PIB Headquarters

पीआईबी का कोविड-19 पर बुलेटिन

Posted On: 06 APR 2021 5:50PM by PIB Delhi

 

https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image002855I.png https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image00102T2.jpg

 

  • एक दिन में सर्वाधिक टीकाकरण, 43 लाख से अधिक टीके लगाए गए
  • कुल टीकाकरण कवरेज 8 करोड़ से अधिक हुई
  • कोविड 19 के परीक्षण की कुल संख्या 25 करोड़ के पार
  • देश में इस वक्त कोविड के सक्रिय मामले 7,88,223 तक पहुंचे
  • भारत में ठीक हो चुके मामलों की संख्या आज 1,17,32,279 के पार, पिछले 24 घंटे में 50,143 से ज्यादा मरीज स्वस्थ हुए हैं
  • राष्ट्रीय रिकवरी दर अब 92.48 प्रतिशत
  • केंद्र ने 50 उच्च स्तरीय जन स्वास्थ्य टीमें महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़ और पंजाब के लिए रवाना की, यहां कोविड-19 की रोकथाम एवं नियंत्रण के लिए तेजी से उपाय किये जा रहे हैं

 

#Unite2FightCorona

#IndiaFightsCorona

Image

Image

Image

https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image008ZF3F.jpg

भारत ने एक दिन में सर्वाधिक टीकाकरण की उपलब्धि हासिल की, पिछले 24 घंटों के दौरान 43 लाख से अधिक टीके लगाए गए, कुल टीकाकरण कवरेज 8 करोड़ से अधिक हुई; कोविड 19 के परीक्षण की कुल संख्या 25 करोड़ के पार पहुंची 

कोविड 19 के खिलाफ लड़ाई में भारत ने एक ऐतिहासिक उपलब्धि हासिल की है। पिछले 24 घंटों के दौरान 43 लाख से अधिक लोगों को टीके की खुराक दी गई। यह एक दिन में देश में अब तक का सबसे बड़ा टीकाकरण कवरेज है। टीकाकरण अभियान के 80वें दिन (05 अप्रैल, 2021), 43,00,966 टीके लगाए गए। इनमें से 48,095 सत्रों के माध्यम से 39,00,505 लाभार्थियों को टीके की पहली खुराक दी गई जबकि 4,00,461 लाभार्थियों ने टीके की दूसरी खुराक प्राप्त की। एक अन्य महत्वपूर्ण उपलब्धि के तहत, देश में आज कोविड 19 टीकाकरण की संख्या 8.31 करोड़ से अधिक हो गई है। पहली खुराक के टीकाकरण ने 7 करोड़ (7,22,77,309) खुराक के ऐतिहासिक आंकड़े को पार कर लिया है। प्रारंभिक रिपोर्ट के मुताबिक देशभर में कोविड-19 टीकाकरण के आज सुबह 7 बजे तक 12,83,816 सत्रों के माध्यम से कुल 8,31,10,926  टीके की खुराक दी गई। इनमें 89,60,061 स्वास्थ्यकर्मी (एचसीडब्ल्यू) शामिल हैं जिन्हें पहली खुराक लगी और 53,71,162 वो स्वास्थ्यकर्मी हैं जिन्हें दूसरी डोज दी गई है। 97,28,713 फ्रंटलाइन वर्कर्स (एफएलडब्ल्यू) को पहली, जबकि 42,64,691 फ्रंटलाइन वर्कर्स दूसरी डोज दी जा चुकी है। 60 वर्ष से अधिक उम्र के 3,41,06,071 लाभार्थियों को पहला टीका तथा 60 वर्ष से अधिक उम्र के 8,12,237   लाभार्थियों को दूसरा टीका लग चुका है। 45 वर्ष से अधिक उम्र के 1,94,82,464 लाभार्थियों को पहला टीका तथा 45 वर्ष से अधिक उम्र के 3,85,527 लाभार्थियों को दूसरा टीका लग चुका है। महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़, कर्नाटक, उत्तर प्रदेश, तमिलनाडु, दिल्ली, मध्य प्रदेश और गुजरात सहित आठ राज्यों में कोविड के दैनिक नए मामलों में वृद्धि दर्ज की गई है। इन 8 राज्यों से  80.04% नए मामले सामने आए हैं। महाराष्ट्र में सबसे अधिक दैनिक नए मामले 47,288 दर्ज किए गए हैं। इसके बाद छत्तीसगढ़ में 7,302 और कर्नाटक में 5,279 नए मामले सामने आए हैं।

विस्तार में पढें-

 

कोविड-19 पर नियंत्रण और निषेध उपायों के लिए केंद्र महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़ और पंजाब में भेज रहा 50 उच्चस्तरीय स्वास्थ्य टीमें

केंद्र सरकार ने 50 उच्चस्तरीय बहु-आयामी सार्वजनिक स्वास्थ्य टीमों का गठन किया है और उन्हें महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़ और पंजाब के 50 जिलों में तैनात किया है। हाल में इन राज्यों में कोविड-19 के मामलों में वृद्धि और दैनिक मृत्यु दर में निरंतरता देखी गई है। इन टीमों को कोविड-19 संबंधी निगरानी, नियंत्रण एवं निषेध उपायों के तहत राज्य स्वास्थ्य विभाग तथा स्थानीय अधिकारियों की मदद करने के लिए महाराष्ट्र के 30 जिलों, छत्तीसगढ़ के 11 जिलों और पंजाब के 9 जिलों में भेजा जा रहा है। दो सदस्यीय उच्चस्तरीय टीम में एक चिकित्सक/महामारी विशेषज्ञ और एक जन स्वास्थ्य विशेषज्ञ शामिल हैं। ये टीमें राज्यों का तत्काल दौरा करेंगी और समूचे कोविड-19 प्रबंधन के क्रियान्वयन की निगरानी करेंगी खासतौर से टेस्टिंग, निगरानी और निषेध अभियान; कोविड उपयुक्त व्यवहार और उसे लागू कराना; अस्पताल में बेड की उपलब्धता, एंबुलेंस, वेंटिलेटर, मेडिकल ऑक्सीजन आदि की पर्याप्त आपूर्ति और कोविड-19 टीकाकरण प्रगति। केंद्र सरकार के तीन वरिष्ठ अधिकारियों को इन तीनों राज्यों महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़ और पंजाब के लिए नोडल अधिकारी नियुक्त किया गया है। श्री विजॉय कुमार सिंह, एएस एंड एफए, कपड़ा मंत्रालय पंजाब के नोडल अधिकारी हैं, ऋचा शर्मा, अतिरिक्त सचिव, पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्रालय छत्तीसगढ़ की नोडल अधिकारी हैं जबकि श्री कुनक कुमार, संयुक्त सचिव, आवास एवं शहरी मामलों का मंत्रालय महाराष्ट्र के लिए नोडल अधिकारी हैं। उच्चस्तरीय टीमें इन तीनों राज्यों में नोडल अधिकारियों को रिपोर्ट करेंगी और उनके साथ समन्वय रखेंगी। वे इन पांच पहलुओं पर दैनिक रिपोर्ट पेश करेंगी- निगरानी समेत संपर्क में आने वालों की पहचान और निषेध उपाय; आईसीयू, वेंटिलेटर और ऑक्सीजन बेड समेत अस्पताल के बुनियादी ढांचे; कोविड उपयुक्त व्यवहार को लागू कराना और कोविड टीकाकरण। केंद्र सरकार सहकारी संघवाद की रणनीति के तहत संपूर्ण समाज और संपूर्ण सरकार के दृष्टिकोण के साथ इस वैश्विक महामारी के खिलाफ लड़ाई का नेतृत्व कर रही है। कोविड प्रबंधन के लिए विभिन्न राज्यों/केंद्रशासित प्रदेश की सरकारों के प्रयासों को मजबूत करने के लिए सतत प्रयास के रूप में केंद्र सरकार समय-समय पर विभिन्न राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों का दौरा करने के लिए टीमों का गठन करती रही है। ये टीमें राज्य/यूटी के अधिकारियों के साथ संवाद करेंगी और उनके सामने आ रही चुनौतियों और मामलों को समझेंगी जिससे उनकी चल रही गतिविधियों को सशक्त किया जा सके और अगर कोई अड़चन हो तो उसे दूर किया जा सके।

विस्तार से पढ़ें-

 

45 वर्ष से कम उम्र के कोविड टीकाकरण लाभार्थियों की पहचान में अनियमितता पर केंद्र ने दिल्ली सरकार को पत्र लिखा, निजी कोविड टीकाकरण केंद्रों को कारण बताओ नोटिस जारी कर स्पष्टीकरण देने को कहा गया

देश में सबसे संवेदनशील आबादी समूहों को कोविड -19 से बचाने के लिए एक औजार के रूप में इस्तेमाल किए जा रहे टीकाकरण अभ्यास की उच्चतम स्तर पर नियमित तौर पर समीक्षा और निगरानी की जा रही है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कुछ निजी कोविड टीकाकरण केंद्रों (सीवीसी) द्वारा, 45 साल से कम उम्र के कोविड टीकाकरण लाभार्थियों की पहचान में हुई अनियमितताओं की ओर ध्यान दिलाने के लिए राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र दिल्ली की सरकार (जीएनसीटीडी) के प्रधान सचिव (स्वास्थ्य) को पत्र लिखा है। प्रधान सचिव (स्वास्थ्य) को लिखे पत्र में कहा गया है कि उत्तर पूर्व दिल्ली के नेहरू नगर क्षेत्र में स्थित विम्हान्स (विद्यासागर इंस्टीट्यूट ऑफ मेंटल हेल्थ, न्यूरो एंड अलाइड साइंसेज) द्वारा लाभार्थियों के पंजीकरण में गंभीर खामियां सामने आई हैं। विम्हान्स एक निजी कोविड टीकाकरण केंद्र के रूप में काम कर रहा है। यह पाया गया है कि संस्थान में 45 वर्ष से कम उम्र के लाभार्थियों को हेल्थ केयर वर्कर्स (स्वास्थ्य सेवा कर्मी) और फ्रंट लाइन वर्कर्स के रूप में पंजीकृत किया गया और उन्हें टीका लगाया गया है। मौजूदा कोविड-19 टीकाकरण अभियान के प्रावधानों के अनुसार, 45 वर्ष से अधिक उम्र के नागरिकों (एक अप्रैल, 2021 से) को 18 साल से ज्यादा उम्र के स्वास्थ्य सेवा कर्मियों और फ्रंट लाइन वर्कर्स के साथ एनईजीवीएसी की सिफारिशों के अनुरुप टीका लगाया जा रहा है। स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा सत्यापित इस निजी कोविड टीकाकरण केंद्र से जुटाए गए टीकाकृत लाभार्थियों के कोविन नमूना डेटा (19 मार्च- तीन अप्रैल 2021) से पता चला है कि कई लाभार्थी पात्रता रखने वाले लाभार्थियों के दायरे से बाहर आते हैं (न कि पहचान किए गए आबादी वाले समूहों के तहत) जो केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा निर्धारित दिशा-निर्देशों का उल्लंघन है।

विस्तार से पढ़ें-

 

डॉ. हर्षवर्धन ने एकीकृत स्वास्थ्य सूचना मंच (आईएचआईपी), परिष्कृत अगली पीढ़ी एकीकृत रोग निगरानी कार्यक्रम (आईडीएसपी) डिजिटल प्लेटफॉर्म की शुरुआत की

केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने आज नई दिल्ली में वर्चुअल माध्यम से एकीकृत स्वास्थ्य सूचना मंच (आईएचआईपी) की शुरुआत की। इस अवसर पर स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण राज्य मंत्री श्री अश्विनी कुमार चौबे भी उपस्थित थे। वहीं, उत्तराखंड के मुख्यमंत्री श्री तीरथ सिंह रावत भी डिजिटल माध्यम के जरिए समारोह में मौजूद थे। एकीकृत स्वास्थ्य सूचना मंच वर्तमान में इस्तेमाल किए जा रहे एकीकृत रोग निगरानी कार्यक्रम (आईडीएसपी) की अगली पीढ़ी का अत्यधिक परिष्कृत संस्करण है। इस वर्चुअल समारोह में विभिन्न राज्यों के स्वास्थ्य मंत्रियों ने हिस्सा लिया। इनमें श्री बलबीर सिंह सिद्धू (पंजाब), श्री अलेक्जेंडर लालू हेक (मेघालय), डॉ. के सुधाकर (कर्नाटक), डॉ. प्रभुराम चौधरी (मध्य प्रदेश), श्री जय प्रताप सिंह (उत्तर प्रदेश), श्री एटाला राजेंद्र (तेलंगाना), श्री टी एस सिंह देव (छत्तीसगढ़), डॉ. आर लालथंगिलियाना (मिजोरम) और श्री एस पांगन्यू फोम (नागालैंड) उपस्थित थे। डॉ हर्षवर्धन ने स्वास्थ्य एवं प्रौद्योगिकी के वीर, भविष्यवादी और प्रासंगिक एकीकरण पर अपना उत्साह व्यक्त करते हुए कहा, “इस दिन को स्वर्ण अक्षरों में लिखा जाएगा, जो रोग निगरानी के इतिहास में एक मील का पत्थर है। हमने भारत के सार्वजनिक स्वास्थ्य प्रक्षेपवक्र में एक नया अध्याय शुरू किया है। भारत इस तरह की उन्नत रोग निगरानी प्रणाली अपनाने वाला विश्व का पहला देश है।” उन्होंने सॉफ्टवेयर प्लेटफॉर्म के लिए समय पर जरूरत को लेकर विस्तार से बताया। उन्होंने कहा, “आईएचआईपी के नए संस्करण में भारत के रोग निगरानी कार्यक्रम के लिए डाटा इंट्री और प्रबंधन होगा। पहले की 18 बीमारियों की तुलना में अब 33 रोगों पर नजर रखने के अलावा यह डिजिटल मोड में निकट वास्तविक समय के डाटा को सुनिश्चित करेगा, जिसे काम करने के तरीके पेपर-मोड के साथ पूरा किया जाएगा।”

विस्तार से पढ़ें-

 

कोविड-19 के फैलाव पर कारगर तरीकों से काबू पाने के लिए 45 वर्ष और उससे अधिक आयु के सभी केन्द्रीय कर्मचारियों को टीका लगवाने की सलाह

केन्द्र सरकार ने 45 वर्ष और उससे अधिक आयु के अपने सभी कर्मचारियों को टीका लगवाने को कहा है ताकि कारगर रूप से कोविड-19 के प्रसार को काबू में किया जा सके। कार्मिक, लोक शिकायत तथा पेंशन मंत्रालय द्वारा आज जारी आदेश के अनुसार केन्द्रीय कर्मचारियों से कहा गया है कि वे टीकाकरण के बाद भी बार-बार हाथ धोएं, मास्क पहनें और सामाजिक दूरी का पालन करके कोविड उचित व्यवहार का पालन करें। सरकार स्थिति पर कड़ी नजर रखी हुई है और कोविड-19 के प्रसार को रोकने में टीकाकरण के लिए समूहों की प्राथमिकता की नीति के आधार पर अभी 45 वर्ष से ऊपर की आयु के सभी व्यक्तियों का टीकाकरण किया जा रहा है। आदेश में कहा गया है कि कार्मिक, लोक शिकायत एवं पेंशन मंत्रालय समय-समय पर एहतियाती निर्देश जारी करता रहा है ताकि कोविड-19 के फैलाव को रोका जा सके।

विस्तार से पढ़ें-

 

पीआईबी के स्थानीय कार्यलयों से प्राप्त जानकारियां-

असम: असम में पिछले 48 घंटों में कोविड-19 संक्रमण से दो और पॉजिटिव मरीजों की की मृत्यु हो गई है, जिससे कुल मृत्यु का आंकड़ा 1,109 हो गया है। राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन, असम द्वारा रविवार को जारी  कोविड-19 मीडिया बुलेटिन के अनुसार, 4 अप्रैल, 2021 को कुल 7,075 कोविड-19 टेस्ट किए गए थे।

मणिपुर:  कोविड-19 कॉमन कंट्रोल रूम द्वारा जारी एक विज्ञप्ति के अनुसार, सोमवार को मणिपुर में कोविड-19 मामले बढ़कर 29,428 हो गए हैं। 24 घंटे के अंतराल में पांच और व्यक्तियों की जांच पॉजिटिव आई है।

मेघालय: स्वास्थ्य मंत्री एएल हेक ने सोमवार को कहा कि अगर अपनी उचित देखभाल नहीं की गई तो कोविड-19 की दूसरी लहर यहां भी आ सकती है।उन्होंने कहा कि मेघालय पहले से ही कोरोना वायरस के मामलों में बृद्धि देख रहा है और राज्य में कई लोगों की वापसी से यह खतरा और बढ़ रहा है. यहां लॉकडाउन-1 के दौरान की स्थिति फिर से खड़ी हो सकती है। डायरेक्टर ऑफ हेल्थ सर्विसेज (एमआई), डॉ. अमन वार ने सोमवार को बताया कि नॉर्थ-ईस्टर्न हिल यूनिवर्सिटी में कोविड के चार और मामले सामने आए हैं।

त्रिपुरा: एसबीआई की मुख्य शाखा के 11 कर्मचारियों को कोविड पॉजिटिव पाया गया है और अब तक राज्य में 7.5 लाख लोगों को टीका लगाया जा चुका है।

सिक्किम: सिक्किम ने कोविड-19 का एक मामला 2 महीने से अधिक समय के बाद रिकॉर्ड किया। सिक्किम में कोविड से संबंधित एक मौत हुई है जिससे कुल आंकड़ा 136 तक पहुंच गया है। पूर्वी जिले के सोची से 65 वर्षीय एक महिला के निधन की खबर है। इस बीच, सिक्किम में पिछले 24 घंटों में कोविड के 6 नए मामलों के बाद यहां कुल संख्या 6,263 हो गई है। राज्य में अब 56 सक्रिय मामले हैं।

नागालैंड: सोमवार को नागालैंड में दो ताजा कोविड-19 मामलों का पता चला है जिससे 136 पॉजिटिव मामलों के साथ कुल 12,365 यहां हो चुके हैं।

महाराष्ट्र: यह टीकाकरण अभियान की शुरुआत के बाद से लाभार्थियों को वैक्सीन की 80 लाख से ज्यादा खुराक देने वाला भारत का पहला राज्य बन गया है। दूसरी लहर की तीव्रता को ध्यान में रखते हुए राज्य के मुख्यमंत्री श्री उद्धव ठाकरे ने प्रधानमंत्री को पत्र लिखा है कि राज्य में 25 वर्ष से अधिक आयु के सभी लोगों के लिए टीकाकरण की अनुमति दी जाए। राज्य ने केंद्र को टीकों के 1.5 करोड़ अतिरिक्त खुराक के आवंटन का भी अनुरोध किया है। महाराष्ट्र ने सोमवार को 47,288 नए कोविड मामले रिपोर्ट किए जिनमें सक्रिय मामलों की कुल संख्या 4.5 लाख से अधिक हो चुकी है। इस बीच, केंद्र ने कोवि़ड प्रबंधन में राज्य स्वास्थ्य विभाग और प्रवर्तन एजेंसियों की सहायता के लिए विशेषज्ञों की 30 टीमों को महाराष्ट्र में पहुंचा दिया है।

गुजरात: गुजरात सरकार ने राज्य में कोवि़ड मामलों की बढ़ती संख्या को देखते हुए आठ नगर निगमों में 50 - 550 बिस्तरों के कोवि़ड केयर सेंटर शुरू करने का निर्णय लिया है। गुजरात ने सोमवार को 3,160 नए कोविद मामले दर्ज किए। इस बीच, गुजरात उच्च न्यायालय ने राज्य सरकार से संक्रमण के प्रसार को रोकने के लिए तत्काल कदम उठाने को कहा है। अधिकारियों से पूरे राज्य में सभी राजनीतिक बैठकों और बड़ी सभाओं को रोकने के लिए कहा गया है।

राजस्थान: मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत ने भी प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी से टीकाकरण के लिए आयु सीमा हटाने की अपील की है। उन्होंने कहा कि वर्तमान में भारत में उपयोग किए जा रहे दो टीकों के अलावा, अन्य टीकों को भी अनुमति दी जानी चाहिए ताकि अधिक से अधिक लोगों को बिना देरी के टीका लगाया जा सके। सोमवार को राजस्थान में पिछले चार महीनों में एक दिन में सबसे ज्यादा 2,429 मामले सामने आए हैं जिनमें से 12 लोगों की मृत्यु हुई है। 

मध्य प्रदेश: मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने घोषणा की है कि राज्य सरकार द्वारा लोगों को मास्क का उपयोग करने की अपील करने के लिए 'मेरी सुरक्षा मेरा मास्क' अभियान शुरू किया जाएगा। सीएम ने लोगों से कोवि़ड के उचित व्यवहार के बारे में संदेश फैलाने और टीकाकरण को बढ़ावा देने के लिए 'मास्क स्वयंसेवक', 'वैक्सीन स्वयंसेवक', 'मोहल्ला स्वयंसेव' आदि बनने की भी अपील की है। राज्य ने सोमवार को 3,398 नए कोवि़ड मामलों की सूचना दी जिससे सक्रिय मामलों की संख्या 22,654 हो गई है।

 

पीआईबी द्वारा निम्न तथ्यों की जांच की गई-

https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image009X1FY.jpg

https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image01086EZ.png

https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image011Y5E1.png

https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image0122CLS.png

A stamp with the word Fake on an order claiming to be issued in the by Reserve Bank of India and states that the Indian demonetized currency notes exchange facility to foreign citizens will end on April 30, 2021

Image

 

Image

Image

Image

Image

एमजी/एएम/पीके



(Release ID: 1709986) Visitor Counter : 307