स्‍वास्‍थ्‍य एवं परिवार कल्‍याण मंत्रालय

कोविड-19 टीकाकरण की नवीनतम स्थिति

पूरे देश में टीका लगाए गए स्वास्थ्यकर्मियों की कुल संख्या 3.81 लाख से अधिक हो गई है 

​​​​​​​एईएफआई का कोई भी गंभीर/गहन मामला सामने नहीं आया है

Posted On: 18 JAN 2021 7:50PM by PIB Delhi

बड़े और राष्ट्रव्यापी कोविड-19 टीकाकरण कार्यक्रम के तीसरे दिन भी सफलतापूर्वक टीके लगाए गए। अस्थाई रिपोर्ट के अनुसार 7,704 सत्रों के माध्यम से आज तक कुल 3,81,305 लाभार्थियों को टीके लगाए जा चुके हैं। राष्ट्रव्यापी कोविड-19 टीकाकरण के तीसरे दिन सायं पांच बजे तक 1,48,266 लाभार्थियों को टीके लगाए जा चुके थे। इस बारे में अंतिम रिपोर्ट रात तक प्राप्त होगी।

 

क्र.सं.

राज्य/केंद्र शासित प्रदेश

टीके लगे लाभार्थियों की संख्या (अस्थायी)

1

आंध्र प्रदेश

9,758

2

अरुणाचल प्रदेश

1,054

3

असम

1,822

4

बिहार

8,656

5

छत्तीसगढ़

4,459

6

दिल्ली

3,111

7

हरियाणा

3,486

8

हिमाचल प्रदेश

2,914

9

जम्मू-कश्मीर

1,139

10

झारखंड

2,687

11

कर्नाटक

36,888

12

केरल

7,070

13

लक्षद्वीप

180

14

मध्यप्रदेश

6,665

15

मणिपुर

291

16

मिजोरम

220

17

नगालैंड

864

18

ओडिशा

22,579

19

पुदुचेरी

183

20

पंजाब

1,882

21

तमिलनाडु

7,628

22

तेलंगाना

10,352

23

त्रिपुरा

1,211

24

उत्तराखंड

1,579

25

पश्चिम बंगाल

11,588

 

पूरे भारत में

1,48,266

 

टीकाकरण के बाद एक प्रतिकूल घटना (एईएफआई) ऐसी अप्रत्याशित चिकित्सा घटनाएं जो टीकाकरण के बाद पैदा होती है, इसका वैक्सीन या टीकाकरण प्रक्रिया से संबंध हो भी सकता है और नहीं भी हो सकता है। अभी तक एईएफआई के 580 मामलों का पता चला है। इनमें से 7 लोगों को अस्पताल में भर्ती किया गया है। इनमें 3 मामले दिल्ली के हैं जिनमें 2 लोगों को अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है, जबकि बेहोशी के एक मामले की मैक्स अस्पताल पटपड़गंज में निगरानी की जा रही है। उत्तराखंड में सामने आए एक एईएफआई के मामले में प्रभावित व्यक्ति की हालत स्थिर है। इस व्यक्ति की एम्स ऋषिकेश में निगरानी की जा रही है। छत्तीसगढ़ में एक व्यक्ति का सरकारी मेडिकल कॉलेज राजनंदगांव में इलाज चल रहा है। कर्नाटक के एईएफआई के दो मामलों में से एक व्यक्ति जिला अस्पताल चित्रदुर्ग की निगरानी में और दूसरा जनरल अस्पताल चैलकेरे, चित्रदुर्ग की निगरानी में है।

अभी तक मौत के दो मामलों का पता चला है। उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद में 52 वर्षीय व्यक्ति की मौत हुई है (जिसे 16 जनवरी, 2021 को टीका लगाया गया था और 17 जनवरी को उसकी मृत्यु हो गई।) लेकिन पोस्टमार्टम रिपोर्ट के अनुसार इस मौत का टीकाकरण से कोई संबंध नहीं है। इस व्यक्ति की मौत कार्डियोपल्मोनरी बीमारी के कारण हुई थी। दूसरे जिस 43 वर्षीय व्यक्ति की मौत हुई है, वह कर्नाटक में बेल्लारी का निवासी था। उसे 16 जनवरी, 2021 को टीका लगाया गया था और आज उसकी मृत्यु हो गई। इस व्यक्ति की मौत का कारण कार्डियोपल्मोनरी फेल्योर के साथ एंटीरियर वॉल का संक्रमण था। इस व्यक्ति का आज विजयनगर इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेस बेल्लारी, कर्नाटक में पोस्टमार्टम हो रहा है।  

****

 

एमजी/एएम/आईपीएस/ओपी



(Release ID: 1689942) Visitor Counter : 130