कार्मिक, लोक शिकायत एवं पेंशन मंत्रालय

केंद्रीय मंत्री डॉ. जितेंद्र सिंह कल अंतर्राष्ट्रीय सिविल सेवकों के लिए महामारी में सुशासन प्रथाओं पर एक कार्यशाला को संबोधित करेंगे

कोविड-19 पर दो दिवसीय कार्यशाला का आयोजन भारतीय तकनीकी एवं आर्थिक सहयोग (आईटीईसी), विदेश मंत्रालय और राष्ट्रीय सुशासन केंद्र (एनसीजीजी), प्रशासनिक सुधार और लोक शिकायत विभाग द्वारा संयुक्त रूप से होगा

Posted On: 17 JUN 2020 5:59PM by PIB Delhi

      केंद्रीय कार्मिक, लोक शिकायत और पेंशन राज्य मंत्री डॉ. जितेंद्र सिंह 18 जून, 2020 को एक वेबिनार के माध्यम से कोविड- 19 -महामारी में सुशासन प्रथा पर भारतीय तकनीकी एवं आर्थिक सहयोग (आईटीईसी) और राष्ट्रीय सुशासन केंद्र (एनसीजीजी) द्वारा संयुक्त रुप से आयोजित होने वाले दो दिवसीय कार्यशाला में उद्घाटन भाषण देंगे। इस सम्मेलन में श्रीलंका सेना के चीफ ऑफ स्टाफ मेजर जनरल एच.जे.एस. गुनवर्देने, बांग्लादेश सरकार के वरिष्ठ सचिव, भूटान, केन्या, मोरक्को, म्यांमार, नेपाल, ओमान, सोमालिया, थाईलैंड, ट्यूनीशिया, टोंगा, सूडान और उज़्बेकिस्तान के वरिष्ठ अधिकारी शामिल होंगे। इस सम्मेलन का आयोजन 18-19 जून, 2020 को किया जाएगा।

      पहले दिन, के अन्य सत्रों में कर्नाटक, गुजरात एवं बिहार के राज्य स्तरीय सर्वोत्तम प्रथाओं और केरल, तेलंगाना एवं जम्मू और कश्मीर में जिला स्तर की सर्वोत्तम प्रथाओं पर चर्चा होगी। राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के सदस्य सचिव श्री जी.वी.वी. शर्मा दूसरे सत्र की अध्यक्षता करेंगे और तीसरे सत्र की अध्यक्षता पूर्व कैबिनेट सचिव श्री अजीत सेठ करेंगे। दूसरे दिन, के  सत्रों में स्वास्थ्य क्षेत्र और वंदे भारत अभियान की चुनौतियां शामिल होंगी। इन सत्रों की अध्यक्षता भारत सरकार की पूर्व स्वास्थ्य सचिव सुश्री सुजाता राव और एयर इंडिया के सीएमडी श्री राजीव बंसल करेंगे। कार्यशाला का विदाई भाषण भारत सरकार के डीएआरपीजी और डीपीपीडब्ल्यू के सचिव डॉ. क्षत्रपति शिवाजी देंगे। सम्मेलन में भाग लेने वाले देशों से आए वरिष्ठ अधिकारी विचार-विमर्श में अपना योगदान करेंगे।

      डीएआरपीजी के अपर सचिव और राष्ट्रीय सुशासन केंद्र (नेशनल सेंटर फ़ॉर गुड गवर्नेंस) के महानिदेशक श्री वी. श्रीनिवास ने कहा कि इस दो दिवसीय कार्यशाला का कार्यक्रम विदेश मंत्रालय, प्रशासनिक सुधार एवं लोक शिकायत विभाग और राष्ट्रीय सुशासन केंद्र के साथ संयुक्त रुप से तैयार किया गया है और इसका उद्देश्य आईटीईसी देशों में भारत की सुशासन प्रथाओं का प्रसार करना है।

***

एसजी/एएम/एके/एसएस

 



(Release ID: 1632153) Visitor Counter : 226