PIB Headquarters

कोविड-19 पर पीआईबी का दैनिक बुलेटिन

Posted On: 03 SEP 2020 6:28PM by PIB Delhi

Description: Coat of arms of India PNG images free downloadDescription: http://164.100.117.97/WriteReadData/userfiles/image/image002H4UQ.jpg

 

 

(पिछले 24 घंटों में जारी कोविड-19 से संबंधित प्रेस विज्ञप्तियां, पीआईबी के क्षेत्रीय कार्यालयों से मिली जानकारियां और पीआईबी द्वारा जांचे गए तथ्य शामिल हैं)

 

 

  • भारत एक दिन में सबसे अधिक रोगियों के ठीक होने के एक और शिखर पर पहुंचा, पिछले 24 घंटों में 68,584 रो‍गी ठीक हुए, 26 राज्‍यों और केन्‍द्रशासित प्रदेशों में रिकवरी दर 70 प्रतिशत से अधिक।
  • सक्रिय मामलों (8,15,538) में कमी और कुल सक्रिय मामले कुल पॉजिटिव मामलों की संख्‍या के केवल 21.16 प्रतिशत।
  • पिछले 24 घंटों में 11.7 लाख से अधिक कोविड परीक्षण, अभी तक कुल 4.5 करोड़ से अधिक कुल परीक्षण किए गए
  • भारत की मामला मृत्‍युदर (सीएफआर) वैश्विक औसत 3.3 प्रतिशत से कम बनी हुई है। प्रति दिन इसमें गिरावट आ रही है और यह आज 1.75 प्रतिशत पर स्थित है

Description: https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image004N1IA.jpg

 

Description: https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image0056PMM.jpg

 

भारत एक दिन में सबसे अधिक रोगियों के ठीक होने के एक और शिखर पर पहुंचा, पिछले 24 घंटों में 68,584 रो‍गी ठीक हुए, 26 राज्‍यों और केन्‍द्र शासित प्रदेशों में रिकवरी दर 70 प्रतिशत से अधिक

भारत में एक दिन में कोविड-19 के सर्वाधिक 68,584 रोगी ठीक हुए और उन्‍हें अस्‍पतालों से छुट्टी दे दी गई। इससे ठीक हुए रोगियों की कुल संख्‍या लगभग 30 लाख (2,970492) हो गई है। कोविड-19 रोगियों में भारत की रिकवरी दर 77 प्रतिशत (77.09 प्रतिशत) से अधिक हो गई है। ठीक हुए मरीजों की संख्‍या सक्रिय मामलों (8,15,538) की तुलना में 21.5 लाख अधिक हो गई। ठीक हुए रोगियों की संख्‍या बढ़कर सक्रिय मामलों की तुलना में 3.6 गुना से अधिक हो गई है। इससे यह सुनिश्चित हुआ है कि देश में सक्रिय मामलों की संख्‍या घटी है और वर्तमान में कुल सक्रिय मामले कुल पॉजिटिव मामलों की संख्‍या के केवल 21.16 प्रतिशत ही हैं। भारत की मामला मृत्‍युदर (सीएफआर) वैश्विक औसत 3.3 प्रतिशत से कम बनी हुई है। प्रति दिन इसमें गिरावट आ रही है और यह आज 1.75 प्रतिशत पर स्थित है।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-https://pib.gov.in/PressReleseDetail.aspx?PRID=1651052

 

भारत में कोविड-19 की प्रतिदिन जांच में अभूतपूर्व वृद्धि, पिछले 24 घंटों में 11.7 लाख से अधिक लोगों की कोविड जांच की गई, अब तक कुल 4.5 करोड़ से अधिक जांच हो चुकी है

पिछले दो दिनों से प्रति दिन 10 लाख से अधिक कोविड जांच के साथ देश में दैनिक दैनिक स्तर पर कोविड-19 मामलों की जांच में अभूतपूर्व वृद्धि देखी गई है। पिछले 24 घंटों में 11.7 लाख (11,72,179) से अधिक जांच की गई। इस उपलब्धि के साथ, अब तक की गई कुल जांच की संख्या 4.5 करोड़ (4,55,09,380) से अधिक हो चुकी है। यह देश में दैनिक कोविड जांच में तेज वृद्धि को दर्शाता है। 30 जनवरी तक प्रति दिन जहां केवल 10 जांच हो पाती थी वहीं इसका दैनिक औसत आज 11 लाख से अधिक हो चुका है। जांच की संख्या में वृद्धि देश भर में नैदानिक प्रयोगशालाओं के नेटवर्क में तेज विस्तार से संभव हो पाई है। पूरे देश में इस समय 1623 प्रयोगशालाएं हैं। सरकारी क्षेत्र में 1022 और निजी क्षेत्र में 601 प्रयोगशालाएं हैं। इसके अतिरिक्त जांच की उन्नत तकनीक के लिए कोबास 6800/8800 सहित अत्याधुनिक उच्च थ्रूपुट मशीनें पांच स्थानों पर लगाई गई हैं जिनमें पटना का आईसीएमआर-राजेंद्र मेमोरियल रिसर्च इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज, कोलकाता का आईसीएमआर-नेशनल इंस्टीट्यूट फॉर कॉलरा एंड एंटरिक डिजीज, दिल्ली का राष्ट्रीय रोग नियंत्रण केंद्र, मुंबई का आईसीएमआर-नेशनल इंस्टीट्यूट फॉर रिसर्च इन रिप्रोडक्टिव हेल्थऔर नोएडा का आईसीएमआर-नेशनल इंस्टीट्यूट फॉर कैंसर प्रिवेंशन एंड रिसर्च शामिल है। ये मशीनें न्यूनतम मानव हस्तक्षेप के साथ प्रति दिन लगभग 1000 कोविड नमूनों की जांच करने में सक्षम हैं।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-https://pib.gov.in/PressReleseDetail.aspx?PRID=1650953

 

श्री धर्मेंद्र प्रधान ने यूएसआईएसपीएफ के तीसरे वार्षिक नेतृत्व शिखर सम्मेलन को संबोधित किया; अमेरिकी कंपनियों को आत्मनिर्भर भारत अभियान में भागीदार बनने के लिए आमंत्रित किया

पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस एवं इस्पात मंत्री, श्री धर्मेंद्र प्रधान ने कल यूएसआईएसपीएफ के तीसरे वार्षिक नेतृत्व शिखर सम्मेलन में भाग लिया। श्री प्रधान ने वैश्विक अर्थव्यवस्था पर कोविड-19 महामारी के अभूतपूर्व प्रभाव और इसके परिणामस्वरूप ऊर्जा मांग पर पड़ने वाले दबाव विषय पर चर्चा की। उन्होंने कहा कि भारत में आर्थिक गतिविधियों में धीरे-धीरे वृद्धि होने के कारण, ऊर्जा की खपत जल्द ही पूर्व-कोविड स्तर तक पहुंचने का अनुमान है। आत्मनिर्भर भारत अभियान के विषय में चर्चा करते हुए, श्री प्रधान ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में प्रारंभ किया गया आत्मनिर्भर भारत अभियान कोविड-19 चुनौतियों को एक अवसर में बदलने, स्वदेशी उत्पादन और खपत को वैश्विक आपूर्ति श्रृंखला से जोड़ने और भारत को 21वीं सदी के वैश्विक विनिर्माण केंद्र में बदलने के लक्ष्य का आह्वान करता है।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-https://pib.gov.in/PressReleseDetail.aspx?PRID=1650929

 

मेट्रो का संचालन 7 सितंबर 2020 से क्रमबद्ध रूप से पुन: शुरू किया जाएगा

आवास एवं शहरी मामलों के मंत्रालय में राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार), श्री हरदीप सिंह पुरी ने कल मीडिया से बातचीत के दौरान मेट्रो संचालन के लिए एसओपी दिशा-निर्देशों को जारी किया। इसके लिए आवास एवं शहरी मामलों के मंत्रालय द्वारा एसओपी दिशा-निर्देशों को तैयार किया गया, जिसे गृह मंत्रालय द्वारा सहमति प्रदान कर दी गई है। इसकी व्यापक विशेषताओ में मेट्रो का संचालन क्रमबद्ध रूप से फिर से शुरू करने, एक से ज्यादा लाइन वाले मेट्रो को 7 सितंबर, 2020 से अलग-अलग लाइनों के लिए एक क्रमबद्ध रूप से खोला जाएगा, जिससे 12 सितंबर 2020 तक सभी लाइनें चालू हो सकें। स्टेशनों और ट्रेनों में यात्रियों की भीड़ से बचने के लिए ट्रेनों की आवृत्ति को नियंत्रित किया जाएगा। कंटेनमेंट क्षेत्रों के स्टेशनों/प्रवेश-निकास द्वारों को बंद रखा जाएगा। सामाजिक दूरी को सुनिश्चित करने के लिए, स्टेशनों और ट्रेनों के अंदर उपयुक्त निशानों को लगाया जायेगा। सभी कर्मचारियों और यात्रियों के लिए फेस मास्क पहनना अनिवार्य होगा। मेट्रो रेल निगम बिना मास्क पहनकर आने वाले लोगों के लिए भुगतान के आधार पर मास्क की आपूर्ति करने की व्यवस्था करेगा। स्टेशनों में प्रवेश करने पर थर्मल स्क्रीनिंग के बाद केवल बिना लक्षण वाले लोगों को ही यात्रा करने की अनुमति प्रदान की जाएगी।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-https://pib.gov.in/PressReleseDetail.aspx?PRID=1650812

 

ग्रामीण जल स्‍वच्‍छता और स्‍वास्‍थ्‍य विज्ञान (डब्‍ल्‍यूएएसएच) सेवा प्रदाताओं के लिए सुरक्षा संबंधी एहतियात बरतने के बारे में परामर्श जारी

कोविड-19 महामारी के कारण लॉकडाउन की अवधि के दौरान सुरक्षित पेयजल सुनिश्चित करने के लिए माननीय उच्चतम न्यायालय के आदेश का पालन करते हुए जल शक्ति मंत्रालय के पेयजल और स्‍वच्‍छता विभाग (डीडीडब्‍ल्‍यूएस) ने सभी राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों को 13 अप्रैल, 2020 को एक परामर्श जारी किया था। लॉकडाउन में ढील देने और सामाजिक-आर्थिक गतिविधियां फिर से शुरू होने, विशेष रूप से मॉनसून के बाद काम करने का मौसम शुरू होने के साथ, पानी की आपूर्ति संबंधी बुनियादी ढाँचाकार्यों का बड़े पैमाने पर कार्यान्‍वयन किया जाना है और गांवों में सभी परिवारों को नल के पानी का कनेक्शन प्रदान करने के लक्ष्य को प्राप्त करने की गति में तेजी लाना है। इसलिए, वायरस को फैलने से रोकने और दबाव से बचने के लिए सभी आवश्यक सावधानियों का पालन करना डब्‍ल्‍यूएएसएच सेवा प्रदाताओं के लिए सबसे जरूरी है। वर्तमान साक्ष्य संकेत करते हैं कि कोविड-19 वायरस सांस की बूंदों या संपर्क के माध्यम से फैलता है और संक्रमण तब होता है जब गंदे हाथ मुंह, नाक या आंखों के म्यूकोसा (श्लेष्मल झिल्ली) को छूते हैं; वायरस गंदे हाथों से एक स्‍थान से दूसरे स्‍थान पर भी फैल सकता है, जिससे अप्रत्यक्ष संपर्क संचरण की सुविधा मिलती है। एक-दूसरे से शारीरिक दूरी बनाए रखने के साथ, उचित आपूर्ति तक पहुंच सहित मल्टीमॉडल रणनीतियों के माध्यम से संक्रमण का प्रसार कम करने के लिए हाथों को धोकर साफ रखना सबसे प्रभावी एकल उपाय है। कोरोना वायरस फैलने से रोकने के लिए नियमित अंतराल पर हाथ धोकर हाथ साफ रखे जा सकते हैं, लेकिन साथ ही, प्रत्येक ग्रामीण परिवार के परिसर के अंदर नल का पानी उपलब्ध कराने की तत्काल आवश्यकता है। इस उद्देश्य के लिए, जल जीवन मिशन के तहत पर्याप्त निधि उपलब्ध कराई गई है। मिशन न केवल पानी की आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिए बल्कि घर वापस चले गए श्रमिकों के लिए रोजगार सृजित करके वर्तमान महामारी से हो रही परेशानी को कम करने का एक उत्कृष्ट अवसर प्रस्तुत कर रहा है।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-https://pib.gov.in/PressReleseDetail.aspx?PRID=1650769

 

वैश्विक नवाचार सूचकांक में भारत शीर्ष 50 देशों में शामिल

वर्ल्‍ड इंटेलेक्‍चुअल प्रॉपर्टी ऑर्गनाइजेशन द्वारा तैयार ग्लोबल इनोवेशन इंडेक्स यानी वैश्विक नवाचार सूचकांक 2020 की रैंकिंग में भारत 4 पायदान चढ़कर 48वें पायदान पर पहुंच गया है। कोविड-19 वैश्विक महामारी के बीच यह भारत के लिए ऊपर उठने के समाचार के रूप में सामने आया है और इससे भारत में मजबूत अनुसंधान और विकास परिवेश का पता चलता है। दुनिया भर में अत्यधिक नवोन्‍मेषी विकसित देशों की जमात में शामिल होना एक उल्लेखनीय उपलब्धि है। डब्ल्यूआईपीओ ने भारत को मध्य एवं दक्षिणी एशियाई क्षेत्र में 2019 के अग्रणी नवोन्‍मेषी देश के रूप में भी स्वीकार किया था क्योंकि इसने पिछले 5 वर्षों से अपनी नवाचार रैंकिंग में लगातार सुधार दर्ज किया है।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-https://pib.gov.in/PressReleseDetail.aspx?PRID=1650912

 

पत्र सूचना कार्यालय के क्षेत्रीय कार्यालयों से मिली जानकारियां

केरल : राज्य में आने वाले दिनों में कोविड-19 के मामले बढ़ने से निपटने के लिए तैयारियों के बीच सामाजिक सुरक्षा मिशन निदेशक डॉ. मोहम्मद अशील ने कहा है कि आगामी 14 दिनों में केरल में कोविड-19 के मामलों में बढ़ोत्तरी होगी। आकाशवाणी से बात करते हुए उन्होंने कहा कि अनलॉक-4 में मिली छूट का प्रयोग करते समय लोगों को अत्यधिक सावधानी बरतनी चाहिए। कोविड कंटेनमेंट गतिविधि के रूप मे कोझिकोड़ के जिलाधिकारी ने जिलों के 40 क्षेत्रों को कंटेनमेंट जोन और 5 क्षेत्रों को सघन कंटेनमेंट जोन घोषित किया है। राज्य में कल 1,547 लोग कोविड पॉजिटिव पाए गए। इसके साथ ही 2,129 लोग स्वस्थ भी हुए। वर्तमान में 21,923 रोगी उपचार प्राप्त कर रहे हैं और 1.93 लाख लोग विभिन्न जिलों में निगरानी में हैं। केरल में कोविड-19 से अब तक 305 लोगों की मृत्यु हुई है।

तमिलनाडु : पुडुचेरी में कोविड-19 के सक्रिय मामले बढ़कर 5042 हो गए हैं। बीते 24 घंटे में 431 नए मामले सामने आए और 7 लोगों की मृत्यु हुई। पुडुचेरी में अब कोरोना के कुल 15,581 मामले हैं, 260 लोगों की मृत्यु हो चुकी है और अब तक 10,279 रोगियों को उपचार के बाद अस्पताल से छुट्टी दी गई है। पुडुचेरी के पूर्व विधायक और मक्का नीथि मयम (एमएनएम) के राज्य अध्यक्ष डॉ. एमएएस सुब्रह्मण्यम (77 वर्षीय) की गुरुवार सुबह कोविड-19 से मृत्यु हो गई। तमिलनाडु में कोविड-19 सुरक्षा प्रोटोकॉल के साथ जेईई मेन्स 2020 परीक्षा का आयोजन किया गया। सोशल मीडिया रिपोर्ट के अनुसार कई उम्मीदवार परीक्षा के लिए पंजीकरण कराने के बाद भी अनुपस्थित रहे।

कर्नाटक : राज्य मंत्रिमंडल ने आज नवीन कर्नाटक सूचना प्रौद्योगिकी कार्यचालन नीति 2020-25 को मंजूरी दे दी। इसके अंतर्गत सूचना प्रौद्योगिकी और संबंधित सेवाओं में 60 लाख नौकरी सृजित करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। घर से काम करने को प्रोत्साहन देने के लिए राज्य सरकार ने 5जी आधारभूत ढांचे का सृजन करने के लिए अधिक निवेश करने का निर्णय लिया है। कर्नाटक के कानून मंत्री श्री जे सी मधुस्वामी ने कहा है कि आगामी शैक्षणिक सत्र से सरकारी स्कूलों में एलकेजी और यूकेजी कक्षा शुरू करने की योजना बना रही है। बीबीएमपी ने कोविड-19 के कारण शहर के विभिन्न अस्पतालों में हुई मृत्यु का परीक्षण कराने का फैसला लिया है। 7 सितंबर से केवल पर्पल लाइन पर मेट्रो रेल का संचालन शुरू होगा और ग्रीन लाइन पर सेवा दो दिन बाद शुरू की जाएगी। राज्य सरकार द्वारा 1800 करोड़ रुपए की लागत वाली अत्याधुनिक एंबुलेंस सेवा खरीद योजना की प्रगति की समीक्षा उच्च न्यायालय करेगा।

आंध्र प्रदेश : बुधवार को 5 और कर्मचारियों के कोरोना पॉजिटिव होने के बाद राज्य विधानसभा और सचिवालय में कोरोना के कुल मामले बढ़कर 119 हो गए। हर दिन कोरोना के हजारों मामले सामने आने के बाद राज्य में कोरोना के मामले 4.5 लाख से अधिक हो गए हैं। राष्ट्रीय स्तर पर महाराष्ट्र 19.19 प्रतिशत के साथ पाजिटिविटी दर में पहले स्थान पर और 11.85 प्रतिशत की दर के साथ आंध्र प्रदेश दूसरे स्थान पर है।

तेलंगाना : राज्य में बीते 24 घंटो में कोरोना के 2817 नए मामले सामने आए, 2611 लोग स्वस्थ हुए और 10 लोगों की मृत्यु हुई। 2817 मामलो में से 452 मामले जीएचएमसी में मिले। कुल मामले: 1,33,406, सक्रिय मामले: 32,537, मृत्यु: 856, अस्पताल से छुट्टी दी गई: 1,00,013 सीआईएसआर-सीसीएमबी निदेशक आर के मिश्रा ने स्पष्ट किया है कि कोरोना वायरस की उप-नस्ल के तेलंगाना में तेजी से फैलने संबंधी कुछ रिपोर्ट में कोई सच्चाई नहीं है। कोरोना वायरस के 2ए उपनस्ल पूरी दुनिया में प्रभावी है। ए3आई जैसी कमजोर उप-नस्ल की तुलना में यह शक्तिशाली या तेज नहीं है। डॉ. मिश्रा ने कहा कि ए2ए उपनस्ल इस समय प्रमुख नस्ल में से है और इसमें कुछ भी नया नहीं है।

अरूणाचल प्रदेश : बीते 24 घंटे में कोविड-19 के 148 नए मामले सामने आए और 96 रोगियों को स्वस्थ होने के बाद अस्पताल से छुट्टी दी गई। राज्य में इस समय 1,278 सक्रिय मामले हैं।

असम : राज्य में कल कोविड-19 के लिए 47,744 नमूनों की जांच की गई और 3,555 मामले सामने आए। राज्य में इस समय पाजिटिविटी दर 7.44 प्रतिशत है जबकि 1,834 रोगियों को अस्पताल से छुट्टी दी गई है। असम के स्वास्थ्य मंत्री ने ट्वीट कर कहा कि राज्य में अब तक 88,726 रोगियों को उपचार के बाद अस्पताल से छुट्टी दी गई और 26,227 सक्रिय मामले हैं।

मणिपुर : राज्य में 125 ओर लोग कोरोना पाजिटिव मिले हैं। राज्य में 70 प्रतिशत स्वस्थ होने की दर के साथ 157 लोग स्वस्थ हुए हैं। राज्य में 1,871 सक्रिय मामले हैं।

मेघालय : राज्य में आज 83 व्यक्ति कोरोना वायरस से स्वस्थ हुए। मेघालय में अब 1,186 सक्रिय मामले हैं। इनमे से 298 बीएसएफ और सशस्त्र बलों और 888 अन्य लोगों से जुडे मामले हैं। राज्य में 1,318 लोग कोरोना वायरस से स्वस्थ हो चुके हैं।

मिजोरम : राज्य में कल कोविड-19 के 20 नए मामले सामने आए। राज्य में अब कोरोना वायरस के 1,040 कुल मामले, 389 सक्रिय मामले और 651 लोग स्वस्थ हुए हैं।

नगालैंड : राज्य में कोविड-19 की रिकवरी दर 80 प्रतिशत है और देश में नगालैंड 10वें स्थान पर है। 4,017 मामलों में से 3,212 लोग स्वस्थ हो चुके हैं। सरकार ने 4 सितंबर से दीमापुर के न्यू मार्केट और हॉनकांग मार्केट को खोलने के लिए नियम निर्धारित किए हैं। दोनों बाजारों में दुकाने ऑड-ईवन नियम के तहत बारी-बारी से खुलेंगी।

सिक्किम : राज्य में बुधवार को कोविड-19 के 34 नए मामले सामने आए। सिक्किम में अब 431 सक्रिय मामले हैं और कुल मामले 1,704 हैं। इस बीच 32 लोगों को पृथकवास से छुट्टी दी गई।

Description: https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image006P9BT.png

*****

एमजी/एएम/एजे/एसएस

 

 



(Release ID: 1651217) Visitor Counter : 20