रेल मंत्रालय

मेट्रो रेलवे ने 2021 में बुनियादी ढांचे के विकास और नेटवर्क की क्षमता विस्तार में अभूतपूर्व विकास किया


उत्तर-दक्षिण मेट्रो के विस्तारित हिस्सा नोआपारा से दक्षिणेश्वर (4.1 किमी लंबाई) तक का उद्घाटन किया गया

ईस्ट-वेस्ट मेट्रो के फूलबगान से सियालदह तक पहला ट्रायल रन पूरा

लंबे समय से चली आ रही मेट्रो यात्रियों की मांग को पूरा करने के लिए ईस्ट-वेस्ट मेट्रो में क्यूआर कोड आधारित टिकट व्यवस्था शुरू की गई

तपन सिन्हा मेमोरियल अस्पताल में प्रेशर स्विंग ऐड्सॉर्प्शन (पीएस) ऑक्सीजन जेनरेटर प्लांट की शुरुआत की गई

मेट्रो रेलवे ने नॉन एसी रेक के अपने बेड़े को दी विदाई


Posted On: 03 JAN 2022 1:48PM by PIB Delhi


कोलकाता मेट्रो ने वर्ष 2021 के दौरान अपने नेटवर्क के बुनियादी ढांचे और क्षमता विस्तार के विकास में अभूतपूर्व वृद्धि देखी है। कोविड चुनौतियों के बावजूद कोलकाता मेट्रो ने यात्रियों के लिए भविष्य के विकास और यात्रा के अनुभव के अगले स्तर की नींव रखना जारी रखा।

कोलकाता मेट्रो की वर्ष 2021 में कुछ उल्लेखनीय उपलब्धियां निम्न हैं:


https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image001GUVN.jpg


माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेन्‍द्र मोदी ने 22.02.2021 को नोआपारा से दक्षिणेश्वर (4.1 किमी लंबाई) तक उत्तर दक्षिण मेट्रो के विस्तारित खंड का उद्घाटन किया और इस पर पहली मेट्रो को हरी झंडी दिखाई। प्रधानमंत्री ने अपने भाषण में कहा कि इस विस्तार से न केवल कोलकाता के लोगों को बल्कि हुगली, हावड़ा और उत्तर 24 परगना के लोगों को भी मेट्रो सेवाओं का लाभ प्राप्त करने में मदद मिलेगी।

https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image002NNRG.jpg 

 

साल के दौरान नोआपाड़ा कारशेड का नॉन इंटरलॉकिंग (एनआई) कार्य सफलतापूर्वक पूरा किया गया। इस एनआई कार्य में नोआपारा में इलेक्ट्रॉनिक इंटरलॉकिंग सिस्टम में परिवर्तन (रूपांतरण) शामिल था, जो कारशेड में सभी मार्गों, बिंदुओं, संकेतों और ट्रैक अनुभागों से जुड़ा हुआ है। इस परिवर्तन ने नोआपारा से रेकों की आवाजाही के लचीलेपन परिचालन में काफी सुधार किया और इस तरह मेट्रो रेलवे के ट्रेन चलाने के निष्पादन मानकों में वृद्धि हुई है।

https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image003NZNY.jpg


इस साल ईस्ट-वेस्ट मेट्रो के फूलबगान से सियालदह तक पहला ट्रायल रन सफलतापूर्वक पूरा हुआ। इस कॉरिडोर का सियालदह स्टेशन बहुत जल्द चालू होने वाला है।

https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image004GAPV.jpg

 

27.08.2021 को 1.24 मेगावाट का रूफटॉप सोलर पावर प्लांट राष्ट्र की सेवा के लिए समर्पित किया गया। यह पावर प्लांट ईस्ट-वेस्ट मेट्रो के सेंट्रल पार्क डिपो के दो प्रमुख भवनों की छतों पर लगाया गया है जो 19173 वर्ग मीटर क्षेत्र में फैला हुआ है। नतीजतन मेट्रो रेलवे प्रति वर्ष लगभग 45 लाख रुपये की बचत करने में सक्षम होगा।

https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image005YPB6.jpg

गांधी जयंती के अवसर पर 02.10.2021 को महानायक उत्तम कुमार मेट्रो स्टेशन पर दो लिफ्ट राष्ट्र की सेवा के लिए समर्पित की गईं। इन दो लिफ्टों ने मेट्रो यात्रियों की लंबे समय से चली आ रही मांग को पूरा किया और इस स्टेशन में अतिरिक्त यात्री सुविधाएं दी हैं।

 

https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image00692SI.jpg


मेट्रो रेलवे के 37वें स्थापना दिवस पर 24.10.2021 को महानायक उत्तम कुमार स्टेशन पर नॉन-एसी मेट्रो रेक (रेक नंबर एन 12/14 कोलकाता मेट्रो का अंतिम नॉन-एसी रेक) के अंदर देश के किसी भी मेट्रो रेलवे में अपनी तरह की पहली प्रदर्शनी "एग्जिबिशन ऑन व्हील्स" का आयोजन  किया गया। इस प्रदर्शनी में रंगीन पोस्टरों के माध्यम से देश की पहली मेट्रो, कोलकाता मेट्रो के गौरवशाली अतीत, वर्तमान परिदृश्य और इसके भविष्य की परियोजनाओं को प्रदर्शित किया गया। प्रदर्शनी के बाद मेट्रो रेलवे ने नॉन एसी रेक के अपने बेड़े को विदाई दी। कोलकाता मेट्रो के नॉन-एसी रेक अब बीते दिनों की बात हो गए हैं। मेट्रो रेलवे अब यात्रियों को फुल एसी सेवाएं मुहैया करा रही है।

 

https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image007W5O2.jpg


यात्रियों की सुविधा के लिए 25.11.2021 को मेट्रो रेलवे में फिर से टोकन शुरू किए गए हैं। पिछली बार टोकन 23.03.2020 को जारी किए गए थे। इन टोकन को सैनिटाइज करने के लिए नॉर्थ-साउथ और ईस्ट-वेस्ट मेट्रो के सभी स्टेशनों पर 40 टोकन सैनिटाइजर मशीनें लगाई गई हैं। इस्तेमाल किए गए टोकन को ये मशीनें अल्ट्रा-वायलेट किरणों की मदद से 4 मिनट तक सैनिटाइज करती हैं।

 

https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image008POKG.jpg

 

महाप्रबंधक श्री मनोज जोशी द्वारा 01.12.2021 को तपन सिन्हा मेमोरियल अस्पताल में एक प्रेशर स्विंग ऐड्सॉर्प्शन (पीएसए) (ऐसी तकनीक जिसका उपयोग कुछ गैस प्रजातियों को गैसों के मिश्रण से अलग करने के लिए किया जाता है) ऑक्सीजन जेनरेटर प्लांट का उद्घाटन किया गया। रोगियों के लाभ के लिए यह संयंत्र प्रति मिनट 250 लीटर ऑक्सीजन का उत्पादन करने की क्षमता रखता है। यह थोक रूप से ऑक्सीजन सिलेंडर खरीदने के खर्च को कम से कम 70 प्रतिशत तक कम करने में भी मदद करेगा।

https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image009FUBN.jpg


आजादी का अमृत महोत्सव के तहत मेट्रो यात्रियों की लंबे समय से चली आ रही मांग को पूरा करने के लिए 04.12.2021 से ईस्ट-वेस्ट मेट्रो में क्यूआर कोड आधारित टिकट व्यवस्था शुरू की गई है। इस तीसरी वैकल्पिक व्यवस्था की शुरुआत के साथ ही मेट्रो टिकट अब यात्रियों की उंगलियों पर उपलब्ध हैं। मेट्रो रेलवे भी अब उत्तर-दक्षिण कॉरिडोर के स्टेशनों में क्यूआर कोड स्कैनर उपलब्ध कराने और मौजूदा एएफसी गेट्स के हार्डवेयर को अपग्रेड करने के बाद कुछ महीनों में उत्तर-दक्षिण कॉरिडोर पर इस सुविधा का विस्तार करने के लिए काम कर रहा है।

https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image010AY4D.jpg

 

मेट्रो रेलवे का तपन सिन्हा मेमोरियल अस्पताल पिछले एक साल से कोविड मरीजों का इलाज कर रहा है। यहां कोविड मरीजों के इलाज के लिए 75 बेड का अलग कोविड वार्ड खोला गया है। सभी आधुनिक सुविधाओं से सुसज्जित इस वार्ड में 30.12.2021 तक 604 कोविड मरीजों का इलाज किया जा चुका है। 02.02.2021 से मेट्रो रेलवे में कोविड टीकाकरण अभियान शुरू हुआ। 30.12.2021 तक कोविड वैक्सीन (पहली और दूसरी खुराक) की कुल 21,423 डोज दी जा चुकी है। इनमें स्वास्थ्य कर्मियों, मेट्रो कर्मचारियों, रेलवे लाभार्थियों, संविदा कर्मचारियों और आमलोग शामिल हैं।

https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image0112NC6.jpg


मेट्रो रेलवे ने 7 स्टेशनों का कायाकल्प करने को लेकर स्टेशन ब्रांडिंग अधिकारों के लिए निजी विश्वविद्यालयों, बैंकों, स्वास्थ्य सेवा मुहैया कराने वाले संस्थानों, बीमा कंपनियों आदि सहित कॉरपोरेट घरानों को पेशकश की है। इस निविदा में उत्तर-दक्षिण मेट्रो के 5 स्टेशनों दमदम, नोआपारा, बेलगछिया, एस्पलेनेड व पार्क स्ट्रीट और ईस्ट वेस्ट मेट्रो के 2 स्टेशनों बंगाल केमिकल और सियालदह (जो बहुत जल्द चालू हो जाएगा) को स्टेशन ब्रांडिंग अधिकारों के लिए पेशकश की गई है। मेट्रो ने इन स्टेशनों के ब्रांडिंग अधिकार देकर पहले साल में 3.65 करोड़ रुपये कमाए हैं। मेट्रो स्मार्ट कार्ड्स को भी दो निजी कंपनियों द्वारा ब्रांड किया गया है। इसके लिए मेट्रो अब तक 20.65 लाख रुपये कमा चुकी है। अब तक 11 मेट्रो स्टेशनों को को-ब्रांडेड किया जा चुका है।

https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image012DRGE.jpg


उत्तर-दक्षिण कॉरिडोर के एएफसी-पीसी गेटों की ब्रांडिंग भी 2 वर्ष की अवधि के लिए सफलतापूर्वक पूरी कर ली गई है। स्टेशनों के 350 गेटों पर ब्रांडिंग अधिकार देकर कुल 73.50 लाख रुपये की कमाई की गई है।

 

https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image012JRL6.jpg

 

इसके अलावा उत्तर-दक्षिण मेट्रो के सभी 26 स्टेशनों के 52 कार्ड बैलेंस चेकिंग टर्मिनल (सीबीसीटी) को भी ब्रांडेड किया गया है, जिससे मेट्रो रेलवे को 12.48 लाख रुपये कमाने में मदद मिली है।

https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image013CNQO.jpg


एक निजी कंपनी के साथ हुए समझौते के तहत नोआपारा से कवि सुभाष तक 24 मेट्रो स्टेशनों पर पावर बैंक रेंटल टावर लगाए गए हैं। 1 साल में मेट्रो ने 12 लाख रुपये की कमाई की है।

***

एमजी/एएम/आरकेजे/एसएस



(Release ID: 1787172) Visitor Counter : 346