स्‍वास्‍थ्‍य एवं परिवार कल्‍याण मंत्रालय

डब्ल्यूएचओ दक्षिण पूर्व एशिया क्षेत्र का 73 वां सत्र

सदस्य देशों ने दक्षिण-पूर्व एशिया क्षेत्र में कोविड -19 पर सामूहिक प्रतिक्रिया के लिए घोषणापत्र को अंगीकार किया

Posted On: 10 SEP 2020 4:56PM by PIB Delhi

डब्ल्यूएचओ दक्षिण पूर्व एशिया क्षेत्र के 73 वें सत्र के समापन पर, थाईलैंड के उप प्रधानमंत्री और स्वास्थ्य मंत्री श्री अनुतिन चर्नवीरकुल की अध्यक्षता में सदस्य देशों के स्वास्थ्य मंत्रियों ने दक्षिण-पूर्व एशिया क्षेत्र में कोविड -19 पर सामूहिक प्रतिक्रिया के लिए घोषणापत्र पर सहमति व्यक्त की।

घोषणापत्र का मूलपाठ इस प्रकार है:

हम, दक्षिण-पूर्व एशिया के लिए डब्ल्यूएचओ क्षेत्रीय समिति के 73 वें सत्र में भाग लेने वाले डब्ल्यूएचओ दक्षिण-पूर्व एशिया क्षेत्र के सदस्य देशों के स्वास्थ्य मंत्री   

क्षेत्र के सदस्य देशों में लोगों के शारीरिक, मानसिक और सामाजिक कल्याण पर, अर्थव्यवस्थाओं और समाजों पर, विशेष रूप से बाधित स्वास्थ्य सेवाओं, गैर- कोविड -19 आवश्यक स्वास्थ्य देखभाल, सार्वजनिक स्वास्थ्य कार्यक्रम के परिणामों से और कोविड -19 महामारी के विनाशकारी प्रभाव से चिंतित हैं,

क्षेत्रीय एकजुटता और क्षेत्रीय पहल जो महामारी के मुकाबले के लिए स्वास्थ्य प्रणालियों के सहनीयता को बढ़ाती हैं, अर्थात् सार्वभौमिक स्वास्थ्य कवरेज और स्वास्थ्य आपात स्थितियों पर दक्षिण-पूर्व एशिया क्षेत्रीय फ्लैगशिप जो आपातकालीन जोखिम प्रबंधन में क्षमता को बढ़ाते हैं; एसईएआरएचईएफ, जो सार्वजनिक स्वास्थ्य आपात स्थितियों के दौरान तेजी से वित्तीय संसाधन प्रदान करता है, और आपातकालीन तैयारी पर 2019 का दिल्ली घोषणापत्र (एसईए / आर सी 72 / आर 1), जो क्षेत्र में आपदा जोखिम प्रबंधन और आपातकालीन तैयारियों में क्षमता बढ़ाने के लिए है और कोविड -19 प्रतिक्रिया(डब्ल्यूएचए 73.1) पर डब्ल्यूएचए 73 संकल्प; के महत्व को पहचानते हुए,

निम्नलिखित के लिए सहमति व्यक्त करते है:

 

· सार्वभौमिक स्वास्थ्य कवरेज और लोगों के लिए सुरक्षा उपाय के रूप में गुणवत्तापूर्ण स्वास्थ्य सेवाओं – कोविड -19 और गैर- कोविड -19 दोनों - तक पहुँच के महत्व की पुष्टि करते हैं; सार्वभौमिक स्वास्थ्य कवरेज और प्राथमिक स्वास्थ्य देखभाल में निवेश को प्राथमिकता देने की आवश्यकता पर बल देते हैं, ताकि महामारी के दौरान, वित्तीय बाधाओं के बिना, सभी आवश्यक स्वास्थ्य सेवाओं तक कमजोर आबादी सहित सभी लोगों के लिए समान पहुंच सुनिश्चित हो सके;

· आवश्यक स्वास्थ्य सेवाओं और सार्वजनिक स्वास्थ्य कार्यक्रमों को बनाए रखने के लिए, विशेष रूप से सार्वजनिक स्वास्थ्य आपात स्थितियों के दौरान और बेहतर स्वास्थ्य प्रणालियों के निर्माण में इस अवसर का उपयोग करने के लिए प्रयास करना;

· महामारी के दौरान और बाद में निर्बाध स्वास्थ्य सेवाओं को बनाए रखने के लिए पर्याप्त स्वास्थ्य बजट आवंटित करके लोगों के स्वास्थ्य को प्राथमिकता देना और उनके जीवन को बचाना;

· स्वास्थ्य सूचना प्रणाली को मजबूत करना, जो डिजिटल तकनीकों का उपयोग कर प्रकोप की समय पर जानकारी दे सकता है और नीतिगत निर्णय के लिए जानकारी साझा करना;

·स्वास्थ्य कर्मियों तथा अन्य संबंधित श्रमिकों के लिए काम के दौरान स्वास्थ्य, सुरक्षा और कल्याण सुनिश्चित करना, पर्याप्त सार्वजनिक स्वास्थ्य और सामाजिक उपायों के माध्यम से रोगियों और लोगों की सुरक्षा को मजबूत करना और विभिन्न प्रकार के गुणवत्ता वाले व्यक्तिगत सुरक्षा उपकरणों तक पहुंच सुनिश्चित करना;

· उपयुक्त चिकित्सा अपशिष्ट प्रबंधन प्रणाली के माध्यम से पेशेगत और पर्यावरणीय सुरक्षा को मजबूत करना;

· कोविड -19 पर जैव चिकित्सा, स्वास्थ्य नीति और प्रणाली अनुसंधान को मजबूत करना, जो सदस्य देशों में राष्ट्रीय नीति निर्णय और ज्ञान को साझा करने का समर्थन करते हैं;

· महामारी के नकारात्मक परिणामों को कम करने के लिए समाज की क्षमता का उपयोग करना तथा सरकार और समाज के माध्यम से बहु-क्षेत्रीय सहयोग जारी रखना और उनका विस्तार करना; जिसमें प्रभावी जोखिम संवाद, सामुदायिक जुड़ाव और महामारी-प्रबंधन शामिल हैं;

· विशेष रूप से तैयारी, निगरानी और तेजी से प्रतिक्रिया, महामारी विज्ञान प्रशिक्षण, दवाओं और चिकित्सा आपूर्ति का प्रबंधन, और आवश्यक स्वास्थ्य संसाधनों के क्षेत्रीय भंडार के लिए क्षमता वृद्धि में एसईएआर सदस्य देशों का समर्थन करने के लिए क्षेत्रीय सहयोग को मजबूत करना;

· अंतर्राष्ट्रीय स्वास्थ्य विनियम, 2005 के अनुसार आवश्यक कमियों की पहचान करना और मुख्य क्षमताओं को मजबूत करना;

 · वैक्सीन, दवाओं और निदान के समान आवंटन पर वैश्विक चर्चा में पूरी तरह शामिल होना;

हम, डब्ल्यूएचओ दक्षिण-पूर्व एशिया क्षेत्र के सदस्य देशों के स्वास्थ्य मंत्री,  सार्वजनिक स्वास्थ्य आपात स्थितियों के प्रबंधन में क्षेत्रीय क्षमताओं को बढ़ावा देने के लिए डब्ल्यूएचओ के महानिदेशक और दक्षिण-पूर्व एशिया क्षेत्र के क्षेत्रीय निदेशक के समर्थन का स्वागत और इसकी सराहना करते हैं।

दस सितंबर, दो हजार बीस को अंगीकृत किया गया।

 

 *********

एमजी / एएम / जेके  

 



(Release ID: 1653320) Visitor Counter : 44