प्रधानमंत्री कार्यालय

प्रधानमंत्री ने हरियाणा के रेवाड़ी में 9,750 करोड़ रुपये से अधिक की विभिन्न विकास परियोजनाओं का उद्घाटन किया, राष्ट्र को समर्पित किया और आधारशिला रखी


लगभग 5,450 करोड़ रुपये की लागत से विकसित होने वाली गुरुग्राम मेट्रो रेल परियोजना की आधारशिला रखी

लगभग 1,650 करोड़ रुपये की लागत से बनने वाले एम्स रेवाड़ी की आधारशिला रखी

कुरुक्षेत्र के ज्योतिसर में संग्रहालय 'अनुभव केंद्र' का उद्घाटन किया

अनेक रेल परियोजनाओं की आधारशिला रखी और राष्ट्र को समर्पित किया

रोहतक-मेहम-हांसी सेक्शन पर रेल सेवा को हरी झंडी दिखाई

"हरियाणा की डबल इंजन सरकार विश्व स्तरीय अवसंरचना  निर्माण के लिए प्रतिबद्ध"

"विकासशील भारत बनाने के लिए हरियाणा का विकसित होना अत्यावश्यक"

अनुभव केंद्र ज्योतिसर भगवद गीता में भगवान श्री कृष्ण द्वारा दिए गए संदेश से विश्व को परिचित कराएगा"

"हरियाणा सरकार ने जल संबंधी मुद्दों को हल करने के लिए सराहनीय कार्य किया है"

"वस्त्र और परिधान उद्योग में स्वयं के लिए एक बड़ा नाम बना रहा हरियाणा"

"हरियाणा निवेश के लिए एक शीर्ष राज्य के रूप में उभर रहा है, और निवेश बढ़ने का अर्थ नए रोजगार के अवसरों में वृद्धि है"

Posted On: 16 FEB 2024 3:32PM by PIB Delhi

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने आज हरियाणा के रेवाड़ी में 9750 करोड़ रुपये से अधिक की कई विकास परियोजनाओं का उद्घाटन, राष्ट्र को समर्पित और शिलान्यास किया। ये परियोजनाएँ शहरी परिवहन, स्वास्थ्य, रेल और पर्यटन से संबंधित कई महत्वपूर्ण क्षेत्रों की हैं। श्री मोदी ने इस अवसर पर लगाई गई प्रदर्शनियों को भी देखा।

प्रधानमंत्री ने सभा को संबोधित करते हुए बहादुरों की भूमि रेवाड़ी को श्रद्धांजलि अर्पित की और उनके प्रति क्षेत्र के लोगों के स्नेह को रेखांकित किया। उन्होंने 2013 में प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार के तौर पर अपने पहले कार्यक्रम और लोगों की शुभकामनाओं को याद किया। प्रधानमंत्री ने कहा कि जनता का आशीर्वाद उनके लिए बहुत बड़ी पूंजी है। उन्होंने भारत को विश्व में नई ऊंचाइयों पर ले जाने का श्रेय लोगों के आशीर्वाद को दिया। प्रधानमंत्री ने संयुक्त अरब अमीरात और कतर की अपनी यात्रा के बारे में बात करते हुए वैश्विक मंच पर भारत को मिले सम्मान और सद्भावना के लिए भारत के लोगों को श्रेय दिया। इसी तरह, उन्होंने कहा कि जी20, चंद्रयान और भारतीय अर्थव्यवस्था का 11वें से 5वें स्थान पर पहुंचना जनता के समर्थन के कारण बड़ी सफलता रही। उन्होंने आने वाले वर्षों में भारत को विश्व की तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बनाने के लिए लोगों का आशीर्वाद मांगा।

प्रधानमंत्री ने कहा कि देश को विकसित भारत बनाने के लिए हरियाणा का विकास आवश्यक है। उन्होंने आज हरियाणा के विकास के लिए सुसज्जित अस्पतालों के साथ-साथ रोडवेज और रेलवे नेटवर्क के आधुनिकीकरण के लिए लगभग 10,000 करोड़ रुपये की अनेक विकास परियोजनाओं को राष्ट्र को समर्पित करने और आधारशिला रखने का उल्लेख किया। प्रधानमंत्री ने विकास परियोजनाओं को सूचीबद्ध करते हुए एम्स रेवाड़ी, गुरुग्राम मेट्रो, कई रेल लाइनों और अनुभवजन्य संग्रहालय - अनुभव केंद्र ज्योतिसर के साथ नई ट्रेनों का उल्लेख किया। प्रधानमंत्री ने अनुभव केंद्र ज्योतिसर पर प्रकाश डालते हुए कहा कि यह विश्व को भगवद गीता में भगवान श्री कृष्ण की शिक्षाओं से परिचित कराएगा और साथ ही भारतीय संस्कृति में हरियाणा की गौरवशाली भूमि के योगदान को भी उजागर करेगा। उन्होंने आज की विकास परियोजनाओं के लिए हरियाणा की जनता को बधाई दी।

'मोदी की गारंटी' की राष्ट्रीय और यहां तक कि वैश्विक चर्चा के बारे में प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि रेवाड़ी 'मोदी की गारंटी' का पहला गवाह है। उन्होंने उन गारंटियों को याद किया जो उन्होंने यहां देश की प्रतिष्ठा और अयोध्या धाम में श्री राम मंदिर के बारे में दी थी। ये गारंटियां साकार होती दिखने लगी हैं। इसी तरह, प्रधानमंत्री मोदी द्वारा दी गई गारंटी के अनुसार अनुच्छेद 370 को हटा दिया गया। उन्होंने कहा, "आज जम्मू-कश्मीर में महिलाओं, पिछड़ों, दलितों, आदिवासियों को उनके अधिकार मिल रहे हैं।"

प्रधानमंत्री ने रेवाड़ी में पूर्व सैनिकों को 'वन रैंक वन पेंशन' की गारंटी को पूरा करने को याद किया और अब तक लगभग 1 लाख करोड़ रुपये प्रदान करने की जानकारी दी। हरियाणा के कई पूर्व सैनिकों को इसका लाभ मिला है। रेवाड़ी में प्रधानमंत्री ने बताया कि ओआरओपी के लाभार्थियों को अब तक 600 करोड़ रुपये से ज्यादा मिल चुके हैं। उन्होंने यह भी बताया कि पिछली सरकार ने ओआरओपी के लिए 500 करोड़ रुपये का बजट रखा था जो अकेले रेवाड़ी में सैनिकों के परिवारों को मिलने वाली राशि से भी कम है।

आज के शिलान्यास के साथ ही रेवाडी में एम्स की स्थापना की गारंटी भी पूरी हो गई। प्रधानमंत्री ने आश्वासन दिया कि वे रेवाडी एम्स का भी उद्घाटन करेंगे। उन्होंने कहा कि इससे स्थानीय नागरिकों को बेहतर इलाज और डॉक्टर बनने का अवसर सुनिश्चित होगा। यह देखते हुए कि रेवाड़ी एम्स 22वां एम्स है, प्रधानमंत्री मोदी ने बताया कि पिछले 10 वर्षों में 15 नए एम्स स्वीकृत किए गए हैं। पिछले 10 वर्षों में 300 से अधिक मेडिकल कॉलेज खोले गए हैं। हरियाणा में भी हर जिले में कम से कम एक मेडिकल कॉलेज सुनिश्चित करने पर काम चल रहा है।

प्रधानमंत्री ने वर्तमान और पिछली सरकारों के अच्छे और बुरे शासन के बीच तुलना की और पिछले 10 वर्षों से हरियाणा में डबल इंजन सरकार की उपस्थिति पर प्रकाश डाला। उन्होंने बताया कि जब गरीबों के कल्याण के लिए केंद्र सरकार द्वारा बनाई गई नीतियों का पालन करने की बात आती है तो राज्य शीर्ष पर होता है। उन्होंने कृषि क्षेत्र में हरियाणा की वृद्धि और राज्य के उद्योगों के विस्तार पर चर्चा की। उन्होंने दशकों से पिछड़े दक्षिण हरियाणा के तेज़ गति वाले विकास पर भी प्रकाश डाला, चाहे वह सड़क, रेल या मेट्रो सेवा हो। प्रधानमंत्री मोदी ने बताया कि दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेसवे के दिल्ली-दौसा-लालसोट सेक्शन के पहले चरण का उद्घाटन पहले ही हो चुका है, जबकि दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेस-वे, भारत का सबसे लंबा एक्सप्रेस-वे, हरियाणा के गुरुग्राम, पलवल और नूंह जिलों से होकर गुजरता है।

प्रधानमंत्री मोदी ने बताया कि हरियाणा का वार्षिक रेल बजट जो 2014 से पहले औसतन 300 करोड़ रुपये के आसपास था, अब पिछले 10 साल में बढ़कर 3,000 करोड़ रुपये हो गया है। उन्होंने रोहतक-मेहम-हांसी और जींद-सोनीपत के लिए नई रेलवे लाइनों और अंबाला कैंट-दप्पर जैसी लाइनों के दोहरीकरण का उल्लेख किया और कहा कि इससे लाखों लोगों को लाभ होने के साथ-साथ जीवन और व्यापार करने में आसानी होगी।

प्रधानमंत्री ने युवाओं के लिए रोजगार पैदा करने वाली सैकड़ों बहुराष्ट्रीय कंपनियों का घर हरियाणा में जल से संबंधित मुद्दों को हल करने में राज्य सरकार के काम की भी सराहना की।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि जब वस्त्र और परिधान उद्योग में हरियाणा अपने लिए एक बड़ा नाम कमा रहा है। राज्य 35 प्रतिशत से अधिक कालीन निर्यात करता है और भारत में लगभग 20 प्रतिशत परिधान बनाता है। प्रधानमंत्री ने हरियाणा के वस्त्र उद्योग को आगे ले जाने वाले लघु उद्योगों का जिक्र करते हुए इस बात पर प्रकाश डाला कि पानीपत हथकरघा उत्पादों के लिए, फरीदाबाद कपड़ा उत्पादन के लिए, गुरुग्राम रेडीमेड कपड़ों के लिए, सोनीपत तकनीकी वस्त्रों के लिए और भिवानी गैर बुने हुए वस्त्रों के लिए प्रसिद्ध है। प्रधानमंत्री ने पिछले 10 वर्षों में एमएसएमई और लघु उद्योगों को केंद्र सरकार द्वारा दी गई लाखों करोड़ रुपये की सहायता के बारे में बताया, जिसके परिणामस्वरूप पुराने लघु उद्योगों और कुटीर उद्योगों को मजबूती मिली है, साथ ही राज्य में हजारों नए उद्योग भी स्थापित हुए हैं।

प्रधानमंत्री ने रेवाड़ी में विश्वकर्मा की पीतल की कारीगरी और हस्तशिल्प कारीगरी पर प्रकाश डालते हुए 18 व्यवसायों से संबंधित ऐसे पारंपरिक कारीगरों के लिए पीएम-विश्वकर्मा योजना की शुरुआत पर प्रकाश डाला। उन्होंने बताया कि देशभर में लाखों लाभार्थी पीएम विश्वकर्मा योजना का हिस्सा बन रहे हैं और सरकार पारंपरिक कारीगरों और उनके परिवारों के जीवन में बदलाव के लिए 13,000 करोड़ रुपये खर्च करने जा रही है।

प्रधानमंत्री ने कहा, "मोदी की गारंटी उन लोगों के लिए है जिनके पास बैंकों को गारंटी देने के लिए कुछ भी नहीं है।" उन्होंने छोटे किसानों को पीएम किसान सम्मान निधि, गरीबों, दलितों को गारंटी-मुक्त ऋण के लिए मुद्रा योजना, पिछड़े और ओबीसी समुदाय और रेहड़ी-पटरी वालों के लिए पीएम स्वनिधि योजनाका उल्लेख किया।

प्रधानमंत्री ने राज्य में महिलाओं के कल्याण के बार में कहा कि हरियाणा की लाखों महिलाओं सहित देश भर में 10 करोड़ महिलाओं को स्वयं सहायता समूहों से जोड़ने के साथ-साथ नि:शुल्क गैस कनेक्शन और नल से जल की आपूर्ति की जा रही है। उन्होंने इन स्वयं सहायता समूहों के लिए लाखों करोड़ रुपये की वित्तीय सहायता का भी उल्लेख किया। प्रधानमंत्री ने लखपति दीदी योजनाओं के बारे में कहा कि अब तक 1 करोड़ महिलाएं लखपति दीदी बन चुकी हैं, जबकि इस वर्ष के बजट के तहत इनकी संख्या 3 करोड़ तक बढ़ाने पर काम चल रहा है। प्रधानमंत्री ने नमो ड्रोन दीदी योजना का भी जिक्र किया जहां महिलाओं के समूहों को खेती में उपयोग के लिए प्रशिक्षित किया जा रहा है, जिससे उनके लिए अतिरिक्त आय पैदा हो रही है।

प्रधानमंत्री ने हरियाणा के पहली बार के मतदाताओं के उज्ज्वल भविष्य पर बल देते हुए कहा, हरियाणा अद्भुत संभावनाओं का राज्य है। उन्होंने रेखांकित किया कि डबल इंजन सरकार हरियाणा को एक विकसित राज्य बनाने और हर क्षेत्र में रोजगार के नए अवसर पैदा करने का प्रयास कर रही है, चाहे वह प्रौद्योगिकी हो या वस्‍त्र, पर्यटन या व्यापार। प्रधानमंत्री ने कहा, "हरियाणा निवेश के लिए एक अच्छे राज्य के रूप में उभर रहा है, और निवेश बढ़ने का अर्थ नई नौकरी के अवसरों में वृद्धि है।"

इस अवसर पर हरियाणा के राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय और हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल खट्टर सहित हरियाणा सरकार के अन्य मंत्री और विधायक उपस्थित थे।

पृष्ठभूमि

प्रधानमंत्री ने करीब 5450 करोड़ रुपये की लागत से विकसित होने वाली गुरुग्राम मेट्रो रेल परियोजना की आधारशिला रखी। 28.5 किलोमीटर की कुल लंबाई वाली यह परियोजना मिलेनियम सिटी सेंटर को उद्योग विहार चरण-5 से जोड़ेगी और साइबर सिटी के पास मौलसारी एवेन्यू स्टेशन पर रैपिड मेट्रो रेल गुरुग्राम के मौजूदा मेट्रो नेटवर्क में विलय कर देगी। द्वारका एक्सप्रेस-वे पर भी इसका विस्तार होगा। यह परियोजना नागरिकों को विश्व स्तरीय पर्यावरण-अनुकूल मास रैपिड शहरी परिवहन प्रणाली प्रदान करने के प्रधानमंत्री के विज़न को साकार करने की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम है।

देश भर में सार्वजनिक स्वास्थ्य बुनियादी ढांचे को मजबूत करने के प्रधानमंत्री के विज़न के अनुरूप अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स), रेवाड़ी, हरियाणा की आधारशिला रखी गई है। लगभग 1650 करोड़ रुपये की लागत से बनने वाला एम्स रेवाडी, रेवाडी के गांव माजरा मुस्तिल भालखी में 203 एकड़ भूमि पर विकसित किया जाएगा। इसमें 720 बिस्तरों वाला अस्पताल परिसर, 100 सीटों वाला मेडिकल कॉलेज, 60 सीटों वाला नर्सिंग कॉलेज, 30 बिस्तरों वाला आयुष ब्लॉक, फेकल्टी और कर्मचारियों के लिए आवासीय आवास, यूजी और पीजी छात्रों के लिए छात्रावास आवास, नाइट शेल्टर, गेस्ट हाउस, सभागार आदि सुविधाएं होंगी। प्रधानमंत्री स्वास्थ्य सुरक्षा योजना (पीएमएसएसवाई) के तहत स्थापित, एम्स रेवारी हरियाणा के लोगों को व्यापक, गुणवत्तापूर्ण और समग्र तृतीयक देखभाल स्वास्थ्य सेवाएं प्रदान करेगा। सुविधाओं में कार्डियोलॉजी, गैस्ट्रोएंटरोलॉजी, नेफ्रोलॉजी, यूरोलॉजी, न्यूरोलॉजी, न्यूरोसर्जरी, मेडिकल ऑन्कोलॉजी, सर्जिकल ऑन्कोलॉजी, एंडोक्रिनोलॉजी, बर्न्स और प्लास्टिक सर्जरी सहित 18 स्पेशलिटी और 17 सुपर स्पेशलिटी में रोगी देखभाल सेवाएं शामिल हैं। संस्थान में इंटेंसिव केयर यूनिट, आपातकालीन और ट्रॉमा यूनिट, सोलह मॉड्यूलर ऑपरेशन थिएटर, डायग्नोस्टिक प्रयोगशालाएं, ब्लड बैंक, फार्मेसी आदि की सुविधाएं भी होंगी। हरियाणा में एम्स की स्थापना हरियाणा के लोगों के लिए व्यापक गुणवत्ता और समग्र तृतीयक देखभाल स्वास्थ्य सेवाएं प्रदान करने में एक महत्वपूर्ण मील का पत्थर है।

प्रधानमंत्री ने नवनिर्मित अनुभव केंद्र ज्योतिसर, कुरूक्षेत्र का उद्घाटन किया। यह अनुभवजन्य संग्रहालय लगभग 240 करोड़ की लागत से बनाया गया है। संग्रहालय 17 एकड़ में फैला है, जिसमें 100,000 वर्ग फुट से अधिक इनडोर जगह शामिल है। यह महाभारत की महाकाव्य कथा और गीता की शिक्षाओं को जीवंत करेगा। संग्रहालय ने आगंतुकों के अनुभव को समृद्ध करने के लिए संवर्धित वास्तविकता (एआर), 3डी लेजर और प्रोजेक्शन मैपिंग सहित अत्याधुनिक तकनीक का भी लाभ उठाया है। ज्योतिसर, कुरुक्षेत्र वह पवित्र स्थल है जहां भगवान कृष्ण ने अर्जुन को भगवद गीता का शाश्वत ज्ञान प्रदान किया था।

प्रधानमंत्री ने कई रेलवे परियोजनाओं की आधारशिला भी रखी और राष्ट्र को समर्पित किया। जिन परियोजनाओं की आधारशिला रखी जाएगी उनमें रेवाडी-काठुवास रेल लाइन (27.73 किमी) का दोहरीकरण; काठूवास-नारनौल रेल लाइन (24.12 किमी) का दोहरीकरण; भिवानी-डोभ भाली रेल लाइन (42.30 किलोमीटर) का दोहरीकरण; और मानहेरू-बवानी खेड़ा रेल लाइन (31.50 किमी) का दोहरीकरण शामिल है। इन रेलवे लाइनों के दोहरीकरण से क्षेत्र में रेल अवसंरचना में वृद्धि होगी और यात्री और मालगाड़ियों दोनों को समय पर चलाने में मदद मिलेगी। प्रधानमंत्री ने रोहतक-मेहम-हांसी रेल लाइन (68 किलोमीटर) राष्ट्र को समर्पित की। इस रेल लाइन से रोहतक और हिसार के बीच यात्रा का समय कम हो जाएगा। उन्होंने रोहतक-मेहम-हांसी सेक्शन में ट्रेन सेवा को भी हरी झंडी दिखाई, जिससे रोहतक और हिसार क्षेत्र में रेल कनेक्टिविटी में सुधार होगा और रेल यात्रियों को लाभ होगा।

**

एमजी/एआर/एजी /एसएस



(Release ID: 2006668) Visitor Counter : 492