PIB Headquarters

कोविड-19 पर पीआईबी का दैनिक बुलेटिन

Posted On: 20 AUG 2020 6:25PM by PIB Delhi

 

Coat of arms of India PNG images free download

 (पिछले 24 घंटों में जारी कोविड-19 से संबंधित प्रेस विज्ञप्तियां, पीआईबी के क्षेत्रीय कार्यालयों से मिली जानकारियां और पीआईबी द्वारा जांचे गए तथ्य शामिल हैं) 

अधिक संख्या में रोगियों के ठीक होने के साथ भारत में ठीक हुए रोगियों की कुल संख्या लगभग 21 लाख हुई।

ठीक होने (रिकवरी) की दर और सुधर कर आज करीब 74 प्रतिशत तक पहुंच गई; सक्रिय मामलों की तुलना में स्वस्थ होने वालों की संख्या तीन गुना हुई।

भारत ने एक दिन में रिकॉर्ड 9 लाख से अधिक लोगों की कोविड जांच की।

प्रति दस लाख की आबादी पर कोविड जांच की संख्या आज बढ़कर 23,668 हुई।

कोविड-19 के मामलों में मृत्यु दर वैश्विक औसत से कम है व इसमें लगातार गिरावट आ रही है और यह वर्तमान में 1.89 प्रतिशत है।

कोविड-19 की अवधि के दौरान राज्यों द्वारा एनएफएसए के तहत करीब 60.7 लाख नए लाभार्थी को शामिल किया गया।

 

Image

मजबूती से आगे बढ़ते हुए, भारत ने एक दिन में रिकॉर्ड 9 लाख से अधिक लोगों की कोविड जांच की, प्रति दस लाख की आबादी पर कोविड जांच की संख्या आज बढ़कर 23,668 हुई

पहली बार रिकॉर्ड संख्या में एक दिन में 9 लाख से अधिक कोविड जांच की गईं। पिछले 24 घंटों के दौरान 9,18,470 लोगों की कोविड-19 जांच के साथ, भारत रोजाना 10 लाख नमूनों की जांच करने की अपनी प्रतिबद्धता की ओर तेजी से आगे बढ़ रहा है। इस उपलब्धि के साथ, संचयी जांच 3.25 करोड़ (3,26,61,252) से अधिक पर पहुंच चुकी है। देशभर में नैदानिक प्रयोगशाला नेटवर्क के बढ़ने और जांच को आसान बनाने के प्रभावी उपायों के कारण वर्तमान संख्या में पर्याप्त तेजी आई है। इस तरह की केन्द्रित कार्रवाई के परिणामस्वमरूप प्रति दस लाख की आबादी पर जांच (टीपीएम) की संख्या बढ़कर 23,668 पर पहुंच गई। प्रति दस लाख की आबादी पर जांच (टीपीएम) लगातार तेजी से ऊपर की ओर बढ़ रही है। जांच संख्या के लगातार बढ़ने के कारण पॉजिटिव दर में आनुपातिक गिरावट आ रही है। हालांकि जांच की संख्या बढ़ने के साथ ही पॉजिटिव मामलों की दर आरंभ में बढ़ेगी। लेकिन अनेक राज्यों/संघ शासित प्रदेशों के अनुभवों से पता चलता है कि तेजी से आइसोलेशन में रखने, प्रभावी निगरानी और समय पर क्लीनिकल प्रबंधन जैसे अन्य उपायों को संयुक्त रूप से अपनाने से मामले कम हुए है। जैसे कि राष्ट्रीय औसत गिरकर 8 प्रतिशत से कम हो गया है, 26 राज्यों।/संघ शासित प्रदेशों ने राष्ट्रीरय औसत से कम दर की जानकारी दी है। नैदानिक प्रयोगशालाओं के राष्ट्रीय नेटवर्क में भी वृद्धि हुई है। सरकारी क्षेत्र में 977 प्रयोगशालाओं और 517 निजी प्रयोगशालाओं के साथ प्रयोगशालाओं का बुनियादी ढांचा बढ़कर आज 1494 पर पहुंच चुका है।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-

अधिक संख्या में रोगियों के ठीक होने के साथ भारत में ठीक होने वालों की कुल संख्या लगभग 21 लाख हुई; ठीक होने (रिकवरी) की दर और सुधर कर आज करीब 74 प्रतिशत तक पहुंच गई; सक्रिय मामलों की तुलना में स्वस्थ होने वालों की संख्या तीन गुना हुई

अधिक रोगियों के ठीक होने एवं अस्पतालों व होम आइसोलेशन (हल्के एवं मध्यम लक्षण वाले मामलों में) से डिस्चार्ज होने वालों की संख्या में बढोतरी के साथ, भारत में कोविड-19 से ठीक होने वालों की संख्या लगभग 21 लाख तक पहुंच गई है। 20,96,664 रोगियों का स्वस्थ होना तेजी से टेस्टिंग करने, व्यापक रूप से ट्रैकिंग करने एवं दक्ष तरीके से उपचार करने की नीति के प्रभावी कार्यान्वयन के कारण संभव हो पाया है। पिछले 24 घंटों में 58,794 रोगियों के ठीक होने के साथ, कोविड-19 रोगियों के बीच भारत की रिकवरी दर लगभग 74 प्रतिशत (73.91 प्रतिशत) तक पहुंच गई है, यह दर्शाता है कि ठीक होने वाले रोगियों की संख्या पिछले कई महीनों से लगातार बढ़ रही है। भारत ने सक्रिय मामलों (6,86,395 जो वर्तमान में सक्रिय चिकित्सा पर्यवेक्षण के तहत हैं) की तुलना में 14 लाख (14,10,269) रिकवरी दर्ज की है। रिकॉर्ड उच्च रिकवरी ने सुनिश्चित किया है कि देश का वास्तविक केसलोड यानी सक्रिय मामले घट रहे हैं और वर्तमान में कुल पॉजिटिव मामलों का ये केवल 24.19 प्रतिशत हैं। कोविड-19 के मामलों में मृत्यु दर वैश्विक औसत से कम है और इसमें लगातार गिरावट (वर्तमान में यह 1.89 प्रतिशत है) आ रही है, बल्कि सक्रिय मामलों का एक छोटा हिस्सा ही वेंटिलेटर सपोर्ट पर है।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-

 ‘ईसीएलजीएसके तहत 1 लाख करोड़ रुपये से भी अधिक के ऋण वितरित किए गए

भारत सरकार की ओर से गारंटी प्राप्त 100 प्रतिशत आपातकालीन क्रेडिट लाइन गारंटी योजना (ईसीएलजीएस) के तहत सार्वजनिक और निजी क्षेत्रों के बैंकों ने 18 अगस्त, 2020 तक 1.5 लाख करोड़ रुपये से भी ज्यादा के ऋण स्वीकृत किए हैं, जिनमें से 1 लाख करोड़ रुपये से अधिक के ऋण पहले ही वितरित किए जा चुके हैं। सरकार ने ‘ईसीएलजीएस’ की घोषणा ‘आत्मनिर्भर भारत पैकेज’ के एक हिस्से‘ के रूप में की है जिसका उद्देश्य विभिन्न सेक्टरों, विशेषकर एमएसएमई (सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम) को ऋण प्रदान करके ‘कोविड-19’ के कारण किए गए लॉकडाउन से उत्पन्न, व्यांपक संकट को कम करना है। ईसीएलजीएस के तहत सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों (पीएसबी) ने 76,044.44 करोड़ रुपये के ऋण मंजूर किए हैं, जिनमें से 56,483.41 करोड़ रुपये के ऋण पहले ही वितरित किए जा चुके हैं। इसी तरह निजी क्षेत्र के बैंकों ने 74,715.02 करोड़ रुपये के ऋण स्वीकृत किए हैं, जिनमें से 45,762.36 करोड़ रुपये के ऋण पहले ही वितरित किए जा चुके हैं।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-

1.22 करोड़ किसान क्रेडिट कार्डविशेष परिपूर्णता अभियान के तहत 1,02,065 करोड़ रुपये की ऋण सीमा के साथ स्वीकृत किए गए

‘कोविड-19’ के संकट से कृषि क्षेत्र को बचाने के प्रयासों के तहत किसान क्रेडिट कार्ड (केसीसी) के जरिए किसानों को रियायती ऋण मुहैया कराने के लिए एक विशेष परिपूर्णता अभियान वर्तमान में चलाया जा रहा है। 17 अगस्त 2020 तक 1.22 करोड़ किसान क्रेडिट कार्डों को 1,02,065 करोड़ रुपये की ऋण सीमा के साथ स्वीकृति दी गई है। इससे ग्रामीण अर्थव्यवस्था में नई जान फूंकने और कृषि क्षेत्र के विकास की गति तेज करने में काफी मदद मिलेगी। उल्लेखनीय है कि सरकार ने ‘आत्मनिर्भर भारत पैकेज’ के एक हिस्से के रूप में 2 लाख करोड़ रुपये के रियायती ऋण का प्रावधान या व्यवस्था करने की घोषणा की थी, जिससे मछुआरों और डेयरी किसानों सहित 2.5 करोड़ किसानों के लाभान्वित होने की आशा है।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-

हमारे चिकित्साकर्मियों ने देश को गौरवान्वित किया और दुनिया को दिखाया कि भारत एक विश्वसनीय भागीदार हो सकता है: श्री पीयूष गोयल

केन्द्रीय वाणिज्य और उद्योग मंत्री श्री पीयूष गोयल ने कहा कि हमारे सभी चिकित्साकर्मियों ने राष्ट्र को गौरवान्वित किया है और दुनिया को दिखाया है कि वैश्विक सहयोग और व्यापार में भारत एक विश्वसनीय भागीदार हो सकता है। सीआईआई के 12वें मेडटेक ग्लोबल समिट के उद्घाटन को आज संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि फार्मास्युटिकल उद्योग भारत और दुनिया में दवाओं की पर्याप्त आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिए कृतसंकल्प है। “कोविड-19 से लड़ने के लिए चिकित्सा उपकरण उद्योग ने स्वदेशी रूप से आवश्यक उत्पादों को तैयार करने में मदद की। हमारे डॉक्टरों, पैरामेडिक्स एवं चिकित्सा समुदाय ने भारत की सुरक्षा और कल्याण सुनिश्चित करने के लिए अपनी प्रतिबद्धता के माध्यम से आम आदमी की सेवा करके राष्ट्र को गौरवान्वित किया है।” श्री गोयल ने कहा कि आज हम गर्व के साथ कह सकते हैं कि भारत ने दुनिया को दिखाया है कि सख्त लॉकडाउन का क्या मतलब है और यह भी दिखाया कि तेजी से ठीक होने (रिकवरी) के क्या मायने हैं। “कोविड-19 से ठीक होने (रिकवरी) की हमारी दर बहुत उत्साहजनक है, जो 70 प्रतिशत की सीमा को पार कर गयी है।” श्री गोयल ने कहा कि लोगों के जीवन की देखभाल करने के लिए आत्मनिर्भर होना महत्वपूर्ण है। इससे हमारे फार्मा व चिकित्सा उपकरण उद्योग विकसित होंगे और चिकित्सा पेशा बेहतर होगा।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-

फार्मास्यूटिकल विभाग ने फार्मा क्षेत्र में घरेलू क्षमता के विकास हेतु उचित माहौल बनाने के लिए अनेक उपाय किए हैं : श्री गौड़ा

केंद्रीय रसायन और उर्वरक मंत्री श्री डी.वी.सदानंद गौड़ा ने कहा कि फार्मास्यूटिकल विभाग ने फार्मा क्षेत्र में घरेलू क्षमता के विकास के लिए उचित माहौल बनाने के लिए अनेक उपाय किए हैं। श्री गौड़ा ने कहा कि भारत की दवा सुरक्षा को मजबूत बनाने के लिए सरकार फार्मा क्षेत्र में आत्मनिर्भर भारत बनाने के लिए प्रतिबद्ध है। सरकार ने देश में तीन बड़े ड्रग पार्कों और चार चिकित्सा उपकरण पार्कों के विकास के लिए योजनाएं शुरू की हैं। इन पार्कों में आम बुनियादी ढांचा सुविधाओं के विकास के लिए केंद्रीय सहायता बढ़ाने के अलावा केंद्र सरकार इन पार्कों में बल्क ड्रग्स और चिकित्सा उपकरणों के विनिर्माण के लिए उत्पादन से जुड़े प्रोत्साहन (पीएलआई) भी प्रदान करेगी।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-

श्री राजनाथ सिंह ने नौसेना कमांडरों को प्रमुख क्षेत्रों पर विचार-विमर्श करने के लिए कहा

रक्षा मंत्री श्री राजनाथ सिंह ने कल नौसेना कमांडरों के सम्मलेन के उद्घाटन अवसर पर नौसेना कमांडरों को संबोधित किया। उन्होंने राष्ट्र के समुद्रिक हितों की रक्षा में भारतीय नौसेना की सराहना की और अपने जहाजों व विमानों को तैनात करने की सक्रिय प्रतिक्रिया के माध्यम से किसी भी चुनौती से निपटने में भारतीय नौसेना की तैयारियों पर विश्वास व्यक्त किया। कोविड-19 महामारी से उत्पन्न हुए अभूतपूर्व संकट के बारे में बोलते हुए उन्होंने भारतीय नौसेना को अब तक के सबसे बड़े देश-प्रत्यावर्तन ऑपरेशन “ऑपरेशन समुद्र सेतु”, जिसने राष्ट्रीय हित में व्यापक योगदान दिया है, के संचालन के लिए बधाई दी। समुद्र की कठिन परिस्थितयों और कोरोना वायरस के रूप में एक अनदेखे दुश्मन से निपटने की चुनौतियों के बावजूद, नौसेना ने हिंद महासागर क्षेत्र (आईओआर) में पड़ोसी देशों से लगभग 4,000 लोगों को वापस देश लाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। साथ ही ‘मिशन सागर’ के तहत दक्षिण पश्चिम हिन्द महासागर क्षेत्र के देशों मालद्वीप, मॉरीशस, कोमोरोस, सेशेल्स और मेडागास्कर को चिकित्सा सहायता प्रदान की। उन्होंने कोविड-19 के प्रबंधन में नागरिक प्रशासन को सहायता देने के उद्देश्य से क्वारंटीन सुविधाओं की व्यवस्था करने के लिए सभी नौसेना कमांड की प्रशंसा की।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-

कोविड-19 के दौरान उत्तर प्रदेश, बिहार जैसे राज्यों द्वारा एनएफएसए के तहत करीब 60.7 लाख नए लाभार्थी को जोड़ा गया

कोविड-19 के दौरान मार्च, 2020 के बाद से कुल करीब 60.70 लाख नए लाभार्थियों को उत्तर प्रदेश, बिहार इत्यादि जैसे राज्यों द्वारा उपलब्ध हदबंदी सीमा के भीतर एनएफएसए के तहत को जोड़ा गया। इसका मतलब यह है कि ये अतिरिक्त लाभार्थी प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना (पीएम-जीकेएवाई) जैसी योजनाओं का लाभ उठाने में सक्षम थे। खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण विभाग राज्यों/केन्द्र शासित प्रदेशों में एनएफएसए के पूर्ण कार्यान्वयन के लिए लगातार 80 करोड़ से ज्यादा लोगों/लाभार्थियों के लिए खाद्यान्न आवंटित करता रहा है। एनएफएसए के तहत लोक शिकायतों के प्रभावी निपटान के मद्देनजर सभी राज्यों/केन्द्र शासित प्रदेशों ने अपने यहां टॉल-फ्री नंबर/ पोर्टल के माध्यम से ऑनलाइन शिकायत निवारण प्रणाली की व्यवस्था की है।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-

केंद्रीय शिक्षा मंत्री ने वर्चुअल माध्यम से छात्रों में सीखने की क्षमता को बेहतर करने संबंधी दिशा-निर्देशोंको जारी किया

केंद्रीय शिक्षा मंत्री श्री रमेश पोखरियाल 'निशंक' ने नई दिल्ली में कल छात्रों में सीखने की क्षमता को बेहतर करने संबंधी दिशा-निर्देशों को जारी किया। इस अवसर पर मंत्री ने कहा कि कोविड-19 महामारी के दौरान वर्तमान समय में, मंत्रालय के अंतर्गत आने वाले संस्थानों ने एक साथ मिलकर काम किया है और डिजिटल माध्यमों का उपयोग करके बच्चों को घर पर ही स्कूली शिक्षा प्रदान करने का प्रयास किया है। वैकल्पिक दस्तावेजों जैसे कि शैक्षणिक कैलेंडर, प्रज्ञाता दिशा-निर्देश, डिजिटल एजुकेशन-इंडिया रिपोर्ट, निष्ठा ऑनलाइन आदि कुछ ऐसी ही पहलें हैं जिनकी शुरुआत बच्चों की स्कूली शिक्षा में निरंतरता बनाए रखने के लिए की गई है। शिक्षा मंत्रालय के निर्देश पर एनसीईआरटी द्वारा छात्रों के लिए महामारी की वर्तमान स्थिति और महामारी के बाद की स्थिति में सीखने की क्षमता को बेहतर करने संबंधी दिशा-निर्देश तैयार किए गए हैं।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-

ग़रीब कल्याण रोज़गार अभियान के सातवें सप्ताह तक लगभग 21 करोड़ कार्य दिवसों का रोज़गार प्रदान किया और 16,768 करोड़ रुपये खर्च किए गए

ग़रीब कल्याण रोज़गार अभियान (जीकेआरए) 6 राज्यों बिहार, झारखंड, मध्य प्रदेश, ओडिशा, राजस्थान और उत्तर प्रदेश में अपने गांवों में लौट आए प्रवासी मजदूरों को रोजगार उपलब्ध कराने के लिए मिशन मोड पर काम कर रहा है। इस अभियान के जरिए इन 6 राज्यों के 116 जिलों में आजीविका के अवसर उपलब्ध कराते हुए ग्रामीणों को सशक्त किया जा रहा है। ग़रीब कल्याण रोज़गार अभियान के सातवें सप्ताह तक कुल लगभग 21 करोड़ कार्य दिवसों का रोजगार उपलब्ध कराया गया है और इस पर अब तक 16,768 करोड़ रुपये खर्च किए जा चुके हैं। कोविड-19 के प्रकोप के मद्देनजर गांवों में लौटने वाले प्रवासी श्रमिकों और ग्रामीण क्षेत्रों में ऐसे ही प्रभावित नागरिकों के लिए रोजगार और आजीविका के अवसरों को बढ़ावा देने के लिए यह अभियान शुरू किया गया था। यह अब लौटकर अपने गांव में ही रहने का फैसला कर चुके लोगों के लिए नौकरियों और आजीविका हेतु एक लंबी अवधि की पहल है।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-

 

पत्र सूचना कार्यालय के क्षेत्रीय कार्यालयों से मिली जानकारियां

चंडीगढ़ : केंद्र शासित प्रदेश चंडीगढ़ के प्रशासक ने निजी अस्पतालों और नर्सिंग होम में कम से कम 25 प्रतिशत बिस्तर कोविड रोगियों के लिए आरक्षित रखने का आदेश दिया है। उन्होंने नगर निगम आयुक्त को पार्षदों के साथ मिलकर विभिन्न क्षेत्र समिति बनाने का निर्देश भी दिया है। यह समिति विभिन्न क्षेत्रो में नागरिकों द्वारा मास्क पहनने और सोशल डेस्टेंसिंग बनाए रखने संबंधी स्वास्थ्य अभ्यास का पालन सुनिश्चित कराने में स्थानीय प्रशासन की सहायता करेगी। इससे आईईसी गतिविधि बढ़ाने में भी सहायता मिलेगी।

पंजाब : कोविड-19 के उपचार और परीक्षण के लिए कुछ निजी अस्पताल और प्रयोगशालाओं द्वारा अधिक शुल्क लेने के मामले सामने आने के बाद राज्य सरकार के स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्री ने सिविल सर्जन्स को ऐसी सभी सेवा पंजाब सरकार द्वारा निर्धारित शुल्क के अंतर्गत सुनिश्चित कराने के लिए कहा है। यदि कोई भी इस संबंध में दिशा-निर्देश का उल्लंघन करते हुआ पाया गया तो प्रबंधन के विरुद्ध संक्रामक रोग अधिनियम के अंतर्गत तुरंत कार्रवाई की जाएगी

हरियाणा : राज्य के स्वास्थ्य और गृह मंत्री श्री अनिल विज ने कहा कि 24 अगस्त को हरियाणा विधानसभा परिसर में कोविड-19 जांच शिविर का आयोजन किया जाएगा। इस शिविर में विधायक, अधिकारी, कर्मचारी और पत्रकार अपना परीक्षण करा सकेंगे। उन्होंने कहा कि ये निर्णय 26 अगस्त, 2020 से शुरू होने वाले विधानसभा के मानसून सत्र के मद्देनज़र लिया गया है। इसके अलावा सभी नागरिक शल्य चिकित्सक को अपने क्षेत्र के विधायकों का कोविड-19 परीक्षण उनके घरों में करने का निर्देश भी दिया गया है।

अरुणाचल प्रदेश : अरुणाचल प्रदेश में पिछले चौबीस घंटों में कोविड-19 के 75 नए मामले सामने आए। इस दौरान 73 रोगी उपचार के बाद स्वस्थ हो गए और उन्हें अस्पताल से छुट्टी दे दी गई। राज्य में इस समय 923 सक्रिय मामले हैं। 75 नए मामलों में से ईटानगर राजधानी क्षेत्र से 16 और 18 अन्य जिलों से 59 मामले सामने आए हैं।

असम : राज्य में कल 2,054 रोगियों को अस्पताल से छुट्टी दी गई। राज्य के स्वास्थ्य मंत्री हेमंत बिस्व सरमा ने ट्वीट कर बताया एक ही दिन में दो हजार से अधिक लोगों को अस्पताल से छुट्टी मिलना प्रशंसनीय है और इसके लिए स्वास्थ्य दल सराहना के योग्य हैं। असम में अब तक 60,348 रोगियों को अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है और 23,753 सक्रिय मामले हैं।

मणिपुर : राज्य में केंद्रीय सुरक्षा बलों के 56 कर्मियों सहित 111 और लोग कोविड-19 से संक्रमित  पाए गए हैं। 96 व्यक्तियों को उपचार के बाद अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है जबकि राज्य में अब 1,937 सक्रिय मामले हैं।

मिजोरम : राज्य में कल 13 नए मामले सामने आए। मिजोरम में अब कोविड-19 के 873 मामले हैं और इनमें से 489 सक्रिय मामले हैं।

नागालैंड : राज्य के स्वास्थ्य और परिवार कल्याण विभाग ने कहा कि आरटी-पीसीआर और ट्रूनेट मशीन द्वारा नमूनों के परीक्षण के लिए 17 करोड़ रुपए खर्च किए गए हैं। आरटी-पीसीआर द्वारा 31,124 और ट्रूनेट मशीन द्वारा 21,015 परीक्षण किए गए। नागा इंजीनियरिंग स्नातक ओ जूंगियो ने एक सोशल डेस्टेंसिंग डिवाइस का आविष्कार किया है जो इसका प्रयोग करने वाले व्यक्ति को सोशल डेस्टेंसिंग का पालन न करने पर चेतावनी देता है। 

महाराष्ट्र : राज्य में इस समय कोविड-19 के 1.60 लाख सक्रिय मामले हैं। अनलॉक प्रयासों के तहत राज्य सड़क परिवहन निगम ने आज सुबह फिर से अपनी सेवा शुरू की है। पहली शिवनेरी बस सुबह 7 बजे मुंबई से पुणे के लिए रवाना हुई। महाराष्ट्र के सबसे लोकप्रिय गणेश उत्सव से कुछ दिन पहले राज्य सरकार ने अंतर्जनपदीय बस सेवा को फिर से शुरू करने की अनुमति दी है। पुणे में हाल ही में कराए गए सीरो-सर्वे से पता चला है कि पांच सबसे अधिक मामले वाले क्षेत्र के लोगों में से 50 प्रतिशत के नमूने में कोरोना वायरस संक्रमण के लिए रोग-प्रतिकारक मिले हैं। भारतीय विज्ञान शिक्षा एवं अनुसंधान संस्थान के नेतृत्व में हुए सर्वेक्षण के बाद अब मानव शरीर द्वारा वायरस की प्रतिकिया को समझने के लिए निष्प्रभावन रोग प्रतिकारक का पता लगाने के लिए अध्ययन किया जाएगा। यह देश में इस तरह का संभवत: पहला सर्वेक्षण होगा।

राजस्थान : कोरोना वायरस महामारी के कारण राज्य में 129 स्थानीय निकाय के लिए चुनाव दो महीने के लिए स्थगित कर दिए गए हैं। राज्य चुनाव आयोग ने एक आदेश में कहा कि अगस्त 2020 में होने वाले चुनाव वर्तमान स्थिति को देखते हुए 20 अक्टूबर,2020 तक स्थगित रहेंगे। राज्य में इस समय कोरोना वायरस के 14,671 सक्रिय मामले हैं। बुधवार को कोरोना वायरस से 5 और लोगों की मृत्यु हुई। राज्य में अब तक 915 लोगों की कोरोना वायरस से मृत्यु हो चुकी है।

गोवा : बीते 24 घंटे में कोरोना से 8 लोगों की मृत्यु होने के बाद गोवा में कोरोना वायरस से बुधवार तक 124 लोगों की मृत्यु हो चुकी है। कोविड-19 के नए मामले की संख्या की तुलना में ठीक हुए लोगों की संख्या अधिक होने के बाद राज्य में सक्रिय मामले 3,838 रह गए हैं। 357 लोग स्वस्थ हुए और उन्हें घर भेजा गया। राज्य में 342 नए मामले सामने आए हैं।

केरल : कोझिकोड के जिलाधिकारी ने प्रतिबंधक आदेश की अवहेलना करने के बाद पेरंब्ररा मछली बाजार को अगले आदेश तक बंद रखने का आदेश दिया है। राज्य में आज कोविड-19 के कारण 6 और लोगों की मृत्यु हुई। ताजा आंकड़ों के अनुसार कोविड-19 से अभी तक खाड़ी देशों में केरल के 406 निवासियों की मृत्यु हुई है। केरल में कल कोविड-19 के मामले 50 हजार से अधिक हो गए और एक दिन में रिकॉर्ड 2,333 नए मामले सामने आए। इस समय 17,382 लोगो का उपचार चल रहा है और 1,67,687 लोग राज्य भर में निगरानी में हैं।

तमिलनाडु : पुडुचेरी में एक दिन में सबसे ज्यादा 554 मामले सामने आए। 8 लोगों की कोविड-19 से मृत्यु हुई। पुडुचेरी में कोविड-19 के अब 9,292 मामले हैं। इनमें से 3523 सक्रिय मामले हैं और 137 लोगों की मृत्यु हुई है। कोविड देखभाल के लिए मानव संसाधन की आवश्यकता को देखते हुए जेआईपीएमईआर ने 24 अगस्त से ओपीडी और विशेष क्लीनिक बंद करने का निर्णय लिया है। केंद्र सरकार को भेजे गए एक संदेश में उपराज्यपाल सुश्री किरन बेदी ने पुडुचेरी में कोविड-19 में देखभाल के लिये निजी अस्पतालों को शामिल करने का अनुरोध किया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार विनायक चतुर्थी समारोह के संबंध में उच्च न्यायालय के निर्णय का दृढ़ता से पालन करेगी। सरकार ने पहले ही सार्वजनिक स्थानों पर विनायक प्रतिमा की स्थापना और शोभायात्रा पर रोक लगा दी है।

कर्नाटक : कोरोना सकंट के बीच राज्य मंत्रिमंडल ने 21 सितंबर से 9 दिवसीय विधायी सत्र के आयोजन का निर्णय लिया है। मंत्रिमंडल ने गाय वध अधिनियम पर संशोधन प्रस्ताव लाने का फैसला भी किया। इस बीच राज्य के स्वास्थ्य विभाग ने कंटेनमेंट और बफर जोन के लिए संशोधित दिशा-निर्देश जारी किए हैं। कर्नाटक में बृहस्पतिवार को कोरोना के फिर से 8 हजार से अधिक नए मामले सामने आए। राज्य में पिछले कुछ दिनो में कोरोना से मृत्यु के बाद मरने वालो की संख्या बढ़कर 4,327 हो गई है। राज्य में इस समय कोरोना पॉजिटिव 2,49,590 मामले हैं।

आंध्रप्रदेश : राज्य के धर्मादा मंत्री ने कहा कि इस वर्ष महामारी के चलते विनायक चतुर्थी का कोई सार्वजनिक समारोह आयोजित नहीं होगा। उन्होंने लोगों से पंडाल आयोजित करने के स्थान पर घरों में पूजा करने का अनुरोध किया है। मूर्ति विसर्जन के दौरान रैली और गणेश पंडाल पर इस वर्ष रोक लगाई गई है। कोरोना वायरस से पीडित टीडीपी के पूर्व विधायक जेसी प्रभाकर रेड्डी को कडप्पा जेल से आज रिहा किया जाएगा। अनंतपुर स्थित अनुसूचित जाति/जनजाति अत्याचार न्यायालय ने रेड्डी के वकील द्वारा दाखिल याचिका पर कल  फैसला सुनाते हुए उन्हें जमानत पर रिहा करने का आदेश जारी किया। राज्य में बुधवार तक 30,19,296 कोविड परीक्षण किए जा चुके हैं। आंध्रप्रदेश देश में 30 लाख नमूने परीक्षण करने वाला चौथा राज्य बन गया है।

तेलंगाना : बीते 24 घंटो में कोरोना के 1724 नए मामले सामने आए,1195 लोग बीमारी से स्वस्थ हुए और 10 लोगों की मृत्यु हुई। 1724 मामलों में से 395 मामले जीएचएमसी में सामने आए। राज्य में अब कुल मामले : 97,424, सक्रिय मामले : 21,509, मृत्यु : 729, छुट्टी दी गई : 75,186। दक्षिण पश्चिम मानसून के लगातार सक्रिय होने के कारण हैदराबाद और तेलंगाना में बारिश जारी है। डॉ. रेड्डी ने भारत में एविगन (फैविपिराविर) दवा जारी की है। भारत के औषधि महानियंत्रक ने कोविड-19 बीमारी में हल्के से मध्यम लक्षण वाले रोगियों के उपचार के लिए इसकी अनुमति दी है।

पीआईबी द्वारा जांचे गए तथ्य

***

एमजी/एएम/एसके/एजे



(Release ID: 1647649) Visitor Counter : 24