PIB Headquarters

कोविड-19 पर पीआईबी का दैनिक बुलेटिन

Posted On: 02 SEP 2020 6:26PM by PIB Delhi

Description: http://164.100.117.97/WriteReadData/userfiles/image/image002H4UQ.jpg

  • 12 राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों में कोविड-19 संक्रमण से ठीक होने की दर राष्ट्रीय औसत से अधिक है।
  • भारत में लगातार छठे दिन रोजाना 60 हजार से अधिक लोग ठीक हुए।
  • इस बीमारी से ठीक होने वालों की संख्या इसके सक्रिय मामलों से 21 लाख से अधिक है।
  • पिछले 24 घंटों में 62,026 मरीजों के ठीक होने के साथ ही कोविड-19 मरीजों के बीच ठीक होने की दर में और बढ़ोतरी हुई है और यह 76.98 प्रतिशत तक पहुंच गई है।
  • भारत कोविड की सबसे कम मृत्यु दर वाले देशों से एक है, यहां मृत्यु दर 1.76 प्रतिशत के साथ और भी कम होती जा रही है।

(पिछले 24 घंटों में जारी कोविड-19 से संबंधित प्रेस विज्ञप्तियां, पीआईबी के क्षेत्रीय कार्यालयों से मिली जानकारियां और पीआईबी द्वारा जांचे गए तथ्य शामिल हैं)

Description: https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image001UFY0.jpg

Description: https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image002I9CB.jpg

भारत में कोविड-19 संक्रमण से ठीक होने वालों की कुल संख्या आज 29 लाख (29,01,908) को पार कर गई है। इस बीमारी से पिछले 17 दिनों में ही दस लाख लोग ठीक हुए हैं जबकि इससे पहले ठीक होने वालों का दस लाख का यह आंकड़ा पार करने में 22 दिन लग गए थे। भारत में कोविड-19 मामलों के प्रबंधन की महत्वपूर्ण विशेषता इस बीमारी से संक्रमित मरीज़ों के ठीक होने की बढ़ती दर है। भारत में कोविड-19 मरीज़ों के ठीक होने की दर में लगातार बढ़त की वजह से हर रोज बड़ी संख्या में लोग ठीक हो रहे हैं और अस्पतालों और घरों में पृथकवास से उन्हें छुट्टी मिल रही है। मई 2020 के बाद से इस बीमारी से ठीक होने वाले मरीज़ों की संख्या में 58 गुना बढ़ोतरी हुई है। कोरोना वायरस के संक्रमण से ठीक होने वाले मरीजों की संख्या पिछले कई महीनों से लगातार बढ़ रही है। हर रोज ठीक होने वाले मरीजों की संख्या बढ़ रही है। आज लगातार छठे दिन 60 हजार से अधिक मरीज ठीक हुए हैं। पिछले 24 घंटों में 62,026 मरीजों के ठीक होने के साथ ही कोविड-19 मरीजों के बीच ठीक होने की दर में और बढ़ोतरी हुई है और यह 76.98 प्रतिशत तक पहुंच गई है। यह आंकड़ा निरंतर प्रगति प्रदर्शित कर रहा है। कोरोना संक्रमण से ठीक होने वाले मरीजों की संख्या इसके सक्रिय मरीजों की संख्या से 21 लाख से अधिक है। जुलाई के पहले सप्ताह से अगस्त के अंतिम सप्ताह तक ठीक होने वालों की औसत साप्ताहिक संख्या 4 गुना से अधिक हो गई है।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-https://pib.gov.in/PressReleseDetail.aspx?PRID=1650715

 

भारत कोविड की सबसे कम मृत्यु दर वाले देशों से एक है,यहां मृत्यु दर 1.76 प्रतिशत के साथ और भी कम होती जा रही है

भारत दुनिया के उन चंद देशों में से एक है जहां कोविड-19 से होने वाली मृत्यु दर काफी कम है। देश में यह दर 1.76 प्रतिशत है जबकि वैश्विक स्तर पर यह 3.3 प्रतिशत है। भारत में प्रति दस लाख आबादी पर कोविड से मरने वालों की संख्या दुनिया में सबसे कम है ज​बकि इसका वैश्विक औसत प्रति दस लाख आबादी पर 110 है। देश में इस समय प्रति दस लाख आबादी पर कोविड से मरने वालों की संख्या 48 रह गई है जबकि ब्राजील और ब्रिटेन में यह आंकड़ा प्रति दस लाख आबादी पर क्रमश 12 और 13 गुना अधिक है। केन्द्र के साथ राज्य और केन्द्र शासित प्रदेश की सरकारों के सहयोगात्मक प्रयासों के परिणामस्वरूप देश भर में स्वास्थ्य सुविधाएं काफी बेहतर हुई हैं। देश में इस समय 1578 कोविड समर्पित अस्पताल ​रोगियों को गुणवत्ता युक्त चिकित्सा देखभाल प्रदान कर रहे हैं।कोविड के गंभीर रोगियों के नैदानिक ​​प्रबंधन के मामले में आईसीयू में तैनात डॉक्टरों की क्षमता बढ़ाने की एक अनूठी पहल, के तहत ई-आईसीयू की शुरुआत नई दिल्ली स्थित एम्स अस्पताल की ओर से की गई है। इसके तहत सप्ताह में दो बार, मंगलवार और शुक्रवार को, सरकारी अस्पतालों में आईसीयू में तैनात डॉक्टरों के लिए डोमेन विशेषज्ञों द्वारा टेली / वीडियो-कॉन्फ्रेंस सत्र आयोजित किए जाते हैं। ये सत्र 8 जुलाई 2020 से शुरू हुआ है।अब तक17 टेली-सत्र आयोजित किए गए हैं, जिनमें 204 संस्थानों ने भाग लिया है। गंभीर रोगियों के उपचार के लिए डॉक्टरों की आईसीयू / नैदानिक ​​प्रबंधन क्षमता को और बढ़ाने के लिए, स्वास्थ्य मंत्रालय के सहयोग से एम्स नई दिल्ली ने उपचार को लेकर अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्नों की एक सूची तैयार की है जिन्हें स्वास्थ्य मंत्रालय की वेबसाइट पर अपलोड किया गया है। इसे https://www.mohfw.gov.in/pdf/AIIMSeICUsFAQs01SEP.pdf पर देखा जा सकता है।

 

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-https://pib.gov.in/PressReleseDetail.aspx?PRID=1650715

 

आत्मनिर्भर भारत योजना के तहत राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों द्वारा अनुमानित करीब 2.8 करोड़ प्रवासी और दूसरी जगहों पर फंसे प्रवासियों में से लगभग 95 प्रतिशत को निःशुल्क खाद्यान्न की आपूर्ति की गई

कोविड महामारी के प्रकोप की वजह से बनी स्थिति के मद्देनज़र भारत सरकार ने मई 2020 में प्रवासी भारतीय श्रमिकों की समस्याओं को कम करने के लिए आत्मनिर्भर भारत पैकेज (एएनबीपी) के तहत कुछ आर्थिक उपायों की घोषणा की थी। इस उद्देश्य के साथ अधिकतम संख्या में प्रवासियों, दूसरे स्थानों पर फंसे हुए लोगों और एनएफएसए योजना या राज्यों की ओर से चलाई गई पीडीएस योजना के तहत कवर नहीं किए गए लोगों की खाद्य-सुरक्षा आवश्यकताओं को पूरा करने के इरादे से देश भर में संकट की स्थिति के बीच 15 मई 2020 को खाद्य और सार्वजनिक वितरण विभाग की ओर से इन लोगों को 'लक्षित समूह' के रूप में संदर्भित किया गया । इसके बाद सभी राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों को इस लक्षित समूह के लिए आत्मनिर्भर भारत योजना के तहत प्रति व्यक्ति पांच किलो अनाज दो महीने तक मुफ्त दिए जाने की व्यवस्था की गई जो कि मई और जून के लिए प्रति माह के हिसाब से कुल चार लाख मीट्रिक टन था। अनाज वितरण की यह व्यवस्था 'लक्षित समूह' की संख्या के आधार पर तय की गई इसके लिए मई के अंत तक राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों द्वारा तुरंत ऐसे समूहों का आकलन किया गया था।राज्यों/केंद्रशासित प्रदेशों से प्राप्त रिपोर्ट के अनुसार, सभी राज्यों/केन्द्र शासित प्रदेशों द्वारा 31 अगस्त 2020 तक कुल 2.65 लाख मीट्रिक टन अनाज वितरित किया गया। इसमें से मई महीने में 2.35 करोड़ लोगों को, जून में 2.48 करोड़ से अधिक लोगों को, जुलाई में लगभग 31.43 लाख लोगों को और अगस्त में लगभग 16 लाख प्रवासी व्यक्तियों को सफलतापूर्वक ये अनाज वितरित किया गया जो राज्यों और केन्द्र शासित प्रदेशों की ओर से अनुमानित 2.8 करोड़ लाभार्थियों का 95 प्रतिशत रहा।

लगभग 17 राज्य और केन्द्र शासित प्रदेश अपने आकलन के अनुरूप 80 प्रतिशत या उससे अधिक खाद्यान्न का उपयोग करने में सक्षम रहे।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें- https://pib.gov.in/PressReleseDetail.aspx?PRID=1650715

 

कैबिनेट ने "मिशन कर्मयोगी" - राष्ट्रीय सिविल सेवा क्षमता विकास कार्यक्रम को मंजूरी दी

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी की अध्यक्षता में केंद्रीय मंत्रिमंडल ने निम्नलिखित संस्थागत ढांचे के साथ राष्ट्रीय सिविल सेवा क्षमता विकास कार्यक्रम (एनपीसीएससीबी) को शुरू करने की मंजूरी दी है-

  1. प्रधानमंत्री की सार्वजनिक मानव संसाधन परिषद।
  2. क्षमता विकास आयोग।
  3. डिजिटल परिसम्पत्तियों के स्वामित्व तथा प्रचालन और ऑनलाइन प्रशिक्षण के लिए प्रौद्योगिकीय प्लेटफार्म हेतु विशेष प्रयोजन कंपनी (एसपीवी)।
  4. मंत्रिमंडल सचिव की अध्यक्षता में समन्वयन एकक।

एनपीसीएससीबी को सिविल सेवकों के लिए क्षमता विकास के लिए आधारशिला रखने हेतु बनाया गया है ताकि वे भारतीय संस्कृति और संवेदनाओं से सराबोर रहें और विश्व भर की श्रेष्ठ पद्धतियों से सीखते हुए अपनी जड़ों से जुड़े रहें। इस कार्यक्रम को एकीकृत सरकारी ऑनलाइन प्रशिक्षण-आईगॉट कर्मयोगी प्लेटफॉर्म की स्थापना करके कार्यान्वित किया जाएगा।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें- https://pib.gov.in/PressReleseDetail.aspx?PRID=1650715

 

श्री पीयूष गोयल ने भारत- अमेरिका व्यापार को नई ऊंचाइयों पर ले जाने का आह्वान किया और कहा, दोनों देश वैश्विक मूल्य श्रृंखला में भरोसेमंद साझेदार हो सकते हैं

वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री श्री पीयूष गोयल ने अमेरिकी व्यापार एवं उद्योग जगत को अपने भारतीय समकक्षों के साथ काम करने के लिए आमंत्रित किया है ताकि द्विपक्षीय व्यापार को नई ऊंचाइयों पर ले जाया जा सके। श्री गोयल ने आज एक वर्चुअल सम्मेलन के जरिये यूएस- इंडिया स्ट्रेटेजिक पार्टनरशिप फोरम (यूएसआईएसपीएफ) को संबोधित करते हुए कहा कि दोनों लोकतांत्रिक देश सरकार, व्यापार और लोगों से लोगों के स्तर पर एक दूसरे के साथ गहरी प्रतिबद्धता साझा करते हैं। दोनों देश स्वतंत्र एवं निष्पक्ष व्यापार में विश्वास करते हैं और अमेरिका भारत का सबसे बड़ा व्यापारिक साझेदार है। उन्होंने कहा कि व्यापार से इतर पारस्‍परिक रूप से संबद्ध इस दुनिया में दोनों देश वैश्विक मूल्य श्रृंखला में विश्वसनीय एवं भरोसेमंद साझेदार हो सकते हैं।उन्होंने कहा कि वै‍श्विक महामारी के कारण देश में आर्थिक गतिविधियां प्रभावित हुई थी लेकिन उसमें तेजी से सुधार के संकेत मिल रहे हैं। कोविड के प्रसार की रोकथाम के लिए भारत द्वारा उठाए गए शुरुआती और मजबूत कदमों ने देश को अच्छी स्थिति में खड़ा कर दिया है क्योंकि मृत्‍यु दर कम है। यही कारण है कि भारत में मृत्‍यु दर महज 2 प्रतिशत और रिकवरी दर 75 प्रतिशत से ऊपर है। मंत्री ने कहा कि बड़ी आबादी के बावजूद भारत के लोगों ने समय के साथ ढलने की काफी क्षमता दिखाई है। उन्होंने कहा कि देश में लॉकडाउन की अवधि का उपयोग स्वास्थ्य सेवा ढांचे को मजबूत करने के लिए किया गया था और प्रोत्साहन एवं राहत पैकेज ने लोगों को इस वैश्विक महामारी से लड़ने में मदद की है।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें- https://pib.gov.in/PressReleseDetail.aspx?PRID=1650715

 

प्रिंटेड गतिविधियों से संबंधित आर्थिक निर्देश

मौजूदा परिस्थितियों, जिसमें दुनिया भर में उत्पादकता के लिए बड़ी तेजी से डिजिटल साधनों को अपनाने की ओर बढ़ रही है, को देखते हुए भारत सरकार ने इस सर्वोत्तम कार्य प्रणाली को व्यवहार में लाने का फैसला लिया है। किसी भी मंत्रालय / विभाग / सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों / सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों और सरकार के अन्य सभी अंगों द्वारा आने वाले वर्ष में उपयोग के लिए दीवार कैलेंडर, डेस्कटॉप कैलेंडर, डायरी और ऐसी अन्य सामग्री की प्रिंटिंग की दिशा में कोई गतिविधि नहीं की जाएगी। ऐसी सभी गतिविधियां डिजिटल और ऑनलाइन होंगी।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-https://pib.gov.in/PressReleseDetail.aspx?PRID=1650810

 

पत्र सूचना कार्यालय के क्षेत्रीय कार्यालयों से मिली जानकारियां

चंडीगढ़ : संघशासित प्रदेश चंडीगढ़ के प्रशासक ने डॉक्टरों को लक्षण वाले रोगियो पर ध्यान केंद्रित करने और उनके स्वास्थ्य की विशेष देखभाल करने का निर्देश दिया है। उन्होंने कहा कि घर में पृथकवास में रह रहे कोविड पॉजिटव व्यक्ति की नियमित निगरानी होनी चाहिए। ऐसे व्यक्तियों का स्वास्थ्य खराब होने पर उन्हें अस्पताल लाया जाना चाहिए।नियंत्रण कक्ष को प्रतिदिन फोन पर उनकी स्थिति का पता करना चाहिए और उन्हें अस्पताल ले जाने के लिए एंबुलेंस तैयार होनी चाहिए। इस प्रकार की सुविधा चौबीसों घंटे उपलब्ध होनी चाहिए।

हिमाचल प्रदेश : मुख्यमंत्री ने कहा है कि राज्य सरकार शीघ्र मंदिरों को खोलने पर विचार कर रही है और श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए एसओपी तैयार किए जाएंगे। उन्होंने कहा कि उपायुक्तों को राज्य में प्रवेश की प्रकिया सरल बनाने के निर्देश दिए गए हैं लेकिन ई-पास की व्यवस्था जारी रहेगी। राज्य सरकार यह सुनिश्चित करेगी कि कोविड-19 महामारी के कारण राज्य का विकास प्रभावित न हो।

केरल : अनलॉक-4 को लागू करने की प्रकिया के अंतर्गत केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा किए गए एक अध्ययन से राज्य में कोविड के मामलो की चिंताजनक स्थिति का पता चला है। 4.3 प्रतिशत की दर से केरल में प्रतिदिन कोविड के मामलो के बढ़ने का प्रतिशत सबसे अधिक है। इसके साथ ही लोगो के पॉजिटिव होने की दर महाराष्ट्र के बाद देश में सबसे अधिक है। केरल में कोविड की जांच का प्रतिशत केवल 6.23 प्रतिशत है और यह देश में इस श्रेणी में सबसे कम है। इस बीच राज्य में 5 ओर लोगो की कोविड से मृत्यु हुई है। राज्य में अब तक 303 लोगो की कोविड-19 से मृत्यु हो चुकी है। केरल में कल कोविड के मामले 76,525 थे। राज्य में 1,140 नए मामले सामने आए हैं। 22,512 रोगियो का उपचार चल रहा है और 1.96 लाख लोग निगरानी मे हैं।

तमिलनाडु : राज्य में कोविड के मामले 15 हजार से अधिक हो गए हैं और बुधवार तक पुडुचेरी में इस महामारी से अब तक 250 लोगो की मृत्यु हो चुकी थी। पुडुचेरी में बीते 24 घंटो में 397 नए मामले सामने आए और 13 लोगो की मृत्यु हुई। तमिलनाडु में 7 सितंबर से यात्री ट्रेनों और अंतरजनपद बस की फिर से शुरुआत होगी। यह निर्णय राज्य सरकार द्वारा 1 सितंबर से केवल अंतरजनपद बस सेवा की शुरुआत करने के बाद लोगो को लंबी दूरी की यात्रा में हो रही परेशानी की शिकायत करने के बाद लिया गया है।

कर्नाटक : बेंगलुरू में कोविड की स्थिति में उल्लेखनीय सुधार हुआ है। केंद्र सरकार द्वारा मृत्यु दर 1 प्रतिशत से कम रखने के लक्ष्य के अनुरूप पिछले 15 दिनो में मृत्यु दर घटकर 0.9 प्रतिशत रह गयी है। प्रतिदिन चार हजार जांच को बढ़ाकर 25 हजार करने के बाद भी जुलाई में पाजिटिविटी दर 23 प्रतिशत से घटकर 10.2 प्रतिशत रह गई। अनलॉक-4 के अंतर्गत केएसआरटीसी को बसो में सभी सीट में यात्रियों को ले जाने की अनुमति मिल गई है। धीमी शुरूआत के बाद पब सप्ताहांत का इंतजार कर रहे हैं। केंपेगौड़ा अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे ने लॉकडाउन के बाद 100 दिनो का संचालन पूरा किया है और कोविड से पूर्व के दिनो के 84 प्रतिशत घरेलू नेटवर्क से फिर से संपर्क स्थापित कर लिया है। कर्नाटक में कल दूसरे दिन कोविड के नौ हजार मामले सामने आए।

आंध्रप्रदेश : कोविड-19 के बढ़ते मामलो को देखते हुए राज्य सरकार ने मरीज़ो को अस्पताल और कोविड देखभाल केंद्र ले जाने के लिए विशेष रूप से 1,350 से अधिक एंबुलेंस किराए पर ली हैं। मंडल में स्थापित कॉल सेंटर स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं,डॉक्टर और अस्पताल से समन्वय कर इन एंबुलेंस का प्रयोग करेंगे। राज्य के विशेष मुख्य सचिव,स्वास्थ्य और चिकित्सा श्री के एस जवाहर रेड्डी ने कहा है कि राज्य सरकार कोविड से मरने वाले लोगो की संख्या को कम करने पर विशेष ध्यान दे रही है। उन्होंने कोविड के उपचार के लिए अधिक रकम मांगने वाले निजी अस्पतालों को कड़ी कार्यवाही की चेतावनी दी है।

तेलंगाना : बीते 24 घंटो में 2892 नए मामले सामने आए,2240 लोग स्वस्थ हुए और 10 लोगो की मृत्यु हुई। 2892 मामलो में से 477 मामले जीएचएमसी से सामने आए। राज्य में कुल मामले : 1,30,589, सक्रिय मामले : 32,341, मृत्यु : 846,अस्पताल से छुट्टी दी गई : 97402। हैदराबाद स्थित देश के प्रमुख अनुसंधान संस्थान सेलुलर और आणविक जीवविज्ञान केंद्र(सीसीएमबी) ने कहा है कि नोवल कोरोना वायरस की तेजी से फैलने वाले शक्तिशाली उप-नस्ल राज्य में तेजी से प्रसार कर रही है।

अरुणाचल प्रदेश : राज्य में बीते 24 घंटे में कोरोना संक्रमण के 100 नए मामले सामने आए हैं।अरूणाचल प्रदेश में कोविड-19 से स्वस्थ होने की दर 70.72 प्रतिशत है।

असम : राज्य में मंगलवार को 1434 रोगियो को अस्पताल से छुट्टी दी गई। राज्य में इस समय 24514 सक्रिय मामले हैं और 86892 रोगियो को अस्पताल से छुट्टी दी गई है।

मणिपुर : राज्य में 130 ओर लोग कोरोना पॉजिटिव मिले हैं। राज्य में 120 लोग कोरोना से स्वस्थ हुए हैं और स्वस्थ होने की दर 69 प्रतिशत है। राज्य में 1903 सक्रिय मामले हैं।

मेघालय : राज्य में आज 73 व्यक्ति कोरोना वायरस से स्वस्थ हुए। राज्य में अब 1193 सक्रिय मामले हैं और इनमें से 304 बीेएसएफ और सशस्त्र बलो से जुडे हैं।

मिजोरम : राज्य में कल कोविड-19 के आठ नए मामले सामने आए। राज्य में अब कोविड-19 के 1020 मामले हैं। इनमें से 410 सक्रिय मामले हैं।

नगालैंड : दीमापुर और कोहिमा में आड-एवन पविवहन व्यवस्था जारी रहेगी। दीमापुुर के प्रमुख बाजार-न्यू मार्केट,हाजी पार्क और हांगकांग मार्केट के इस सप्ताह खुलने की संभावना है। दीपापुर के उपायुक्त ने कहा है कि इस संबंध में नियम तय किए जा रहे हैं।

सिक्किम : राज्य में आज तक कोविड-19 की 41558 जांच की जा चुकी है।

महाराष्ट्र : राज्य सरकार ने कोविड-19 के रोगियो के लिए निजी अस्पताल और नर्सिग होम में 80 प्रतिशत बेड आरक्षित रखने के निर्देश को तीन माह के लिए ओर बढ़ा दिया है। राज्य के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने कहा है कि बेड उपलब्ध होने से उपचार की दर भी नियंत्रित की जा सकेगी। मंगलवार को 15,765 नए मामले सामने आने के बाद राज्य में कोविड-19 के कुल 8 लाख मामले हो गए हैं। महाराष्ट्र में सक्रिय मामलो की संख्या बढ़कर 1.98 लाख हो गई है।

राजस्थान : कोविड-19 के मामले बढ़ने के बाद राज्य सरकार ओर अधिक सरकारी अस्पतालों को विशेष कोविड अस्पताल में बदलने पर विचार कर रही है। इसके साथ ही विशेष कोविड देखभाल केंद्र- आरयूएचएस अस्पताल में सुविधाओं को बेहतर किया जाएगा।आरयूएचएस परिसर में हल्के या मध्यम लक्षण वाले रोगियो के लिए 100 बेड वाले कोविड देखभाल केंद्र को सम्मिलित किया जाएगा। राजस्थान में इस समय 13,970 सक्रिय मामले हैं।

छत्तीसगढ़ : राज्य में मंगलवार को एक दिन में अब तक के सबसे अधिक 1,514 मामले सामने आए। राज्य में कोविड-19 के 33,017 मामले हैं। 10 और लोगो की कोरोना से मृत्यु होने के बाद अब तक 287 लोगो की मृत्यु हो चुकी है। राज्य में इस बीमारी से सबसे अधिक रायपुर जिला प्रभावित है और यहां 453 नए मामले सामने आए हैं। इसके बाद दुर्ग में 226 और राजनंदगांव में 149 मामले सामने आए हैं।

गोवा : गोवा हवाईअड्डे में सभी घरेलू यात्रियो के लिए कोविड-19 नेगेटिव प्रमाणपत्र प्रस्तुत करने के नियम को समाप्त कर दिया है। केंद्र सरकार द्वारा अनलॉक-4.0 के निर्देश जारी करने करने के बाद यह निर्णय लिया गया है। राज्य में रेस्टोरेंट और बार भी खुल गए हैं। इस बीच राज्य के मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। । 47 वर्षीय प्रमोद सावंत ने कहा कि वो बिना लक्षण वाले रोगी हैं और घर में पृथकवास मे रह रहे हैं।

एमजी/एएम /एजे



(Release ID: 1650895) Visitor Counter : 26