इलेक्ट्रानिक्स एवं आईटी मंत्रालय

श्री संजय धोत्रे ने कोविड-19 महामारी का एक व्यावहारिक समाधान खोजने के लिए एक ऑनलाइन हैकाथन ‘हैक द क्राइसिस’ का किया शुभारम्भ

हैकाथन का उद्देश्य कोविड-19 के खिलाफ लड़ाई को मजबूत बनाना है

Posted On: 03 APR 2020 7:46PM by PIB Delhi

इलेक्ट्रॉनिकी और सूचना प्रौद्योगिकी, संचार और मानव संसाधन विकास राज्य मंत्री श्री संजय धोत्रे ने आज कोविड-19 महामारी से पार पाने को एक व्यावहारिक समाधान खोजने के लिए एक ऑनलाइन हैकाथन हैक द क्राइसिसका शुभारम्भ किया। यह हैकाथन एक वैश्विक पहल का हिस्सा है और इसका आयोजन हैक ए कॉज- इंडियाऔर फिक्की लेडीज ऑर्गनाइजेशन पुणेद्वारा किया जा रहा है। इसे इलेक्ट्रॉनिकी और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय, भारत सरकार (माइटी) का समर्थन हासिल है। इस हैकाथन का उद्देश्य कोविड 19 के खिलाफ लड़ाई को मजबूत बनाना है। इसमें कुछ शीर्ष भागीदार टीमों से मिले जिताऊ आइडियाज को लागू करके भारत को कोरोना संकट के दौरान भारत और वैश्विक नागरिकों मदद मिलने का अनुमान है।

इस अवसर पर श्री संजय धोत्रे ने कहा कि आज कोविड-19 से दुनिया और उद्योगों के लिए अप्रत्याशित चुनौतियां पैदा हो गई हैं। कारोबार और दूरस्थ कामकाजी परिदृश्य में आ रही बाधाओं के बीच जहां एक राष्ट्र के तौर पर हम इन चुनौतियों से लड़ाई जारी रखे हुए हैं, वहीं सरकारों, उद्योग और व्यक्तियों सहित सभी के लिए यह महत्वपूर्ण है कि वे वर्तमान में इससे उबरने के लिए योगदान दें और मानवता के रूप में मजबूत हों।

इलेक्ट्रॉनिकी और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री ने विश्वास जाहिर करते हुए कहा कि हम इस चुनौती से पार पाएंगे और एक देश के रूप में मजबूत बनकर सामने आएगा। इसलिए व्यापक स्तर पर मानवता को सहयोग प्रदान करें। महान अल्बर्ट आइंस्टीन के मुताबिक, मुश्किलों के बीच में अवसर छिपे होते हैं।

केंद्रीय मंत्री श्री संजय धोत्रे ने कहा कि माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के सशक्त नेतृत्व में भारत सरकार ने कई जोशीले संगठनों के साथ मिलकर समाधानों और आइडियाज की पहचान और सहयोग के लिए कई पहल शुरू की हैं, जिससे मौजूदा मुश्किलें कम हो सकती हैं और तेज सुधार में भी योगदान किया जा सकता है।

केंद्रीय मंत्री ने भरोसा जताते हुए कहा कि इस दौर में जब सामाजिक दूरी कायम करना नई सामान्य बात हो गई है, ऐसे में डिजिटल समाधान और उत्पाद मानव जाति को फिर से जोड़ेंगे जो आर्थिक सुधारों में अहम योगदान करेंगे।

श्री संजय धोत्रे ने जोर देकर कहा कि कोविड 19 महामारी से पार पाने के लिए व्यावहारिक समाधान खोजने के लिए एक ऑनलाइन हैकाथन- हैक द क्राइसिस का शुभारम्भ करनना उनके लिए सम्मान की बात है। यह हैकाथन एक वैश्विक पहल का हिस्सा है और इसका आयोजन हैक ए कॉज- इंडियाऔर फिक्की लेडीज ऑर्गनाइजेशन पुणेद्वारा किया जा रहा है। इसे इलेक्ट्रॉनिकी और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय, भारत सरकार (माइटी) का समर्थन हासिल है।

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि 2000 टीम और 15000 भागीदार भारत, एस्टोनिया और फिनलैंड के विशेषज्ञों की निगरानी में 48 घंटे चलने वाले हैकाथन में अपने व्यावहारिक नमूने पेश करेंगे। भारत की शीर्ष टीमें आने वाले हफ्तों में वैश्विक हैकाथन हैक द क्राइसिस- वर्ल्ड में भागीदारी करेंगी।

इलेक्ट्रॉनिकी और सूचना प्रौद्योगिकी राज्य मंत्री ने भरोसा दिलाया कि पूर्व में मानवता के सामने कई चुनौतियां आई हैं और मुझे यकीन है कि मौजूदा संकटपूर्ण दौर को एक अवसर में तब्दील करके कोविड की चुनौती से पार पा लिया जाएगा। श्री संजय धोत्रे ने सभी टीमों को शुभकामनाएं दीं और वर्तमान परिदृश्य में नवीन तकनीक समाधान सामने आने की उम्मीद जाहिर की। केंद्रीय मंत्री ने कहा, सभी को शुभकामनाएं और सुरक्षित रहें।

 

********

एएम/ एमपी



(Release ID: 1611015) Visitor Counter : 140