वित्‍त मंत्रालय
azadi ka amrit mahotsav

जून 2022 में  सकल जीएसटी राजस्व संग्रह 1,44,616 करोड़ रुपये रहा ; साल-दर-साल 56% की वृद्धि


जून 2022 में सकल जीएसटी संग्रह अप्रैल 2022 के संग्रह के बाद दूसरा सबसे बड़ा संग्रह है

जीएसटी लागू होने के बाद से पांचवी बार जीएसटी संग्रह 1.40 लाख करोड़ ₹ के पार हुआ; मार्च 2022 से लगातार चौथा महीना है

Posted On: 01 JUL 2022 2:56PM by PIB Delhi

जून 2022 के महीने में सकल जीएसटी राजस्व संग्रह 144,616 करोड़ रुपये का रहा, जिसमें सीजीएसटी 25,306  करोड़ रुपये, एसजीएसटी 32,406  करोड़ रुपये, आईजीएसटी 75887 करोड़ रुपये (वस्‍तुओं के आयात पर संग्रह किए गए 40102 करोड़ रुपये सहित) और उपकर 11,018 करोड़ रुपये (वस्‍तुओं के आयात पर संग्रह किए गए 1197 करोड़ रुपये सहित) शामिल हैं। जून 2022 में सकल जीएसटी संग्रह अप्रैल 2022 के 1,67,540 करोड़ रुपये के संग्रह के बाद दूसरा सबसे बड़ा संग्रह है।

 

सरकार ने आईजीएसटी से  29,588 करोड़ रुपये का सीजीएसटी और 24,235 करोड़ रुपये का एसजीएसटी में निपटान किया है। इसके अतिरिक्त, केंद्र ने इस महीने में केंद्र और राज्यों / केंद्रशासित प्रदेशों के बीच 50:50 के अनुपात में तदर्थ आधार पर 27,000 करोड़ आईजीएसटी का निपटान किया है। जून 2022 में नियमित निपटान के बाद केन्‍द्र और राज्यों का कुल राजस्व सीजीएसटी के लिए 68,394 करोड़ रुपये और एसजीएसटी के लिए 70,141 करोड़ रुपये रहा।

 

जून 2022 के महीने के लिए राजस्व पिछले साल के इसी महीने में संग्रह किए गए 92,800 करोड़ रुपये के जीएसटी राजस्व से 56 प्रतिशत अधिक है।  इस मास के दौरान, वस्‍तुओं के आयात से प्राप्‍त राजस्व 55 प्रतिशत अधिक रहा और घरेलू लेन-देन से प्राप्‍त राजस्‍व (सेवाओं के आयात सहित) पिछले वर्ष के इसी महीने के दौरान इन स्रोतों से प्राप्‍त राजस्व की तुलना में 56 प्रतिशत अधिक है।

 

यह पांचवीं बार है जब जीएसटी की स्थापना के बाद से मासिक जीएसटी संग्रह ₹ 1.40 लाख करोड़ का आंकड़ा पार कर गया है और मार्च 2022 के बाद से चौथा महीना है। जून'2022 में संग्रह न केवल दूसरा सबसे अधिक रहा, बल्कि कम मासिक संग्रह होने की प्रवृत्ति को भी तोड़ दिया है जैसा कि अतीत में देखा गया है। मई 2022 के महीने में कुल ई-वे बिल सृजित हुए, जो 7.3 करोड़ थे, जो अप्रैल 2022 के महीने में उत्पन्न 7.4  करोड़ ई-वे बिल से 2 फीसदी कम हैं।

 

वित्त वर्ष 2022-23 की पहली तिमाही में औसत मासिक सकल जीएसटी संग्रह ₹1.51 लाख करोड़ रहा है, जो पिछले वित्तीय वर्ष की पहली तिमाही में ₹1.10 लाख करोड़ के औसत मासिक संग्रह के मुकाबले 37% की वृद्धि दर्शाता है। आर्थिक सुधार के साथ, चोरी-रोधी गतिविधियों, विशेष रूप से नकली बिलर्स के खिलाफ कार्रवाई, जीएसटी को बढ़ाने में योगदान दे रही है। इस महीने में सकल उपकर संग्रह जीएसटी लागू होने के बाद से सबसे अधिक है।

 

नीचे दिया गया चार्ट 2017-18 से मासिक सकल जीएसटी राजस्व के रुझान को दर्शाता है। तालिका जून 2021 की तुलना में जून 2022 के महीने के दौरान प्रत्येक राज्य में एकत्र किए गए जीएसटी संग्रह के राज्य-वार आंकड़े दर्शाती है।

 

जून, 2022 के दौरान जीएसटी राजस्व की राज्य-वार वृद्धि [1]

राज्य

जून-21

जून-22

वृद्धि

जम्मू-कश्मीर

300

372

24%

हिमाचल प्रदेश

519

693

34%

पंजाब

1,111

1,683

51%

चंडीगढ़

120

170

41%

उत्तराखंड

702

1,281

82%

हरियाणा

3,801

6,714

77%

दिल्ली

2,656

4,313

62%

राजस्थान

2,176

3,386

56%

उत्तर प्रदेश

4,588

6,835

49%

बिहार

889

1,232

39%

सिक्किम

212

256

21%

अरुणाचल प्रदेश

33

59

77%

नगालैंड

30

34

11%

मणिपुर

22

39

78%

मिजोरम

17

26

49%

त्रिपुरा

43

63

47%

मेघालय

105

153

46%

असम

662

972

47%

पश्चिम बंगाल

2,744

4,331

58%

झारखंड

2,032

2,315

14%

ओडिशा

3,000

3,965

32%

छत्तीसगढ़

2,230

2,774

24%

मध्य प्रदेश

2,098

2,837

35%

गुजरात

6,128

9,207

50%

दमन और दीव

0

0

-13%

दादरा और नगर हवेली

243

350

44%

महाराष्ट्र

13,722

22,341

63%

कर्नाटक

5,103

8,845

73%

गोवा

256

429

67%

लक्ष्यद्वीप

0

1

33%

केरल

998

2,161

116%

तमिलनाडु

4,380

8,027

83%

पुदुचेरी

104

182

75%

अंडमान निकोबार द्वीप समूह

12

22

94%

तेलांगना

2,845

3,901

37%

आंध्र प्रदेश

2,051

2,987

46%

लद्दाख

6

13

118%

अन्य क्षेत्र

127

205

61%

केन्‍द्र क्षेत्राधिकार

164

143

-12%

कुल

66,229

1,03,317

56%

 

****

एमजी /एएम/ केजे



(Release ID: 1838656) Visitor Counter : 293