PIB Headquarters

कोविड-19 पर पीआईबी का दैनिक बुलेटिन

Posted On: 15 AUG 2020 7:00PM by PIB Delhi

 

(पिछले 24 घंटों में जारी कोविड-19 से संबंधित प्रेस विज्ञप्तियां, पीआईबी के क्षेत्रीय कार्यालयों से मिली जानकारियां और पीआईबी द्वारा जांचे गए तथ्य शामिल हैं)

भारत में कोविड-19 से एक दिन में अब तक सबसे अधिक मरीजों के ठीक होने का रिकॉर्ड दर्ज; पिछले 24 घंटों में 57,381 रोगी ठीक हुए।

32 राज्यों/केन्द्र शासित प्रदेशों में रोगियों के ठीक होने की दर 50 प्रतिशत से अधिक है।

भारत में एक दिन में अब तक सबसे अधिक 8.6 लाख कोविड नमूनों का परीक्षण किया गया।

भारत में कोविड-19 से ठीक होने (रिकवरी) की दर 70 प्रतिशत से अधिक है।

कोविड-19 के कुल सक्रिय मामलों की संख्या अभी 6,68,220 है जो इस बीमारी के अब तक के कुल पॉजिटिव मामलों का केवल 26.45 प्रतिशत है।

प्रधानमंत्री ने स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर राष्ट्र के लिए अपने संबोधन में कोविड के विरुद्ध देश की वीरतापूर्ण लड़ाई को सलाम किया; उन्होंने राष्ट्रीय डिजिटल स्वास्थ्य मिशन की घोषणा की।

कोरोना महामारी हमें आत्मनिर्भर भारत की विजय यात्रा में आगे बढ़ने से नहीं रोक सकती हैः प्रधानमंत्री

 

भारत में कोविड-19 बीमारी से एक दिन में अब तक सबसे अधिक मरीजों के ठीक होने का रिकॉर्ड दर्ज; पिछले 24 घंटों में 57,381 रोगी ठीक हुए; 32 राज्यों/केन्द्र शासित प्रदेशों में रोगियों के ठीक होने की दर 50 प्रतिशत से अधिक है; भारत में एक दिन में अब तक सबसे अधिक 8.6 लाख कोविड नमूनों का परीक्षण किया गया

भारत ने एक दिन में कोविड-19 के सबसे अधिक मरीजों के ठीक होने का रिकॉर्ड दर्ज किया है। पिछले 24 घंटों के दौरान 57,381 मरीज ठीक हुए और उन्हें अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है। इतने ऊंचे स्तर पर मरीजों की रिकवरी होने से भारत की रिकवरी दर 70 प्रतिशत से ज्यादा होने से अधिक से अधिक रोगियों का ठीक होना सुनिश्चित हो रहा है। इस उपलब्धि में और योगदान देते हुए 32 राज्यों/केन्द्र शासित प्रदेशों में मरीजों के ठीक होने (रिकवरी) की दर 50 प्रतिशत से अधिक हो गई है। 12 राज्यों/केन्द्र शासित प्रदेशों में राष्ट्रीय स्तर की रिकवरी दर से भी अधिक रोगी ठीक हुए हैं। अधिक मरीजों के ठीक होने और अस्पतालों तथा घरों में आइसोलेशन (बीमारी के हल्के और मध्यम मामलों में) से छुट्टी पाने के साथ अब तक ठीक होने वाले कुल रोगियों की संख्या आज 18 लाख से अधिक होकर 18,08,936 तक पहुंच गई है। कोविड-19 के सक्रिय मामलों और इस बीमारी से ठीक हुए मरीजों के बीच अंतर बढ़ा है और यह 11 लाख (आज 11,40,716 आंका गया) से अधिक हो गया है। देश में कोविड-19 के कुल सक्रिय मामलों की संख्या अभी 6,68,220 है जो इस बीमारी के अब तक के कुल पॉजिटिव मामलों का केवल 26.45 प्रतिशत है। पिछले 24 घंटों में इसमें और कमी दर्ज हुई है। ऐसे रोगियों को चिकित्सीय पर्यवेक्षण में रखा गया है। भारत ने कोरोना के मामलों में मृत्यु दर (सीएफआर) को वैश्विक औसत से कम बनाए रखा है। यह औसत लगातार सकारात्मक रूप से कम हो रहा है और वर्तमान में यह 1.94 प्रतिशत है। भारत में टेस्ट, ट्रैक, ट्रीट यानी परीक्षण, निगरानी और उपचार की कार्यनीति की वजह से पिछले 24 घंटों में अब तक के सबसे अधिक 8,68,679 परीक्षण किए गए इससे कुल परीक्षणों की संख्या 2.85 करोड़ से अधिक हो गई। देश में परीक्षण प्रयोगशाला नेटवर्क को लगातार मजबूत किया जा रहा है। आज देश भर में 1465 प्रयोगशालाएं कार्यरत हैं, इनमें सरकारी क्षेत्र की 968 और निजी क्षेत्र की 497 प्रयोगशालाएं हैं।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-https://www.pib.gov.in/PressReleasePage.aspx?PRID=1646096

प्रधानमंत्री ने स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर राष्ट्र के लिए अपने संबोधन में कोविड के विरुद्ध देश की वीरतापूर्ण लड़ाई को सलाम किया; उन्होंने राष्ट्रीय डिजिटल स्वास्थ्य मिशन की घोषणा की

वर्तमान में चल रही कोविड-19 महामारी और भारत के जिस लगातार क्रमबद्ध और सक्रिय दृष्टिकोण ने देश को "आत्मनिर्भर" बना दिया है उसे 74वें स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर राष्ट्र के लिए प्रधानमंत्री के संबोधन में स्थान मिला है क्योंकि प्रधानमंत्री ने अपने भाषण में स्वास्थ्य के क्षेत्र में केन्द्र सरकार की उपलब्धियों पर प्रकाश डाला। इस बीमारी के कारण अपने प्रियजनों को खोने वाले परिवारों के प्रति अपनी संवेदना व्यक्त करते हुए उन्होंने कहा कि भारत के कोरोना योद्धाओं की सराहना करने की जरूरत हैं क्योंकि उन्होंने "सेवा परमो धर्म" मंत्र का उदाहरण प्रस्तुत किया है। प्रधानमंत्री ने राष्ट्र को आश्वस्त किया कि हम कोरोना के खिलाफ जीत हासिल करेंगे। 'मजबूत इच्छाशक्ति' ही जीत की ओर ले जाएगी।'' उन्होंने देश की आत्मनिर्भर भारतकी भावना पर प्रकाश डाला, जिसके परिणामस्वरूप कोविड-19 के आलोक में आत्मनिर्भरता प्राप्त हुई है। उन्होंने कहा कि देश अब पीपीई किट, एन-95 मास्क, वेंटिलेटर आदि का उत्पादन कर रहा है, जिनका पहले घरेलू स्तर पर विनिर्माण नहीं किया जा रहा था। ऐसी विश्व स्तरीय वस्तुओं की उत्पादन क्षमता में बढ़ोतरी भी उनके आह्वान "वोकल फॉर लोकल" का अनुकरण है। राष्ट्रीय डिजिटल स्वास्थ्य मिशन की घोषणा करते हुए, प्रधानमंत्री ने कहा कि प्रत्येक नागरिक को एक विशिष्ट स्वास्थ्य पहचान पत्र उपलब्ध कराया जाएगा जिसमें एकल आईडी के माध्यम से एक आम डेटाबेस में बीमारियों, निदान, रिपोर्ट, दवा आदि का विवरण उपलब्ध होगा।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-https://www.pib.gov.in/PressReleasePage.aspx?PRID=1646109

74वें स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर लाल किले की प्राचीर से प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने राष्ट्र को संबोधित किया; उनके भाषण की मुख्य बातें

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-https://www.pib.gov.in/PressReleasePage.aspx?PRID=1646089

74वें स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर लाल किले की प्राचीर से प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के संबोधन का मूल पाठ

 “इस कोरोना के कालखंड में, हमारे कई भाई-बहन इस महामारी से प्रभावित हुए हैं। कई परिवार प्रभावित हुए हैं। कई लोगों ने अपनी जान भी गंवाई है। मैं ऐसे सभी परिवारों के प्रति अपनी संवेदना प्रकट करता हूं... और मुझे विश्वास है कि 130 करोड़ देशवासियों की अदम्य इच्छाशक्ति, संकल्प शक्ति हमें इस कोरोना के खिलाफ विजय दिलाएगी और हम निश्चित रूप से विजयी होकर रहेंगे।

कोरोना महामारी के बीच 130 करोड़ भारतीयों ने आत्मIनिर्भर बनने का संकल्प लिया। आज हर हिन्दुस्तानी के मन में आत्मनिर्भरता का भाव अंकित है।

पिछले वर्ष, भारत में एफडीआई में 18 प्रतिशत की वृद्धि हुई। इसलिए, कोरोना महामारी के दौरान भी दुनिया की बड़ी-बड़ी कंपनियां भारत की ओर रुख कर रही है।

आज इस कोरोना महामारी से हमारे देश की जनता और अर्थव्यवस्था को बाहर निकालना ही हमारी प्राथमिकता है। इस प्रयास में नेशनल इंफ्रास्ट्रक्चर पाइपलाइन प्रोजेक्ट महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा।

कोरोना संकट के दौरान इन व्यवस्‍थाओं से सेवाओं को निर्बाध रूप से पहुंचाने में भी बहुत मदद मिली है। इस अवधि के दौरान, हमने करोड़ों गरीब परिवारों को मुफ्त गैस सिलेंडर देना जारी रखा है, भले ही उनके पास राशन कार्ड हो या नहीं, मुफ्त खाद्यान्न की आपूर्ति द्वारा यह सुनिश्चित किया गया कि मेरे देश के 80 करोड़ से अधिक देशवासियों के घरों में चूल्हा जलता रहे। लगभग 90 हजार करोड़ रुपये सीधे बैंक खातों में ट्रांसफर किए गए।

आपने देखा होगा कि भारत सरकार ने इस कोरोना महामारी के दौरान कृषि बुनियादी ढांचे के लिए एक लाख करोड़ रुपये की मंजूरी दी।

कोरोना अवधि के दौरान, इन बहनों के खातों में लगभग 30 हजार करोड़ रुपये जमा किए गए हैं।

यह बहुत स्वाभाविक है कि कोरोना महामारी के इस दौर में स्वास्थ्य क्षेत्र ने हमारा ध्यान खींचा है। इस प्रकार, इस संकट के दौरान स्वास्थ्य के क्षेत्र ने हमें आत्मनिर्भरता का महत्वपूर्ण पाठ पढ़ाया है। और इस लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए हमें और आगे बढ़ना है।

हर कोई उत्सुक है कि कोरोना की वैक्सीन कब तैयार होगी। यह स्वाभाविक है। यह चिंता दुनिया के हर कोने और हर जगह में हैं... मैं अपने देशवासियों को बताना चाहूंगा कि हमारे वैज्ञानिक पूरी कर्तव्यनिष्ठा के साथ प्रयोगशालाओं में जुटे हैं। वे भरपूर प्रयास कर रहे हैं। वर्तमान में, देश में तीन टीकों का परीक्षण विभिन्न चरणों में है।

कोरोना एक बड़ी चुनौती है, लेकिन इतनी बड़ी नहीं है कि यह हमें आत्मनिर्भर भारत की विजय यात्रा में आगे बढ़ने से रोक सके..

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-https://www.pib.gov.in/PressReleasePage.aspx?PRID=1646047

भारत के राष्ट्रपति श्री रामनाथ कोविन्द का 74वें स्वाधीनता दिवस की पूर्व संध्या पर राष्ट्र के नाम संदेश

 “अपने सामर्थ्य में विश्वास के बल पर, हमने कोविड-19 के खिलाफ लड़ाई में अन्य देशों की ओर भी मदद का हाथ बढ़ाया है। अन्य देशों के अनुरोध पर, दवाओं की आपूर्ति करके, हमने एक बार फिर यह सिद्ध किया है कि भारत संकट की घड़ी में, विश्व समुदाय के साथ खड़ा रहता है। क्षेत्रीय और वैश्विक स्तर पर महामारी का सामना करने के लिए प्रभावी रणनीतियों को विकसित करने में हमारी अग्रणी भूमिका रही है।

मेरा मानना है कि कोविड-19 के विरुद्ध लड़ाई में, जीवन और आजीविका दोनों की रक्षा पर ध्यान देना आवश्यक है। हमने मौजूदा संकट को सबके हित में, विशेष रूप से किसानों और छोटे उद्यमियों के हित में, समुचित सुधार लाकर अर्थव्यवस्था को पुन: गति प्रदान करने के अवसर के रूप में देखा है।

सार्वजनिक अस्पतालों और प्रयोगशालाओं ने कोविड-19 का सामना करने में अग्रणी भूमिका निभाई है। सार्वजनिक स्वास्थ्य सेवाओं के कारण गरीबों के लिए इस महामारी का सामना करना संभव हो पाया है। इसलिए, इन सार्वजनिक स्वास्थ्य-सुविधाओं को और अधिक विस्तृत व सुदृढ़ बनाना होगा।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-https://www.pib.gov.in/PressReleasePage.aspx?PRID=1645875

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी और नेपाल के प्रधानमंत्री ने टेलीफोन पर बातचीत की

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने आज नेपाल के प्रधानमंत्री श्री के. पी. शर्मा ओली के साथ टेलीफोन पर बातचीत की। नेपाल के प्रधानमंत्री ने भारत के 74वें स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर भारत सरकार और भारत के लोगों को शुभकामनाएं और संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के अस्थायी सदस्य के रूप में भारत के अभी हाल में हुए चुनाव के लिए बधाई दीं। दोनों देशों में कोविड-19 महामारी के प्रभाव को कम करने के लिए किए जा रहे प्रयासों के संदर्भ में दोनों नेताओं ने आपसी एकजुटता व्यक्त की। प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने इस संबंध में नेपाल के प्रधानमंत्री को भारत के निरंतर सहयोग की पेशकश की।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ें-https://www.pib.gov.in/PressReleasePage.aspx?PRID=1646088

पीआईबी के क्षेत्रीय कार्यालयों से मिली जानकारियां

महाराष्ट्र : राज्य के सहकारिता मंत्री श्री बाला साहेब पाटिल कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए हैं और कराड में एक अस्पताल में उनका इलाज चल रहा है। बीते तीन महीने के दौरान  एमवीए सरकार के सात मंत्री कोरोना वायरस से संक्रमित हुए हैं। महाराष्ट्र् में कोरोना के 5.73 लाख से अधिक मामले हैं और 1.51 लाख सक्रिय मामले हैं। 

गुजरात : राज्य में कोविड-19 से स्वस्थ होने की दर बढ़कर 77.72 प्रतिशत होने के बीच शुक्रवार को रिकॉर्ड 51,225 कोविड टेस्ट किए गए। प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने समीक्षा बैठक के दौरान मुख्यमंत्री श्री विजय रूपाणी से राज्य में टेस्ट की संख्या बढ़ाने के लिए कहा था। राज्य में कोरोना के 76,569 मामले हैं जिसमें से 14,299 सक्रिय मामले हैं। 

छत्तीसगढ़ : राज्य में पिछले 24 घंटे के दौरान रिकॉर्ड 13 लोगों की मौत हुई जबकि शुक्रवार को 451 नए मामले सामने आए। 451 मामलो में से 142 रायपुर से और 59 दुर्ग से मिले। इस बीच 199 रोगियों को अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है। 

अरुणाचल प्रदेश : राज्य में कोविड-19 से एक ओर व्यक्ति की मृत्यु हुई है और पिछले 24 घंटे के दौरान 95 और नए मामले सामने आए। राज्य में 852 सक्रिय मामले  हैं और 1750 लोगों को अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है। 

मणिपुर : राज्य में कोविड-19 के 130 नए मामले सामने आए हैं। राज्य में एक ओर व्यक्ति की कोविड-19 से मृत्यु के बाद अब तक 13 लोगों की मौत हो चुकी है। कोविड-19 के अधिक मामले सामने आने के बाद राज्य सरकार ने 31 अगस्त तक पूर्ण रुप से लॉकडाउन बढ़ाने  की घोषणा की है। 

मेघालय :  राज्य सरकार छोटे व्यवसायों और उद्यमियों के लिए मुख्यमंत्री सहयोग कार्यक्रम की शुरुआत करेगी। 50 हजार तक ऋण के लिए एक बार में किसी भी नए छोटे व्यवसाय के लिये 10 हजार रुपये तक की सहायता प्रदान की जाएगी। इसके लिए 15 करोड़ रुपए का कोष बनाया गया है।  

मिजोरम : राज्य में कोविड-19 के 56 नए मामले सामने आए हैं। राज्य में कोविड-19 के 713 कुल मामले और 365 सक्रिय मामले हैं।

नागालैंड : शुक्रवार को कोविड-19 के 154 नए मामले सामने आए। राज्य में कुल मामले बढ़कर 3,322 हो गए हैं। 

पंजाब : राज्य में कोविड-19 के मामले लगातार बढ़ने के बीच अगले कुछ सप्ताह में इसके मामलों के अधिकतम होने को देखते हुए पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने बीमारी पर नियंत्रण पाने के लिए अन्य प्रयासो के साथ-साथ सभी शहरों में रात 9 बजे से सुबह 5 बजे तक कर्फ्यू बढ़ाने की घोषणा की है। 

हरियाणा :  राज्य में कोविड-19 महामारी के बीच होने वाली परेशानियों को ध्यान में रखते हुए राज्य सरकार ने बौद्ध और जैन मंदिर सहित सभी धार्मिक स्थलों जैसे मंदिर, गुरुद्वारा, चर्च, मस्जिद के बिजली के बिलों को माफ करने का निर्णय लिया है। ये निर्णय अप्रैल, 2020 से जून, 2020 तक सरचार्ज राशि पर लागू होगा। इसके लिए मार्च, 2020 तक के लंबित भुगतान का 31 अक्टूबर 2020 तक भुगतान करना होगा।

केरल : आज कोविड-19 से 4 लोगों की मृत्यु होने के बाद राज्य में मरने वालों की संख्या 143 हो गई है। राजधानी तिरुवनंतपुरम कोरोना वायरस से बुरी तरह प्रभावित है। केंद्रीय जेल के 53 और कैदी कोरोना पॉजिटिव पाए गए। इसके साथ अब तक 218 कैदी कोरोना पॉजिटिव हो चुके हैं। इस बीच केएसआरटीसी ने लॉकडाउन के कारण रोकी गई अंतर-जनपदीय बस सेवा को शुरू करने का निर्णय लिया है। राज्य में कल एक दिन में अब तक के सर्वाधिक 1,569 मामले सामने आए। इस समय 14,094 लोगों का कोरोना का उपचार चल रहा है जबकि 26,996 लोग स्वस्थ हो चुके हैं। विभिन्न जिलों में 1,55,025 लोग निगरानी में हैं।

तमिलनाडु : पुडुचेरी के मुख्यमंत्री ने स्वतंत्रता दिवस समारोह के दौरान कहा कि कोविड-19 महामारी को रोकने के लिए लोगों का सहयोग सबसे आवश्यक है। कोयम्बटूर में कोविड-19 के मामले 8 हजार से अधिक हो गए हैं। शुक्रवार को 385 नए मामले सामने आने के बाद 8,274 कुल मामले और 8 लोगों की मौत के बाद अब तक 164 लोगों की मौत हुई है। तमिलनाडु के राज्यपाल श्री बनवारी लाल पुरोहित कोविड-19 से ठीक हो गए हैं। राज्य में कोरोना के रिकार्ड 5,890 नए मामले दर्ज किए गए। एक दिन में 117 लोगों की मृत्यु हुई। कुल मामले : 3,26,345, सक्रिय मामले : 53,716, मृत्यु : 5,514, चेन्नई में सक्रिय मामले : 11,209.

कर्नाटक : कोविड-19 कार्यबल के निर्णय के अनुसार राज्य सरकार 10 लाख एंटीजन जांच किट शामिल करेगी। बीबीएमपी ने आरडब्ल्यू को आईएलआई और एसएआरआई मामलों वाले लोगों की पहचान करने को कहा है। सरकार ने कोविड-19 के बारे में जागरूकता बढा़ने के लिए स्वंयसेवकों को शामिल करने के लिए वेबसाइट की शुरुआत की है। इस बीच राज्य सरकार ने शुक्रवार को सार्वजनिक स्थानों पर गणेश की स्थापना और पूजा करने पर रोक लगाने के संबंध में आदेश जारी किए। लोगों को गणेश चतुर्थी घर में मनाने की सलाह दी गई है। 

आंध्रप्रदेश : राज्यपाल श्री बिश्वभूषण हरिचंद्रन ने स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर कोविड-19 से ठीक होने वाले सभी लोगो से आगे आने और इस बीमारी से लड़ रहे लोगों को अपना प्लाज्मा दान करने की अपील की। ब्रिटेन और आंध्र प्रदेश मिड-टेक जोन वेंटिलेटर और आवश्यक स्वास्थ्य उपकरणों की मांग और कमी के अंतर को दूर करने के लिए मिलकर कार्य करेंगे। निर्माण के लिए चुने गए भारतीय मेडिकल टेक्नॉलाजी स्टॉर्ट अप विशाखापट्टनम स्थित मेडिकल टेक्नोलॉजी वैली इन्क्यूबेशन केंद्र में कार्य करेंगे और इन्हें आवश्यक वित्तीय, तकनीकी और आधारभूत सुविधाएं दी जाएंगी। कोविड-19 डयूटी में कार्यरत जूनियर डॉक्टरों ने सुरक्षा और बचाव संबंधी अपनी मांगों के पूरा न होने पर 17 अगस्त से पूर्ण बहिष्कार करने की चेतावनी दी है।

तेलंगाना : राज्य में कोविड-19 के रोगियों का इलाज कर रहे स्वास्थ्य विशेषज्ञ ओर डॉक्टर अधिक लोगों को स्वस्थ होते हुए देख रहे हैं और इस वायरस के कारण सह-रुग्ण स्थिति के चलते कोई भी मृत्यु नहीं हुई है, मुख्य कारण अस्पताल में लोगों का देर से आना है। राज्य में पिछले 24 घंटे में 1864 नए मामले सामने आए जिसमें से 394 मामले जीएचएमसी में सामने आए। कुल मामले : 90,259, सक्रिय मामले : 23,379, मृत्यु : 684 और अस्पताल से छुट्टी दी गई : 66,196.

एमजी/एएम/एसके/एजे



(Release ID: 1646274) Visitor Counter : 25