अल्‍पसंख्‍यक कार्य मंत्रालय

केंद्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्री श्री मुख्तार अब्बास नकवी ने हज की तैयारियों और टीकाकरण की स्थिति की समीक्षा की


अफवाहों से बचने और टीका लगवाने में हिचकिचाहट को दूर करने के लिए जागरूकता अभियान चलाया जाएगा: नकवी

राज्य हज समितियां, वक्फ बोर्ड, केंद्रीय वक्फ परिषद, मौलाना आजाद शिक्षा प्रतिष्ठान, महिला स्वयं सहायता समूह इस अभियान का हिस्सा होंगे

Posted On: 10 JUN 2021 4:17PM by PIB Delhi

केंद्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्री श्री मुख्तार अब्बास नकवी ने आज मुंबई के हज हाउस में हज 2021 के बारे में समीक्षा बैठक की। उन्होंने कहा कि "हमने अपनी तैयारी तो कर ली है, लेकिन भारत सऊदी अरब की सरकार के निर्णय के अनुसार काम करेगा। समीक्षा बैठक के बाद एक संवाददाता सम्मेलन में श्री नकवी ने कहा, “कुछ देश हालांकि अपने नागरिकों को हज-2021 पर भेजने में सक्षम नहीं हैं, ऐसे में भारत ने फैसला किया है कि हम सऊदी अरब सरकार के साथ कंधे से कंधा मिलाकर खड़े होंगे। हम सऊदी सरकार द्वारा लिए गए निर्णय के अनुरूप आगे बढ़ेंगे। हमारी प्राथमिकता दोनों देशों के लोगों के स्वास्थ्य एवं कल्याण और मानवता के प्रति भी है।”

अल्पसंख्यक कार्य मंत्री ने कहा कि विभिन्न सामाजिक और शैक्षणिक संस्थानों द्वारा भारत में चल रहे टीकाकरण अभियान के बारे में अफवाहों और आशंकाओं को “रोकने और समाप्त”के लिए एक राष्ट्रव्यापी अभियान शुरू किया जाएगा। उन्होंने कहा, "राज्य हज समितियां, वक्फ बोर्ड, उनसे जुड़े संगठन, केंद्रीय वक्फ समिति, मौलाना आजाद शिक्षा प्रतिष्ठान और अन्य सामाजिक और शैक्षणिक संस्थान अभियान का हिस्सा होंगे।"

श्री नकवी ने कहा कि अभियान में महिला स्वयं सहायता समूहों को भी शामिल किया जाएगा। ये संगठन और महिला स्वयं सहायता समूह भी लोगों को कोरोना महामारी से निपटने के लिए टीका लगवाने के लिए प्रोत्साहित और प्रेरित करेंगे। इस अभियान को "जान है तो जहान है" कहा जाएगा और इसे विशेष रूप से देश के गांवों और दूरदराज के इलाकों में आरम्भ किया जाएगा।

 

कुछ गांवों के अपने दौरे के दौरान, जागरूकता की कमी के कारण लोगों में टीका लगवाने को लेकर हिचकिचाहट को याद करते हुए श्री नकवी ने कहा, "दुर्भाग्य से कुछ संकीर्ण सोच वाले तत्व टीकाकरण के मोर्चे पर भ्रम और भय पैदा कर रहे हैं। वे न केवल लोगों के स्वास्थ्य और कल्याण के बल्कि देश के भी दुश्मन हैं।"

टीकाकरण पर एक सवाल के जवाब में, मंत्री ने आश्वासन दिया: "चाहे वह एक राज्य या किसी अन्य राज्य में हो, सरकार लोगों की है। हमारी राष्ट्रीय जिम्मेदारी है कि सभी भ्रम और भय को दूर किया जाए और लोग स्वयं टीका लगवाए व दूसरों को भी इस कार्य के लिए प्रोत्साहित करे।"

श्री नकवी ने यह भी आश्वासन दिया कि देश में टीके या किसी अन्य ज़रूरी सामान की कोई कमी नहीं होगी। उन्होंने कहा कि पहले ही 24.3 करोड़ लोगों को टीका लगाया जा चुका है। माननीय मंत्री ने कहा, "भले ही हमारे पास कई उन्नत देशों की तुलना में कम चिकित्सा सुविधाएं थीं, लेकिन हमने ऑक्सीजन की आपूर्ति, वेंटिलेटर और अन्य आवश्यक चीजों की क्षमता में वृद्धि की।"

हज-2021 के लिए देश की तैयारियों के बारे में श्री नकवी ने कहा कि भारत की हज समिति द्वारा दिए गए निर्देशों और सऊदी अरब सरकार के स्वास्थ्य विभाग द्वारा दिए गए दिशा-निर्देशों के आधार पर टीकाकरण पर वर्तमान स्थिति की समीक्षा की गई है।

पवित्र शहर मक्का में हर साल 2.5 मिलियन से अधिक लोग हज यात्रा करते हैं। यहां पर यह उल्लेखनीय है कि पिछले साल, कोविड-19 महामारी के कारण, सऊदी अरब सरकार ने घोषणा की थी कि वह पहले से ही इस देश में रहने वाले विभिन्न राष्ट्रीयताओं के लोगों के लिए ही 'सीमित हज' यात्रा आयोजित करेगी।

सऊदी अरब में भारत के राजदूत, डॉ. औसफ सईद; जेद्दा में भारत के महावाणिज्य दूत श्री शाहिद आलम और केंद्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारियों ने आज की बैठक में वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से भाग लिया। भारतीय हज समिति के मुख्य कार्यकारी अधिकारी श्री एम ए खान और अन्य अधिकारी भी उपस्थित थे।

****

एमजी/एएम/एमकेएस/एसके



(Release ID: 1726019) Visitor Counter : 268