नीति आयोग

अटल इनोवेशन मिशन ने कोविड-19 समाधान के साथ स्टार्ट अप्स की सहायता करने के लिए मंत्रालयों, साझीदारों के साथ टीम बनाई

वर्चुअल कोविड डेमो दिवसों की श्रृंखला का आयोजन किया

Posted On: 14 JUL 2020 6:41PM by PIB Delhi

जहां कोविड-19 महामारी और आर्थिक शटडाउन विश्व अर्थव्यवस्था को गहरी चोट पहुंचा रहे हैं, नीति आयोग का प्रमुख कार्यक्रम अटल इनोवेशन मिशन (एआईएम) कोविड-19 के नवोन्मेषी समाधानों के साथ स्टार्ट अप्स की सहायता करने तथा कोविड-19 महामारी के खिलाफ लड़ाई में और मदद करने के लिए मंत्रालयों, साझीदारों के साथ टीम बनाने के द्वारा देश भर में उद्यमशील भावना को ऊंचा बनाये रखने के लिए पूरी तरह सक्रिय है।

इस संबंध में, एआईएम ने आज वर्चुअल कोविड-19 डेमो दिवसों की एक श्रृंखला-जोकि कोविड-19 नवोन्मेषणों के साथ संभावित स्टार्ट अप्स की पहचान करने तथा देश भर में सॉल्यूशंस की तैनाती करने तथा उन्हें और बढ़ाने में मदद करने की एक पहल है -का समन्वय तथा समापन किया।

यह पहल भारत सरकार के प्रधान वैज्ञानिक सलाहकार डॉ. विजय राघवन एवं नीति आयोग के सदस्य, स्वास्थ्य डॉ. विनोद पौल के निर्देश के तहत अन्य मंत्रालयों तथा जैव प्रौद्योगिकी उद्योग अनुसंधान सहायता परिषद (बीआईआरएसी), जैव प्रौद्योगिकी विभाग (डीबीटी), विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग (डीएसटी), स्टार्ट अप इंडिया, अग्नि सहित अन्य सरकारी निकायों की साझीदारी में लॉन्‍च की गई।

उपचारात्मक, बचाव संबंधी तथा सहायता संबंबधी समाधानों सहित वर्गों के एक विविध समूह से 1000 से अधिक कोविड-19 संबंधित स्टार्ट अप्स के मूल्यांकन के दो दौर किए गए जिसमें से वर्चुअल कोविड डेमो दिवसों के लिए 70 से अधिक स्टार्ट अप्स का चयन किया गया। ये स्टार्ट अप्स वित्‍त पोषण, निर्माण क्षमताओं की सुविधा, आपूर्ति श्रृंखला तथा संभार तंत्र और सही वेंडरों और संरक्षकों की पहचान के रूप में सहायता प्राप्त करेंगे।

चिकित्सा उपकरणों, पीपीई, सैनिटाइजेशन, प्रौद्योगिकी समाधानों आदि के लिए कुल नौ डेमो दिवसों का आयोजन किया गया और इनका नेतृत्व नीति आयोग के एआईएम के मिशन निर्देशक आर रमणन द्वारा किया गया। अपने विचारों को साझा करते हुए, उन्होंने कहा कि संयुक्त पहल से सभी कोविड-19 संबंधित उत्पादों/सेवाओं/समाधानों से संबंधित भारत के संघटन प्रयासों को जरूरी बढ़ावा तथा वर्तमान परिदृश्य के दौरान योगदान देने के लिए स्टार्ट अप परितंत्र को एक प्रभावी मंच मिलने की उम्मीद है।

रमणन ने जोर दकर कहा कि इन समधानों की उत्कृष्ट गुणवत्ता और इस चुनौतीपूर्ण समय में उनकी प्रयोजनीयता भारतीय उद्यमशीलता परिदृश्य के नवोन्मेषी गुणों की साक्षी है।

डीबीटी सचिव डॉ. रेणु स्वरूप ने डेमो दिवस का समापन करते हुए कहा कि, ‘यह तय है कि कोविड-19 डेमो दिवसों में प्रदर्शित अत्याधुनिक नवोन्मेषणों तथा प्रौद्योगिकियों का सामूहिक प्रयास कोविड से लड़ने की दिशा में योगदान देगा।

इसी प्रकारडीएसटी के सचिव प्रो. आशुतोष शर्मा ने पिछले छह वर्षों के दौरान सभी सभी सरकारी विभागों के प्रयासों पर जोर दिया जिसने एक नवोन्मेषी एवं इंक्यूबेशन परितंत्र का निर्माण और उसे सशक्त किया और उसने गहन आवश्यकता की अवधि के दौरान प्रभावी समाधानों के विकास एवं तैनाती के लिए नवोन्मेषकों के साथ कार्य किया। उन्होंने जोर देकर कहा कि, ‘ इस परितंत्र की सफलता पहले ही 60 से अधिक स्टार्ट अप्स द्वारा प्रदर्शित की जा चुकी है जो अब एआईएम तथा डीएसटी की सहायता के साथ तेजी से कोविड-19 संबंधित उत्पादों के विकास की तैयारी कर रहे हैं।

इस बीच, इन वर्चुअल डेमो दिवसों के परिणामस्वरूप, 50 से अधिक स्टार्ट अप्स से संबंधित 340 से अधिक कनेक्शन स्टार्ट अप्स एवं विभिन्न निवेशक समूह/अन्य संगठनों के बीच किए गए हैं।

इसके अतिरिक्त, आयोजनकर्ताओं ने स्टार्ट अप्स की सहायता उनके पिच में अहम परिवर्धन करने, विभिन्न स्वीकृतियों, टेस्टिंग आवश्यकताओं आदि पर उन्हें सुझाव देने, उन्हें बाजार, खरीदारों तक पहुंच उपलब्ध कराने तथा जीईएम जैसे पोर्टलों पर पंजीकरण को सुगम बनाने के जरिये की।

सरकार के प्रयासों की सराहना करते हुए, इंडियन एंजिल नेटवर्क के पश्चिम भारत के क्षेत्रीय प्रमुख कांची दैया ने कहा, ‘ स्टार्ट अप्स को अधिकारसंपन्न करने, नवोन्मेषण को प्रेरित करने तथा कोविड-19 से लड़ने के लिए सरकार के विभिन्न विभागों तथा निजी संगठनों को एक साथ लाने की सरकार द्वारा यह एक महान पहल है।

भागीदारी करने वाली एक स्टार्ट अप्स मैकगीक्स मैकैट्रोनिक्स प्राइवेट लिमिटेड ने भी अपना विचार व्यक्त किया तथा कहा कि, ‘ डेमो दिवस वाणिज्यिीकरण की बाधाओं को दूर करने तथा आगे और तैनाती करने के लिए दिलचस्प सुझावों को प्राप्त करने सहित कई प्रकार से मददगार थे। हमने सत्र के दौरान कुछ संभावित सहयोगियों को पाया है जो निकट भविष्य में सहायक हो सकते हैं।

नीति आयोग के अटल इनोवेशन मिशन की प्रोग्राम निदेशक इशिता अग्रवाल, यूएनडीपी के इंक्लुसिव ग्रोथ के प्रमुख अमित कुमार, यूएनडीपी के एक्सलेरेटर लैब के सौल्यूशंस मैपिंग की प्रमुख रोजिता सिंह, नास्कॉम, 10,000 स्टार्ट अप्स की निदेशक कृतिका मुरुगेसण, एवीपी एवं स्टार्ट अप इंडिया, इंवेस्ट इंडिया की प्रमुख आस्था ग्रोवर तथा अग्नि, इंवेस्ट इंडिया के वीपी राहुल नायर सहित अन्य गणमान्य व्यक्तियों ने सभी वर्चुअल डेमो दिवसों में भाग लिया।

***

एसजी/एएम/एसकेजे/एसएस



(Release ID: 1638678) Visitor Counter : 72