PIB Headquarters

कोविड-19 पर पीआईबी का दैनिक बुलेटिन

Posted On: 10 AUG 2020 7:22PM by PIB Delhi

 

Coat of arms of India PNG images free download

 

 

 

 

 

(पिछले 24 घंटों में जारी कोविड-19 से संबंधित प्रेस विज्ञप्तियां, पीआईबी के क्षेत्रीय कार्यालयों से मिली जानकारियां और पीआईबी द्वारा जांचे गए तथ्य शामिल हैं)

भारत में कोविड-19 से ठीक होने वाले लोगों की संख्या ऐतिहासिक 15 लाख के पार पहुंची।

आज एक दिन में ठीक होने वाले मरीजों की संख्या सबसे अधिक 54,859 हुई, सक्रिय मामलों की तुलना में ठीक होने वाले मरीजों की संख्या 9 लाख से अधिक हुई।

कोरोना के मामलों में मृत्यु दर घटकर 2 प्रतिशत पर पहुंची।

सक्रिय मामलों की संख्या में कमी आई है और वर्तमान में यह कुल पॉजिटिव मामलों का केवल 28.66 प्रतिशत है।

प्रधानमंत्री ने बाढ़ प्रभावित राज्यों को कहा कि कोविड से उत्पन्न स्थिति के मद्देनजर बचाव कार्यों पर अमल के दौरान राज्यों को यह सुनिश्चित करना चाहिए कि लोग सभी स्वास्थ्य संबंधी सभी सावधानियों का पालन करें।

 

भारत में कोविड-19 से ठीक होने वाले लोगों की संख्या ऐतिहासिक 15 लाख के पार पहुंची; कोरोना के मामलों में मृत्यु दर घटकर 2 प्रतिशत पर पहुंची

भारत में कोविड-19 से ठीक होने वाले मरीजों की संख्या आज ऐतिहासिक 15 लाख को पार कर गई। 15,35,743 मरीजों का ठीक होना त्वंरित जांच नीति अपनाने, मरीजों की निगरानी और उनके इलाज में तेजी के कारण संभव हुआ है। बेहतर एंबुलेंस सेवाओं, देखभाल के मानकों पर विशेष ध्यान देने और नॉन-इन्वैंसिव ऑक्सीजन के कारण अपेक्षित परिणाम देखने को मिले हैं। पिछले 24 घंटों में एक दिन में ठीक होने वाले मरीजों की संख्या सबसे अधिक यानी 54,859 होने के साथ ही कोविड-19 मरीजों के ठीक होने (रिकवरी) की दर 70 प्रतिशत की नई ऊंचाई तक पहुंची है। तेजी से स्वस्थ होने की रिकॉर्ड संख्या से यह सुनिश्चित हो गया कि सक्रिय मामलों की संख्या में कमी आई है और वर्तमान में यह कुल पॉजिटिव मामलों का केवल 28.66 प्रतिशत है। भारत में सक्रिय मामलों (6,34,945) की तुलना में ठीक होने वाले मरीजों की संख्या 9 लाख से अधिक है। त्वरित जांच और अस्पताल में भर्ती मामलों के लिए तेजी से प्रभावी नैदानिक प्रबंधों के जरिए रोगी का जल्द पता लगाने के संबंध में केन्द्र और राज्य/संघ शासित प्रदेशों के समन्वित प्रयासों के कारण यह परिणाम देखने को मिले हैं और मृत्यु् दर में लगातार कमी आ रही है। आज की तारीख में यह 2 प्रतिशत है और तेजी से इसमें गिरावट आ रही है। रोगियों की शुरुआत में ही पहचान हो जाने के कारण सक्रिय मामलों का प्रतिशत तेजी से गिर रहा है।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने अंडमान और निकोबार द्वीप समूह के लिए पनडुब्बी के‍बल कनेक्टिविटी की शुरुआत की

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने आज वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से अंडमान और निकोबार द्वीप समूह को जोड़ने वाले पनडुब्बी ऑप्टिकल फाइबर केबल (ओएफसी) की शुरुआत की और उसे राष्ट्र को समर्पित किया। प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि कनेक्टिविटी से द्वीप समूह में अनगिनत अवसर पैदा होंगे। उन्होंने कहा कि 2300 किलोमीटर की पनडुब्बी केबल बिछाने और इसे निर्धारित लक्ष्य से पहले पूरा करना बेहद प्रशंसनीय है। प्रधानमंत्री ने कहा कि यह सेवा आज चेन्नई से पोर्ट ब्लेयर, पोर्ट ब्लेयर से लिटिल अंडमान और पोर्ट ब्लेयर से स्वराज द्वीप तक प्रमुख द्वीपों पर शुरू हुई है। प्रधानमंत्री ने गहरे समुद्र में सर्वेक्षण के रूप में समुद्र के नीचे लगभग 2300 किलोमीटर तक केबल बिछाने की प्रशंसा करते हुए कहा कि केबल की गुणवत्ता बनाए रखना और विशेष जहाजों के साथ केबल बिछाना कोई आसान काम नहीं है। प्रधानमंत्री ने कहा कि पनडुब्बी केबल अंडमान और निकोबार की सस्ती और बेहतर कनेक्टिविटी तथा डिजिटल इंडिया के सभी लाभों को प्राप्त करने में मदद करेगी, विशेष रूप से ऑनलाइन शिक्षा, टेली-मेडिसिन, बैंकिंग प्रणाली, ऑनलाइन ट्रेडिंग में सुधार और पर्यटन को भी बढ़ावा देगी।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-

अंडमान-निकोबार द्वीप समूह के लिए पनडुब्बी केबल कनेक्टिविटी के शुभारंभ अवसर पर प्रधानमंत्री के सम्बो‍धन का मूल पाठ

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-

प्रधानमंत्री ने बाढ़ की स्थिति की समीक्षा करने के लिए छह राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक की

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने आज वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से छह राज्यों यथा असम, बिहार, उत्तर प्रदेश, महाराष्ट्र, कर्नाटक और केरल के मुख्ययमंत्रियों के साथ बैठक कर देश में दक्षिण-पश्चिम मानसून के साथ-साथ बाढ़ की मौजूदा स्थिति की समीक्षा की। प्रधानमंत्री ने बाढ़ के पूर्वानुमान के लिए स्थायी प्रणाली स्थापित करने और पूर्वानुमान एवं चेतावनी प्रणाली बेहतर करने हेतु अभिनव प्रौद्योगिकियों के व्यापक उपयोग के लिए सभी केन्द्रीय एवं राज्य एजेंसियों के बीच और भी अधिक समन्वय सुनिश्चित करने पर विशेष जोर दिया। प्रधानमंत्री ने कहा कि विशिष्ट स्थान संबंधी पूर्वानुमान को बेहतर करने हेतु अभिनव प्रौद्योगिकियों जैसे कि आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस का भी उपयोग करने के लिए प्रायोगिक स्तर पर प्रयास किए जा रहे हैं, जिसके लिए राज्यों को भी इन एजेंसियों को आवश्ययक सूचनाएं देनी चाहिए और स्थानीय समुदायों को संबंधित चेतावनी के बारे में समय पर अवगत कराना चाहिए। प्रधानमंत्री ने विशेष जोर देते हुए यह भी कहा कि कोविड से उत्पन्न स्थिति के मद्देनजर राज्यों को यह सुनिश्चित करना चाहिए कि बचाव कार्यों पर अमल करते समय लोग अवश्य ही स्वास्थ्य  संबंधी सभी सावधानियां बरतें, जैसे कि फेस मास्क पहनें, हाथ को साबुन से धोएं या सैनिटाइज करें, पर्याप्त सामाजिक दूरी बनाए रखें। इसके साथ ही राहत सामग्री के मामले में भी प्रभावित लोगों के लिए हाथ धोने/सैनिटाइज करने और फेस मास्क पहनने की व्यवस्था अवश्य की जानी चाहिए। इस संबंध में वरिष्ठ नागरिकों, गर्भवती महिलाओं और पहले से ही किसी बीमारी से ग्रसित लोगों के लिए विशेष प्रावधान किए जाने चाहिए।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-

ईपीएफओ ने कोविड-19 महामारी के दौरान उमंगके जरिए बिना किसी बाधा के निरंतर सेवा सुनिश्चित की

यूनिफाइड मोबाइल एप्लिकेशन फॉर न्यू-ऐज गवर्नेंस (उमंग) कोविड-19 महामारी के दौरान कर्मचारी भविष्यो निधि संगठन (ईपीएफओ) के सदस्यों के बीच काफी प्रभावकारी एवं लोकप्रि‍य रहा क्योंकि उन्हें घर बैठे ही बिना किसी बाधा के निरंतर सेवाएं मिलती रहीं। मौजूदा समय में कोई भी पीएफ सदस्य उमंगऐप का उपयोग कर अपने मोबाइल फोन पर ईपीएफओ की 16 विभिन्न सेवाएं प्राप्त कर सकता है। उमंग ऐप पर कोई भी सदस्य  अपना दावा (क्लेम) दर्ज कर सकता है, उस पर करीबी नजर रख सकता है और अपने क्लेम की ताजा स्थिति जान सकता है। अप्रैल से जुलाई, 2020 के दौरान उमंग ऐप के जरिए कुल 11.27 लाख दावे दाखिल या प्रस्तुत किए गए। उमंग ऐप से सदस्यों को कोविड-19 महामारी के दौरान कहीं भी आने-जाने पर लगी पाबंदी के बावजूद ईपीएफओ की सेवाएं प्राप्त करने में कोई भी परेशानी नहीं उठानी पड़ी। दरअसल, इस सुविधा से ईपीएफओ के कार्यालय जाने की जरूरत काफी कम हो गई। अप्रैल से जुलाई 2020 तक की कोविड-19 महामारी अवधि के दौरान व्यूर पेंशनर पासबुकको 18.52 लाख एपीआई हिट मिले, जबकि अद्यतन जीवन प्रमाण पत्र सेवा को 29,773 एपीआई हिट मिले।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-

रणनीतिक महत्व वाले और सीमावर्ती क्षेत्रों में स्थित 498 गावों में सरकार मोबाइल कनेक्टिविटी प्रदान करेगी - श्री रविशंकर प्रसाद

केन्द्रीय इलेक्ट्रॉनिक्स, सूचना प्रोद्योगिकी, संचार तथा विधि और न्याय मंत्री श्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि भारत सरकार रणनीतिक महत्व के दूर-दराज वाले क्षेत्रों तथा सीमावर्ती क्षेत्रों में मोबाइल कनेक्टिविटी प्रदान करने के लिए प्राथमिकता के आधार पर प्रयास कर रही है ताकि यहां जीवन सुगम बनाया जा सके और उन लोगों के लिए बेहतर गुणवत्ता सुनिश्चित हो सके जो इन क्षेत्रों में काम कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि रणनीतिक, दूरस्थ और सीमावर्ती क्षेत्रों में 354 गांवों में ऐसी कनेक्टिविटी प्रदान करने के लिए एक निविदा को अंतिम रूप दिया गया है और बिहार, राजस्थान, उत्तराखंड, हिमाचल प्रदेश और गुजरात के अन्य प्राथमिकता वाले क्षेत्रों के 144 गांवों में, जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के केंद्र शासित प्रदेशों में इसे लागू किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि इन गांवों को रणनीतिक रूप से मोबाइल पर सीमा क्षेत्र कनेक्टिविटी को कवर करने के लिए चुना गया है। श्री प्रसाद ने कहा कि इन गांवों में चालू होने के बाद, मोबाइल कनेक्टिविटी के लिए जम्मू-कश्मीर, लद्दाख के केंद्र शासित प्रदेशों में कोई भी ऐसा गांव नहीं होगा जहां मोबाइल कनेक्टिविटी उपलब्ध नहीं होगी।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-

एमएसएमई को राहत देने के लिए सरकार द्वारा हाल में उठाए गए कदम अर्थव्यवस्था में तेजी लायेंगे: श्री नितिन गडकरी

सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम मंत्री श्री नितिन गडकरी ने कहा कि एमएसएमई की परिभाषा को बदलने से, फंड ऑफ फंड्स, चैंपियंस पोर्टल, एमएसएमई को विस्तारित ऋण निश्चित रूप से अर्थव्यवस्था में तेजी लाएगा जोकि महामारी के मद्देनजर लॉकडाउन के कारण मंद पड़ गयी थी। उन्होंने आज आयोजित एक वर्चुअल एमएसएमई कॉन्क्लेव को संबोधित करते हुए यह बात कही। उन्होंने सभी हितधारकों से सभी प्रकार के डर और नकारात्मकता को दूर करने की अपील की और आश्वासन दिया कि सरकार देश को आर्थिक महाशक्ति बनाने के लिए हरसंभव प्रयास कर रही है। श्री गडकरी ने आगे बताया कि 3 लाख करोड़ के राहत पैकेज की घोषणा में से एमएसएमई को लगभग 1,20,000 करोड़ रुपये के ऋण वितरित किया गया है। देरी से भुगतान की समस्या के बारे में चर्चा करते हुए उन्होंने कहा कि सभी मंत्रालयों, विभागों और सार्वजनिक उपक्रमों को 45 दिनों के भीतर एमएसएमई के लंबित बिलों को मंजूरी देने के निर्देश दिए गए हैं।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-

उपराष्ट्रपति के कार्यकाल के तीसरे वर्ष का वृत्तांत देने वाली पुस्तक का विमोचन केन्द्रीय रक्षा मंत्री करेंगे; श्री प्रकाश जावड़ेकर इस पुस्तक के ई-संस्करण का विमोचन करेंगे

उपराष्ट्रपति श्री एम. वेंकैया नायडू के कार्यकाल के तीसरे वर्ष का वृत्तांत प्रस्तु्त करने वाली पुस्तक कनेक्टिंग, कम्युनिकेटिंग, चेंजिंगका विमोचन कल 11 अगस्त्, 2020 को केन्द्रीय रक्षा मंत्री श्री राजनाथ सिंह दिल्ली स्थित उपराष्ट्रपति निवास में करेंगे। श्री नायडू के कार्यकाल का तीसरा वर्ष 11 अगस्त को पूरा हो रहा है। इस पुस्तक के इलेक्ट्रॉनिक वर्जन (ई-बुक) का विमोचन केन्द्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री श्री प्रकाश जावड़ेकर करेंगे। 250 से भी अधिक पृष्ठों वाली इस पुस्त्क को सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय के प्रकाशन विभाग ने प्रस्तुत किया है।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-

वित्त मंत्री ने राष्ट्रीय अवसंरचना पाइपलाइन के लिए एक ऑनलाइन डैशबोर्ड का शुभारम्भ किया

वित्त एवं कॉरपोरेट कार्य मंत्री श्रीमती निर्मला सीतारमण ने आज वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से राष्ट्रीय अवसंरचना पाइपलाइन (एनआईपी) ऑनलाइन डैशबोर्ड का शुभारम्भ किया। न्यू इंडिया में आधारभूत परियोजनाओं से जुड़ी जानकारियों को देखने के लिए सभी हितधारकों के लिए वन स्टॉप समाधान के रूप में ऑनलाइन डैशबोर्ड की परिकल्पना की गई है। डैशबोर्ड इंडिया इन्वेस्टमेंट ग्रिड (आईआईजी) (www.indiainvestmentgrid.gov.in) पर दिखाई दे रहा है। आईआईजी के संवादात्मक और गतिशील ऑनलाइन प्लेटफॉर्म है, जहां देश में अद्यतन और रियल टाइम निवेश के अवसरों का प्रदर्शन किया जाता है।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-

भारतीय उत्पाद, अन्य देशों में पारस्परिक आधार पर उचित पहुंच सुविधा के योग्य हैं

केन्द्रीय वाणिज्य और उद्योग मंत्री श्री पीयूष गोयल ने आज पहले पांच-दिवसीय वर्चुअल एफएमसीजी आपूर्ति श्रृंखला एक्सपो, 2020 का उद्घाटन किया। इस अवसर पर श्री गोयल ने कहा कि हमें कोविड-19 महामारी के बाद की वास्तविकता को स्वीकार करना होगा। दुनिया बदल गई है। इस कोविड अनुभव से दुनिया ने बहुत कुछ सीखा है और कई चीज़ों का परित्याग भी किया है। श्री गोयल ने कहा कि हम अपने उद्योगों की रक्षा करना चाहते हैं ताकि उन्हें समान अवसर और उचित पहुंच प्राप्त हो। उन्होंने कहा कि भारत दुनिया के साथ समान, निष्पक्ष और पारस्परिक व्यापार चाहता है। हम कई देशों और क्षेत्रों के साथ संतुलित व्यापार की ओर बढ़ रहे हैं। यह भी एक कारण है कि भारत ने आरसीईपी में शामिल नहीं होने का विकल्प चुना क्योंकि यह पूरी तरह से असमान व्यवस्था थी। देशों को, चरणबद्ध तरीके से, उत्पादों के लिए भारत को स्रोत (सोर्सिंग) के रूप में देखना चाहिए, भारत में अपने उत्पादों को विकसित करना चाहिए और 1.3 बिलियन भारतीय लोगों द्वारा पेश किये जा रहे बड़े व्यापार के अवसर का लाभ उठाना चाहिए। श्री गोयल ने भारतीय उद्योग को एक साथ आगे बढ़ने, एक दूसरे का समर्थन करने तथा समृद्धि भारत की दिशा में और आने वाली पीढ़ियों के बेहतर भविष्य हेतु काम करने के लिए आमंत्रित किया।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-

पीआईबी के क्षेत्रीय कार्यालयों से मिली जानकारियां

पंजाब: मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के निर्देश पर, चिकित्सा शिक्षा और अनुसंधान विभाग ने राज्य में प्रति प्रयोगशाला प्रति दिन 1000 परीक्षणों के साथ सितंबर 2020 के दौरान कुल दैनिक परीक्षण क्षमता को बढ़ाकर चार हजार करने के लिए नई कोविड परीक्षण प्रयोगशालाओं की स्थापना की है। इसके अलावा, पटियाला, अमृतसर और फरीदकोट में तीन चिकित्सा महाविद्यालयों में कुल परीक्षण क्षमता भी 31 अगस्त तक प्रति महाविद्यालय प्रति दिन 5000 परीक्षण तक करने का लक्ष्य रखा है।

महाराष्ट्र: रविवार को महाराष्ट्र में सबसे खराब स्थिति रहते हुए कुल 390 मरीजों की मौत हुईजो महामारी के इन पांच महीनों में अब तक का सबसे अधिक है, जबकि लगातार दूसरे दिन, राज्य में 12 हजार से अधिक कोविड-19 से संक्रमित हुए। राज्य में अब तक कुल 17,  757 मरीजों की मौत हुई है। राज्य में 12,248 मरीजों में संक्रमण की पुष्टि होने के बाद कोविड-19 से संक्रमितों की कुल संख्या 5.15 लाख पहुंच गई है। हालांकि, अब राज्य में प्रतिदिन संक्रमित होने से ज्यादा मरीजों को अस्पतालों से छुट्टी दी जा रही हैंरविवार को 13,348 मरीजों को अस्पताल से छुट्टी दे दी गई, जिसके बाद कुल स्वस्थ होने वालों की संख्या 3,51,710 हो गई।

गुजरात: अहमदाबाद में कोविड-19 के मामले स्थिर होने के बावजूद, आईसीयू केयर और वेंटिलेटर की आवश्यकता वाले मरीजों की संख्या बढ़ रही है। 60 प्रतिशत आईसीयू बिस्तर और 70.6 प्रतिशत वेंटिलेटर वाले आईसीयू बिस्तर शहर में पहले से ही भरे हुए हैं। इस बीच, गुजरात सरकार ने राज्य में सार्वजनिक स्थानों पर फेस मास्क न पहनने के जुर्माने को बढ़ाकर 500 रुपये से 1,000 रुपये कर दिया है।

राजस्थान: राज्य में सोमवार को सुबह 10:30 बजे तक 598 नए संक्रमित मरीजों की पुष्टि हुई है, जिसके बाद संक्रमितों की कुल संख्या 53,095 तक पहुंच गई। राजस्थान के स्वास्थ्य विभाग के बुलेटिन के अनुसार, सोमवार को छह मरीजों की मौत हो गई, जिसके बाद मौत का आंकड़ा 795 हो गया।

मध्य प्रदेश: राज्य को अधिक उच्च-निर्भरता इकाई (एचडीयू) और साथ ही ऑक्सीजन युक्त गहन देखभाल इकाई (आईसीयू) बिस्तरों की आवश्यकता है, क्योंकि पिछले सात सप्ताह में अनलॉक अवधि के दौरान कोविड-19 के मामलों में काफी वृद्धि हुई है। राज्य में आज की तारीख में 9,009 सक्रिय मामले हैं। कोरोना महामारी को देखते हुए, राज्य में सार्वजनिक रूप से मनाए जाने वाले गणेश उत्सव, मोहर्रम और जन्माष्टमी जैसे त्योहार नहीं मनाए जाएंगे। स्वतंत्रता दिवस समारोह भी सीमित पैमाने पर मनाया जाएगा।

गोवा: राज्य में रविवार को एक दिन में सबसे अधिक 506 नए मरीजों में संक्रमण की पुष्टि हुई है। जैसा कि गोवा का एक अकेला कोविड-19 अस्पताल मामलों में तेजी आने से पहले ही पूरी तरह भरा हुआ है, सरकार ने राज्य के दूसरे पूर्ण विकसित कोविड अस्पताल के रूप में पोंडा के उप-जिला अस्पताल को नामित किया है।

अरुणाचल प्रदेश: अरुणाचल प्रदेश में, पिछले 24 घंटों के दौरान कोविड-19 से 52 मरीज स्वस्थ हुए हैं, जबकि रविवार को 38 नए मरीजों में संक्रमण की पुष्टि हुई है। वर्तमान में राज्य में 670 सक्रिय मामले हैं। 38 नए मामलों में से 11 पूर्वी कामेंग जिले से हैं।

मणिपुर: मणिपुर में, वर्तमान में आधिकारिक रूप से क्वारंटाइन में 996 व्यक्ति, सामुदायिक क्वारंटाइन में 1580 और भुगतान कर क्वारंटाइन की सुविधा लेने वाले 419 लोग हैं।

नागालैंड: नागालैंड में, 2,781 कुल सकारात्मक मामलों में से 1,226 मामले सशस्त्र बलों के हैं, 1,072 मामले बाहर से आने वालों में हैं, 196 मामले संक्रमण के दौरान कार्य कर रहे कार्यकर्ताओं में हैं, 233 मामले ट्रेस किए गए संपर्कों के हैं और 54 मामले अन्य हैं।

मिजोरम: कल मिजोरम में कोविड-19 के 12 नए मरीजों में संक्रमण की पुष्टि हुई। राज्य में कोविड-19 से संक्रमित कुल 620 में से 322 सक्रिय मामले हैं।

सिक्किम: सिक्किम में, आज 44 नए मरीजों में कोविड-19 संक्रमण की पुष्टि हुई है। कुल 510 कोविड-19 मरीज अब तक राज्य में स्वस्थ हो चुके हैं और राज्य में सक्रिय मामलों की संख्या 399 रह गई है।

केरल: राज्य सरकार ने केंद्र से राज्य में बारिश के कारण होने वाले नुकसान को दूर करने के लिए एक विशेष आर्थिक पैकेज प्रदान करने का अनुरोध किया है। मुख्यमंत्री श्री पिनाराई विजयन ने प्रधानमंत्री द्वारा बाढ़ प्रभावित राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ बुलाई गई बैठक के दौरान स्थिति की समीक्षा करने का अनुरोध किया। मुन्नार भूस्खलन में मरने वालों की संख्या मलबे से अधिक शवों की बरामदगी के साथ ही अब 49 तक पहुंच गई है। वायनाड में, कोविड-19 के आज 25 और परीक्षण किए गए। आज दो और मरीजों की मौत हो गई। कल, राज्य में कुल 1,211 नए मरीजों में संक्रमण की पुष्टि हुई। पूरे राज्य में 12,347 मरीजों का इलाज विभिन्न अस्पतालों में चल रहा है और 1,49,357 को निगरानी में रखा गया है।

तमिलनाडु: सोमवार को केन्द्र शासित प्रदेश पुडुचेरी में 245 नए मरीजों में संक्रमण की पुष्टि हुई और दो मरीजों की मौतें हुई, जिसके बाद कुल मरीजों की संख्या 5624 पहुंच गई है, सक्रिय मामले 2180 हैं और मृतकों का आंकड़ा 89 हो गया है। तमिलनाडु के 10 प्रतिशत से अधिक विधायकों में कोविड-19 के लक्षण पाए गए हैं; लगभग आठ महीने बाद विधानसभा का चुनाव होने के कारण विधायक अपने निर्वाचन क्षेत्र के काम में भी सावधानी बरत रहे हैं। तमिलनाडु में कक्षा 10 के परिणाम घोषित हो गए हैं जिसमें सभी छात्र उत्तीर्ण हुए हैं; परिणाम स्कूलों के आंतरिक मूल्यांकन के साथ-साथ उपस्थिति के आधार पर तैयार किए गए थे। रविवार को 5994 नए मरीजों में संक्रमण की पुष्टि हुई, 6020 मरीज स्वस्थ हुए और 119 मरीजों की मौत हुई। कुल मामले: 2,96,901; सक्रिय मामले: 53,336; मृतक: 4927.

कर्नाटक: मुख्यमंत्री और अन्य वरिष्ठ मंत्रियों ने बाढ़ की स्थिति पर प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के साथ चर्चा में भाग लिया; राज्य सरकार ने केंद्र सरकार से 4000 करोड़ रुपये की वित्तीय सहायता का अनुरोध किया है। प्राथमिक शिक्षा मंत्री ने आज एसएसएलसी परिणाम की घोषणा की और हाल के दिनों में जारी इस कोविड के संकट के बीच परीक्षा में उत्तीर्ण 71.80 प्रतिशत छात्रों को बधाई दी। कर्नाटक सड़क सुरक्षा प्राधिकरण के अनुसार कोविड लॉकडाउन के दौरान सड़क दुर्घटनाओं और मृत्यु दर में 48 प्रतिशत की गिरावट देखी गई है। रविवार को बेंगलुरु शहर में कोविड सकारात्मक मामले 2000 के आंकड़े से नीचे आ गए। राज्य में कल 5985 नए मरीजों में संक्रमण की पुष्टि हुई, 4670 मरीजों को अस्पताल से छुट्टी दे दी गई और 107 की मौत हुई; कुल मामले: 1,780,87; सक्रिय मामले: 80,973; कुल मौत: 3198.

आंध्र प्रदेश: राज्य भर के जिलाधिकारियों ने विजयवाड़ा के कोविड केयर सेंटर में आग दुर्घटना में 10 लोगों की मौत के बाद सभी कोविड-19 देखभाल केंद्रों में आग से सुरक्षा के बारे में रिपोर्ट मांगी है। राज्य सरकार ने कोविड-19 देखभाल अस्पतालों में चिकित्सा सेवाएं प्रदान करने के लिए 30,887 पदों पर कर्मचारियों की भर्ती को मंजूरी दी है। कोरोना-वायरस के प्रसार को रोकने के उपाय के रूप में, गुंटूर जिले के अधिकारियों ने माचेरला शहर में आज से तीन दिनों के लिए पूर्ण लॉकडाउन लगा दिया है। गुंटूर जिले में रविवार को 881 से अधिक कोविड-19 के मामले दर्ज किए, जिसके बाद कुल मामले 21,718 हो गए। राज्य में कल 10,820 नए मरीजों में संक्रमण की पुष्टि हुई, 9097 मरीजों को अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है और 97 की मौत हुई। कुल मामले: 2,27,860; सक्रिय मामले: 87,112; मृतक: 2036.

तेलंगाना: राज्य के राजधानी क्षेत्र में कोविड-19 को मामलों मे कमी देखी गई लेकिन अन्य जिलों में तेजी दर्ज की गई है। पिछले 24 घंटों में 1256 नए मरीजों में संक्रमण की पुष्टि हुई, 1587 स्वस्थ हुए और 10 की मौत हुई; 1256 मरीजों में से 389 सिर्फ जीएचएमसी में दर्ज किए गए। कुल मामले: 80,751; सक्रिय मामले: 22,528; मृतक: 637; स्वस्थ होने वाले: 57,586.

पीआईबी द्वारा जांचे गए तथ्य

 

Image

https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image00923E0.jpg

***

एमजी/एएम/एसके/पीकेपी



(Release ID: 1645038) Visitor Counter : 29