वित्‍त मंत्रालय

फरवरी 2023 के लिए 1,49,577 करोड़ रुपये का जीएसटी राजस्व संग्रहित किया गया, पिछले वर्ष इसी महीने में जीएसटी राजस्व से 12 प्रतिशत अधिक


लगातार 12 महीनों के लिए मासिक जीएसटी राजस्व 1.4 लाख करोड़ रुपये से अधिक रहा

आयात से वर्ष-दर-वर्ष राजस्व 6 प्रतिशत अधिक और घरेलू लेनदेन (सेवाओं के आयात सहित) 15 प्रतिशत से अधिक रहा

Posted On: 01 MAR 2023 2:36PM by PIB Delhi

फरवरी, 2023 के दौरान संग्रहित सकल जीएसटी राजस्व 1,49,577 करोड़ रुपये का रहा है जिसमें से सीजीएसटी 27,662 करोड़ रुपये है, एसजीएसटी 34,915 करोड़ रुपये है, आईजीएसटी 75,069 करोड़ रुपये (माल के आयात पर संग्रहित 35,689 करोड़ रुपये सहित) और उपकर 11,931 करोड़ रुपये (वस्तुओं के आयात पर संग्रहित 792 करोड़ रुपये सहित) है।

सरकार ने नियमित निपटान के रूप में आईजीएसटी से सीजीएसटी में 34,770 करोड़ रुपये तथा एसजीएसटी में 29,054 करोड़ रुपये का निपटान किया है। फरवरी, 2023 के महीने के दौरान नियमित निपटान के बाद केंद्र और राज्यों का कुल राजस्व सीजीएसटी के लिए 62,432 करोड़ रुपये तथा एसजीएसटी के लिए 63,969 करोड़ रुपये रहा है। इसके अलावा, केंद्र ने जून 2022 के महीने के लिए 16,982 करोड़ रुपये का शेष जीएसटी मुआवजा भी जारी किया था और राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों को 16,524 करोड़ रुपये जारी किए थे, जिन्होंने पिछली अवधि के लिए एजी प्रमाणित आंकड़े भेजे थे।

फरवरी, 2023 के महीने के दौरान राजस्व पिछले वर्ष के समान महीने में जीएसटी राजस्व की तुलना में 12 प्रतिशत अधिक है जो कि 1,33,026 करोड़ रुपये था। महीने के दौरान, वस्तुओं के आयात से राजस्व 6 प्रतिशत से अधिक तथा घरेलू कारोबार (सेवाओं के आयात सहित) से राजस्व पिछले वर्ष के समान महीने के दौरान इन स्रोतों से प्राप्त राजस्व की तुलना में 15 प्रतिशत अधिक रहा है। जीएसटी लागू होने के बाद से इस महीने में सबसे अधिक 11,931 करोड़ रुपये का उपकर संग्रह हुआ। आम तौर पर, फरवरी 28 दिन का महीना होने के कारण राजस्व का संग्रह अपेक्षाकृत कम होता है।

नीचे दिया गया चार्ट चालू वर्ष के दौरान मासिक सकल जीएसटी राजस्व में रुझान को प्रदर्शित करता है। तालिका फरवरी, 2022 की तुलना में फरवरी, 2023 के महीने के दौरान प्रत्येक राज्य में संग्रहित जीएसटी का राज्य वार आंकड़ा प्रदर्शित करती है।

https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image001Y728.png

फरवरी 2023 के दौरान जीएसटी राजस्व में राज्यवार वृद्धि [1]

राज्य

22-Feb

23-Feb

 वृद्धि

जम्मू और कश्मीर

326

434

33 प्रतिशत

हिमाचल प्रदेश

657

691

5 प्रतिशत

पंजाब

1,480

1,651

12 प्रतिशत

चंडीगढ़

178

188

5 प्रतिशत

उत्तराखंड

1,176

1,405

20 प्रतिशत

हरियाणा

5,928

7,310

23 प्रतिशत

दिल्ली

3,922

4,769

22 प्रतिशत

राजस्थान

3,469

3,941

14 प्रतिशत

उत्तर प्रदेश

6,519

7,431

14 प्रतिशत

बिहार

1,206

1,499

24 प्रतिशत

सिक्किम

222

265

19 प्रतिशत

अरुणाचल प्रदेश

56

78

39 प्रतिशत

नगालैंड

33

54

64 प्रतिशत

मणिपुर

39

64

64 प्रतिशत

मिजोरम

24

58

138 प्रतिशत

त्रिपुरा

66

79

20 प्रतिशत

मेघालय

201

189

-6 प्रतिशत

असम

1,008

1,111

10 प्रतिशत

पश्चिम बंगाल

4,414

4,955

12 प्रतिशत

झारखंड

2,536

2,962

17 प्रतिशत

ओडिशा

4,101

4,519

10 प्रतिशत

छत्तीसगढ

2,783

3,009

8 प्रतिशत

मध्य प्रदेश

2,853

3,235

13 प्रतिशत

गुजरात

8,873

9,574

8 प्रतिशत

दादरा और नगर हवेली

260

283

9 प्रतिशत

महाराष्ट्र

19,423

22,349

15 प्रतिशत

कर्नाटक

9,176

10,809

18 प्रतिशत

गोवा

364

493

35 प्रतिशत

लक्षद्वीप

1

3

274 प्रतिशत

केरल

2,074

2,326

12 प्रतिशत

तमिलनाडु

7,393

8,774

19 प्रतिशत

पुदुचेरी

178

188

5 प्रतिशत

अंडमान व निकोबार द्वीप समूह

22

31

40 प्रतिशत

तेलंगाना

4,113

4,424

8 प्रतिशत

आंध्र प्रदेश

3,157

3,557

13 प्रतिशत

लद्दाख

16

24

56 प्रतिशत

अन्य प्रदेश

136

211

55 प्रतिशत

केंद्र क्षेत्राधिकार

167

154

-8 प्रतिशत

कुल

98,550

1,13,096

15 प्रतिशत

 

[1]Does not include GST on import of goods

*****


एमजी/एमएस/एमआर/डीवी



(Release ID: 1903361) Visitor Counter : 393