पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्रालय

राष्ट्रीय उद्यानों / अभयारण्यों / टाइगर रिजर्वों में कोविड-19 के नियंत्रण और प्रबंधन के संबंध में परामर्श

Posted On: 06 APR 2020 7:17PM by PIB Delhi

देश में कोविड-19 के प्रसार को देखते हुए और हाल ही में न्यूयॉर्क में कोविड-19 से संक्रमित एक बाघ से संबंधित खबरों को ध्यान में रखते हुए, पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्रालय ने राष्ट्रीय उद्यानों/ अभयारण्यों/ टाइगर रिजर्वों में कोविड-19 के नियंत्रण और प्रबंधन के संबंध में एक परामर्श जारी किया है, क्योंकि इस बात को महसूस किया जा रहा है कि राष्ट्रीय उद्यानों/ अभयारण्यों/ टाइगर रिजर्वों में पशुओं के बीच इस वायरस के फैलाव की संभावनाएं है और इस वायरस का संचरण जानवरों से मनुष्यों में और मनुष्यों से जानवरों में हो सकता है।

इस परामर्श में सभी राज्यों/ केंद्र शासित प्रदेशों के मुख्य वन्यजीव अधिकारियों से कहा गया है:

1.राष्ट्रीय उद्यानों/ अभयारण्यों/ टाइगर रिजर्वों में मनुष्यों से पशुओं में और पशुओं से मनुष्यों में इस वायरस के संचरण और प्रसार को रोकने के लिए तत्काल सुरक्षात्मक कदम उठाएं।

2. मानव वन्यजीव इंटरफेस में कमी लाएं।

3. राष्ट्रीय उद्यानों/ अभयारण्यों/ टाइगर रिजर्वों में लोगों की आवाजाही पर प्रतिबंध लगाएं।

4. फील्ड मैनेजरों, वेटरनरी डॉक्टरों और फ्रंटलाइन कर्मचारियों के साथ एक टास्क फोर्स/ रैपिड एक्शन फोर्स का गठन करें, जिससे स्थिति को जल्द से जल्द नियंत्रित किया जा सके।

5. किसी भी मामले का त्वरित प्रबंधन करने के लिए एक नोडल अधिकारी के साथ एक 'चौबीसों घंटे' रिपोर्टिंग वाला तंत्र बनाएं।

6. आवश्यकता पड़ने पर, पशुओं का आपातकालीन उपचार करने और उनके प्राकृतिक आवास में उनकी सुरक्षित रिहाई को सुनिश्चित करने के लिए आवश्यक सेवाओं की  स्थापना करें।

7. विभिन्न विभागों के समन्वित प्रयासों के द्वारा, रोग निगरानी, मैपिंग और मॉनिटरिंग को बढ़ावा दें।

8. राष्ट्रीय उद्यानों/ अभयारण्यों/ टाइगर रिजर्वों के आसपास कर्मचारियों/ पर्यटकों/ ग्रामीणों आदि के आवागमन के दौरान स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा जारी सभी शर्तों को जारी रखें।

9. वायरस के फैलाव को नियंत्रित करने के लिए अन्य संभावित कदम उठाएं।

10. उठाए गए कदमों की जानकारी इस मंत्रालय को दें।

 

******

एएम/एके/डीए



(Release ID: 1611801) Visitor Counter : 297