रक्षा मंत्रालय

सीओएएस जनरल एमएम नरवणे बांग्लादेश की यात्रा पर रवाना

Posted On: 08 APR 2021 10:10AM by PIB Delhi

भारत और बांग्लादेश के बीच मजबूत द्विपक्षीय और रक्षा संबंधों की बहुमूल्य परंपरा को जारी रखते हुए भारतीय थल सेना के प्रमुख जनरल एमएम नरवणे 8 से 12 अप्रैल, 2021 तक बांग्लादेश की यात्रा पर रवाना हुए हैं। जनरल नरवणे की यात्रा स्वर्णिम विजय उत्सव के बीच में है जो बांग्लादेश की मुक्ति के 50 साल पूरे होने का प्रतीक है। बांग्लादेश की मुक्ति आंदोलन को बंगबंधु शेख मुजीबुर्रहमान के ऐतिहासिक नेतृत्व और मुक्ति बाहिनी के नायकों द्वारा संभव बनाया गया था ,जिन्होंने भारतीय सशस्त्र बलों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर लड़ाई लड़ी थी।

सेना प्रमुख 8 अप्रैल, 2021 को शिखा अनिर्बान में माल्यार्पण कर लिबरेशन युद्ध के शहीदों को श्रद्धांजलि देंगे। इसके बाद बांग्लादेश के सशस्त्र बलों के तीन सेवा प्रमुखों के साथ एक-एक कर बैठकें होंगी। जनरल नरवणे धनमंडी में राष्ट्रपिता बंगबंधु शेख मुजीबुर्रहमान मेमोरियल संग्रहालय भी जाएंगे, जहां वह बांग्लादेश के संस्थापक को श्रद्धांजलि देंगे।

सीओएएस 11 अप्रैल, 2021 को ढाका में बांग्लादेश सेना के बहुउद्देशीय परिसर में बांग्लादेश के विदेश मंत्री के साथ बातचीत करेगा, जहां वह संयुक्त राष्ट्र के शांति सहयोग कार्यों पर एक संगोष्ठी में भाग लेंगे और "चेंज नेचर ऑफ ग्लोबल कन्फ्लिक्ट : संयुक्त राष्ट्र शांति सैनिकों की भूमिका " पर भाषण देंगे।

जनरल एमएम नरवणे 12 अप्रैल, 2021 को माली, दक्षिण सूडान और मध्य अफ्रीकी गणराज्य में संयुक्त राष्ट्र मिशनों में शामिल कमांडरों और रॉयल भूटानी सेना के उप मुख्य संचालन अधिकारी के साथ बातचीत करेंगे। वह संयुक्त राष्ट्र, भारत, बांग्लादेश, भूटान और श्रीलंका के सशस्त्र बलों के साथ संयुक्त राज्य अमेरिका, ब्रिटेन, तुर्की और सऊदी अरब के पर्यवेक्षकों सहित संयुक्त राष्ट्र के एक अनिवार्य बहुपक्षीय अभ्यास शांतीर ओगरोसेना के समापन समारोह में भी शामिल होंगे। हार्डवेयर प्रदर्शन के दौरान प्रमुख बांग्लादेशी सशस्त्र बल के जवानों के इनवेशन को भी देखेंगे।

थल सेनाध्यक्ष अपनी यात्रा के अंतिम चरण के दौरान बांग्लादेश इंस्टीट्यूट ऑफ पीस सपोर्ट एंड ट्रेनिंग ऑपरेशंस (बीआईपीएसओटी) के सदस्यों के साथ बातचीत करेंगे।

यह यात्रा दोनों सेनाओं के बीच द्विपक्षीय संबंधों को और गहरा करेगी और रणनीतिक मुद्दों की मेजबानी पर दोनों देशों के बीच निकट समन्वय और सहयोग के उत्प्रेरक के रूप में कार्य करेगी।

*****

एमजी/एएम/एके/एनके



(Release ID: 1710385) Visitor Counter : 385