रक्षा मंत्रालय

भारतीय नौसेना के जहाज शिवालिक और कदमत बहुपक्षीय सामुद्रिक युद्धाभ्यास मालाबार में भाग लेने के लिए गुआम पहुंचे

Posted On: 22 AUG 2021 12:20PM by PIB Delhi

भारतीय नौसेना के जहाज शिवालिक और कदमत दक्षिण पूर्व एशिया और प्रशांत महासागर के देशों में जारी तैनाती के अंतर्गत 21 अगस्त 2021 को संयुक्त राज्य अमेरिका के एक द्वीप क्षेत्र गुआम में पहुंचे। दोनों जहाजों को ऑस्ट्रेलिया, भारत, जापान और संयुक्त राज्य अमेरिका की नौसेनाओं के बीच वार्षिक अभ्यास मालाबार -21 में भाग लेने के लिए भेजना तय किया गया है। सामुद्रिक अभ्यास की मालाबार श्रृंखला 1992 में भारतीय तथा अमेरिकी नौसेना के बीच एक द्विपक्षीय अभ्यास के रूप में शुरू हुई और प्रशांत और हिंद महासागर क्षेत्र में चार प्रमुख देशों की नौसेनाओं को शामिल कर बाद के वर्षों में इसके कद में वृद्धि हुई है। अभ्यास के अंतर्गत वाइस एडमिरल एबी सिंह, फ्लैग ऑफिसर कमांडिंग-इन-चीफ, पूर्वी नौसेना कमान, रीयर एडमिरल लियोनार्ड सी, कमांडर सीटीएफ -74 के साथ एक कार्य योजना विकसित करने और समुद्री क्षेत्र में समन्वित संचालन पर ध्यान केंद्रित करते हुए अभियानगत वार्ता करेंगे। पूर्वी बेड़े के फ्लैग ऑफिसर कमांडिंग, रियर एडमिरल तरुण सोबती 26 अगस्त 2021 से शुरू होने वाले समुद्री चरण की बारी के दौरान आईएनएस शिवालिक पर जाएंगे।

अभ्यास मालाबार-21 दिनांक 26 से 29 अगस्त 2021 से समुद्र में अमेरिकी नौसेना (यूएसएन), जापान की नौसेना (जेएमएसडीएफ) और ऑस्ट्रेलियाई नौसेना (आरएएन) के साथ आयोजित किया जाएगा। यह अभ्यास एकसमान समझ वाली नौसेनाओं को अंतर-संचालन बढ़ाने, नौसैनिक संचालन संबंधी सर्वश्रेष्ठ प्रथाओं से लाभ प्राप्त करने और समुद्री सुरक्षा संचालन से जुड़ी प्रक्रियाओं की सामान्य समझ विकसित करने का अवसर प्रदान करेगा। मालाबार-21 में भाग लेने वाली नौसेनाओं के डिस्ट्रॉयर्स, फ्रिगेट्स, कॉर्वेट्स, सबमरीन, हेलिकॉप्टर्स और लॉन्ग रेंज मैरीटाइम पेट्रोल एयरक्राफ्ट के बीच तीव्र सैन्य तौर तरीकों के अभ्यास होंगे। अभ्यास के दौरान कॉम्प्लेक्स सरफेस, सब सरफेस और एयर ऑपरेशन्स जिसमें लाइव वेपन फायरिंग ड्रिल, एंटी-सरफेस, एंटी-एयर और एंटी-सबमरीन वारफेयर ड्रिल, संयुक्त युद्धाभ्यास और सामरिक अभ्यास शामिल हैं। कोविड प्रतिबंधों के बावजूद इन अभ्यासों का संचालन भाग लेने वाली नौसेनाओं के बीच तालमेल और सुरक्षित समुद्र के प्रति प्रतिबद्धता का प्रमाण है।

भाग लेने वाले भारतीय जहाज शिवालिक और कदमत विशाखापत्तनम में पूर्वी नौसेना कमान में स्थित भारतीय नौसेना के नवीनतम स्वदेशी रूप से डिजाइन और निर्मित, बहु-भूमिका गाइडेड मिसाइल स्टील्थ फ्रिगेट और एंटी-सबमरीन कार्वेट हैं और नौसेना के पूर्वी बेड़े का हिस्सा हैं। आईएनएस शिवालिक की कमान कैप्टन कपिल मेहता के पास है जबकि आईएनएस कदमत की कमान कमांडर आर के महाराणा के पास है। दोनों जहाज हथियारों और सेंसर की एक बहुआयामी एरे से लैस हैं, अनेक भूमिकाओं में इस्तेमाल होने वाले हेलीकॉप्टर ले जा सकते हैं और भारत की युद्धपोत निर्माण क्षमताओं के विकास की अगुवाई कर सकते हैं।

https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/Pix(3)5941.jpeg

 

एमजी/एएम/एबी



(Release ID: 1748154) Visitor Counter : 158