगरानी में हैं। केरल में कोविड-19 से अब तक 859 लोगों की मृत्यु हो चुकी है।

तमिलनाडु : मुख्यमंत्री इडापड्डी के पलानीस्वामी और तीन मंत्रियो ने राज्यपाल बनवारी लाल पुरोहित से राजभवन में मुलाकात कर कोविड-19 की स्थिति,मेडिकल प्रवेश में नीट अर्हता रखने वाले सरकारी स्कूल के विद्यार्थियो के लिए क्षैतिज आरक्षण विधेयक और अन्ना विश्वविद्यालय के द्विभाजन पर विचारविर्मश किया। दसवीं,ग्यारहवीं और बारहवीं कक्षा के विद्यार्थियो के लिए ऑनलाइन क्लास लेने वाले शिक्षकों ने शिक्षा विभाग से कम किए गए पाठ्यक्रम को तुरंत जारी करने का अनुरोध किया है। शिक्षकों का कहना है कि संशोधित पाठ्यक्रम की समय से घोषणा होने से छात्रों को परीक्षा के लिए पहले से तैयारी करने में सहायता मिलेगी।

कर्नाटक : कोविड-19 के बढ़ते मामलों को देखते हुए मुख्यमंत्री ने कल मंत्रियों और सांसदों की बैठक बुलाई है। मुख्यमंत्री ने गुरुवार को जिलाधिकारियो और पुलिस अधीक्षको की बैठक भी बुलाई है। राज्य के चिकित्सा शिक्षा मंत्री डॉ के सुधाकर ने 15 अक्टूबर के बाद स्कूल फिर से खोलने पर स्वास्थ्य विभाग से सुझाव देने का अनुरोध किया है। कर्नाटक सरकार ने कोविड-19 संबंधी कार्यरत स्वास्थ्य कर्मचारियों के हड़ताल पर जाने पर रोक लगाने संबंधी आदेश जारी किए हैं। कर्नाटक उच्च न्यायालय ने बीबीएमपी को बेंगलुरू में सार्वजनिक शौचालय की व्यवस्था करने के लिए कहा है।

आंध्रप्रदेश : विशाखापट्नम स्थित किंग जार्ज हास्पिटल(केजीएच) कोरोना वायरस की वैक्सीन कोविशील्ड के परीक्षण के ऐतिहासिक क्षण के पूर्ण रूप से तैयार है। विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा जारी कड़े दिशानिर्देश और आक्सफोर्ड विश्वविद्यालय,सीरम इंडिया लिमिटेड और आईसीएमआर द्वारा निर्धारित प्रोटोकाल के अंतर्गत पहले दिन दो स्वंयसेवको को कोविशील्ड वैक्सीन दी गई। सह-रुगण्ता और कोविड पॉजिटिव व्यक्ति पर वैक्सीन परीक्षण के लिए योग्य नहीं है। राज्य में ढाई महीने बाद सोमवार को पहली बार एक दिन में सामने आने वाले कोवि़ड-19 के मामलों की संख्या पांच हजार से कम रही। राज्य में अंतिम बार पांच हजार से कम मामले 21 जुलाई को सामने आए थे जब कुल 37 हजार नमूनों में से 4,944 नमूने पॉजिटिव मिले थे। हालांकि 38 और लोगों की मृत्यु के साथ आंध्रप्रदेश में कोविड-19 से मृतकों की संख्या छह हजार से अधिक हो गई है।

तेलंगाना : बीते चौबीस घंटों में कोविड-19 के 1983 नए मामले सामने आए, 2381 लोग स्वस्थ हुए और 10 लोगों की मृत्यु हुई। 1983 मामलो में से 292 मामले जीएचएमसी में सामने आए। राज्य में अब कोविड-19 के कुल 2,02,594 मामले,26,644 सक्रिय मामले,1181 मृत्यु और 1,74,769 लोगो को उपचार के बाद अस्पताल से छुट्टी दी गई है। राज्य चुनाव आयोग ने सोमवार को ग्रेटर हैदराबाद नगर निगम(जीएचएमसी) और शेष शहरी निकाय में चुनाव मतदान पत्र से कराने की घोषणा की। तेलंगाना के चुनाव आयुक्त सी पार्थसारथी ने कहा कि यह निर्णय कोविड-19 महामारी,विस्तृत विचार विमर्श,उपलब्ध समय और राजनीतिक दलों द्वारा व्यक्त विचारों पर ध्यान रखते हुए लिया गया है।

अरूणाचल प्रदेश : राज्य में कल 235 नए पॉजिटिव मामले सामने आए। अरुणाचल प्रदेश में सक्रिय मामले लगभग तीन हजार हो गए हैं। राज्य में कल एक और रोगी की मृत्यु होने के बाद अब तक 19 लोगों की कोरोना से मृत्यु हो चुकी है।

मणिपुर : राज्य में कोविड-19 के 250 नए मामले सामने आए हैं। एक और व्यक्ति की मृत्यु के बाद मणिपुर में कोविड-19 से अब तक 75 लोगों की मृत्यु हो चुकी है। राज्य में स्वस्थ होने की दर 77 प्रतिशत है।

मेघालय : राज्य में सक्रिय मामले 2217 हो गए हैं। इनमें 123 मामले बीएसएफ और सशस्त्र बलों से जुड़े हैं। मेघालय में अब तक 4491 लोग कोविड-19 से स्वस्थ हो चुके हैं।

मिजोरम : राज्य में कल कोविड-19 के आठ नए मामले सामने आए। राज्य में अब कुल 2128 मामले और 291 सक्रिय मामले हैं।

नागालैंड : राज्य में सोमवार को कोविड-19 के 42 नए मामले सामने आए। इनमें 30 दीमापुर,8 मॉन और 4 कोहिमा में मिले।

 

FACT CHECK

 

https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image004VHKZ.png

 

******

एमजी/एएम/एजे/डीए



(Release ID: 1662609) Visitor Counter : 212